मंगलवार, 31 दिसंबर 2019

कैप्सूल लिफ्ट नीचे गिरी, पाथ इंडिया कम्पनी के मालिक पुनीत अग्रवाल सहित छह की मौत महू के पातालपानी की घटना

कैप्सूल लिफ्ट नीचे  गिरी, पाथ इंडिया कम्पनी के मालिक पुनीत अग्रवाल सहित छह की मौत
महू के पातालपानी की घटना
इंदौर । महू के  पास  बने पर्यटन स्थिल पातालपानी में बने एक  निजी फार्म हाउस परिसर  में मंगलवार बड़ा हादसा हो गया। इसमें पाथ इंडिया कंपनी के मालिक पुनीत अग्रवाल, उनके बेटी, दामाद, पोते समेत 6 लोगों कीमौत हो गई। अग्रवाल परिवार के इस फार्म हाउस में 65-70  फीट ऊंचा टावर बना है । इस टावर से   पातालपानी का नजारा दिखता है।नई साल का जश्न मनाने यहां इकठ्ठा हुए थे। इस पर जाने के लिए कैप्सूल लिफ्ट बनी हुई  थी । जो तकनीकी गड़बड़ी के कारण नीचे आ गिरी। इसके कारणों की जांच की जा रही है । इस टावर के अंदर काम लगा हुआ है। 
एएसपी धर्मराज मीणा ने बताया कि हादसे में पुनीत अग्रवाल, पलक, पलकेश, नव, गौरव और आर्यवीर की मौत हो गई। पुनीत अग्रवाल अपने परिवार के साथ फार्म हाउस पर पिकनिक मनाने के लिए गए थे। शाम सात बजे वह सपरिवार टावर मेंलिफ्ट के ऊपर गए। 70 फीट की ऊंचाई से अचानक लिफ्ट गिर गई। 
पीपीपी मॉडल अपनाने वाले पुनीत अग्रवाल 
पाथ इंडिया के डायरेक्टर पुनीत अग्रवाल की गिनती पीपीपी मॉडल की शुरुआत करने वाले देश के चुनिंदा कॉन्ट्रैक्टर्स में होती थी। इंदौर में 2004 में सिंहस्थ के दौरान उन्होंने एमआर 10 पर पीपीपी मॉडल पर काम किया और रेलवे ओवरब्रिज बनाया। उन्होंने इंदौर खलघाट नेशनल हाईवे, महू-मंडलेश्वर रोड, जयपुर-रींगस फोरलेन रोड, झांसी-उरई रोड, आगरा-ग्वालियर रोड प्रोजेक्ट पर भी काम किया। एमकॉम तक शिक्षा हासिल करने वाले पुनीत अग्रवाल ने 18 वर्ष की आयु में ही पिता प्रकाश का कामकाज संभाल लिया था। पाथ इंडिया के पास मौजूदा समय में देश के 10 बड़े टोल रोड के मेंटेनेंस का काम है। हादसे की खबर लगते ही उनके शुभचिंतकों और कम्पनी से जुड़े लोग अस्पताल पहुचे।

नौ दिन तक मौन रहकर 25 साधकों ने पूरी की विपश्यना साधना

नौ दिन तक मौन रहकर 25 साधकों ने पूरी की विपश्यना साधना
सागर। नौ दिन तक आर्य मौन व्रत रखते हुए एवं कठोर ध्यान अभ्यास के साथ 25 साधकों ने साल के अंतिम दिन मंगलवार को अपनी साधना पूरी की। विपश्यना समिति सागर की ओर से शहर में पहली बार मकरोनिया के एक निजी स्कूल में दस दिवसीय निशुल्क विपश्यना शिविर का आयोजन किया गया था। 21 दिसंबर से शिविर की शुरुआत हुई। प्रदेश भर से पहुंचे नए एवं पुराने साधकों ने 22 दिसंबर से विपश्यना कोर्स शुरू किया। 31 दिसंबर को मौन तोड़ने के बाद शिविर का समापन हो गया। 
समिति के सदस्य अभिनेष अग्रवाल ने बताया कि हालांकि शिविर का समापन हो चुका है, लेकिन ये सभी 25 साधक बुधवार सुबह 7.30 बजे अपने-अपने गंतव्य की ओर रवाना होंगे। विपश्यी साधक एवं समिति के सदस्य इंजी. अभय चौरसिया ने शिविर की सफलता के बारे में बताया कि समिति की ओर से सागर में लगा यह शिविर पूरी तरह सार्थक साबित हुआ है। शिविर के दौरान 16 पुरूष साधक एवं 9 महिला साधकों ने सफलतापूर्वक विपश्यना ध्यान अभ्यास किया और दस दिन तक बिना कुछ बोले इस कठिन साधना के जरिए अपनी ऊर्जा में वृद्धि की। 
क्या है विपश्यना
विपश्यना समिति सागर के सदस्य अनुराग सिंह राजपूत ने बताया कि महात्मा बुद्ध जो तप किया करते थे उसी का सबसे परिष्कृत रूप है विपश्यना साधना। विपश्यना यानि फिर से देखना..। इस साधना के जरिए साधक अपने मन को किसी एक स्थान पर एकाग्र करने के बाद एक-एक कर शरीर के हर हिस्से पर इसे ले जाता है, जिससे उसके विकार बाहर निकलते हैं। धीरे-धीरे कर साधक अपने कर्म बंधनों से मुक्त होता जाता है। 
शिविर के दौरान बोलना, एक दूसरे को देखना तक मना है
विपश्यना का दस दिवसीय आवासीय शिविर पूरी तरह निशुल्क होता है। नए साधकों से इस दौरान न तो किसी तरह का दान लिया जाता है और न ही किसी तरह का शुल्क। रहने और खाने-पीेने की सभी व्यवस्थाएं समिति की ओर से निशुल्क की जाती हैं। शिविर के दौरान साधकों को पूरे 9 दिन तक मौन का पालन अनिवार्य होता है। साथ में रहने के बाद भी एक-दूसरे से बोलने की मनाही है। इतना ही नहीं एक-दूसरे की आंख से आंख मिलाकर देखना भी नहीं है। ऐसा माना जाता है कि बोलने, एक दूसरे को छूने या आंख से आंख मिलाकर देखने से ऊर्जा का ह्रास होता है। शिविर पूरा करने के बाद साधक ऊर्जा से लबरेज हो जाता है। 

कांग्रेस सेवादल के 96 वर्ष पूरे, सेवा कार्यकम का आयोजन

कांग्रेस सेवादल के 96 वर्ष पूरे, सेवा कार्यकम का आयोजन
सागर। कांग्रेस सेवादल दल दिवस सप्ताह के समापन पर कांग्रेस सेवादल के 96 साल पूर्ण होने पर सेवादल की शहर ईकाई ने सेवा भावी कार्यक्रमो का आयोज किया। इस मौके पर सेवादल काँग्रेस अध्यक्ष सिंटू कटारे ने  पहलवान बब्बा मंदिर  परिसर में गरीब लोगों को ठंड से बचने के लिए कंबल वितरित किये ।स्थापना दिवस पर  कांग्रेस सेवादल की शपथग्रहण का आयोजन किया। इस अवसर पर सेवादल के प्रदेशपदाधिकारी डाॅ संदीप सबलोक, विजय साहू, राजाराम सरवैया, द्वारका चौधरी, सेवादल वोड॔ के सदस्य कमलेश बघेल ,प्रदेश सचिव अमित दुबे राम जी,कार्यकारी अध्यक्ष  जितेंद्र सिंह चावला , रंजीत राठौर, पप्पू गुप्ता ,ओंम प्रकाश पांडेय, राजेश यादव , नरेन्द्र कोष्टी ,कमलेश मछंदर, मिथुन घारु ,राहुल जाटव, मजहर हासमी ,रोहित ,फहीम अन्सारी मछंदर, राहुल सनकत, विनय मछंदर, गोलू जाटव आदि शामिल हुए।

निर्बल के बल राम:आचार्य ब्रजपाल शुक्ल कथा के अंतिम दिन पहुचे पूर्व मन्त्री सुरेंद्र चोधरी,भाजपा नेता राजेन्द्र सिंह मोकलपुर

निर्बल के बल राम:आचार्य ब्रजपाल शुक्ल

#कथा के अंतिम दिन पहुचे पूर्व मन्त्री सुरेंद्र चोधरी,भाजपा नेता राजेन्द्र सिंह मोकलपुर
सागर।माखनलाल पत्रकारिता विवि के कुलपति दीपक तिवारी के निवास पर चल रही राम कथा में अंतिम दिवस व्यास पीठ से कथा व्यास ने कहा की संसार का मनुष्य कितना भी समर्थ क्यो न हो किन्तु वह असमर्थ ही होता है। अपने शरीर के प्रति पत्नी और पुत्र के प्रति प्रायः आसक्त ही होता है।इनकी सुरक्षा करते हुए ही निर्बल की कुछ सहायता कर सकता है। कभी कभी वीरता के कारण मनुष्य युद्ध करके प्राण त्याग भी कर देता है।वीरता और उदारता प्रायः सभी मनुष्यों में नही होती हैं। सम्पूर्ण वीरता और सम्पूर्ण उदारता मात्र भगवान में ही होती हैं।
लक्ष्मण तथा जानकी के सहित रामजी अपने पारिवारिक विग्रह के कारण वनवास दुःख में भी दुःखी नही हुए।रामजी को देखकर चित्रकूट में सभी ऋषियों ने आकर श्रीराम जी से निवेदन किया तथा राक्षसों के द्वारा मारे गए लाखों ऋषियों के हड्डियों के समूह को दिखाया और कहाकी संसार मे न तो आपको कोई दुःखी कर सकता है और न तो पराजित कर सकता इसलिए आप ही हम सब की रक्षा करने में समर्थ हैं।
निशिचर निकर सकल मुनि खाये।
सुनि रघुवीर नयन जल छाए।
ऋषियों ने कहा कि हे रघुनन्दन निशाचरों में प्रायः सभी साधन ऋषियों को खा लिया है।
हम लोग जो कुछ बचे हुए हैं उनके आर्त श्वर को सुनकरके रघुनन्दन राम अपना दुःख भूल गए नेत्रों से अश्रु प्रवाह होने लगा।
उन्होंने कहा कि सभी के सामने उन्होंने प्रतिज्ञा की कि इन चौदह वर्षों के वनवास काल मे सम्पूर्ण पृथ्वी को मैं निशाचरों से रहित कर दूंगा।
जब कोई व्यक्ति दूसरे के दुःख को अपना दुःख ममां लेता है तब वह अपनी पूरी शक्ति से दूसरे का दुःख दूर कर सकता है।दूसरे का दुःख दूर करने में कष्ट तो उतना ही पड़ेगा इसीलिए अगस्त्य ऋषि के कहने पर लंकाधिपति रावण से विरोध करने के लिए पंचवटी में निवास करने लगे। यह उन्होंने जान करके किया।
राक्षसों से युद्ध करने का निमित्त निर्माण किया तथा सबसे पहले उन्होंने शूर्पड़खा को ही कुरूप करवाया।इसी का नाम वीरता है दुष्टो का स्वभाव है कि वह अकारण ही सज्जनों को दुःख देते हैं।
इसी प्रकार वीर पुरुष का भी स्वभाव होता है कि वह दुष्टों से युद्ध का कारण बनाकर दुष्टो का संहार करते हैं इसीलिए श्री राम को भगवान कहा जाता है जो सबके दुःख के दूर करके भी दुःखी न हो सबको पराजित करके भी पराजित न हो । 
आज भी संसार मे जिसका कोई नहीं है उसके भगवान ही हैं
सूरदासजी ने कहा निर्बल के बल राम।
निर्बल मनुष्य को चाहिए कि वह भगवान की आराधना करके उनको ही अपना बल मान लें।
कथा में पहुचे ये श्रद्धालु
आज कथा समापन में पूर्व मंत्री सुरेंद्र चौधरी, सुदेश जैन,सुशील तिवारी,राजेन्द्र सिंह 'मोकलपुर', देवदत्त दुबे,राजीव सोनी,विनोद आर्य,त्रिभुवन तिवारी,  विवेक तिवारी,राजेंद्र यादव,अंशुल भार्गव, पप्पू तिवारी,निधीश तिवारी,प्रदीप पाठक,राजेन्द्र दुबे,सुशील पांडेय, संतोष रोहित,एजाज़ खान आदि ने कथा श्रवण कर आचार्य जी से आशीर्वाद ग्रहण किया।

31 लाख की जब्त अवैध शराब को नष्ट कराया प्रशासन ने

31 लाख की जब्त अवैध शराब को नष्ट कराया प्रशासन ने
सागर ।आबकारी आयुक्त के निर्देशानुसार  को विदेशी मध भांडागार सागर के परिसर में वृत्त बीना, खुरई, बंडा,देवरी, रहली में  न्यायालय से प्राप्त एवं वृत्तों में अवैध मदिरा धारण विक्रय के विरुद्ध कायम  कुल 1063 प्रकरणों के  12347 पाव देशी मदिरा  मसाला, 16146 पाव देशी मदिरा प्लेन,17229 पाव विदेशी मदिरा, 300 बोतल बीयर, 326 लीटर  हाथ भट्टी  मदिरा का कलेक्टर सागर द्वारा गठित समिति ने विधिवत नष्टीकरण किया ।
समिति में कलेक्टर सागर द्वारा नामांकित  संयुक्त कलेक्टर श्रीमति  अंजली शाह, सहायक आयुक्त आबकारी सागर श्रीमति वंदना पाण्डेय, सहायक जिला आबकारी अधिकारी श्री के पी गाँधी सम्मिलित रहे । नष्ट की गई शराब की कीमत लगभग 3167170 रुपये है । नष्टीकरण कार्यवाही का पंचनामा बनाया जाकर वीडियोग्राफी भी करवायी गई ।
                           

स्वच्छता की दृष्टि में सागर देश में 11 नंबर पर ने कलेक्टर दी बधाई

स्वच्छता की दृष्टि में सागर देश में 11 नंबर पर,कलेक्टर ने दी बधाई
सागर । भारत सरकार के द्वारा चलाए जा रहे स्वच्छता अभियान के तहत सागर जिले को दूसरे क्वार्टर लीक में देश में 11वां स्थान आने पर कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक ने सभी अधिकारी/कर्मचारियों एवं सागर वासियों को बधाई दी है। नगर निगम कमिश्नर आरपी अहिरवार, स्मार्ट सिटी सीईओ राहुल सिंह राजपूत ने बताया कि जागरूकता के और प्रयास किए जाएंगे जिससे सागर का स्थान पहले स्थान पर आ सके। भारत सरकार द्वारा सर्वे एक लाख से दस लाख तक की आबादी पर 11वां स्थान प्रदान किया गया। ज्ञात हो कि इस सर्वे मंे प्रदेष के इंदौर जिला लगातार प्रथम स्थान पर है।

मौलिक अधिकार एवं मौलिक कर्त्तव्य विषय पर विधिक जागरूकता शिविर

मौलिक अधिकार एवं मौलिक कर्त्तव्य विषय पर विधिक जागरूकता शिविर
सागर । ''मौलिक अधिकार एवं मौलिक कर्त्तव्य'' विषय पर मंगलवार को जिला एवं सत्र न्यायाधीश/अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, के.पी.सिंह के मार्गदर्शन में पंडित रविशंकर शुक्ल शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, सागर मंे विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया।
इस अवसर पर न्यायाधीश  शरद जोशी के द्वारा उपस्थित विद्यार्थियों को संबोधित करते हुये मौलिक अधिकारों और मौलिक कर्त्तव्यों के बारे में जानकारी दी गई और बच्चों को समाज और देश के विकास में योगदान देने के लिए उत्प्रेरित किया। जिला विधिक सहायता अधिकारी  अनुज कुमार चन्सौरिया के द्वारा अपने संबोधन में बच्चों को सोशल मीडिया का दुरूपयोग न करने के बारे मंे बताया साथ ही यह भी कहॉ कि सोशल मीडिया का उपयोग अपने ज्ञानबर्धन के लिये करना चाहिए। उपस्थित बच्चों को संविधान की प्रस्तावना से अवगत कराते हुये उसका वाचन करवाया और बच्चों को पुलिस डॉयल नंबर 100 और नंबर 1098 के बारे में भी जानकारी दी। बच्चों से यह भी कहा कि निः शुल्क विधिक सहायता और सलाह के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए कार्यालयीन समय मंे जिला न्यायालय परिसर में स्थित कार्यालय जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, सागर से सम्पर्क स्थापित करें।
कार्यक्रम में उपस्थित न्यायधीश श्री आशीष शर्मा के द्वारा विद्यार्थियों को यातायात नियमों की जानकारी दी और सभी से यातायात नियमों का पालन करने के लिय कहा।
कार्यक्रम के अंत में विद्यार्थियों के बीच मौलिक अधिकार और मौलिक कर्त्तव्य विषय पर निबंध प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया, जिसमें प्रथम स्थान कु0 मोहिनी कुर्मी, द्वितीय स्थान कु0 सुरभि अहिरवार तथा तृतीय स्थान कु0 नेहा अहिरवार के द्वारा प्राप्त किया गया, जिन्हें पारितोष का वितरण किया गया। तत्पश्चात् विद्यालय के प्राचार्य श्री राजेश खरे के द्वारा सभी का आभार व्यक्त किया गया। इस अवसर पर स्कूल के समस्त शिक्षकगण और विद्यार्थीगण उपस्थित रहे।

बोलेरो गाड़ी पलटी,एक कि मौत आधा दर्जन घायल

बोलेरो गाड़ी पलटी,एक कि मौत आधा दर्जन घायल
सागर । सागर जिले केबहरोल थाना अंतर्गत एक बोलेरो गाड़ी अनियंत्रित होकर पलट गई।जिससे एक नाबालिक की मौत हो गई।साथ ही करीब आधा दर्जन लोग घायल होना बताए जा रहे है। घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया  है।
बहरोल थाना  प्रभारी  संजय ऋषिश्वार क्षेत्र के ग्राम बिलैहनी के आगे अंधे मोड़ पर एक बुलेरो बहन अनियंत्रित होकर पलट गया ।घटना में एक 15 वर्षीय नाबालिक की मौत हो गई। 
जानकारी के मुताबिक एक बोलेरो गाड़ी क्रमांक एमपी 15 जीबी 0823 है जो ग्राम बहरोल  में अपने रिश्तेदारों के यहां दस्टोन का निमंत्रण करने आई थी लेकिन सोमवार मंगलवार की दरमियानी  रात् बापस अपने घर पगारा लौटते बक्त बिलैहनी के आगे मोड़ पर अनियंत्रित होकर पलट गई जिसमें एक नाबालिक अभिषेक पिता केसर पुरी गुसाईं उम्र 15 वर्ष निवासी पगारा गम्भीर रूप से घायल हो गया ।जिसकी अस्पताल ले जाते समय मौत हो गई इसके अलाबा करीब आधा दर्जन लोग घायल बताए जा रहे हैं जिन्हें जिला अस्पताल भेजा गया है।फिलहाल बहरोल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

एमपी में भाजपा की चमक फीकी करने वाला वर्ष @ देवदत्त दुबे

एमपी में भाजपा की चमक फीकी करने वाला वर्ष
@ देवदत्त दुबे
प्रदेश में 2018 नवंबर तक भाजपा का एक तरफा जलवा था पंचायत से लेकर पार्लियामेंट तक भाजपा के प्रतिनिधि पिछले 15 वर्षों में चुने गए भाजपा सरकार के कामकाज की ब्रांडिंग ऐसी थी कि भाजपा नेता से लेकर कार्यकर्ता तक कांग्रेस मुक्त प्रदेश का नारा दिया करते थे लेकिन 2018 का दिसंबर भाजपा के लिए  फिसल पट्टी पर सवार होने वाला महीना साबित हुआ और वर्ष 2019 तो भाजपा की रही सही चमक को भी फीका करने वाला वर्ष माना जावेगा।
 दरअसल व्यावहारिक जीवन में जैसा कहा जाता है सुख के सब साथी दुख का न कोई ऐसे ही राजनीति क्षेत्र में सत्ता के सब साथी विपक्ष में बिरला ही कोई होय भाजपा के साथ कुछ ऐसा हीहो रहा है लगातार 15 वर्षों तक सत्ता में रहने के कारण भाजपा भाजपा सरकार के खाते में विकास की उपलब्धियां में थी सामाजिक सरोकारों के प्रकल्प भी थे वाहवाही भी खूब बनी लेकिन जबसे से सत्ता गई है तब से भाजपा सरकार के समय के विवादास्पद निर्णय खामियों के रूप में उभर कर सामने आ रहे हैं कांग्रेसी सरकार जैसे भाजपा सरकार क कार्यकाल की पोल खोल अभियान चलाए हुए हैं और जैसा सरकार में बैठे मंत्री भाजपा सरकार की खामियां और भ्रष्टाचार के नाते हैं यदि वास्तव में इन पर कार्रवाई हुई और सच्चाई निकली तो फिर लगातार सत्ता में बने रहने की भाजपा जिसे उपलब्धि बताती थी वही कमजोरी बनकर उभर कर सामने आएगी
 बहरहाल वर्ष 2019 विदा लेने को है और 2020 के स्वागत की तैयारियों जोरों पर है लेकिन राजनैतिक दृष्टि से यदि वर्ष 2019 का आकलन किया जाए तो यह वर्ष कांग्रेश के लिए जहां उत्साह बढ़ाने वाला रहा वही भाजपा के लिए निराशा संशय बढ़ाने वाला साबित हुआ हर जगह चमकती दमकती भाजपा 1 वर्ष में ही सत्ता से बाहर होने के बाद फीकी पड़ने लगी जबकि भाजपा नेता राष्ट्रीय स्तर पर उपलब्धियों का बखान करते नहीं थक रहे हैं इसके बावजूद प्रदेश
 प्रदेश में भाजपा शासनकाल को कांगरे सरकार मानो निशाने पर लिए हुए और एक-एक करके पोल खोल अभियान चलाए हुए हनी ट्रैप मामला सरकार के हाथ लग जाने से नेताओं के मुंह बंद करने एवं अधिकारियों पर लगाम लगाने के लिए अच्छा खासा उपयोग किया जा रहा है
: हनी ट्रैप मामला चुकी भाजपा शासनकाल का है इसलिए स्वाभाविक रूप से भाजपा के ही चाहे ते लोग जिनके पास मनी थी वही हनी ट्रैप में सामने आ रहे हैं सरकार बड़े-बड़े लोगों के नाम उजागर ना करके उनको दबाव में लेने की रणनीति पर काम करती हुई दिखाई दे रही है ऐसे लोगों के नाम उजागर किए जा रहे हैं जो सरकार को कोई संकट पैदा नहीं कर सकते हनी ट्रैप में नेताओं से लेकर अधिकारियों और पत्रकारों के नाम आ जाने से सरकार को हर क्षेत्र में पकड़ मजबूत करने का मौका मिल गया है और परतें उखाड़ने से भाजपा का चेहरा खुरदरा होता जा रहा है इस पर प्रादेशिक नेता प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह और नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव राष्ट्रीयता का पेंट पोत कर भाजपा की साख बचाने की पुरजोर कोशिश कर रहे हैं
कांग्रेस ने चुनाव के समय जो वक्त है बदलाव का नारा दिया था उसका एहसास सबसे ज्यादा भाजपा नेताओं को और उनके चहेते अधिकारियों को हो रहा है क्योंकि ना अब मनमर्जी चल रही है और ना ही वे धंधे जिनसे अनाप-शनाप कमाई हो रही थी ऐसे माहौल में भाजपा के लिए नगरी निकाय चुनाव और पंचायती राज के चुनाव कहीं वाटर लू ना साबित हो इसकी चिंता भी भाजपा नेताओं को सताने लगी है लेकिन राजनीति में उम्मीद है कभी खत्म नहीं होती यही कारण है कि जो भाजपा नेता सक्रिय है उन्हें अपने राष्ट्रीय नेतृत्व पर भरोसा है कि प्रदेश भाजपा कि वे मदद जरूर करेंगे और कभी ना कभी भाजपा अपनी खोई हुई चमक जरूर प्राप्त करेगी जबकि कांग्रेस नेताओं का मानना है कि अभी तो यह शुरुआत है अभी तो एक ही वर्ष हुआ है अभी 4 वर्ष बाकी है देखते जाइए आगे आगे होता है क्या
 कुल मिलाकर वर्ष 2019 में भाजपा की सरकार तो प्रदेश में रही नहीं रही सही कसर घोटाले उजागर करके कांगरे सरकार ने भाजपा की चमक ही नहीं धमक भी कमजोर कर दी है भाजपा के केवल वही नेता अब बोल पा रहे हैं जिनका दामन पाक साफ है अन्यथा अधिकांश नेताओं ने चुप्पी साध ली है क्योंकि सरकार कहीं भाजपा नेताओं के अतिक्रमण हटा रही है तो कहीं उनके कार्यकाल की की जांच करवा रही है

सोमवार, 30 दिसंबर 2019

तम्बाकू दुकानों से नही बिकेंगी चाकलेट/कैंडी आदि,तम्बाकू नियंत्रण कानून का पालन करने कमेटी का गठन होगा: कमिश्नर

तम्बाकू दुकानों से नही बिकेंगी चाकलेट/कैंडी आदि,तम्बाकू नियंत्रण कानून का पालन करने कमेटी का गठन होगा: कमिश्नर 
सागर । कमिष्नर सागर संभाग  आनंद कुमार शर्मा ने संभाग के समस्त कलेक्टर्स, आयुक्त नगर निगम एवं नगर पालिका एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत को निर्देषित किया है कि जिलास्तरीय तम्बाकू नियंत्रण समिति की नियमित बैठक एवं तम्बाकू नियंत्रण कानून की धारा 4,5,6 व 7 के परिपालन को सुनिष्चित करने के लिये जिला स्तर पर प्रवर्तन दल का गठन जिला एवं विकासखण्ड स्तर पर किया जाये। नियंत्रण कानून की धाराओं के प्रभावी क्रियान्वयन हेतु नियमित अन्तराल पर मुहिम चलाकर चालानी कार्यवाही एवं अर्थदण्ड किया जाये।
 श्री शर्मा ने निर्देष दिये कि जिला प्रषासन स्तर पर एसडीएम/डिप्टी कलेक्टर को तम्बाकू नियंत्रण के लिये नोडल अधिकारी नामाकिंत किया जाये। उन्होंने नगर निगम/नगर पालिका में तम्बाकू नियंत्रण के लिये प्रषासनिक स्तर के अधिकारी को नोडल अधिकारी नामांकित किया जाये। जिला स्वास्थ्य समिति की समीक्षा बैठक के दौरान यह भी सुनिष्चित करें कि नोडल अधिकारी/मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी तम्बाकू नियंत्रण की गतिविधियों को प्रस्तुत करें। तम्बाकू उत्पाद की दुकानों को लायसेंस दिया जाये और लायसेंस की शर्तों में तम्बाकू नियंत्रण की धारा 5,6 व 7 का पूर्ण रूप से पालन करने की शर्त लिखी जाये तथा यह भी सुनिष्चित किया जाये कि किसी भी जिले में कोई भी तम्बाकू उत्पादन की दुकान बिना लायसेंस के संचालित न हो। तम्बाकू उत्पादन की दुकानों से अन्य सामान जैसी  चाकलेट, कैन्डी आदि न बेची जाये।                           

शुद्ध हृदय में ही भक्ति जागृत होती है:आचार्य ब्रजपाल शुक्ल कथा में पहुचे केबिनेट मन्त्री हर्ष यादव,पूर्व केंद्रीय मन्त्री अरुण यादव और अभिनेता मुकेश तिवारी

शुद्ध हृदय में ही भक्ति जागृत होती है:आचार्य ब्रजपाल शुक्ल
कथा में पहुचे केबिनेट मन्त्री हर्ष यादव,पूर्व केंद्रीय मन्त्री अरुण यादव और अभिनेता मुकेश तिवारी
सागर। सागर के ढाना  ग्राम में चलरही राम कथा के छठवे दिन कथा व्यास आचार्य ब्रजपाल शुक्ल ने व्यास पीठ से बताया किमहाराज जनक के यहां जगतजननी का सीता रूप में अवतरण तथा महाराज दशरथ के यहाँ चारों पुत्रों के रूप में जगत पिता का अवतरण दोनों राजाओं के शुद्ध हृदय का परिणाम है। 
इसलिए तुलसीदास जी ने लिखा
इन सम कोउ न भएउ जग माही।
है नही कतहु न होनेउ नाहीं।
महाराज जनक तथा महाराज दशरथ जैसे उस समय भी कोई नही था और न अभी है और न कभी होगा।कौशिल्या तथा जानकी जी की माता के शरीर कितने दिव्य होगें कि उनके गर्भ में दिव्य तेज का धारण करने की शक्ति थी एक योगी पुरुष का जन्म भी ग्रहस्थ के घर मे ही होता है।उन गृहस्थों का चित्त कितना शुद्ध होगा जिनके गर्भ से वशिष्ठ विश्वामित्र जैसे लोक यशस्वी महर्षियों का जन्म हुआ।
उन्होंने बताया कि भगवान के जन्म का तथा सन्तो के जन्म का आधार गृहस्थ ही है। सम्पूर्ण  संसार का आधार गृहस्थ है। इसलिए गृहस्थ स्त्री-पुरुष और पुरुष के हृदय की शुद्धता जितनी अधिक होगी उतने ही योगियों का संसार मे प्रादुर्भाव होगा।
हाड़ माँस चर्म के शरीर मे शरीर का महत्व नही शुद्ध हृदय का महत्व है। 
उन्होंने कहा कि दुष्चरित्र सन्तान से माता पिता ही नही अपितु सारा संसार दुःखी होता है।
भगवान राम तथा जानकी जी ने ही सम्पूर्ण संसार में महाराज जनक को तथा दशरथ जी को पूज्य बन दिया। जानकीजी की पतिव्रता भक्ति तथा श्रीराम जी का धर्माचरण इन दो गुणों ने संसार को सदाचार तथा पवित्रता का जो सन्देश दिया है वह सन्देश संसार का कोई धनवान बलवान विद्वान नही दे सकता।आचरण से ही यश की प्राप्ति होती है। दृढ़ता से ही धर्म का आचरण होता है।
जितेंद्रिय पुरुष ही धर्मात्मा होता है
श्री शुक्ल कहते है कि पति पत्नी की शुद्धता यश का आधार है। वह ही सच्चा मनुष्य उत्पन्न करने में समर्थ होते हैं।
आज कथा में ये रहे शामिल
श्री राम कथा में पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण यादव, केबीनेट मंत्री हर्ष यादव,पूर्व मंत्री राजकुमार पटेल , फ़िल्म अभिनेता मुकेश तिवारी, हीरा सिंह  , अमित राम जी दुबे,अशोक श्रीवास्तव, कमलेश साहू  , रेखा चौधरी,सौरभ हजारी, सुरेश जाट , शिव शंकर पटेरिया ,महेंद्र यादव ,सुरेश जाट, सिंटू कटारे ,सुरेंद्र चौबे,शिव शर्मा ,राकेश राय शिवप्रसाद तिवारी,मुकुल पुरोहित, पप्पू फुसकेले,संदीप सबलोक,वीरेंद्र गौर,कमलेश बघेल, अंकित तिवारी,मनोज तिवारी,नितिन मिश्रा, नीरज मुखरया, चक्रेश जैन,रूपेश यादव, रत्नेश रावत,ज्योती पटेल, धर्मेंद्र राजपूत, विज्जु सबलोक ,पप्पू गुप्ता जितेंद्र रोहण,आदि ने कथा का श्रवण किया व आचार्य जी से आशीर्वाद ग्रहण किया।

कक्षा 9वीं एव एवं 12वीं की प्रथमप्री-बोर्ड परीक्षा की समय-सारणी जारी

कक्षा 9वीं एव एवं 12वीं की प्रथमप्री-बोर्ड परीक्षा की समय-सारणी जारी 

कक्षा 9वीं एवं 11वीं की प्री-वार्षिक तथा कक्षा 10वीं एवं 12वीं की प्रथमप्री-बोर्ड परीक्षा की समय-सारणी जारी

 कक्षा 9वीं एवं 11वीं की प्री-वार्षिक तथा कक्षा 10वीं एवं 12वीं की प्रथमप्री-बोर्ड परीक्षा की समय-सारणी जारी 

भोपाल। लोक शिक्षण संचालनालय, मध्यप्रदेश भोपाल नेसत्र 2019-20 की कक्षा 9वीं एवं 11वीं की प्री-वार्षिक तथा कक्षा 10वीं एवं 12वीं की प्रथमप्री-बोर्ड परीक्षा की समय-सारणी जारी की है । इस आशय के आदेश जारी कर दिए है।

आयुक्त लोक शिक्षण जय श्री कियावत के 

आदेश के मुताबिक वर्तमान सत्र में कक्षा 10वीं एवं 12वीं के लिए प्रथम प्री-बोर्ड जनवरी एवं द्वितीय प्री-बोर्ड परीक्षा फरवरी माह में तथा कक्षा 9वीं एवं 11वीं के लिए प्री-वार्षिक परीक्षा जनवरीमाह में आयोजित करने का निर्णय लिया गया। इन परीक्षाओं का उद्देश्य विद्यार्थियों को वार्षिक परीक्षा हेतुतैयार करना है ताकि विद्यार्थी वार्षिक परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन कर सकें।

शैक्षणिक सत्र 2019-20 की कक्षा 9वीं एवं 11वीं की प्री-वार्षिक तथा कक्षा 10वीं एवं 12वीं की प्रथमप्री-बोर्ड परीक्षा की समय सारणी संलग्न कर उपलब्ध कराई जा रही है। समय सारणी अनुसार कक्षा 9वीं एवं10वीं की परीक्षा प्रातः 8:30 बजे से 11:30 बजे तक एवं कक्षा 11वीं एवं 12वीं की परीक्षा दोपहर 12:00 बजे से3:00 बजे तक पत्र के साथ संलग्न समय सारणी के अनुसार आयोजित की जाये।


#कक्षा 9वीं एवं 11वीं की प्री-वार्षिक तथा कक्षा 10वीं एवं 12वीं की प्रथम प्री-बोर्ड परीक्षा हेतु प्रश्न पत्रvimarsh.mp.gov.in पोर्टल पर दिनांक 09.01.2020 तक upload किये जायेंगे। जिसे जिला शिक्षाअधिकारी/जिला/विकासखंड स्तरीय उत्कृष्ट विद्यालय के प्राचार्य के लॉगइन पासवर्ड से डाउनलोड किया जा

सकेगा।

#निर्देशित किया जाता है कि जिला शिक्षा अधिकारी/जिला/विकासखंड स्तरीय उत्कृष्ट विद्यालय केप्राचार्य द्वारा किसी भी स्थिति में किओस्क अथवा प्राइवेट दुकान से पेपर डाउनलोड नहीं कराये जायेंगें।जिला/विकासखंड स्तरीय उत्कृष्ट विद्यालय के प्राचार्य प्रश्नपत्रों को डाउनलोड करके उसका एक सेट संबंधितविद्यालय को उसमें प्रचलित विषयों के अनुसार प्रदान करेंगें एवं परीक्षा की गोपनीयता को बनाये रखेंगें। सभीप्राचार्यों को भी सूचित करें कि किसी भी तरह की लापरवाही को गंभीरता से लिया जावेगा।


#विषय विशेष की परीक्षा संपन्न होने के उपरांत उस विषय शिक्षक को आगामी 3 दिन तक यथासंभवपर्यवेक्षण कार्य में न लगाया जाए ताकि वह अपने विषय की उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन पूर्ण कर सकें। परीक्षासमाप्ति के उपरांत 26 से 29 जनवरी 2020 तक सभी विद्यार्थियों को विषयवार उत्तरपुस्तिकाएं दिखाई जाकरप्रश्न पत्र हल करवाया जाए एवं विद्यार्थियों द्वारा की गई त्रुटियों के संबंध में शिक्षकों द्वारा 31 जनवरी से 10फरवरी 2020 तक उन अवधारणाओं को जिनमें विद्यार्थियों द्वारा त्रुटियां की गई हैं उनको समझाकर अभ्यास कराया जाए ।

#परीक्षा हेतु संलग्न सूची अनुसार विषयों के प्रश्नपत्र प्रदान किए जायेंगें। इसके अतिरिक्त अन्य विषययदि विद्यालय में प्रचलित हों तो उनके प्रश्नपत्र प्राचार्य संस्था स्तर पर तैयार कर परीक्षा संपन्न करायें।

कक्षा 9वीं एवं 11वीं की प्री-वार्षिक तथा कक्षा 10वीं एवं 12वीं की प्रथमप्री-बोर्ड परीक्षा की समय-सारणी जारी

 कक्षा 9वीं एवं 11वीं की प्री-वार्षिक तथा कक्षा 10वीं एवं 12वीं की प्रथमप्री-बोर्ड परीक्षा की समय-सारणी जारी 

भोपाल। लोक शिक्षण संचालनालय, मध्यप्रदेश भोपाल नेसत्र 2019-20 की कक्षा 9वीं एवं 11वीं की प्री-वार्षिक तथा कक्षा 10वीं एवं 12वीं की प्रथमप्री-बोर्ड परीक्षा की समय-सारणी जारी की है । इस आशय के आदेश जारी कर दिए है।

आयुक्त लोक शिक्षण जय श्री कियावत के 

आदेश के मुताबिक वर्तमान सत्र में कक्षा 10वीं एवं 12वीं के लिए प्रथम प्री-बोर्ड जनवरी एवं द्वितीय प्री-बोर्ड परीक्षा फरवरी माह में तथा कक्षा 9वीं एवं 11वीं के लिए प्री-वार्षिक परीक्षा जनवरीमाह में आयोजित करने का निर्णय लिया गया। इन परीक्षाओं का उद्देश्य विद्यार्थियों को वार्षिक परीक्षा हेतुतैयार करना है ताकि विद्यार्थी वार्षिक परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन कर सकें।

शैक्षणिक सत्र 2019-20 की कक्षा 9वीं एवं 11वीं की प्री-वार्षिक तथा कक्षा 10वीं एवं 12वीं की प्रथमप्री-बोर्ड परीक्षा की समय सारणी संलग्न कर उपलब्ध कराई जा रही है। समय सारणी अनुसार कक्षा 9वीं एवं10वीं की परीक्षा प्रातः 8:30 बजे से 11:30 बजे तक एवं कक्षा 11वीं एवं 12वीं की परीक्षा दोपहर 12:00 बजे से3:00 बजे तक पत्र के साथ संलग्न समय सारणी के अनुसार आयोजित की जाये।


#कक्षा 9वीं एवं 11वीं की प्री-वार्षिक तथा कक्षा 10वीं एवं 12वीं की प्रथम प्री-बोर्ड परीक्षा हेतु प्रश्न पत्रvimarsh.mp.gov.in पोर्टल पर दिनांक 09.01.2020 तक upload किये जायेंगे। जिसे जिला शिक्षाअधिकारी/जिला/विकासखंड स्तरीय उत्कृष्ट विद्यालय के प्राचार्य के लॉगइन पासवर्ड से डाउनलोड किया जा

सकेगा।

#निर्देशित किया जाता है कि जिला शिक्षा अधिकारी/जिला/विकासखंड स्तरीय उत्कृष्ट विद्यालय केप्राचार्य द्वारा किसी भी स्थिति में किओस्क अथवा प्राइवेट दुकान से पेपर डाउनलोड नहीं कराये जायेंगें।जिला/विकासखंड स्तरीय उत्कृष्ट विद्यालय के प्राचार्य प्रश्नपत्रों को डाउनलोड करके उसका एक सेट संबंधितविद्यालय को उसमें प्रचलित विषयों के अनुसार प्रदान करेंगें एवं परीक्षा की गोपनीयता को बनाये रखेंगें। सभीप्राचार्यों को भी सूचित करें कि किसी भी तरह की लापरवाही को गंभीरता से लिया जावेगा।


#विषय विशेष की परीक्षा संपन्न होने के उपरांत उस विषय शिक्षक को आगामी 3 दिन तक यथासंभवपर्यवेक्षण कार्य में न लगाया जाए ताकि वह अपने विषय की उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन पूर्ण कर सकें। परीक्षासमाप्ति के उपरांत 26 से 29 जनवरी 2020 तक सभी विद्यार्थियों को विषयवार उत्तरपुस्तिकाएं दिखाई जाकरप्रश्न पत्र हल करवाया जाए एवं विद्यार्थियों द्वारा की गई त्रुटियों के संबंध में शिक्षकों द्वारा 31 जनवरी से 10फरवरी 2020 तक उन अवधारणाओं को जिनमें विद्यार्थियों द्वारा त्रुटियां की गई हैं उनको समझाकर अभ्यास कराया जाए ।

#परीक्षा हेतु संलग्न सूची अनुसार विषयों के प्रश्नपत्र प्रदान किए जायेंगें। इसके अतिरिक्त अन्य विषययदि विद्यालय में प्रचलित हों तो उनके प्रश्नपत्र प्राचार्य संस्था स्तर पर तैयार कर परीक्षा संपन्न करायें।

रोगी कल्याण समिति के 38 सफाई कर्मियों को कार्य के ठीक नही,कलेक्टर ने चेताया

रोगी कल्याण समिति के 38 सफाई कर्मियों को कार्य के ठीक नही,कलेक्टर ने चेताया
सागर । कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में समय सीमा की बैठक आयोजित की गई। बैठक में नगर निगम आयुक्त श्री आर.पी. अहिरवार, अपर कलेक्टर श्री मूलचंद वर्मा, जिला पंचायत सीईओ श्री चन्द्रषेखर शुक्ला, डिप्टी कलेक्टर श्री आदित्य शर्मा और विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।
बैठक में कलेक्टर श्रीमती मैथिल ने निर्देष दिये कि एक सप्ताह  के अन्दर सभी विभाग प्रमुख अपने-अपने विभागांे में यौन उत्पीड़न समिति का गठन कर पालन प्रतिवेदन प्रस्तुत करे साथ ही जिला षिक्षा अधिकारी को निर्देष दिये कि जिले की समस्त शासकीय शालाओं जिसमें प्राथमिक से लेकर हायर सेकेण्डरी शालाएं शामिल है। इनके संस्था प्रधानों से प्रतिवेदन लेकर यह सुनिष्चित करें कि शाला में शौचालय है कि नही, अगर है तो बंद या चालू, बालक-बालिका शौचालय की स्थिति, शौचालय में जीर्णोधार की आवष्यकता का प्रतिवेदन 5 दिवस में प्रस्तुत करे। बैठक में उन्होंने समस्त विभागों के अधिकारियों को निर्देष दिये कि जिले की 10-10 पंचायतों हेतु अपको सचिव नियुक्त किया गया है उन पंचायतों में जाकर शासकीय योजनाओं की जानकारी का प्रतिवेदन अगली समय सीमा बैठक में प्रस्तुत करें। साथ यह प्रमुख रूप से देखे कि राषन कार्डों का सत्यापन कार्य किया जा रहा है उसकी वास्तविक स्थिति की जानकारी एवं स्कूलों की बालिका शौचालय की अद्यतन स्थिति की जानकारी भी उपलब्ध करायें।
उन्होंने निर्देष दिये कि सभी विभाग एनआईसी के माध्यम से ई-मेल आईडी तैयार करायें। उन्होेंने सामाजिक न्याय विभाग को निर्देष दिये कि आगामी माह में होने वाले रोजगार मेले में दिव्यांगों को भी शामिल किया जाये। 12 जनवरी को आयोजित मध्यप्रदेष लोक सेवा आयोग की प्रारंभिक परीक्षा को सम्पन्न कराने के लिये अपर कलेक्टर श्री वर्मा को जिम्मेदारी दी गई। सीएम हेल्पलाईन की समीक्षा करते हुये निर्देष दिये कि सभी विभाग सक्रियता के साथ षिकायतों का निराकरण करें।  
कार्य के प्रति लगनषीलता पर दी बधाई
कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक ने समस्त विभाग प्रमुखांे को 10-10 पंचायतों का सचिव बनाया है। जिसके तहत सहायक श्रमायुक्त श्री भगवत प्रसाद ने कार्य के प्रति लगनषीलता दिखाते हुये विगत दिवस मालथौन विकासखण्ड के बांदरी एवं अटाटीला पंचायत का निरीक्षण किया। निरीक्षण में बांदरी इंदिरा कॉलोनी में हैण्डपम्प खराब होने से पेयजल उपलब्ध न होने की स्थिति एवं अटाटीला में आंगनवाड़ी केन्द्र में दर्ज संख्या के मान से अत्यन्त सूक्ष्म उपस्थिति मिलना, सार्वजनिक वितरण प्रणाली में केरोसिन वितरण प्राप्त न होना की स्थिति की जानकारी दी जिस पर श्रीमती मैथिल ने श्री भगवत प्रसाद को बधाई देते हुये कहा कि यदि जिले के समस्त अधिकारी इसी प्रकार का सूक्ष्मता से अवलोकन करे तो जिला प्रदेष में समस्या विहीन होगा।
रोगी कल्याण समिति के सफाई कर्मियों को कार्य के प्रति चेताया
जिला चिकित्सालय में रोगी कल्याण समिति के माध्यम से कार्य कर रहे 38 सफाई कर्मियों के कार्य ठीक प्रकार से न करने के कारण कलेक्टर श्रीमती मैथिल ने सीएमओ को निर्देष दिये कि 10 दिनों के अन्दर अस्पताल की सफाई व्यवस्था दुरूस्त नही की तो सफाई कर्मियों पर कठोर कार्यवाही होगी। 

रविवार, 29 दिसंबर 2019

सागर जिले में कक्षा 8वीं तक 30 और 31 दिसम्बर की छुट्टी घोषित, ठंड के चलते

सागर जिले में कक्षा 8वीं तक 30 और 31 दिसम्बर की छुट्टी घोषित, ठंड के चलते

सागर। सागर में बढ़ती ठंड के चलते कक्षा 8 वी तक स्कूलो की  छुट्टियां 30 व 31दिसम्बर तक । जिला शिक्षा अधिकारी महेंद्र प्रताप तिवारी ने किए आदेश जारी।

"दस्तक युवा पीढ़ी की",नए कवियों को मिला मंच

"दस्तक युवा पीढ़ी की",नए कवियों को मिला मंच
सागर।राष्ट्रीय कवि संगम जिला इकाई सागर इकाई का "दस्तक युवा पीढ़ी की कार्यक्रम" हुआ संपन्न। कार्यक्रम अध्यक्ष पंडित  हरिशंकर तिवारी  एवं मुख्य अतिथि  मधुसूदन सिलाकारी द्वारा सरस्वती पूजन किया संस्था के उपाध्यक्ष प्रभात कटारे  ने सभी अतिथियों का माल्यार्पण कर स्वागत किया । संस्था के जिलाध्यक्ष कपिल चौबे द्वारा कार्यक्रम के उद्देश्य पर प्रकाश डालते हुए कहा कि हम निरंतर नए एवम् युवा कवियों की तलाश कर उन्हें प्रशिक्षित और मंच प्रदान करने हेतु प्रयास करते रहे है जिसके तहत हमने अलख ,नए मिजाज़,काव्य वर्षा,आदि सफल कार्यक्रम आयोजित किए जिसमें अभी तक 75 से ज्यादा युवा एवम् नए कलमकार सामने आए इसी सिलसिले की नई कड़ी में यह "दस्तक नई पीढ़ी की" हमारा अगला कदम है।संरक्षक शायर अशोक मिजाज़ बद्र की उपस्थिति में 11 युवा कवियों ने साहित्यिक दस्तक दी ।
प्रथम कवि के रूप में  विकाश सदाबहार इलाहाबाद :
मै तेरी चाहत में आज भी निखरता रहता हूं,
आकर तेरी दुनिया के ख्वाबों में बिखरता रहता हूं।एवम् सुश्री दीक्षा पटेल दमोह ने मां कुछ भी जाया जाने नही देती  ,वो सहेजती है ,सभालती है ,ढकती है ,बाधती है उम्मीद के आखरि छोर तक देखा होगा न .......
श्री प्रशांत ढेंकले ने 
हमे फिर हम से हटाया जा रहा है ,लिख कर गलत मिटाया जा रहा है।  अमित कुशवाहा ने हमेशा सबकी फरमाइशें पूरी करे आसान नहीं है,
ये ज़िंदगी है जनाब चाय की दुकान नहीं है
 आयुष दांगी  नेदिल करता है सब कुछ बिखरा छोड़ के लौट जाता हूं उस मां की गोदी में उस आंचल में लोट जाता हूं ।
सुश्री शुभी विश्वारी छतरपुर ने ये है मेरी काल्पनिक लव स्टोरी।रेलवे का टेस्ट निकल गया तभी होगी पूरी ।श्री सत्यम अग्निहोत्री ने निश्चय की अनिश्चय  कहने वाला कौन हूँ मैं. शिवांशु कमल नामदेव ने अपनी साहित्यिक रचनाएं
सुनाकर सब का दिल जीता
नलिन जैन  ,श्वेता जैन,शोर्य चौबे,राघव रामकरण,अभिषेक ऋषि आदि ने काव्य पाठ किया ।अंत में संस्था के संरक्षक शायर अशोक मिजाज़ बद्र ने आज के माहोल को देखते हुए शेर पढ़ा तमाम उम्र हमे साथ साथ रहना है ,तो बात बात पे ये मनमुटाव आखिर क्यूं ?
कार्यक्रम का संचालन कपिल चौबे ने किया एवम् आभार  संस्था के द्वितीय संरक्षक डॉ अशोक कुमार तिवारी ने किया ।इस अवसर पर पंडित  संजय बाजपेई जी , रामप्रसाद विश्वकर्मा , प्रभु दयाल विल्थरिया सत्य नारायण मंगोलिया जी , रामनाथ यादव   ,विजय चौबे आदि उपस्थित थे

मध्य प्रदेश में मौसम में बदलाव की संभावना, भोपाल, ग्वालियर, उज्‍जैन, जबलपुर, और रीवा संभागों में वर्षा हो सकती है

मध्य प्रदेश में  मौसम में बदलाव की संभावना, भोपाल, ग्वालियर, उज्‍जैन, जबलपुर, और रीवा संभागों  में वर्षा  हो सकती है
भोपाल।  मौसम विज्ञानी डॉ शैलेन्द्र नायक के अनुसार आगामी मौसम का पूर्वानुमान ऐसा रहेगा, जिसमें मध्य प्रदेश के उत्तरी हिस्से उत्तर-पश्चिमी ठंडी हवाओं की चपेट में हैं जबकि दक्षिणी हिस्से उत्तर-पूर्वी  ठंडी हवाओं की चपेट में हैं। आगामी 24 से 48 घंटों के दौरान मध्य प्रदेश में हवाओं की दिशा वदलाव की संभावना नहीं है. इसके बाद, मध्य प्रदेश में हवाएँ दक्षिण-पूर्वी  होने की संभावना है जिस कारण  न्यूनतम और अधिकतम तापमान में वृद्धि की संभावना है। एक ताजा पश्चिमी विक्षोभ द्वारा पश्चिमी हिमालय क्षेत्र को 30 दिसंबर की रात से प्रभावित करने की बहुत संभावना है। इस पश्चिमी विच्छोप एवं निचले तल की पूर्वी हवाओं के परस्पर प्रभाव(इंटरेक्शन) के कारण 01 एवं 02  जनवरी, 2020  को मध्य भारत सहित मध्य प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में अधिकांश स्थानों से अनेक स्थानों तक वर्षा के साथ साथ कहीं-कहीं ओले गिरने की संभावना है. आगामी 2 दिनों के दौरान उत्तरी मध्य प्रदेश में घना कुहरे की संभावना है. आगामी 24 से 48 घंटों के दौरान मध्य प्रदेश के न्यूनतम तापमानों में विशेष परिवर्तन की संभावना नहीं है एवं रीवा, सागर, ग्वालियर एवं चम्बल संभागों के जिलों में कुछ स्थानों पर  शीत लहर साथ साथ कहीं-कहीं तीव्र शीत लहर की संभावना है इसके बाद शीत लहर से राहत मिलाने की संभावना है. आगामी 24  से 48 घंटों के दौरान रीवा, सागर, ग्वालियर, चम्बल, जबलपुर, भोपाल एवं इंदौर संभागों के जिलों में  कहीं कहीं तीव्र शीतल दिन के साथ साथ कुछ स्थानों पर तीव्र शीतल दिन की संभावना है. आगामी 24 सागर, रीवा, शहडोल, ग्वालियर एवं चम्बल संभागों के जिलों में कहीं कहीं कुछ क्षेत्रों  में   कुहर  एवं कहीं कहीं घना कुहरा छाने की संभावना है.

फ़िल्म बागवान से आई "बागवान वृद्धाश्रम" बनाने की कल्पना:गोपाल भार्गव, सर्वसुविधायुक्त वृद्धाश्रम का लोकार्पण

फ़िल्म  बागवान से आई "बागवान वृद्धाश्रम" बनाने की कल्पना:गोपाल भार्गव,
सर्वसुविधायुक्त  वृद्धाश्रम का लोकार्पण
सागर। सागर जिले के रहली विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत गढाकोटा नगर में 318 लाख रुपये की लागत से बने भव्य एवं सर्व सुविधा युक्त "बागवान वृद्धाश्रम" का लोकार्पण स्थानीय विधायक व मध्यप्रदेश विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष  गोपाल भार्गव  ने किया। यह वृद्धाश्रम 2 वर्ष पूर्व जब गोपाल भार्गव  सामाजिक न्याय एव निःशक्तजन कल्याण मंत्री थे ।उस समय स्वीकृत कर दिया था। इस वृद्धाश्रम में 24 कमरे,प्रत्येक कमरे में तीन से चार पलंग,गद्दे,तकिया, रजाई, पूजाघर,भोजन के लिए बढा हाल,जिसमें लगभग 500 लोग एक साथ भोजन कर सकते हैं। भजन इत्यादि के लिए शानदार साउंड सिस्टम, मनोरंजन के लिए टेलिविज़न,इस वृद्धाश्रम में बीच बहुत बढ़ा आँगन व बगीचा हैं। कुल मिलाकर यह वृद्धाश्रम सर्व सुविधा युक्त हैं।
नेता प्रतिपक्ष श्री गोपाल भार्गव  ने कहा कि वैसे तो भारत"श्रवण कुमार"की संस्कृति वाला देश है ऐसे देश में वृद्धाश्रम की कल्पना करना बेमानी हैं,लेकिन वर्तमान समय में कलयुग और पाश्चात्य संस्कृति भारत में इतनी ज्यादा हावी होती जा रही है जिससे रिश्ते नाते व मानवीयता का ह्रास बहुत ही शीघ्रता से हो रहा हैं।पहले परिवार की परिभाषा में दादा दादी,चाचा चाची,माता पिता, बच्चे इत्यादि होते थे, लेकिन वर्तमान दौर में परिवार की परिभाषा ही बदल गई है इसमें पति पत्नी और बच्चे आते हैं। आज के दौर में समाज में ऐसे अनेकों बेसहारा व अपनो से उपेक्षित वृद्ध हैं जो कि दर दर की ठोकरे खाने को मजबूर है। ऐसे वृद्धों का एक आश्रय देने का काम करेंगा यह"बागवान वृद्धाश्रम"।इस वृद्धाश्रम में सुबह नाश्ता सहित दोनों टाईम रूचिकर भोजन की व्यवस्था की गई है। समय समय पर मेडिकल परीक्षण भी कराया जायेगा। कुल मिलाकर मेरा प्रयास रहेगा कि इस वृद्धाश्रम में रह रहे वृद्धों को घर जैसा वातावरण महसूस हो,ताकि वे अपने जीवन को शानदार तरीके से जी सकें।
बागवान फ़िल्म से आई परिकल्पना 
 इस वृद्धाश्रम की परिकल्पना मेरे मन में कुछ वर्षों पूर्व उस समय आई जब मैंने फिल्म बागवान देखी जिसमें बच्चे किस तरह अपने माँ बाप को दर दर की ठोकरे खाने को मजबूर कर देते हैं। एक समय ऐसा आता हैं जब फिल्म का नायक कहता है कि भगवान से मन्नतें माँगकर औलाद मांगते है और यदि औलाद ऐसी होती है तो वेऔलाद होना ठीक है। इस फिल्म से प्रेरित होकर ही इस वृद्धाश्रम का नाम "बागवान वृद्धाश्रम " रखा। कार्यक्रम में उपस्थित वृद्धों को नेता प्रतिपक्ष श्री गोपाल भार्गव जी ने साल श्रीफल से सम्मानित किया।

सेवादल कांग्रेस अनुशासन के साथ बढ़ रहा है आगे: कैलाश सिंघई

सेवादल कांग्रेस अनुशासन के साथ बढ़ रहा है आगे: कैलाश सिंघई
सागर। कांग्रेस सेवादल के अध्यक्ष श्री लाल जी देसाई एवं प्रदेश कांग्रेस सेवादल के अध्यक्ष डाॅ सत्येंद्र यादव  के निर्देशानुसार प्रत्येक माह के अंतिम रविवार को होंने वाला ध्वजवंदन काय॔क्रम आज कीर्ति स्तंभ नमकमंडी कटरा वाजार मे कांग्रेस के सीनियर नेता कैलास सिघई के द्वारा संपन्न हुआ ।कार्य क्रम में मुख्य अतिथि के रूप में अब्दुल रफीक गनी  उपस्थित थे काय॔क्रम को संबोधित करते हुए श्री सिघई जी ने कहा कि सेवादल अनुशासन के साथ आगे बढ रहा है मैं भी सेवादल से ही प्रशिक्षित कार्यकर्ता हूँ आज मुझे बहुत गव॔ हो रहा है इस अवसर पर रफीक गनी जी ने कहा कि सेवादल का जन्म आजादी की लड़ाई में योगदान के लिए हुआ था कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सेवादल सागर शहर अध्यक्ष सिंटू कटारे ने कहा कि सेवादलको अनुशासन के साथ और आप सब के सहयोग से आगे चुनौतियों के लिए तैयार करना है काय॔क्रम मे विशेष अतिथि के रुप में सेवादल के प्रदेश पदाधिकारी डाॅ संदीप सबलोक ,विजय साहू राजाराम सरवैया ,शामिल हुए काय॔क्रम का संचालन द्वारका चौधरी द्वारा किया गया। इस अवसर पर काय॔वाहक अध्यक्ष मुन्ना चौवे  जितेंद्र सिंह चावला चक्रेश सिघई जी अमित दुबे राम राकेश राय ब्लाक अध्यक्ष शरद पुरोहित जितेंद्ररोहण हेमकुमारी पटेल हेमराज रजक प्रदीप सेठ कोषाध्यक्ष पदम जैन ब्लाक अध्यक्ष कल्लू पटेल प्रीतम यादव आनंद हैला नितिन पचौरी दुलीचंद सकवार हरिश्चंद्र सोनवार राहुल जाटव  चंद्रभान अहिरवार प्रभात भंडारी नीलेश गौतम फहीम अंसारी अरूण चकिया बाबू सलाम अंकुर यादव मुकुल शर्मा पवन घोषी गोलू पचौरी वसीम खान मीरा अहिरवार गीता लीला गेंदा बाई काशी बाई भूरी बाई रेखा अहिरवार वर्षा बाल्मीकि केशर बाई राजिया खान रेखा गुप्ता अशोक नागवानी अरविंद सेंगर आमिर हुसैन राईन मोनू गुप्ता कमलेश मछंदर शैलेश अकेला शामिल हुए ।काय॔क्रम का आयोजन कांग्रेस सेवादल के अध्यक्ष सिंटू कटारे ने किया

दुर्भावना ही नाश का कारण है :पण्डित ब्रजपाल शुक्ल

दुर्भावना ही नाश का कारण है :पण्डित ब्रजपाल शुक्ल
सागर।ढाना,( सागर )ग्राम में दीपक तिवारी  के निवास पर चल रही राम कथा के पंचम दिवस कथा व्यास आचार्य  ब्रजपाल शुक्ल ने व्यास पीठ से कहा।उन्होंने कहा किमहाराज जनक के धनुष यज्ञ में आये हुए सभी प्रकार की बुद्धि के राजा  विदयमान थे। सीता से विवाह की कामना सभी राजाओं के मन मे थी लेकिन सीता को देखकर कुछ राजाओं के मन मे भावना ही बदल गयी और वे सीता को अपनी माता के रूप में देखने लगे। जो राजा सीता को काम भावना से देख रहे थे , युद्ध करके भी छुड़ाने की बात कर रहे थे उनके लिए सद्बुद्धि सम्पन्न राजाओं ने कहा
सिख हमारी सुनि परम् पुनीता।
जगदम्बा जानहु जिय सीता।
हे! राजाओ सीताजी को देख करके हमारा मन विशुद्ध हो गया है जिससे हम  विवाह करने के लिए आये थे वास्तव में वह जगत जननी जगदम्बा है। हम लोग अपनी माता के ही प्रति विवाह की कामना करने लगे हैं।
श्री शुक्ल ने बताया कि श्रीराम जगत पिता हैं और सीता जगत जननी हैं। मनुष्य के कुबुद्धि होती है तब उसकी दुर्भावना ही उसके नाश का कारण बनती है।सीता और राम को आज नेत्र भर करके देख लो यह अपने माता पिता हैं। धनुष यदि बल के कारण टूट भी गया तो भी सीता के साथ विवाह करने योग्य नही हैं क्योंकि संसार के किसी मनुष्य के लिए अपनी माँ भोग्य योग्य नही हो सकती।रामजी को रंगमंच में देखकर जैसे सभी की अपनी अपनी भावना के अनुसार दर्शन हो रहे थे उसी प्रकार रंगमंच में आई हुई सीता को देखकर सभी के अंदर भावना के अनुसार भाव जग रहे थे।सद्बुद्धि सम्पन्न राजाओ ने कहा कि सीता और राम दुष्ट भोगी मनुष्यो के काल के समान हैं और यही सीता राम सद्भावना सम्पन्न मनुष्य के लिए माता पिता हैं।
जो मनुष्य इनको माता पिता के रूप में देखता है तो सीता राम उनको पुत्र के रूप में देखते हैं उनका पालन पोषण करते हैं उनकी दुःखो से रक्षा करते हैं उनकी दुःखो से रक्षा करते है लेकिन दुष्टो के लिए वे दोनों साक्षात काल ही हैं।
सीताजी के रूप को देख करके मोह काम जिनके हृदय में उतपन्न होता है उनका नाश निश्चित ही है।जगदम्बिका रूप गुण खानी
जगतजननी सीता जी के सौंदर्य का वर्णन करना भी हम लोगो के लिए एक बड़ा दोष है। माता की सुंदरता पुत्र के गौरव का साधन है न कि भोग्य का साधन है इसलिए हे राजाओ सीताजी को जगदम्बा मानकर अपने जीवन को सफल कर लो क्योकि जिनसे यह शरीर उतपन्न होता है उन माताओं की भी यह माता है।
उन्होंने कहा कि स्त्री और पुरुष दोनों का उतपन्न करने वाली जगतजननी जानकी है हम सब उनके पुत्र हैं और यह दोनों भावना बदल जाती हैं तो आनन्द और दुःख दोनो प्राप्त होते हैं। सद्भावना का परिणाम है सुख और दुर्भावना का परिणाम दुःख है।
 परिवहन मंत्री ,पूर्व गृहमन्त्री,पत्रकार ब्रजेश राजपूत और मनोज शर्मा हुए कथा में शामिल
आज की कथा में कैबिनेट मंत्री गोविंद राजपूत,खुरई विधायक भूपेंद्र सिंह, वरिष्ट पत्रकार ब्रजेश राजपूत,मनोज शर्मा, रविन्द्र व्यास, पुष्पेंद्र पल सिंह,संतोष पांडेय, देवी प्रसाद दुबे, ऐस के मिश्रा, आशीष पटेरिया, सरस जैन ,डॉ एन पी शर्मा, अनिल तिवारी, सुकदेव मिश्रा ,प्रमोद नायक ,अजय दुबे , कैलाश देवलिया, डॉ सौरव पुरोहित, नीरज पांडे, राजीव हजारी , रजनीश जैन, शैलेंद्र ठाकुर,अभिषेक यादव,पंकज सोनी, आशीष दिवेदी, आदि ने कथा का श्रवण किया  व आचार्य जी से आशीर्वाद ग्रहण किया।

जलवायु परिवर्तन का असर स्थानीय स्तर पर भी,इस पर मंथन की जरूरत,भारतीय भौगोलिक सम्मेलन में चर्चा

जलवायु परिवर्तन का असर स्थानीय स्तर पर भी,इस पर मंथन की जरूरत,भारतीय भौगोलिक सम्मेलन में चर्चा
सागर। डाॅ. हरीसिंह गौर केन्द्रीय विश्वविद्यालय, सागर (म.प्र.) के सामान्य एवं व्यवहारिक भूगोल विभाग के द्वारा भारतीय भौगोलिक संघ (नागी) का 41 वाँ भारतीय भौगोलिक सम्मेलन के  समन्वयक, प्रो. आर.पी.मिश्र, अधिष्ठाता,व्यवाहरिक अध्ययन शाला ने बताया कि द्वितीय दिवस में 18 तकनीकी सत्रों को विभिन्न अध्ययायों में विभाजित कर एक 180 शोध पत्र प्रतिभागियों के सम्मिलित किए गए तथा इन शोध पत्रों का वाचन किया गया। जिनमें प्रमुख विषय हैं - ग्रामीण एवं शहरी: गतिशील और परिवर्तन, ग्रामीण परिस्थितिकी समाज और राजनैतिक आर्थिक, कृषि संबंधी कठिनाइयों एवं राजनैतिक आर्थिक, भारतीय कृषिः प्रारूप एवं चुनौतियां, भारतीय कृषि चुनौतियां, सम्भावना, भूस्थनिक तकनीकी में भौगोलिक अध्ययन, जनसंख्या में लिंग अनुपात एवं विकास, जलवायु परिवर्तन एवं स्वास्थ्य संबंधी एवं प्रभाव का भौगोलिक अध्ययन शामिल हैं। उन्होंने बताया कि जलावायु परिवर्तन/प्रभाव एवं सामंजस्य पर गहन मंथन हुआ। जिसमें यह स्पष्ट हुआ कि जलवायु परिवर्तन का प्रभाव स्थानीय स्तर पर भी दिखाई देने लगा है। इसके कारणों, प्रभावों एवं उपायों पर गहन चर्चा करते हुए समाज में इस संबंध में जागरूकता हेतु योजनाबद्ध ढंग से कार्य करने की रणनीति तैयार करने पर मंथन हुआ। उन्होंने कहा कि इन शोध पत्रों के माधयम से निकलने वाले निष्कर्ष विश्वविद्यालय के छात्रों, शोधार्थियों को ज्ञान के क्षेत्र में पे्ररित करेंगे। तथा समाज में एक नई दिशा देने में बहुउपयोगी सिद्ध होंगे। 
सीपी सिंह अंतरराष्ट्रीय भूगोल वेत्ता
भूगोलवेत्ता वरिष्ठ प्रोफेेसर श्री कमल शर्मा ने  प्रो. सी.पी. सिंह मेमोरियल व्याख्यान देते हुए बताया कि प्रो.सिंह सागर विश्वविद्यालय के भूगोल विभाग के विद्यार्थी थे तथा वर्ष 1999 से 2000 तक 12वें विभागाध्यक्ष बनें वह दिल्ली विश्वविद्यालय में व्याख्याता से लेकर प्रोफेसर तक रहकर शिक्षण, शोध के क्षेत्र में अंतर्राष्टीय स्तर पर पहचान बनाई। वह कृषि भूगोल, राजनीतिक, इलेक्ट्राल भूगोल के विषय विशेषज्ञ थे। आज के परिवेश में उनके शोध एवं अनुभव, प्रकाशन पे्ररणादायी हैं। प्रो. शर्मा ने भारत के विकास में लिंग अनुपात में चुनौतियां एवं निदान पर प्रकाश डालते हुए कहा कि प्रो. सिह ने ऐसे महत्वपूर्ण विषयों पर भी कार्य किया है। उन्होंने अपने शोध पत्र लैंगिक विषमताओं का सम्पोषित विकास पर दुष्प्रभाव विषय पर प्रकाश डालते हुए कहा कि सम्पोषित से तात्पर्य है कि संसाधनों का उपयोग इस तरह से किया जाना चाहिए कि अगली सन्तति के लिए वह उपयोगी हो सके। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि सन्तति में एक बड़ा हिस्सा महिलाओं का है जिसकी संख्या घटती जा रही है। इस घटती संख्या के साथ उनको समान विकास का लाभ मिलना संभव नहीं है। उन्होने कहा कि समाज में महिलाओं के विकास को सम्मिलित किए बिना संतुलित किया जाना संभव नहीं है यह भी शोध का विषय है। 
वरिष्ठ प्रोफेेसर जवाहर लाल जैन ने अपने व्याख्यान में प्रकाश डालते हुए बताया कि भूगोल के विद्यार्थी सुदूर संबेदन तकनीकी का उपयोग सरलता पूर्वक कैसे कर सकते हैं। यह तकनीक सूक्ष्म वास्तविक अध्ययन के लिए अत्यावश्यक है और भूगोल के विद्यार्थियों के लिए विशेष उपयोगी इसलिए है कि उनके अध्ययन का विषय का धरातल का है। जिसके सूक्ष्म विषय सूचना सुदूर संवेदन में मिलती है जोकि अन्य तरीको से सम्भव नहीं है। 
डाॅ.सरला शर्मा ने ग्रामीण बाजारों की उत्तपत्ति का स्थानिक-कालिक विशलेषण, वैशाली पद्म, डाॅ. बी.तबर ने ग्रामीण बस्ती के विकास पर भौगोलिक कारकों का अध्ययन, राकेश भारती, गुंजन कुम ने ग्रामीण विकास में कृषि पर आधारित उद्योगों की भूमिका पर एक भौगोलिक अध्ययन, रामकुमार सिंह ने ग्रामीण क्षेत्रों पर ग्रामीण से शहरी प्रभाव का प्रवास डी.दीनानाथ ठाकुर ने कृषि भूमि पर उपयोग शहरीकरण का प्रभाव, मनीष कुमार ने जलवायु परिवर्तन का कृषि पर प्रभाव सहित जनजाति क्षेत्रों के कृषि एवं पोषण आहर, विपणन, की समस्याऐं एवं चुनौतियों जैसे विषयों पर विस्तृत वैचारिक मंथन हुआ। 
ये रहे उपस्थित
प्रमुख रूप से डाॅ.अनिल तिवारी, संस्थापक कुलपति, एस.व्ही.एन., प्रो. आनंदकर सिंह, ग्वालियर, प्रो.एस.एस.शर्मा, जयपुर, प्रो. श्रीकांत, चंडीगढ, प्रो. आर.के.त्रिपाठी, कानपुर, प्रो. संतोष शुक्ता, प्रो. पी.पी.सिंह, प्रो. रोली कंचन, बडौदरा, प्रो.एस.शिवाकांत, गोरखपुर, प्रो.सी.के.जैन, डाॅ. आर.बी.अनुरागी,संयुक्त सचिव, आयोजन समिति, डाॅ. हेमंत पाटीदार आयोजन समिति सचिव, डाॅ. सतीष सी., डाॅ. निकलेश कुमार, डाॅ.रघुवंशमणी सिंह, डाॅ. पवन शर्मा, डाॅ. आर.के.श्रीवास्त्री, डाॅ. रितु यादव, डाॅ. नीरज उपाध्याय, डाॅ. नीलम थापा, राहुल मिश्रा, कुंदन परमार, कालूराम, जितेन्द्र पटेल, सुरेश मिश्रा, वीरेन्द्र गौतम,  पी.एल.साहू, दुष्यंत नामदेव, शंकर ताम्रकार सहित अनेक शोधार्थी प्रतिभागी उपस्थित थे। 
भारतीय भौगोलिक अधिवेशन का समापन 30 दिसम्बर को
41 वां भारतीय भौगोलिक अधिवेशन का समापन डाॅ. हरिसिंह गौर विश्वविद्याल, सागर के स्वर्ण जयन्ती सभागार में दोपहर 2.00 बजे किया जावेगा। जिसके मुख्य अतिथि स्वामी विवेकानंद विश्वविद्यालय के कुलाधिपति डाॅ. अजय तिवारी, अध्यक्षता प्रो. राणा प्रताप, बोध गया निर्वाचित अध्यक्ष (नागी) प्रो.एस.सी.राय, सेक्रेटरी जनरल (नागी) एवं कांफे्रंस के समन्वयक प्रो.आर.पी.मिश्रा मंच को सुशोभित करेंगे। इस अवसर पर भूगोल क्षेत्र में किए गए कार्यो पर आधारित प्रमुख पुस्तकों का विमोचन भी किया जावेगा। समापन सत्र के प्रथम सत्र  में 10 तकनीकी सत्र में लगभग 100 से ज्यादा शोध पत्रों का वाचन किया जावेगा जोकि महर्षि कणाद भवन में सम्पन्न होंगे। 
!

शांति महोत्सव होगा , शांति धाम बीना जी बारह में

शांति महोत्सव होगा , शांति धाम बीना जी बारह में 
सागर। शान्तिधाम बीना बारह जी मे  आचार्य  श्री विद्यासागर जी महाराज के शिष्य मुनि श्री विमल सागर जी ,मुनि श्री अनंत सागर जी,मुनि श्री धर्म सागर जी,मुनिश्री अचल सागर जी, मुनिश्री भाव सागर जी महाराज के सानिध्य में एवं पंडित कमल कुमार कर्रापुर के निर्देशन में 31दिसंबर 2019 दिन मंगलवार से 2 जनवरी 2020 गुरुवार तक वार्षिक मेला का आयोजन किया गया है । इसके अन्तर्गत 31 दिसम्बर 2019 दिन मंगलवार को दोपहर 1 बजे   ध्वजारोहण एवं  मेला का शुभारंभ होगा । ध्वजारोहण  मध्यप्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री  हर्ष यादव के मुख्य आतिथ्य में संपन्न होगा । ध्वजारोहण करने का सौभाग्य स. सिं. उत्तम चंद जी जैन कोयला परिवार को प्राप्त होगा । विशिष्ट अतिथि  सुखदयाल देवडिया केसली होंगे । रात्रि में 8 बजे से भजन संध्या " एक शाम शांति प्रभु के नाम " का आयोजन किया गया है । 1 जनवरी 2020 बुधवार को प्रातः 7.30 बजे मूलनायक श्री 1008 शांतिनाथ भगवान की विशाल खड्गासन प्रतिमा का महा मस्तकाभिषेक एवं महा शांतिधारा नए तरीके से होगी । दोपहर में 1 बजे श्री शांतिनाथ विधान एवं गजरथ महोत्सव के समस्त पात्रों एवं विशेष सहयोगियों का सम्मान समारोह होगा और मुनि श्री के मंगल प्रवचन होंगे ।
2 जनवरी 2020 दिन गुरुवार को प्रातः 7.30 बजे श्री आदिनाथ भगवान की विशाल पद्मासन प्रतिमा का प्रथम बार महा मस्तकाभिषेक एवम् विशिष्ट ऊर्जा देने वाली शांतिधारा होगी । यह दृश्य प्रथम बार देखने को मिलेगा साथ ही दोपहर में मुनि श्री के प्रवचन होंगे ।
इस कार्यक्रम की तैयारियां जोरों से चल रही है । अतिथियों की आवास एवम् भोजन की संपूर्ण व्यवस्था की गई है । मुनि संघ के  30 दिसंबर 2019 दोपहर 1 बजे के बाद महाराजपुर से बीना बारह  पहुंचने की संभावना है। यह जानकारी  अलकेश जैन  अध्यक्ष अतिशय क्षेत्र शांतिधाम बीना जी बारह ने दी।

BSP विधायक रामबाई ने पार्टी से निलंबित, मायावती ने लिया एक्शन,CAA के समर्थन में बोली थी रामबाई

BSP विधायक  रामबाई ने पार्टी से निलंबित, मायावती ने लिया एक्शन,CAA के समर्थन में बोली थी रामबाई

भोपाल।बहुजन समाज पार्टी  की सुओरिमो मायावती ने एमपी के दमोह जिले से पथरिया की विधायक रामबाई परिहार को पार्टी से निलंबित कर दिया है। हमेशा विवादों में रहने वाली रामबाई ने बसपा की पार्टी लाईन के खिलाफ बयानबाजी की है । बसपा नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) का विरोध कर रही है। हालांकि पार्टी विधायक को सीएए और एनआरसी का समर्थन करना अब भारी पड़ गया है।इसको लेकर बीएसपी ने कार्रवाई करते हुए मध्य प्रदेश में पथेरिया से बीएसपी विधायक को पार्टी से निलंबित कर दिया है।
मायावती ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी
बीएसपी सुप्रीम मायावती ने ट्वीट करते हुए बताया, 'BSP अनुशासित पार्टी है और इसे तोड़ने पर पार्टी के MP/MLA आदि के विरूद्ध भी तुरंत कार्रवाई की जाती है. इसी क्रम में MP में पथेरिया से BSP MLA रमाबाई परिहार द्वारा CAA का समर्थन करने पर उनको पार्टी से निलंबित कर दिया है.'
मायावती ने बताया, 'उन पर पार्टी कार्यक्रम में भाग लेने पर भी रोक लगा दी गई है. जबकि BSP ने सबसे पहले इसे विभाजनकारी और असंवैधानिक बताकर इसका तीव्र विरोध किया, संसद में भी इसके विरूद्ध वोट दिया और इसकी वापसी को भी लेकर राष्ट्रपति को ज्ञापन दिया. फिर भी विधायक परिहार ने CAA का समर्थन किया. पहले भी उन्हें कई बार पार्टी लाइन पर चलने की चेतवानी दी गई थी.'
रामबाई ने हाल ही में नागरिकता संशोधन कानून लाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को सार्वजनिक रूप से धन्यवाद किया था. उन्होंने कहा था कि ये निर्णय बहुत पहले हो जाना चाहिए था लेकिन पहले कोई निर्णय लेने में सक्षम ही नहीं था.

शनिवार, 28 दिसंबर 2019

प्रेमिका को घर लाया था दिखाने,एक्सीडेंट हुआ तो छोड़कर भाग निकला, अज्ञात युवती की लाश का मामला का हुआ खुलासा

प्रेमिका को घर लाया था दिखाने,एक्सीडेंट हुआ तो छोड़कर भाग निकला, अज्ञात युवती की लाश का मामला का हुआ खुलासा

सागर। सागर जिले के बांदरी थाना क्षेत्र में नेशनल हाईवे पर रजवास के पास एक अज्ञात लड़की की लाश मिलने के मामले में पुलिस ने खुलासा कर लिया है । दरअसल  आरोपी अपनी प्रेमिका को शादी की चर्चा के लिए और घर दिखाने लाया था । लेकिन वापसी में एक सड़क दुर्घटना में प्रेमिका के  घायल होकर बेहोश होने के कारण डर से छोड़कर भाग गया था । पुलिस ने मामला दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है। मृतिका दमोह जिले के नोहटा थाना क्षेत्र की है।
क्या है मामला
दिनांक 21.12.19 को पुलिस को सूचना मिली कि रजवांस से आगे बडी तार लाईन के पास हाईवे के किनारे तार फेंसिगके नीचे कोई अज्ञात लडकी का शव पड़ा हुआ है । थाना प्रभारी रविभूषण पाठकने घटना स्थल के आसपास का निरीक्षण कर उसे सुरक्षित कराया घटना स्थल के पास मे एक्सीडेन्टके चिन्ह गाडी के टूटे हुये प्लास्टिक के टुकडे, खून, माचिस एवं कुछ रूपये पडे हुये थे। परन्तुयुवती का शव रोड के किनारे नीचे तार फेंसिग के अन्दर था एवं युवती की पहचान हेतु कोईसाक्ष्य मौजूद नही थअतिरिक्त पुलिस अधीक्षकसागर  राजेश व्यास ने घटना स्थज का निरीक्षण किया एवं घटना स्थल पर प्राप्त टुकडो केसंबंध मे पतारसी करने के एवं अन्य आवश्यक दिशा निर्देश दिये। पुलिस अधीक्षक सागर अमित सांघी एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सागर श राजेश व्यास द्वारा थाना प्रभारी बांदरी उपनिरीक्षक रविभूषण पाठक को आसपास के जिलो एवं सरहदी उत्तर प्रदेश के जिलो में युवती केफोटो व पम्पलेट छपवाकर एवं संबंधित जिलो की डीसीबी शाखा से सम्पर्क कर युवती की पहचानसुनिश्चित करने के साथ साथ टोल नाको के फुटेज चेक करने हेतु निर्देशित किया।
गाड़ी के टूटे पड़े टुकड़ो से मिला सुराग
प्रशिक्षु उपनिरीक्षक सुनील शर्मा को टुकडो के माध्यम से गाडी चिन्हितकरने हेतु दो पहिया एवं चार पहिया शोरूम व मैकेनिक के पास भेजा गया जो टुकडे टीवीएसरेडोन गाडी के मास्क के होना बताया ।जिस पर आसपास अपनेमुखविरो को सक्रिय कर इसप्रकार की गाडी होने की जानकारी देने को कहा । बताया गया कि मालथौन ग्राम का धर्मेन्द्र रजक जो दिल्ली मे मिस्त्रीगिरी का काम करता है अपने साथ एक इसी प्रकार कीहुलिया की लडकी साथ लेकर आया था। जिसे वह दिनांक 20.12.19 के सुबह करीब 10:00बजे एसे ही मेहरून रंग की गाडी पर बैठा कर ले गया था जो लौट कर दिखाई नही दिया हैउक्त सूचना की तस्दीक की गई तो सही पाई गई और धर्मेन्द्र का नम्बर प्राप्त हुआ जिसे सर्चकरने पर वह गुना तरफ मिला जो अहमदाबाद मे जाकर बंद हुआ जो थाना प्रभारी बांदरी केनेत्रत्व ने गठित टीम ने लगातार पीछा किया परन्तु वह पुनः वापस होनें गला लिसे भोपाल स्टेशनपर पकडकर पूछताछ की गई ।
प्रेमिका को लाया था घर दिखाने
धर्मेंद्र ने बताया कि 07-08 वर्षों से रहकर मिस्त्रीगिरी का कामकर रहा है। उसकी साईड पर कमरिया अभाना जिला दमोह का मोहन लाल अपनी भतीजी मनीषा को साथ लेकर काम को आया था जो काम के दौरान इसका मनीषा के साथ प्रेम प्रसंग चलनेलगा जिस पर धर्मेन्द्र ने शादी करने की बात लडकी मनीषा के चाचा मोहन लाल को बताई तो उसने शादी कराने का अश्वासन दिया। इसने 06 दिसम्बर को बताया कि वह अपने गांव मालयौनजा रहा है तो चाचा मोहन लाल ने बेटी को भी साथ लेजाकर घर दिखाने की बात के साथसाथ उसके गांव जाकर पिता से भी बात करने को कहा ।जिस पर धर्मेन्द्र रजक दिनांक 19.12.
19 को ट्रेन से लडकी मनीषा को साथ लेकर सुबर करीब 09:00 बजे मालयौन आया। आधा
घंटा रूकने के बाद अपने भाई की टीवीसएस रेडोन लाल रंग की गाडी से लडकी को उसके घर दमोह छोडने की बात घर वालों की बात कहकर घर से निकला था जो अभाना गया परंतु लडकीद्वारा कहा कि पापा शादी का मना कर देंगे वापिस चलो चाचा से शादी की बात कर लेगे जिसपर उसे वापस लेकर आया और रात करीब 08:00 बजे बहेरिया के पास बाईपास पर दावा पर खाना  खाया। रात करीब 10:00 बजे यह रजवांस के पास था जो गाडी तेजगति से चलाते हुयेयह ट्रक को ओवर टेक करने लगा तो गाडी पर अपना नियंत्रण नही रख सका और फोर लाईनके बीच बने डिवाईडर पर गाडी चढ गई जिससे हाय पैर कंधे. मे चोटे आई युवती को सिर मेचोट आई उस समय यह बेहोश रहा, होश आने पर इसने देखा कि मनीषा के सिर में चोट है
और वह बोल नही रही है और वह हाथ पैर व सीना मलता रहा वह नही बोली तो वह बहुत
घबडा गया और रोड किनारे लडकी को लेजाकर रोता रहा बाद मे डर के कारण उसे छोडकरवापस मालयौन चला गया घर वालो को एक्सीडेन्ट होना बताया अन्य कोई जानकारी नही दी।आरोपी धर्मेन्द्र से लडकी के चाचा मोहन लाल से बात करने पर उसने अपने पिता का नामउमराव सिंह लोधी व लडकी का नाम मनीषा पिता माधव सिंह होना बताया जिस पर थानाप्रभारी बांदरी द्वारा नोहटा थाना के माध्यम से माधव सिंह को सूचना देकर थाना बांदरी भेजनेहेतु कहा परंतु माधव सिंह के परिजनो से संम्पर्क करने पर उनके द्वारा मनीषा नाम की कोईलडकी परिवार मे ना होना बताया जिस पर फोटो भेजने पर फोटो की पहचान नेहा पिता परशुयादव के रूप मे बताई एवं इसकी रिपोर्ट याना नोहटा मे होना बताया थाना नोहटा मे इस संबंधमे अपराध क 170/19 धारा 363 ताहि. का दिनाक 12.04.19 को कायम कराया गया है।परिजनो ने आकर इसकी शिनाख्त नेहा यादव के रूप में की है। उक्त प्रकरण मे आरोपी धर्मेन्द्र
के विरूद्ध अपराध क 174/19 धारा 304 (ए) 201 ताहि. 134 एबी 184 एमव्ही उक्ट का
कायम किया जाकर आरोपी से दुर्घटना मे क्षतिग्रस्त वाहन एवं मोबाईल जिसमे मृतक युवती कीतस्वीरे थी जप्त किये गये है। उक्त कार्य मे मुख्य रूप से थाना प्रभारी बांदरी रविभूषण पाठकप्रशिक्ष उपनिरीक्षक सुनील शर्मा चौकी रतवांस सहायक उपनिरीक्षक सी.के. भारद्वाज थाना मालथौनआरक्षक राजेश, बीरेन्द्र, संतोष, कमलेश थाना बांदरी की विशेष सराहनीय भूमिका रही।

समस्याओं का समाधान है सिर्फ कर्तव्यों का पालन करने से:जज गंगाचरण दुबे

समस्याओं का समाधान है सिर्फ कर्तव्यों का पालन करने से:जज गंगाचरण दुबे
सागर। इंदिरा गाँधी इंजीनियरिंग महाविद्यालय सागर में सविधान दिवस समारोह के तहत संविधान पर ब्याख्यानमाला  आयोजित की गई। गया। इसके मुख्य अथिति  गंगाचरण दुबे, अपर जिला सत्र न्यायाधीश देवास, और अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष  डा. अंकलेश्वर दुवे,अधिकवक्ता अरविन्द कुमार जैन 'रवि' अधिवक्ता एवं प्रोफे. आनंद मंगल विशेश अतिथि थे।
न्यायाधीश गंगाचरण दुबे  ने कहा कि देश मे सभी समस्याओं का समाधान संवेधानिक कर्तव्यों का पालन करने से ही सम्भव है। उन्होंने सविधान के मूल कर्तव्यों की विस्तार से  व्याख्या प्रस्तुत की। इस मौके पर अधिवक्ता अरविन्द रवि एवं जिला अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष डा.
अंकलेश्वर दुबे ने संविधान के मूल अधिकार पर अपने विचार प्रस्तुत किये
कार्यक्रम में  प्राचार्य डॉ. एन. एन  प्रजापति  द्वारा अतिथियों का शाल, श्रीफल एवं स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मान किया गया। स्वागत भाषण प्रो.एवं डा.एस.के भट्ट  द्वारा
प्रस्तुत किया गया।  कार्यक्रम का संचालन डी.आर.परमेश्वरी ने किया। संविधान के व्याख्यान कार्यक्रम में डा. एच.के.मिश्रा, प्रो.एम.आर.अहिरवार,  विपाशा मिश्रा, प्रो.एस.के.सलूजा, प्रो.जी.एस किरार, प्रो.
राजेन्द्र प्रसाद, प्रो.मनीष सोनी, डॉ.आनंद कुमार जैन, प्रो-विनायक वारेवार, प्रो.संकल्प शुक्ला, प्रो.अमितकुमार, प्रो. योगेन्द्र कुमार, गोविन्द राय, सी.बी.नेमा, एस के खुदलिया, पी.के.शिवेनी, श्रीमति विजय सेन ,श्रीमति संगीता उइके, प्रसन्न तिवारी, बी एल मरावी, एच एल चौधरी, जी एस भास्कर, बीके तिवारी, के केपाण्डे, के पी अहिरवार,बसंत चौधरी, नरेश नागले.दीपेश गंगेले, दीपक पाण्डे, डॉ. ममता राज, जी.आर.
परमेश्वरी, हीरालाल सेन, अनिल कुमार, पर्वत सिंह, बाबूलाल, गुड्डू सिंह, राजकुमार कलश्या इत्यादिअधिकारी/कर्मचारी कार्यक्रम में मौजूद रहे।

नाबालिग बच्चे की पिटाई,दमोह एसपी ने किये दो पुलिसकर्मी लाइन अटैच ,सीएम ने जांच के दिये थे निःर्देश

नाबालिग बच्चे की पिटाई,दमोह एसपी ने किये दो पुलिसकर्मी लाइन अटैच ,सीएम ने जांच के दिये थे निःर्देश
दमोह।दमोह जिले में कोतवाली थाना के एक वीडियो सामने आया था।  जिसमें पुलिस वाले एक नाबालिग की  पिटाई करते दिखाई दे रहे थे। इस  मामले में  एसपी दमोह ने दोनों पुलिस कर्मियों को लाइन अटैच कर दिया है। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर चिंता जताते हुए घटना की जांच के आदेश दिए थे ।
सीएम कमलनाथ का ट्वीट
मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर कहा है, " दमोह में एक मासूम बालक की पिटाई का एक वीडियो मेरे संज्ञान में आया है। इस पूरे मामले की जांच के आदेश पुलिस प्रशासन को दे दिए हैं।जांच में जो भी दोषी सामने आए, उस पर कड़ी कार्रवाई के निर्देश भी दिए गए है। इस तरह की हैवानियत से भरी घटनाएं, मानवता को तार-तार करती हैं। बर्दाश्त नहीं की जा सकती है और ना ही इसके दोषियों को बख्शा जा सकता है।"
पिटाई करने वाले दो पुलिस कर्मी लाईन अटैच
वायरल वीडियो दमोह पुलिस कोतवाली परिसर का है। जहां कुछ पुलिस वाले एक टेंट के नीचे बैठे हैं और दो पुलिस कर्मी सिविल ड्रेस में एक बच्चे को पीट रहे हैं। वीडियो में स्पष्ट दिख रहा है कि बगैर कपड़ों के एक लड़के को दो पुलिस कर्मी लाठी-डंडों से पीट रहे हैं। बाकी के पुलिस वाले इस लड़के के पीटने का आनंद ले रहे हैं। इतना ही नहीं बेरहमी से पिटाई करने के बाद दोनों पुलिस वाले जोर-जोर से हंस भी रहे है। अमानवीयता से भरे इस वीडियो के वायरल होने के बाद हड़कंप मच गया है।
दमोह के एसपी विवेक सिंह ने वीडियो सामने आने पर इस बात की पुष्टि की है कि पिटाई कर रहे दोनों लोग सादे ड्रेस में पुलिस आरक्षक हैं। उनकी पहचान होने के बाद लाइन अटैच कर दिया गया है। एसपी विवेक सिंह के मुताबिक़, एसडीओपी तेंदूखेड़ा को इस मामले की जांच के आदेश दिए गए हैं लेकिन ये वीडियो कब का है और इसे किसने बनाया। इसकी भी जांच करा रहे हैं

रहस्यज्ञाता को संसार आनन्द स्वरूप है:आचार्य ब्रजपाल शुक्ल

रहस्यज्ञाता को संसार आनन्द स्वरूप है:आचार्य ब्रजपाल शुक्ल
सागर। ढाना (सागर) में दीपक तिवारी के निवास पर चल रही राम कथा में व्यास पीठ से आचार्य ब्रजपाल शुक्ल ने बताया कि रहस्य को जानने वाले के लिए तो संसार आनन्द स्वरूप है।उन्होंने प्रवचन में बताया किएक ही समय मे अनेक रूप भगवान की विशेषता है। जीव अपने कर्म के अधीन होकर जिस रूप स्वभाव को प्राप्त करता है मृत्युपर्यंत उसी रूप और उसी स्वभाव में जीता है।वह अपने रूप को बदल ही नही सकता। इस संसार को उतपन्न करने वाले भगवान में ऐसा सामर्थ्य है कि एक ही स्वरूप में अनेक रूपो का दर्शन करा सकते हैं। एक ही क्षण में किसी भी शरीर को धारण कर सकते हैं।
महाराज जनकजी के मंच मे धनुष यज्ञ के समय श्रीराम ने अनेक रूपो में अनेक लोगो को अनेक प्रकार से दर्शन दिए।तुलसीदास जी ने कहा- 
जिनके रही भावना जैसी।
प्रभु मूरति तिन्ह देखी तैसी।
मनुष्यो के मध्य में खड़े हुए रघुनन्दन एक रूप में होते हुए भी मनुष्यो को अवतार के अनुसार एक ही क्षण में अनेक रूपो में दिखाई दे रहे थे।
पन्द्रह वर्ष की आयु के सुकोमल स्वरूप में बड़े-बड़े योद्धाओ को ऐसे दिख रहे थे जैसे साक्षात वीर रस शरीर धारण करके खड़ा है।राजा लोग उनके इस  विलक्षण शरीर को देखकर इतने भयभीत हो गए जैसे कोई भयानक मूर्ती खड़ी हो वह मधुर मनोहर मूर्ति दुष्टो को इतनी भयानक दिख रही थी। 
उन्होंने बताया कि कुछ असुर राजाओ के वेष में बैठे हुए थे उनको वही श्री राम साक्षात मृत्यु के समान दिख रहे थे।दशरथ नन्दन विश्वामित्र जी के बगल में बैठे हुए विद्वानों को विराट पुरुष के रूप में दिख रहे थे। विद्वानों को श्रीराम के हजारों मुख, हजारो चरण और हजारो नेत्र दिख रहे थे। वह विराट रूप विद्वानों को उसी शरीर मे दिख रहा था।धनुष टूटने के पहले ही महाराज जनक को श्रीराम अपने सगे सम्बन्धी के समान दिख रहे थे। भगवान के भक्तों को श्रीराम में अपने इष्टदेव दिखाई दे रहे थे।संसार के जीव भगवान को अनेक रूपो में मानते हैं लेकिन अपने भगवान को अनेक रूपो में नही जानते हैं जबकि भगवान का ही एक स्वरूप संसार है।
इस  विलक्षण संसार मे अनेक शरीर हैं। सभी शरीरो में वही एक ही भगवान रहते हैं किंतु यह जीव शारीरिक सुख के कारण तन, धन, भोजन इन तीन में ही सुख देखता है। जब इनसे सुख नही मिलता तो आजीवन दुःख में ही समय व्यतीत करता है, दुखी होकर ही मरता है।
जिन मनुष्यो को भगवान का रहस्य ज्ञात है वे ही संसार मेआनन्द से निवास करते हुए आनन्दरूप भगवान में प्रवेश करते हैं और मुक्त हो जाते हैं।
कथा को सुनने पहुचे अनेक मीडिया कर्मी
आज की कथा में पूर्व सांसद लष्मीनारायन यादव,वरिष्ट पत्रकार राजेश सिरोठिया,मंगला मिश्र , सुदेश तिवारी,अजय दुबे,लक्मन  सिंह,विनोद आर्य,भारत तिवारी, मुकेश जैन,  संदीप तिवारी, सुनील भाई पटेल,विवेक तिवारी,नरेंद्र दुबे,विज्ञान मिश्रा, महेश बिदुआ, कोमल यादव,राजकुमार पचौरी,अनुपम पटेरिया,मनुज नामदेव, समर्थ दीक्षित ,नीलेश राय, मनीष दुबे आदि ने कथा श्रवण किया व आचार्य जी का आशीर्वाद ग्रहण किया

आबकारी उपनिरीक्षको के प्रशिक्षण सत्र का समापन ,दो माह चला प्रशिक्षण

आबकारी उपनिरीक्षको  के प्रशिक्षण सत्र का समापन ,दो माह चला प्रशिक्षण
सागर। जवाहर लाल नेहरू पुलिस अकादमी सागर में आबकारी उपनिरिक्षको का 10 वा प्रशिक्षण सत्र का समापन हुआ।  प्रशिक्षण में मध्यप्रदेश के विभिन्न जिलों में पदस्थ कुल 58 उपनिरीक्षक (आबकारी) सम्मिलित हुए ।
 प्रशिक्षण सत्र के समापन समारोह में मुख्य अतिथि आई0सी0पी0 केशरी, भाप्रसे, अतिरिक्त मुख्य सचिव, (आबकारी) म0प्र0 शासन रहे। उन्होंने  प्रशिक्षु अधिकारियों को प्रशिक्षण के महत्व एवं मैदानी सेवाओं में प्रशिक्षण की उपयोगिता परप्रकाश डालते हुए व्यक्तित्व विकास के बारे में बताया साथ अपनी दैनिक दिनचर्या में फिजिकलफिटनेस का महत्व बताया।
 अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक/निदेशक,
जवाहरलाल नेहरू पुलिस अकादमी,सागर  जी जनार्दन द्वारा प्रशिक्षु अधिकारियों को संबोधित किया गया एवं राजेश बहुगुणा, कमिश्नर (आबकारी), श्री के0के0 डोहर, उपायुक्त (आबकारी) सागरद्वारा भी प्रशिक्षुओं संबोधित किया गया एवं प्रमाण पत्र प्रदान किये गये ।
इस अवसर पर  आनन्द शर्मा, कमिश्नर, सागर,  सतीश कुमार सक्सेना, पुलिस महानिरीक्षक, सागर एवं दीपक वर्मा, पुलिस उप महानिरीक्षक, सागर द्वाराकार्यक्रम में उपस्थित होकर मुख्य अतिथि एवं प्रशिक्षु उपनिरीक्षक (आबकारी) से सप्रेम भेंट की।
ये प्रशिक्षण दिया गया
 प्रशिक्षण के दौरान जवाहरलाल नेहरू पुलिस
अकादमी,सागर द्वारा इन प्रशिक्षु अधिकारियों को कानून, एन0पी0एस0 एक्ट, मानइर एक्ट, आबकारी अधिनियम, साक्ष्य अधिनियम, अपराध विवेचना, साक्ष्य संकलन, आदि विषयों का प्रशिक्षण दिया गयासाथ ही अनुशासन एवं फिजिकल फिटनेस को दृष्टिगत रखते हुए पीटी, परेड, योगा, यु०ए०सी० काभी प्रशिक्षण प्रदान किया एवं परीक्षा भी आयोजित की गई।
प्रशिक्षण के दौरान प्रशिक्षुओं तनाव मुक्त रखने एवं प्रशिक्षण को और अधिक रोचकबनाने की दृष्टि से विभिन्न खेलों एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजन किया गया । खेल मेंउत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले प्रशिक्षुओं के उत्साहवर्धन हेतु उन्हें पुरस्कृत भी किया गया एवं सभीप्रशिक्षुओं को उनके द्वारा प्रशिक्षण को सफलतापूर्वक पूर्ण करने पर प्रमाण पत्र प्रदान किया।समापन समारोह के अवसर पर अकादमी में पदस्थ अन्य अधिकारी भी उपस्थित रहें।

आचार्य श्री विद्यासागर महाराज का विहार इंदौर की ओर,नये वर्ष में प्रवेश

आचार्य श्री विद्यासागर महाराज का विहार इंदौर की ओर,नये वर्ष में प्रवेश
सागर। संत शिरोमणि आचार्य श्री विद्यासागर महाराज का ससंघ मंगल विहार बड़वाह से इंदौर की ओर हुआ 29 दिसंबर की आहारचर्या इंदौर रोड पर स्थित उमरिया  में होगी।
मुनि सेवा समिति के सदस्य मुकेश जैन ढाना ने बताया कि आचार्य  संघ की अगवानी 1 या 2 जनवरी को इंदौर में होगी। इंदौर में 1999 के बाद आचार्य श्री जी का आगमन हो रहा है इंदौर समाज में गुरुदेव के आगमन की जोरदार तैयारियां की जा रही है। उल्लेखनीय इंदौर में आचार्य श्री के आशीर्वाद से लड़कियों को संस्कारित शिक्षा देने के लिए पांचवी प्रतिभास्थली खोली गई है।  जिसकी  नई बिल्डिंग निर्माणाधीन है  इसके पूर्व जबलपुर रामटेक डोंगरगढ़ और पपौरा जी टीकमगढ़ में प्रतिभास्थली खोली जा चुकी हैं।

बुन्देलखण्ड मेडिकल कालेज की सीट्स बढ़ी, इसके लिए अस्पताल परिसर में जगह के लिए निरीक्षण किया ,कमिश्नर - कलेक्टर ने


बुन्देलखण्ड मेडिकल कालेज की सीट्स बढ़ी, इसके लिए अस्पताल परिसर में जगह के लिए निरीक्षण किया ,कमिश्नर - कलेक्टर ने  
सागर ।बुन्देलखण्ड चिकित्सा महाविद्यलाय सागर में पीजी सीट्स की संख्या में वृद्वि एवं जिला चिकित्सालय के लिये वैकल्पिक भूमि की व्यवस्था के संबंध में बैठक शनिवार को कमिष्नर  आनंद कुमार शर्मा की अध्यक्षता में कमिष्नर कार्यालय के सभाकक्ष में सम्पन्न हुई। बैठक में निर्णय लिया गया कि जिला चिकित्सालय परिसर में विभिन्न विभागों के भवनों, चिकित्सालय, स्टॉफ के भवन एवं अन्य खाली पड़ी भूमि को चिन्हांकित कर आर्किटेक्ट के द्वारा डिजाइन तैयार कराई जाये। जिससे मेडीकल कॉलेज हेतु 400 विस्तर के लिये आवष्यक जमीन प्राप्त हो सके और जिला चिकित्सालय का अस्तिव भी बना रहे है।
बैठक में कमिष्नर आनंद शर्मा ने कहा कि मेडीकल कॉलेज की सीट्स वृद्वि एवं अनेक विषयों में पीजी पाठ्यक्रम स्वीकृत हुये है जिसके कारण मेडीकल कॉलेज की वर्तमान क्षमता 750 से बढ़ाकर 1100 करनी है जिसके लिये मेडीकल कॉलेज के लिये भूमि खोजी जाये जिससे जिला चिकित्सालय परिसर में ही मेडीकल कॉलेज को 400 विस्तर बढ़ाने हेतु नवीन भवन हेतु भूमि उपलब्ध कराई जा सके।
इस सबंध में कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक ने सुझाव दिया कि जिला चिकित्सालय सागर शहर से अन्यत्र कहीं नये भवन स्थान्तरण होगी तब वहां सागरवासियों के लिये आने-जाने में असुविधा होगी। जिसके लिये उन्होंने जिला चिकित्सालय परिसर में खाली पड़ी भूमि एवं क्षतिग्रस्त आवासों को समतल कराकर मेडीकल कॉलेज के लिये उपलब्ध कराई जा सकती है एवं जिला चिकित्सालय के आवासीय परिसर हेतु शहर में ही अन्यत्र भूमि पर आवासीय परिसर बनाया जा सकेगा।
कमिष्नर  आनंद शर्मा ने बैठक में ही डीन मेडीकल कॉलेज, सीएमएचओ जिला चिकित्सालय, कार्यपालन यंत्री पीआईयू लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को तहसीलदार द्वारा भूमि नक्शा  के द्वारा जगह को बताया गया । अवसर पर कमिष्नर नगर निगम, अधिवष्ठाता बुन्देलखण्ड चिकित्सा एवं महाविद्यालय, अधीक्षक बुन्देलखण्ड चिकित्सा एवं महाविद्यालय, क्षेत्रीय संयुक्त सर्जन जिला चिकित्सालय, मुख्य चिकित्सालय एवं स्वास्थ्य अधिकारी, सिविल सर्जन जिला चिकित्सालय, तहसीलदार एवं कार्यपालन यंत्री पीआईयू लोक निर्माण विभाग सागर आदि मौजूद थेे।
 कमिष्नर, कलेक्टर ने किया चिकित्सालय परिसर का मुआयना
 बुन्देलखण्ड चिकित्सा महाविद्यलाय सागर में पीजी सीट्स की संख्या में वृद्वि एवं जिला चिकित्सालय के लिये वैकल्पिक भूमि की व्यवस्था के संबंध में कमिष्नर आनंद कुमार शर्मा कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक ने विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ जिला चिकित्सालय पहुंचकर खाली पड़ी भूमि एवं क्षतिग्रस्त मकानों व निर्माणाधीन भवनों का निरीक्षण किया एवं तहसीलदार द्वारा मौके पर ही राजस्व नक्शा के द्वारा चिकित्सालय परिसर की भूमि को चिन्हाकित कर खाली भूमि को बताया गया। अधिकारी द्वय द्वारा परिसर के मुख्य द्वार से लेकर परिसर के अंतिम छोर तक पैदल मार्च करते हुये सूक्षमता से अवलोकन किया। अवलोकन के उपरांत कमिष्नर श्री शर्मा ने डीन मेडीकल कॉलेज,सीएमएचओ जिला चिकित्सालय, कार्यपालन यंत्री पीआईयू लोक निर्माण विभाग को निर्देष दिये कि राजस्व विभाग से उपलब्ध नक्षे को प्राप्त कर आर्किटेक्ट के द्वारा नई डिजाइन तैयार करायें।
इस अवसर पर कमिष्नर नगर निगम, अधिवष्ठाता बुन्देलखण्ड चिकित्सा एवं महाविद्यालय, अधीक्षक बुन्देलखण्ड चिकित्सा एवं महाविद्यालय, क्षेत्रीय संयुक्त सर्जन जिला चिकित्सालय, मुख्य चिकित्सालय एवं स्वास्थ्य अधिकारी, सिविल सर्जन जिला चिकित्सालय, तहसीलदार एवं कार्यपालन यंत्री पीआईयू लोक निर्माण विभाग सागर आदि मौजूद थेे।
          

एमपी में जिला पंचायत सागर को सीएम हेल्पलाईन में ए-ग्रेड मिला

एमपी में  जिला पंचायत सागर को सीएम हेल्पलाईन में ए-ग्रेड मिला
सागर । मध्यप्रदेष पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग अंतर्गत सीएम हेल्पलाईन (181) में दर्ज षिकायतों का व्यक्तिगत रूचि लेते हुए निराकरण कराये जाने पर जिला पंचायत सागर को सीएम हेल्पलाईन में जिला पंचायत वार ग्रेडिंग में प्रथम समूह अंतर्गत षिकायतों के निराकरण में लगातर उत्कृष्ट प्रदर्षन करते हुए माह नवम्बर में भी ए-ग्रेड प्राप्त किया है। मध्यप्रदेष शासन पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के सचिव श उमाकांत उमराव ने जिला पंचायत सीईओ सागर  चन्द्रषेखर शुक्ला को बधाई देते हुए भविष्य में भी इसी निष्ठा एवं समर्पण भावना से आम जन के सेवा निष्पादन में प्राप्त षिकायतों का संतुष्टिपूर्ण कराते रहेंगे।
इसी प्रकार विभाग ने मुख्य कार्यपालन जनपद पंचायत बण्डा, श्सुरेन्द्र खरे को सीएम हेल्पलाईन की षिकायतों के निराकरण में उत्कृष्ट प्रदर्षन पर प्रदेष में द्वितीय स्थान प्राप्त करने पर बधाई दी है।

शुक्रवार, 27 दिसंबर 2019

लोकायुक्त पुलिस ने NHAI के प्रबंधक को एक लाख की रिश्वत लेते पकड़ा,सागर में पेट्रोल पम्प की अनापत्ति प्रमाणपत्र का मामला


लोकायुक्त पुलिस ने NHAI के प्रबंधक को  एक लाख की रिश्वत लेते पकड़ा,सागर में पेट्रोल पम्प की अनापत्ति प्रमाणपत्र का मामला

सागर। लोकायुक्त पुलिस सागर संभाग ने छत्तरपुर जिले के NHAI राष्ट्रीय राजमार्ग सड़क विकास प्राधिकरण छत्तरपुर के प्रबंधक सुरेश अग्निहोत्री को एक लाख रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा है । प्रबंधक ने  पेट्रोल पंप का अनापत्ति प्रमाण पत्र देने के एवज में रिश्वत मांगी थी।
लोकायुक्त पुलिस अधीक्षक रामेश्वर यादव ने बताया कि  आवेदक गणेश कोरी नेपुलिस अधीक्षक विशेष पुलिस स्थापना लोकायुक्त कार्यालय, सागर संभाग सागर के समक्ष शिकायत प्रस्तुत की थी।जिसमे  आवेदक को सागर में भोपाल लखनऊ नेशनल हाईवे पर केरबना सागर में पेट्रोल पंप खोलने के लिए  जगह अलाट हुई थी। इसके  अनापत्ति प्रमाणपत्र को  जारी करने के लिए NHAIराष्ट्रीय राजमार्ग सड़क विकास प्राधिकरण  छत्तरपुर कार्यालय के प्रबंधक सुरेश अग्निहोत्री द्वारा एक लाख  50 हजार रुपये  की रिश्वत की मांग की जा रही है।
     इस पर आज लोकायुक्त की टीम ने DSP राजेश खेड़े के नेतृत्व में  निरीक्षक अभिषेक वर्मा और सदसयो के साथ मैनेजर को एक लाख रुपये की रिश्वत लेते उसके छत्तरपुर कार्यालय में रात्रि में रंगे हाथों पकड़ा। लोकायक्त की टीम ने दिनभर की मशक्कत के बाद रात्रि में रिश्वत लेते दबोच लिया।

दो दर्जन निरीक्षकों के तबादले

दो दर्जन निरीक्षकों के तबादले
भोपाल। पुलिस स्थापना बोर्ड ने निरीक्षकों/रक्षित निरीक्षकों के तबादला किये है । दो निरीक्षकों तबादले  के निरस्त के भी निकले है।

अभियोजन अधिकारियों ने 11 सूत्रीय मांगो के लिए अपर कलेक्टर को सौपा ज्ञापन


अभियोजन अधिकारियों ने 11 सूत्रीय मांगो के लिए अपर कलेक्टर को सौपा ज्ञापन
सागर। जिला अभियोजन कार्यालय सागर के अभियोजन अधिकारियों ने म.प्र. लोक अभियोजन अधिकारी ने अपनी मांगों के संबंध में मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन अपर कलेक्टर मूलचंद्र वर्मा को दिया गया। जिसमें अभियोजन कार्यालय से अभियोजन अधिकारीगण अमित जैन, सौरभ डिम्हा, श्याम नेमा, सचिन गुप्ता, मनोज नायक, अशीष त्रिपाठी एवं अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहें।
जन संपर्क अधिकारी अमित जैन ने बताया कि नियमित संवर्ग के अभियोजन अधिकारी राज्य लोक सेवा आयोग राजपत्रित अधिकारी हैं, जिनका प्रमुख कार्य आपराधिक न्यायालय में पैरवी, अपील-रिवीजन, विभिन्न विभागों को विधिक सलाह, सजा के आंकडे, आपराधिक मामलों की मानीटरिंग, प्रशिक्षण व स्क्रूटनी  आदि है। राज्य के उक्त संवर्ग द्वारा हाल के वर्षोंे में उत्कृष्ट प्रदर्शन करते हुए अधिकांश आपराधिक मामलों मे सजा कराई गई है, जिसमें राज्य भर में हत्या बलात्संग, पाॅक्सों आदि के गंभीर मामलों में पिछले दो वर्षों में कराई गई 31 मृत्युदंड तथा लगभग 100 आजीवन कारावास की सजा भी है जो राष्ट्रªीय स्तर पर एक रिकार्ड हैं वर्तमान में उक्त संवर्ग के अभियोजन अधिकारी को मजिस्ट्रेट न्यायालयों तथा शासन स्तर पर मात्र चिन्हित जघन्य सनसनीखेज अपराधों, लोकायुक्त, म्व्ॅए च्व्ब्ैव्   तथा कुछ जिलों में ैब्ैज् तथा छक्च्ै  के विशेष न्यायालयों में ही पैरवी के अधिकार दिए गए है, जिनमें नियमित संवर्ग के पैरवी के परिणाम स्वरूप अधिकांश मामलो में सजा कराने में सफलता मिली है तथा सजा का प्रतिशत हाल के वर्षों में लगभग 70 प्रतिशत रहा है। यह संवर्ग अपने सतत कार्य-अनुभव व प्राप्त विभिन्न प्रशिक्षण तथा स्थाई सेवा व गृह जिले से बाहर पदस्थापना के कारण अत्यंत प्रभावी व उत्तरदाई तथा विश्वसनीय अभियोजन संवर्ग है विटनेस-हेल्पडेस्क तथा प्राॅसीक्यूशन पोर्टल के माध्यम से यह संवर्ग साक्षियों तथा पीडित व्यक्तियों  की मदद भी करता है व जानकारी उपलब्ध कराता है हाल के वर्षो में राष्ट्रªीय व अन्तरराष्ट्रªीय स्तर पर अनेक प्रतिष्ठित पुरस्कार-अवार्ड भी इस संवर्ग को मिल चुके है। प्राॅसीक्यूसन मोबाइल एप के द्वारा प्रत्येक अभियोजन अधिकारी के कार्याें की निरंतर समीक्षा भी की जाती है तथा  उनके कार्यों की माॅनिटरिंग विभाग द्वारा सतत रूप से होती है।
 नियमित संवर्ग के अभियोजन अधिकारियों की लंबे समय से मांग रही है कि सेशन स्तर के न्यायालयों में लोक अभियोजक व अतिरिक्त लोक अभियोजकों के पद दिए जांए जिससे गंभीर अपराधों  में प्रभावी पैरवी की जाकर अपराधियों को सजा दिलाई जा सके। किंतु नियमित सेवा, उत्कृष्ट प्रदर्शन व उत्तरदायित्व से जुडे होने के बाबजूद नियमित सेवा के इस संवर्ग के अभियोजन अधिकारियों की निरंतर उपेक्षा की जाती रही है तथा योग्य, अनुभवी व उत्तरदाई होने के बावजूद मुख्यतः निचली अदालतों में ही कार्य का अवसर दिया जाता है जबकि इसके विपरीत बिना योग्यता परीक्षण के गैर नियमित संवर्ग को अस्थाई रूप से गृह जिले के भीतर ही, स्थानीय स्तर पर लोक अभियोजक व अपर लोक अभियोजक  के रूप में नियुक्ति कर दी जाती है जहां लोकल संपर्क, निजी प्रैक्टिस, उत्तरदायित्व के अभाव तथा कार्य अनुभव की कमी आदि के कारण गंभीर आपराधिक मामलों में समुचित पैरवी तथा अपील-रिवीजन की कार्यवाही नहीं हो पाती। गैर संवर्ग के अभियोजकों पर शासन का कोई नियंत्रण नही होता तथा उन पर सिविल कंडक्ट रूल्स लागू नही होता। उनकी इस स्थिति का नुकसान पीडित पक्ष को उठाना पडता है और सजा का प्रतिशत गिरता है। यह आपराधिक न्याय प्रशासन व जनहित में भी नही है। इस विषय सहित कुल 11 सूत्रीय मांगों को लेकर आज नियमित संवर्ग के अभियोजन अधिकारियों द्वारा पूरे प्रदेश में जिला स्तर पर कलेक्टर महोदय के माध्यम से प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री को ज्ञापन प्रेषित किया गया।   
11-सूत्रीय मांगें

1. सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी का वेतनमान छठवें वेतन आयोग में ग्रेड पे 5400 रूपये पर निर्धारित किया जाये।

2. लोक अभियोजक व अपर लोक अभियोजक के पद नियमित संवर्ग के लिए आरक्षित की जाए।

3. संवर्ग के अधिकारियों का लंबित समयमान अविलंब स्वीकृत किया जाए।

4. जिला स्तर पर प्रत्येक अभियोजन कार्यलय हेतु कम से कम एक शासकीय एसयूवी वाहन हेतु 30000 रूपये मासिक बजट स्वीकृत किया जाए।

5. कार्य के दौरान आवश्यक स्टेशनरी, विधिक पुस्तकों, समाचार पत्रों व पत्रिकायों हेतु लाइब्रेरी एलाउंस 1000 रूपये मासिक प्रत्येक अभियोजन अधिकारी को स्वीकृत किया जाए।

6. संचालनालय लोक अभियोजन तथा जिला व तहसील लोक अभियोजन कार्यालय भवन हेतु समुचित राशि स्वीकृत की जाए।

7. न्यायालय में पैरवी के दौरान निर्धारित गणवेश हेतु प्रत्येक अभियोजन अधिकारी को ड्रेस एलाउंस 8000 रूपये वार्षिक स्वीकृत किया जाए।

8. प्रत्येक जिला व तहसील में पदस्थ अभियोजन अधिकारियों को शासकीय आवास उपलब्ध कराए जाए अथवा बाजार दर पर मकान किराया भत्ता प्रदान किया जाए।

9. सभी जिलों में अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के प्रकरणों हेतु उपसंचालक स्तर के विशेष लोक अभियोजक के पद स्वीकृत किए जाएं।

10. प्रत्येक संभाग में प्रशासनिक नियंत्रण हेतु संयुक्त संचालक अभियोजन के तािा जिला स्तर पर पर्याप्त संख्या में क्क्च्ध्।कण् क्च्व् के पद स्वीकृत किये जाये।

11. अन्य समकक्ष सेवाओं के अनुरूप चार स्तरीय समयमान और काडर रिव्यू की जाकर पदोन्नत पदों क्च्व् तथा क्क्च् की संख्या, फीडर काडर के 50 तक की जानी चाहिए। साथ ही संचालनालय लोक अभियोजन का पुनर्गठन भी किया जावे।

सौंदर्य माधुर्य वीरता के निधान श्रीराम - आचार्य ब्रजपाल शुक्ल ,नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव पहुचे कथा में

सौंदर्य माधुर्य वीरता के निधान श्रीराम - आचार्य ब्रजपाल शुक्ल ,नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव पहुचे कथा में

सागर।सागर के ग्राम  ढाना  दीपक तिवारी के निवास पर चल रही राम कथा के तीसरे दिन ब्रजपालजी ने कथा में कहा किसंसार मे  निर्विकार सौंदर्य प्राप्त नही होता। सौंदर्य में विकार होता ही है। सुंदरता को देखकर के भी विकार उतपन्न होता है तथा जिसमे सुंदरता होती है उसमें भी विकार उतपन्न होता है किंतु निर्गुण  निराकार भगवान जब साकार रूप धारण करते है तब उनके सौंदर्य को देखकर विकार पुरुषों का मन भी निर्विकार हो जाता है।जनकपुर में श्रीराम के सहज सौंदर्य को देखकरके देखने वाले के नेत्रों में आंसू भर आये विकार मन निर्विकार हो गया। उसी श्रीराम को जब महाराज जनक ने देखा तो उनका ब्रह्मज्ञान शिथिल हो गया और राम को ही साक्षात ब्रह्म रूप में देखने लगे कि यह आनंद स्वरूप ब्रह्म है।तुलसी ने कहा है
मूरति मधुर मनोहर देखी।
भयउ विदेह विदेह विषेखी ।।
उन्होंने कहा कि संसार के सभी जीवों से लेकर ऋषि मुनि तक संसार की सुंदरता को देख करके भ्रष्ट हो जाते है किंतु राम की मधुर मूर्ति को देखकर महाराज जनक जैसे ज्ञानी पुरुष भी अपने ज्ञान मार्ग को छोड़कर भक्ति मार्ग में बह जाते है।भगवान की सुंदरता का अनुभव भक्तो को ही होता है ज्ञानियो को नही होता। ज्ञानीजन सभी जीवों के ह्रदय में भगवान को देख सकते हैं लेकिन जो  आनन्द साकार स्वरूप में खड़े हुए भगवान को देखकर आनन्द आता है वह आनन्द तो योगियों को भी नही आता।ज्ञानी, अज्ञानी, मूर्ख, बालक, वृद्ध, स्त्री-पुरुष सभी को समान रूप से एक जैसा ही आनन्द आ रहा है। श्रीराम को देखकर जैसा अनुभव वृद्धो को हो रहा है वही अनुभव बालको को हो रहा है। जैसा अनुभव स्त्रियों को हो रहा है वैसा ही अनुभव पुरुषों को हो रहा है।यही श्रीराम के सौंदर्य का विलक्षण प्रभाव है।श्रीराम जिसकी भी ओर अपने कमल नेत्रो से देख लेते है वह समाधिस्त हो जाता है।संसार का सौंदर्य सभी जीवों के भोग का साधन है किंतु भगवान की सुंदरता संसार के भोग्य पदार्थो से निवृत्ति का साधन है।
इसलिए सौंदर्य वही है जो निर्विकार कर दे, माधुर्य वही है जो आनन्द मे मग्न कर दे, लावण्य वही है जो संसारसे विरक्त कर दे और यह गुण मात्र भगवान में ही है संसार मे नही।
कथा में ये हुए शामिल
आज की कथा में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव, मध्यप्रदेश सरकार के अतिरिक्त महाधिवक्ता अजय गुप्ता, पूर्व विधायक सुनील जैन,नारायण प्रसाद कबीरपंथी, शासकीय अधिवक्ता राम अवतार तिवारी,हनुमान प्रसाद तिवारी,रादेष तिवारी,राजेन्द्र जारोलिया आदि ने कथा श्रवण व आचार्य जी से आशीर्वाद प्राप्त किया।

आयकर विभाग में जॉइंट कमिश्नर के पद पर हुई सागर के अनूप जैन की पदोन्नति

 आयकर विभाग में जॉइंट कमिश्नर के पद पर हुई सागर के अनूप जैन की पदोन्नति

भोपाल ।बेनामी यूनिट मध्यप्रदेश के प्रभारी डिप्टी कमिश्नर अनूप जैन बने जॉइंट कॉमिशनर।अनूप जैन, इंदौर-ग्वालियर और भोपाल में आयकर विभाग के महत्वपूर्ण पदों पर पदस्थ रहे हैं।
केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड ने 26.12.19 के अपने आदेश में 2010 बेच के 187 IRS अफसरों का जॉइंट कॉमिशनर प्रमोशन किया है जो कि 1 जनवरी 2020 से लागू है। नए पदोन्नत अधिकारियों को 1 जनवरी को जॉइंट कमिश्नर इनकम टैक्स के रूप में जोइनिंग देनी है।
मध्यप्रदेश के 04 आई आर एस अधिकारियों का नाम इस प्रमोशन आर्डर में शामिल है। इनमें अनूप जैन, सुनील शर्मा, गुँजन वारस्नेय और मुनमुन शर्मा शामिल हैं। इनमें अनूप जैन मध्यप्रदेश की बेनामी यूनिट में डिप्टी कमिश्नर का प्रभार देख रहे हैं। सामान्यतः प्रोमोशन के साथ तबादले भी होते हैं किंतु अभी केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड ने इन चारों अधिकारियों को मध्यप्रदेश में ही पोस्टेड रखा है। अभी किसी भी अधिकारी का तबादला नही हुआ है। मूलतः नरयावली के पास के लुहारी ग्राम में पड़े -वले अनूप जैन हिंदी माध्यम से UPSC पास करके 2010 में  आई आर एस जैसी प्रीतिष्ठित सेवा में पदस्थ हुए थे। जिन्होंने इंदौर ग्वालियर और भोपाल में आयकर विभाग के महत्वपूर्ण पदों पर रहते हुए अपनी सेवाएं दी है। 
अनूप जैन ग्राम विकास और सामाजिक सरोकारों के कामो से जुड़े हैं। ग्रामों में स्कूल एवं स्वाथ्य सुविधाओ लिए प्रयासरत रहते हैं हाल ही में उनके प्रयासों से आयकर विभाग ने ने ग्राम लुहारी और आसपास के ग्रामो में लिए बड़ा चिकित्सा शिविर लगाया।

श्रीमद् भागवत ज्ञानगंगा महोत्सव, संत श्री कमल किशोर नागर जी के श्री मुख से बरकोटी में 4 जनवरी से

श्रीमद् भागवत ज्ञानगंगा महोत्सव, संत श्री कमल किशोर नागर जी के श्री मुख से बरकोटी में 4 जनवरी से

सागर। श्रीमद् भागवत ज्ञानगंगा महोत्सव का आयोजन संत श्री कमल किशोर नागर जी के श्री मुख से  देवरी के ग्राम बरकोटी में 4 जनवरी से 10 जनवरी 2020 तक किया गया है ।
इसके आयोजक राजकुमार सिंह बरकोटी ने बताया कि इसका आयोजन   दिनांक 04 जनवरी से 10 जनवरी 2020 तक ,दोप. 12 से 3 बजे तक किया जाएगा। कलशयात्रा एवं कथा प्रारम्भ 04 जनवरी 2020 दिन शनिवार को तथा कथा का समापन 10 जनवरीदिन शुक्रवार
पूर्णाहूति, कन्या भोज एवं प्रसादी होगी।कथा स्थल : निजनिवास बरकोटी, जिला-सागर है।
 इसके आयोजक राजकुमार सिंह, विजय सिंह,
राजेन्द्र सिंह, उत्तम सिंह, चन्द्रहास सिंह,इन्द्रपाल सिंह, वीरेन्द्र सिंह और बरकोटी ट्रांसपोर्ट के सदस्यों ने सभी धर्म प्रेमियों से कार्यक्रम में शामिल होने की अपील की है।


नौरादेही अभ्यारण : प्रभावित लोगों का शत-प्रतिशत होगा विस्थापन : कलेक्टर

Archive