SAGAR : 8000 से अधिक व्यक्तियों ने कोरोना से जीती जंग ,आत्मबल और मनोबल बनाए रखें

शनिवार, 24 अप्रैल 2021

SAGAR: संधिग्ध कोविड मरीज की मौत , मुस्लिम समाज के लोगो की मदद से हुआ अंतिम संस्कार ★ पीपीई किट पहनी मुस्लिमो ने और घर से श्मशान घाट तक पहुचाने में की मदद ★शासकीय इंजीनियरिंग कॉलेज साग़र के कर्मचारी की हुआ निधन

SAGAR: संधिग्ध कोविड मरीज की मौत , मुस्लिम समाज के लोगो की मदद से हुआ अंतिम संस्कार 
★ पीपीई किट पहनी मुस्लिमो ने और घर से श्मशान घाट तक पहुचाने में की मदद
★शासकीय इंजीनियरिंग कॉलेज साग़र के कर्मचारी की हुआ निधन



साग़र। (तीनबत्ती न्यूज़) ।कोरोना आपदा  में सामाजिक  सदभाव  की मिसाल भी सामने आ रही है। हिन्दू और मुसलमान का भेद तोड़कर लोग एक दूसरे की मदद के लिए सामने आ रहे है। साग़र शहर के रामपुरा वार्ड  निवासी  शासकीय इंजीनियरिंग कॉलेज साग़र में पदस्थ  उल्लास हार्डिकर की मौत हो गई। उनकी कुछ दिनों से तबियत खराब थी।  तबियत बिगड़ने पर उनकी कल शुक्रवार को कोविड जांच हुई थी। उल्लास होम आईशोलेशन में थे। आज उनकी मौत हो गई। घर मे उनकी पत्नी  एक बेटा  - बहु है। उल्लास को जब अंतिम संस्कार के लिए घर से शव वाहन तक ले जाने और श्मशान घाट तक की बात आई तो  पड़ोसी और परिचित सामने नही आये। ऐसे में एक व्यक्ति ने साग़र मुस्लिम समाज के लोगो को फोन लगाया। कब्रिस्तान कमेटी और समाज के कुछ लोग आगे आये। उन्होंने पीपीई किट पहनी। शव को  घर से चौराहे तक शव वाहन तक उठाकर लाये। फिर बाइक से नरायवली नाका मुक्तिधाम तक गए। जहां अंतिम संस्कार हुआ। 

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें


वेबसाईट

कब्रिस्तान कमेटी के अध्यक्ष इरशाद खान पप्पू पहलवान ने बताया कि उनके पास फोन आ आया था कि रामपुरा में उल्लास जी का निधन हो गया है। अंतिम संस्कार के लिए ले जाना है।हम लोग आए और व्यवस्था की।
बेटे मधुर बेलापुरकर ने बताया कि पिता जी को हल्का निमोनिया था। जिसकी जांच कराई थी। आज उनका निधन हो गया। अंतिम संस्कार के समय  संकट में मुस्लिम समाज ने मदद की। 


---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------


SAGAR : 610 नए पॉजिटिव, अब तक 10 हजार के पार, 3473 एक्टिव केस, 182 से अधिक की मौत ★ राहत भरी खबर 7655 स्वस्थ हो चुके हैं। @चैतन्य सोनी

SAGAR : 610 नए पॉजिटिव, अब तक 10 हजार के पार, 3473 एक्टिव केस, 182 से अधिक की मौत

राहत भरी खबर 7655 स्वस्थ हो चुके हैं। 

@चेतन्य सोनी

सागर। कोरोना का सागर में महाविस्फोट हुआ है। पहली दफा एक दिन में 610 पॉजिटिव केस डिक्लेयर किये गए हैं। जिनको मिलाकर जिले में अब तक पॉजिटिव मरीजों की संख्या 10,000 के पर निकल गई है। वहीं मौतों के आंकड़े 182 की जान जाना बता रहे हैं। राहत भरी ख़बर यह है कि 7655 मरीज कोरोना की जंग जीत चुके हैं।


तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें


वेबसाईट



सागर में कोरोना का प्रकोप भयंकर रूप लेने लगा है। बीते दो दिन में ही हजार के करीब पॉजिटिव केस निकल आये हैं। बीएमसी वायरोलॉजी लैब प्रभारी डॉ सुमित रावत के अनुसार शनिवार 24 अप्रैल को 610 नए संक्रमित मामले सामने आए हैं। इनमें जिला अस्पताल में मेडिसिन विशेषज्ञ भी शामिल हैं। जिले में संक्रमितों की संख्या 10 हजार 344 हो गई है। वहीं अधिकृत तौर पर शनिवार को 9 संक्रमितों की मौत हो गई है। एक्टिव केस बढ़कर 3500 के आसपास हो गए हैं। सबसे राहत भरी बात है की 7655 मरीज कोरोना की जंग जीत चुके है।

कोरोना अबतक
-आज सामने आये-    610
- अबतक सामने आए - 10344
- आज कोरोना से मौत- 9
- अब तक मौतें-       182 
- आज स्वस्थ हुए-         9
- अब तक स्वस्थ  -  7655
- एक्टिव केस-         3473

---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

खुरई के कोविड अस्पताल में मरीजों के पॉजिटिविटी दर में आई कमी


खुरई के कोविड अस्पताल में मरीजों के पॉजिटिविटी दर में आई कमी


साग़र।  मध्यप्रदेश शासन के नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह के प्रयासो से सिविल अस्पताल खुरई में प्रारंभ किए गए कोविड केयर सेंटर में पॉजिटिव मरीजों की संख्या में कमी आई है।तीन दिन पहले जो मरीज पॉजिटिव आये थे उन्हें खुरई के कोविड केयर सेंटर में पर्याप्त इलाज मिल रहा है। केयर सेंटर में भर्ती 21 मरीजों में से 20 मरीजों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। कोविड केयर सेंटर में जिन मरीजों को ऑक्सीजन की जरूरत थी उन्हें ऑक्सीजन उपलब्ध कराई गई। मरीजों के लिए भोजन की विशेष व्यवस्था नगर पालिका के द्वारा की जा रही है।
चिकित्सक की सलाह पर कोविड अस्पताल में भर्ती 5 मरीजों को रेमडिसिविर इंजेक्शन दिए गए। उक्त इंजेक्शन मंत्री भूपेन्द्र सिंह की पहल पर उपलब्ध कराए गए एवं अभी तक खुरई में ऑक्सीजन की पर्याप्त व्यवस्था है।
खुरई कोविड केयर सेंटर में एक करोड़ की लागत से 3 एम्बूलेंस, 5 वेंटिलेटर, प्रेसर के साथ ऑक्सीजन देने 20 ऑक्सीजन कंस्टेंटर, 50 जम्बो ऑक्सीजन सिलेण्डर, 25 छोटे ऑक्सीजन सिलेण्डर एवं 50 जम्बो ऑक्सीजन सिलेण्डर सहित कई व्यवस्थाएं की जा रहीं हैं।सिविल अस्पताल खुरई के कोविड केयर सेंटर में मरीजों की रिपोर्ट्स एवं स्वास्थ्य संबंधित गतिविधियों पर मंत्री भूपेन्द्र सिंह हर घण्टे अपडेट ले रहे हैं एवं जानकारी प्राप्त कर आवश्यकताओं को पूरा कर रहे हैं। मंत्री श्री सिंह ने नागरिकों से मास्क लगाने की अपील की है।
---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------


 

आत्मबल से जीतें ये जंग- कोरोना फाईटर अनिल चौबे

आत्मबल से जीतें ये जंग- कोरोना फाईटर  अनिल चौबे

सागर । कोरोना संक्रमण से बचें जरूर किंतु अपने आत्मबल से इसे भी जीता जा सकता है यह कहना है श्री अनिल चैबे जो विगत दिनों कोरोना संक्रमित होने के बाद सागर के निजी चिकित्सालय में भर्ती हुए और वहां ऑक्सीजन सपोर्ट पर रहे।
श्री चैबे ने बताया कि ऑक्सीजन लेवल लगातार गिरने से वे कमजोर महसूस कर रहे थे। परंतु, उन्होंने ठीक होने का जज्बे और आत्मबल को निरंतर बनाए रखा और निजी चिकित्सालय से छुट्टी करा कर बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज में आ गये। यहाँ, मेडिकल कॉलेज के डॉ मनीष जैन ने उनका उत्साह वर्धन करते हुए लगातार इलाज किया। डॉ मनीष जैन के इलाज एवं श्री चैबे के हैसले से आज वे कोरोना की जंग जीतकर अपनी साधारण जिंदगी में वापस लौट पाए।
श्री अनिल चैबे ने लोगों से अपील की है कि सभी व्यक्ति शासन की कोविड गाइडलाइन और प्रोटोकाल का शत-प्रतिशत पालन करें और यदि इसके बाद भी कोई व्यक्ति कोरोना संक्रमित होता है तो वह अपना आत्मबल और मनोबल बनाए रखे साथ ही डॉक्टरों की सलाह के साथ-साथ पोषण युक्त खाना खाएँ। अंत में कोरोना हारेगा और हम जीतेंगे।   

---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------
       

संभाग आयुक्त ने देखी नरयावली नाका मुक्तिधाम की व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया ★ बीएमसी की मर्चुरी की व्यवस्थाएं हुई दुरस्त

संभाग आयुक्त ने देखी नरयावली नाका मुक्तिधाम की व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया
★ बीएमसी की मर्चुरी की व्यवस्थाएं हुई दुरस्त 


सागर ।कोविड मरीजो के अंतिम संस्कार के लिए निर्धारित नरयावली नाका मुक्ति धाम में अव्यवस्थाओं  की शिकायतें और मीडिया में खबरे आने पर  संभाग आयुक्त मुकेश शुक्ल ने नगर निगम आयुक्त  आर.पी.अहिरवार एवं उपायुक्त डाॅ.प्रणय कमल खरे अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक  विक्रम सिंह कुशवाहा के साथ नरयावली नाका मुक्तिधाम का निरीक्षण किया। उन्होंने यह सब कोविड एवं नान कोविड से मृत होने वाले शव के अंतिम संस्कार के संबंध में वहाॅ पदस्थ अधिकारी एवं कर्मचारियों से चर्चा करते हुये कहा कि कोविड से मृत होेने वाले जो शव अंतिम संस्कार हेतु यहाॅ आते है उनका परम्परागत तरीके से विधि विधान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया जाय ।साथ ही अंतिम संस्कार में लगने वाली सभी आवश्यक सामग्री आदि की व्यवस्थायें सुनिश्चित करने के निर्देश संबंधितों को दिये।

कमिश्नर श्री मुकेश शुक्ला ने कोरोना संक्रमित व्यक्तियों का अंतिम संस्कार के लिए नियुक्त किए गए अधिकारी कर्मचारियों की सराहना करते हुए कहा कि  यह  बहुत ही पुण्य का कार्य है किंतु इस कार्य में जो भी अधिकारी कर्मचारी लगे हैं वह पूरी सावधानी एवं सतर्कता के साथ  यह कार्य करें। उन्होंने नगर निगम आयुक्त को निर्देश दिए कि उक्त समस्त अधिकारी कर्मचारियों को कोविड-19 के प्रोटोकाल के तहत समस्त आवश्यक सामग्री अतिरिक्त रूप से उपलब्ध कराई जाए।

 इस अवसर पर उन्होने नरयावली नाका श्मशानघाट में इस संकट के समय  में लगे अधिकारी कर्मचारियों का उत्साहवर्धन भी किया और वहाॅ पदस्थ इस कार्य में लगे सभी अधिकारी कर्मचारियों भी स्वयं को सुरक्षित रखने के हेतु सभी आवश्यक सामग्री का उपयोग करें ताकि सभी लोग संक्रमित होने से बच सकें।  

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें


वेबसाईट


बीएमसी की मर्चुरी की व्यवस्थाएं की गई दुरस्त -कमिश्नर श्री शुक्ला

बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज की मर्चुरी की व्यवस्थाओं को दुरुस्त किया गया है और  मृत व्यक्तियों के परिजनों को किसी भी प्रकार की समस्या का सामना नहीं करना पड़े इसके समस्त आवश्यक प्रबंध किए जाएं । उक्त निर्देश संभाग आयुक्त मुकेश शुक्ला ने बीएमसी में कोरोना संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए आयोजित समीक्षा बैठक में दिए। बीमसी कि मर्चुरी केफ्रिज बन्द होने और अन्य कमियों की जानकारी मीडिया में आई थी। 

संभागायुक्त श्री मुकेश शुक्ला ने कहा कि बीएमसी में मृत व्यक्तियों के परिजनों को मर्चुरी से मुक्तिधाम भेजने की सूचना समय पर प्रदान की जावे ।उन्होंने कहा कि  मर्चुरी में अतिरिक्त फीजर, एयर कंडीशन एवं समस्त आवश्यक व्यवस्थाओं को दुरुस्त किया गया है। कमिश्नर श्री शुक्ला ने बीएमसी में स्थापित हेल्प डेस्क को व्हाट्सएप बनाएं , जिसमें समस्त जानकारी कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की उनकी परिजनों को प्राप्त हो सके उन्होंने बीएमसी के सारी वार्ड में केवल  पीड़ित व्यक्ति ही जाए अन्य लोग ना जाए ऐसी व्यवस्थाएं करने के पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए। कमिश्नर श्री शुक्ला ने ऑक्सीजन एवं रेमडीसीवेर इंजेक्शन की उपलब्धता एवं मांग की भी समीक्षा की और निर्देश दिए ऑक्सीजन की किसी भी स्थिति में कमी नहीं होना चाहिए।

इस अवसर पर नगर निगम कमिश्नर आर पी अहिरवार , अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री विक्रम सिंह ,सीएसपी श्री प्रजापति ,मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ आर एस वर्मा ,डॉ एस के पिप्पल, सुमित रावत ,डॉ अभय तिर्की, डॉ अमरजीत राय सहित अन्य डॉक्टर मौजूद थे ।

---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

शुक्रवार, 23 अप्रैल 2021

लापता कोविड मरीज का शव मिला, परिजनों ने की शिनाख्त, तीन दिन से लापता थे मुन्ना लाल जैन

लापता कोविड मरीज का शव मिला, परिजनों ने की शिनाख्त, तीन दिन से लापता थे मुन्ना लाल जैन

★ मेडिकल कालेज प्रबंधन के रिकार्ड में  बेहतर इलाज कराने डिस्चार्ज किये गए थे मुन्ना लाल


साग़र। साग़र शहर के कोरोना संक्रमित मरीज मुन्ना लाल जैन के लापता होने की गुत्थी अभी सुलझी नही थी कि उनकी लाश मिलने से मामला और अधिक उलझ गया है। शास्त्री वार्ड निवासी मुन्ना लाल 14 अप्रैल को कोविड लक्षण मिलने पर शासकीय बुंदवलखण्ड  मेडिकल कालेज साग़र में एडमिट हुए थे। 18 अप्रैल तक उनके बेटे अंशुल का पिता से सम्पर्क बना रहा । 19 तारीख के बाद जब कोई खबर नही मिली तो बेटे ने मेडिकल कालेज में तलाशी की। सोसल मीडिया पर खबर चली। 21 अप्रैल को बीएमसी प्रबंधन ने बताया कि मुन्ना लाल 19 अप्रैल को डिस्चार्ज हुए। उनको परिजन बेहतर इलाज के लिए ले गए। 

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें


वेबसाईट

इस जानकारी ने मुन्ना लाल के परिजनों की चिंताएं बढा दी। परेशान बेटे अंशुल ने गोपालगंज थाना  में गुमशुदा की रिपोर्ट दर्ज कराई।  आज शुक्रवार को केंट थाना क्षेत्र में मुन्ना लाल का शव मिला।  सबइंस्पेक्टर विकास कुमार के अनुसार मृतक के शरीर पर चोट के निशान नही मिले है। पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है। मुन्ना लाल बीएमसी से लापता हुए थे। 
बेटे अंशुल का कहना था कि परिजनों को बिना बताए किस आधार पर पिता को डिस्चार्ज किया गया। बीमसी प्रशाज़न किं लापरवाहि है। 
शिनाख्ती करने पूछे उनके रिश्तेदारों ने भी लापरवाही का आरोप लगाया है । बहरहाल मुन्ना लाल की मौत ने कई सवाल खड़े किए है । 
बीएमसी ने गायब मुन्नालाल जैन के बेटे अंशुल को DAMA स्लिप देकर पल्ला झाड़ लिया है। इस स्लिप के मूताबिक मुन्नालाल के परिजन बेहतर इलाज के लिए डिस्चार्ज करा लें गए। 


---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------





SAGAR: कोरोना विस्फोट 395 नए पॉजिटिव केस आए, 14 डिस्चार्ज, 5 की मौत ★ तीन हजार से अधिक व्यक्ति होम आइसोलेशन से हुए मुक्त

SAGAR:  कोरोना विस्फोट 395 नए  पॉजिटिव केस आए, 14 डिस्चार्ज, 5 की मौत
★ तीन हजार से अधिक व्यक्ति होम आइसोलेशन से हुए मुक्त

सागर।  सागर जिले में कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। पिछले एक हफ्ते से कोरोना कर्फ्यू के बीच सर्वाधिक आंकड़ा संक्रमण और इससे हो रही मौतों का है। बीमसी के मूताबिक आज शुक्रवार को 395  लोगो की रिपोर्ट कोरोना पाजिटिव आई। वही 14 मरीज सवस्घ्य होकर घर वापिस गए। कोरोना संक्रमण से पिछले 24 घण्टो में 5  मरीजो की मौट हुई है। इस समय एक्टिव केसों की संख्या 2882 है। 

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें


वेबसाईट


तीन हजार से अधिक व्यक्ति होम आइसोलेशन से हुए मुक्त

सक्रमित व्यक्तियों को ओम आइसोलेशन करने की प्रक्रिया निरंतर जारी है और अत्याधिक संक्रमित होने पर स्मार्ट सिटी कार्यालय से संचालित  कोरोना कमांड कंट्रोल सेंटर के माध्यम से उनको प्रतिदिन वीडियो कॉलिंग के माध्यम से दिन में दो बार परीक्षण किया जा रहा है और परीक्षण के उपरांत आवश्यकता पड़ने पर उनको बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज में उपचार हेतु भर्ती कराया जा रहा है ।
आज शुक्रवार तक 4389 होम आइसोलेशन  किए गए व्यक्तियों में से 3279 व्यक्ति कोरोना संक्रमण को जीतकर होम आइसोलेशन से मुक्त हुए ।
कलेक्टर श्री दीपक सिंह ने समस्त होम आइसोलेट व्यक्तियों से आह्वान किया है कि वह होम आइसोलेशन की गाइडलाइन का शत-प्रतिशत पालन करें और घर पर रहकर ही स्वस्थ लाभ लेवे ।और कोरोना कमांड कंट्रोल सेंटर के माध्यम से प्रतिदिन किए जाने वाली वीडियो कॉलिंग के माध्यम से अपनी समस्या के साथ अपना तापमान और ऑक्सीजन का प्रतिशत संबंधित डॉक्टर को बताएं।      

---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------
   

राहतगढ़ में 50 बिस्तरों के कोविड केयर सेंटर का लोकार्पण किया राजस्व मंत्री गोविंद राजपूत ने

राहतगढ़ में 50 बिस्तरों के  कोविड केयर सेंटर का लोकार्पण किया राजस्व मंत्री गोविंद राजपूत ने

सागर।  कोरोना संक्रमण से सभी लोग डरे जरूर  किंतु घबराए नही  उक्त विचार मध्यप्रदेश शासन के राजस्व एवं परिवहन मंत्री श्री गोविंद सिंह राजपूत ने राहतगढ़ में 50 बिस्तरों की कोविड केयर सेंटर के उद्घाटन के अवसर पर व्यक्त किए।
 इस अवसर पर  श्री विनोद कपूर, श्री विनोद ओसवाल, कलेक्टर श्री दीपक सिंह, पुलिस अधीक्षक श्री अतुल सिंह ,अनुविभागीय अधिकारी श्री रमेश पांडे ,मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सुरेश बौद्ध सहित अधिकारी डॉक्टर पैरामेडिकल स्टाफ एवं गणमान्य नागरिक मौजूद थे ।

मंत्री श्री राजपूत ने कहा कि इस महामारी से लड़ने के ये तीन हथियार हमारे हाँथ में है। कोरोना से डरना तो है पर घवराना नहीं है। मैं स्वयं कोरोना पॉजिटिव रहा हूँ तो तकलीफ जानता हूँ। इसके लिए इलाज के साथ हमने  घरेलु उपाय जैसे योग करना, गर्म पानी पीना, भाप लेना ये सभी किये और अभी नेगेटिव है।
मंत्री श्री गोविंद सिंह राजपूत ने सुरखी विधानसभा क्षेत्र के राहतगढ़ में कोरोना केयर सेंटर का शुभारम्भ किया। जिसमे ऐसे चिन्हित कोरोना मरीज रखे जायेंगे जिनके घर छोटे है और परिवार में सदस्यों की संख्या अधिक है ताकि अन्य सदस्यों में न फैले इसके साथ ही जिस गांव में कोरोना मरीज निकलेंगे वहाँ सर्वे करा कर सभी को मेडिकल दवा किट भी दी जाएगी। इस कोरोना केयर सेंटर में मरीजों हेतु बेहतर सुबिधाए मुहैया कराई गई है जिसमें खाने पीने की सुविधा, साफ सफाई, पेरामेडिकल स्टॉफ, मेडिकल स्टॉफ मेडिकल इक्विपमेंट, दवा आदि का विशेष ध्यान रखा गया है। इमरजेंसी हेतु ऑक्सीजन की व्यबस्था भी की जा रही है। 1 एम्बुलेंस वर्तमान में हमने दी है दो और जल्द ही आ जाएंगी। जिला प्रशासन द्वारा बेहतर प्रयास किये जा रहे है। 

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें


वेबसाईट


 राजस्व एवं परिवहन मंत्री श्री गोविंद सिंह राजपूत ने राहतगढ़ में 50 बिस्तर का कोविड केअर  सेंटर के उद्घाटन के अवसर पर डॉक्टर एवं पैरामेडिकल स्टाफ से चर्चा की ।चर्चा के दौरान उन्होंने डॉक्टर यू पैरामेडिकल स्टाफ से उनकी अपनी व्यवस्थाओं के संबंध में एवं गोबर से संबंध में आवश्यक जानकारी दी।
  
प्रारंभिक लक्षण मिलते ही कोविड केअर सेंटर में आए : कलेक्टर 

प्रारंभिक लक्षण मिलते ही संबंधित व्यक्ति को कोविड केयर सेंटर में आकर अपना इलाज प्रारंभ कराएं उक्त विचार कलेक्टर श्री दीपक सिंह ने राहतगढ़ में कोविड केअर  सेंटर के उद्घाटन के अवसर पर व्यक्त किए ।कलेक्टर श्री दीपक सिंह ने कहा कि यह कोविड केअर सेंटर परिवहन एवं राजस्व मंत्री श्री गोविंद सिंह के निर्देशानुसार प्रारंभ किया गया है और इस कोविड केअर सेंटर में एक्सरे, दबाये,एंबुलेंस की व्यवस्था की गई है।
कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि  सेवा करने वाली समस्त व्यक्ति अपनी स्वयं की रक्षा करें गाइडलाइन के अनुसार पी पी ई किट, मास्क  ,सैनिटाइजर का उपयोग कर सेवा में लगे रहे ।उन्होंने कहा कि घर पर सही प्रकार से होम आइसोलेट नहीं रह पाते व्यक्ति इसलिए यह कोविड-केअर सेंटर प्रारंभ किया गया है ।उन्होंने कहा कि घर पर होम आइसोलेट रहने पर व्यक्ति या व्यक्ति के परिजन किसी न किसी प्रकार की गलती कर संक्रमित हो जाते हैं ।इसलिए इस प्रारंभिक लक्षण मिलते ही सभी व्यक्ति कोविड केयर सेंटर पर आकर अपना इलाज कराएं। कार्यक्रम का संचालन श्री राजकुमार कपूर ने किया। 


---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

छिंदवाड़ा: पांच युवा बने प्राण वायु दाता, आपस के इकठ्ठा किये 14 लाख रुपये और मंगाए 120 आक्सीजन सिलेंडर


छिंदवाड़ा: पांच युवा बने प्राण वायु दाता,  आपस के इकठ्ठा किये 14 लाख रुपये और मंगाए 120 आक्सीजन सिलेंडर


छिंदवाड़ा :  कोरोना आपदा की तस्वीर बड़ी भयावह है। कोविड दवाओं, रेमडीसीवर और ऑक्सीजन की मारामारी और कालाबाजारी तक हो रही है। आक्सीजन के अभाव में मरीजो का दम तोड़ दिया। ऐसे हालातो में मदद की तस्वीर सुकून देती नजर आती है। मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा के पांच युवाओं की सेवा की सोच ने एक उदाहरण पेश किया है। छिंदवाड़ा में आक्सीजन की कमी से तड़फते लोगो को मदद करने पांच  युवाओं ने आपस में चंदा कर 14 लाख रुपए जुटाए और गाजियाबाद की एक कंपनी से बात कर 120 सिलेंडर  बुलवा लिए। इनको जरूरतमंद लोगों को मुहैया करा रहे है। एक व्यवस्था भी इसके वितरण की बनाई है। 
छिंदवाड़ा के इन युवाओं राहुल द्विवेदी, अजय राजपूत, शोभित मिगलानी, विशाल कालिया, संदीप मालवी का ग्रुप है। पहले दिन से ही इनके पास भीड़ उमड़ पड़ी और फोन आने लगे। 


तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें


वेबसाईट

ऐसी है व्यवस्था
आक्सीजन सिलेंडरों को लेकर अफरातफरी नही मचे । इसके लिए एक व्यवस्था बनाई है। जरूरतमंद लोगों से सिलेंडर की लागत में बतौर अमानत  छोटे सिलेंडर के लिए 10 हजार रुपए और बड़े सिलेंडर के लिए 15 हजार रुपए की राशि ली गई है । यह राशि सिलेंडर लौटाने पर मरीज के परिजनों को लौटा दी जाएगी। इन युवाओं ने यह तय किया है कि सिलेंडर डॉक्टर के पर्चे के आधार पर अमानत राशि जमा कराने के बाद ही दी जाएगी। मरीज चाहे जिला अस्पताल में हो या प्राइवेट अस्पताल में जरूरतमंदों को डॉक्टर का पर्चा लाना होगा कि मरीज का ऑक्सीजन लेबल कम है या हालत गंभीर है और तत्काल ऑक्सीजन की जरूरत है। मरीज का आधार कार्ड, फोटो और ऑक्सीजन लेबिल आदि मंगाया जाता है। 

पहले दिन से लगी भीड़ ,ऑक्सीजन कंस्टेटर भी मंगा रहे है 

प्राणवायु दाता बने युवाओं का यह ग्रुप ऑक्सीजन सिलेंडर खरीदने के बाद  ऑक्सीजन कंस्टेटर मशीन खरीदने की तैयारी में भी है।  इसके अलावा और 40 सिलेंडर भी पूना की एक कंपनी से मंगा रहे हैं। ऑक्सीजन कंस्टेटर मशीन के 200 पीस खरीदे जा रहे है ताकि जरूरतमंदों की मदद कर सकें। 
 छिंदवाड़ा में बढ़ते कोरोना संक्रमण के चलते  आक्सीजन सिलेंडरों की  मांग  तेजी से बढ़ी है। जैसे जैसे लोगो को इसका  पता चलता जा रहा है । वैसे वैसे इन  युवाओं के पास सैकड़ों की संख्या में न केवल लोग पहुंच रहे है। बल्कि हजारों की संख्या में फोन आए है ।

ये है  फोन नम्बर 

9425776666
9300180180
7049235535 
9425146966
9300612333

ग्रुप के सदस्यों ने अपील की है कि केवल जरूरतमंद ही फोन करे । अनावश्यक फ़ोन कर सदस्यों का समय खराब ना करे जाने किसका समय खराब चल रहा हो। 
जरूरतमंद तक समय पर सिलेंडर पहुँचा तो बच सकती है जान। युवाओं के इस काम की सराहना भी जमकर हो रही है। 

---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

SAGAR: अनाज खरीदी केन्द्रों का संचालन कर रहीं महिला समूह, 5702 किसानों का खरीदा गया गेहूं

SAGAR: अनाज खरीदी केन्द्रों का संचालन कर रहीं महिला समूह, 5702 किसानों का खरीदा गया गेहूं

सागर । जिला कलेक्टर श्री दीपक सिंह के मार्गदर्शन में सागर जिले में पहली वार अनाज खरीदी केन्दों का दायित्व महिला स्वयं सहायता समूहों को सौंपा गया। जिले में कुल 207 खरीदी केन्द्रों में से 56 केन्दोें का संचालन आजीविका महिला स्व. सहायता समूहों के द्वारा किया जा रहा है। सागर जिले में इन सभी 56 केन्दों में अब तक 371700  क्विंटल गेहूं की खरीदी इन महिलाओं ने की है। अब तक इनके द्वारा 5702 किसानों के गेहूं उत्पाद को क्रय किया जा चुका है।

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें


वेबसाईट

डाॅ. इच्छित गढ़पाले मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत ने बताया कि जिले में गठित महिला स्वयं सहायता समूहों के आर्थिक स्वावलंबन के लिए उन्हें विभिन्न गतिविधियों के आयाम से जोड़ा जा रहा है। गौर तलब है कि कोविड के खतरों से निपटने के लिए ये समूह मास्क पीपीई किट सैनेटाइजर के उत्पादन से जुडे़ हैं। शालाओं में गणवेश तैयार करने के कार्य को भी वे युद्ध स्तर पर संपादित कर रहे हैं जिले में उनके द्वारा निराश्रित गौ-वंशों के लिए बनाई गई गौ-शालाओं के संचालन का भी दायित्व सौंपा गया है। महिलाओं ने उन्हें सौंपे गये कार्यों को कुशलता पूर्वक चलाकर ये साबित किया है कि उनने नेतृत्व क्षमता की कमी नहीं हैं। इसी कारण से उन्हें अनाज संग्रहण केन्द्रों का भार सौंपा गया है। जिले में इन महिलाओं ने रिकार्ड गेहूं क्रय कर सागर जिले को प्रदेश में अग्रिम पंति में अंकित किया है। 


---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

मिसाल: कोविड केयर सेंटर में ड्यूटी करने बालाघाट से नागपुर तक स्कूटी से सफर तय किया ,प्रज्ञा ने सात घण्टे में

मिसाल: कोविड केयर सेंटर में ड्यूटी करने बालाघाट से नागपुर तक स्कूटी से सफर तय किया ,प्रज्ञा ने सात घण्टे में

बालाघाट। कोरोना आपदा में ड्यूटी बड़ा कठिन काम है। वह भी कोविड हॉस्पिटल में । ऐसे दौर में लापरवाहियों की कई तस्वीर दिख रही है । ऐसे में ड्यूटी के प्रति लगाव की तस्वीर भी सामने आ रही है। ऐसी मिसाल  बालाघाट की बेटी ने दिखाई। बालाघाट की प्रज्ञा घरड़े नाम की यह बेटी पेशे से डॉक्टर है और नागपुर के निजी अस्पताल के एक कोविड केयर सेंटर में सेवाएं देती हैं. 

डॉ. प्रज्ञा छुट्टी पर अपने घर आईं थीं. अचानक संक्रमण बढऩे के बाद उन्हें छुट्टी के बीच ही नागपुर चिकित्सकीय सेवाएं देने लौटना पड़ रहा था. लेकिन लॉकडाउन में महाराष्ट्र की ओर जाने वाली बसें और ट्रेन के साधन नहीं मिल पाने पर इस महिला चिकित्सक ने अपनी स्कूटी से ही नागपुर तक का सफर तय करने का निर्णय लिया. पहले डॉ प्रज्ञा को अकेले इतना लंबा रास्ता स्कूटी से तय करने देने में उनके परिजन हिचक रहे थे. लेकिन डॉ. प्रज्ञा की सेवा भावना और दृढ़ इच्छाशक्ति देखते हुए उन्होंने इस बात पर सहमति दे दी. वे सुबह स्कूटी से नागपुर के लिए निकल गई और दोपहर वहां पहुंचने के बाद से ही उन्होंने कोविड के मरीजों का उपचार भी शुरू कर दिया.बालाघाट की इस साहसी बेटी प्रज्ञा ने बताया कि वह नागपुर में प्रतिदिन 6 घंटे एक कोविड अस्पताल में सेवा देती हैं. जहां वे आरएमओ के पद पर कार्यरत हैं.


तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें


वेबसाईट


 इसके अलावा प्रतिदिन शाम की पाली में भी एक अन्य अस्पताल में कार्यरत हैं. जिसके कारण उन्हें लगभग रोज 12 घंटे से अधिक समय तक पीपीई किट पहनकर काम करना पड़ता है. प्रज्ञा ने बताया कि वह अपने घर आईं थीं. इस दौरान लॉकडाउन लग जाने के कारण नागपुर वापसी का साधन नहीं मिला. लेकिन जब उन्हें यह मालूम हुआ कि संक्रमण के बढने से मरीजों की संख्या बढ़ रही है तो वह स्कूटी से ही लगभग 180 किमी तक का सफर तय कर नागपुर पहुंच गईं. डॉ. प्रज्ञा ने बताया कि उन्हें स्कूटी चलाकर बालाघाट से नागपुर पहुंचने में लगभग 180 किमी की दूरी तय करनी पड़ी इसमें करीब 7 घंटे का समय उन्हें लगा. उन्होंने बताया कि तेज धूप और गर्मी के साथ में अधिक समान होने से थोड़ी असुविधा जरूर हुई. रास्ते में भी कुछ खाने पीने को नहीं मिला. लेकिन वह दोबारा अपने काम पर लौट गईं, इस बात की संतुष्टि है.उनकी देशभर में सराहना हो रही है।

---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------


गुरुवार, 22 अप्रैल 2021

बीना रिफाइनरी के पास बनेगा 1000 बिस्तरों का अस्थाई अस्पताल, 5 मई से होगा शुरू: मंत्री भूपेंद्र सिंह

बीना रिफाइनरी के पास बनेगा  1000 बिस्तरों का अस्थाई अस्पताल, 5 मई से होगा शुरू: मंत्री भूपेंद्र सिंह

★ एक सप्ताह के अंदर सभी समस्त आवश्यक व्यवस्थाएं करें सुनिश्चित

सागर । 5 मई से प्रारंभ होगा बीओआरएल ग्राम चक्क आगासौद में 1000 बिस्तरों का सर्व सुविधा युक्त कोविड अस्पताल  एवं एक सप्ताह के अंदर समस्त आवश्यक व्यवस्थाएं की जाएंगी सुनिश्चित उक्त निर्देश नगरीय विकास एवं आवास मंत्री  भूपेंद्र सिंह ठाकुर ने गुरुवार को बीना के आगासौद में स्थित  ग्राम चक्क आगासौद बीओआरएल  का निरीक्षण के दौरान  संबंधित अधिकारियों को दिए।
नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री भूपेंद्र सिंह ने  बीना रिफाइनरी की ऑक्सीजन प्लांट का भ्रमण किया , जहाँ इंडस्ट्रियल ऑक्सीजन का निर्माण होता है।उल्लेखनीय है कि इंडस्ट्रियल ऑक्सीजन 90 प्रतिशत ऑक्सीजन की क्षमता वाली होती है जबकि मैडीकल ऑक्सीजन में ऑक्सीजन का प्रतिशत 95 प्रतिशत होता है। इंडस्ट्रियल ऑक्सीजन को मेडिकल ऑक्सीजन में परिवर्तित कर उसे संक्रमित मरीजों के उपचार हेतु उपयोग में लाया जाएगा।
अस्पताल के लिए उन्होंने पीडब्ल्यूडी, एमपीईबी, पीआईयू अधिकारियों एवं स्वास्थ्य विभाग के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिए कि वे सक्रियता से इस दिशा में कार्य करें जिससे शीघ्र अतिशीघ्र ऑक्सीजन सप्लाई सहित  समस्त व्यवस्थाएँ धरातल पर लाई जा सकें। मंत्री श्री सिंह ने बताया कि 1000 बिस्तरों के अत्याधुनिक अस्पताल में इंदौर के अरविंदो मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों की मदद से उपचार किया जाएगा एवं आवश्यकता पड़ी तो अन्य जगह के डॉक्टरों को भी यहां तैनात किया जाएगा । 

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें


वेबसाईट

उन्होंने कहा कि 1000 बिस्तरों वाले अत्याधुनिक अस्पताल में पैरामेडिकल स्टाफ चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों की भी आवश्यकता अनुसार उपलब्धता सुनिश्चित कराई जा रही है।
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श के सख्त निर्देश है कि इस अस्पताल को जल्द से जल्द प्रारंभ किया जाए । मंत्री श्री ठाकुर ने कहा कि समस्त व्यवस्थाओं को पूर्ण कर 5 मई को इस अस्पताल का शुभारंभ किया जाएगा। मंत्री श्री ठाकुर ने कहा कि अस्पताल परिसर  चक्क आगासौद में एंबुलेंसओं की भी व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है। उन्होंने कहा कि अस्पताल में अच्छे से अच्छे पोषण युक्त खाना के लिए अक्षय फाउंडेशन द्वारा खाना वितरण किया जाएगा उन्होंने कहा कि अस्पताल तक ऑक्सीजन प्लांट से पाइप लाइन के माध्यम से ऑक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित कराई जा रही है एवं पेयजल लाइट सड़क आदि की व्यवस्था के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया गया है। पीडब्लूडी के अधिकारियों को उन्होंने दो रास्तों से करीब डेढ़ किलोमीटर की अप्रोच रोड बनाने के निर्देश दिए।इसी प्रकार इलेक्ट्रिसिटी की लगातार आपूर्ति हेतु एमपीईबी के अधिकारियों को सब स्टेशन का प्रपोजल बनाकर कार्य शुरू करने के निर्देश दिए।
उन्होंने अस्थाई अस्पताल के स्थान पर कम्युनिकेशन सिस्टम के सुचारु रूप से चलने हेतु बी एस एन एल के प्रबंधक को इस संबंध में व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिए।

ये रहे मौजूद
इस अवसर पर सागर सांसद  राज बहादुर सिंह ठाकुर, क्षेत्रीय विधायक  महेश राय, कुरवाई विधायक  हरि सिंह सप्रे , गौरव सिरोठया, कलेक्टर  दीपक सिंह पुलिस अधीक्षक  अतुल सिंह,  अनुविभागीय अधिकारी  प्रकाश नायक अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री विक्रम सिंह एवं बोओआरएल की समस्त वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

रेमडेसिविर की कालाबाजारी करने वालों पर लगाए रासुका : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह


रेमडेसिविर की कालाबाजारी करने वालों पर लगाए रासुका  : मुख्यमंत्री
 शिवराज सिंह 

★ मुख्यमंत्री श्री चौहान ने उच्च स्तरीय बैठक में दिए निर्देश

भोपाल । मुख्यमंत्री  Shivraj Singh Chouhan ने कहा है कि रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वालों के विरुद्ध रासुका के तहत कार्यवाही की जाए। ऑक्सीजन आपूर्ति के संबंध में गलत अफवाह उड़ाने वालों और भ्रामक जानकारियां देने वालों के खिलाफ भी कार्यवाही हो। 

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निवास से #Corona संक्रमण की स्थिति पर वर्चुअली उच्च स्तरीय बैठक ली। मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव गृह श्री राजेश राजौरा, पुलिस महानिदेशक श्री विवेक जौहरी सम्मिलित हुए।

जनता के सहयोग से लगा कोरोना कर्फ्यू प्रभावी
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना कर्फ्यू के लिए जिस तरह से जनता आगे आई है और सभी ने सहयोग किया है उससे संक्रमण फैलने की गति कम हुई है। जनता के साथ जनता के सहयोग से कोरोना कर्फ्यू को बनाए रखना जरूरी है। हमारा लक्ष्य प्रदेश की जनता को संक्रमण से बचाना है। अतः घर पर ही रहें अनावश्यक बाहर ना निकले और संक्रमण की चैन को तोड़े। हमारा लक्ष्य है कि प्रदेश के पॉजिटिव हुए लोगों को जल्द से जल्द स्वास्थ्य लाभ मिले।

ऑक्सीजन आपूर्ति 
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जानकारी दी की ऑक्सीजन आपूर्ति के लिए डीआरडीओ सहित केंद्र सरकार स्तर पर लगातार बातचीत जारी है। ऑक्सीजन की आपूर्ति में हर संभव सहयोग मिल रहा है। कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण और इलाज की व्यवस्था के संबंध में मंत्रियों को सौंपे गए दायित्व का प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित किया जाए।

टीकाकरण के लिए लोगों को प्रेरित करना आवश्यक है
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए योग से निरोग कार्यक्रम और काढ़ा वितरण जैसी गतिविधियां आरंभ की जा रही हैं। प्रदेश में टीकाकरण को गति दी जा रही है। वैक्सीनेशन के लिए लोगों को प्रेरित करना आवश्यक है। एक मई से 18 साल से अधिक आयु के सभी लोगों का नि:शुल्क टीकाकरण होगा।

 

रेमडेसिविर की कालाबाजारी करने वालों पर लगाए रासुका : मुख्यमंत्री

रेमडेसिविर की कालाबाजारी करने वालों पर लगाए रासुका  : मुख्यमंत्री

★ मुख्यमंत्री श्री चौहान ने उच्च स्तरीय बैठक में दिए निर्देश

भोपाल । मुख्यमंत्री  Shivraj Singh Chouhan ने कहा है कि रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वालों के विरुद्ध रासुका के तहत कार्यवाही की जाए। ऑक्सीजन आपूर्ति के संबंध में गलत अफवाह उड़ाने वालों और भ्रामक जानकारियां देने वालों के खिलाफ भी कार्यवाही हो। 

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निवास से #Corona संक्रमण की स्थिति पर वर्चुअली उच्च स्तरीय बैठक ली। मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव गृह श्री राजेश राजौरा, पुलिस महानिदेशक श्री विवेक जौहरी सम्मिलित हुए।

जनता के सहयोग से लगा कोरोना कर्फ्यू प्रभावी
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना कर्फ्यू के लिए जिस तरह से जनता आगे आई है और सभी ने सहयोग किया है उससे संक्रमण फैलने की गति कम हुई है। जनता के साथ जनता के सहयोग से कोरोना कर्फ्यू को बनाए रखना जरूरी है। हमारा लक्ष्य प्रदेश की जनता को संक्रमण से बचाना है। अतः घर पर ही रहें अनावश्यक बाहर ना निकले और संक्रमण की चैन को तोड़े। हमारा लक्ष्य है कि प्रदेश के पॉजिटिव हुए लोगों को जल्द से जल्द स्वास्थ्य लाभ मिले।

ऑक्सीजन आपूर्ति 
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जानकारी दी की ऑक्सीजन आपूर्ति के लिए डीआरडीओ सहित केंद्र सरकार स्तर पर लगातार बातचीत जारी है। ऑक्सीजन की आपूर्ति में हर संभव सहयोग मिल रहा है। कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण और इलाज की व्यवस्था के संबंध में मंत्रियों को सौंपे गए दायित्व का प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित किया जाए।

टीकाकरण के लिए लोगों को प्रेरित करना आवश्यक है
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए योग से निरोग कार्यक्रम और काढ़ा वितरण जैसी गतिविधियां आरंभ की जा रही हैं। प्रदेश में टीकाकरण को गति दी जा रही है। वैक्सीनेशन के लिए लोगों को प्रेरित करना आवश्यक है। एक मई से 18 साल से अधिक आयु के सभी लोगों का नि:शुल्क टीकाकरण होगा।

बुधवार, 21 अप्रैल 2021

साग़र में बढ़ता कोरोना संक्रमण , जिला आपदा समिति की बैठक ,कई निर्णय हुए

साग़र में बढ़ता कोरोना संक्रमण ,
जिला आपदा समिति की बैठक ,कई
निर्णय हुए




साग़र।  कलेक्ट्रोरेट सभाकक्ष में सागर जिला आपदा समिति (क्राइसिस समिति)की बैठक जिला कलेक्टर श्री दीपक सिंह की अध्यक्षता में संपन्न हुई।
जिले के अर्बन एवं रूरल एरिया में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए कोरोना संक्रमण के प्रभावी नियंत्रण एवं रोकथाम हेतु आवश्यक उपायों की योजना तैयार करने हेतु जिला कलेक्टर द्वारा निर्देशित करते हुए समिति के निर्णय लिए गये।
इसके अंतर्गत मुख्यतः फायर सेफ्टी व्यवस्थाएं, निर्बाध वॉटर सप्लाई एवं ऑक्सीजन सप्लाई, सॉलिड वेस्ट एवं  मेडिकल वेस्ट मैनेजमेंट आदि विषयों पर चर्चा की गई।
कलेक्टर श्री सिंह ने कहा की पूर्व समय में फायर एवं ऑक्सीजन कमी से हुई समस्या को ध्यान में रखते हुए सभी कोविड हॉस्पिटलस में फायर सेफ्टी इक्विपमेंटस की व्यवस्था दुरुस्त हो साथ ही आवश्यक ऑक्सीजन की पूरी व्यवस्था पहले से ही रहे। इसके साथ ही सॉलिड वेस्ट एवं मेडिकल वेस्ट का अलग-अलग सावधानी से निपटान किया जाये। केंट के सदर क्षेत्र में तंग गलियां और छोटे छोटे मकानों को चिन्हित करें जहाँ कोविड मरीज होम आइसोलेट हैं। इन मरीजों को संस्थागत आइसोलेट किया जाये। इसके साथ ही नगर निगम क्षेत्र के ऐसे स्थल चिन्हित करें जहाँ सख्ती के साथ नियमों का पालन कराने की आवश्यकता है। एवं आवश्यकता अनुसार मेन पावर बढ़ाये।
एसपी श्री अतुल सिंह ने कहा की सबसे पहले तो फायर एवं ऑक्सीजन की कमी जैसी समस्याएं न होने पाएं परन्तु यदि ऐसी घटना होती है तो  इन समस्याओं के होने पर नजदीकी हॉस्पिटल्स को शॉर्टलिस्ट कर रखा जाये। जहाँ पर मरीजों को तुरंत सुरक्षति सिफ्ट किया जा सके।


 ---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

बीना रिफाइनरी प्लांट में स्थापित ऑक्सीजन प्लांट के पास बनेगा अस्थाई 1000 बेड का कोविड अस्पताल

बीना रिफाइनरी प्लांट में स्थापित ऑक्सीजन प्लांट के पास बनेगा अस्थाई 1000 बेड का कोविड अस्पताल 

सागर । भारत ओमान रिफाइनरी बीना प्रबंधन द्वारा बताया गया है कि एक सप्ताह के बाद यह ऑक्सीजन प्लांट प्रारंभ हो जायेगा । भारत ओमान रिफाइनरी बीना की तकनीकी टीम के द्वारा अवगत कराया गया है कि उद्योगिक रूप से उपयोग किये जाने वाली गैस , तकनीक का प्रयोग मेडिकल एवं उपचार हेतु उपयोग की ऑक्सीजन बनाने में किया जा सकता है । सागर जिले की वर्तमान स्थिति को दृष्टिगत रखते हुये कोविड -19 से संक्रमित मरीजों के इलाज हेतु भारत ओमान रिफाइनरी बीना ऑक्सीजन प्लांट का उपयोग किया जा सकता है । भारत ओमान रिफाइनरी बीना प्लांट में स्थापित ऑक्सीजन प्लांट से लगभग 500 मीटर दूर अस्थाई 1000 बेड अस्पताल स्थापित करने का निर्णय लिया गया है।  प्रकाश नायक , अनुविभागीय अधिकारी राजस्व बीना को इसके लिये नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है तथा श्री इक्छित गढ़पाले , मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत सागर को समन्वय अधिकारी नियुक्त किया गया है । श्री हरिशंकर जायसवाल , कार्यपालन यंत्री लोकनिर्माण विभाग सागर ( मोबा .8827300347 श्री आर.एल.सेक्वार , कार्यपालन यंत्री , पी एच ई खुरई ( मोबा .8223922097 ) , श्री योगेश कुमार सिंघई अधीक्षण विद्युत वितरण कंपनी सागर ( मोबा . 9425613904 ) को निर्देशित किया गया है कि स्थल निरीक्षण कर जमीन चिन्हित करें तथा प्रस्तावित स्थल का बिजली , पेय जल एवं पहुंचमार्ग आदि की व्यवस्था कराना प्रारंभ करें । उक्त अस्पताल के निर्माण हेतु पृथक से निर्माण एजेंसी का चयन किया जावेगा तथा उक्त अस्पताल के संचालन एवं संधारण हेतु पृथक से प्रदेश अथवा प्रदेश के बाहर किसी बड़े अस्पताल से चर्चा कर निर्णय लिया जावेगा ।

19 अपै्रल को बीना में भारत ओमान रिफाइनरी बीना के भ्रमण के दौरान नवनिर्मित ऑक्सीजन प्लांट का अवलोकन किया गया ।


तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें


वेबसाईट

बीना रिफाइनरी के पास बनने वाले अस्थाई अस्पताल में उपलब्ध होंगी इलाज की उत्तम व्यवस्था

गतदिवस कलेक्टर श्री दीपक सिंह द्वारा बीना रिफाइनरी की ऑक्सीजन प्लांट का भ्रमण किया गया जहाँ इंडस्ट्रियल ऑक्सीजन का निर्माण होता है। उल्लेखनीय है कि इंडस्ट्रियल ऑक्सीजन 90 प्रतिशत ऑक्सीजन की क्षमता वाली होती है जबकि मैडीकल ऑक्सीजन में ऑक्सीजन का प्रतिशत 95 प्रतिशत होता है। इंडस्ट्रियल ऑक्सीजन को मेडिकल ऑक्सीजन में परिवर्तित कर उसे संक्रमित मरीजों के उपचार हेतु उपयोग में लाया जाएगा।
अस्पताल के लिए उन्होंने पीडब्ल्यूडी, एमपीईबी, पीआईयू अधिकारियों एवं स्वास्थ्य विभाग के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिए कि वे सक्रियता से इस दिशा में कार्य करें जिससे शीघ्र अतिशीघ्र ऑक्सीजन सप्लाई सहित  समस्त व्यवस्थाएँ धरातल पर लाई जा सकें।
पीडब्लूडी के श्री जायसवाल को उन्होंने दो रास्तों से करीब डेढ़ किलोमीटर की अप्रोच रोड बनाने के निर्देश दिए।इसी प्रकार इलेक्ट्रिसिटी की लगातार आपूर्ति हेतु एमपीईबी के अधिकारियों को सब स्टेशन का प्रपोजल बनाकर कार्य शुरू करने के निर्देश दिए।
उन्होंने अस्थाई अस्पताल के स्थान पर कम्युनिकेशन सिस्टम के सुचारु रूप से चलने हेतु बी एस एन एल के प्रबंधक को इस संबंध में व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिए।
उल्लेखनीय है कि राज्य शासन के द्वारा दिए गए निर्देशों एवं मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैस की अध्यक्षता में आयोजित हुई बैठक के बाद कलेक्टर श्री दीपक सिंह ने तत्काल कार्रवाई करते हुए बीओआरएल के समीप अस्थायी अस्पताल बनाने का निर्णय लिया तथा इस दिशा में कार्य प्रारंभ कर दिया गया है। 

ये है स्थिति  अभी

सागर जिले में अभी तक 8593 पॉजिटिव केस प्राप्त हुये है , जिसमें वर्तमान में एक्टिव हैं । एक्टिव केसों में से लगभग 600 मरीज सागर जिले की विभिन्न अस्पतालों यथा बुदेलखण्ड मेडीकल कॉलेज , जिला चिकित्सालय एवं अन्य निजी अस्पतालों में भर्ती है । सागर जिले में प्रतिदिन 1200 सेम्पल लिये जाकर टेस्ट किये जा रहे है जिनमें लगभग 200 नये केस प्राप्त हो रहे है।वर्तमान में सागर जिले के शासकीय एवं निजी अस्पतालों में कोविड 19 के मरीजों से 100 प्रतिशत बेड भरे हुये है चूंकि सागर जिला संभागीय मुख्यालय है तथा अन्य जिलों से मरीज इलाज है । कोविड 19 उपचार में सबसे महत्वपूर्ण लक्षण यह है कि लंग्स में इफेक्शन कारण मरीज की सांस लेने की क्षमता कम हो जाती है और मरीज को बचाने हेतु ऑक्सीजन की नियमित आपूर्ति की आवश्यकता हो जाती है । वर्तमान ऑक्सीजन अन्य जिलों यथा इंदौर , भोपाल , गुजरात तथा उत्तर प्रदेश से मंगाई जाकर उपयोग में लाई जाती है । जिले में लिक्विड ऑक्सीजन की उपलब्धता न्यून होती जा रही है एवं प्रतिदिन लिक्विड ( ऑक्सीजन प्राप्त करना एक चुनौती हो गई है ।  

---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------


मरीजो को मिलेंगी बेहतर सुविधाएं: मन्त्री गोपाल भार्गव ★ मल्टी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल की तर्ज पर शुरू हुआ कोविड केयर सेंटर


मरीजो को मिलेंगी बेहतर सुविधाएं: मन्त्री गोपाल भार्गव

★ मल्टी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल की तर्ज पर  
शुरू हुआ कोविड केयर सेंटर,

सागर ।  कोरोना संक्रमित मरीजों को अच्छी से अच्छी इलाज मुहैया कराना ही मेरा संकल्प है इसके लिए आज गढ़ाकोटा में 70 बिस्तरों का बागवान वृद्ध आश्रम में कोविड केयर सेंटर को मल्टी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल की तर्ज पर प्रारंभ किया गया है। उक्त विचार मध्यप्रदेश शासन की लोक निर्माण मंत्री श्री गोपाल भार्गव ने उद्घाटन के अवसर पर व्यक्त किए।
इस अवसर पर श्री मनोज चैरसिया, श्री अभिषेक भार्गव, अनुविभागीय अधिकारी श्री जितेंद्र पटेल तहसीलदार श्री कुलदीप पाराशर ,बीएमओ सीएमओ सहित अनेक गणमान्य नागरिक एवं डॉक्टर अधिकारी मौजूद थे।
मंत्री श्री गोपाल भार्गव ने कहा कि जिले में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को देखते हुए एवं बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज जिला चिकित्सालय में बढ़ते भार  एव कोरोना संक्रमित मरीजों को समय पर इलाज मुहैया कराने के लिए  गढ़ाकोटा के  बागवान वृद्धि आश्रम में 70 बिस्तरों  का अत्याधुनिक मल्टी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल की तर्ज पर को कोविड केअर  सेंटर प्रारंभ किया गया है आवश्यकता पड़ने पर इसमैं और भी पलंग बढ़ाए जायगे।
 मंत्री श्री भार्गव ने कहा कि इस को कोविड केअर  सेंटर में 24 घंटे विशेषज्ञ डॉक्टर पैरामेडिकल स्टाफ एवं वार्ड वाय तैनात रहेंगे। उन्होंने कहा कि भर्ती मरीजों एवं उनके परिजनों को गुणवत्ता युक्त खाना एवं शीतल पेयजल की व्यवस्था भी कराई गई है ।
मंत्री श्री भार्गव ने कहा कि कोविड केयर सेंटर में संलग्न डॉक्टर, पैरामेडिकल स्टाफ ,वार्ड बॉय  जो शासकीय हैं उनको शासन द्वारा पेमेंट किया जाएगा ।और जो निजी तौर पर रखे गए हैं उनको मेरे द्वारा स्वम्  भुगतान किया जाएगा। मंत्री श्री भार्गव ने कहा कि इस सेंटर में दो एंबुलेंस, सीटी स्कैन , एक्सरे,ऑक्सीजन सहित समस्त व्यवस्थाओं को उपलब्ध कराया गया है ।और सीटी स्कैन करके ही 4 घंटे के  अंदर ही इलाज प्रारंभ किया जाएगा। मंत्री श्री भार्गव ने कहा कि आवश्यकता पड़ने पर विधानसभा क्षेत्र में अन्य स्थानों पर भी इसी प्रकार के कोविड केयर सेंटर प्रारंभ कर दिए जाएंगे । मंत्री मंत्री श्री भार्गव ने कहा कि इस सेंटर में मनोरंजन के लिए टीवी एवं अन्य खेल सामग्री उपलब्ध कराई गई है
मंत्री श्री भार्गव ने कहा कि बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज एवं जिला चिकित्सालय में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या अत्यधिक बढ़ जाने के कारण व्यवस्थाओं को सशक्त  बनाया जा रहा है। 


---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

SAGAR : कोविड पाजिटिव मरीज लापता, ★ थामे में FIR दर्ज गुमशुदगी, बेटे का आरोप मेडिकल कालेज की लापरवाही ★ मेडिकल कालेज प्रबंधन ने दी DAMA स्लिप यानी बेहतर इलाज कराने डिस्चार्ज करा लें गए परिजन

SAGAR : कोविड पाजिटिव  मरीज लापता,
★ थामे में FIR दर्ज गुमशुदगी, बेटे का आरोप मेडिकल कालेज की लापरवाही
★ मेडिकल कालेज प्रबंधन ने दी DAMA स्लिप यानी  बेहतर इलाज कराने डिस्चार्ज करा लें गए परिजन


साग़र। सागर में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। कोविड के लक्षण मिलने पर मरीज को बीएमसी में भर्ती कराया गया। जब दो दिन से कोई खोज खबर नही मिली तो बेटा ने थाने में रिपोर्ट दर्ज करा दी गुमशुदगी की । उधर मेडिकल कालेज के मुताबिक़ मरीज को डिस्चार्ज कर दिया गया था। फिलहाल मरीज न तो घर पहुचा और न ही किसी हास्पिटल में । दिनभर से खोजबीन चल रही है । एक और लापरवाही सामने आई है। 

साग़र शहर के शास्त्री वार्ड निवासी मुन्ना लाल जैन के कोविड सम्बन्धी लक्षण मिलने पर उनके परिजनों ने  14 अप्रैल को  बुन्देलखण्ड मेडिकल कालेज में भर्ती कराया था। मुन्ना लाल के बेटे अंधुल के अनुसार पिताजी को खाना पानी देने के लिए बीएमसी जाता था। 18 अप्रैल के बाद जब कोई बातचीत नही हुई तो पता करना शुरू किया। पिछले दो दिनों से कोई जानकारी पिताजी के बारे में नही मिली। भटकता रहा। फिर बताया कि उसके पिताजी 19 अप्रैल को डिस्चार्ज कर दिए गए। उसकी रसीद भी दी। 
अंशुल का कहना है कि पिताजी को डिस्चार्ज करने सम्बन्धी कोई सूचना नही दी गई। कहीं  न कही प्रबंधन की लापरवाही है। इसकी फिर थाने में fir दर्ज कराई है । अंशुल अपने पिता से मिलने कोविड वार्ड तक चला गया। डॉक्टरों ने वहां बताया कि डिस्चार्ज हो गए। जबकि उसके द्वारा पहुचाया जा रहा सामान काउंटर पर सुबह तक लिया गया। 
अंशुल अपनी माँ पिता के साथ रह रहा था। उसकी बख्शी खाने में बेल्ट की दुकान । पूरे परिवार का बुरा हाल है। 
उधर बीएमसी ने गायब मुन्नालाल जैन के बेटे अंशुल को DAMA स्लिप देकर पल्ला झाड़ लिया है। इस स्लिप के मूताबिक मुन्नालाल के परिजन बेहतर इलाज के लिए डिस्चार्ज करा लें गए। 

---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------


ट्रेडमार्क उल्लंघन सूट में जब्त किए गए 1.5 करोड़ मूल्य के पानी के पंप

 ट्रेडमार्क उल्लंघन सूट में जब्त किए गए 1.5 करोड़ मूल्य के पानी के पंप

★ ट्रेडमार्क उल्लंघन की छापेमारी , बैंगलोर और शिमोगा (शिवमोगा) में अधिवक्ताओं की टीम ने

बेंगलोर । कैलामा एक्वा इंजीनियरिंग प्राइवेट लिमिटेड, बैंगलोर के खिलाफ, एक 60 वर्षीय कंपनी, इंदौर के कैलामा सेल्स प्राइवेट लिमिटेड, द्वारा दिल्ली कोर्ट में ट्रेडमार्क उल्लंघन का मुकदमा भरा गया था, जिसमें कैलाश एक्वा इंजीनियरिंग प्राइवेट लिमिटेड के परिसर में तलाशी के लिए एक स्थानीय आयुक्त को नियुक्त किया गया था।  , बैंगलोर और शिमोगा (शिवमोग्गा) में। कैलामा एक्वा प्रा.लि.  बंगलौर में एक मुख्य आउटलेट और शिमोगा (शिवमोग्गा) में अन्य आउटलेट हैं, जहां वे कलमा सेलस प्राइवेट लिमिटेड, इंदौर के ब्रांड कालमा का उपयोग करके पानी पंप और अन्य उत्पादों का निर्माण कर रहे हैं।

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें


वेबसाईट


वादी के अधिवक्ता  अंकुर तिवारी और कंपनी के प्रतिनिधि  मुकेश मेहता की उपस्थिति में  वरुण खन्ना को बैंगलोर परिसर के लिए स्थानीय आयुक्त नियुक्त किया गया।अकेले शिमोगा (शिवमोग्गा) परिसर में कैलामा के ब्रांड नाम से 1.5 करोड़ रुपये के भारी मात्रा में पानी के पंप जब्त किए गए हैं।
शिमोगा (शिवमोग्गा) परिसर में छापेमारी वादी अधिवक्ता श्री विश्वजीत अहिरवार और आईपीआर के सलाहकार मिस नम्रता जैन और श्री विजय सोनी की मौजूदगी में की गई, जहाँ भारी मात्रा में पानी के पंप जब्त किए गए हैं।


---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

मंगलवार, 20 अप्रैल 2021

SAGAR : कोरोना कर्फ्यू 26 अप्रैल तक बढा, दिशा निर्देश जारी ★ कार्यालयों में दस फीसदी कर्मचारी ही काम करेंगे, बाकी वर्क फ्रॉम होम ★ किराना दुकानों से होम डिलीवरी पर संचालक को कोविड टेस्ट कराना जरूरी ★ ऑटो रिक्शा में दो और कार में तीन सवारी ही रहेंगी ★ वैवाहिक आयोजनों की सूचना थानों में, लेकिन बारात नही निकलेगी

SAGAR :  कोरोना कर्फ्यू 26 अप्रैल तक बढा, दिशा निर्देश जारी 
★  कार्यालयों में दस फीसदी कर्मचारी ही काम करेंगे, बाकी वर्क फ्रॉम होम
★ किराना दुकानों से होम डिलीवरी पर संचालक को कोविड टेस्ट कराना जरूरी
★ ऑटो रिक्शा में दो और कार में तीन सवारी ही रहेंगी 
★ वैवाहिक आयोजनों की सूचना थानों में, लेकिन बारात नही निकलेगी

साग़र। (तीनबत्ती न्यूज़ ) । कलेक्टर दीपक सिंह ने साग़र जिले के नगरीय और अन्य क्षेत्रों में कोरोना कर्फ्यू को 26 अप्रैल की सुबह तक के लिए बढा दिया है। इसके साथ नए दिशा निर्देश जारी किए है। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट सागर दीपक सिंह ने  जिला सागर अंतर्गत निम्नानुसार क्षेत्रों में समस्त सामाजिक / राजनैतिक/खेलकूद/मनोरंजन/शैक्षणिक / सांस्कृतिक/सार्वजनिक तथा धार्मिक गतिविधियों व आयोजनों के लिए लोगों का एकत्रित होना पूर्णतः वर्जित करने हेतु "कोरोना कर्फ़्फ्यू" आदेश
को दिनांक 26-04-2021 को प्रातः 06.00 बजे तक के लिए निरंतर रखने का आदेश जारी  किया है ।

इन क्षेत्रों में रहेगा कर्फ्यू

1. जिले के समस्त नगरीय क्षेत्रों - नगर निगम सागर, छावनी बोर्ड केंट, नगरीय निकाय मकरोनिया, शाहपुर,
राहतगढ़, सुरखी. बिलहरा, बांदरी, मालथौन, खुरई, बीना, देवरी, बण्डा, शाहगढ़, रहली, गढ़ाकोटा।

2. थाना क्षेत्र बहेरिया, सिविल लाइन, केंट, मोतीनगर एवं मकरोनिया की संपूर्ण सीमा ।

3. तहसील सागर अंतर्गत ग्राम पंचायत परसोरिया, सानौधा, नरयावली ढाना, कर्रापुर, जरूआखेड़ा, तहसील
रहली अंतर्गत ग्राम पंचायत पटना बुजुर्ग, चॉदपुर एवं तहसील गढ़ाकोटा अंतर्गत रोन, बलेह, चुनौआ बुजुर्ग,
तहसील खुरई अंतर्गत ग्राम पंचायत खिमलासा, तहसील मालथौन अंतर्गत बरौदिया, रजवास, उजनेट तहसील
बीना अंतर्गत मण्डी बामौरा, भानगढ़, कजिया, सिरचौथी, आगासौद तहसील राहतगढ़ अंतर्गत सिहौरा, झिला,
तहसील केसली अंतर्गत ग्राम पंचायत केसली, टड़ा, सहजपुर, तहसील देवरी अंतर्गत ग्राम पंचायत महाराजपुर,
गौरझामर, तहसील बण्डा अंतर्गत ग्राम पंचायत बरा, जमुनिया, सौरई, डिलाखेड़ी, बहरोल, तहसील शाहगढ़
अंतर्गत ग्राम पंचायत दलपतपुर, हीरापुर, विनायका, बरायठा, छानबीला, बराज, तहसील जैसीनगर अंतर्गत
ग्राम पंचायत जैसीनगर आदि की संपूर्ण सीमा।

इन गतिविधियों को कोरोना कर्फ्यू में प्रतिबंध से छूट रहेगी :

1. केन्द्र सरकार के अत्यावश्यक सेवाएं प्रदान करने वाले कार्यालयों को छोड़कर शेष कार्यालय 10 प्रतिशत
कर्मचारियों के साथ कार्यालय चलायें, शेष कर्मचारी "Work From Home" करेगें।

2. अत्यावश्यक सेवाएं देने वाले कार्यालय यथा जिला कलेक्ट्रेट, पुलिस, होमगार्ड, सिविल डिफेंस, अग्निशमन एवं आपात कालीन सेवायें, आपदा प्रबंधन, स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा, जेल, कोषालय, राजस्व, विद्युत आपूर्ति, पेयजल आपूर्ति, नगरीय प्रशासन, ग्रामीण विकास, सार्वजनिक परिवहन आदि को छोड़कर शेष कार्यालय 10 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ कार्यालय चलायें, शेष कर्मचारी "Work From Home" करेगें।
राजस्व न्यायालयों में आकस्मिक परिस्थितियों को छोड़कर सुनवाई स्थगित रहेगी।

3. आईटी कंपनियों, बीपीओ/मोबाईल कंपनियों का सपोर्ट स्टॉफ एवं यूनिटस को छोड़कर शेष निजी कार्यालय भी 10 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ अपना कार्य संपादित करेगें, शेष कर्मचारी "Work From Home" करेगें।

4. अन्य राज्यों/जिलो से माल, सेवाओं, नागरिकों का आवागमन 

5. अस्पताल, नर्सिग होम, केमिस्ट दुकाने, अन्य स्वास्थ्य एवं चिकित्सा सेवाएं।

6. समस्त किराना दुकान बंद रहेंगी।
 समस्त इच्छुक किराना व्यापारी आर्डर पर किराना सामग्री होम सप्लाई अधिकतम 20 रू0 के चार्ज पर संबंधित निवास पर कर सकेगें। इसके लिए वे पूर्व से होम डिलेवरी सेवा देने की सूचना, डिलेवरी बॉय की सूची सहित संबंधित थाना को देगें। संबंधित संचालक इस हेतु
अपने स्टाफ का कोविड टेस्ट अनिवार्यतः करायेगें।

7. किराना के थोक व्यापारी केवल खुदरा व्यापारियों को प्रातः 06.00 से 09.00 बजे तक सामान वितरित कर सकेगें।

8. पेट्रोल पम्प, बैंक एवं ATM. इनमें कैश डिलीवर करने वाले वाहन व स्टॉफ ।

9. बीमा कम्पनीज, वित्तीय संस्थान (जैसे मुथूट फायनेंस आदि) ।

10. डी0एन0सी0बी0, खेल परिसर के बाजू में, दीनदयाल नगर स्थित केन्द्रीय विद्यालय क्रमांक 2 के सामने
वाला मैदान में सब्जी/फल मण्डी 02 घण्टे प्रातः 07.00 बजे से 09.00 बजे तक खुलेगी। यहाँ के थोक विक्रेता केवल खुदरा सब्जी/फल विक्रय करने वाले विक्रेताओं को ही विक्रय करेगे ।

11. फल/सब्जी के ठेले, दूध वितरित करने वाले विभिन्न आवासीय क्षेत्रों में घर-घर फल/सब्जी/ दूध का वितरण कर सकेंगे।

12. दूध डेयरी/सांची पार्लर प्रातः 06.00 बजे से 09.00 बजे तक खुले रहेगे ।

13. औघोगिक मजदूरों, उद्योगों हेतु कच्चा / तैयार माल, उद्योगों के अधिकारियों/कर्मचारियों का आवागमन ।

14. एम्बुलेंस, फायर बिग्रेड, टेली कम्युनिकेशन, विद्युत प्रदाय, रसोई गैस, होम डिलेवरी सेवायें, दूध एकत्रीकरण
एवं वितरण के लिये परिवहन ।कार्यालयों/घरों में पानी के कैनन/कैम्पर का वितरण करने वाले वाहन आदि ।

15. सावर्जनिक वितरण प्रणाली की दुकाने ।
16. समस्त आटा चक्कियां खुली रहेगी।

17. इलेक्ट्रीशियन, प्लंबर, कारपेंटर आदि के द्वारा सेवा प्रदाय के लिये आवागमन। इस हेतु वे पूर्व से संबंधित थाने में सूचना देकर पावती हमेशा अपने पास रखेगें ।

18. निजी कंस्ट्रक्शन गतिविधियों (यदि मजदूर कंस्ट्रक्शन कैंपस/परिसर में रूके हो)।
19. विभिन्न शासकीय विभागों द्वारा किये/कराये जा रहे निर्माण कार्य । इस हेतु संबंधित एजेंसी के कार्मिकों को आवागमन हेतु परिचय पत्र विभागीय अधिकारी द्वारा दिये जायेगें। इस हेतु दैनिक निर्माण श्रमिकों का आवागमन । इस हेतु हार्डवेयर सामग्री के दुकानदार विभागीय अधिकारी के लिखित पत्र पर आवश्यक सामग्री दे सकेगें।

20. कृषि संबंधी सेवायें (जैसे किसी उपज मण्डी, उपार्जन केन्द्र, खाद बीज, कीटनाशक दवायें कस्टम हायरिंग
सेंटर, कृषि यंत्र की दुकाने आदि।) सागर जिले के सभी कृषक अपनी फसल कटाई, कृषि कार्य हेतु हार्वेस्टर ट्रेक्टर एवं अन्य मशीनी उपकरणों इत्यादि का पूर्ववत उपयोग कर सकेंगे । यदि उक्त उपकरणों में कोई खराबी आती है अथवा मरम्मत आवश्यक होती है, तो संबंधित मैकेनिक अथवा तकनीकी कर्मचारी
स्थल पर जाकर उक्त सुधार / मरम्मत कार्य कर सकेंगे ।
21. परीक्षा केन्द्र आने एवं जाने वाले प्रशिक्षार्थी तथा परीक्षा केन्द्र एवं परीक्षा आयोजन से जुड़े कर्मी, अधिकारीगण।

22. टीकाकरण व स्वास्थ्य सुविधाओं हेतु आवागमन कर रहे नागरिक/कर्मी।
23. राज्य शासन द्वारा फसलों के उपार्जन कार्य से जुड़े कर्मी तथा उपार्जन स्थल हेतु आवागमन कर रहे किसान बंधु ।
24. बस स्टेण्ड, रेल्वे स्टेशन, ढाना हवाई पट्टी से आने-जाने वाले नागरिक।

25. टी0वी0 केवल नेटवर्क से संबंधित व्यक्ति ।

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें


वेबसाईट


26. एम.पी. ऑनलाईन के सेंटर व आधार कार्ड बनाने वाले केन्द्र ।

27. समाचार पत्र वितरण करने वाले हॉकर्स। प्रिंट एवं इलेक्ट्रानिक मीडिया में कार्यरत पत्रकारगण। इस हेतु वे अपने संस्थान द्वारा जारी अधिकृत परिचय पत्र साथ रखेगे।
28. यात्रियों के रूकने हेतु होटल। ये होटल अपने यहां रूकने वाले यात्रियों को केवल रूम में खाना सप्लाई करेंगे।

29. शव यात्रा में अधिकतम 20 व्यक्ति शामिल हो सकेगे।

30. लॉकडाउन अवधि के दौरान शादी समारोह वर पक्ष, वधु पक्ष एवं व्यवस्थापक सहित 50 से अधिक शामिल
नहीं होंगे। इस संबंध में संबंधित क्षेत्र के कार्यपालिक मजिस्ट्रेट/थाना प्रभारी आयोजक व सम्मिलित होने वाले व्यक्तियों की सूची प्राप्त होने पर अधिकतम 50 व्यक्तियों की सूची का अनुमोदन कर सकेगें । इस हेतु शादी घरों के संचालकों को संबंधित थाना में समारोह आयोजन की पहले से सूचना देनी होगी एवं बारात नहीं निकाली जायेगी। आयोजकों द्वारा आगंतुकों की थर्मल स्क्रीनिंग अनिवार्यतः कराई जायें ।

31. मेडिकल इमरजैसी हेतु दो पहिया एवं चार पहिया वाहनों का आवागमन। दो पहिया वाहन पर 02 व्यक्ति  व चार पहिया वाहन में वाहन चालक सहित अधिकतम 03 व्यक्ति रहेगें।

32. रेलवे स्टेशन / बस स्टेण्ड/अस्पताल/नर्सिंग होम से केवल यात्री/मरीजों को घर/अस्पताल तक लाने
ले जाने के लिये आटो/ई-रिक्शा चालन की अनुमति उपरोक्त स्थानों पर ही होगी। इनमें वाहन चालक सहित अधिकतम 03 व्यक्ति रहेगें।
33. धार्मिक स्थलों पर प्रातः काल एवं सायं काल अधिकतम 05 व्यक्ति अपने रीति रिवाज अनुसार उपासना कार्य संपादित कर सकेंगे।
34. यात्री बसों का संचालन कोविङ गाईडलाईन का पालन करते हुये यथावत चालू रहेगा।
35. विभिन्न एन0जी0ओ0/स्वंयसेवी संगठनों के कार्यकर्ता कोरोना महामारी के काल में किये जा रहे समाज सेवी कार्य हेतु आवागमन कर सकेगें ।
36. उपरोक्त छूट प्राप्त विभाग/संस्थान/दुकानदार/प्रतिष्ठान / नागरिक अनिवार्यतः सोशल डिस्टेसिंग के
नियम, मास्क आदि का कड़ाई से पालन करेंगे। सभी अपने संस्थान द्वारा जारी परिचय पत्र अनिवार्यतः साथ रखते हुए गले में प्रदर्शित करेगें।

इस आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति के विरूद्ध भा०८०सं0 की धारा 188 एवं आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 के
प्रावधानों के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी। यह आदेश तत्काल प्रभाव से लागू होगा।

---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------


साग़र: राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत भर्ती सूची जारी



साग़र: राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत भर्ती सूची जारी





साग़र। मुख्य स्वास्थ्य और चिकित्सा अधिकारी साग़र की जिला स्वास्थ्य समिति ने  संचालक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन भोपाल के निर्देश पर भर्ती सम्बन्धी सूची जारी की है। यह भर्ती 31 मई तक रहेगी। 

देखे सूची। 






















---------------------------- 



www.teenbattinews.com




तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885



-----------------------------

वाराणसी: न इलाज मिला, न ही एंबुलेंस, बेटे के शव को ई-रिक्शा में ले जाने पर मजबूर हुई मां

वाराणसी: न इलाज मिला, न ही एंबुलेंस, बेटे के शव को ई-रिक्शा में ले जाने पर मजबूर हुई मां

वाराणसी: कोरोना वायरस के वीभत्स रूप ने वैसे तो कई परेशानियां सामने ला दी हैं लेकिन काशी की एक तस्वीर से प्रशासनिक तंत्र पर बड़े सवाल खड़े हो रहे हैं. वाराणसी में बेटे की मौत के बाद उसकी मां एक ई-रिक्शा में शव लेकर जाती दिख रही हैं.

दरअसल, जौनपुर निवासी इस मां का बेटा मुम्बई में काम करता था. लेकिन किडनी की समस्या का इलाज कराने वह वाराणसी आया था. पहले वह बीएचयू गया लेकिन वहां एडमिट नहीं किया गया. लिहाजा निराश होकर ककरमत्ता के निजी चिकित्सालय गया जहां पर भी इसे निराशा हाथ लगी. शरीर ने साथ छोड़ा तो मां के गोद का लाल उसके पैरों में दम तोड़ गया.

शव घर ले जाने के लिए नहीं मिली एम्बुलेंस


किसी ने सोचा नहीं था कि जीते जी एम्बुलेंस से परहेज करने वाले शरीर को प्राण छोड़ने के बाद भी एम्बुलेंस मयस्सर नहीं होगी. लेकिन वाराणसी में ये हुआ है और इसकी हृदय विदारक तस्वीर भी सामने आ गयी है. बेटा मां के पैरों तले इलाज के अभाव में दम तोड़ देता है और मां मृत बेटे को ले जाने के लिए एम्बुलेंस खोजती है. जब कुछ नहीं मिलता तब ई-रिक्शे पर बेटे के शव को लेकर अंतिम संस्कार के लिए घर निकल जाती है.

साभार : एबीपी न्यूज़

निग्रंथ सेंटर ऑफ आर्कियोलॉजी द्वारा विश्व धरोहर दिवस का आयोजन

निग्रंथ सेंटर ऑफ आर्कियोलॉजी द्वारा विश्व धरोहर दिवस का आयोजन

सागर, ।  निग्रंथ सेंटर ऑफ  आर्कियोलॉजी एवं आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया जबलपुर एवं औरंगाबाद मंडल द्वारा संयुक्त तत्वाधान में विश्व धरोहर दिवस के अवसर पर राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया।
 दीप प्रज्वलन   टी के वेद एवं जिनेंद्र जैन द्वारा किया गया। मंगलाचरण डॉ रंजना पटोरिया, कटनी द्वारा किया गया।
 प्रस्तावना उद्बोधन एवं राष्ट्रीय संगोष्ठी के संयोजक डॉ यतीश जैन द्वारा विश्व धरोहर दिवस के संबंध में विस्तार से जानकारी दी गई। कार्यक्रम की उपादेयता एवं वर्तमान समय में इसकी आवश्यकता पर बल दिया गया।
उद्घाटन भाषण  भारतवर्षीय दिगंबर जैन तीर्थ संरक्षणी महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष  निर्मल सेठी द्वारा दिया गया। जिसमें महासभा का कार्य एवं निगंथ सेंटर आफ आर्कियोलॉजी के उद्देश्यों के बारे में जानकारी दी गई ।
 कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉ सुजीत जी नयन, सुपरिंटेंडेंट आर्कियोलॉजिस्ट द्वारा जबलपुर मंडल में पुरातत्व विभाग द्वारा किए जा रहे कार्यों के बारे में विस्तार से जानकारी दी और पुरातात्विक धरोहर को कैसे संरक्षित करना है इसके बारे में लोगों को अवगत कराया गया।
                कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि डॉ मिलन कुमार चावले सुपरिंटेंडेट आर्कियोलॉजिस्ट औरंगाबाद मंडल द्वारा किए जा रहे कार्यों को बारे में एवं विश्व धरोहर एलोरा के संबंध में जैन पुरातत्व के बारे में जानकारी दी गई साथ ही दौलताबाद के पास उत्खनन में प्राप्त जैन मंदिर एवं गुफाओं के संरक्षण के संबंध में विस्तार से लोगों को जानकारी दी गई। जबलपुर से इंजीनियर के सी जैन द्वारा 'तमिलनाडु में जैन विरासत धरोहर दुर्गम रहे एवं अनिश्चित भविष्य' विषय पर विस्तार से चर्चा की गई। प्रसिद्ध वक्ता प्रोफेसर लक्ष्मीचंद जैन द्वारा 'जैन धर्म का पुरातात्विक वैभव' विषय पर जानकारी श्रोताओं को दी गई।
 'नोहटा दमोह का पुरातत्व संबंधी जानकारी जबलपुर मान कुवंरबाई महाविद्यालय की इतिहास विभाग के प्राध्यापक रंजना जैन द्वारा दी गई । 'विश्व धरोहर दिवस एवं सिंधु घाटी सभ्यता एवं जैन धर्म' के विषय पर डॉ रंजना पटोरिया, कटनी द्वारा अपना शोध पत्र प्रस्तुत किया गया।
तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें


वेबसाईट

कार्यक्रम में आभार प्रदर्शन  राजकुमार जैन सेठी, कोलकाता, महामंत्री  भारतवर्षीय दिगंबर जैन महासभा द्वारा दिया गया। इसके साथ ही एडवोकेट अमिताभ भारती, कोषाध्यक्ष द्वारा जबलपुर मंडल श्री भारतवर्षीय दिगंबर जैन महासभा की ओर से धन्यवाद ज्ञापन दिया गया । इस अवसर पर महासभा के सचिव जिनेंद्र जैन द्वारा भी महत्वपूर्ण सहयोग दिया गया।  ऑनलाइन वेबीनार के संयोजक समिति के सदस्य  जिनेंद्र जैन सचिव, सीए संजय सिंघई सतना, उपाध्यक्ष,  पिंकेश पटोरिया परासिया छिंदवाड़ा, उपाध्यक्ष, अवनीश संघी सागर,  विकास जैन जबलपुर सह सचिव, श्री सतीश जैन सह सचिव सागर, एडवोकेट अमिताभ भारती जबलपुर, प्राध्यापक तारेन्द्र जैन छतरपुर, प्राध्यापक दीपिका जैन कटनी, प्राध्यापक ज्योति जैन जबलपुर, प्राध्यापक रंजना जैन जबलपुर, प्राध्यापक दीप्ति संघी सागर, प्राध्यापक समता जैन जबलपुर, श्रीमती नीलांजना जैन एवं इंजीनियर सुनील जैन नरसिंहपुर द्वारा कार्यक्रम को सफल बनाने में विशेष सहयोग प्रदान किया गया।  कार्यक्रम का संचालन डॉ यतीश जैन द्वारा किया गया एवं तकनीकी सहयोग  पारस जैन  नासिक द्वारा किया गया।

---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

SAGAR: जिला अस्पताल में 10 दिन में तैयार हो जाएगा ऑक्सीजन प्लांट , 100 बिस्तरों को रोज मिलेगी ऑक्सीजन

Archive