सागर की पहचान -लाख बंजारा झील

रविवार, 18 अप्रैल 2021

कोरोना की अंतहीन दर्द भरी गाथा,, देखो धुएं के साथ मेरी मां जा रहीं हैं..... ★ ब्रजेश राजपूत / ग्राउंड रिपोर्ट

कोरोना की अंतहीन दर्द भरी गाथा,, 
देखो धुएं के साथ मेरी मां जा रहीं हैं.....

 
★ ब्रजेश राजपूत / ग्राउंड रिपोर्ट 


भोपाल के भदभदा विश्राम घाट पर वो आठ तारीख की शाम का वक्त था जब सूरज तकरीबन डूबने को था और अंधेरा हर कोने पर छा रहा था। आमतौर पर शमशान घाट का अंधेरा डरावना होता है मगर उस अंधेरे को और ज्यादा भयावह बना रहीं थीं वो लपटें जो पास में जल रही चिताओं से उठ कर हवाओं से होड कर उपर की ओर उठ रहीं थीं। कतार में दस से बारह चितायें एक साथ जल रहीं थीं। आग में मांस के जलने और लकड़ियों  के चटकने की आवाजें आ रहीं थीं जिसमें जुड रहीं थी चिताओं से दूर खडे शोकाकुल परिजनों की तेज तेज सिसकियां। आंखों में आंसू भरकर कोई इन चिताओं की तरफ हाथे जोडे खडा था तो कोई किसी को सहारा देकर ढांढस बंधा रहा था और खुद भी सुबक रहा था। ये सारे वो अभागे परिजन थे जो ना तो अपने परिजन को अस्पताल में भर्ती कराते वक्त मिल पाये और ना इस अंतिम विदाई के दौरान उनको अच्छे से देख पाये। पीपीई किट की पॉलीथिन और कोरोना के संक्रमण का खतरा मृत देह से अपनों को दूर किये हुये था। ये चितायें मुख्य विश्राम घाट के दूसरी और बनीं थीं जहां कोरोना से दम तोड़ने वालों की देह का ही संस्कार किया जाता है। पिछले कुछ दिनों से तकरीबन रोज पचास से साठ कोरोना देहों का इस जगह अंतिम संस्कार हो रहा है। अंतिम संस्कार के लिये आ रहे शवों की ये रफतार विश्राम घाट में सालों से काम कर रहे लोगों को याद नहीं पडती। 
परंपरागत लकडी की मदद से किये जाने वाले इस संस्कार स्थल के पास ही बना हुआ है विद्युत शवदाह गृह जहां की ऊंची चिमनी लगातार धुआं उगल रही थी आसमान की ओर। इसी चिमनी की ओर एकटक निहारे जा रही थी दिव्या जिसकी मां मीना जैन का संस्कार इस विद्युत शवदाह में हुआ। दिव्या की आंखों से आंसू लगातार गिर रहे हैं और वो है कि उस धुएं की लकीर का पीछा अपनी निगाहों से किये जा रही है। दिव्या को अपने कंधे का सहारा देकर दीपक खडा है। अचानक जैसे निढाल सी खडी दिव्या के शरीर में हरकत होती है वो कहती है दीपक देखो देखो वो मेरी मां जा रहीं हैं देखा तुमने वो धुएं के बीच में देखो उनका चेहरा दिख रहा है देखो अच्छे से देखो वो मुस्कुरा रहीं हैं देखो दीपक गौर से देखो मेरी मां के चेहरे का फोटो उतारो जल्दी कैमरा निकालो। उधर पास में ही दीवार पर खडे होकर फोटोग्राफर संजीव गुप्ता अपने कैमरे से शमशान घाट में अनवरत जल रही चिताओं के फोटो ले रहे थे उनकी तरफ देख दिव्या चीखी भैया ओ भैया वो मेरी मां का फोटो निकालो देखो वो जा रहीं है उस धुयें के बीच में बैठकर आप जल्दी उनकी फोटो उतारो जल्दी करो भैया वो दूर हो जायेंगी। कोरोना की विभीषिका को अपने कैमरे की नजर से देख रहे संजीव के लिये ये अचानक आयी चुनौती थी। संजीव ने विद्युत शवदाह गृह से निकल रहे धुएं की लंबी लकीर की फोटो तो ली ही साथ मे शोक में डूबे एक दूसरे का हाथ थामे खड़े पति पत्नी दीपक और दिव्या की फोटो भी खींच ली। 
दीपक और दिव्या की जिंदगी दो दिन में ही उजड गयी। कोतमा में रहने वाले डॉक्टर दीपक की शादी दिव्या से हुयी थी जो खंडवा की रहने वाली थीं। खंडवा में दिव्या के पिता रिटायर्ड डिप्टी कलेक्टर जेके जैन हैं पत्नी मीना के साथ रहते हैं। अचानक जे के जैन और उनकी पत्नी मीना की तबीयत बिगड़ती है। दोनों को भोपाल लाकर हमीदिया अस्पताल में भर्ती कराया जाता है। जैन साहब के दामाद और बेटी दीपक दिव्या कोतमा से अपने दो बच्चों के साथ भोपाल भागे भागे आते हैं। जैन की तबियत और बिगडती है उनको वेंटिलेटर पर रखा जाता है। मगर सुबह भर्ती करायी गयी मीना कोविड का इलाज शुरू होते ही शाम तक हार्ट अटैक के कारण दम तोड देती हैं। अचानक आयी इस आपदा से दीपक दिव्या संभल भी नहीं पाते कि फिर शुरू हो जाता है। डेड बॉडी या मृत शरीर को लेने की लंबी सी प्रक्रिया। मारचुरी से लेकर शमशान घाट तक एंबुलेंस की मदद से पहुंचाने के लिये इतने कागजी इंतजाम करने पडते है कि दुख दर्द सब भूल कर इसी उबाउ प्रक्रिया में लगना पड़ता है। मौत के बाद अगले दिन सुबह से शाम हो जाती है तब जाकर बाडी मिलती है और फिर उसके बाद शमशान घाट में लंबा इंतजार। शहर के सारे विश्राम घाट इन दिनों मृत देहों से पटे पड़े हैं। ढेर सारी एंबुलेंस मृत शरीरों को रखे अपनी बारी का इंतजार करते रहते हैं। फिर चाहे भदभदा विश्राम घाट हो या सुभाष विश्राम घाट सब जगह इतनी देह आ रही हैं कि प्रबंधकों के चेहरे पर पसीना ही दिखता है। कहीं पर लकडी की कमी हो गयी है तो कहीं पर लगातार एक जैसा काम करने से विश्राम घाट के कर्मचारियों के चेहरे पर उब थकान और तनाव भी दिखने लगा है। दीपक कहते हैं कि हम अपनी सास का अंतिम संस्कार कर जल्दी अपने ससुर के पास अस्पताल और बच्चों के पास होटल जाना चाहते थे मगर जब हमको बताया गया कि बीस बाडी के बाद आपका नंबर आयेगा तो हमने विद्युत शवदाह की मदद ली और उसमें से निकली धुएं की लंबी लकीर को देखकर दिव्या की अपनी मां की याद आती रही। ये सारी मर्मांतक कहानी सुनाने के बाद दीपक के मन का असल दर्द अब बाहर आता है बोलते हैं सर आपको बताऊं नरक कहीं नहीं है कोविड के ये अस्पताल और उनकी अवस्थाएं उसके बाद शमशान की ये लंबी कतारें लगातार जलती चितायें ही असली नरक हैं। जिनके बीच इन दिनों हम सब रह रहे हैं। 

★ ब्रजेश राजपूत, एबीपी न्यूज,  भोपाल

शनिवार, 17 अप्रैल 2021

दसवें दिन भी पाली क्लीनिक पर जारी रहा सेवादल का सेवा अभियान

दसवें दिन भी पाली क्लीनिक पर जारी रहा सेवादल का सेवा अभियान

साग़र। पाली क्लीनिक पर कांग्रेस सेवादल ने आज लगातार दसवें दिन भी व्यवस्थाएं संभाली और वैक्सीन लगवाने में लोगो की और प्रशासन की मदद की साथ ही साथ लोगो को वैक्सीन लगवाने के लिये भी प्रेरित किया।
पाली क्लीनिक पर पात्र लोगो के साथ उनके परिजन भी आ रहे है इस दौरान सोशल डिस्टेंस के साथ बैठने  की व्यवस्था,लोगो से मास्क लगाने की अपील की जा रही है,वैक्सीन प्रक्रिया में आने वाली परेशानियों को भी सेवादल द्वारा दूर किया जा रहा है।वैक्सीन को लेकर फैली भ्रांति को दूर करने का प्रयास भी सेवादल कर रही है। पीने के पानी की व्यवस्था भी सेवादल के साथियों ने की। 
पाली क्लीनिक केन्द्र की प्रभारी डा. सलोनी के नेतृत्व में वैक्सीनेशन का कार्य चल रहा है इसमें केन्द्र के पंजीयन प्रभारी योगेश राय,नंदकिशोर शर्मा,दीपक जैन,रूकमणी,अर्चना लाल,प्रियंका सोनी,भारती,रतन,महेश आदि प्रशासनिक सेवाएं पिछले तीन महीने से प्रदान कर रहे है।अभी तक यहां करीब 20000 लोगो को वैक्सीन का लाभ मिल चुका है।
इस कार्य में सेवादल अध्यक्ष सिंटू कटारे,नितिन पचौरी,जयदीप यादव,आदर्श यादव,विधाचरण गुप्ता,मोंटी साहू,अरविंद राजपूत आदि प्रतिदिन अपनी सेवाएं दे रहे है।


---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

खतरा: सागर में आज सामने आए 172 संक्रमितों में 161 मरीज 15 से 39 साल के हैं ,महज 11 मरीज 50 साल से ऊपर के हैं, ★ पूर्व विधायक सुधा जैन की रिपोर्ट कोरोना पाजिटिव ★ इलेक्ट्रिक शवदाह गृह बंद, स्ट्रेचर की रॉड खराब @चैतन्य सोनी

खतरा: सागर में आज सामने आए 172 संक्रमितों में 161 मरीज 15 से 39 साल के हैं ,महज 11 मरीज 50 साल से ऊपर के हैं,
★ पूर्व विधायक सुधा जैन की रिपोर्ट कोरोना पाजिटिव 

★ इलेक्ट्रिक शवदाह गृह बंद, स्ट्रेचर की रॉड खराब




@चैतन्य सोनी
सागर। ( तीनबत्ती न्यूज़ ) । जिले में कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। कोरोना कम्युनिटी स्प्रेड लेवल पर पहुँच गया है। आज शनिवार को 172 मरीज संक्रमित निकले। कोरोना संक्रमण से चार  की मौत हो गई। वही 30 मरीज स्वस्थ्य होकर डिस्चार्ज हुए।।  बढ़ते कोरोना संक्रमण के चलते कल गुरूवार को प्रशासन ने 21 अप्रैल तक के लिए कोरोना कर्फ्यू लागू कर दिया था। 

बीएमसी के मीडिया प्रभारी डॉ सुमित रावत के अनुसार आज शनिवार को 172 नए केस डिक्लेयर किये हैं।  नए केस को मिलाकर अब 7993 कोरोना संक्रमित मरीज सामने आ चुके हैं। वहीं अधिकृत रूप से अब तक 166 की मौत हो चुकी है। पिछले कुछ दिनों से ग्रामीण क्षेत्रो में भी कोरोना ने रफ्तार पकड़ी है।  
सागर में आज सामने आए 172 संक्रमितों में 161 मरीज 15 से 39 साल के हैं। महज 11 मरीज 50 साल से ऊपर के हैं। जो एक बड़ा खतरा बन रहा है। पूर्व विधायक सुधा जैन की रिपोर्ट पाजिटिव आई है। 

कोरोना अपडेट:
सागर कोरोना अब तक
- आज नए केस- 172
----------------------------------
- BMC से -        84
- रैपिड एंटीजन-   11
- जैन एक्सप्लोर-  77
------------------------------
टोटल अब तक
पॉजिटिव- 8227
स्वस्थ हुए- 6465
कुल मौतें- 166
बीते 24 घन्टे में मौत- 
अभी एक्टिव केस- 1942
------------------

इलेक्ट्रिक शवदाह गृह बंद, स्ट्रेचर की रॉड खराब

 कोविड काल में नरयावली नाका मुक्तिधाम में बने विद्युत शवदाहगृह की  मशीन खराब हो गई। शनिवार को यहां कोविड मृतकों के अंतिम संस्कार किए गए। जिसके बाद मशीन के स्ट्रेचर की रॉड खराब हो गई। वह रोलिंग नहीं कर पा रही। उल्लेखनीय है की पूर्व में भी यह मशीन लोड न ले पाने की वजह से खराब हो चुकी है। करोड़ो की लागत से स्थापित विद्युत शवदाहगृह बार-बार तकनीकी कारणों से ठप्प हो जाती है। गौरतलब है कि शनिवार को यहां 8 कोविड गाइडलाइन और करीब 9 नॉन कोविड के तहत अंतिम संस्कार किये गए हैं। 3 को छोड़ बाकी का लकड़ियों से अंतिम संस्कार हुआ है।
नरयावली नाका मुक्तिधाम में कोविड गाइड लाइन से 11 का अंतिम संस्कार, जिनमें 3 मुस्लिम 8 हिन्दू।  9 सामान्य मृतक हैं।

बीएमसी के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ सत्येंद्र मिश्रा की कोविड 19 से हालत बिगड़ी ★ फेफड़े ट्रांसप्लांट के लिए हैदराबाद ले जाने की तैयारी ★ मुख्यमंत्री से हुई चर्चा, विधायक शेलेन्द्र जैन की, पूर्व महापौर अभय दरे ने दिए एक लाख रुपये

बीएमसी के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ सत्येंद्र मिश्रा की कोविड 19  से हालत बिगड़ी
★ फेफड़े ट्रांसप्लांट के लिए हैदराबाद ले जाने की तैयारी
★ मुख्यमंत्री से हुई चर्चा, विधायक शेलेन्द्र जैन की, पूर्व महापौर अभय दरे ने दिए एक लाख रुपये

@विंनोद आर्य

साग़र। (तीनबत्ती न्यूज़) । साग़र में कोरोना संक्रमण का कहर बढ़ता जा रहा है। इसका शिकार मेडिकल कालेज के डॉक्टर्स और स्टाफ भी होता जा रहा है।  शासकीय बुंदेलखंड चिकित्सा महाविद्यालय  के एक और चिकित्सक डॉ सतेंद्र मिश्रा असिस्टेंट प्रोफेसर पलमोनरी मेडिसिन कोरोना से संक्रमित होकर गंभीर हो गए हैं. उन्हें  डॉ अपार जिंदल{ लंग्स ट्रांसप्लांट यूनिट } हैदराबाद के यहां शिफ्ट करने  की तैयारी चल रही है.। करीब एक करोड़ रुपये का टोटल खर्चा आएगा। इसका इस्टीमेट भी आ गया है। 
38 साल के डॉ मिश्रा पिछले कुछ दिनों से इलाज चल रहा है। डॉ मिश्रा ने कोरोना महामारी के इस काल में अपने प्राणों की परवाह किए बिना कोरोना मरीजों का निरंतर उपचार कर अपनी उत्कृष्ट सेवाएं दे रहे थे। इसी दौरान वे पाजिटिव हो गए।

 तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें


वेबसाईट


बीमसी के डॉ उमेश पटेल ने बताया कि
उनकी हालत देखते हुए मेडिकल काकेज के डॉक्टर्स ने सहयोग और दुआओं की अपील की है। बीएमसी के डाक्टर उमेश पटेल ने कहा कि सभी चिकित्सकों ,समाजसेवियों, जनप्रतिनिधियों, शासन, प्रशासन से निवेदन है कि आगे आकर डॉक्टर सत्येंद्र मिश्रा सर के प्राणों की रक्षा के लिए इलाज के उचित प्रबंध कराएं। 
अगर इलाज मिलने में विलंब होता है तो  कोरोना मरीजों के इलाज में अपनी सेवाएं दे रहे सभी स्वास्थ्य कर्मियों का मनोबल गिरेगा एवं निश्चित तौर पर उनके द्वारा दी  रही स्वास्थ्य सेवाओं का स्तर भी करेगा।

डॉ शुभम जैसी स्थिति नही बने

पूर्व में हमारे युवा साथी डॉक्टर शुभम उपाध्याय कोरोना मरीजों के इलाज के दौरान संक्रमित हो गए थे एवं  शासन प्रशासन से सहायता विलंब से प्राप्त होने के कारण उनको बचाया नहीं जा सका था।

मदद के आगे आये पूर्व महापौर अभय दरे

डॉ सत्येंद्र मिश्रा के इलाज के लिए जनप्रतिनिधियों और सामाजिक लोग आगे आये है। पूर्व महापोर अभय दरे ने एक लाख रुपये की राशि उनके इलाज के लिए देने की घोषणा की और सरकार पूरी मदद कराने का भरोसा दिलाया। 

मुख्यमंत्री से चर्चा हुई विधायक शेलेन्द्र जैन

विधायक  शैलेंद्र जैन ने बताया कि आज सुबह जैसे ही मेरे संज्ञान में यह विषय आया मैंने तुरंत मुख्यमन्त्री को इस विषय से अवगत करा कर उन्हें तत्काल एयरलिफ्ट करने के लिए आग्रह किया।  जिसके लिए उन्होंने अपने ओ एस डी मनीष पांडे को नियुक्त कर दो ढाई घंटे के अंदर सारी अनुमतियां प्राप्त की और सारी चिकित्सा सुविधाएं मुहैया कराने के लिए उन्होंने अनुमति दी, और इस संबंध में सागर कलेक्टर दीपक सिंह को निर्देशित किया है परंतु डॉक्टरों ने निर्णय लिया है एअरलिफ्ट करने के पूर्व उनका एक विशेष दल यहां आकर और डॉक्टर मिश्रा का चेकअप करेगा और अगले ही दिन इनको हैदराबाद या चेन्नई ले जाया जाएगा और उनका पूर्ण इलाज किया जाएगा।उनके इलाज में पैसों की कोई कमी आड़े नहीं आने दी जाएगी हम सभी सागर वासी उनके स्वस्थ होने की प्रभु से कामना करते हैं।

 ---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

कोरोना कर्फ्यू : शहर में पसरा रहा सन्नाटा ,बेवजह घूमने वालों पर पुलिस पुलिस की सख्ती,150 पहुचे खुली जेल,रोको टोको अभियान में 823 लोगों पर कार्यवाही , 32 हजार रूपये वसूले


कोरोना कर्फ्यू : शहर में पसरा रहा सन्नाटा ,बेवजह घूमने वालों पर पुलिस पुलिस की सख्ती,150 पहुचे खुली जेल,रोको टोको अभियान में  823 लोगों पर कार्यवाही , 32 हजार  रूपये वसूले

सागर । कोरोना कर्फ्यू के दूसरे दिन सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा बेवजह घूमने वालों पर पुलिस ने सख्त कार्रवाई की ।कलेक्टर श्री दीपक सिंह के निर्देश के तत्काल पश्चात पुलिस एवं राजस्व विभाग के अधिकारियों द्वारा शहर के विभिन्न चैराहों  एवं रास्तो पर बेवजह घूमने वालों पर कार्रवाई करते हुए खुली जेल  भेजा गया । अनुविभागीय अधिकारी श्री पवन बारिया, नगर दंडाधिकारी श्री सीएल वर्मा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर श्री विक्रम सिंह द्वारा पुलिस बल के साथ लगातार शहर का भ्रमण करते रहे और बाहर घूम रहे बेवजह व्यक्तियों को घर जाने की समझाइश दी ।


कोविड गाइडलाइन का उल्लंघन करने पर 150 से अधिक लोगों को भेजा गया खुली जेल

केंद्रीय जेल परिसर प्रशिक्षण केंद्र में खुली जेल प्रारंभ की गई है । जिसमें कोविड गाइडलाइन का उल्लंघन करने एवं अनावश्यक शहर में घूमने वाले व्यक्तियों पर कार्रवाई कर खुली जेल भेजा जा रहा है। सिटी मजिस्ट्रेट श्री सीएल वर्मा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री विक्रम सिंह ने बताया कि शनिवार को सागर शहर एवं उप नगरीय मकरोनिया में सख्ती पूर्वक कार्रवाई करते हुए 150 से अधिक  लोगों पर धारा 151 की कार्रवाई करते हुए खुली जेल भेजा गया। 

रोको टोको अभियान अंतर्गत 823 लोगों पर कार्यवाही कर 32080 रूपये के काटे चालाना


 रोको टोको अभियान अंतर्गत गत दिवस 823 लोगों पर चालानी कार्यवाही कर 32080 रूपये वसूल किए गए। कोविड संक्रमण को रोकने में मास्क एक कारगर उपाय है। रोको टोको अभियान के तहत मास्क न लगाने वालों को रोक कर उन्हें मास्क लगाने के प्रति सचेत किया जाताऔर चालानी कार्यवाही की जाती है।
उल्लेखनीय है कि शहरी क्षेत्र में 100 रूपये प्रति व्यक्ति के हिसाब से नगर निगम, नगर पालिका मकरोनिया, नगर पालिका खुरई, बीना, रहली, देवरी एवं गढ़ाकोटा तथा नगर परिषद बण्डा, शाहगढ़, राहतगढ़, शाहपुर, मालथौन, बांदरी, सुरखी एवं बिलहरा अंतर्गत आज 265 लोगों पर चालानी कार्यवाही कर 26500 रूपये के चालाना काटे गए।
इसी प्रकार ग्रामीण क्षेत्र में 10 रूपये प्रति व्यक्ति के हिसाब से जिले की समस्त जनपद पंचायत अंतर्गत आज दिनांक लगभग 558 लोगों पर चालानी कार्यवाही कर 5580 रूपये के चालाना काटे गए।         

---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------
       

आईपीएल का सट्टा खिलाने वाला अंतर्राज्यीय गिरोह पकड़ाया , साग़र से लेकर हरियाणा दिल्ली तक जुड़े तार, बेबसाईट्स के जरिये दिल्ली से खिला रहे थे सट्टा

आईपीएल का सट्टा खिलाने वाला अंतर्राज्यीय गिरोह पकड़ाया , साग़र से लेकर हरियाणा दिल्ली तक जुड़े तार, बेबसाईट्स के जरिये दिल्ली से खिला रहे थे सट्टा



साग़र। आईपीएल क्रिकेट मैच का सट्टा इन दिनों तेजी से खिलाया जा रहा है। पुलिस की भूमिका पर भी सन्देह  बना है। सागर के पुराने खिलाड़ी फिर मैदान में है। इस दफा पकड़े सट्टा में इनको भी पकड़ा गया है। सट्टा खिलाने वाली वेबसाईट्स की आईडी लेकर इसे खिलाया जा रहा था। 

थाना मोतीनगर पुलिस ने  आई.पी.एल. क्रिकेट मैच 14 अप्रैल को आरोपी रिजवान कुरैशी को आई.पी.एल. मैच में मोबाइल के जरिये सट्टा लगाने की सूचना पर तस्दीक कर गिरफ्तार कर धारा 4(क) सट्टा एक्ट के तहत कार्यवाही की गई
थी। पूछताछ पर आई.पी.एल. क्रिकेट मैच सट्टा के नेटवर्क जो कि विभिन्न
वेबसाइट 

से आनलाइन ID's खरीदकर  कर
उन्हे स्वयं व अपने अधिनस्थों से मोबाइल फोन, लेपटॉप के जरिये चलवाकर
रूपये पैसों का दाव लगाकर ऑनलाइन सागर शहर से बाहर दिल्ली में रहकर खिलाया जा रहा था। सागर में आई.पी.एल. का सट्टा संचालित करने वाले हरियाणा, राजस्थान, मंदसौर के नेटवर्क की सूचना प्राप्त हुई थी। जिसके संबंध में सर्वप्रथम सागर में ही इसके जगह जगह के नेटवर्क, व्यक्तियों एवं अन्य आवश्यक जानकारी प्राप्त की गई। एवं दिल्ली में इसके संचालन के केन्द्रीय स्थान के बारे में जानकारी प्राप्त करने के बाद रेड कार्यवाही कर आरोपियों को गिरफ्तार किया गया।
उक्त कार्यवाही में पूर्व में क्रिकेट सट्टा में गिरफ्तारशुदा आरोपीगणों से दिल्ली एवं अन्य राज्यों में सागर के लोगो द्वारा क्रिकेट सट्टा के नेटवर्क के बारे में पूछताछ कर उन जगह तक अपने मुखबिरों से पुख्ता जानकारी कराई जाकर विशेष टीम गठित कर दिल्ली स्थित द्वारिका नगर में एक फ्लैट पर छापा मार कार्यवाही की जाकर क्रिकेट सटोरियों को गिरफ्तार किया गया। यहां बता दे साग़र के सटोरिया बंग्लादेश तक मे पकड़े गए है 

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें


वेबसाईट


आरोपीगण से पूछताछ पर पाया गया कि सागर के ही आई.पी.एल. क्रिकेट मैच के सटोरियों के साथ मिलकर अन्य राज्यों के लोगो के द्वारा आनलाइन सट्टा का संचालन परसेंटेज पर ID's वितरित कर रूपये पैसो का दाव लगाकर किया जाता है। इनके पास से 21 एनरायड मोबाइल फोन, आई फोन, दो एपल और लेनोवा के लेपटॉप , वायफाय मोडेम और सट्टे के लिखापढ़ी के रजिस्टर आदि जब्त किए है। 

ये पकड़े गए  आरोपी
★ बादल उर्फ मोंटू जैन पिता अरविंद जैन उम- 27 वर्ष नि. वर्धमान कालोनी सागर म.प्र.

★ कैलाश पिता लीलाराम छावडा उम- 30 वर्ष नि. सभाष नगर सागर म.प्र.

★ मोहित पिता सतीश लालवानी उम- 27 वर्ष नि. सुभाष नगर सागर म.प्र.

★ दीपक पिता सफरमल कोटवानी उम- 31 वर्ष नि. सुभाष नगर सागर म.प्र.

★ सरोमित्र उर्फ बबलू चौहान पिता रामपाल सिहं 6 चौहान उम- 37 वर्ष नि. ग्राम रतेरा थाना भुवानी हरियाणा

★ नितेश कुमार पिता पाले राम उम- 29 वर्ष नि. छोतूराम चौक थाना चांदनीवाल पानीपत हरियाणा
★ सुदर्शन पिता रविन्द्र कुमार उम- 25 वर्ष नि. रेवाडी थाना खौड जिला रेवाडी हरियाणा

★ अलीन हुसैन पिता जऊर खान उम- 29 वर्ष नि. अलवर थाना एन.ई.बी. राजस्थान
★  वसीम अकरम पिता दिलावर खान उम- 22 वर्ष  नि. वेयरलाका दिल्ली रोड अलवर राजस्थान
★  रुद्रांश तिवारी पिता गोपाल तिवारी उम- 21 वर्ष नि. पशुपति नाथ मंदिर थाना नयाबाद जिला मंदसौर,  म.प्र.


---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------


कोविड संक्रमण: कमिश्नर ने बीएमसी के चिकित्सकों की बैठक ली

Archive