शनिवार, 31 अगस्त 2019

मप्र में भाजपा से शिवसेना का गठबंधन नहीं :प्रदेश प्रमुख

सागर । प्रदेश प्रमुख ठाडेश्वर महावर का कहना है कि शिवसेना एमपी में भाजपा से कोई गठवन्धन नही करेगी। भले ही  महाराष्ट्र में समझौता हो। आने वाले नगरीय निकायों के चुनाव में पार्टी लड़ेगी।यदि भाजपा पहल करती है तो बात करेंगे। प्रदेश प्रमुख महावर ने संगठन की बैठकके पहले मीडिया से यह बात कही । उन्होंने कहा कि वर्तमान हालातो को देखते हुए एमपी में कमलनाथ सरकार ज्यादा दिन नही चलेगी।
      महावर ने पार्टी की बैठक में शिवसेनिकों को भ्रष्ट अधिकारियों के प्रति आगाह करते हुए कहा कि अफसरों के खिलाफ शिवसैनिक डटकर आंदोलन करें। उन्होने कहा कि प्रदेश में शिक्षा, स्वास्थ्य व खनन एवं खाद्य माफिया की मिली भगत से प्रदेश सरकार चल रही है। जिम्मेदार अधिकारी भ्रष्टाचार के दल दल में सराबोर है। 

 सम्भागीय कार्यकारणी गठित:
         इस मौके पर उपराज्य प्रमुख पप्पू तिवारी ने संभागीय कार्यकारिणी घेाषित की। जिसमें संभाग प्रमुख हरवंश गिरी गौस्वामी पर्यवेक्षक कृष्णबिहारी गुप्ता (छतरपुर), सहपर्यवेक्षक रवि गुप्ता, रामदास पटैल, संभागीय सलाहकार राजू उपाध्याय, विजय दरयानी  छतरपुर जिला प्रमुख मुन्ना तिवारी, टीकमगढ युवा जिला प्रमुख अभिषेक पाराशर, उप प्रमुख अंकित साहू, दमोह जिला प्रमुख मुन्ना रैकवार सागर जिला प्रमुख दीपक ठाकुर जिला संगठन प्रमुख हेमराज आलू जिला उप प्रमुख चुनमुन बडकुल जिला प्रभरी विकास यादव युवा शिवसेना जिला प्रमुख अनीकेत तिवारी उप प्रमुख विकास श्रीवास, युवा सेना सभाग प्रभारी नितिन तिवारी, विद्यार्थी शिव सेना सागर जिला प्रमुख अमन ठाकुर, संभाग प्रचार प्रमुख रामचरण सेन, सलाहकार देववृत शुक्ला, आई.टी सेना जिला प्रमुख अतीश जैन, धर्मजागरण जिला प्रमुख शेखर तिवारी, जिला उप प्रमुख मनोज तिवारी, पिछडा वर्ग जिला प्रमुख रिंकू साहू महेश साहू, संभाग उपप्रमुख सहित 71 सदस्यों को रखा।बैठक में डाॅ राहुल सिंघई, डाॅ सुमित भटटाचार्य सागर ने शिवसेना की सदस्यता ग्रहण की। 
इस मौके पर रोहित जैन पन्ना अखिलेश जैन नीलेश जैन, पवन श्रीवास्तव, बलराम मिश्रा, निक्की सेन, सन्नी शुक्ला, प्रशांत मिश्रा, अक्षय सेन लोधी, मनीष मिश्रा, गौरव राठौर, माही जैन, श्री कमल जैन, माखन सिंह परसोत्तम रजक, अनिल जैन, वीरेन्द्र वर्मा, भूपेन्द्र दुबे, रूपेश पचैरी, राकंेश पंथी, फूल सिंह आकाश सूर्यवंशी अंकित साहू, दीपक पटैल मुकेश शिकारी नारयण गुप्ता, सुनील रजक, सौरभ चैधरी,अभिेषक प्रजापति, नीलेश जैन, अनुराग वाजपेयी, शिवयांश ठाकुर, अनुज रावत, अविनाश चैधरी, हरि पटैल सोमू शुक्ला अंम्बिका यादव सहित संभाग के शिवसेनिक उपस्थित थे

काव्यांजलि: ताली तो जोकर भी बजवा लेते हैं...

ताली तो जोकर भी बजवा लेते हैं :अशोक मिज़ाज

सागर । "शेर सुनाकर दाद बटोरो तो जाने,
ताली तो जोकर भी बजवा लेते हैं,"
ये शेर शायर अशोक मिज़ाज ने काव्य मंच द्वारा आयोजित गीतांजलि एवं कार्यशाला के अध्यक्षीय काव्यपाठ में पढ़ा।उन्होंने नए कवियों को संबोधित करते हुए कहा कि आज कल सब जल्दी से सब लोग सफलता चाहते हैं लेकिन साहित्य साधना मांगता है।सस्ती लोकप्रियता के लिए किया गया लेखन ताली तो बजवा सकता है लेकिन आपको कवि या शायर के रूप में स्थापित नहीं कर सकता।आपको क्या बनना है ये आप सोच लें और उस दिशा में प्रयासरत रहें।।            
            कार्य क्रम में भोपाल, करेली, रायसेन,बड़ा मलहरा और सागर के कुल 25 नवोदित कवियों  ने काव्यपाठ किया । जिनके नाम हैं  भावना बड़ोनिया, शौर्य चौबे,प्रमोद पबैया, दीक्षा पटेल, बीपीएस ठाकुर, श्वेता जैन, राहुल चढ़ार, शुभी विश्वरी,राजेन्द्र विश्वकर्मा, दिशा साहू, अरिहंत जी, अमन जैन रितिक जैन, आयुष चतुर्वेदी, शशांक गुप्ता, तरुण कुमार सागर, अंशुल नादान, अमित जैन इनके अलावा,सागर के वरिष्ठ कवियों में श्बृंदावन राय सरल, मुकेश सोनी, राघव रामकरन, अक्षय मोदी, कपिल चौबे, प्रभात कटारे,प्रशांत सागर, आदर्श दुबे, अखिषेक जैन, आदि ने काव्यपाठ किया। विशिष्ट अतिथि के रूप में ललितपुर से पधारे प्रसिद्ध गीतकार अंशुल आराध्यम ने गीत एवम कविता पर विस्तृत चर्चा की।
       इस मौके पर  वन्दना गुप्ता, शिखर चंद शिखर, डॉ अखिल जैन आनन्द, ईश्वर दयाल गोस्वामी, और डॉ अशोक तिवारी विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित रहे और उन्होंने काव्यपाठ भी किया।संचालन  कवि अभिषेक जैन ने एवं आभार प्रदर्शन सृजन आईएएस अकादमी के  संस्थापक अक्षय जैन ने किया।

सभीको स्वास्थ्य सुविधाएं पहुंचाना हमारा लक्ष्य :मंत्री श्री राजपूत


सभीको स्वास्थ्य सुविधाएं पहुंचाना हमारा  लक्ष्य :मंत्री श्री राजपूत
सागर । प्रदेष के राजस्व एवं परिवहन मंत्री  गोविन्द सिंह राजपूत ने जिला चिकित्सालय में उच्च निर्भरता ईकाई (एचडीयू) महिला प्रसूति विभाग का शुभारंभ शनिवार को मुख्य अतिथि के रूप में किया। 
इस अवसर पर वरिष्ठ समाज सेविका श्रीमती मीना ताई पिंपलापुरे, संयुक्त संचालक स्वास्थ्य श्री एसके जैन, सीएमएचओ श्री एमएस सागर, सिविल सर्जन श्री विक्रम सिंह तोमर, सेवानिवृत्त सिविल सर्जन डा. अरूण सराफ, डा. श्याम मनोहर सिरोठिया, डा. प्रदीप चौहान, कार्यपालन यंत्री श्री एमके जैन, श्री विपिन मिश्रा उपस्थित थे। 
राजस्व मंत्री श्री राजपूत ने कहा कि भगवान व्यक्ति को जन्म देता है किन्तु डाक्टर वह भगवान है जो व्यक्ति को पुर्नजन्म देता है। अतः आप समस्त लोगों से आषा करता हूं कि इस सम्मान को बनाए रखते हुए अपनी सेवाएं पूरी दृढ़ इच्छा से पूर्ण करें। उन्होंने कहा कि सरकार महिलाओं के स्वास्थ्य के प्रति संवेदनषील है। जिले में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएगी। सरकार का प्रयास है किसी भी जरूरतंद के स्वास्थ्य सुविधाएं प्राप्त करने में दिक्कत न आए। मरीजों को उचित स्वास्थ्य सुविधाएं मिलेगी। मंत्री श्री राजपूत ने कहा कि इस यूनिट के शुरू होने से गर्भवती महिलाआंे, वृद्ध महिलाओं को अब अन्य शहरों की ओर स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए रूख नहीं करना पड़ेगा। शहर के साथ-साथ गांवों में भी बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करने सरकार दृढ़ संकल्पित है।   प्रदेष सरकार ने डाक्टरों की कमी को देखते हुए 500 डॉक्टर्स की संविदा नियुक्ति करने का निष्चय किया है। साथ ही 11 हजार एएनएम की भर्ती भी की जाएगी।                         
शुभारंभ कर एचडीयूू कक्ष का अवलोकन भी मंत्री श्री राजपूत ने किया। इस दौरान डा. ज्योति चौहान ने बताया कि दक्ष कार्यक्रम के तहत प्रदेष में 5 जिलों में यह वार्ड निर्मित किए गए है किन्तु यह मध्यप्रदेष की सबसे बड़ी एवं सागर संभाग की पहली उच्च निर्भरता ईकाई है। इस यूनिट के शुरू होने से गर्भवती महिलाओं को विषेष स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान की जाएगी। इसके तहत एक ही जगह से पैरामेडिकल स्टॉफ व डॉक्टर्स की टीम मरीज की मॉनीटरिंग कर सकती है। पैरामैडिकल स्टॉफ को विषेष प्रषिक्षण दिया गया है साथ ही अतिरिक्त डॉक्टर्स भी इस यूनिट में उपलब्ध रहेंगे। इसके साथ ही अब ब्लड सेपरेटर भी स्थापित किया गया है जिससे रक्त के घटकांे को अलग-अलग जरूरतमंद व्यक्ति को दिया जा सकता है। उन्होंने सागर की मांग पर जिला चिकित्सालय को कार्डिएक एंबूलेंस एवं एक अन्य वार्ड बनाने का प्रस्ताव प्रस्तुत करने कहा। स्वागत उदबोधन एमएस सागर ने प्रस्तुत किया। कार्यक्रम का संचालन महिला चिकित्सालय डा. ज्योति चौहान ने किया एवं आभार डा. विजया पाटिल ने माना।  





अनुबंध निरस्त :मिडडे मील हाथों में रोटी परोसने का मामला

मिडडे मील। हाथों में रोटी परोसने का मामला ,अनुबंध निरस्त

सागर । सागर जिले के जैसीनगर के तोड़ा तरफदार  प्राथमिक और माध्यमिक शाला में बच्चों को हाथों में रोटियाँ परोसी जाने का मामला सामने  आने और परिवहन मंत्री गोविन्द राजपूत के विधानसभा क्षेत्र का मामला होने के कारण प्रशासन में हड़कम्प मंच गया । 
     आज  कई अफसर स्कूल पहुचे और मध्यान्ह भोजन की व्यवस्था को सुधारा। जैसीनगर जनपद सी ई ओ चेतना पाटिल  भी वहां पहुची थी  और उनको गड़बड़िया मिली । उन्होंने   मध्यान्ह भोजन वितरण करने वाले दोनो स्व सहायता समूह का तत्काल प्रभाव से अनुबंध निरस्त कर दिया । नई व्यवस्था के तहत पंचायत को इसका कार्य सौंपा है ।

गैर इरादतन हत्या के आरोप में डॉक्टर को सात साल की सजा


सागर । बहुचर्चित  युवा कांग्रेस नेता अभिषेक दुबे  की  गोली लगने से मौत के मामले में स्थानीय अदालत ने प्रसिद्ध डॉक्टर पीएस  ठाकुर को सात साल की सजा और 10 हजार का जुर्माना की सजा सुनाई है । एक होटल में  शादी समारोह में 13 फरवरी सन 2013 में यह वारदात हुई थी । गैर इरादतन हत्या के आरोप में सजा सुनाई।
सरकारी वकील सतीश चंद्र रावत ने बताया कि 13 फरवरी को एक विवाह समारोह में "मुन्नी बदनाम हुई..."गाना बजाने को लेकर युवा नेता अभिषेक दुबे और डॉक्टर पीएस ठाकुर के बीच विवाद हुआ। जिसमें डॉक्टर ने गोली चलाई जिसमे अभिषेक दुबे की मौत हो गई ।तृतीय अपर सत्र न्यायाधीश दीपाली शर्मा ने गैरइरादतन हत्या का मामला मानते हुए सात साल की सजा सुनाई।


शुक्रवार, 30 अगस्त 2019

नेता प्रतिपक्ष के बेटे ने छेड़ा अभियान : बिजली बिल नही भरने पर कनेक्शन काटा तो जुड़वाएँगे कनेक्शन

बिजली बिल नही भरने पर कनेक्शन काटा तो नेता प्रतिपक्ष  के बेटे जुड़वाएँगे कनेक्शन





 सागर । एमपी  विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव के बेटे ने बिजली विभाग के मनमर्जी बिलो के खिलाफ एक नया अभियान छेड़ा है ।
भार्गव के बेटे और भाजपा नेता अभिषेक भार्गव  अब जिनके बिजली कनेक्शन बिल नही भरने की स्थिति में काटे जाएंगे तो वो खुद और उनकी टीम कनेक्शन जोड़ेगी। आज  खुद खड़े होकर एक कनेक्शन  जुड़वाया भी। इस  मामले में बिजली विभाग ने जांचकर कार्यवाहि की बात कही है।

    हमेशा सुर्खियों में रहने वाले नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव के बेटे अभिषेक भी अपने पिता के नक्शे कदमो पर चल रहे है ।रहली विधानसभा  के गढाकोटा के जवाहर वार्ड में  सुनील सेन नामक एक उपभोक्ता का 12000 रूपये का बिजली बिल आया और बिल न भरने पर बिभाग ने  बिजली काट दी । विभाग द्वारा उपभोक्ता को पूरा बिल भरने के लिए प्रताड़ित किया जा रहा था। पीड़ित उपभोक्ता ने नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव के पुत्र अभिषेक भार्गव को बताई। अभिषेक भार्गव ने पीड़ित परिवार के घर जाकर एवं अपने सहयोगियों के साथ नसेनी बुलवाकर वहा खड़े हुए और सामने लाइट जुड़वाई ।
 नेतापुत्र ने विद्युत विभाग को खुले शब्दो में चेतावनी दी कि अगर विभाग के द्वारा इस तरह लोगों के साथ वर्ताव किया जायेगा एवं अनाप शनाप विल दिया जायेगा तो मैं उनके साथ खडा रहूगा । मैंने पूर्व में चेतावनी दी थी कि अगर किसी गरीब कि लाइट काटी गईतो मैं स्वयं खड़े होकर कटी हुई लाइट जुडवाऊगा ।  इसकी मैने आज से शुरुआत कर दी है ।इसके लिए मुझे जेल भी जाना पड़े तो जाऊंगा । इसके बाद भाजपा कार्यकर्ताओं ने कमलनाथ सरकार के खिलाफ  नारेबाजी की । 
इस मामले में बिजली विभाग सहायक यंत्री राहुल शाह का कहना है कि पूरे मामले की जांच कराकर कार्यवाई की जाएगी।

मिडडे मील:थाली की जगह हाथों में मिलती है रोटी


 राजस्व मन्त्री गोविन्द राजपूत   के क्षेत्र की तस्वीर 


सागर । मध्यान भोजन   बच्चों को बेहतरी के लिए है  । लेकिन इनके संचालन की तस्वीर झकजोर देने वाली हैं। एमपी के सागर जिले के  जैसीनगर  क्षेत्र में एक स्कूल में  बच्चों को हाथ मे रोटी देते हैऔर कटोरी में दाल या सब्जी। यहां थाली में खाना नही परोसा जाता है । यहां बच्चे गोदी में  तो कोई बच्चा जांघ पर रोटी रखते है । जिस इलाके की यह तस्वीर वह प्रदेश के राजस्व और परिवहन मंत्री गोविन्द राजपूत का  विधानसभा क्षेत्र है । 

       जैसीनगर के  संकुल केंद्र केअंतर्गत आने वाले तोड़ा तरफदार गांव में संचालित शासकीय प्राथमिक एवं माध्यमिक विद्यालय में समूह द्वारा बच्चों को हाथों पर खाना परोसा जा रहा है औऱ जो खाना परोसा जा रहा है उसमें सिर्फ़ बिना सब्जी के केवल सुखी रोटियां बच्चों के हाथों में दी जा रही है । खाना परोस रहे महिला से पूछा तो महिला का कहना था कि मैं तो यहां खाना बांटने के लिए मजदूरी से लगी हुई है खाना बांटना मेरा काम है बर्तन धोना नहीं। वहीं स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों का भी कहना है कि हम लोगों को रोजाना ही हाथों पर खाना दिया जाता है। औऱ स्कूल में पड़ने वाली छात्राओ ने स्कूल में टायलेट  न की कमी की बात भी कही। 
      अब जिम्मेदार आधिकारी इसकी जांच की बात कर रहे है । संकुल प्रभारी प्राचार्य केके देवलिया ने कहा कि मीडिया द्वारा इसकी जानकारी प्राप्त हुई है मैं तत्काल बीआरसी और बीईओ से संपर्क कर तोड़ा तरफदार स्कूल की वस्तु स्थिति का जायजा लेकर जिन भी कर्मचारियों की लापरवाही पाई जाती है उन पर कार्यवाही की जावेगी ।  वही जनपद शिक्षा केंद्र जैसीनगर में पदस्थ डॉ जे.एस अहिरवार का  कहना था कि-इसके पहले भी मेरे द्वारा तोड़ा तरफदार स्कूल  में निरीक्षण किया गया उसमें भी इस तरह की लापरवाही पाई गई थी जिस पर समूह संचालक को इस तरह की लापरवाही ना बरतने की सख्त हिदायत दी गई थी कि लेकिन फिर भी इस तरह की लापरवाही फिर की जा रही है तो जांच कराकर दोषियों  पर कार्रवाई की जाएगी।औऱ स्कूल में जो पहले टॉयलेट था वह जर्जर स्थिति में है उसकी जानकारी भेज दी गई है और जैसे ही राशि आती है तो उसकी रिपेयरिंग करा दी जाएगी। जनपद पंचायत की मुख़्य कार्यपालन अधिकारी चेतना पाटिल से बात की तो कहना है कि- यह एक गंभीर लापरवाही का मामला है इस मामले की तत्काल जांच कर  दोषियों पर कार्यवाही की जावेगी।

कठिन है डगर स्कूल जाने की

कठिन डगर है स्कूल जाने की।

 सीढ़ी पर से  नाला पार करना पढ़ता है,नाले पर बनी पुलिया  बारिश में बह गई     
        
सागर । स्कूल जाना बच्चों के लिए कठिन डगर है । बारिश में पुलियो का न होना या फिर क्षतिग्रस्त होना। एक तस्वीर सागर जिले के देवरी  क्षेत्र की है । जहां स्कूली बच्चों को अपनी जान हथेली में  डालकर  नसेनी के सहारे  नाला पार करना पड़ रहा है।दो नाले है एक पर पुलिया है जो भर्ष्टाचार की भेंट चढ़ गई और दूसरा नाला नसेनी(सीढ़ी)लगाकर पार करना पड़ता है। कीचड़ भरे रास्ते मे कैसे बच्चे स्कूल पहुच रहे है जरा आप भी देखिए।
     देवरी के जैतपुर कछिया की तस्वीरे देखकर आप हैरान रह जाएंगे क्योंकि यहाँ स्कूल तो है और 200 बच्चे भी पढ़ने आते है पर किस तरह आते है जरा आप भी देखिये।स्कूल जाने के लिए बच्चो को दो नालो को पार करना पड़ता है।एक पर रिप्टा नुमा पुलिया बनी है पर पुलिया भ्रष्टाचार की  बलि चढ गई  और एक ही बारिश में क्षतिग्रस्त हो गयी।और दुुसरे नाले पर सीढ़ी लगाकर पार करना पड़ता है।यही हालत रहे तो कैसे पड़ेंगे बच्चे।

पुलिया  से  निकलने वाली  हाई स्कूल की  बच्चे  कभी  पुलिया के इस पार  कभी उस पार घंटों इंतजार  या फिर  जान हथेली पर डाल  एक नसेनी के सहारे नाले को पार करना पड़ता है।  
वही   इस समस्या के बारे में इस स्कूल के शिक्षक रामवतार ने बताया कि   कई बार पत्राचार किया गया पर हालात जस के तस है।
पुलिया निर्माण में हुई घोर अनिमितताओं को लेकर पंचायत सचिव अपना आपको बचाने के लिए उच्च अधिकारियों के संज्ञान में लाने की बात कह रहे है

मुख्य सचिव का फरमान सख्त कारवाई करें मिलावटखोरों के खिलाफ


-
 खाद्य पेय पदार्थों में मिलावट करने वालों के विरूद्ध सख्ती से कार्यवाही की जाए
मुख्य सचिव  मोहंती

सागर। मुख्य सचिव  एसआर मोहंती ने संभागीय मुख्यालय सागर पर संभाग के सभी जिलों के कलेक्टर और वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक लेकर विभागीय कार्याें की समीक्षा की। पेयजल की समीक्षा के दौरान सागर कलेक्टर ने मुख्य सचिव को अवगत कि यदि राजघाट बांध की एक से डेढ़ मीटर बढ़ा दी जाए तो पेयजल के लिए इसका लाभ ग्रीष्मकाल में भी सागरवासियों को मिलेगा। मुख्य सचिव ने कहा कि इसकी स्वीकृति शीघ्र ही दी जाएगी।
 मुख्य सचिव ने कलेक्टरों को यह निर्देष दिए कि खाद्य एवं पेय पदार्थ में मिलावट करने वालों के विरूद्ध सख्ती से कार्रवाई करें। उन्होंने कहा कि त्यौहार का सीजन आ रहा है ऐसे में दुग्ध और दुग्ध उत्पाद से बनी सामग्री की बिक्री बढ़ जाती है। इस बात का ध्यान रखें की लोगों को खाद्य पेय की शुद्ध वस्तुएं मिलें। खाद्य पदार्थों में मिलावट करने वालों पर षिकंजा कसने के लिए आम लोगों को भी इससे शामिल किया जाए ताकि वे ऐसा करने वाले की जानकारी पुलिस एवं जिला प्रषासन को दे सकें।
मुख्य सचिव ने कहा कि वनाधिकार अधिनियम के तहत कोई भी पात्र व्यक्ति पट्टे से वंचित न रहे । उन्होंने यह भी कहा कि यदि किसी भी व्यक्ति का आवेदन निरस्त किया जाता है तो इसकी सूक्ष्मता से पड़ताल होगी कि आवेदन किस आधार पर निरस्त हुआ। इसी प्रकार उन्होंने जाति प्रमाण पत्र के संबंध में निर्देष दिए। उन्होंने कानून व्यवस्था के प्रति सतर्क रहकर कार्य करने को कहा।
कमिष्नर कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित इस बैठक में अपर मुख्य सचिव सामान्य प्रषासन विभाग श्री केके सिंह, प्रमुख सचिव स्वास्थ्य श्रीमती पल्लवी जैन गोविल, प्रमुख आयुक्त राजस्व श्रीमती जीव्ही रष्मि, कमिष्नर श्री आनंद कुमार शर्मा, संभाग के सभी जिलों के कलेक्टर एवं जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी, प्रमुख अभियंता लोक निर्माण विभाग, पीएचई, और संभाग के विभिन्न विभागों के संभाग स्तरीय अधिकारी मौजूद थे।
मुख्य सचिव ने बैठक में कहा कि साहूकारों की मॉनीटरिंग की जाए और उनके लायसेंस की जांच कर चिन्हित किया जाए। यह भी देखा जाए कि साहूकारों द्वारा किसी को परेषान तो नहीं किया जा रहा। मनी लैंडिंग एक्ट के तहत कार्यवाही की जाए।
मुख्य सचिव ने कहा कि अवैध उत्खनन भंडारण और परिवहन करने वालों के विरूद्ध सख्ती से कार्यवाही की जाए। उन्होंने संभाग के जिलों में अवैध उत्खनन के विरूद्ध की गई कार्यवाही के संबंध मंे जानकारी भी ली। मुख्य सचिव ने छतरपुर और सागर जिले में अवैध उत्खनन के विरूद्ध की गई कार्यवाही की सराहना की।

बैठक में संभाग के जिलों में पेयजल की उपलब्ध की समीक्षा की गई। मुख्य सचिव ने मुख्य अभियंता पीएचई को निर्देषित किया कि पेयजल की निर्माणाधीन योजनाओं को शीघ्रता से पूर्ण करेें। साथ ही इस वर्ष जिन स्थानों में पेयजल संकट की स्थिति निर्मित हुई है। उसकी कार्ययोजना अभी से बनाई जाए ताकि आगामी वर्ष में किसी प्रकार की पेयजन समस्या का सामना ना करना पड़े। बैठक में मुख्य सचिव ने जानकारी दी कि केन बेतवा लिंक परियोजना के क्रियान्वयन में आने वाली रूकावटों को दूर किया जाएगा। जिससे बंुदेलखंड क्षेत्र को लाभ मिलेगा। इससे विद्युत भी बनेगी, सिंचाई व पेयजल के लिए पर्याप्त पानी मिलेगा और रोजगार के अवसर बढ़ेंगे

विकास के दावे: बारिश के बीच पन्नी के नीचे अंतिम संस्कार





सागर ।  । यह नजारा मध्यप्रदेश के सागर जिले के हफसिली  गाँव का हें।जहाँ एक नहीं बल्कि दो दो लाशो को लेकर इस गाँव के लोग लेकर श्मशानघाट तो पहुच जाते हें ।लेकिन तीन शेड न होने की वजह से इस गाँव के लोग लाश के उपर पोलिथीन ढंककर उन लाशो को आग दे रहे हें । यहाँ मुर्दों की अंतिम विदाई भी कठिनाई भरी है । 
     सागर शहर से महज बीस किलोमीटर की दूरी पर हफसिली गाँव में श्मशानघाट तो है लेकिन टीन शेड नहीं हें ऐसे में वारिश के इस आलाम में जब 24  घंटे से वारिश हो रही थी ।इस गाँव के 85 साल के गया प्रसाद पटेल और 72 साल रघुबर आठिया का दुखद निधन हो गया और इनकी मौत के बाद इनका अंतिम संस्कार करना कठिन हो गया । 
-क्या करे अंतिम संस्कार तो करना था गाँव वालो ने एक बड़ी पोलिथीन खरीदी और उस पोलिथीन को हाथ से पकड़कर दोनों चिताओं में आग दी --यह तस्वीरे जब वायरल हुई तो लोग कहने लगे कि यहाँ मुर्दे भी परेशान होते है।
  -वही जब इस मामले में नरयावली  विधायक प्रदीप लारिया  से बात की गई तो उनका कहना है कि कांग्रेस सरकार के आते ही विकास कार्यो की राशि रोक देने से यह हालत है 
वही जनपद पंचायत सीईओ का कहना है कि उनके संज्ञान में मामला सामने आया है उन्होंने पंचायत को नोटिस देकर जबाब तलब किया है तथा इस घटनाक्रम की जांच कराई जायेगी

Welcome

Vinod Arya


रविवार, 25 अगस्त 2019

Teenbatti - Heart of the City

Coming Soon..!  With Something New..

नौरादेही अभ्यारण : प्रभावित लोगों का शत-प्रतिशत होगा विस्थापन : कलेक्टर

Archive