शनिवार, 4 जनवरी 2020

विजयवर्गीय के घृणित इरादों पर भाजपा संघ खामोश क्यों-भूपेन्द्र गुप्ता

विजयवर्गीय के घृणित इरादों पर भाजपा संघ खामोश क्यों-भूपेन्द्र गुप्ता
भोपाल। इंदौर शहर को आग लगा देने का घृणित इरादा रखने वाले भाजपा नेता श्री कैलाश विजयवर्गीय से बीजेपी के सभी नेताओं की सहमति है । इसलिए पूर्व मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान, नेता प्रतिपक्ष श्री गोपाल भार्गव , भाजपा अध्यक्ष श्री राकेश सिंह चुप है। 
मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मीडिया विभाग के उपाध्यक्ष श्री भूपेंद्र गुप्ता ने आज यहां जारी बयान में कहा कि श्री कैलाश विजवर्गीय का यह बयान कानून व्यवस्था को सरेआम चुनौती देने वाला और मध्य प्रदेश की शांति को खतरे में डालने वाला है । इसलिए भविष्य के लिए इस बयान को संज्ञान में लिया जाना चाहिए । उन्होंने कहा कि कमलनाथ सरकार का माफिया विरोधी अभियान भाजपा के गले नहीं उतर रहा है । इससे यह भी जाहिर है कि भाजपा और प्रदेश में सक्रिय माफिया की सांठगांठ है । इसलिए भाजपा के किसी नेता ने सरकार के पक्ष में अभी तक कोई बयान नहीं दिया । माफिया के विरुद्ध बयान शुरू करने के चंद ही दिनों में जितनी बड़ी कार्रवाईयां हुई है उतनी शिवराज की 13 साल की सरकार में नहीं हुई । रेत माफिया ने उनकी सरकार चलाई। कई बार शिवराज सिंह चौहान खुद सार्वजनिक रूप से बयान दे चुके थे कि माफिया उनकी सरकार नहीं चलने दे रहा है।
भूपेंद्र गुप्ता ने कहा कि शिवराज सिंह चौहान 13 सालों तक मुख्यमंत्री रहे हैं इसलिए वे मध्यप्रदेश में सक्रिय माफिया को बेहतर जानते हैं । उन्हें एक सूची बनाकर सरकार को देना चाहिए। 
गुप्ता ने कहा कि कैलाश विजयवर्गीय ने कर्तव्यनिष्ठ लोक सेवकों का जो अपमान किया है उसकी जितनी निंदा की जाए कम है। शिवराज सिंह चौहान भी एक कलेक्टर को पिट्टू जैसे शब्दों से संबोधित कर अपमानित कर चुके हैं।
भाजपा के नेता भारतीय संस्कृति की दुहाई देते देते आग लगाने की बात करते हैं । इससे उनका दोहरा चरित्र जनता के सामने उजागर हो गया है। कैलाश विजयवर्गीय ने यह भी कहा है कि वे ऐसी राजनीति नहीं करते। उन्होंने अपने बयान से न सिर्फ अपने मतदाताओं बल्कि पूरे प्रदेश का मान सम्मान घटाया है । उन्होंने कहा कि केंद्र में भाजपा की सरकार है और प्रधानमंत्री और अमित शाह का उन्हें संरक्षण प्राप्त है इसका यह मतलब नहीं कि उन्हें इंदौर शहर को आग लगाने की भी इजाजत मिल गई है।

ताईक्वांडो चैम्पियनशिप प्रतियोगिता में सागर का नाम रोशन करने वाले खिलाड़ियों को संम्मानित किया सांसद ने

 ताईक्वांडो चैम्पियनशिप प्रतियोगिता में सागर का नाम रोशन करने वाले खिलाड़ियों को संम्मानित किया सांसद ने 
सागर।खेल परिसर के ताइक्वांडों अकादमी के प्रशिक्षक एवं विक्रम अवॉर्डी अर्जुन सिंह रावत के नेतृत्व में सागर के अंडर-14 से लेकर अंडर-19 वर्ग के 40 खिलाड़ी सिरौंज में आयोजित प्रतियोगिता में शामिल होने रवाना हुए थे। प्रतियोगिता में सागर के खिलाड़ियों ने कुल 15 गोल्ड, 5 सिल्वर, 13 कांस्य सहित कुल 33 पदक जीतकर ओवर ऑल पहला स्थान प्राप्त किया है। शनिवार को सांसद राजबहादुर सिंह खेल परिसर पहुंचे और ताइक्वांडों प्रतियोगिता में सागर के सभी खिलाड़ियों को बधाई देते हुए मैडल पहनाया व आगे भी इसी तरह बेहतर खेल का प्रदर्शन करते रहे। वहीं शुक्रवार को जिला पंचायत सीईओ व खेल परिसर के प्रभारी अधिकारी चंद्रशेखर शुक्ला ने खिलाड़ियों से अपने कार्यालय में मुलाकात की और सभी खिलाड़ियों की इस उपलब्धि पर उनका मुंह मीठा कराया।
इन खिलाड़ियों ने जीते गोल्ड, सिल्वर और ब्राउंन मैडल
विभिन्न वर्ग के मैच में गोल्ड मैडल जीतने वालों में अवि केशरवानी, नवीन पटेल, कृष्णा पटेल, मानसी कोरी, कनिष्का, चिराग, पार्थ, सौर्य, मयंक साहू, निखिल सेन, रागिनी, गौरव गोदरे, अबिका केशरवानी, वसुंधरा राजपूत, दीपांशी खटीक ने गोल्ड मैडल जीता। वहीं सिल्वर मैडल जीतने वालों में मानवी केशरवानी, जूही ठाकुर, दीपेश पाण्डेय, सनी सेन, कंचन साहू शामिल हैं। इसके अलावा कांस्य पदक विजेताओं में रुद्राक्ष, आशु, वंश, अागम, अंतरिक्ष, विद्या कुमारी, दीपिका तायड़े, जय कुमार, मनुराज, डिम्पल साहू, पुष्कर पटेल,मोहित ठाकुर एवं नदंनी आदि ने पदक जीतकर प्रदेश में सागर का नाम रोशन किया है।

कलेक्टर प्रीति मैथिल बनी शिक्षक, शाला का किया अचानक निरीक्षण, एक शिक्षिका निलंबित


कलेक्टर प्रीति मैथिल बनी शिक्षक, शाला का किया अचानक निरीक्षण, एक शिक्षिका निलंबित
सागर । कलेक्टर सागर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक ने खुरई तहसील स्थित शासकीय उमावि बसाहरी स्कूल का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान कलेक्टर ने सर्वप्रथम षिक्षक एवं छात्र-छात्राओं की उपस्थित पंजी प्रस्तुत करने कहा। प्रभारी प्राचार्य श्री प्रभात सिंह यादव ने उक्त रजिस्टर उपलब्ध कराए। जिस पर समस्त षिक्षकों के हस्ताक्षर थे किन्तु माध्यमिक षिक्षक श्रीमती नीता जैन हस्ताक्षर के उपरांत दोपहर 1.30 बजे संस्था से चली गई। जानकारी लेने पर छात्र-छात्राओं द्वारा बताया गया उक्त षिक्षिका प्रतिदिन बिलंव से आती है एवं समय से पूर्व चली जाती है।
 कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक ने तदउपरांत ने कक्षा दसवीं में पहुंची और वहां उपस्थित छात्र छात्राओं को रसायन एवं जीव-विज्ञान विषय के बारे में जानकारी ली। कक्षा में उपस्थित अतिथि षिक्षक षिखा राजपूत से ग्लूकोज का सूत्र ब्लैक बोर्ड पर लिखवाया अतिथि षिक्षक षिखा ने सूत्र लिख दिया गया किन्तु छात्र-छात्राएं सूत्र नहीं लिख पाए। श्रीमती नायक ने कक्षा में छात्र-छात्राओं से लगभग 40 मिनिट तक सवाल-जबाव किए जिस पर उनको शैक्षणिक गुणवत्ता संतोषजनक नहीं पायी गई। उन्होंने कक्षा में रसायन विषय के सूत्र मैथेनॉल एवं एथेनॉल, क्षार एवं अम्ल, सोडियम हाईड्राक्साईड और हाईड्रो क्लोरिक अम्ल के समीकरण विस्तार से समाझाए। जिस पर प्रभारी प्राचार्य सहित समस्त स्टॉफ को शैक्षणिक गुणवत्ता सुधारने के निर्देष दिए। उन्होंने छात्र-छात्राओं की गणित, विज्ञान और अंग्रजी विषय की काफी चैक की। श्रीमती मैथिल ने संस्था के शौचालयों का भी निरीक्षण किया। जिस पर  शौचालय साफ-स्वच्छ पाए गए।                        
माध्यमिक  शिक्षक निलंबित
कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक ने खुरई विकासखण्ड स्थित शासकीय उमावि बसाहरी स्कूल का औचक निरीक्षण किया था। निरीक्षण के दौरान माध्यमिक षिक्षक श्रीमती नीता जैन हस्ताक्षर करने के उपरांत प्रतिदिन शाला से जाना बताया गया। यह कृत्य म.प्र. सिविल सेवा आचरण नियम 1965 का उल्लंघन होकर म.प्र. सिविल सेवा वर्गीकरण, नियंत्रण एवं अपील नियम 1966 के तहत कलेक्टर श्रीमती मैथिल के निर्देष पर जिला षिक्षा अधिकारी डा. महेन्द्र प्रताप तिवारी ने तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है।निलंबन अवधि में श्रीमती जैन का मुख्यालय विकासखण्ड षिक्षा अधिकारी केसली रहेगा। संबंधित को निलंबन अवधि में नियमानुसार जीवन निर्वाह भत्ते की पात्रता होगी।

ननकाना साहिब में लगे नारो को इटेलियन भाषा मे ट्रांसलेट करके सोनिया/राहुल को पढवाये,सिक्खों कादर्द पता चलेगा :भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा

ननकाना साहिब में लगे नारो को इटेलियन भाषा मे ट्रांसलेट करके सोनिया/राहुल को पढवाये,सिक्खों कादर्द पता चलेगा :भाजपा  प्रवक्ता संबित पात्रा 
 प्रबुद्धजन संगोष्ठी में नागरिकता संशोधन बिल पर कीबातचीत
सागर। भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता साबित पात्रा ने कहा है कि पाक में ननकाना साहिब में हुई घटना और नारेबाजी को राहुल सोनिया समझ नही  पाए । अल्पसंख्यको के साथ पड़ोसी देश कैसा बर्ताव कर  रहे है । दोनो के मन मे ग्लानि के भाव भी नही आते। हम  उनको अधिकार देने का काम कर रहे है। संबित आज सागर में मीडिया से चर्चा कर रहे थे।
राहुल ने GST को पढा और CAA पर बोले
राहुल गांधी के इस बयान पर  CAA/NPR टैक्स है । इस पर कहा कि राहुल गांधी को सिर्फ विरोध करना  आता है । राहुल GST का विरोध करने का पाठ पढ़ कर आये थे। इसलिए वे इनको टैक्स बताते जीएसटी से तुलना कर गए।
नारे इटली भाषा मे ट्रांसलेट कराकर बताए ताकि इनको दर्द समझ मे आये
पाक में  सिख के खिलाफ नारेबाजी की घटनाओं पर संबित पात्रा ने कहा कि ईंन नारो को कोई इटेलियन भाषा मे ट्रांसलेट करे और इनको दिखाए सुनाए। किस प्रकार की प्रताड़ना अल्पशख़्यक पाक में झेल रहे है। इससे बड़ा कोई प्रमाण नही मिलेगा। इसको राहुल समझे।
उन्होंने स्व राजीव गांधी का जिक्र करते हुए कहा कि राजीव जी पर सिखों की हत्या का आरोप है आज पाक की घटनाएओ का दर्द  मा बेटा(राहुल सोनिया) क्यो समझेंगे। इनका दर्द तो मोदी ने समझा है।
कैलाश विजयवर्गीय तो भाजपा के दमकल  
इंदौर में भाजपा नेेताआ केेलाश  विजयवर्गीय   के आग लगाने वालेबयान पर संबित पात्रा ने कहा कि कैलाश जी ऐसा नही कर सकते है । वो तो आग बुझाने वालो में गिने जाते है। वे तो भाजपा के दमकल है।
साबित पात्रा  आज सागर में बुद्धिजीवी वर्ग से नागरिकता कानून के समर्थन में चर्चा करने आये थे।
महात्मा गांधी के सिद्धांतो का पालन कर रहे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी - संबित पात्रा
 प्रबुद्धजन संगोष्ठी में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून का नवां संशोधन में स्पष्ट कहा गया है कि पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश ये हमारे पड़ोसी इस्लामिक देश है इन तीनों इस्लामिक देशों में धर्म के नाम पर जिन अल्पसंख्यको के ऊपर प्रताड़ना होती है उन अल्पसंख्यको में से जो अल्पसंख्यक 21 दिसम्बर 2014 तक हिन्दुस्तान आ गये है उनको हम नागरिकता देंगे। इन तीनों देशों के सभी अल्पसंख्यक हिन्दु, सिख, जैन, बौद्ध, पारसी और इसाई जो इन देशों में धर्म के नाम पर सताये जाते है। हिन्दुस्तान का ये कत्र्तव्य बनता है कि हम उनको नागरिकता दें और इस संशोधन के माध्यम से हम नागरिकता देने का कार्य कर रहे है। उन्होंने कहा कि जब हिन्दुस्तान का विभाजन हुआ था जो वह धर्म को आधार बनाकर इसे दो खंडो में बांटा गया था और उस समय प्रधानमंत्री पं. जवाहरलाल नेहरू और पाकिस्तान के राष्ट्राध्यक्ष लियाकत अली के बीच में समझौता हुआ था कि 1950 में यह कहा कि अपने राष्ट्र में जो अल्पसंख्यक है उनकी रक्षा करेंगे। परंतु अफसोस की बात है कि हुअ इस तरह कि भारत ने तो अल्पसंख्यको की रक्षा की परंतु पाकिस्तान एवं अन्य पड़ोसी देशो में अल्पसंख्यक को प्रताड़ना देने का काम किया गया और यही कारण है कि दिनो दिन उन देशों में अल्पसंख्यको की संख्या में गिरावट आयी। जबकि हिन्दुस्तान में अल्पसंख्यको की जनसंख्या में बढ़ोतरी हुई। उन्होंने कहा कि अभी हाल ही में पाकिस्तान में सिखों के धर्मगुरू के स्थान गुरूद्वारे पर हमला किया गया और सिखो की बेटियों को निकाह के लिये मजबूर कर धर्मांतरण का काम किया गया। उन्होंने कहा कि जो हस्ताक्षर उस समय नेहरू जी और लियाकत अली ने किया था उसे आज देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने पूरा किया है। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी जी ने 1947 में अपनी प्रार्थना सभा में स्पष्टता के साथ कहा था कि हिन्दुस्तान का फर्ज बनता है कि कोई भी हिन्दु भाई जो पाकिस्तान से प्रताड़ित होकर भारत में आता है उसकी नागरिकता की चिंता, नौकरी, रहने की चिंता देश की होनी चाहिये। परंतु इतने गांधी परिवार के प्रधानमंत्री आने के बाद भी महात्मा गांधी की बात को नहीं मानता है और बड़े गौरव की बात है कि महात्मा गांधी के सिद्धांतो को मानने की कोई चिंता कर रहा है तो वह देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी है।
प्रबुद्धजन संगोष्ठी का संचालन संयोजक डाॅ. अनिल तिवारी और आभार जिला अध्यक्ष प्रभुदयाल पटैल ने माना।  
ये रहे मौजूद
संगोष्ठी में सागर सांसद राजबहादुर सिंह, संभागीय संगठन मंत्री केशव सिंह भदौरिया, खुरई विधायक भूपेन्द्र सिंह, प्रदीप लारिया, शैलेन्द्र जैन, महेश राय, डाॅ. अनिल तिवारी, अभिषेक भार्गव,डॉ सुशील तिवारी, नारायण कबीर पंथी,अनुराग प्यासी, लक्ष्मण सिंह, सुधीर यादव , सुखदेव मिश्रा, गौरव सिरोठिया,शैलेष केशरवानी, राजेश सैनी, प्रदीप राजौरिया, जगन्नाथ गुरैया,अर्पित पांडे,नवीन भट्ट, श्याम तिवारी, डाॅ. एन के जैन, इन्दु चैधरी, डाॅ. ओ.पी. शिल्पी, के.वी.एस. ठाकुर,  तेजी सिंह राजपूत, श्रीमती संध्या भार्गव, हरिनारायण यादव, जाहर सिंह, सुषमा यादव, विनी पटैरिया, नईमखान, आदि शामिल हुये।

महिलाओं की सुरक्षा के लिए अब पिंक निर्भया मोबाइल,आई जी /एसपी ने दिखाई हरी झंडी

महिलाओं की सुरक्षा के लिए अब पिंक निर्भया मोबाइल,आई जी /एसपी ने दिखाई हरी झंडी
सागर।महिलाओं की सुरक्षा मजबूत बनाने हेतु वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों द्वारा लगातार  प्रयास किया जाता रहा है इसी  तारतम्य में आज सागर में चलने वाली निर्भया मोबाइल को नए रूप में एवं अतिरिक्त महिला पुलिस स्टाफ प्रदाय कर पुलिस महानिरीक्षक सागर जोन सागर सतीश सक्सेना एंव पुलिस अधीक्षक  अमित सांघी द्वारा हरी झंडी दिखाकर पुलिस कंट्रोल रूम से रवाना किया गया ।
ये रहेगी कार्यशैली निर्भया मोबाइल की
 निर्भया मोबाइल लगातार दिन में सुबह 8:00 से रात्रि 9:00 तक फील्ड में रहकर भ्रमण करेगी । इस निर्भया मोबाईल में वाहन चालक भी महिला कर्मचारी को बनाया गया है। भ्रमण के दौरान स्कूल कालेज कोचिंग संस्थान खुलने एवं बंद होने के समय तथा अधिकांश उन स्थानों पर भ्रमण करेगी जहां पर महिलाओं का आवागमन अधिकतम होता है । इस दौरान निर्भया मोबाइल छात्राओं एवं महिलाओं से संपर्क कर उनका फीडबैक लेंगे तथा महिलाओं एवं बालिकाओं की शहर के विभिन्न क्षेत्रों में जन चौपाल भी आयोजित कराएंगे जिससे उनकी समस्याओ को समझा जा सके एंव दूर किया जा सके । निर्भया मोबाइल में सतत सम्पर्क कन्ट्रोल रूम एंव वरिष्ठ अधिकारियों से बनाये रखने हेतु वायरलैस सेट लगाया गया है इसके अतिरिक्त एक मोबाईल फोन भी इसमे रखा गया है जिससे महिलाओं एंव बालिकाओ को यदि सीधे संपर्क करना हो तो इस नम्बर पर बात कर किसी भी विपरीत परिस्थितियों में  सहायता हेतु बुला सकती है। मोबाईल नंबर 9479997555 पर कोई भी महिला या बच्ची पुलिस सहायता के लिए निर्भया मोबाईल को सम्पर्क कर सकती है। पुलिस अधीक्षक द्वारा बताया गया कि अगले चरण में निर्भया मोबाईल में सीसीटीवी केमरा भी लगाया जाएगा जिससे असामाजिक तत्वों पर नज़र रखी जा सके।
इसके साथ ही शहर में चलने वाली 3 शक्ति मोबाइल में भी महिला स्टाफ बढ़ाकर एंव उनके भ्रमण का क्षेत्र निश्चित कर रवाना किया गया ।
महिलाओं की सुरक्षा हेतु अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक  राजेश व्यास द्वारा निर्भया एंव शक्ति मोबाइल में लगे स्टाफ को निर्देश दिए एंव विभिन्न तरीके भी बताए  कैसे हमे महिलाओं की सुरक्षा शुनिश्चित करनी है।प्रत्येक शक्ति मोबाइल के पास भी संचार हेतु वायरलैस सेट दिया गया है जिससे वह लगातार कंट्रोल रूम से संपर्क में बनी रहे एंव वरिस्ठ अधिकारियो के निर्देशो क त्वरित पालन कर सके।

नाबालिग से बलात्कार की कोशिश करने वाला आरोपी को पाँच साल की सजा

नाबालिग से बलात्कार की कोशिश करने वाला आरोपी को पाँच साल की सजा
सागर। नाबालिग से बलात्कार की कोशिश करने वाले आरोपी सलकू उर्फ सालकराम पिता प्रभू लोधी उम्र 35 वर्ष निवासी-ग्राम बम्हनी गौरझामर थाना गौरझामर जिला सागर को माननीय अपर सत्र न्यायाधीश रघुवीर प्रसाद पटेल देवरी जिला सागर की अदालत ने 05 वर्ष  के सश्रम कारावास तथा 1000 रूपये के अर्थदण्ड से दण्डित किया। अभियोजन की ओर से मामले की पैरवी कपिल पांडे सहायक जिला अभियोजन अधिकारी देवरी ने की।
जिला अभियोजन कार्यालय के मीडिया प्रभारी श्री सौरभ डिम्हा ने बताया दिनांक 14.09.2017 को अभियोक्त्री अन्य लडके लडकियो के साथ जीप से स्कूल गई थी, स्कूल से 5ः30 बजे बमनी पहुंची। जीप से उतरकर अपने घर जा रही थी रास्ते में इमली के पेड़ के पास आरोपी सलकू उर्फ सालकराम पिता प्रभू लोधी उम्र 35 वर्ष निवासी-ग्राम बम्हनी गौरझामर थाना गौरझामर जिला सागर मिला उससे बोला साथ चलो टाॅफी दिलाउंगा। उसे खेत पर ले गया और उसके साथ अश्लील हरकत करने लगा अभियोक्त्री चिल्लाई तो उसका मुंह दबाकर पकड़ लिया तभी अभियोक्त्री के दादा पहुंच गये जिन्हें देखकर आरोपी भाग गया। अभियोक्त्री को उसके दादा घर लेकर आए जहाॅं अभियोक्त्री ने घटना की जानकारी अपने माता पिता व दादी को दी। घटना की रिपोर्ट पर से थाना गौरझामर में आरोपी के विरूद्ध अपराध पंजीबद्ध किया गया। सम्पूर्ण विवेचना उपरांत अभियोग पत्र न्यायालय में प्रस्तुत किया गया। विचारण के दौरान अभियोजन ने अपना मामला युक्तियुक्त संदेह के परे प्रमाणित किया जिसके आधार पर माननीय अपर सत्र न्यायाधीश रघुवीर प्रसाद पटेल देवरी जिला सागर की अदालत ने अभियुक्त सलकू उर्फ सालकराम को लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम 2012 की धारा 10 में दोषी पाते हुए 05 वर्ष के सश्रम कारावास एवं 1000 रूपये जुर्माने से दंडित किया।

ट्रेनी एयर क्राफ्ट दुर्घटनाग्रस्त,पायलट और ट्रेनी की मौत,सीएम कमलनाथ और नेताप्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने जताया शोक

ट्रेनी एयर क्राफ्ट दुर्घटनाग्रस्त,पायलट और ट्रेनी  की मौत,सीएम कमलनाथ और नेताप्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने जताया शोक 
सागर । सागर जिले के ढाना स्थित चाइम्स एविएशन एकेडमी का ट्रेनी  प्रशिक्षु विमान  भारी कोहरा के कारण हवाई पट्टी का पास दुर्घटनाग्रस्त होगया और  एक खेत मे जा गिरा। इसमे इंस्ट्रक्टर /पायलट अशोक मकवाना और ट्रेनी पीयूष चंदेल की मौत हो गई। पुलिस मामले की जांच कर रही है। इस घटना पर सीएम कमलनाथ और नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने दुख जताया है। म्रतक मुंबई के बताए जाते है।
सागर में  कड़ाके की ठंड के चलते शाम से ही घना कोहरा बना हुआ है । ढाना एयर स्ट्रिप पर चाईम्स एविएशन अकेडमी  पायलट ट्रेनिंग करीब चौदह सालों से दे रहा है। इसी ट्रेनिग के दौरान शुक्रवार की रात्रि में नाईट फ्लाईंग के समय   एक ट्रेनी विमान  प्रशिक्षण के दौरान हवाई पट्टी  के बगल में एक खेत में जा गिरा। संभवतया घना कोहरा होने के कारण पायलट को एयर स्ट्रिप  नही  दिखी।  इस हादसे में उसमें इंस्ट्रक्टर पायलेटअशोक मकवाना और ट्रेनी पीयूष चंदेल  की घायल हो गए। जिन्हें इलाज के लिए तत्काल  सागर के एक निजी चिकित्सालय ले जाया गया । जहां पर दोनों को मृत घोषित कर दिया गया।पुलिस अधीक्षक अमित सांघी ने मौत की पुष्टि की है।
उल्लेखनीय है कुछ साल पहले   एक  ऐसा ही ट्रेनी विमान जबलपुर के बरगी डैम में गिर गया था ।उसमें भी एक प्रशिक्षु पायलट की मौत हो गई थी।
सीएम कमलनाथ  ढाना में ट्रेनी एयर क्राफ्ट के दुर्घटनाग्रस्त होने पर  ट्वीट किया कि
सीएम कमलनाथ का  ट्वीट 
प्रदेश के सागर की ढाना हवाई पट्टी पर एक विमान हादसे में दो प्रशिक्षु पायलेट की मौत का दुःखद समाचार प्राप्त हुआ।परिवार के प्रति मेरी शोक संवेदनाएँ।ईश्वर उन्हें अपने श्रीचरणो में स्थान व पीछे परिजनो को यह दुःख सहने की शक्ति प्रदान करे।

वही नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने अपने ट्वीट में लिखा कि मेरे विधानसभा क्षेत्र रहली में यह हादसा हुआ है। 
उन्होंने ट्वीट किया कि
मेरी विधानसभा के ढाना हवाई पट्टी पर विमान हादसे का समाचार मिला। विमान हादसे में प्रशिक्षु पायलेट श्री अशोक मकवाना और श्री पीयूष चंदेल की मौत हो गयी है। हादसे में मृत लोगों के परिजनों और मित्रों के प्रति मेरी संवेदनाएं। परमात्मा इस दुख की घड़ी में उन्हें साहस और शक्ति दे।

शुक्रवार, 3 जनवरी 2020

सोच में परिवर्तन लायें, मध्यप्रदेश की प्रोफाइल बदलें, ई गवर्नेंस से वी गवर्नेंस पर जायें,मुख्यमंत्री कमल नाथ ने गिनाई सरकार की प्राथमिकताएँ

सोच में परिवर्तन लायें, मध्यप्रदेश की प्रोफाइल बदलें, ई गवर्नेंस से वी गवर्नेंस पर जायें,मुख्यमंत्री कमल नाथ ने गिनाई सरकार की प्राथमिकताएँ 

भोपाल  । मुख्यमंत्री कमल नाथ ने आज यहां मंत्रालय में वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों के साथ नए वर्ष की पहली बैठक में नव वर्ष की बधाई देते हुए सरकार की प्राथमिकताओं पर चर्चा की। मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि सरकार अब एक साल पुरानी हो गई है। प्रशासनिक तंत्र को सरकार की सोच स्पष्ट हो गई है। उन्होंने कहा कि सभी ने सरकार को आजमा लिया है। उन्होंने कहा कि हर सरकार और मुख्यमंत्री की अपनी दृष्टि और कार्यशैली होती है और प्रशासन तंत्र के भी अपने तौर तरीके होते हैं। मुख्यमंत्री ने नए साल में सरकार की प्राथमिकताएँ गिनाते हुए कहा कि सबसे ज्यादा जरूरी सोच में परिवर्तन लाना। सोच में परिवर्तन से ही मध्यप्रदेश की नई पहचान बनेगी। उन्होंने कहा कि सरकार की सोच और प्रशासनिक तंत्र के काम करने के तरीके में अंतर नहीं होना चाहिए। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि देश में अंग्रेजों ने जो प्रशासन के तौर तरीके सिखाए थे अब उनमें बदलाव आ गया है। अंग्रेजों ने केवल राज्य के हितों की सुरक्षा करना सिखाया था। आज आम नागरिकों, उपभोक्ताओं, हितग्राहियों के हितों की रक्षा को प्राथमिकता मिल रही है। उन्होंने कहा कि सरकार को अब पूरी जवाबदेही के साथ अब मित्रवत और सहयोगी बनने की जरूरत है । समय के साथ चलते हुए नियम, कानून, प्रक्रियाओं में भी आवश्यक परिवर्तन लाने पर विचार करने और स्वप्रेरणा से सुझाव देने का आग्रह किया । उन्होंने कहा कि कई योजनाएँ बजट की कमी और कई अन्य कारणों से अधूरी रह जाती है । कई योजनाएँ केन्द्र सरकार के पास लम्बित पड़ी रहती है । इन पर प्राथमिकता से ध्यान दें। केन्द्र की योजनाओं का भरपूर लाभ लें और बाधाओं को दूर करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि हम समय नहीं बदल सकते लेकिन समय हमें जरूर बदल देगा इसलिए समय के साथ आगे बढ़ना और प्रदेश को आगे ले जाने के लिए काम करें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश की प्रोफाइल को कैसे बदलना इस पर मिलकर काम करने की आवश्यकता है। प्रदेश में विश्वास और आत्मविश्वास का वातावरण बने और देश में मध्यप्रदेश की नई पहचान बने । मुख्यमंत्री ने कहा कि शासन - प्रशासन में सुधार लाना सबसे बड़ी चुनौती है। यह वरिष्ठ स्तर से शूरू होकर निचले स्तर तक जाती है। इस प्रक्रिया में हर विभाग का योगदान और भूमिका होनी चाहिए। 
श्री नाथ ने कहा कि हर विभाग को यह भी देखना होगा की अन्य राज्यों में उसके क्षेत्र से संबंधित कौन सी नये परिवर्तन हो रहे है। दूसरों की सफलताओं और असफलताओं से सीख ले। उन्होंने कहा इसके लिए हर विभाग में एक समीक्षा प्रकोष्ठ बनाए और अपना दृष्टि पत्र बनाए। केन्द्र सरकार में लम्बित योजनाओं का समाधान करने के लिए सिर्फ पत्राचार करने की औपचारिकता में न पड़े बल्कि संबंधित अधिकारियों से सतत संपर्क करें और समाधान निकाले ताकि केन्द्र के बजट प्रावधानों और योजनाओं पूरा लाभ प्रदेश को मिले। 
ई-गवर्नेंस से वी-गवर्नेंस
मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से कहा कि सेवा प्रदाय व्यवस्थाओं को सक्षम बनाने पर ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है ताकि आम नागरिकों को इसका भरपूर लाभ दिला सकें। सेवा प्रदाय व्यवस्था होगी जितनी प्रभावी होगी उतना ही प्रभावी प्रशासन होगा। उन्होंने कहा कि अब ई-गवर्नेंस से वी-गवर्नेंस पर जाने की आवश्यकता है। पुरानी व्यवस्थाओं की समीक्षा कर और अप्रभावी व्यवस्थाओं में परिवर्तन कर सक्षम बनाए। उन्होंने कहा कि हर परिवर्तन में थोड़ा नुकसान होता है लेकिन थोड़े नुकसान के लिए बड़े फायदे की अनदेखी करना ठीक नहीं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि जनजातीय कल्याण और वन संपदा संरक्षण सरकार की महत्वपूर्ण प्राथमिकताओं में से है। अन्य राज्यों में हो रहे अच्छे कामों का भी अध्ययन करें। परिवर्तन और समय के साथ नहीं बदलने का नजरिया ठीक नहीं। हर विभाग में एक समिति गठित करे जो अन्य राज्यों में हो रहे अच्छे कामों का अध्ययन करें।
मुख्यमंत्री ने कहा कि उद्योग के क्षेत्र में अविलम्ब त्वरित स्वीकृति देने की व्यवस्था अमल में लायें ताकि निवेशकों को भटकना न पड़े और औपचारिकताएँ जल्दी पूरी हो जाए। स्वच्छ शहरों की चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इंदौर और भोपाल की तारीफ होती है । इससे आगे अब यह सोचना होगा कि स्वच्छता के क्षेत्र में कौन से नए आयाम जोड़े जा सकते है। मुख्यमंत्री ने कहा कि शहरों का सौंदर्य बढ़ाने के उददेश्य से नोटिफाइड सड़कों के किनारे बनी बड़ी सरकारी और गैर सरकारी इमारतों में लिए अनिवार्य रूप से पेंटिंग करने के प्रावधान पर विचार करते हुए कानून बनाने पर भी विचार चल रहा है। उन्होंने कहा कि नजरिए में परिवर्तन लाने की दिशा में छोटा सा प्रयास होगा।
भूमि प्रबंधन प्राधिकरण गठित होगा
मुख्यमंत्री ने विभिन्न विभागों के स्वामित्व में पड़ी अनुपयोगी जमीनों को लोक हित में उपयोग करने के उद्देश्य से भूमि प्रबंधन प्राधिकरण गठित करने की भी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि हर विभाग इस बात की समीक्षा करे कि कितनी जमीन उसके उपयोग की है और कितनी अनुपयोगी पड़ी है। उन्होंने कहा कि ऐसी जमीनों पर गरीबों के आवास निर्माण जैसी योजनाएँ बनाई जा सकती है। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि विभागों को जमीन के स्वामित्व को लेकर अतिसंवेदनशील होने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि ऐसी जमीनों का उपयोग अंतत: लोक हित में ही होगा। उन्होंने भेल के पास सरकार की जमीन का हवाला देते हुए कहा कि इसका उपयोग न तो सरकार कर पा रही है न ही भेल प्रबंधन कर पा रहा है। विभाग अपने पास उपलब्ध जमीनों का उपयोग करे या उनका उपयोग होने दे।
एक सप्ताह में कर्मचारी चयन आयोग
मुख्यमंत्री ने कहा कि अगले एक सप्ताह में कर्मचारी चयन आयोग काम करना शुरू कर दे। इसकी सभी औपचारिकाएँ पूरी कर ले। कौशल उन्नयन के संबंध में उन्होंने कहा कि कौशल उन्नयन के काम में कितनी सफलता मिली इसका आकलन करना जरूरी है कौन सा कौशल रोजगार के लिए उपयोगी है इसकी प्राथमिकता तय कर ले। प्रदेश के लिए कौन-कौन से कौशल जरूरी है उन पर ध्यान दे। आर्थिक गतिविधि को प्रोत्साहित करने के लिए पूरा सहयोग करे।
मुख्यमंत्री ने किसानों की ऋण माफी का दूसरे चरण की शुरूआत की चर्चा करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश को न सिर्फ भारत का बल्कि विश्व का उद्यानिकी राजधानी बनने संभावनाएँ है। इस संभावनाओं को पूरा दोहन करे। फ्लोरीकल्चर की बहुत गुंजाइश है । इस क्षेत्र से खाद्य संस्करण अभिन्न रूप से जुड़ा क्षेत्र है। उन्होंने कहा कि अब मिलकर यह प्रयास करना है कि मध्यप्रदेश को दुनिया में हो रहे परिवर्तन से कैसे जोड़ा जाए। उन्होंने कहा कि परिवर्तन अपनी गति से जारी रहेगा। यदि परिवर्तन के साथ कदम ताल नहीं की तो पीछे छूट जाएंगे। 
शिक्षा के संबंध में मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में बहुत ज्यादा काम करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि अभी गुणवत्ता में महाविद्यालयों से लेकर प्राथमिक स्तर पर बहुत कमी है । इसका स्तर बढ़ाने की आवश्यकता है । इसके लिए रणनीतिक प्रयासों को बढ़ाना होगा। प्राथमिक शालाओं से शुरूआत करनी पड़ेगी। उन्होंने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में बहुत बड़ा बजट खर्च होता है लेकिन गुणवत्ता नहीं बढ़ने से उसका फायदा भाविष्य के लिए नहीं मिल पाता । 
मिलावटी दवाई बनाने वाली दवा कंपनियों के विरूद्ध अभियान
स्वास्थ्य के क्षेत्र की प्राथमिकता की चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रत्येक प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में आयुर्वेदिक डॉक्टर की पद स्थापना करने, आयुष्मान जैसी योजनाओं का अधिकाधिक उपयोग करने की दिशा में भी काम करने की आवश्कयता है। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि विभागीय बजट की राशि का उपयोग जनवरी, फरवरी, मार्च महीने में करने का चलन सा बन गया है । इस प्रवत्ति से बचने की आवश्यकता है। शुद्ध के लिए युद्ध अभियान की चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि शुद्ध के लिए युद्ध करने की स्थिति बनना अपने आप में अप्रिय है। उन्होंने कहा कि अब मिलावटी दवाई बनाने वाली दवा कंपनियों के विरूद्ध अभियान चलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि लोगों के हित के लिए मध्यप्रदेश को शुद्धता का प्रदेश बनाने के लिए प्रतिबद्ध है। इसी प्रकार माफिया का अंत करने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि कानून का उल्लंघन करने वालों को अचानक माफिया घोषित करना ठीक नहीं। माफिया एक संगठित लोगों का समूह होता है । सरकार माफिया को बर्दाश्त नहीं करेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार को सहयोगी रूख अपनाते हुए वन क्षेत्रों में रह रहे जनजातीय समाज को उनका अधिकार देने के कदम बढ़ाना होगा, आगे बढ़कर काम करना होगा। सबूत होते हुए ऐसे गरीब लोगों से रिकार्ड माँगना और लकीर के फकीर बने रहने की प्रवृत्ति ठीक नहीं है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कुपोषण मिटाना प्राथमिकताओं में से एक है इसके अलावा प्रदेश के पर्यटन में अत्यधिक संभावनाओं को देखते हुए उसे आगे बढ़ाने के लिए काम करना होगा। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में अन्य राज्यों की तुलना से ज्यादा संभावनाएँ जैसे हेरिटेस्ज टूरिज्म में कई राज्यों से प्रदेश आगे निकल सकता है।

श्री गणेश संस्कृत विद्यालय गढाकोटा के 5 छात्र प्रावीण्य सूची में, शिक्षा मंत्री ने किया संम्मानित

श्री गणेश संस्कृत विद्यालय गढाकोटा के 5 छात्र प्रावीण्य सूची में, शिक्षा मंत्री ने किया संम्मानित
 #नेता प्रतिपक्ष  ने  2008 में शुरू किया निःशुल्क संस्कृत विद्यालय
भोपाल। मध्य प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष  गोपाल भार्गव द्वारा संस्कृति और संस्कृत को संवर्द्धन को लेकर गढ़ाकोटा में चलाये जा रहे निःशुल्क श्री गणेश संस्कृत विद्यालय के 5 छात्रों को महर्षि पतंजलि संस्कृत संस्थान ने  शुक्रवार को संस्कृत पूर्व मध्यमा( दसवीं) की परीक्षा में प्रदेश की प्रावीण्य सूची के आने पर आये विद्यार्थियों को सम्मानित किया है। कार्यक्रम में स्कूल शिक्षा मंत्री प्रभुराम चौधरी एवं स्कूल शिक्षा विभाग की प्रमुख सचिव श्रीमती नीलम शमी ने विद्यार्थियों को प्रशस्ति पत्र के साथ प्रोत्साहन राशि के चेक देकर सम्मानित किया। विद्यालय के छात्र श्री रमाकांत दुबे ने प्रावीण्य सूची में पहला स्थान प्राप्त किया है। 
नेता प्रतिपक्ष ने विद्यार्थियों को दी बधाई
नेता प्रतिपक्ष  गोपाल भार्गव ने छात्रों के सम्मानित होने पर उन्हें आज भोपाल स्थित निवास पर बधाई दी। उन्होंने छात्रों और विद्यालय के शिक्षकों की हौसला बढ़ाते हुए कहा कि ऐसे सार्थक परिणाम जहां एक ओर अधिक काम करने के लिए मुझे प्रेरणा और ऊर्जा देते हैं, वहीं आत्मसंतुष्टि की अनुभूति भी प्रदान करते हैं। विगत ग्यारह वर्षों की मेरी इस साधना को विद्यालय के विद्यार्थियों ने इस वर्ष सार्थकता प्रदान की है। इस दौरान छात्रों के साथ विद्यालय के शिक्षक श्री 
नेता प्रतिपक्ष श्री भार्गव की मेहनत रंग लाई
भारतीय सनातन संस्कृति और संस्कृत को बढ़ावा देने के लिए मध्यप्रदेश विधान सभा में नेता प्रतिपक्ष श्री गोपाल भार्गव नें 2008 में गढ़ाकोटा स्थित प्राचीन श्री गणेश मंदिर मे श्री गणेश संस्कृत विद्यालय प्रारंभ किया था। इस विद्यालय मे अध्ययनरत विद्यार्थियों हेतु आवास,वस्त्र, भोजन, व शिक्षा पूर्णतः निःशुल्क प्रदान की जाती है। संस्कृत, संस्कृति, वेद, कर्मकांड इत्यादि के साथ साथ विद्यार्थियों को अन्य सभी लौकिक विषयों विज्ञान, अंग्रेजी, गणित, इत्यादि की भी शिक्षा दी जाती है। 
इन छात्रों को मिले प्रमाणपत्र के साथ प्रोत्साहन राशि
सम्मान समारोह में स्कूल शिक्षा मंत्री  प्रभुराम चौधरी विशिष्ट अतिथि थे। श्री चौधरी ने श्री गणेश संस्कृत विद्यालय के चयनित छात्रों को प्रशस्तिपत्र के साथ प्रोत्साहन राशि देकर सम्मानित किया है। सम्मानित होने वाले छात्रों में प्रावीण्य सूची में प्रथम स्थान प्राप्त करने पर रमाकांत दुबे को प्रशस्तिपत्र के साथ 25 हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि का चेक तथा प्रावीण्य सूची में अन्य स्थान प्राप्त करने पर विद्यालय के छात्र रितिक रोशन तिवारी को 24 हजार, आशीष समदरिया को 21 हजार, सुनील कुमार गंगेले को 20 हजार और राज दुबे को 19 हजार की प्रोत्साहन राशि के साथ प्रशस्तिपत्र मिला है।

निगम के बड़े बकाया दारों की कुर्की ,पीएम आवास वितरण में लापरवाही पर कानूनी कार्यवाही,कमिश्नर/कलेक्टर ने ली बैठक

निगम के बड़े बकाया दारों की कुर्की ,पीएम आवास वितरण में लापरवाही पर  कानूनी कार्यवाही,कमिश्नर/कलेक्टर ने ली बैठक
सागर ।संभागआयुक्त एवं नगर निगम के नवनियुक्त प्रषासक आनंद कुमार शर्मा ने निगम के अधिकारी/ कर्मचारियों की बैठक लेकर आवष्यक दिषा-निर्देष दिए। इस अवसर पर कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक, नगर निगम कमिष्नर  आरपी अहिरवार, नगर निगम उपायुक्त डा. प्रणयकमल खरे सहित निगम के समस्त विभागांे के अधिकारी उपस्थित थे।
प्रषासक  आनंद कुमार शर्मा ने समस्त विभागों के जिसमें सीवरेज योजना, अमृत योजना, पीएम आवास योजना, टाटा 24ग7 योजना, पेयजल सप्लाई, स्वच्छता, स्वास्थ्य, राजस्व, पीडब्ल्यूडी सहित अन्य विभागों की सूक्ष्मता से आज की स्थिति में जानकारी ली। श्री शर्मा ने स्पष्ट रूप से कहा कि कम समय में शहरवासियों को विष्वास में लेकर शहर का विकास कर सागर का नाम मध्यप्रदेष  के विकास पटल पर दिखाई दे। उन्होंने कहा कि प्रत्येक कार्य हेतु समय-सारणी तैयार की जाए एवं उसी के अनुसार कार्य कर प्रगति को प्रदर्षित किया जाए। उन्हांेने निगम को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने के लिए समस्त प्रकार के करों की वसूली सख्ती से की जाए। साथ ही प्रत्येक वार्ड के 10 बड़े बकाया दारों की सूची सार्वजनिक कर कुर्की की कार्यवाही की जाए।
श्री शर्मा ने स्वच्छता की दृष्टि से पिछले सप्ताह देष में 11 वें नंबर आने पर बधाई देते हुए निर्देषित किया कि अंडर-10 में आने के लिए हमारे लिए कुछ सख्त कदम उठाने होंगे। इसके लिए सोषल मीडिया गु्रप तैयार कर उसमें स्वच्छता संबंधी वीडियो प्रसारित किए जाए। साथ ही होटलों, शादी घरों, अस्पतालों, हाथ ठेला पर व्यवसाय करने वालों को समझाईष देते हुए स्पष्ट कहा जाए कि गंदगी मिलने पर न केवल जुर्माना किया जाए। साथ ही कानूनी कार्यवाही सुनिष्चित की जाए। उन्होंने निर्देष दिए कि शनिवार से पूरे शहर में नगर निगम के अधिकारी एवं संबंधित कर्मचारी प्रातः 6ः30 बजे सड़कांे पर आकर स्वच्छता हेतु जागरूक करें एवं गंदगी फैलाने वालों पर कार्यवाही सुनिष्चित करें। श्री शर्मा ने शहर में चल रहे सभी विकास कार्यों की जानकारी लेते हुए कहा कि सभी कार्य गुणवत्तापूर्ण एवं समय सीमा में पूर्ण किए जाए। उन्होंने शीतला माता मंदिर से मोतीनगर तक पाईपलाईन हेतु 3 दिवस मंे टेण्डर जारी कर कार्य प्रारंभ कराएं। पीएम आवास योजना के समस्त कार्यों की जानकारी लेते हुए कहा कि आवास वितरण में किसी भी प्रकार की लापरवाही होने पर तत्काल प्रभाव से कानूनी कार्यवाही की जाएगी एवं सिर्फ जरूरत मंद व्यक्ति को उक्त योजना का लाभ मिल सके।
टाटा 24ग7 योजना की जानकारी लेते हुए निर्देष दिए कि 325 किलोमीटर की पाईपलाईन एवं संपूर्ण कार्य मार्च 2020 तक पूर्ण करने हेतु प्रतिदिन 1.5 किलोमीटर के हिसाब से कार्य करें। पेयजल हेतु राजघाट पर चलित पंपों के अलावा रिजर्व में अतिरिक्त पंपों की व्यवस्था सुनिष्चित की जाए। जिससे शहरवासियों को पेयजल समस्याओं का सामना न करना पड़ें। उन्होंने कहा कि यह प्रथम बैठक अवष्य है किन्तु इस बैठक से आपके कार्यों की प्रतिदिन समीक्षा की जाएगी।
वार्डो में अतिक्रमण पर निगम अमला जिम्मेदार माना जायेगा:कलेक्टर
कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक ने कहा कि वार्डों में हो रहे अतिक्रमण के लिए पूरे रूप से निगम अमला जिम्मेदार माना जाएगा। सभी आज से ही सुनिष्चित कर लें किस वार्ड में अतिक्रमण किया जा रहा उसकी जानकारी तत्काल प्रषासन को दें। उन्होंने कहा कि यह भी सुनिष्चित करें कि प्रत्येक वार्ड में कौन सी जगह पर पार्क बनाया जा सकता है। प्रत्येक वार्ड में छोटे-छोटे पार्क बनने से हमारे बच्चे खेल सकेंगे एवं बुजुर्ग भी सेर कर सकंेगे। उन्होंने निर्देषित किया कि प्रत्येक वार्ड में गु्रप बनाकर समस्याओं को चिन्हित कर उनको दूर करने हेतु निगम प्रषासन तक जानकारी दें। श्रीमती मैथिल ने पीएम आवास योजना हेतु पात्र हितग्राहियों की सूची एक सप्ताह में बनाकर प्रस्तुत करें जिससे मेनपानी, कनेरादेव में तैयार आवासों को वितरित किया जा सके। 
श्रीमती मैथिल ने स्वच्छता के मामले में स्पष्ट रूप से निर्देष दिए कि समस्त स्वास्थ्य अधिकारी, सफाई दरोगा एवं जनसामान्य भी जागरूक होकर गंदगी फैलाने वालों के वीडियों बनाकर एवं फोटो लेकर उन पर कार्यवाही सुनिष्चित करंे।
बैठक के पूर्व नवनियुक्त प्रषासक एवं संभाग आयुक्त श्री आनंद कुमार शर्मा एवं कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक का निगम कमिष्नर श्री आरपी अहिरवार, उपायुक्त श्री प्रणय कमल खरे सहित समस्त विभागों के अधिकारियों ने पुष्पगुच्छ देकर स्वागत किया।

पुलिस के 46 प्रधान आरक्षक/आरक्षकों के तबादले

पुलिस के 46 प्रधान आरक्षक/आरक्षकों के तबादले
भोपाल ।पुलिस मुख्यालय भोपाल ने 46 प्रधानारक्षको/आरक्षकों के प्रशासकीय आधार पर तबादले किये है। 

भ्रम पैदा करके विपक्ष ने हिंसा कराई,पड़ौसी देशों में प्रताड़ित हुए अल्पसंख्यकों की राहत के लिए है कानून:पूर्व गृहमन्त्री

भ्रम पैदा करके विपक्ष ने हिंसा कराई,पड़ौसी देशों में प्रताड़ित हुए अल्पसंख्यकों की राहत के लिए है कानून:पूर्व गृहमन्त्री
सागर। नागरिकता संशोधन कानून का विरोध वे राजनैतिक दल कर रहे हैं, जो अलग-अलग कारणों से सरकार को घेरना चाहते हैं। इस कानून का विरोध तो एक बहाना है। यह कानून देश की किसी भी जाति, धर्म के खिलाफ नहीं है। बल्कि उन अल्पसंख्याकों को राहत प्रदान करता है, जो तीन पड़ौसी राष्ट्रों से प्रताड़ित होकर भारत आने के लिए मजबूर हुए। यह बात पूर्व गृहमंत्री एवं खुरई विधायक भूपेन्द्र सिंह ने पत्रकार वार्ता में कहीं।
पूर्व गृहमंत्री एवं विधायक भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि विपक्षी दलों द्वारा एक बहुत बड़ी भ्रांति फैलाई जा रही है कि नागरिकता संशोधन कानून देश के मुस्लिम समुदाय के खिलाफ है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और गृहमंत्री श्री अमित शाह सार्वजनिक मंचों से स्पष्ट कर चुके है कि देश में किसी भी धर्म के नागरिक को डरने की जरूरत नहीं है। केन्द्र सरकार सभी को सुरक्षा और समान अधिकार देने के लिए प्रतिवद्ध है। यह संशोधित कानून नागरिकता देने के लिए है, किसी की नागरिकता छीनने के लिए नहीं। जो इस देश के मुसलमान हैं, उन्हे किसी भी तरह से चिंता करने की जरूरत नहीं है। पूर्व गृहमंत्री, विधायक भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि देश के कुछ हिस्सों में नागरिकता संशोधन कानून का जो भी विरोध हो रहा है, वह कुतर्कों के आधार पर हो रहा है। विपक्ष एक भी ऐसा तर्क नहीं दे पा रहा, जो सत्य हो। यह कानून भारत में रहने वाले किसी भी भारतीय से संबंध ही नहीं रखता। इसलिए इसमें विवाद का कोई विषय ही नहीं है। बाबजूद इसे विवादित करके देश को हिंसा की आग में झोंका गया। इससे देश का बहुत नुकसान हो रहा है। दलितों के नाम पर राजनीति करने वाले कांग्रेस सहित दूसरे विपक्षी दलों को सीएए पर घड़ियाली आंसू बहाने से पहले देश में सालों से शरणार्थी का जीवन जी रहे उन दलितों को देखना चाहिए, जिनके जीवन में सीएए नया उजाला लाया है।
पूर्व गृहमंत्री, विधायक भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि धर्म आधारित नागरिकता की शुरूआत भारत विभाजन के समय हुई। विभाजन के पहले भारत में कोई अल्पसंख्यक नहीं था। धर्म आधारित विभाजन के बावजूद भारत ने सबको नागरिकता दी। यहां कोई भेद नहीं रहा। लेकिन पाकिस्तान ने इस्लाम को राजधर्म बनाया। इसलिए पाकिस्तान में हिन्दू, पारसी, सिख आदि अल्पसंख्यक हो गए। विरोध करने वालो के पास इस बात का क्या जवाब है कि पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों की संख्या 23 प्रतिशत थी जो आज 3-7 प्रतिशत रह गई है। इसी प्रकार बांग्लादेश में 22 प्रतिशत थी जो आज 7-8 प्रतिशत हो गई है। पाकिस्तान ने हिन्दू, सिख, जैन के खिलाफ अत्याचार किए लेकिन कांग्रेस और उसके मित्र दल पाकिस्तान के खिलाफ नहीं बोलते बल्कि उन लोगों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं, जो अपनी जान, धर्म तथा अपनी बहन-बेटियों के सम्मान के लिए भारत में शरण मांग रहे हैं।
धर्म के आधार पर हुए देश के बंटवारे को स्वीकार कर कांग्रेस ने जो ऐतिहासिक भूल की थी, उसका परिणाम भुगतने वाले तीन पड़ौसी राष्ट्रों के शरणार्थी अल्पसंख्यकों के हितों की सुरक्षा का उपाय केन्द्र की श्री मोदी सरकार ने कर दिया है। सरकार का यह कदम किसी खास धर्म के विरोध में उठाया कदम नहीं है। दिसम्बर 2019 में संशोधित नागरिकता कानून उक्त अल्पसंख्यक शरणार्थियों को वर्षों के उत्पीड़न से निजात दिलाने के उद्देश्य से लाया गया है। यह कानून उन शरणार्थियों को भारत की नागरिकता देने के संबंध में है, जो 31 दिसम्बर 2014 या उससे पहले से भारत में रह रहे हैं। अभी नागरिक को भारतीय नागरिकता हासिल करने के लिए 11 साल भारत में रहना अनिर्वाय था, जिसे घटाकर छह साल किया गया है। चूंकि इस संशोधन में 31 दिसम्बर, 2014 की तारीख के रूप में एक मियाद तय कर दी गई है, तो नए आव्रजकों को लेकर जताई जा रही चिंता पूरी तरह आधारहीन है। विधेयक उन पर लागू है जिन्हे ''धार्मिकता के आधार पर प्रताड़ित किए जाने के चलते भारत में शरण लेने पर मजबूर होना पड़ा है या बाध्य किया गया है।'' इसका उद्देश्य ऐसे लोगों को अवैध प्रवास पर होने वाली कानूनी कार्यवाही से बचाना है। जबकि वास्तविकता यह है कि नागरिकता संशोधन कानून हमारे सांस्कृतिक मूल्यों से प्रेरित और संविधान की मूल भावना से ओतप्रोत है।
पूर्व गृहमंत्री विधायक भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि विपक्षी दल शासित कुछ राज्यों के मुख्यमंत्री नागरिकता कानून को अपने यहां लागू नहीं करने की बात कहकर देश के संविधान का माखौल उड़ा रहे है। जबकि वे जानते है कि संसद में बने कानून को लागू करना संविधान के अनुच्छेद 256 के तहत हर राज्य का दायित्व है। पत्रकार वर्ता में सांसद  राजबहादुर सिंह, जिला अध्यक्ष प्रभुदयाल पटैल, अनुराग प्यासी, डाॅ. अनिल तिवारी, लक्ष्मणसिंह, सुखदेव मिश्र, राजेश सैनी, प्रदीप राजोरिया, नवीन भट्ट, गौरव सिरोठिया, उमेश हरदया, इन्दु चैधरी, अर्पित पाण्डेय आदि शामिल हुए।

क्या आपको ब्लड प्रेशर है ? ध्यान रखे,ठंड में साइलेंट किलर है ब्लडप्रेशर : डॉ राजेन्द्र चउदा

क्या आपको ब्लड प्रेशर है ? ध्यान रखे,ठंड में साइलेंट किलर है ब्लडप्रेशर :डॉ राजेन्द्र  चउदा
सागर। ब्लड प्रेशर गंभीर बीमारी है। इससे बचने के उपायों / सतर्कताओ केबारे में बता रहे है : डॉ राजेन्द्र चउदा। जानते है क्या है यह बीमारी।
क्या है ब्लड प्रेशर( उच्च रक्तचाप ) ?
जब सिसटोलिक (Systolic) ब्लड प्रेशर 130 mmHg एवं डॉयस्टोलिक (Diastolic) *ब्लड प्रेशर 85 mmHg से ज़्यादा हो।उस स्थिति को उच्च रक्तचाप (Hypertension)कहते हैं।
अगर आप को ब्लड प्रेशर की बीमारी है तो ठंड के मौसम में थोड़ा सावधान रहने की आवश्यकता है।क्योंकि ब्लड प्रेशर को साइलेंट किलर भी कहते हैं।महिलाओं की तुलना में पुरुष वर्ग ज़्यादा प्रभावित होता है
ब्लड प्रेशर का कैसे पता चलता है ?
ब्लड प्रेशर बढ़ने से सिरदर्द , चक्कर आना , चलने में साँस फूलना , सीना दर्द , घबराहट , नाक से खून आना , आँखों में धुंधलापन आना , लकवा आदि की समस्या हो सकती है।
जब आप पहली बार ब्लड प्रेशर की जाँच कराएँ.
पहली बार अगर बी.पी. ज़्यादा आये तो घबराएँ नहीं ।कई बार डाक्टर को देखकर भी BP बढ़ जाता है।(White Coat Hypertension)तीन दिन लगातार अगर बी.पी. बढ़ा मिलता है , तब उच्च रक्तचाप का इलाज शुरू करते हैं।
#बी.पी. चेक कराने के आधा घंटे पहिले से चाय का: डॉ राजेन्द्र चउदाफ़ी ना लें एवं  धूम्रपान भी ना करें।
ब्लड प्रेशर बढ़ने के कारण हैं
अधिकांश लोगों में सभी जाँच कराने के बावजूद बी.पी. बढ़ने का कोई कारण नहीं मिलता।
आनुवांशिक : अगर माँ बाप को बी.पी. की बीमारी है तो बच्चों को इसकी सम्भावना 20 से 25% ज़्यादा बढ़ जाती है।
#तनाव, मोटापा , अधिक मात्रा में नमक का सेवन , गुर्दे की बीमारी , शराब का अत्यधिक सेवन , व्यायाम न करना, थॉयरायड एवं एड्रिनल ग्लेन्ड की बीमारी , तथा कुछ दवाइयाँ जैसे कोर्टिसोन (स्टेरोयड) , गर्भनिरोधक दवाओं का सेवन, दर्द निवारक दवा आदि के सेवन से भी बी.पी. बढ़ जाता है।
#श्वाँस की एवं जोड़ों के दर्द की कुछ आयुर्वेदिक पुड़ियाँ प्रचलित हैं..इनमें कोर्टिसोन (स्टेरोयड) होता है , जिससे हाई बी.पी. एवं शुगर की बीमारी हो जाती है।
उच्च रक्तचाप का S फ़ोर्मूला  क्या है ?
उच्च रक्तचाप से बचने के लिए Salt , Sugar, Stress , Smoking , Sedentary Life , Sprit (Alcohol ) का त्याग करना पड़ेगा।
क्या कहते हैं आँकड़े ?
#शहर एवं गाँव के लगभग 25% लोग इस बीमारी से प्रभावित हैं।
#हार्ट अटैक से होने वाली लगभग 24% मोतें एवं लकवा (ब्रेन हेमोरेज) से होने वाली लगभग 57% मोतें सिर्फ़ और सिर्फ़ ब्लड प्रेशर की बज़ह से होती हैं।अतः आप अपने ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखें।BP को ज़्यादा न बढ़ने दें.
क्योंकि हर 2 mm ब्लडप्रेशर के घटाने से हार्ट अटैक एवं लकवा से होने वाली मृत्यु को 6 से 10% तक कम कर सकते हैं।
तथा केवल 8 mm  डॉयस्टोलिक BP कम करने से हार्ट अटैक को 29% तक एवं लकवा की सम्भावना को 46% तक कम कर सकते हैं।
ब्लड प्रेशर से होने वाले ख़तरे 
आपको अपना ब्लड प्रेशर तो कंट्रोल करना ही है ।साथ में इस बात की निगरानी भी रखना है कि आपके शरीर के मुख्य अंग जैसे ..हार्ट , गुर्दे (Kidney) , आँख , दिमाग़ एवं शरीर की धमनियाँ ब्लड प्रेशर से प्रभावित तो नहीं हो रहीं हैं।
1.ब्लड प्रेशर से हार्ट की माँसपेशियाँ मोटी हो जाती हैं..BP नियंत्रित ना रहने पर हार्ट अटैक एवं हार्ट फ़ेल्यर की सम्भावना बहुत ज़्यादा हो जाती है।
2.लकवा एवं ब्रेन हेमोरेज का मुख्य कारण अनियंत्रित बी.पी. होता है....केवल 10 mm सिसटोलिक बी.पी. बढ़ने से 74% ब्रेन हेमोरेज एवं 43% लकवा की सम्भावना अधिक हो जाती है।
3.ब्लड प्रेशर गुर्दे के ख़राब होने के मुख्य कारणों में से एक है।
4.बी.पी. बढ़ने से आँख़ो के पर्दे की ख़राबी , आँख में लकवा , एवं आँखों में खून तक उतर आता है जिससे अंधापन हो सकता है।अतः बी.पी. के मरीज़ों का नियमित परीक्षण ज़रूरी है।
बी.पी.की बीमारी के घरेलू उपचार क्या हैं 
1.वज़न को संतुलित रखना ।
2.संतुलित आहार , प्रोटीन युक्त भोजन (दूध , दही , पनीर , दालें , अंडे का सफ़ेद  भाग ), अंकुरित अनाज़।
3.हाई फ़ाइबर युक्त भोजन जैसे गेहूँ , ज्वार , बाजरा , ओट्स , हरी पत्तेदार ,रेशेदार सब्ज़ियाँ , सलाद  एवं फल का नियमित सेवन करें.।
4.ओमेगा 3 वाले भोज्य पदार्थ जैसे सरसों , अलसी , बादाम , अखरोट , फ़िश लाभकारी होते हैं ।
5.स्वस्थ रहने के लिए 7 घंटे की पर्याप्त नींद ज़रूरी है।
6.नियमित दिनचर्या , तनाव मुक्त जीवन शैली , योग - व्यायाम , प्राणायाम , मेडिटेशन फ़ायदेमंद है।
7.सुबह का घूमना : 30 से 40 मिनिट्स प्रति दिन हफ़्ते में 5 दिन ज़रूरी है।
8.शराब हफ़्ते में 2 बार छोटे छोटे पेग ले सकते हो ।इससे ज़्यादा नहीं ।
ये ग़लतियाँ ना करें
1.फ़ास्ट फ़ूड ..मेगी , पास्ता , बर्गर , पिज़्ज़ा  ना खायें।
2.खाने में नमक,शक्कर एवं मेंदा  का इस्तेमाल कम करें।
3.वसा (चर्बीयुक्त) भोजन , कड़ाई के तले पदार्थ जैसे समोसा , कचोरी , आलू टिक्की , ब्रेड पकोड़ा आदि से दूर रहें।
4.डढ़ेल तेल एवं उसमें बने पदार्थ अति नुक़सानदायक हैं।
5.मिठाई का कम से कम उपयोग करें।
6.बीड़ी सिगरेट ( धूम्रपान ) से दूर रहें।
7.शराब के अधिक सेवन से बचें।
8.दवाएँ अचानक बंद ना करें..लाइफ़ ईस्टाइल बदलने से एवं वज़न कम करने से दवाओं की मात्रा को कम तथा कई बार बंद भी किया जा सकता है..अपने मन से दवा बंद ना करें।
9.ब्लड प्रेशर की जाँच करवाते समय दवा खाना बंद ना करें...दवा खाते खाते ही BP की जाँच होना चाहिए।
आपके अच्छे स्वास्थ्य की कामना के साथ। कृपया डॉक्टर से परामर्श /परीक्षण के बाद ही इलाज शुरू करे।
डॉ. राजेन्द्र चउदा.MD
सीनियर मेडिसिन विशेषज्ञ,सागर 
•ब्लड प्रेशर •डॉयबिटीज • हृदय रोग
•थॉयरायड • इकोकार्डियोग्राफ़ी

गुरुवार, 2 जनवरी 2020

संजोग समिति का दो दिवसीय सम्मेलन 4 -5 जनवरी को

संजोग समिति का दो दिवसीय सम्मेलन 4 -5 जनवरी को
सागर ।अखिल भारतीय जैन युवक युवती परिचय सम्मेलन संजोग समिति सागर द्वारा 4 और 5 जनवरी को आदर्श गार्डन मोतीनगर तिराहा सागर में आयोजित किया गया है। सम्मेलन की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।
 संजोग समिति के अध्यक्ष ऋषभ जैन गढ़ाकोटा और महामंत्री रजनीश जैन डीसेंट ने बताया की इस वर्ष सम्मेलन की परिचय पुस्तिका में 1200 से अधिक युवक-युवतियों के बायोडाटा प्रकाशित किए गए हैं। इनमें मध्यप्रदेश के अलावा भारत की एक दर्जन राज्यों से प्रविष्टियां सम्मिलित हुई हैं। कुछ ऐसे युवक-युवतियों की प्रविष्टि इस पुस्तक में छपी है जो विदेश में नौकरी कर रहे हैं। समिति के स्वागत अध्यक्ष मुकेश जैन ढाना ने बताया की कार्यक्रम में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव,कैबिनेट मंत्री द्वय गोविंद राजपूत, हर्ष यादव पूर्व मंत्री भूपेंद्र सिंह,सांसद राजबहादुर सिंह, और विधायक शैलेंद्र जैन को आमंत्रित किया गया है।
 समिति के संरक्षक देवेंद्र जेना ने बताया कि दो दिवसीय इस कार्यक्रम में 4 जनवरी को सुबह 11बजे कार्यक्रम की शुरुआत होगी। सम्मेलन का उद्घाटन समाजसेवी इंजीनियर भीष्म जैन करेंगे जबकि दीप प्रज्वलन महेंद्र जैन मयंक जैन पिसी परिवार द्वारा होगा। कार्यक्रम के ध्वजारोहण कर्ता संजय कुमार मनीष जैन  डॉली गारमेंट्स परिवार है। समिति के सदस्य मुकेश खमकुआँ और राकेश निश्चय ने 2 दिन के इस कार्यक्रम में युवक-युवतियों के परिचय कराने के लिए जबलपुर से एक संगीत पार्टी उनका परिचय कराएगी। जो महिला संगीत के साथ से स्टेज पर उनको आमंत्रित किया जाएगा। सभी लोगों से इस परिचय सम्मेलन में उपस्थित होने की अपील समिति के सभी पदाधिकारियों ने की है। समिति के सदस्य  मुकेश मोदी ने बताया कि बाहर से आने वाले अतिथियों को भोजन की व्यवस्था संजोग समिति के द्वारा की गई है इस दौरान समिति के सभी परम संरक्षक, संरक्षक और क्षेत्रीय संयोजक को आमंत्रित किया गया है।

20 रक्षित निरीक्षकों /सूबेदारों के ट्रांसफर

20 रक्षित निरीक्षकों /सूबेदारों के ट्रांसफर
भोपाल। पुलिस मुख्यालय भोपाल ने 20 रक्षित निरीक्षकों/सूबेदारों के ट्रांसफर किये।

कृषि साख सहकारी समिति के प्रशासक भाग चंद जैन को कारण बताओ नोटिस

कृषि साख सहकारी समिति के प्रशासक भाग चंद जैन को कारण बताओ नोटिस 
सागर। सागर जिले की प्राथमिक कृषि साख सहकारी संस्था मर्या. पटना बुजुर्ग की जांच में गंभीर अनियमिततायें प्रकाश में आई जिसमें संस्था के प्रशासक भाग चंद जैन द्वारा विभागीय निर्देषों की अवहेलना करने कर्मचारियों पर समुचित नियंत्रण न होने संस्था का कार्य अवरूद्व होने से किसानों को परेषान होना पड़ रहा है। जिसके संबंध में जिले उप आयुक्त सहकारिता जिला सागर शिव प्रकाष कोषिक द्वारा बताया गया कि उक्त संस्था के प्रषासक श्री भाग चंद जैन को पत्र जारी कर कारण स्पष्ट करने को कहा गया है। श्री जैन का उत्तर प्राप्त होने पर नियमानुसार सख्त कार्यवाही करते हुये प्रषासक को बदलने की कार्यवाही की जायेगी।

कालेज का विकास विद्यार्थियों की सफलता के बिना अधूरा:अमित दुबे,जनभागीदारी समिति अध्यक्ष युवा उत्सव में कॉलेज का बेहतर प्रदर्शन

कालेज का विकास विद्यार्थियों की सफलता के बिना अधूरा:अमित दुबे,जनभागीदारी समिति अध्यक्ष,
युवा उत्सव में कॉलेज का बेहतर प्रदर्शन
सागर । शासकीय कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय सागर में युवा उत्सव में समूह नृत्य बधाई को प्रदेश में द्वितीय स्थान प्राप्त होने पर कार्यक्रम आयोजित किया गया।कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जनभागीदारी अध्यक्ष-अमित रामजी दुबे ने कहा कि आप लोगों ने बधाई नृत्य को प्रदेश स्तर पर पहचान दिलाई इसलिए आप सभी को बधाई। महाविद्यालय के विकास के सभी आयाम विद्यार्थियों की सफलता के बिना अधूरे हैं अतः शिक्षक विद्यार्थियों का नेतृत्व करें जिससे सफल परिणाम सामने आयेंगे। 
प्राचार्य डॉ. जी. एस. रोहित ने कहा कि विद्यार्थियों की सफलता से महाविद्यालय ने अपनी पहचान प्रदेश स्तर पर बनाई है इसके लिए विद्यार्थियों को बधाई और शुभकामनाऐं। कोरियोग्राफर कॉजोल गुप्ता ने राज्यस्तरीय युवा उत्सव के अनुभवों को सबके बीच साझा किया और बताया कि बधाई नृत्य जब स्वच्छता की थीम पर प्रदर्शित किया गया तो सभागार में सभी दर्शक झूम उठे इस अभिनव पहल को सभी ने सराहा।
 राज्यस्तर पर द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाली टीम में शुभम मजूमदार, अंकित आठ्यिा, हूमेर खान, शान्तनु खरे, अंशिका केशरवानी, अंशुल अहिरवार, अंशिका अहिरवार, शालिनी चौधरी थे। कार्यक्रम का संचालन डॉ. अमर कुमार जैन ने किया, आभार डॉ. संदीप सबलोक ने माना। कार्यक्रम में युवा उत्सव प्रभारी डॉ. प्रवीण शर्मा, डॉ. संजीव दुबे, डॉ. संगीता मुखर्जी, डॉ. मधु स्थापक, डॉ. नीलिमेश वर्मा, डॉ. इमराना सिद्धीकी, डॉ. रंजना मिश्रा, डॉ. उमाकान्त स्वर्णकार, डॉ. अर्चना यादव, डॉ. प्राची बरोलिया, डॉ. संदीप तिवारी, डॉ. अंकुर गौतम, डॉ. अशोक पन्या, डॉ. स्वदीप श्रीवास्तव, डॉ. सत्या सोनी सहित विद्यार्थी उपस्थित थे।

एयर मार्शल विभास पांडे वीएसएम ने वायु प्रभारी-अधिकारी रखरखाव के रूप में पदभार संभाला ,सागर में भी है करीबी नाता

एयर मार्शल विभास पांडे वीएसएम ने वायु प्रभारी-अधिकारी रखरखाव के रूप में पदभार संभाला ,सागर में भी है करीबी नाता
सागर।।एयर मार्शल विभास पांडे वीएसएम ने भारतीय वायु सेना के वायु प्रभारी-अधिकारी रखरखाव के रूप में पदभार संभाल लिया है, जो 1 जनवरी, 2020 से प्रभावी हो गया है। उनका सागर से भी करीबी नाता है । एयर मार्शल विभास पांडे सागर आ चुके है।  उनकी बहिन श्री मति ज्योत्स्ना पांडे सागर में FSL में वैज्ञानिक है। जैसे ही यह खबर आई तो सागर में शुभचिंतकों ने प्रसन्नता जाहिर की और शुभकामनाएं दी।
1984 में वायु सेना से जुड़े
एयर मार्शल विभास पांडे 29 अगस्त, 1984 को भारतीय वायु सेना में वैमानिकी अभियंता (मैकेनिकल) के रूप में जुड़े थे। उन्होंने लड़ाकू विमान के साथ भारतीय वायु सेना में अभियांत्रिकी अधिकारी के रूप में अपना करियर शुरू किया था और बाद में उन्होंने परिवहन विमानों एवं हेलिकॉप्टरों से जुड़े रखरखाव कार्यों का भी अनुभव हासिल किया था। उन्होंने फ्लाइट इंजीनियर के रूप में हेलिकॉप्टरों पर लगभग 1200 घंटे तक उड़ने का अनुभव हासिल किया है। वह रोटरी विंग विमानों के लिए वायु सेना परीक्षक भी रह चुके हैं।वह आईआईटी पवई, मुंबई से रिलायबिलिटी इंजीनियरिंग में स्नातकोत्तर हैं। वह कॉलेज ऑफ एयर वारफेयर और नेशनल डिफेंस कॉलेज के भी एक पूर्व विद्यार्थी हैं।
वह 11 बेस रिपेयर डिपो में सीनियर प्रोडक्शन इंजीनियर, कॉलेज ऑफ एयर वारफेयर के वायु आयुध निरीक्षण प्रकोष्ठ, खमरिया, निर्देशन स्टाफ के कमांडिंग ऑफिसर और डब्ल्यूएसी के मुख्यालय में कमान इंजीनियरिंग अधिकारी के पदों पर काम कर चुके हैं। उन्होंने 1 सीआईएमडी के सीओ के रूप में भारतीय वायु सेना में स्वदेशीकरण अभियान का भी नेतृत्व किया है। उन्होंने जिन कुछ महत्वपूर्ण पदों पर काम किया है उनमें एक प्रमुख बेस रिपेयर डिपो की कमान संभालना, ईएसी के मुख्यालय में वरिष्ठ रखरखाव स्टाफ अधिकारी और वायु सेना के मुख्यालय में एसीएएस इंजीनियरिंग (टीएंडएच) के रूप में सेवाएं देना भी शामिल हैं। वर्तमान पदभार संभालने से पहले वह महानिदेशक (विमान) के पद पर कार्यरत थे।
सागर से नाता, जताई प्रसन्नता
एयर मार्शल विभाष पांडे का सागर से करीबी जुड़ाव है।एयर मार्शल विभाष पांडे की बड़ी बहन ज्योत्स्ना पांडे सागर में एफएसएल में वैज्ञानिक  है। इस उपलब्धि पर मित्रों-परिचितों को सूचना मिली तो उनको बधाईया दी। ज्योत्स्ना पांडे ने अपने भाई को बधाईया दी । पूर्व महापौर अभय दरे ने डॉ. ज्योत्सना कोबधाई देनेपहुंचे। डॉ.पांडे ने बताया कि  वैसे तो हमारा परिवार मूलतःजबलपुर का रहने वाला है।माता-पिता के निधन के बाद अब मेरे घर पर ही आते-जाते हैं। दो महीने पहले नवंबर में मेरी बिटिया की शादीमें शामिल होने के लिए वे सागरआए थे। उन्होंने बताया कि विभाष ने जबलपुर के सरकारी इंजीनियरिंगकॉलेज से मेकेनिकल ब्रांच में बी ई की है।

बुधवार, 1 जनवरी 2020

एयर मार्शल विभास पांडे वीएसएम ने वायु प्रभारी-अधिकारी रखरखाव के रूप में पदभार संभाला

एयर मार्शल विभास पांडे वीएसएम ने वायु प्रभारी-अधिकारी रखरखाव के रूप में पदभार संभाला
 PIB Delhi
नई दिल्ली।एयर मार्शल विभास पांडे वीएसएम ने भारतीय वायु सेना के वायु प्रभारी-अधिकारी रखरखाव के रूप में पदभार संभाल लिया है, जो 1 जनवरी, 2020 से प्रभावी हो गया है।
एयर मार्शल विभास पांडे 29 अगस्त, 1984 को भारतीय वायु सेना में वैमानिकी अभियंता (मैकेनिकल) के रूप में जुड़े थे। उन्होंने लड़ाकू विमान के साथ भारतीय वायु सेना में अभियांत्रिकी अधिकारी के रूप में अपना करियर शुरू किया था और बाद में उन्होंने परिवहन विमानों एवं हेलिकॉप्टरों से जुड़े रखरखाव कार्यों का भी अनुभव हासिल किया था। उन्होंने फ्लाइट इंजीनियर के रूप में हेलिकॉप्टरों पर लगभग 1200 घंटे तक उड़ने का अनुभव हासिल किया है। वह रोटरी विंग विमानों के लिए वायु सेना परीक्षक भी रह चुके हैं।
वह आईआईटी पवई, मुंबई से रिलायबिलिटी इंजीनियरिंग में स्नातकोत्तर हैं। वह कॉलेज ऑफ एयर वारफेयर और नेशनल डिफेंस कॉलेज के भी एक पूर्व विद्यार्थी हैं।
वह 11 बेस रिपेयर डिपो में सीनियर प्रोडक्शन इंजीनियर, कॉलेज ऑफ एयर वारफेयर के वायु आयुध निरीक्षण प्रकोष्ठ, खमरिया, निर्देशन स्टाफ के कमांडिंग ऑफिसर और डब्ल्यूएसी के मुख्यालय में कमान इंजीनियरिंग अधिकारी के पदों पर काम कर चुके हैं। उन्होंने 1 सीआईएमडी के सीओ के रूप में भारतीय वायु सेना में स्वदेशीकरण अभियान का भी नेतृत्व किया है। उन्होंने जिन कुछ महत्वपूर्ण पदों पर काम किया है उनमें एक प्रमुख बेस रिपेयर डिपो की कमान संभालना, ईएसी के मुख्यालय में वरिष्ठ रखरखाव स्टाफ अधिकारी और वायु सेना के मुख्यालय में एसीएएस इंजीनियरिंग (टीएंडएच) के रूप में सेवाएं देना भी शामिल हैं। वर्तमान पदभार संभालने से पहले वह महानिदेशक (विमान) के पद पर कार्यरत थे।
 

सागर नगर निगम सहित18 नगरीय निकायों में प्रशासक नियुक्त

सागर नगर निगम सहित18 नगरीय निकायों में प्रशासक नियुक्त
भोपाल :राज्य शासन द्वारा 18 नगरीय निकायों में प्रशासक नियुक्त कर दिये गये हैं। इन निकायों का कार्यकाल समाप्त हो चुका है। प्रशासक नगरीय निकाय का कार्यकाल समाप्त होने की तिथि से आम निर्वाचन सम्पन्न होने और नई परिषद द्वारा कार्यभार ग्रहण करने तक के लिये नियुक्त किये गये हैं।
नगरपालिक निगम सागर के लिये संभागीय आयुक्त सागर, नगरपालिका परिषद बीना-इटावा के लिये अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) बीना-इटावा, खुरई के लिये अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) खुरई, रहली के लिये अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) रहली, गढ़ाकोटा के लिये अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) गढ़ाकोटा, नगरपालिका परिषद देवरी के लिये अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) देवरी, नगर परिषद राहतगढ़ के लिये अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) राहतगढ़, शाहपुर के लिये अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) शाहपुर, बंडा के लिये अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) बंडा और नगर परिषद शाहगढ़ के लिये अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) शाहगढ़ को प्रशासक नियुक्त किया गया है।
इसी तरह नगरपालिक निगम सतना के लिये कलेक्टर सतना, नगरपालिक निगम रीवा के लिये संभागीय आयुक्त रीवा, नगरपालिक निगम सिंगरौली के लिये कलेक्टर सिंगरौली, नगर परिषद नौरोजाबाद के लिये अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) नौरोजाबाद और नगर परिषद चंदिया के लिये अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) चंदिया को प्रशासक नियुक्त किया गया है।
नगरपालिक निगम कटनी के लिये कलेक्टर कटनी, नगरपालिक निगम देवास के लिये कलेक्टर देवास और नगरपालिक निगम रतलाम के लिये कलेक्टर रतलाम को प्रशासक नियुक्त किया गया है।

कवयित्री डॉ वर्षा सिंह विद्युत मंडल से स्वैच्छिक सेवानिवृत्त

कवयित्री डॉ वर्षा सिंह विद्युत मंडल से स्वैच्छिक सेवानिवृत्त

 सागर । सागर नगर की वरिष्ठ कवयित्री  समीक्षक एवं स्तंभकार डॉ. वर्षा सिंह ने लगभग 38 वर्ष विद्युत मण्डल (कंपनी) की सेवा के उपरांत दिनांक 31 दिसम्बर को उनके स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति लेने पर उनके सम्मान में एक विदाई समारोह का आयोजन किया गया। आयोजन में शाल, श्रीफल, पौधा एवं स्मृति चिन्ह उपहार द्वारा सम्मानित किया गया। इसी अवसर पर श्रीमती चंद्ररेखा प्रभाकर कार्यपालन अभियंता एस.टी.एम.संभाग, डीएस राठी कार्यपालन अभियंता एस.टी.सी.संभाग,  आरके अरजरिया सहायक अभियंता ग्रामीण,  श्रीमती सुशीला सिंह सहायक अभियंता, कैलाश परमार सहायक अभियंता, पवन रावत, सुश्री शमीम बानो, डॉ. (सुश्री) शरद सिंह, डी.एस.बाजपेई, जी.पी.गोस्वामी, दीपक छत्री, प्रियंका लारिया आदि बड़ी संख्या में अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे। इस गरिमापूर्ण कार्यक्रम का कुशल संचालन म.प्र. बिजली कर्मचारी महासंघ के प्रदेश महामंत्री किशोरीलाल रैकवार ने किया। 
       डॉ वर्षा सिंह की स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति पर उनके उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए साहित्यकार डॉ. सुरेश आचार्य, डॉ. आनंद प्रकाश त्रिपाठी, श्यामलम संस्था के अध्यक्ष उमाकांत मिश्र, सचिव कपिल बैसाखिया, कवि निर्मल चंद निर्मल, डॉ. श्याम मनोहर सिरोठिया, डॉ.(सुश्री)शरद सिंह, कला समीक्षक मुन्ना शुक्ला, राजकुमार तिवारी, बंटी जैन राहगीरी, अशोक रैकवार, रंगकर्मी रवीन्द्र दुबे कक्का, श्रीमती अर्चना गुप्ता, श्रीमती गीता चौबे आदि ने उन्हें शुभकामनाएं दीं।
   उल्लेखनीय है कि डॉ वर्षा सिंह म.प्र.पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड सागर के संचा-संधा वृत्त कार्यालय, ग्रामीण विद्युतीकरण वृत्त कार्यालय, नगर संभाग, क्षेत्रीय भंडार तथा एस.टी.एम.संभाग में अतिरिक्त कार्यालय सहायक श्रेणी- एक के पद पर पदस्थ रहीं।
    

ग्रामीण ने किसान पर चलाई बंदूक,मामला संदिग्ध ,आरोपी फरार

ग्रामीण ने  किसान पर चलाई बंदूक,मामला संदिग्ध ,आरोपी फरार 

@बृजेन्द्र रैकवार 
सागर । सागर जिले के जैसीनगर थाना अंतर्गत ग्राम मोचल में गांव कें रहने वाले सुरेन्द्र अहिरवार ने किसान राजेंद्र लोधी पर अपनी 12 बोर की बंदूक से गोली चला दी और गोली जाकर किसान के बाएं हाथ पर लगी जिसका इलाज बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज में चल चल रहा है। 
पूरे मामले की जांच कर रहे जैसीनगर थाना के एएसआई एनएस सेंगर ने बताया कि सागर के सुभाष नगर में रहने वाले राजेंद्र लोधी मोचल गांव में 1 साल के ठेके पर 4 एकड़ जमीन लेकर खेती करता है । मंगलवार की दोपहर खेत पर प्याज लगवा रहा था तभी वहां मोचल गांव का रहने वाला सुरेंद्र अहिरवार अपनी 12 बोर की बंदूक लेकर आया और राजेंद्र लोधी के पैर पड़े और बैठ गया और फिर सीधे खड़े होकर राजेंद्र लोधी से गाली गलौज करने लगा और जान से मारने के उद्देश्य अपनी बंदूक से फायर कर दिया राजेंद्र लोधी के घूम जाने से गोली सीने पर ना लगकर उसके बाएं हाथ पर लगी जिसका इलाज मेडिकल कालेज मे  चल रहा है। पूरे घटना का कोई स्पष्ट कारण अभी तक पता नहीं चल पाया है फिलहाल फरियादी ने पुरानी बुराई बताई है ।  आरोपी सुरेंद्र अहिरवार पर धारा 294 , 307 के तहत मामला दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है।वही घायल राजेंद्र लोधी का कहना है कि मेरा किसी भी प्रकार का वाद विवाद नहीं था उसका भाई  मेरे यहां ट्रैक्टर भी चलाता है इस वजह से पूरा मामला संदिग्ध नजर आ रहा है वहीं आरोपी के गिरफ्तारी के बाद ही पूरे मामले का खुलासा हो पाएगा।

विवि में तीन दिन में तीन चंदन के पेड़ काटकर चोरी , एक प्रोफेसर के यहां दो दफा घुसे चोर, शिक्षकों में दहशत, शिक्षक संघ ने लिखा पत्र


विवि में तीन दिन में तीन चंदन के पेड़ काटकर चोरी , एक प्रोफेसर के यहां दो दफा घुसे चोर, शिक्षकों में दहशत, शिक्षक संघ ने लिखा पत्र
सागर।  डॉ हरीसिह गौर केंद्रीय विवि सागर में चोरों के हौसले बुलंद है । खासकर चंदन चोरों के। चंदन चोर प्रोफेसरों केआवासीय परिसर में घुसकर  बरसो पुराने कीमती चंदन के पेड़  आरा मशीन से काटकर ले जाते है ।  विवि की सुरक्षा व्यवस्था हाथ पर हाथ धरे बैठी रहती है। पिछले तीन दिन में तीन स्थानों पर चंदन के पेड़ काटे गए। सबसे गोर तलब यह है कि एक प्रोफेसर के यहां पिछले तीन दिन में दो दफा पेड़ कटे। जबकि पहली घटना की शिकायत भी हुई थी। विवि शिक्षक संघ ने इन  घटनाओं पर चिंता जताते हुए कुलपति प्रो आर पी तिवारी को पत्र लिखकर सुरक्षा की मांग की है। शिक्षकों को भी सता रहा है कि  यदि चंदन चोरी हो सकता है तो घरों में भी चोरियां मुमकिन है।इसकी प्रतिलिपि सागर के पुलिस महानिरीक्षक और विवि अनुदान आयोग दिल्ली के सचिव को भी भेजी है।
शिक्षक संघ ने लिखा पत्र
विवि में बढ़ती चोरियों को लेकर यूनिवर्सिटी टीचर्स एशोशिएशन ने अध्यक्ष प्रो ए पी दुबे के पत्र के मुताबिक विगत शुक्रवार दिनांक 28 दिसम्बर 2019 एवं शनिवार 29 दिसम्बर 2019 की दरमियानी रात को प्रा० जे.के. मिश्रा के आवास क्र० सी.-22 के प्रांगण में घुसकर चोरों ने चंदन का वृक्ष जो लगभग 20 वर्ष पुराना था, काट लिया। इसी दौरान अंग्रेजी विभाग के प्रो0 एवं विभागाध्यक्ष बी.आई गुरू के घर पर भी चंदन का वृक्ष काटा गया एवं दोनों ही आवासों में एक दो अधकटे वक्ष भी छोडे गये। इसकी शिकायत प्रो० मिश्रा ने सुरक्षा विभाग के प्रमुख एवं कुलसचिव  को लिखित में दी किन्तु, उसपर कोई कार्यवाहीनही हुई।
इस अनदेखी का परिणाम यह है कि आज दिनांक  31.12.2019, को सुबह यह ज्ञात
हआ कि प्रो० मिश्रा के आवास से दुबारा प्रांगण के अंदर घुसकर दूसरा चंदन का वृक्ष काटा गया है, जो कि 20 वर्ष से अधिक आयू का था। 
कार्यवाही नही ,चोरों के हौसले बुलंद
पत्र में लिखा कि  कोई कार्यवाही न होने के कारण चोरों के हौसले बुलंद हैं और वे लगातार
घर के अंदर घुसकर चोरी करने मे जरा भी हिचकिचाहट महसूस नहीं कर रहे हैं इसलिए लगातार दूसरेदिन चोरों ने वृक्ष काटने की वारदात को अंजाम दिया।यद्यपि, विश्वविद्यालय आवासीय परिसर के लिए यह कोई पहली घटना नहीं है। विगत कई वर्षों से अनवरत केम्पस में / आवासों में चंदन के वृक्षों की कटाई एवं कीमती सामान चोरी की घटनाये।जारी हैं। किंतु  वर्तमान घटना से केम्पस के शिक्षकों में असुरक्षा एवं भय व्याप्त है क्योंकि जिसे अनैतिकता से धन कमाना है वह घरों के अन्दर घुसकर चोरी भी कर सकता है।
अपने प्रमुखों की सुरक्षा में लगा है सुरक्षा तंत्र
ऐसा प्रतीत होता है कि विश्वविद्यालय सुरक्षा तंत्र केवल अपने प्रमुख मुखियाओ  और उनके आवासों कि सुरक्षा कर अपने कर्तव्यों की इतिश्री मान लेता है। आशा है कि इस शिक्षक संघ के पत्र का हश्र भी पूर्व प्रेषित पत्रों की भाँति अनुत्तरीय नहीं रहेगा।

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम परिवार की ओर से अभी को हार्दिक शुभकामनाएं

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम परिवार की ओर से अभी को हार्दिक शुभकामनाएं

मंगलवार, 31 दिसंबर 2019

कैप्सूल लिफ्ट नीचे गिरी, पाथ इंडिया कम्पनी के मालिक पुनीत अग्रवाल सहित छह की मौत महू के पातालपानी की घटना

कैप्सूल लिफ्ट नीचे  गिरी, पाथ इंडिया कम्पनी के मालिक पुनीत अग्रवाल सहित छह की मौत
महू के पातालपानी की घटना
इंदौर । महू के  पास  बने पर्यटन स्थिल पातालपानी में बने एक  निजी फार्म हाउस परिसर  में मंगलवार बड़ा हादसा हो गया। इसमें पाथ इंडिया कंपनी के मालिक पुनीत अग्रवाल, उनके बेटी, दामाद, पोते समेत 6 लोगों कीमौत हो गई। अग्रवाल परिवार के इस फार्म हाउस में 65-70  फीट ऊंचा टावर बना है । इस टावर से   पातालपानी का नजारा दिखता है।नई साल का जश्न मनाने यहां इकठ्ठा हुए थे। इस पर जाने के लिए कैप्सूल लिफ्ट बनी हुई  थी । जो तकनीकी गड़बड़ी के कारण नीचे आ गिरी। इसके कारणों की जांच की जा रही है । इस टावर के अंदर काम लगा हुआ है। 
एएसपी धर्मराज मीणा ने बताया कि हादसे में पुनीत अग्रवाल, पलक, पलकेश, नव, गौरव और आर्यवीर की मौत हो गई। पुनीत अग्रवाल अपने परिवार के साथ फार्म हाउस पर पिकनिक मनाने के लिए गए थे। शाम सात बजे वह सपरिवार टावर मेंलिफ्ट के ऊपर गए। 70 फीट की ऊंचाई से अचानक लिफ्ट गिर गई। 
पीपीपी मॉडल अपनाने वाले पुनीत अग्रवाल 
पाथ इंडिया के डायरेक्टर पुनीत अग्रवाल की गिनती पीपीपी मॉडल की शुरुआत करने वाले देश के चुनिंदा कॉन्ट्रैक्टर्स में होती थी। इंदौर में 2004 में सिंहस्थ के दौरान उन्होंने एमआर 10 पर पीपीपी मॉडल पर काम किया और रेलवे ओवरब्रिज बनाया। उन्होंने इंदौर खलघाट नेशनल हाईवे, महू-मंडलेश्वर रोड, जयपुर-रींगस फोरलेन रोड, झांसी-उरई रोड, आगरा-ग्वालियर रोड प्रोजेक्ट पर भी काम किया। एमकॉम तक शिक्षा हासिल करने वाले पुनीत अग्रवाल ने 18 वर्ष की आयु में ही पिता प्रकाश का कामकाज संभाल लिया था। पाथ इंडिया के पास मौजूदा समय में देश के 10 बड़े टोल रोड के मेंटेनेंस का काम है। हादसे की खबर लगते ही उनके शुभचिंतकों और कम्पनी से जुड़े लोग अस्पताल पहुचे।

नौ दिन तक मौन रहकर 25 साधकों ने पूरी की विपश्यना साधना

नौ दिन तक मौन रहकर 25 साधकों ने पूरी की विपश्यना साधना
सागर। नौ दिन तक आर्य मौन व्रत रखते हुए एवं कठोर ध्यान अभ्यास के साथ 25 साधकों ने साल के अंतिम दिन मंगलवार को अपनी साधना पूरी की। विपश्यना समिति सागर की ओर से शहर में पहली बार मकरोनिया के एक निजी स्कूल में दस दिवसीय निशुल्क विपश्यना शिविर का आयोजन किया गया था। 21 दिसंबर से शिविर की शुरुआत हुई। प्रदेश भर से पहुंचे नए एवं पुराने साधकों ने 22 दिसंबर से विपश्यना कोर्स शुरू किया। 31 दिसंबर को मौन तोड़ने के बाद शिविर का समापन हो गया। 
समिति के सदस्य अभिनेष अग्रवाल ने बताया कि हालांकि शिविर का समापन हो चुका है, लेकिन ये सभी 25 साधक बुधवार सुबह 7.30 बजे अपने-अपने गंतव्य की ओर रवाना होंगे। विपश्यी साधक एवं समिति के सदस्य इंजी. अभय चौरसिया ने शिविर की सफलता के बारे में बताया कि समिति की ओर से सागर में लगा यह शिविर पूरी तरह सार्थक साबित हुआ है। शिविर के दौरान 16 पुरूष साधक एवं 9 महिला साधकों ने सफलतापूर्वक विपश्यना ध्यान अभ्यास किया और दस दिन तक बिना कुछ बोले इस कठिन साधना के जरिए अपनी ऊर्जा में वृद्धि की। 
क्या है विपश्यना
विपश्यना समिति सागर के सदस्य अनुराग सिंह राजपूत ने बताया कि महात्मा बुद्ध जो तप किया करते थे उसी का सबसे परिष्कृत रूप है विपश्यना साधना। विपश्यना यानि फिर से देखना..। इस साधना के जरिए साधक अपने मन को किसी एक स्थान पर एकाग्र करने के बाद एक-एक कर शरीर के हर हिस्से पर इसे ले जाता है, जिससे उसके विकार बाहर निकलते हैं। धीरे-धीरे कर साधक अपने कर्म बंधनों से मुक्त होता जाता है। 
शिविर के दौरान बोलना, एक दूसरे को देखना तक मना है
विपश्यना का दस दिवसीय आवासीय शिविर पूरी तरह निशुल्क होता है। नए साधकों से इस दौरान न तो किसी तरह का दान लिया जाता है और न ही किसी तरह का शुल्क। रहने और खाने-पीेने की सभी व्यवस्थाएं समिति की ओर से निशुल्क की जाती हैं। शिविर के दौरान साधकों को पूरे 9 दिन तक मौन का पालन अनिवार्य होता है। साथ में रहने के बाद भी एक-दूसरे से बोलने की मनाही है। इतना ही नहीं एक-दूसरे की आंख से आंख मिलाकर देखना भी नहीं है। ऐसा माना जाता है कि बोलने, एक दूसरे को छूने या आंख से आंख मिलाकर देखने से ऊर्जा का ह्रास होता है। शिविर पूरा करने के बाद साधक ऊर्जा से लबरेज हो जाता है। 

कांग्रेस सेवादल के 96 वर्ष पूरे, सेवा कार्यकम का आयोजन

कांग्रेस सेवादल के 96 वर्ष पूरे, सेवा कार्यकम का आयोजन
सागर। कांग्रेस सेवादल दल दिवस सप्ताह के समापन पर कांग्रेस सेवादल के 96 साल पूर्ण होने पर सेवादल की शहर ईकाई ने सेवा भावी कार्यक्रमो का आयोज किया। इस मौके पर सेवादल काँग्रेस अध्यक्ष सिंटू कटारे ने  पहलवान बब्बा मंदिर  परिसर में गरीब लोगों को ठंड से बचने के लिए कंबल वितरित किये ।स्थापना दिवस पर  कांग्रेस सेवादल की शपथग्रहण का आयोजन किया। इस अवसर पर सेवादल के प्रदेशपदाधिकारी डाॅ संदीप सबलोक, विजय साहू, राजाराम सरवैया, द्वारका चौधरी, सेवादल वोड॔ के सदस्य कमलेश बघेल ,प्रदेश सचिव अमित दुबे राम जी,कार्यकारी अध्यक्ष  जितेंद्र सिंह चावला , रंजीत राठौर, पप्पू गुप्ता ,ओंम प्रकाश पांडेय, राजेश यादव , नरेन्द्र कोष्टी ,कमलेश मछंदर, मिथुन घारु ,राहुल जाटव, मजहर हासमी ,रोहित ,फहीम अन्सारी मछंदर, राहुल सनकत, विनय मछंदर, गोलू जाटव आदि शामिल हुए।

निर्बल के बल राम:आचार्य ब्रजपाल शुक्ल कथा के अंतिम दिन पहुचे पूर्व मन्त्री सुरेंद्र चोधरी,भाजपा नेता राजेन्द्र सिंह मोकलपुर

निर्बल के बल राम:आचार्य ब्रजपाल शुक्ल

#कथा के अंतिम दिन पहुचे पूर्व मन्त्री सुरेंद्र चोधरी,भाजपा नेता राजेन्द्र सिंह मोकलपुर
सागर।माखनलाल पत्रकारिता विवि के कुलपति दीपक तिवारी के निवास पर चल रही राम कथा में अंतिम दिवस व्यास पीठ से कथा व्यास ने कहा की संसार का मनुष्य कितना भी समर्थ क्यो न हो किन्तु वह असमर्थ ही होता है। अपने शरीर के प्रति पत्नी और पुत्र के प्रति प्रायः आसक्त ही होता है।इनकी सुरक्षा करते हुए ही निर्बल की कुछ सहायता कर सकता है। कभी कभी वीरता के कारण मनुष्य युद्ध करके प्राण त्याग भी कर देता है।वीरता और उदारता प्रायः सभी मनुष्यों में नही होती हैं। सम्पूर्ण वीरता और सम्पूर्ण उदारता मात्र भगवान में ही होती हैं।
लक्ष्मण तथा जानकी के सहित रामजी अपने पारिवारिक विग्रह के कारण वनवास दुःख में भी दुःखी नही हुए।रामजी को देखकर चित्रकूट में सभी ऋषियों ने आकर श्रीराम जी से निवेदन किया तथा राक्षसों के द्वारा मारे गए लाखों ऋषियों के हड्डियों के समूह को दिखाया और कहाकी संसार मे न तो आपको कोई दुःखी कर सकता है और न तो पराजित कर सकता इसलिए आप ही हम सब की रक्षा करने में समर्थ हैं।
निशिचर निकर सकल मुनि खाये।
सुनि रघुवीर नयन जल छाए।
ऋषियों ने कहा कि हे रघुनन्दन निशाचरों में प्रायः सभी साधन ऋषियों को खा लिया है।
हम लोग जो कुछ बचे हुए हैं उनके आर्त श्वर को सुनकरके रघुनन्दन राम अपना दुःख भूल गए नेत्रों से अश्रु प्रवाह होने लगा।
उन्होंने कहा कि सभी के सामने उन्होंने प्रतिज्ञा की कि इन चौदह वर्षों के वनवास काल मे सम्पूर्ण पृथ्वी को मैं निशाचरों से रहित कर दूंगा।
जब कोई व्यक्ति दूसरे के दुःख को अपना दुःख ममां लेता है तब वह अपनी पूरी शक्ति से दूसरे का दुःख दूर कर सकता है।दूसरे का दुःख दूर करने में कष्ट तो उतना ही पड़ेगा इसीलिए अगस्त्य ऋषि के कहने पर लंकाधिपति रावण से विरोध करने के लिए पंचवटी में निवास करने लगे। यह उन्होंने जान करके किया।
राक्षसों से युद्ध करने का निमित्त निर्माण किया तथा सबसे पहले उन्होंने शूर्पड़खा को ही कुरूप करवाया।इसी का नाम वीरता है दुष्टो का स्वभाव है कि वह अकारण ही सज्जनों को दुःख देते हैं।
इसी प्रकार वीर पुरुष का भी स्वभाव होता है कि वह दुष्टों से युद्ध का कारण बनाकर दुष्टो का संहार करते हैं इसीलिए श्री राम को भगवान कहा जाता है जो सबके दुःख के दूर करके भी दुःखी न हो सबको पराजित करके भी पराजित न हो । 
आज भी संसार मे जिसका कोई नहीं है उसके भगवान ही हैं
सूरदासजी ने कहा निर्बल के बल राम।
निर्बल मनुष्य को चाहिए कि वह भगवान की आराधना करके उनको ही अपना बल मान लें।
कथा में पहुचे ये श्रद्धालु
आज कथा समापन में पूर्व मंत्री सुरेंद्र चौधरी, सुदेश जैन,सुशील तिवारी,राजेन्द्र सिंह 'मोकलपुर', देवदत्त दुबे,राजीव सोनी,विनोद आर्य,त्रिभुवन तिवारी,  विवेक तिवारी,राजेंद्र यादव,अंशुल भार्गव, पप्पू तिवारी,निधीश तिवारी,प्रदीप पाठक,राजेन्द्र दुबे,सुशील पांडेय, संतोष रोहित,एजाज़ खान आदि ने कथा श्रवण कर आचार्य जी से आशीर्वाद ग्रहण किया।

31 लाख की जब्त अवैध शराब को नष्ट कराया प्रशासन ने

31 लाख की जब्त अवैध शराब को नष्ट कराया प्रशासन ने
सागर ।आबकारी आयुक्त के निर्देशानुसार  को विदेशी मध भांडागार सागर के परिसर में वृत्त बीना, खुरई, बंडा,देवरी, रहली में  न्यायालय से प्राप्त एवं वृत्तों में अवैध मदिरा धारण विक्रय के विरुद्ध कायम  कुल 1063 प्रकरणों के  12347 पाव देशी मदिरा  मसाला, 16146 पाव देशी मदिरा प्लेन,17229 पाव विदेशी मदिरा, 300 बोतल बीयर, 326 लीटर  हाथ भट्टी  मदिरा का कलेक्टर सागर द्वारा गठित समिति ने विधिवत नष्टीकरण किया ।
समिति में कलेक्टर सागर द्वारा नामांकित  संयुक्त कलेक्टर श्रीमति  अंजली शाह, सहायक आयुक्त आबकारी सागर श्रीमति वंदना पाण्डेय, सहायक जिला आबकारी अधिकारी श्री के पी गाँधी सम्मिलित रहे । नष्ट की गई शराब की कीमत लगभग 3167170 रुपये है । नष्टीकरण कार्यवाही का पंचनामा बनाया जाकर वीडियोग्राफी भी करवायी गई ।
                           

स्वच्छता की दृष्टि में सागर देश में 11 नंबर पर ने कलेक्टर दी बधाई

स्वच्छता की दृष्टि में सागर देश में 11 नंबर पर,कलेक्टर ने दी बधाई
सागर । भारत सरकार के द्वारा चलाए जा रहे स्वच्छता अभियान के तहत सागर जिले को दूसरे क्वार्टर लीक में देश में 11वां स्थान आने पर कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक ने सभी अधिकारी/कर्मचारियों एवं सागर वासियों को बधाई दी है। नगर निगम कमिश्नर आरपी अहिरवार, स्मार्ट सिटी सीईओ राहुल सिंह राजपूत ने बताया कि जागरूकता के और प्रयास किए जाएंगे जिससे सागर का स्थान पहले स्थान पर आ सके। भारत सरकार द्वारा सर्वे एक लाख से दस लाख तक की आबादी पर 11वां स्थान प्रदान किया गया। ज्ञात हो कि इस सर्वे मंे प्रदेष के इंदौर जिला लगातार प्रथम स्थान पर है।

मौलिक अधिकार एवं मौलिक कर्त्तव्य विषय पर विधिक जागरूकता शिविर

मौलिक अधिकार एवं मौलिक कर्त्तव्य विषय पर विधिक जागरूकता शिविर
सागर । ''मौलिक अधिकार एवं मौलिक कर्त्तव्य'' विषय पर मंगलवार को जिला एवं सत्र न्यायाधीश/अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, के.पी.सिंह के मार्गदर्शन में पंडित रविशंकर शुक्ल शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, सागर मंे विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया।
इस अवसर पर न्यायाधीश  शरद जोशी के द्वारा उपस्थित विद्यार्थियों को संबोधित करते हुये मौलिक अधिकारों और मौलिक कर्त्तव्यों के बारे में जानकारी दी गई और बच्चों को समाज और देश के विकास में योगदान देने के लिए उत्प्रेरित किया। जिला विधिक सहायता अधिकारी  अनुज कुमार चन्सौरिया के द्वारा अपने संबोधन में बच्चों को सोशल मीडिया का दुरूपयोग न करने के बारे मंे बताया साथ ही यह भी कहॉ कि सोशल मीडिया का उपयोग अपने ज्ञानबर्धन के लिये करना चाहिए। उपस्थित बच्चों को संविधान की प्रस्तावना से अवगत कराते हुये उसका वाचन करवाया और बच्चों को पुलिस डॉयल नंबर 100 और नंबर 1098 के बारे में भी जानकारी दी। बच्चों से यह भी कहा कि निः शुल्क विधिक सहायता और सलाह के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए कार्यालयीन समय मंे जिला न्यायालय परिसर में स्थित कार्यालय जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, सागर से सम्पर्क स्थापित करें।
कार्यक्रम में उपस्थित न्यायधीश श्री आशीष शर्मा के द्वारा विद्यार्थियों को यातायात नियमों की जानकारी दी और सभी से यातायात नियमों का पालन करने के लिय कहा।
कार्यक्रम के अंत में विद्यार्थियों के बीच मौलिक अधिकार और मौलिक कर्त्तव्य विषय पर निबंध प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया, जिसमें प्रथम स्थान कु0 मोहिनी कुर्मी, द्वितीय स्थान कु0 सुरभि अहिरवार तथा तृतीय स्थान कु0 नेहा अहिरवार के द्वारा प्राप्त किया गया, जिन्हें पारितोष का वितरण किया गया। तत्पश्चात् विद्यालय के प्राचार्य श्री राजेश खरे के द्वारा सभी का आभार व्यक्त किया गया। इस अवसर पर स्कूल के समस्त शिक्षकगण और विद्यार्थीगण उपस्थित रहे।

बोलेरो गाड़ी पलटी,एक कि मौत आधा दर्जन घायल

बोलेरो गाड़ी पलटी,एक कि मौत आधा दर्जन घायल
सागर । सागर जिले केबहरोल थाना अंतर्गत एक बोलेरो गाड़ी अनियंत्रित होकर पलट गई।जिससे एक नाबालिक की मौत हो गई।साथ ही करीब आधा दर्जन लोग घायल होना बताए जा रहे है। घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया  है।
बहरोल थाना  प्रभारी  संजय ऋषिश्वार क्षेत्र के ग्राम बिलैहनी के आगे अंधे मोड़ पर एक बुलेरो बहन अनियंत्रित होकर पलट गया ।घटना में एक 15 वर्षीय नाबालिक की मौत हो गई। 
जानकारी के मुताबिक एक बोलेरो गाड़ी क्रमांक एमपी 15 जीबी 0823 है जो ग्राम बहरोल  में अपने रिश्तेदारों के यहां दस्टोन का निमंत्रण करने आई थी लेकिन सोमवार मंगलवार की दरमियानी  रात् बापस अपने घर पगारा लौटते बक्त बिलैहनी के आगे मोड़ पर अनियंत्रित होकर पलट गई जिसमें एक नाबालिक अभिषेक पिता केसर पुरी गुसाईं उम्र 15 वर्ष निवासी पगारा गम्भीर रूप से घायल हो गया ।जिसकी अस्पताल ले जाते समय मौत हो गई इसके अलाबा करीब आधा दर्जन लोग घायल बताए जा रहे हैं जिन्हें जिला अस्पताल भेजा गया है।फिलहाल बहरोल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

एमपी में भाजपा की चमक फीकी करने वाला वर्ष @ देवदत्त दुबे

एमपी में भाजपा की चमक फीकी करने वाला वर्ष
@ देवदत्त दुबे
प्रदेश में 2018 नवंबर तक भाजपा का एक तरफा जलवा था पंचायत से लेकर पार्लियामेंट तक भाजपा के प्रतिनिधि पिछले 15 वर्षों में चुने गए भाजपा सरकार के कामकाज की ब्रांडिंग ऐसी थी कि भाजपा नेता से लेकर कार्यकर्ता तक कांग्रेस मुक्त प्रदेश का नारा दिया करते थे लेकिन 2018 का दिसंबर भाजपा के लिए  फिसल पट्टी पर सवार होने वाला महीना साबित हुआ और वर्ष 2019 तो भाजपा की रही सही चमक को भी फीका करने वाला वर्ष माना जावेगा।
 दरअसल व्यावहारिक जीवन में जैसा कहा जाता है सुख के सब साथी दुख का न कोई ऐसे ही राजनीति क्षेत्र में सत्ता के सब साथी विपक्ष में बिरला ही कोई होय भाजपा के साथ कुछ ऐसा हीहो रहा है लगातार 15 वर्षों तक सत्ता में रहने के कारण भाजपा भाजपा सरकार के खाते में विकास की उपलब्धियां में थी सामाजिक सरोकारों के प्रकल्प भी थे वाहवाही भी खूब बनी लेकिन जबसे से सत्ता गई है तब से भाजपा सरकार के समय के विवादास्पद निर्णय खामियों के रूप में उभर कर सामने आ रहे हैं कांग्रेसी सरकार जैसे भाजपा सरकार क कार्यकाल की पोल खोल अभियान चलाए हुए हैं और जैसा सरकार में बैठे मंत्री भाजपा सरकार की खामियां और भ्रष्टाचार के नाते हैं यदि वास्तव में इन पर कार्रवाई हुई और सच्चाई निकली तो फिर लगातार सत्ता में बने रहने की भाजपा जिसे उपलब्धि बताती थी वही कमजोरी बनकर उभर कर सामने आएगी
 बहरहाल वर्ष 2019 विदा लेने को है और 2020 के स्वागत की तैयारियों जोरों पर है लेकिन राजनैतिक दृष्टि से यदि वर्ष 2019 का आकलन किया जाए तो यह वर्ष कांग्रेश के लिए जहां उत्साह बढ़ाने वाला रहा वही भाजपा के लिए निराशा संशय बढ़ाने वाला साबित हुआ हर जगह चमकती दमकती भाजपा 1 वर्ष में ही सत्ता से बाहर होने के बाद फीकी पड़ने लगी जबकि भाजपा नेता राष्ट्रीय स्तर पर उपलब्धियों का बखान करते नहीं थक रहे हैं इसके बावजूद प्रदेश
 प्रदेश में भाजपा शासनकाल को कांगरे सरकार मानो निशाने पर लिए हुए और एक-एक करके पोल खोल अभियान चलाए हुए हनी ट्रैप मामला सरकार के हाथ लग जाने से नेताओं के मुंह बंद करने एवं अधिकारियों पर लगाम लगाने के लिए अच्छा खासा उपयोग किया जा रहा है
: हनी ट्रैप मामला चुकी भाजपा शासनकाल का है इसलिए स्वाभाविक रूप से भाजपा के ही चाहे ते लोग जिनके पास मनी थी वही हनी ट्रैप में सामने आ रहे हैं सरकार बड़े-बड़े लोगों के नाम उजागर ना करके उनको दबाव में लेने की रणनीति पर काम करती हुई दिखाई दे रही है ऐसे लोगों के नाम उजागर किए जा रहे हैं जो सरकार को कोई संकट पैदा नहीं कर सकते हनी ट्रैप में नेताओं से लेकर अधिकारियों और पत्रकारों के नाम आ जाने से सरकार को हर क्षेत्र में पकड़ मजबूत करने का मौका मिल गया है और परतें उखाड़ने से भाजपा का चेहरा खुरदरा होता जा रहा है इस पर प्रादेशिक नेता प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह और नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव राष्ट्रीयता का पेंट पोत कर भाजपा की साख बचाने की पुरजोर कोशिश कर रहे हैं
कांग्रेस ने चुनाव के समय जो वक्त है बदलाव का नारा दिया था उसका एहसास सबसे ज्यादा भाजपा नेताओं को और उनके चहेते अधिकारियों को हो रहा है क्योंकि ना अब मनमर्जी चल रही है और ना ही वे धंधे जिनसे अनाप-शनाप कमाई हो रही थी ऐसे माहौल में भाजपा के लिए नगरी निकाय चुनाव और पंचायती राज के चुनाव कहीं वाटर लू ना साबित हो इसकी चिंता भी भाजपा नेताओं को सताने लगी है लेकिन राजनीति में उम्मीद है कभी खत्म नहीं होती यही कारण है कि जो भाजपा नेता सक्रिय है उन्हें अपने राष्ट्रीय नेतृत्व पर भरोसा है कि प्रदेश भाजपा कि वे मदद जरूर करेंगे और कभी ना कभी भाजपा अपनी खोई हुई चमक जरूर प्राप्त करेगी जबकि कांग्रेस नेताओं का मानना है कि अभी तो यह शुरुआत है अभी तो एक ही वर्ष हुआ है अभी 4 वर्ष बाकी है देखते जाइए आगे आगे होता है क्या
 कुल मिलाकर वर्ष 2019 में भाजपा की सरकार तो प्रदेश में रही नहीं रही सही कसर घोटाले उजागर करके कांगरे सरकार ने भाजपा की चमक ही नहीं धमक भी कमजोर कर दी है भाजपा के केवल वही नेता अब बोल पा रहे हैं जिनका दामन पाक साफ है अन्यथा अधिकांश नेताओं ने चुप्पी साध ली है क्योंकि सरकार कहीं भाजपा नेताओं के अतिक्रमण हटा रही है तो कहीं उनके कार्यकाल की की जांच करवा रही है

सोमवार, 30 दिसंबर 2019

तम्बाकू दुकानों से नही बिकेंगी चाकलेट/कैंडी आदि,तम्बाकू नियंत्रण कानून का पालन करने कमेटी का गठन होगा: कमिश्नर

तम्बाकू दुकानों से नही बिकेंगी चाकलेट/कैंडी आदि,तम्बाकू नियंत्रण कानून का पालन करने कमेटी का गठन होगा: कमिश्नर 
सागर । कमिष्नर सागर संभाग  आनंद कुमार शर्मा ने संभाग के समस्त कलेक्टर्स, आयुक्त नगर निगम एवं नगर पालिका एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत को निर्देषित किया है कि जिलास्तरीय तम्बाकू नियंत्रण समिति की नियमित बैठक एवं तम्बाकू नियंत्रण कानून की धारा 4,5,6 व 7 के परिपालन को सुनिष्चित करने के लिये जिला स्तर पर प्रवर्तन दल का गठन जिला एवं विकासखण्ड स्तर पर किया जाये। नियंत्रण कानून की धाराओं के प्रभावी क्रियान्वयन हेतु नियमित अन्तराल पर मुहिम चलाकर चालानी कार्यवाही एवं अर्थदण्ड किया जाये।
 श्री शर्मा ने निर्देष दिये कि जिला प्रषासन स्तर पर एसडीएम/डिप्टी कलेक्टर को तम्बाकू नियंत्रण के लिये नोडल अधिकारी नामाकिंत किया जाये। उन्होंने नगर निगम/नगर पालिका में तम्बाकू नियंत्रण के लिये प्रषासनिक स्तर के अधिकारी को नोडल अधिकारी नामांकित किया जाये। जिला स्वास्थ्य समिति की समीक्षा बैठक के दौरान यह भी सुनिष्चित करें कि नोडल अधिकारी/मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी तम्बाकू नियंत्रण की गतिविधियों को प्रस्तुत करें। तम्बाकू उत्पाद की दुकानों को लायसेंस दिया जाये और लायसेंस की शर्तों में तम्बाकू नियंत्रण की धारा 5,6 व 7 का पूर्ण रूप से पालन करने की शर्त लिखी जाये तथा यह भी सुनिष्चित किया जाये कि किसी भी जिले में कोई भी तम्बाकू उत्पादन की दुकान बिना लायसेंस के संचालित न हो। तम्बाकू उत्पादन की दुकानों से अन्य सामान जैसी  चाकलेट, कैन्डी आदि न बेची जाये।                           

शुद्ध हृदय में ही भक्ति जागृत होती है:आचार्य ब्रजपाल शुक्ल कथा में पहुचे केबिनेट मन्त्री हर्ष यादव,पूर्व केंद्रीय मन्त्री अरुण यादव और अभिनेता मुकेश तिवारी

शुद्ध हृदय में ही भक्ति जागृत होती है:आचार्य ब्रजपाल शुक्ल
कथा में पहुचे केबिनेट मन्त्री हर्ष यादव,पूर्व केंद्रीय मन्त्री अरुण यादव और अभिनेता मुकेश तिवारी
सागर। सागर के ढाना  ग्राम में चलरही राम कथा के छठवे दिन कथा व्यास आचार्य ब्रजपाल शुक्ल ने व्यास पीठ से बताया किमहाराज जनक के यहां जगतजननी का सीता रूप में अवतरण तथा महाराज दशरथ के यहाँ चारों पुत्रों के रूप में जगत पिता का अवतरण दोनों राजाओं के शुद्ध हृदय का परिणाम है। 
इसलिए तुलसीदास जी ने लिखा
इन सम कोउ न भएउ जग माही।
है नही कतहु न होनेउ नाहीं।
महाराज जनक तथा महाराज दशरथ जैसे उस समय भी कोई नही था और न अभी है और न कभी होगा।कौशिल्या तथा जानकी जी की माता के शरीर कितने दिव्य होगें कि उनके गर्भ में दिव्य तेज का धारण करने की शक्ति थी एक योगी पुरुष का जन्म भी ग्रहस्थ के घर मे ही होता है।उन गृहस्थों का चित्त कितना शुद्ध होगा जिनके गर्भ से वशिष्ठ विश्वामित्र जैसे लोक यशस्वी महर्षियों का जन्म हुआ।
उन्होंने बताया कि भगवान के जन्म का तथा सन्तो के जन्म का आधार गृहस्थ ही है। सम्पूर्ण  संसार का आधार गृहस्थ है। इसलिए गृहस्थ स्त्री-पुरुष और पुरुष के हृदय की शुद्धता जितनी अधिक होगी उतने ही योगियों का संसार मे प्रादुर्भाव होगा।
हाड़ माँस चर्म के शरीर मे शरीर का महत्व नही शुद्ध हृदय का महत्व है। 
उन्होंने कहा कि दुष्चरित्र सन्तान से माता पिता ही नही अपितु सारा संसार दुःखी होता है।
भगवान राम तथा जानकी जी ने ही सम्पूर्ण संसार में महाराज जनक को तथा दशरथ जी को पूज्य बन दिया। जानकीजी की पतिव्रता भक्ति तथा श्रीराम जी का धर्माचरण इन दो गुणों ने संसार को सदाचार तथा पवित्रता का जो सन्देश दिया है वह सन्देश संसार का कोई धनवान बलवान विद्वान नही दे सकता।आचरण से ही यश की प्राप्ति होती है। दृढ़ता से ही धर्म का आचरण होता है।
जितेंद्रिय पुरुष ही धर्मात्मा होता है
श्री शुक्ल कहते है कि पति पत्नी की शुद्धता यश का आधार है। वह ही सच्चा मनुष्य उत्पन्न करने में समर्थ होते हैं।
आज कथा में ये रहे शामिल
श्री राम कथा में पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण यादव, केबीनेट मंत्री हर्ष यादव,पूर्व मंत्री राजकुमार पटेल , फ़िल्म अभिनेता मुकेश तिवारी, हीरा सिंह  , अमित राम जी दुबे,अशोक श्रीवास्तव, कमलेश साहू  , रेखा चौधरी,सौरभ हजारी, सुरेश जाट , शिव शंकर पटेरिया ,महेंद्र यादव ,सुरेश जाट, सिंटू कटारे ,सुरेंद्र चौबे,शिव शर्मा ,राकेश राय शिवप्रसाद तिवारी,मुकुल पुरोहित, पप्पू फुसकेले,संदीप सबलोक,वीरेंद्र गौर,कमलेश बघेल, अंकित तिवारी,मनोज तिवारी,नितिन मिश्रा, नीरज मुखरया, चक्रेश जैन,रूपेश यादव, रत्नेश रावत,ज्योती पटेल, धर्मेंद्र राजपूत, विज्जु सबलोक ,पप्पू गुप्ता जितेंद्र रोहण,आदि ने कथा का श्रवण किया व आचार्य जी से आशीर्वाद ग्रहण किया।

कक्षा 9वीं एव एवं 12वीं की प्रथमप्री-बोर्ड परीक्षा की समय-सारणी जारी

कक्षा 9वीं एव एवं 12वीं की प्रथमप्री-बोर्ड परीक्षा की समय-सारणी जारी 

कक्षा 9वीं एवं 11वीं की प्री-वार्षिक तथा कक्षा 10वीं एवं 12वीं की प्रथमप्री-बोर्ड परीक्षा की समय-सारणी जारी

 कक्षा 9वीं एवं 11वीं की प्री-वार्षिक तथा कक्षा 10वीं एवं 12वीं की प्रथमप्री-बोर्ड परीक्षा की समय-सारणी जारी 

भोपाल। लोक शिक्षण संचालनालय, मध्यप्रदेश भोपाल नेसत्र 2019-20 की कक्षा 9वीं एवं 11वीं की प्री-वार्षिक तथा कक्षा 10वीं एवं 12वीं की प्रथमप्री-बोर्ड परीक्षा की समय-सारणी जारी की है । इस आशय के आदेश जारी कर दिए है।

आयुक्त लोक शिक्षण जय श्री कियावत के 

आदेश के मुताबिक वर्तमान सत्र में कक्षा 10वीं एवं 12वीं के लिए प्रथम प्री-बोर्ड जनवरी एवं द्वितीय प्री-बोर्ड परीक्षा फरवरी माह में तथा कक्षा 9वीं एवं 11वीं के लिए प्री-वार्षिक परीक्षा जनवरीमाह में आयोजित करने का निर्णय लिया गया। इन परीक्षाओं का उद्देश्य विद्यार्थियों को वार्षिक परीक्षा हेतुतैयार करना है ताकि विद्यार्थी वार्षिक परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन कर सकें।

शैक्षणिक सत्र 2019-20 की कक्षा 9वीं एवं 11वीं की प्री-वार्षिक तथा कक्षा 10वीं एवं 12वीं की प्रथमप्री-बोर्ड परीक्षा की समय सारणी संलग्न कर उपलब्ध कराई जा रही है। समय सारणी अनुसार कक्षा 9वीं एवं10वीं की परीक्षा प्रातः 8:30 बजे से 11:30 बजे तक एवं कक्षा 11वीं एवं 12वीं की परीक्षा दोपहर 12:00 बजे से3:00 बजे तक पत्र के साथ संलग्न समय सारणी के अनुसार आयोजित की जाये।


#कक्षा 9वीं एवं 11वीं की प्री-वार्षिक तथा कक्षा 10वीं एवं 12वीं की प्रथम प्री-बोर्ड परीक्षा हेतु प्रश्न पत्रvimarsh.mp.gov.in पोर्टल पर दिनांक 09.01.2020 तक upload किये जायेंगे। जिसे जिला शिक्षाअधिकारी/जिला/विकासखंड स्तरीय उत्कृष्ट विद्यालय के प्राचार्य के लॉगइन पासवर्ड से डाउनलोड किया जा

सकेगा।

#निर्देशित किया जाता है कि जिला शिक्षा अधिकारी/जिला/विकासखंड स्तरीय उत्कृष्ट विद्यालय केप्राचार्य द्वारा किसी भी स्थिति में किओस्क अथवा प्राइवेट दुकान से पेपर डाउनलोड नहीं कराये जायेंगें।जिला/विकासखंड स्तरीय उत्कृष्ट विद्यालय के प्राचार्य प्रश्नपत्रों को डाउनलोड करके उसका एक सेट संबंधितविद्यालय को उसमें प्रचलित विषयों के अनुसार प्रदान करेंगें एवं परीक्षा की गोपनीयता को बनाये रखेंगें। सभीप्राचार्यों को भी सूचित करें कि किसी भी तरह की लापरवाही को गंभीरता से लिया जावेगा।


#विषय विशेष की परीक्षा संपन्न होने के उपरांत उस विषय शिक्षक को आगामी 3 दिन तक यथासंभवपर्यवेक्षण कार्य में न लगाया जाए ताकि वह अपने विषय की उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन पूर्ण कर सकें। परीक्षासमाप्ति के उपरांत 26 से 29 जनवरी 2020 तक सभी विद्यार्थियों को विषयवार उत्तरपुस्तिकाएं दिखाई जाकरप्रश्न पत्र हल करवाया जाए एवं विद्यार्थियों द्वारा की गई त्रुटियों के संबंध में शिक्षकों द्वारा 31 जनवरी से 10फरवरी 2020 तक उन अवधारणाओं को जिनमें विद्यार्थियों द्वारा त्रुटियां की गई हैं उनको समझाकर अभ्यास कराया जाए ।

#परीक्षा हेतु संलग्न सूची अनुसार विषयों के प्रश्नपत्र प्रदान किए जायेंगें। इसके अतिरिक्त अन्य विषययदि विद्यालय में प्रचलित हों तो उनके प्रश्नपत्र प्राचार्य संस्था स्तर पर तैयार कर परीक्षा संपन्न करायें।

नौरादेही अभ्यारण : प्रभावित लोगों का शत-प्रतिशत होगा विस्थापन : कलेक्टर

Archive