SAGAR : 8000 से अधिक व्यक्तियों ने कोरोना से जीती जंग ,आत्मबल और मनोबल बनाए रखें

शनिवार, 28 दिसंबर 2019

प्रेमिका को घर लाया था दिखाने,एक्सीडेंट हुआ तो छोड़कर भाग निकला, अज्ञात युवती की लाश का मामला का हुआ खुलासा

प्रेमिका को घर लाया था दिखाने,एक्सीडेंट हुआ तो छोड़कर भाग निकला, अज्ञात युवती की लाश का मामला का हुआ खुलासा

सागर। सागर जिले के बांदरी थाना क्षेत्र में नेशनल हाईवे पर रजवास के पास एक अज्ञात लड़की की लाश मिलने के मामले में पुलिस ने खुलासा कर लिया है । दरअसल  आरोपी अपनी प्रेमिका को शादी की चर्चा के लिए और घर दिखाने लाया था । लेकिन वापसी में एक सड़क दुर्घटना में प्रेमिका के  घायल होकर बेहोश होने के कारण डर से छोड़कर भाग गया था । पुलिस ने मामला दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है। मृतिका दमोह जिले के नोहटा थाना क्षेत्र की है।
क्या है मामला
दिनांक 21.12.19 को पुलिस को सूचना मिली कि रजवांस से आगे बडी तार लाईन के पास हाईवे के किनारे तार फेंसिगके नीचे कोई अज्ञात लडकी का शव पड़ा हुआ है । थाना प्रभारी रविभूषण पाठकने घटना स्थल के आसपास का निरीक्षण कर उसे सुरक्षित कराया घटना स्थल के पास मे एक्सीडेन्टके चिन्ह गाडी के टूटे हुये प्लास्टिक के टुकडे, खून, माचिस एवं कुछ रूपये पडे हुये थे। परन्तुयुवती का शव रोड के किनारे नीचे तार फेंसिग के अन्दर था एवं युवती की पहचान हेतु कोईसाक्ष्य मौजूद नही थअतिरिक्त पुलिस अधीक्षकसागर  राजेश व्यास ने घटना स्थज का निरीक्षण किया एवं घटना स्थल पर प्राप्त टुकडो केसंबंध मे पतारसी करने के एवं अन्य आवश्यक दिशा निर्देश दिये। पुलिस अधीक्षक सागर अमित सांघी एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सागर श राजेश व्यास द्वारा थाना प्रभारी बांदरी उपनिरीक्षक रविभूषण पाठक को आसपास के जिलो एवं सरहदी उत्तर प्रदेश के जिलो में युवती केफोटो व पम्पलेट छपवाकर एवं संबंधित जिलो की डीसीबी शाखा से सम्पर्क कर युवती की पहचानसुनिश्चित करने के साथ साथ टोल नाको के फुटेज चेक करने हेतु निर्देशित किया।
गाड़ी के टूटे पड़े टुकड़ो से मिला सुराग
प्रशिक्षु उपनिरीक्षक सुनील शर्मा को टुकडो के माध्यम से गाडी चिन्हितकरने हेतु दो पहिया एवं चार पहिया शोरूम व मैकेनिक के पास भेजा गया जो टुकडे टीवीएसरेडोन गाडी के मास्क के होना बताया ।जिस पर आसपास अपनेमुखविरो को सक्रिय कर इसप्रकार की गाडी होने की जानकारी देने को कहा । बताया गया कि मालथौन ग्राम का धर्मेन्द्र रजक जो दिल्ली मे मिस्त्रीगिरी का काम करता है अपने साथ एक इसी प्रकार कीहुलिया की लडकी साथ लेकर आया था। जिसे वह दिनांक 20.12.19 के सुबह करीब 10:00बजे एसे ही मेहरून रंग की गाडी पर बैठा कर ले गया था जो लौट कर दिखाई नही दिया हैउक्त सूचना की तस्दीक की गई तो सही पाई गई और धर्मेन्द्र का नम्बर प्राप्त हुआ जिसे सर्चकरने पर वह गुना तरफ मिला जो अहमदाबाद मे जाकर बंद हुआ जो थाना प्रभारी बांदरी केनेत्रत्व ने गठित टीम ने लगातार पीछा किया परन्तु वह पुनः वापस होनें गला लिसे भोपाल स्टेशनपर पकडकर पूछताछ की गई ।
प्रेमिका को लाया था घर दिखाने
धर्मेंद्र ने बताया कि 07-08 वर्षों से रहकर मिस्त्रीगिरी का कामकर रहा है। उसकी साईड पर कमरिया अभाना जिला दमोह का मोहन लाल अपनी भतीजी मनीषा को साथ लेकर काम को आया था जो काम के दौरान इसका मनीषा के साथ प्रेम प्रसंग चलनेलगा जिस पर धर्मेन्द्र ने शादी करने की बात लडकी मनीषा के चाचा मोहन लाल को बताई तो उसने शादी कराने का अश्वासन दिया। इसने 06 दिसम्बर को बताया कि वह अपने गांव मालयौनजा रहा है तो चाचा मोहन लाल ने बेटी को भी साथ लेजाकर घर दिखाने की बात के साथसाथ उसके गांव जाकर पिता से भी बात करने को कहा ।जिस पर धर्मेन्द्र रजक दिनांक 19.12.
19 को ट्रेन से लडकी मनीषा को साथ लेकर सुबर करीब 09:00 बजे मालयौन आया। आधा
घंटा रूकने के बाद अपने भाई की टीवीसएस रेडोन लाल रंग की गाडी से लडकी को उसके घर दमोह छोडने की बात घर वालों की बात कहकर घर से निकला था जो अभाना गया परंतु लडकीद्वारा कहा कि पापा शादी का मना कर देंगे वापिस चलो चाचा से शादी की बात कर लेगे जिसपर उसे वापस लेकर आया और रात करीब 08:00 बजे बहेरिया के पास बाईपास पर दावा पर खाना  खाया। रात करीब 10:00 बजे यह रजवांस के पास था जो गाडी तेजगति से चलाते हुयेयह ट्रक को ओवर टेक करने लगा तो गाडी पर अपना नियंत्रण नही रख सका और फोर लाईनके बीच बने डिवाईडर पर गाडी चढ गई जिससे हाय पैर कंधे. मे चोटे आई युवती को सिर मेचोट आई उस समय यह बेहोश रहा, होश आने पर इसने देखा कि मनीषा के सिर में चोट है
और वह बोल नही रही है और वह हाथ पैर व सीना मलता रहा वह नही बोली तो वह बहुत
घबडा गया और रोड किनारे लडकी को लेजाकर रोता रहा बाद मे डर के कारण उसे छोडकरवापस मालयौन चला गया घर वालो को एक्सीडेन्ट होना बताया अन्य कोई जानकारी नही दी।आरोपी धर्मेन्द्र से लडकी के चाचा मोहन लाल से बात करने पर उसने अपने पिता का नामउमराव सिंह लोधी व लडकी का नाम मनीषा पिता माधव सिंह होना बताया जिस पर थानाप्रभारी बांदरी द्वारा नोहटा थाना के माध्यम से माधव सिंह को सूचना देकर थाना बांदरी भेजनेहेतु कहा परंतु माधव सिंह के परिजनो से संम्पर्क करने पर उनके द्वारा मनीषा नाम की कोईलडकी परिवार मे ना होना बताया जिस पर फोटो भेजने पर फोटो की पहचान नेहा पिता परशुयादव के रूप मे बताई एवं इसकी रिपोर्ट याना नोहटा मे होना बताया थाना नोहटा मे इस संबंधमे अपराध क 170/19 धारा 363 ताहि. का दिनाक 12.04.19 को कायम कराया गया है।परिजनो ने आकर इसकी शिनाख्त नेहा यादव के रूप में की है। उक्त प्रकरण मे आरोपी धर्मेन्द्र
के विरूद्ध अपराध क 174/19 धारा 304 (ए) 201 ताहि. 134 एबी 184 एमव्ही उक्ट का
कायम किया जाकर आरोपी से दुर्घटना मे क्षतिग्रस्त वाहन एवं मोबाईल जिसमे मृतक युवती कीतस्वीरे थी जप्त किये गये है। उक्त कार्य मे मुख्य रूप से थाना प्रभारी बांदरी रविभूषण पाठकप्रशिक्ष उपनिरीक्षक सुनील शर्मा चौकी रतवांस सहायक उपनिरीक्षक सी.के. भारद्वाज थाना मालथौनआरक्षक राजेश, बीरेन्द्र, संतोष, कमलेश थाना बांदरी की विशेष सराहनीय भूमिका रही।

समस्याओं का समाधान है सिर्फ कर्तव्यों का पालन करने से:जज गंगाचरण दुबे

समस्याओं का समाधान है सिर्फ कर्तव्यों का पालन करने से:जज गंगाचरण दुबे
सागर। इंदिरा गाँधी इंजीनियरिंग महाविद्यालय सागर में सविधान दिवस समारोह के तहत संविधान पर ब्याख्यानमाला  आयोजित की गई। गया। इसके मुख्य अथिति  गंगाचरण दुबे, अपर जिला सत्र न्यायाधीश देवास, और अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष  डा. अंकलेश्वर दुवे,अधिकवक्ता अरविन्द कुमार जैन 'रवि' अधिवक्ता एवं प्रोफे. आनंद मंगल विशेश अतिथि थे।
न्यायाधीश गंगाचरण दुबे  ने कहा कि देश मे सभी समस्याओं का समाधान संवेधानिक कर्तव्यों का पालन करने से ही सम्भव है। उन्होंने सविधान के मूल कर्तव्यों की विस्तार से  व्याख्या प्रस्तुत की। इस मौके पर अधिवक्ता अरविन्द रवि एवं जिला अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष डा.
अंकलेश्वर दुबे ने संविधान के मूल अधिकार पर अपने विचार प्रस्तुत किये
कार्यक्रम में  प्राचार्य डॉ. एन. एन  प्रजापति  द्वारा अतिथियों का शाल, श्रीफल एवं स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मान किया गया। स्वागत भाषण प्रो.एवं डा.एस.के भट्ट  द्वारा
प्रस्तुत किया गया।  कार्यक्रम का संचालन डी.आर.परमेश्वरी ने किया। संविधान के व्याख्यान कार्यक्रम में डा. एच.के.मिश्रा, प्रो.एम.आर.अहिरवार,  विपाशा मिश्रा, प्रो.एस.के.सलूजा, प्रो.जी.एस किरार, प्रो.
राजेन्द्र प्रसाद, प्रो.मनीष सोनी, डॉ.आनंद कुमार जैन, प्रो-विनायक वारेवार, प्रो.संकल्प शुक्ला, प्रो.अमितकुमार, प्रो. योगेन्द्र कुमार, गोविन्द राय, सी.बी.नेमा, एस के खुदलिया, पी.के.शिवेनी, श्रीमति विजय सेन ,श्रीमति संगीता उइके, प्रसन्न तिवारी, बी एल मरावी, एच एल चौधरी, जी एस भास्कर, बीके तिवारी, के केपाण्डे, के पी अहिरवार,बसंत चौधरी, नरेश नागले.दीपेश गंगेले, दीपक पाण्डे, डॉ. ममता राज, जी.आर.
परमेश्वरी, हीरालाल सेन, अनिल कुमार, पर्वत सिंह, बाबूलाल, गुड्डू सिंह, राजकुमार कलश्या इत्यादिअधिकारी/कर्मचारी कार्यक्रम में मौजूद रहे।

नाबालिग बच्चे की पिटाई,दमोह एसपी ने किये दो पुलिसकर्मी लाइन अटैच ,सीएम ने जांच के दिये थे निःर्देश

नाबालिग बच्चे की पिटाई,दमोह एसपी ने किये दो पुलिसकर्मी लाइन अटैच ,सीएम ने जांच के दिये थे निःर्देश
दमोह।दमोह जिले में कोतवाली थाना के एक वीडियो सामने आया था।  जिसमें पुलिस वाले एक नाबालिग की  पिटाई करते दिखाई दे रहे थे। इस  मामले में  एसपी दमोह ने दोनों पुलिस कर्मियों को लाइन अटैच कर दिया है। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर चिंता जताते हुए घटना की जांच के आदेश दिए थे ।
सीएम कमलनाथ का ट्वीट
मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर कहा है, " दमोह में एक मासूम बालक की पिटाई का एक वीडियो मेरे संज्ञान में आया है। इस पूरे मामले की जांच के आदेश पुलिस प्रशासन को दे दिए हैं।जांच में जो भी दोषी सामने आए, उस पर कड़ी कार्रवाई के निर्देश भी दिए गए है। इस तरह की हैवानियत से भरी घटनाएं, मानवता को तार-तार करती हैं। बर्दाश्त नहीं की जा सकती है और ना ही इसके दोषियों को बख्शा जा सकता है।"
पिटाई करने वाले दो पुलिस कर्मी लाईन अटैच
वायरल वीडियो दमोह पुलिस कोतवाली परिसर का है। जहां कुछ पुलिस वाले एक टेंट के नीचे बैठे हैं और दो पुलिस कर्मी सिविल ड्रेस में एक बच्चे को पीट रहे हैं। वीडियो में स्पष्ट दिख रहा है कि बगैर कपड़ों के एक लड़के को दो पुलिस कर्मी लाठी-डंडों से पीट रहे हैं। बाकी के पुलिस वाले इस लड़के के पीटने का आनंद ले रहे हैं। इतना ही नहीं बेरहमी से पिटाई करने के बाद दोनों पुलिस वाले जोर-जोर से हंस भी रहे है। अमानवीयता से भरे इस वीडियो के वायरल होने के बाद हड़कंप मच गया है।
दमोह के एसपी विवेक सिंह ने वीडियो सामने आने पर इस बात की पुष्टि की है कि पिटाई कर रहे दोनों लोग सादे ड्रेस में पुलिस आरक्षक हैं। उनकी पहचान होने के बाद लाइन अटैच कर दिया गया है। एसपी विवेक सिंह के मुताबिक़, एसडीओपी तेंदूखेड़ा को इस मामले की जांच के आदेश दिए गए हैं लेकिन ये वीडियो कब का है और इसे किसने बनाया। इसकी भी जांच करा रहे हैं

रहस्यज्ञाता को संसार आनन्द स्वरूप है:आचार्य ब्रजपाल शुक्ल

रहस्यज्ञाता को संसार आनन्द स्वरूप है:आचार्य ब्रजपाल शुक्ल
सागर। ढाना (सागर) में दीपक तिवारी के निवास पर चल रही राम कथा में व्यास पीठ से आचार्य ब्रजपाल शुक्ल ने बताया कि रहस्य को जानने वाले के लिए तो संसार आनन्द स्वरूप है।उन्होंने प्रवचन में बताया किएक ही समय मे अनेक रूप भगवान की विशेषता है। जीव अपने कर्म के अधीन होकर जिस रूप स्वभाव को प्राप्त करता है मृत्युपर्यंत उसी रूप और उसी स्वभाव में जीता है।वह अपने रूप को बदल ही नही सकता। इस संसार को उतपन्न करने वाले भगवान में ऐसा सामर्थ्य है कि एक ही स्वरूप में अनेक रूपो का दर्शन करा सकते हैं। एक ही क्षण में किसी भी शरीर को धारण कर सकते हैं।
महाराज जनकजी के मंच मे धनुष यज्ञ के समय श्रीराम ने अनेक रूपो में अनेक लोगो को अनेक प्रकार से दर्शन दिए।तुलसीदास जी ने कहा- 
जिनके रही भावना जैसी।
प्रभु मूरति तिन्ह देखी तैसी।
मनुष्यो के मध्य में खड़े हुए रघुनन्दन एक रूप में होते हुए भी मनुष्यो को अवतार के अनुसार एक ही क्षण में अनेक रूपो में दिखाई दे रहे थे।
पन्द्रह वर्ष की आयु के सुकोमल स्वरूप में बड़े-बड़े योद्धाओ को ऐसे दिख रहे थे जैसे साक्षात वीर रस शरीर धारण करके खड़ा है।राजा लोग उनके इस  विलक्षण शरीर को देखकर इतने भयभीत हो गए जैसे कोई भयानक मूर्ती खड़ी हो वह मधुर मनोहर मूर्ति दुष्टो को इतनी भयानक दिख रही थी। 
उन्होंने बताया कि कुछ असुर राजाओ के वेष में बैठे हुए थे उनको वही श्री राम साक्षात मृत्यु के समान दिख रहे थे।दशरथ नन्दन विश्वामित्र जी के बगल में बैठे हुए विद्वानों को विराट पुरुष के रूप में दिख रहे थे। विद्वानों को श्रीराम के हजारों मुख, हजारो चरण और हजारो नेत्र दिख रहे थे। वह विराट रूप विद्वानों को उसी शरीर मे दिख रहा था।धनुष टूटने के पहले ही महाराज जनक को श्रीराम अपने सगे सम्बन्धी के समान दिख रहे थे। भगवान के भक्तों को श्रीराम में अपने इष्टदेव दिखाई दे रहे थे।संसार के जीव भगवान को अनेक रूपो में मानते हैं लेकिन अपने भगवान को अनेक रूपो में नही जानते हैं जबकि भगवान का ही एक स्वरूप संसार है।
इस  विलक्षण संसार मे अनेक शरीर हैं। सभी शरीरो में वही एक ही भगवान रहते हैं किंतु यह जीव शारीरिक सुख के कारण तन, धन, भोजन इन तीन में ही सुख देखता है। जब इनसे सुख नही मिलता तो आजीवन दुःख में ही समय व्यतीत करता है, दुखी होकर ही मरता है।
जिन मनुष्यो को भगवान का रहस्य ज्ञात है वे ही संसार मेआनन्द से निवास करते हुए आनन्दरूप भगवान में प्रवेश करते हैं और मुक्त हो जाते हैं।
कथा को सुनने पहुचे अनेक मीडिया कर्मी
आज की कथा में पूर्व सांसद लष्मीनारायन यादव,वरिष्ट पत्रकार राजेश सिरोठिया,मंगला मिश्र , सुदेश तिवारी,अजय दुबे,लक्मन  सिंह,विनोद आर्य,भारत तिवारी, मुकेश जैन,  संदीप तिवारी, सुनील भाई पटेल,विवेक तिवारी,नरेंद्र दुबे,विज्ञान मिश्रा, महेश बिदुआ, कोमल यादव,राजकुमार पचौरी,अनुपम पटेरिया,मनुज नामदेव, समर्थ दीक्षित ,नीलेश राय, मनीष दुबे आदि ने कथा श्रवण किया व आचार्य जी का आशीर्वाद ग्रहण किया

आबकारी उपनिरीक्षको के प्रशिक्षण सत्र का समापन ,दो माह चला प्रशिक्षण

आबकारी उपनिरीक्षको  के प्रशिक्षण सत्र का समापन ,दो माह चला प्रशिक्षण
सागर। जवाहर लाल नेहरू पुलिस अकादमी सागर में आबकारी उपनिरिक्षको का 10 वा प्रशिक्षण सत्र का समापन हुआ।  प्रशिक्षण में मध्यप्रदेश के विभिन्न जिलों में पदस्थ कुल 58 उपनिरीक्षक (आबकारी) सम्मिलित हुए ।
 प्रशिक्षण सत्र के समापन समारोह में मुख्य अतिथि आई0सी0पी0 केशरी, भाप्रसे, अतिरिक्त मुख्य सचिव, (आबकारी) म0प्र0 शासन रहे। उन्होंने  प्रशिक्षु अधिकारियों को प्रशिक्षण के महत्व एवं मैदानी सेवाओं में प्रशिक्षण की उपयोगिता परप्रकाश डालते हुए व्यक्तित्व विकास के बारे में बताया साथ अपनी दैनिक दिनचर्या में फिजिकलफिटनेस का महत्व बताया।
 अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक/निदेशक,
जवाहरलाल नेहरू पुलिस अकादमी,सागर  जी जनार्दन द्वारा प्रशिक्षु अधिकारियों को संबोधित किया गया एवं राजेश बहुगुणा, कमिश्नर (आबकारी), श्री के0के0 डोहर, उपायुक्त (आबकारी) सागरद्वारा भी प्रशिक्षुओं संबोधित किया गया एवं प्रमाण पत्र प्रदान किये गये ।
इस अवसर पर  आनन्द शर्मा, कमिश्नर, सागर,  सतीश कुमार सक्सेना, पुलिस महानिरीक्षक, सागर एवं दीपक वर्मा, पुलिस उप महानिरीक्षक, सागर द्वाराकार्यक्रम में उपस्थित होकर मुख्य अतिथि एवं प्रशिक्षु उपनिरीक्षक (आबकारी) से सप्रेम भेंट की।
ये प्रशिक्षण दिया गया
 प्रशिक्षण के दौरान जवाहरलाल नेहरू पुलिस
अकादमी,सागर द्वारा इन प्रशिक्षु अधिकारियों को कानून, एन0पी0एस0 एक्ट, मानइर एक्ट, आबकारी अधिनियम, साक्ष्य अधिनियम, अपराध विवेचना, साक्ष्य संकलन, आदि विषयों का प्रशिक्षण दिया गयासाथ ही अनुशासन एवं फिजिकल फिटनेस को दृष्टिगत रखते हुए पीटी, परेड, योगा, यु०ए०सी० काभी प्रशिक्षण प्रदान किया एवं परीक्षा भी आयोजित की गई।
प्रशिक्षण के दौरान प्रशिक्षुओं तनाव मुक्त रखने एवं प्रशिक्षण को और अधिक रोचकबनाने की दृष्टि से विभिन्न खेलों एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजन किया गया । खेल मेंउत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले प्रशिक्षुओं के उत्साहवर्धन हेतु उन्हें पुरस्कृत भी किया गया एवं सभीप्रशिक्षुओं को उनके द्वारा प्रशिक्षण को सफलतापूर्वक पूर्ण करने पर प्रमाण पत्र प्रदान किया।समापन समारोह के अवसर पर अकादमी में पदस्थ अन्य अधिकारी भी उपस्थित रहें।

आचार्य श्री विद्यासागर महाराज का विहार इंदौर की ओर,नये वर्ष में प्रवेश

आचार्य श्री विद्यासागर महाराज का विहार इंदौर की ओर,नये वर्ष में प्रवेश
सागर। संत शिरोमणि आचार्य श्री विद्यासागर महाराज का ससंघ मंगल विहार बड़वाह से इंदौर की ओर हुआ 29 दिसंबर की आहारचर्या इंदौर रोड पर स्थित उमरिया  में होगी।
मुनि सेवा समिति के सदस्य मुकेश जैन ढाना ने बताया कि आचार्य  संघ की अगवानी 1 या 2 जनवरी को इंदौर में होगी। इंदौर में 1999 के बाद आचार्य श्री जी का आगमन हो रहा है इंदौर समाज में गुरुदेव के आगमन की जोरदार तैयारियां की जा रही है। उल्लेखनीय इंदौर में आचार्य श्री के आशीर्वाद से लड़कियों को संस्कारित शिक्षा देने के लिए पांचवी प्रतिभास्थली खोली गई है।  जिसकी  नई बिल्डिंग निर्माणाधीन है  इसके पूर्व जबलपुर रामटेक डोंगरगढ़ और पपौरा जी टीकमगढ़ में प्रतिभास्थली खोली जा चुकी हैं।

बुन्देलखण्ड मेडिकल कालेज की सीट्स बढ़ी, इसके लिए अस्पताल परिसर में जगह के लिए निरीक्षण किया ,कमिश्नर - कलेक्टर ने


बुन्देलखण्ड मेडिकल कालेज की सीट्स बढ़ी, इसके लिए अस्पताल परिसर में जगह के लिए निरीक्षण किया ,कमिश्नर - कलेक्टर ने  
सागर ।बुन्देलखण्ड चिकित्सा महाविद्यलाय सागर में पीजी सीट्स की संख्या में वृद्वि एवं जिला चिकित्सालय के लिये वैकल्पिक भूमि की व्यवस्था के संबंध में बैठक शनिवार को कमिष्नर  आनंद कुमार शर्मा की अध्यक्षता में कमिष्नर कार्यालय के सभाकक्ष में सम्पन्न हुई। बैठक में निर्णय लिया गया कि जिला चिकित्सालय परिसर में विभिन्न विभागों के भवनों, चिकित्सालय, स्टॉफ के भवन एवं अन्य खाली पड़ी भूमि को चिन्हांकित कर आर्किटेक्ट के द्वारा डिजाइन तैयार कराई जाये। जिससे मेडीकल कॉलेज हेतु 400 विस्तर के लिये आवष्यक जमीन प्राप्त हो सके और जिला चिकित्सालय का अस्तिव भी बना रहे है।
बैठक में कमिष्नर आनंद शर्मा ने कहा कि मेडीकल कॉलेज की सीट्स वृद्वि एवं अनेक विषयों में पीजी पाठ्यक्रम स्वीकृत हुये है जिसके कारण मेडीकल कॉलेज की वर्तमान क्षमता 750 से बढ़ाकर 1100 करनी है जिसके लिये मेडीकल कॉलेज के लिये भूमि खोजी जाये जिससे जिला चिकित्सालय परिसर में ही मेडीकल कॉलेज को 400 विस्तर बढ़ाने हेतु नवीन भवन हेतु भूमि उपलब्ध कराई जा सके।
इस सबंध में कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक ने सुझाव दिया कि जिला चिकित्सालय सागर शहर से अन्यत्र कहीं नये भवन स्थान्तरण होगी तब वहां सागरवासियों के लिये आने-जाने में असुविधा होगी। जिसके लिये उन्होंने जिला चिकित्सालय परिसर में खाली पड़ी भूमि एवं क्षतिग्रस्त आवासों को समतल कराकर मेडीकल कॉलेज के लिये उपलब्ध कराई जा सकती है एवं जिला चिकित्सालय के आवासीय परिसर हेतु शहर में ही अन्यत्र भूमि पर आवासीय परिसर बनाया जा सकेगा।
कमिष्नर  आनंद शर्मा ने बैठक में ही डीन मेडीकल कॉलेज, सीएमएचओ जिला चिकित्सालय, कार्यपालन यंत्री पीआईयू लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को तहसीलदार द्वारा भूमि नक्शा  के द्वारा जगह को बताया गया । अवसर पर कमिष्नर नगर निगम, अधिवष्ठाता बुन्देलखण्ड चिकित्सा एवं महाविद्यालय, अधीक्षक बुन्देलखण्ड चिकित्सा एवं महाविद्यालय, क्षेत्रीय संयुक्त सर्जन जिला चिकित्सालय, मुख्य चिकित्सालय एवं स्वास्थ्य अधिकारी, सिविल सर्जन जिला चिकित्सालय, तहसीलदार एवं कार्यपालन यंत्री पीआईयू लोक निर्माण विभाग सागर आदि मौजूद थेे।
 कमिष्नर, कलेक्टर ने किया चिकित्सालय परिसर का मुआयना
 बुन्देलखण्ड चिकित्सा महाविद्यलाय सागर में पीजी सीट्स की संख्या में वृद्वि एवं जिला चिकित्सालय के लिये वैकल्पिक भूमि की व्यवस्था के संबंध में कमिष्नर आनंद कुमार शर्मा कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक ने विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ जिला चिकित्सालय पहुंचकर खाली पड़ी भूमि एवं क्षतिग्रस्त मकानों व निर्माणाधीन भवनों का निरीक्षण किया एवं तहसीलदार द्वारा मौके पर ही राजस्व नक्शा के द्वारा चिकित्सालय परिसर की भूमि को चिन्हाकित कर खाली भूमि को बताया गया। अधिकारी द्वय द्वारा परिसर के मुख्य द्वार से लेकर परिसर के अंतिम छोर तक पैदल मार्च करते हुये सूक्षमता से अवलोकन किया। अवलोकन के उपरांत कमिष्नर श्री शर्मा ने डीन मेडीकल कॉलेज,सीएमएचओ जिला चिकित्सालय, कार्यपालन यंत्री पीआईयू लोक निर्माण विभाग को निर्देष दिये कि राजस्व विभाग से उपलब्ध नक्षे को प्राप्त कर आर्किटेक्ट के द्वारा नई डिजाइन तैयार करायें।
इस अवसर पर कमिष्नर नगर निगम, अधिवष्ठाता बुन्देलखण्ड चिकित्सा एवं महाविद्यालय, अधीक्षक बुन्देलखण्ड चिकित्सा एवं महाविद्यालय, क्षेत्रीय संयुक्त सर्जन जिला चिकित्सालय, मुख्य चिकित्सालय एवं स्वास्थ्य अधिकारी, सिविल सर्जन जिला चिकित्सालय, तहसीलदार एवं कार्यपालन यंत्री पीआईयू लोक निर्माण विभाग सागर आदि मौजूद थेे।
          

एमपी में जिला पंचायत सागर को सीएम हेल्पलाईन में ए-ग्रेड मिला

एमपी में  जिला पंचायत सागर को सीएम हेल्पलाईन में ए-ग्रेड मिला
सागर । मध्यप्रदेष पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग अंतर्गत सीएम हेल्पलाईन (181) में दर्ज षिकायतों का व्यक्तिगत रूचि लेते हुए निराकरण कराये जाने पर जिला पंचायत सागर को सीएम हेल्पलाईन में जिला पंचायत वार ग्रेडिंग में प्रथम समूह अंतर्गत षिकायतों के निराकरण में लगातर उत्कृष्ट प्रदर्षन करते हुए माह नवम्बर में भी ए-ग्रेड प्राप्त किया है। मध्यप्रदेष शासन पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के सचिव श उमाकांत उमराव ने जिला पंचायत सीईओ सागर  चन्द्रषेखर शुक्ला को बधाई देते हुए भविष्य में भी इसी निष्ठा एवं समर्पण भावना से आम जन के सेवा निष्पादन में प्राप्त षिकायतों का संतुष्टिपूर्ण कराते रहेंगे।
इसी प्रकार विभाग ने मुख्य कार्यपालन जनपद पंचायत बण्डा, श्सुरेन्द्र खरे को सीएम हेल्पलाईन की षिकायतों के निराकरण में उत्कृष्ट प्रदर्षन पर प्रदेष में द्वितीय स्थान प्राप्त करने पर बधाई दी है।

शुक्रवार, 27 दिसंबर 2019

लोकायुक्त पुलिस ने NHAI के प्रबंधक को एक लाख की रिश्वत लेते पकड़ा,सागर में पेट्रोल पम्प की अनापत्ति प्रमाणपत्र का मामला


लोकायुक्त पुलिस ने NHAI के प्रबंधक को  एक लाख की रिश्वत लेते पकड़ा,सागर में पेट्रोल पम्प की अनापत्ति प्रमाणपत्र का मामला

सागर। लोकायुक्त पुलिस सागर संभाग ने छत्तरपुर जिले के NHAI राष्ट्रीय राजमार्ग सड़क विकास प्राधिकरण छत्तरपुर के प्रबंधक सुरेश अग्निहोत्री को एक लाख रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा है । प्रबंधक ने  पेट्रोल पंप का अनापत्ति प्रमाण पत्र देने के एवज में रिश्वत मांगी थी।
लोकायुक्त पुलिस अधीक्षक रामेश्वर यादव ने बताया कि  आवेदक गणेश कोरी नेपुलिस अधीक्षक विशेष पुलिस स्थापना लोकायुक्त कार्यालय, सागर संभाग सागर के समक्ष शिकायत प्रस्तुत की थी।जिसमे  आवेदक को सागर में भोपाल लखनऊ नेशनल हाईवे पर केरबना सागर में पेट्रोल पंप खोलने के लिए  जगह अलाट हुई थी। इसके  अनापत्ति प्रमाणपत्र को  जारी करने के लिए NHAIराष्ट्रीय राजमार्ग सड़क विकास प्राधिकरण  छत्तरपुर कार्यालय के प्रबंधक सुरेश अग्निहोत्री द्वारा एक लाख  50 हजार रुपये  की रिश्वत की मांग की जा रही है।
     इस पर आज लोकायुक्त की टीम ने DSP राजेश खेड़े के नेतृत्व में  निरीक्षक अभिषेक वर्मा और सदसयो के साथ मैनेजर को एक लाख रुपये की रिश्वत लेते उसके छत्तरपुर कार्यालय में रात्रि में रंगे हाथों पकड़ा। लोकायक्त की टीम ने दिनभर की मशक्कत के बाद रात्रि में रिश्वत लेते दबोच लिया।

दो दर्जन निरीक्षकों के तबादले

दो दर्जन निरीक्षकों के तबादले
भोपाल। पुलिस स्थापना बोर्ड ने निरीक्षकों/रक्षित निरीक्षकों के तबादला किये है । दो निरीक्षकों तबादले  के निरस्त के भी निकले है।

अभियोजन अधिकारियों ने 11 सूत्रीय मांगो के लिए अपर कलेक्टर को सौपा ज्ञापन


अभियोजन अधिकारियों ने 11 सूत्रीय मांगो के लिए अपर कलेक्टर को सौपा ज्ञापन
सागर। जिला अभियोजन कार्यालय सागर के अभियोजन अधिकारियों ने म.प्र. लोक अभियोजन अधिकारी ने अपनी मांगों के संबंध में मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन अपर कलेक्टर मूलचंद्र वर्मा को दिया गया। जिसमें अभियोजन कार्यालय से अभियोजन अधिकारीगण अमित जैन, सौरभ डिम्हा, श्याम नेमा, सचिन गुप्ता, मनोज नायक, अशीष त्रिपाठी एवं अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहें।
जन संपर्क अधिकारी अमित जैन ने बताया कि नियमित संवर्ग के अभियोजन अधिकारी राज्य लोक सेवा आयोग राजपत्रित अधिकारी हैं, जिनका प्रमुख कार्य आपराधिक न्यायालय में पैरवी, अपील-रिवीजन, विभिन्न विभागों को विधिक सलाह, सजा के आंकडे, आपराधिक मामलों की मानीटरिंग, प्रशिक्षण व स्क्रूटनी  आदि है। राज्य के उक्त संवर्ग द्वारा हाल के वर्षोंे में उत्कृष्ट प्रदर्शन करते हुए अधिकांश आपराधिक मामलों मे सजा कराई गई है, जिसमें राज्य भर में हत्या बलात्संग, पाॅक्सों आदि के गंभीर मामलों में पिछले दो वर्षों में कराई गई 31 मृत्युदंड तथा लगभग 100 आजीवन कारावास की सजा भी है जो राष्ट्रªीय स्तर पर एक रिकार्ड हैं वर्तमान में उक्त संवर्ग के अभियोजन अधिकारी को मजिस्ट्रेट न्यायालयों तथा शासन स्तर पर मात्र चिन्हित जघन्य सनसनीखेज अपराधों, लोकायुक्त, म्व्ॅए च्व्ब्ैव्   तथा कुछ जिलों में ैब्ैज् तथा छक्च्ै  के विशेष न्यायालयों में ही पैरवी के अधिकार दिए गए है, जिनमें नियमित संवर्ग के पैरवी के परिणाम स्वरूप अधिकांश मामलो में सजा कराने में सफलता मिली है तथा सजा का प्रतिशत हाल के वर्षों में लगभग 70 प्रतिशत रहा है। यह संवर्ग अपने सतत कार्य-अनुभव व प्राप्त विभिन्न प्रशिक्षण तथा स्थाई सेवा व गृह जिले से बाहर पदस्थापना के कारण अत्यंत प्रभावी व उत्तरदाई तथा विश्वसनीय अभियोजन संवर्ग है विटनेस-हेल्पडेस्क तथा प्राॅसीक्यूशन पोर्टल के माध्यम से यह संवर्ग साक्षियों तथा पीडित व्यक्तियों  की मदद भी करता है व जानकारी उपलब्ध कराता है हाल के वर्षो में राष्ट्रªीय व अन्तरराष्ट्रªीय स्तर पर अनेक प्रतिष्ठित पुरस्कार-अवार्ड भी इस संवर्ग को मिल चुके है। प्राॅसीक्यूसन मोबाइल एप के द्वारा प्रत्येक अभियोजन अधिकारी के कार्याें की निरंतर समीक्षा भी की जाती है तथा  उनके कार्यों की माॅनिटरिंग विभाग द्वारा सतत रूप से होती है।
 नियमित संवर्ग के अभियोजन अधिकारियों की लंबे समय से मांग रही है कि सेशन स्तर के न्यायालयों में लोक अभियोजक व अतिरिक्त लोक अभियोजकों के पद दिए जांए जिससे गंभीर अपराधों  में प्रभावी पैरवी की जाकर अपराधियों को सजा दिलाई जा सके। किंतु नियमित सेवा, उत्कृष्ट प्रदर्शन व उत्तरदायित्व से जुडे होने के बाबजूद नियमित सेवा के इस संवर्ग के अभियोजन अधिकारियों की निरंतर उपेक्षा की जाती रही है तथा योग्य, अनुभवी व उत्तरदाई होने के बावजूद मुख्यतः निचली अदालतों में ही कार्य का अवसर दिया जाता है जबकि इसके विपरीत बिना योग्यता परीक्षण के गैर नियमित संवर्ग को अस्थाई रूप से गृह जिले के भीतर ही, स्थानीय स्तर पर लोक अभियोजक व अपर लोक अभियोजक  के रूप में नियुक्ति कर दी जाती है जहां लोकल संपर्क, निजी प्रैक्टिस, उत्तरदायित्व के अभाव तथा कार्य अनुभव की कमी आदि के कारण गंभीर आपराधिक मामलों में समुचित पैरवी तथा अपील-रिवीजन की कार्यवाही नहीं हो पाती। गैर संवर्ग के अभियोजकों पर शासन का कोई नियंत्रण नही होता तथा उन पर सिविल कंडक्ट रूल्स लागू नही होता। उनकी इस स्थिति का नुकसान पीडित पक्ष को उठाना पडता है और सजा का प्रतिशत गिरता है। यह आपराधिक न्याय प्रशासन व जनहित में भी नही है। इस विषय सहित कुल 11 सूत्रीय मांगों को लेकर आज नियमित संवर्ग के अभियोजन अधिकारियों द्वारा पूरे प्रदेश में जिला स्तर पर कलेक्टर महोदय के माध्यम से प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री को ज्ञापन प्रेषित किया गया।   
11-सूत्रीय मांगें

1. सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी का वेतनमान छठवें वेतन आयोग में ग्रेड पे 5400 रूपये पर निर्धारित किया जाये।

2. लोक अभियोजक व अपर लोक अभियोजक के पद नियमित संवर्ग के लिए आरक्षित की जाए।

3. संवर्ग के अधिकारियों का लंबित समयमान अविलंब स्वीकृत किया जाए।

4. जिला स्तर पर प्रत्येक अभियोजन कार्यलय हेतु कम से कम एक शासकीय एसयूवी वाहन हेतु 30000 रूपये मासिक बजट स्वीकृत किया जाए।

5. कार्य के दौरान आवश्यक स्टेशनरी, विधिक पुस्तकों, समाचार पत्रों व पत्रिकायों हेतु लाइब्रेरी एलाउंस 1000 रूपये मासिक प्रत्येक अभियोजन अधिकारी को स्वीकृत किया जाए।

6. संचालनालय लोक अभियोजन तथा जिला व तहसील लोक अभियोजन कार्यालय भवन हेतु समुचित राशि स्वीकृत की जाए।

7. न्यायालय में पैरवी के दौरान निर्धारित गणवेश हेतु प्रत्येक अभियोजन अधिकारी को ड्रेस एलाउंस 8000 रूपये वार्षिक स्वीकृत किया जाए।

8. प्रत्येक जिला व तहसील में पदस्थ अभियोजन अधिकारियों को शासकीय आवास उपलब्ध कराए जाए अथवा बाजार दर पर मकान किराया भत्ता प्रदान किया जाए।

9. सभी जिलों में अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के प्रकरणों हेतु उपसंचालक स्तर के विशेष लोक अभियोजक के पद स्वीकृत किए जाएं।

10. प्रत्येक संभाग में प्रशासनिक नियंत्रण हेतु संयुक्त संचालक अभियोजन के तािा जिला स्तर पर पर्याप्त संख्या में क्क्च्ध्।कण् क्च्व् के पद स्वीकृत किये जाये।

11. अन्य समकक्ष सेवाओं के अनुरूप चार स्तरीय समयमान और काडर रिव्यू की जाकर पदोन्नत पदों क्च्व् तथा क्क्च् की संख्या, फीडर काडर के 50 तक की जानी चाहिए। साथ ही संचालनालय लोक अभियोजन का पुनर्गठन भी किया जावे।

सौंदर्य माधुर्य वीरता के निधान श्रीराम - आचार्य ब्रजपाल शुक्ल ,नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव पहुचे कथा में

सौंदर्य माधुर्य वीरता के निधान श्रीराम - आचार्य ब्रजपाल शुक्ल ,नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव पहुचे कथा में

सागर।सागर के ग्राम  ढाना  दीपक तिवारी के निवास पर चल रही राम कथा के तीसरे दिन ब्रजपालजी ने कथा में कहा किसंसार मे  निर्विकार सौंदर्य प्राप्त नही होता। सौंदर्य में विकार होता ही है। सुंदरता को देखकर के भी विकार उतपन्न होता है तथा जिसमे सुंदरता होती है उसमें भी विकार उतपन्न होता है किंतु निर्गुण  निराकार भगवान जब साकार रूप धारण करते है तब उनके सौंदर्य को देखकर विकार पुरुषों का मन भी निर्विकार हो जाता है।जनकपुर में श्रीराम के सहज सौंदर्य को देखकरके देखने वाले के नेत्रों में आंसू भर आये विकार मन निर्विकार हो गया। उसी श्रीराम को जब महाराज जनक ने देखा तो उनका ब्रह्मज्ञान शिथिल हो गया और राम को ही साक्षात ब्रह्म रूप में देखने लगे कि यह आनंद स्वरूप ब्रह्म है।तुलसी ने कहा है
मूरति मधुर मनोहर देखी।
भयउ विदेह विदेह विषेखी ।।
उन्होंने कहा कि संसार के सभी जीवों से लेकर ऋषि मुनि तक संसार की सुंदरता को देख करके भ्रष्ट हो जाते है किंतु राम की मधुर मूर्ति को देखकर महाराज जनक जैसे ज्ञानी पुरुष भी अपने ज्ञान मार्ग को छोड़कर भक्ति मार्ग में बह जाते है।भगवान की सुंदरता का अनुभव भक्तो को ही होता है ज्ञानियो को नही होता। ज्ञानीजन सभी जीवों के ह्रदय में भगवान को देख सकते हैं लेकिन जो  आनन्द साकार स्वरूप में खड़े हुए भगवान को देखकर आनन्द आता है वह आनन्द तो योगियों को भी नही आता।ज्ञानी, अज्ञानी, मूर्ख, बालक, वृद्ध, स्त्री-पुरुष सभी को समान रूप से एक जैसा ही आनन्द आ रहा है। श्रीराम को देखकर जैसा अनुभव वृद्धो को हो रहा है वही अनुभव बालको को हो रहा है। जैसा अनुभव स्त्रियों को हो रहा है वैसा ही अनुभव पुरुषों को हो रहा है।यही श्रीराम के सौंदर्य का विलक्षण प्रभाव है।श्रीराम जिसकी भी ओर अपने कमल नेत्रो से देख लेते है वह समाधिस्त हो जाता है।संसार का सौंदर्य सभी जीवों के भोग का साधन है किंतु भगवान की सुंदरता संसार के भोग्य पदार्थो से निवृत्ति का साधन है।
इसलिए सौंदर्य वही है जो निर्विकार कर दे, माधुर्य वही है जो आनन्द मे मग्न कर दे, लावण्य वही है जो संसारसे विरक्त कर दे और यह गुण मात्र भगवान में ही है संसार मे नही।
कथा में ये हुए शामिल
आज की कथा में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव, मध्यप्रदेश सरकार के अतिरिक्त महाधिवक्ता अजय गुप्ता, पूर्व विधायक सुनील जैन,नारायण प्रसाद कबीरपंथी, शासकीय अधिवक्ता राम अवतार तिवारी,हनुमान प्रसाद तिवारी,रादेष तिवारी,राजेन्द्र जारोलिया आदि ने कथा श्रवण व आचार्य जी से आशीर्वाद प्राप्त किया।

आयकर विभाग में जॉइंट कमिश्नर के पद पर हुई सागर के अनूप जैन की पदोन्नति

 आयकर विभाग में जॉइंट कमिश्नर के पद पर हुई सागर के अनूप जैन की पदोन्नति

भोपाल ।बेनामी यूनिट मध्यप्रदेश के प्रभारी डिप्टी कमिश्नर अनूप जैन बने जॉइंट कॉमिशनर।अनूप जैन, इंदौर-ग्वालियर और भोपाल में आयकर विभाग के महत्वपूर्ण पदों पर पदस्थ रहे हैं।
केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड ने 26.12.19 के अपने आदेश में 2010 बेच के 187 IRS अफसरों का जॉइंट कॉमिशनर प्रमोशन किया है जो कि 1 जनवरी 2020 से लागू है। नए पदोन्नत अधिकारियों को 1 जनवरी को जॉइंट कमिश्नर इनकम टैक्स के रूप में जोइनिंग देनी है।
मध्यप्रदेश के 04 आई आर एस अधिकारियों का नाम इस प्रमोशन आर्डर में शामिल है। इनमें अनूप जैन, सुनील शर्मा, गुँजन वारस्नेय और मुनमुन शर्मा शामिल हैं। इनमें अनूप जैन मध्यप्रदेश की बेनामी यूनिट में डिप्टी कमिश्नर का प्रभार देख रहे हैं। सामान्यतः प्रोमोशन के साथ तबादले भी होते हैं किंतु अभी केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड ने इन चारों अधिकारियों को मध्यप्रदेश में ही पोस्टेड रखा है। अभी किसी भी अधिकारी का तबादला नही हुआ है। मूलतः नरयावली के पास के लुहारी ग्राम में पड़े -वले अनूप जैन हिंदी माध्यम से UPSC पास करके 2010 में  आई आर एस जैसी प्रीतिष्ठित सेवा में पदस्थ हुए थे। जिन्होंने इंदौर ग्वालियर और भोपाल में आयकर विभाग के महत्वपूर्ण पदों पर रहते हुए अपनी सेवाएं दी है। 
अनूप जैन ग्राम विकास और सामाजिक सरोकारों के कामो से जुड़े हैं। ग्रामों में स्कूल एवं स्वाथ्य सुविधाओ लिए प्रयासरत रहते हैं हाल ही में उनके प्रयासों से आयकर विभाग ने ने ग्राम लुहारी और आसपास के ग्रामो में लिए बड़ा चिकित्सा शिविर लगाया।

श्रीमद् भागवत ज्ञानगंगा महोत्सव, संत श्री कमल किशोर नागर जी के श्री मुख से बरकोटी में 4 जनवरी से

श्रीमद् भागवत ज्ञानगंगा महोत्सव, संत श्री कमल किशोर नागर जी के श्री मुख से बरकोटी में 4 जनवरी से

सागर। श्रीमद् भागवत ज्ञानगंगा महोत्सव का आयोजन संत श्री कमल किशोर नागर जी के श्री मुख से  देवरी के ग्राम बरकोटी में 4 जनवरी से 10 जनवरी 2020 तक किया गया है ।
इसके आयोजक राजकुमार सिंह बरकोटी ने बताया कि इसका आयोजन   दिनांक 04 जनवरी से 10 जनवरी 2020 तक ,दोप. 12 से 3 बजे तक किया जाएगा। कलशयात्रा एवं कथा प्रारम्भ 04 जनवरी 2020 दिन शनिवार को तथा कथा का समापन 10 जनवरीदिन शुक्रवार
पूर्णाहूति, कन्या भोज एवं प्रसादी होगी।कथा स्थल : निजनिवास बरकोटी, जिला-सागर है।
 इसके आयोजक राजकुमार सिंह, विजय सिंह,
राजेन्द्र सिंह, उत्तम सिंह, चन्द्रहास सिंह,इन्द्रपाल सिंह, वीरेन्द्र सिंह और बरकोटी ट्रांसपोर्ट के सदस्यों ने सभी धर्म प्रेमियों से कार्यक्रम में शामिल होने की अपील की है।

SBI नए साल से बदलाव ATM से केश निकालने के तरीके में,आएगा ओटीपी नम्बर

SBI नए साल से बदलाव ATM से केश निकालने के तरीके में,आएगा ओटीपी नम्बर

नई दिल्ली. देश का सबसे बड़ा सरकारी बैंक SBI नए साल से एटीएम से कैश निकालने के तरीके में बड़ा बदलाव करने जा रहा है. SBI ने ग्राहकों को अच्छी बैंक फैसिलिटी और फ्रॉड एटीएम ट्रांजैक्शन से बचाने के लिए ये कदम उठाया है. बैंक वन टाइम पासवर्ड आधारित कैश विदड्रॉल सिस्टम शुरू करने जा रहा है.
यह नई प्रणाली 1 जनवरी, 2020 से शुरू होगी. इसके तहत रात 8 बजे से सुबह 8 बजे तक एटीएम से कैश निकालने के लिए आपको बैंक में रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर आया ओटीपी बताना होगा. यह नियम 10 हजार रुपये से ज्यादा के कैश ट्रांजैक्शन पर लागू होगा. बैंक ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी है.
SBI एटीएम में पैसा निकालने के लिए बैंक आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी भेजेगा. यह OTP सिर्फ एक ही ट्रांजैक्शन पर काम करेगा. इस नई प्रणाली से कैश निकालने की मौजूदा प्रक्रिया पर कोई असर नहीं पड़ेगा. यह प्रक्रिया किसी और बैंक के ATM पर काम नहीं करेगी क्योंकि फिलहाल नेशनल फाइनेंशियल स्विच में इसे तैयार नहीं किया गया है. बैंक का कहना है कि इससे फर्जी कार्ड्स से होने वाले अवैध ट्रांजैक्शन्स को रोका जा सकेगा
(पलपल इंडिया .कॉम से)

NH-86 पर तेन्दुआ मृत अवस्था मे मिला

NH-86 पर तेन्दुआ मृत अवस्था मे मिला 

सागर।सागर  जिले के शाहगढ़ वन परिक्षेत्र के अंतर्गत वन चौकी हीरापुर में सागर-कानपुर NH-86 पर सड़क के किनारे लगभग 2 वर्षीय मादा तेंदुआ मृत अवस्था में पड़ा मिला। जिसके बाद आज सुबह डाक्टरों की टीम ने वन विभाग के हीरापुर रेस्ट हॉउस तेंदुए का पोस्टमार्टम किया। बता दें कि लगभग 2वर्ष पहले भी इसी इलाके में एक तेंदुआ मृत अवस्था में मिला था।

वरिष्ठ समाजसेवी देह्दानी पंडित नटवर भट्ट का सम्मान

वरिष्ठ समाजसेवी देह्दानी पंडित नटवर भट्ट का सम्मान 

सागर। सागर के बाज खेड़ावाल गुजराती समाज के युवा मण्डल के द्वारा रहली के ग्राम सांवलखिरिया में आयोजित  कार्यक्रम में  मनीष भट्ट बंधुओं के पिताश्री प्रकृतिप्रेमी ,देहदानी और वरिष्ठ समाजसेवी पंडित नटवर भट्ट का उनकी सहधर्मिणी सहित शाल- श्रीफल से सम्मान किया गया और उनके आशीर्वाद  लिए गए। सागर समाज के  अनिल सेलट और श्रीमती आभा सेलट के साथ उनके निवास पर पहुॅंच कर युवा मण्डल ने उन्हें स्नेह चिन्ह भेंट किए । इस अवसर पर पंडित नटवर भट्ट ने समाज के युवाओं को प्रकृति प्रेम और परोपकार की भावना से जुड़े रहने के स्नेह वचन दिए । उन्होंने विनोद भाव के साथ बहुत तेजी से बदलते हुए आज के युग में भी सुसंस्कारों से जुड़े रहना समाज कल्याण के लिए महत्वपूर्ण बताया । समाज के डा . नवनीत धगट ने युवाओं को पंडित नटवर भट्ट के जीवन आदर्शों  की बात रखते हुए उन्हें  गृहस्थ संत समान बताया । उनके सादे जीवन और उच्च विचार के सिद्धांतों से सद्प्रेरणायें लेते रहने की बात रखी । इस अवसर पर सागर समाज के अध्यक्ष संदीप मेहता,  राकेश  भट्ट , आलोक ठाकर ,   वीरेंद्र धगट , सुरेन्द्र पंड्या सहित जबलपुर, दमोह और हटा से पधारे अनेक गणमान्य सदस्य परिवार, महिलायें और बच्चे उपस्थित हुए ।

गुरुवार, 26 दिसंबर 2019

ग्रामीण दफ्तरों के चक्कर न लगाएं इसलिए आपकी सरकार आपके द्वार:राजस्व मंत्री गोविन्द राजपूत

ग्रामीण दफ्तरों के चक्कर न लगाएं इसलिए आपकी सरकार आपके द्वार:राजस्व मंत्री गोविन्द राजपूत
सागर । ग्रामीणजनों की समस्याओं के समाधान हेतु मध्यप्रदेश शासन द्वारा ''आपकी सरकार आपके द्वार'' कार्यक्रम का आयोजन ग्राम स्तर पर किया जा रहा है। इसी कड़ी में ग्राम पंचायत जैसीनगर में प्रदेष के राजस्व एवं परिवहन मंत्री  गोविन्द राजपूत के मुख्य आतिथ्य में कार्यक्रम का आयोजन किया गया।
कार्यक्रम में 83 हितग्राहियों को पेंषन, नया सवेरा में 24 हितग्राहियों को, पीएम आवास में 112, कपिल धारा मंे 29, आर्थिक कल्याण में 6, लाड़ली लक्ष्मी में 5, उद्यानिकी में 6, बीपीएल कार्ड 50, लर्निंग लायसंेस 102, गांव की बेटी में 42 इस प्रकार कुल 487 हितग्राहियों को लाभांवित किया गया। मुख्य अतिथि द्वारा 14 करोड़ 50 लाख रूपये के लागत के विकास कार्यों का भूमिपूजन और लोकार्पण किया गया। इनमें 2 करोड़ के कार्य जैसीनगर में और 12 करोड़ 50 लाख के कार्य आसपास के ग्रामों के शामिल है।
इस मौके पर मंत्री श्री राजपूत ने कहा कि प्रदेष सरकार प्रदेष विकास के लिए निरंतर कार्य कर रही है। ग्रामीणों को अपने कार्यों के लिए कार्यालयों के चक्कर न लगाना पड़े इसके लिए आपकी सरकार आपके द्वारा कार्यक्रम प्रारंभ किया गया। किसानों को राजस्व संबंधी कार्यों के लिए कोई दिक्कत न हो इसलिए प्रत्येक हल्के पर एक पटवारी की व्यवस्था की गई है। पटवारियों को निर्देषित किया गया है कि सप्ताह में प्रत्येक हल्के पर दो दिन अनिवार्य रूप से बैंठे और किसानों के लिए कार्य करें
इनका हुआ लोकार्पण/भूमिपूजन
मंत्री श्री राजपूत ने कार्यक्रम में विभिन्न कार्यों का लोकार्पण एवं भूमिपूजन किया। इनमें 15 ग्रामों में मंगल भवन हेतु 6-6 लाख रूपये की राषि स्वीकृत की। जिनमें बेरखेड़ी गुसाई, हड़ा, जेरा, बंजरिया, डुंगरिया, करहद, तोड़ा तरदार, मनेषिया, मषुरयाई, हसरई, हनौता सागर, महगोद, चैनपुरा एवं सागौनी खुर्द शामिल है। इसी प्रकार बिलहरा में मंगल भवन हेतु 26 लाख 60 हजार, बांसा के मंगल भवन हेतु 10 लाख रूपये स्वीकृत किए जबकि बिलहरा में सीसी रोड हेतु 11 लाख 2 हजार, गेंहूरास बुजुर्ग में 3 लाख रूपये की सीसी रोड़, काली पठार में 4 लाख 48 हजार, गेंहूरास बुजुर्ग में 10 लाख 25 हजार की सीसी रोड़, जैसीनगर के विभिन्न वार्डों में सीसी रोड हेतु 22 लाख 13 हजार रूपये स्वीकृत किए। जैसीनगर मुख्य बस स्टेण्ड एवं छैघरिया पेट्रोल पंप पर बाउंड्रीबाल हेतु 2-2 लाख, जैसीनगर में सामुदायिक भवन हेतु 1 लाख 82 हजार, जैसीनगर के ब्लॉक ग्राउंड पर चबूतरा निर्माण हेतु 3 लाख 34 हजार रूपये शामिल है।
षिविर में जिला पंचायत सीईओ श्री सीएस शुक्ला ने आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम के उद्देष्य और महत्व पर प्रकाष डाला। कार्यक्रम में कुल 938 आवेदन आए जिसमें से 464 आवेदनों का मौके पर ही निराकरण किया गया। शेष आवेदनों का15 दिवस में निराकरण करन किया जाएगा।       
ये रहे उपस्थित
इस अवसर पर जिला ग्रामीण कांग्रेस अध्यक्ष श्री हीरा सिंह राजपूत, जनपद अध्यक्ष, जैसीनगर सरपंच श्रीमती रष्मि बड़ौनिया, श्रीमती किरन बड़ौनिया, श्री षिवदयाल बड़ौनिया एडवोकेट, श्री रामराज उमरिया, श्री रवि लम्बरदार सागौनी, श्री दिलीप पटैल अगरिया, श्री दरयाव सिंह उमरिया, श्री अवधेष गौतम, कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक, जिला पंचायत सीईओ श्री सीएस शुक्ला, जनपद सीईओ श्री पटैल सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी तथा दूर दराज से आए ग्रामीणजन उपस्थित थे।

कौन बनेगा करोड़पति फेम,तहसीलदार अनिता सिंह निलंबित,फेसबुक पर विवादित पोस्ट व कमेंट के चलते

कौन बनेगा करोड़पति फेम,तहसीलदार अनिता सिंह निलंबित,फेसबुक पर विवादित पोस्ट व कमेंट के चलते

श्योपुर। अमिताभ बच्चन के हिट प्रोग्राम "कौन बनेगा करोड़पति" में 50 लाख जितने वाली और सोशल मीडिया पर अपनी टिप्पणियों से विवादों में आने वाली एमपी के श्योपुर के  निर्वाचन कार्यालय में पदस्थ तहसीलदार अमिता सिंह तोमर को सोसल मीडिया पर विवादित टिप्पणी  करने पर चंबल संभाग के कमिश्नर ने निलंबित कर दिया है । एक पोस्ट पर आपत्तिजनक कमेंट करने पर कलेक्टर प्रतिभा पाल ने तहसीलदार अमिता सिंह को कारण बताओ नोटिस थमाया था।
क्या है मामले
श्योपुर के  कराहल में सरकारी जमीनों को मुक्त कराने के लिए जिला प्रशासन ने जो कार्रवाई की थी, उसके खिलाफ फेसबुक पर कुछ लोगों ने पोस्ट करते हुए कार्रवाई को मनमानी व गलत बताया। ऐसी ही एक पोस्ट पर तहसीलदार अमिता सिंह ने कार्रवाई को गलत बताते हुए प्रभावित लोगों को न्यायालय में जाने की सलाह कमेंट बॉक्स में दे डाली।
मामला सामने आने के बाद कलेक्टर प्रतिभा पाल ने तहसीदार अमिता सिंह को नोटिस जारी किया।तहसीलदार को दूसरा नोटिस भोपाल के एक युवक सैय्यद काशिफ अली नियाजी की एक पोस्ट पर कमेंट करने पर मिला है। दरअसल 16 दिसंबर को सैय्यद काशिफ अली नियाजी ने संविधान और सरकार से जुड़ी एक पोस्ट डाली थी।इस पोस्ट पर तहसीलदार अमिता सिंह ने सिर्फ तीन शब्दों का आपत्तिजनक कमेंट किया था। बताया गया है कि कई लोगों ने इसकी शिकायत भोपाल में ही सीनियर कांग्रेस नेता व अल्प संख्यक समुदाय के मंत्रियों से की।
हमेशा चर्चा में
 कौन बनेगा करोड़पति में पचास लाख जीतकर सुर्ख़ियों में आई तहसीलदार अमिता सिंह तोमर किसी न किसी कारण चर्चा में रहती हैं| अब फेसबुक पर धर्म विशेष के लोगों पर किए गए कमेंट को लेकर महिला तहसीलदार विवादों में घिर गई हैं| विवादित कमेंट करना तहसीलदार अमिता सिंह तोमर को भारी पड़ सकता है। संविधान से जुड़ी एक पोस्ट पर आपत्तिजनक कमेंट करने पर कलेक्टर प्रतिभा पाल ने तहसीलदार अमिता सिंह को कारण बताओ नोटिस थमा दिया है। इससे पहले भी कई पोस्ट को लेकर अमिता सिंह विवादों में रही हैं, उन्होंने  'चाटुकारिता और भ्रष्टाचार बनाम शासकीय सेवा' शीर्षक से फेसबुक पर एक पोस्ट कर प्रदेशभर के नायब तहसीलदारों को भ्रष्ट और चाटुकार बता दिया था, साथ ही उन्होंने अमिता सिंह ने अपनी पोस्ट में सरकारी तंत्र को भी सड़ा हुआ बताया था|  उन्होंने लिखा था कि अब तो प्रशासनिक अकादमियों में ही भ्रष्टाचार व चाटुकारिता की ट्रेनिंग दी जा रही है।
दरअसल, सीएए को लेकर देश भर में हो रहे प्रदर्शन के बीच 21 दिसंबर को संविधान को लेकर भोपाल के सैय्यद कासिफ अली निजवी ने अपने फेसबुक पेज पर पोस्ट डाली थी। जिसमें लिखा कि "सही कहा था बाबा साहब ने, संविधान कैसा भी हो चलाने वाले सही होंगे तो संविधान अच्छा साबित होगा। अगर चलाने वाले बुरे होंगे तो अंतत: बुरा साबित होगा।' इस पोस्ट पर कई लोगों ने अपने विचार पोस्ट किये, लेकिन तहसीलदार अमिता सिंह तोमर ने धर्म विशेष के लोगों के लिए अभद्र कमेंट कर दिया।| 
कौन बनेगा करोड़पति से आई सुर्खियों में 
अमिता सिंह तोमर कौन बनेगा करोड़पति में 50 लाख रुपए जीतकर सुर्खियों में आई थीं। तब भी वे श्योपुर में पदस्थ थी। वे सोशल मीडिया पर भी सक्रिय रहती हैं। पिछले साल जब राज्य शासन ने राजगढ़ से उनका तबादला सीधी कर दिया था, तब उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं मुख्यमंत्री को पत्र लिखा था।  तबादले का मामला उन्होंने सोशल मीडिया पर भी उठाया। हालांकि उन्हें सीधी जाकर ज्वाइन करना पड़ा । कुछ महीने में उनका तबादला सीधी से भी किया गया था, कोर्ट के आदेश पर तबादला स्थगित हुआ था और वह चुहरट में ही पदस्थ रहीं। इसके बाद उनका तबादला फिर हो गया| 
'ट्रांसफर वाली मैडम' कहा जाता था। करीब दो दर्जन से अधिक बार तबादले उनके हो चुके है।अमिता के पति ग्वालियर में ट्रांसपोर्ट व्यवसायी हैं ।।

नगरीय निकायों के वार्डो के परिसीमन,सीमा वृद्धि और आरक्षण प्रक्रिया को लेकर दिशा निःर्देश जारी

नगरीय निकायों के वार्डो के परिसीमन,सीमा वृद्धि और  आरक्षण प्रक्रिया को लेकर दिशा  निःर्देश जारी

भोपाल। नगरीय विकास एवम आवास विभाग भोपाल में प्रदेश में नगरीय निकायों नगर निगम,नगरपालिका और नगर परिषद के वार्डो के परिसीमन,सीमा वृद्धि और वार्डो के आरक्षण प्रक्रिया को लेकर निःर्देश जारी किए  है । 30 जनवरी 2020 तक पूरी प्रक्रिया निपटाने आदेशित किया गया है।

भगवान का आनन्द, स्वरूप व्यापक है :आचार्य ब्रजपाल शुक्ल

भगवान का आनन्द, स्वरूप व्यापक है :आचार्य ब्रजपाल शुक्ल
सागर। सागर के ग्राम ढाना में  माखनलाल चतुर्वेदी  पत्रकारिता विश्विद्यालय के कुलपति  दीपक तिवारी के निवास  में चल रही राम कथा के द्वितीय दिवस कथा व्यास आचार्य पंडित बृजपाल शुक्ल  ने सम्पूर्ण आनंद प्राप्ति कैसे हो इसकी विधि बताई।उन्होंने अपने प्रवचन में कहा संसार मे जहा कहीं भी सुख और आनन्द की अनुभूति होती है वह भगवान का निर्गुण स्वरूप है। आनन्द निर्गुण ही होता है। तुलसी दस जी ने कहा है-
अगुन अखण्ड अनन्त अनादि।
जेहि चिन्तहि परमारथवादी।।
मोक्ष में मात्र आनन्द ही होता है दुख नही होता। संसार का ऐसा कोई सुख नही है जिसके पहले औऱ अंत मे दुःख नही होता है।
उन्होंने कहा कि संसार का प्रत्येक सुख-दुख सम्मिलित होता है किन्तु भगवान का आनन्द दुःखरहित होता है क्योंकि वह अगुण है उसमें प्रकृति का एक भी गुण नही होता, अखण्ड है अर्थात सीमारहित है।संसार का आनन्द शरीर के अधीन है इसलिए सीमित है और तृष्णा से भरा हुआ है। भगवान का आनन्द आत्मा से सम्बंधित है आत्मा अखण्ड है इसलिए भगवान का आनन्द भी अखण्ड है।
उन्होंने बताया कि शरीर का आनन्द अंत वाला है नष्ट होने वाला है भगवान का आनन्द अनन्त है। आत्मा अनन्त है संसार का आनन्द आदि वाला है अर्थात संसार का आनन्द किसी आयु भी आयु तक प्राप्त किया जा सकता है।किन्तु आत्मा से सम्बंधित भगवान का आनन्द अनादि है। उसके आनन्द का प्रारम्भ कहा से होगा और कब तक होगा यह प्रश्न ही नही है।संसार का आनन्द, स्थान, समय, वस्तु और शरीर के अधीन होता है किंतु भगवत सम्बन्धी आनन्द सभी स्थानों में, सभी काल मे, सभी वस्तुओं में और सदा ही एक रस होता है और वह आनन्द भगवान के बिना नही आता।जो आनन्द योगियों के लिए बड़ी तपस्या से प्राप्त होता है वही आनन्द भक्ति के कारण कौशिल्या के गोद मे राम के रूप में प्रगट होता है, देवकी की गोद मे कृष्ण के रूप में प्रगट होता है।इसलिए जिन्होंने इस संसार को दुःख रूप में देख लिया है और समझ लिया है वे कभी भी संसार का आनन्द को त्याग करके  भगवदनन्द में प्रव्रत्त हो जाते हैं।
कथा में ये रहे शामिल
आज की कथा में डॉ सुरेश आचार्य, सुशील हजारी (रेहली), वरिष्ट पत्रकार भोपाल नीरज श्रीवास्तव, सुधीर यादव, धीरेन्द्र मिश्र ,  पप्पू  तिवारी,  मयंक तिवारी, सुनील पांडेय (घाटमपुर) व समस्त ग्रामवासियों, क्षेत्र वासियो ने महाराजी से आशीर्वाद लिया व कथा का श्रवण किया ।

महिला बाल विकास परियोजना अधिकारी चार हजार की रिश्वत लेते गिरफ्तार, लोकायुक्त पुलिस सागर की कार्यवाही

महिला बाल विकास परियोजना अधिकारी चार हजार की रिश्वत लेते गिरफ्तार, लोकायुक्त पुलिस सागर की कार्यवाही
सागर । लोकायुक्त पुलिस सागर संभाग ने दमोह जिले के तेंदूखेड़ा में महिला बाल विकास  विभाग की परियोजना अधिकारी श्वेता सिंह ठाकुर चार हजार  रूपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया है।सागर लोकायुक्त एसपी के निर्देश पर टी आई मंजू सिंह ने टीम के साथ 
ने यह कार्यवाही की। एक आँगवाडी कार्यकर्ता से नोटिस की कार्यवायी नही करने के एवज में रिश्वत मांगी जा रही थी।

लोकायुक्त पुलिस अधीक्षक रामेश्वर यादव ने बताया कि  दमोह जिले की तेंदूखेड़ा तहसील के ग्राम घुटारया की आंगनवाड़ी कार्यकर्ता भान कुमारी नेपुलिस अधीक्षक विशेष पुलिस स्थापना लोकायुक्तकार्यालय, सागर संभाग सागर के समक्ष शिकायत प्रस्तुत की थी।जिसमे आवेदिका को जारी कारण बताओ नोटिस के विरूद्ध कोई कार्यवाही नहीं  करने के एवज में 
 श्वेता सिंह ठाकुर, परियोजना अधिकारी महिला बाल विकास कार्यालय तेंदूखेड़ा  जिला दमोह द्वारा चार हजार रूपए की मांग की जा रही है। आज लोकायुक्त की टीम ने चार हजार की रिश्वत लेते हुए श्वेतासिंह ठाकुर, परियोजना
अधिकारी महिला बाल विकास कार्यालय तेंदखेडा जिला दमोह को रंगे  हाथों गिरफ्तार किया गया। लोकायुक्त निरीक्षक मंजूसिंह के नेतृत्व में कार्यवाहि कई गई।

एक ही परिवार के दो पक्षो में जमीन विवाद को लेकर चली गोली, दो की मौत, पांच घायल

एक ही परिवार के दो पक्षो में जमीन विवाद को लेकर चली गोली, दो की मौत, पांच घायल
मुरैना ।मध्यप्रदेश के मुरैना जिले के सरायछोला थाना क्षेत्र के पावरखेड़ा गांव में जमीनी विवाद को लेकर आज  एक ही परिवार के दो पक्षों के बीच विवाद हो गया। इसको लेकर खूनी संघर्ष हुआ। दोनो तरफ से जमकर गोलियां चली। जिसमे  दो लोगों की मौत हो गई और पांच लोग  गंभीर रूप से घायल हो गए। तीन घायलों  को इलाज के लिए ग्वालियर  रिफर किया गया है।
दो बीघा जमीन को लेकर विवाद है।
रात में भी हुआ था विवाद
पुलिस सूत्रों  के मुताबिक, एक ही परिवार के राम सहाय गुर्जर और बाबू गुर्जर के बीच जमीन को लेकर काफी समय से विवाद चल रहा है। इसी के चलते बुधवार रात्रि में  भी दोनों पक्षों के बीच विवाद हुआ था। इसके बाद दोनों पक्षों ने थाने में शिकायत दर्ज कराई थी। सुबह बाबू गुर्जर अपने साथियों के साथ हथियार लेकन रामसहाय के घर पहुंचा और उस पर हमला कर दिया। बाबू गुर्जर ने गोली चलानी शुरू कर दी, जिससे रामसहाय गुर्जर और भोला गुर्जर को गोली लगी और उनकी मौके पर ही मौत हो गयी।इसमें जोगेन्द्र व दशरथ घायल हो गये। जबाव में चलीं गोलियों से दूसरे गुट के दिलीप, पुलेन्द्र व प्रकाश भी घायल हो गये। घायलों को जिला अस्पताल ले जाया गया। वहां से तीन घायलों को ग्वालियर भेजा गया है। घटना के बाद पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए है।इन दोनों के बीच कई वर्षों पूर्व दो बीघा जमीन को लेकर विवाद शुरू हुआ था। इसको लेकर अभी तक दोनों गुटों में आमने-सामने   पहले भी इसी तरह का विवाद हो चुका है।पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

सागर जिले में सर्वाधिक राहतगढ़ से बालिकाएं लापता, आरोपियो पर रखा इनाम

सागर जिले में सर्वाधिक राहतगढ़ से बालिकाएं लापता, आरोपियो पर रखा इनाम

सागर ।सागर  जिले में बीते वर्ष के आपराधिक आकड़े आधिकारिक रूप से अभी पुलिस ने यूं तो जारी नहीं किए है।  लेकिन गत दिवस पुलिस द्वारा जिले के कुछ थाना क्षेत्रों में से लापता हुई या अपहरण करकर ले जायीं गई महिलाओं के बारे में जानकारी देते हुए संबंधित अज्ञात  आरोपियों के खिलाफ अब ईनामी राशि घोषित की है। पुलिस अधीक्षक अमित सांघी ने सभी अज्ञात आरोपियो का सुराग देने पर 3-3 हजार का इनाम घोषित किया  है। 
  पुलिस द्वारा जारी इन आंकड़ों को देखे तो इनमें सर्वाधिक करीब 1 दर्जन बालिकायें राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत के सुरखी विधानसभा क्षेत्र के राहतगढ़ से लापता है। इनमें भी एक मामले में आरोपी जो अज्ञात दर्शाया जा रहा है पर पॉस्को एक्ट का मामला दर्ज है.
     वर्ष के आखिरी माह दिसंबर में आमतौर पर पूरे साल जिले में हुए अपराध का लेखा-जोखा सामने आता है. पुलिस प्रशासन ने अभी तक इस गुजरते हुए वर्ष के आधिकारिक आपराधिक आंकड़े तो जारी नहीं किए है लेकिन दो दिन पूर्व पुलिस प्रशासन द्वारा जिले  के तीन थाना क्षेत्रों से अपह्रत की गईं युवतियों के अज्ञात आरोपियों के अभी तक पता साजी न होने पर उनके खिलाफ ईनाम राशि की उद्घोषणा जरूर जारी की गई है. उल्लखेनीय यह है कि ऐसे सभी 16 मामलों में सभी आरोपी अभी तक अज्ञात ही दर्शाये जा रहे है और सभी पर तीन हजार रूपए का ईनाम घोषित किया गया है. हांलाकि इनमें तीन प्रकरण ऐसे है जो कि पांच वर्ष पूर्व के है यानि 5 सालों में भी पुलिस न तो अपह्रत हुई युवती को तलाश कर पायी बल्कि आरोपी की पहचान भी अभी तक नहीं हो सकी है. पुलिस द्वारा जारी किए गए इन आंकड़ों को देखे तो 16 मामलों में से सर्वाधिक 11 प्रकरण प्रदेश के परिवहन एवं राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत के विस क्षेत्र सुरखी के राहतगढ़ थाना क्षेत्र के है. इनमें भी एक मामले में पुलिस ने पॉस्को एक्ट के तहत प्रकरण तो दर्ज किया लेकिन प्रकरण में आरोपी कौन है यह शायद पुलिस को भी नहीं मालूम इसलिए अज्ञात आरोपी दर्शाया गया है. बहरहाल यह तो जिले के महज तीन थाना क्षेत्रों के आंकड़ें है जहाँ से लापता या अपह्रत हुई युवतियों के प्रकरण सामने आये है। ऐसे तीन कोतवाली और दो केंट थाना क्षेत्र के है। इनके अतिरिक्त जिले में बीते वर्ष के दौरान ही ऐसे करीब दो सैकड़ा मामले अभी पुलिस के पास पैंडिंग है जिनमें न तो अपह्रत  हुई युवती की बरामदगी हो सकी है ना ही संबंधित मामले में आरोपी की ही पतासाजी की जा सकी है.
आरोपियों की पहचान हुई
इस मामले में राहतगढ़ थाना प्रभारी आशीष सप्रे से जब जानकारी ली गई तो उनका कहना था कि ऐसे मामलों की पूरे प्रदेश स्तर से मॉनीटिरिंग की जा रही है. जो प्रकरण दिए गए है उनमें से कई में आरोपियों की पहचान हो चुकी है. अपह्रर्ताओं को भी जल्द ही बरामद करने की कोशिश की जा रही है. इन आरोपियों पर ईनाम इसी लिए घोषित किया गया है।

बुधवार, 25 दिसंबर 2019

108 एम्बुलेंस के पायलट को दी ट्रेनिग

108 एम्बुलेंस के पायलट को दी ट्रेनिग
सागर। 108 एंबुलेंस के ई.एम.टी. और पाइलेट की रिफ्रेशर ट्रेनिंग सफलता पूर्वक संपन्न कराई गई। इस दौरान डॉ दिलीप चौधरी , जिसमें , पेशेंट केयर फॉर्म CPR ( कार्डियो PULMONARY RESUSCITATION एम्बुलेंस मे जरूरी दवाइयाँ एवं उनका उपयोग, बेसिक AIRWAY सेक्शन पेशेंट MANAGEMENT, ऐमबूलेंस का रखरखाव, आदि के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई।[मास्टर ट्रेनर ,] दिलीप चौधरी,, जिला प्रभारी श आशीष सर तबरेज खान एवं जोनल अधिकारी  आशीष कौरव जी भी उपस्थित रहें।

डॉ गौर पुण्य तिथि: पुस्तक चर्चा,कवि संम्मेलन और प्रतियोगिताओं का आयोजन

डॉ गौर पुण्य तिथि: पुस्तक चर्चा,कवि संम्मेलन और प्रतियोगिताओं का आयोजन
सागर। डा. हरिसिंह गौर की सत्तरवींं पुण्यतिथि
पर अनेक संस्थायो द्वारा उनका स्मरण किया गया। इस मौके पर विवि में गौर समाधि पर श्रद्धांजलि और भजन संध्या का आयोजन किया गया। वही शहर में स्थित गौर अध्ययन केंद्र में  "ये सागर है" पुस्तक पर चर्चा, कवि संम्मेलन और  चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन हुआ और पुरस्कारों का वितरण हुआ।
तीनबत्ती स्थित डॉ गौर प्रतिमा पर मोमबत्ती जलाकर श्रद्धांजलि दी गई।

पुस्तक पढ़कर सागर को समझा:कमिश्नर शर्मा
"ये सागर है "पुस्तक पर चर्चा करते हुए  संभागायुक्त आनंद शर्मा ने कहा कि इस पुस्तक को पढ़ने के बाद मैं डा. गौर और सागर शहर को बेहतर समझ पाए हैं। जिस तरह महात्मा गांधी को ट्रेन से निकाले जाने पर उन्होंने अंग्रेजों को देश से ही निकाल दिया था ठीक इसी प्रकार सागर से कालेज बाहर ले जाकर डा. गौर को पढ़ने से महरूम करने पर वे पूरा विश्वविद्यालय ही सागर ले आए। संभागायुक्त शर्मा ने कहा कि इससे स्पष्ट होता है कि बड़े व्यक्तित्वों कि खासियत है कि वे कुछ अलग और बड़ा सोचते हैं। प्रभारी कुलपति प्रो. पीके राय ने कहा कि पूर्वछात्र परिषद एवं डेलीगेसी को इसके लिए साधुवाद करते हैं कि उन्होंने पुण्यतिथि पर गौर स्मरण की रुकी हुई परंपरा को बड़े स्तर पर आयोजन के साथ पुनः प्रारंभ किया है।
कार्यक्रम मे संयुक्त संचालक जनसंपर्क भोपाल अशोक मनवानी ने कार्यक्रम की प्रशंसा करते हुए कहा कि अगले वर्ष वे भोपाल में डा. गौर जयंती व पत्रकारिता के शिक्षक स्व. भूवनभूषण देवलिया की पुण्यतिथि का संयुक्त आयोजन बड़े स्तर पर करेंगे।
पुस्तक चर्चा में भाग लेते हुए पत्रकारिता विभाग के पूर्व विभागाध्यक्ष एवं 'ये सागर है' के संपादक डा. सुरेश आचार्य ने बताया कि यह किताब 42 दिनों के अल्प समय में प्रकाशित हुई जिसमें  पत्रकारिता विभाग के पूर्व छात्रों डा. रजनीश जैन, डा. राकेश शर्मा व अभिषेक यादव के लेखों का भी महत्वपूर्ण योगदान है।पुस्तक चर्चा में भाग लेते हुए पूर्वछात्र परिषद के अध्यक्ष डा. रजनीश जैन ने कहा कि डा गौर न होते तो विश्वविद्यालय, पत्रकारिता विभाग और यह पुस्तक भी नहीं होती। पुस्तक चर्चा में पं. शुकदेव तिवारी, डा. महेश तिवारी, श्रीमती कविता शुक्ला ने भी भाग लिया। कार्यक्रम में शहर के गणमान्य नागरिक कवि, साहित्यकारों ,पत्रकारों के साथ विशेष रूप से भोपाल के वरिष्ठ पत्रकार राकेश अग्निहोत्री भी उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन शैलेंद्र ठाकुर ने किया, आशीष भाई जी ने आभार प्रदर्शन किया।
कवि संम्मेलन रहा डॉ गौर पर केंद्रित
डॉ.हरीसिंह गौर की पुण्यतिथि पर गौर अध्ययन केन्द्र सागर द्वारा आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों की श्रृंखला में डॉ.गौर के जीवन पर केन्द्रित कवि सम्मेलन का आयोजन वरिष्ठ कवि निर्मल चंद निर्मल की अध्यक्षता,पं.शुकदेव प्रसाद तिवारी के मुख्य आतिथ्य में संपन्न हुआ। संचालन गीतकार डॉ.श्याम मनोहर सिरोठिया ने किया।इस अवसर पर डॉ. अनिल जैन,आर. के.तिवारी, डॉ.चंचला दवे,वृंदावन राय सरल, वीरेन्द्र प्रधान,डॉ. गजाधर सागर,श्रीमती‌  निरंजना जैन,सुश्री देवकी भट्ट  नायक,पी.आर. मलैया,टी.आर.त्रिपाठी, ऋषभ समैया जलज, डॉ.श्याममनोहर सीरोठिया,डॉ.गजाधर सागर, के.एल.तिवारी अलबेला,लक्ष्मीनारायण चौरसिया एवं निर्मल चंद निर्मल ने अपनी कविताओं के माध्यम से डॉ. गौर के अवदान को स्मृत करते हुए श्रद्धांजली दी।उमा कान्त मिश्र व कुंदन पाराशर ने सभी कवियों व अतिथियों का पुष्पहार पहनाकर स्वागत किया।
गौर अध्ययन केंद्र के अध्यक्ष डॉ.सुरेश आचार्य ने सभी कवियों का शाल व श्रीफल भेंटकर अभिनंदन किया।केन्द्र समन्वयक डॉ.प्रदीप तिवारी ने आभार प्रदर्शन किया।
इसके साथ ही चित्रकला प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्कृत किया गया। शाम को तीनबत्ती स्थित डॉ गौर की प्रतिमा पर श्रद्धांजलि दी गई।
विश्वविद्यालय के संस्थापक डॉ हरीसिंह गौर की पुण्यतिथि पर भजन कार्यक्रम
 डॉ हरीसिंह गौर विश्वविद्यालय सागर के में विश्विद्यालय के संस्थापक डॉ हरीसिंह गौर की पुण्यतिथि पर विश्विद्यालय परिवार ने उनको विनम्र श्रद्वाजली अर्पित की। डॉ हरीसिंह गौर की पुण्यतिथि के अवसर पर विश्वविद्यालय द्वारा भजन कार्यक्रम आयोजित किया गया। प्रारंभ में प्रो. पी के राय , कर्नल राकेश मोहन जोशी, विश्वविद्यालय परिवार के सदस्यों ने डॉ गौर की समाधि पर पुष्पांजलि अर्पित की। इस अवसर पर कार्यक्रम में प्रो. पी के राय , कर्नल राकेश मोहन जोशी, डॉ. सुरेश आचार्य, प्रो. ए. पी. दुबे, डॉ. दिवाकर सिंह राजपूत, प्रो.आर पी मिश्रा, डॉ. आर. एन यादव, डॉ.जी एल. पुण्डतांबेकर, प्रो . ए.न. शर्मा डॉ. आनंद तिवारी, दीपक सिंघई, संदीप बाल्मीकि , जयंत जैन, प्रवीण राठौर, रनवीन ठाकुर, दीपक गुप्ता, विवेक मेहता, मुकेश चौरसिया, मशकूर अहमद, मनीष पुरोहित, नागेश दुबे, अर्चना मेहता, बड़ी संख्या में शिक्षक एवं कर्मचारी उपस्थित रहे। 

संविधान बचाओ न्याय शांति यात्रा में नरयावली विधानसभा बड़ी संख्या में कार्यकर्ता हुए शामिल

संविधान बचाओ न्याय शांति यात्रा में नरयावली विधानसभा बड़ी संख्या में कार्यकर्ता हुए शामिल
भोपाल।भारतीय जनता पार्टी की केंद्र सरकार द्वारा नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन एन.आर.सी. एवं सिटीजन अमेंडमेंट एक्ट सी.ए.ए. बनाए जाने के विरोध में मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष एवं मुख्यमंत्री  श्री कमलनाथ के नेतृत्व में प्रदेश मुख्यालय भोपाल में निकाली गई संविधान बचाओ न्याय शांति यात्रा में नरयावली विधानसभा क्षेत्र से मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष एवं पूर्व मंत्री   सुरेंद्र चौधरी की अगुवाई में सैकड़ों कार्यकर्ता शामिल हुए।संविधान बचाओ न्याय शांति यात्रा में शामिल होने वालों में मुख्यरूप से 
जिला ग्रामीण कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष अखिलेश मोनी केशरवानी, देवेंद्र पटेल, युवा कांग्रेस अध्यक्ष अशरफ खान, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष गण सुरेंद्र सिंह चावड़ा, देवेंद्र कुर्मी,ठाकुर लगन सिंह, रामदयाल चौबे, पुरुषोत्तम शिल्पी, रोहित वर्मा, संजय सिंह,अनिल कुर्मी, मोती लाल पटेल,मुल्ले चौधरी, एम आई खान  सुकलाल आदिवासी कोमल सिंह आदि कांग्रेसजन मौजूद थे।

गौपूजन कर गौमाता भोज का शुभारंभ किया, राजस्व मन्त्री गोविन्द राजपूत ने, पिछले 421 वर्ष से है परम्परा

गौपूजन कर गौमाता भोज का शुभारंभ किया, राजस्व मन्त्री गोविन्द राजपूत ने, पिछले 421 वर्ष से है परम्परा
सागर । राजस्व एवं परिवहन मंत्री  गोविन्द राजपूत ने विकासखण्ड राहतगढ के ग्राम रजौली में गौपूजन कर गौमाता भोज का शुभारंभ किया। यहां प्रतिवर्ष पौष आमवस्या के दिन श्रृद्वा के साथ गौमाता भोज का आयोजन किया जाता है। जिसमें गाय पूजन के साथ गायों को खड़ी फसलों में चरने व विचरण करने के लिये खुला छोड़ दिया जाता है। पूरे गावं की गाय इस दिन कहीं पर भी फसलांे में जाकर स्वच्छद रूप से विचरण करती है व चरती है। इस दिन कोई रोक-टोक नहीं होती है। सभी ग्रामीणजन गौमाता भोज को पूरी श्रृद्वा के साथ मनाते है। ऐसी मान्यता है कि गौमाता के आषीष से फसलों की अच्छी पैदावार होती है।
इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में मंत्री श्री राजपूत ने ग्राम रजौलीवासियां की गौभोज आयोजन के लिये सराहना की। उन्होंने कहा कि गौ के प्रति श्रृद्वा कैसे रखी जाती है दूसरे अन्य लोग रजौलीवासियों से सीख सकते हैैैं। । उन्होंने बताया कि सुरखी विधानसभा क्षेत्र अन्तर्गत 40 गौषालाएं स्थापित की रही हैं। ग्राम रजौली में ग्रामीणों की मांग पर गौषाला स्थापना के लिये उन्होंने 25 लाख रूपये की राषि देने की घोषणा की।
 रजवांस में 37 लाख के विकास कार्यो का भूमिजून एवं लोकार्पण
राजस्व एवं परिवहन मंत्री श्री गोविन्द राजपूत ने विकासखण्ड राहतगढ़ के ग्राम रजवांस में 27 लाख 63 हजार की लागत से बनी 7 सीसी रोड का लोकार्पण और 10 लाख की लागत से बनने वाले मंगल भवन का भूमिपूजन किया।
इसी प्रकार ग्राम मीरखेड़ी से हिरणखेड़ा, बकेरा से हिरणखेड़ा मार्ग, सीसी रोड़ बाउन्ड्रीवाल का भूमिपूजन व पंचायत भवन लोकार्पण किया।
इस अवसर पर  भगवान सिंह लोधी,  विनोद कूपर,  शैलेन्द्र श्रीवास्तव, श्री गोविन्द्र सिंह पटैल,  प्रहलाद पटैल,  संतोष सिंह रजौली, श्री विषनारायण तिवारी,  जाकर हुसैन,  बबलू पटैल, विजय सिंह,  सुरेष जाट, सुरेन्द्र रघुवषी एवं राजषरण राय बड़ी संख्या में ग्रामीणजन मौजूद थे।

श्री रामकथा भगवान शिव-पार्वती का संवाद है:आचार्य पंडित बृजपाल शुक्ल, रामकथा में पहुचे विधानसभा अध्यक्ष

श्री रामकथा भगवान शिव-पार्वती का संवाद है:आचार्य पंडित बृजपाल शुक्ल,
रामकथा में पहुचे विधानसभा अध्यक्ष
सागर। आचार्य पंडित बृजपाल जी शुक्ल का कहना है कि सम्पूर्ण श्री राम कथा शिव पार्वती का संवाद ही है। शिवजी इस के वक्ता हैं और पार्वती जी इसकी श्रोता हैं। आचार्य शुक्ल ने  ग्राम ढाना  आयोजित सात दिवसीय श्री रामकथा के प्रथम दिन  में यह बात कही। इसके आयोजक माखनलाल चतुर्वेदी  पत्रकारिता विश्विद्यालय के कुलपति दीपक तिवारी है। प्रथम दिन विधानसभा अध्यक्ष नर्मदा प्रसाद प्रजापति सहित अनेक श्रद्धालुयों ने कथा का श्रवण किया।
आचार्य शुक्ल ने बताया कि एक दिन शांत मन से  विराजमान शिवजी से पार्वती जी ने प्रश्न किया ।प्रथम सो कारण कहहु बिचारी।
निर्गुण ब्रह्म सगुण वपुधारी ।।
पार्वती जी ने कहा कि हे! नाथ निर्गुण ब्रह्म सगुण स्वरूप को धारण कैसे करते हैं?
यदि निर्गुण ब्रह्म सगुण होते हैं तो क्या सगुण होते हुए भी वे निर्गुण ही होते है?
बस यह प्रथम प्रश्न ही सम्पूर्ण राम चरित मानस का मूल है।
उन्होंने कहा कि प्रकृति के सत्वगुण, रजोगुण और तमोगुण इन तीनो गुणों से 84 लाख योनियो की सृष्टि होती है।इन तीनो गुणों के प्रभाव के कारण सभी जीव सगुण कहलाते हैं।
काम, क्रोध, लोभ, मोह, मद, मत्सर, ईर्ष्या इत्यादि सगुण शरीर मे होते ही हैं।यदि भगवान भी सगुण  होंगे तो उनमें भी काम, क्रोध, लोभ, मोह इत्यादि दोष होंगे।जो इन दोषों से रहित होता है उसे निर्गुण कहते हैं।निर्गुण स्वरूप ही भगवान का यथार्थ स्वरूप  है।इसलिए भगवान में कर्म का बंधन नही होगा।भगवान में सांसारिक दुख-सुख स्वरूप आदि नही होते।
किन्तु सगुणरूप धारी भगवान में यह दोष दिखाई देते हैं।
इसी प्रश्न का उत्तर देते हुए शंकरजी ने पार्वती जी को भगवान के निर्गुण स्वरूप तथा सगुण स्वरूप का वर्णन करके राम चरित मानस की रचना कर डाली।शंकर जी के मन मे राम चरित का निवास होने से उसको राम चरित मानस कहते हैं।
ये रहे कथा में शामिल
* ग्राम  ढाना में माखनलाल चतुर्वेदी  पत्रकारिता विश्विद्यालय के कुलपति दीपक तिवारी  के निवास पर आज से शुरू हुई राम कथा के प्रथम दिवस मध्यप्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष नर्मदा प्रसाद प्रजापति पहुचे। कथा श्रवण के लिए  कमिश्नर आनंद शर्मा , आईजी सतीश सक्सेना,  विधायक शैलेंद्र जैन ,  नगर निगम कमिश्नर, आरपी अहिरवार, सिटी मजिस्ट्रेट पवन बारिया, सनार्ट  सिटी सीईओ राहुल सिंह ,कांग्रेस सहर अध्यक्ष रेखा चौधरी,  श्याम तिवारी, संदीप सबलोक आदि भी कथा श्रवण करने पहुँचे और आचार्य बृजपाल शुक्ल से आशीर्वाद भी लिया

प्लास्टिक के खतरों से जागरूक करने भारत भ्रमण पर निकले साइकिल यात्रा पर,सांसद ने किया

प्लास्टिक के खतरों से जागरूक करने भारत भ्रमण पर निकले साइकिल यात्रा पर,सांसद ने किया

सागर। क्रिसमस की अलसुबह बेहद खास बन गई, जब  सिंगल यूज़ प्लास्टिक से पर्यावरण एवं मानव को हो रही क्षति को लेकर 17 सितम्बर को गांधीनगर, गुजरात से यात्रा आरंभ कर भारत भ्रमण पर निकले मुरैना निवासी ब्रजेश शर्मा बुधवार को सागर पहुंचे ।गोपालगंज, बंगाली काली तिगड्डा पर सांसद राजबहादुर सिंह एवं नागरिकों ने उनका आत्मीय स्वागत किया. बृजेश शर्मा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लाल किले की  प्राचीर से  सिंगल यूज़ माइक्रो प्लास्टिक के दुष्परिणाम पर देश के नाम  संबोधन से प्रेरित हो यूरोप,अरमीनिया जार्जिया में पीसीएस की नौकरी छोड़कर मुहिम पर निकले हैं. अभी तक वह  गुजरात, राजस्थान, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश एवं मध्य प्रदेश तक 6600 किलोमीटर की साइकिल यात्रा कर चुके हैं. सागर से भोपाल होते हुए महाराष्ट्र एवं दक्षिण भारत की यात्रा पर निकल रहे है. इस दौरान 182000 बच्चों एवं नागरिकों को जागरूक कर चुके हैं. सांसद सिंह ने श्री शर्मा को प्रशस्ति-पत्र एवं पुष्प माला से स्वागत किया.
 इस अवसर पर सांसद राजबहादुर सिंह, अर्पित पांडे-जिला अध्यक्ष भाजयुमो,  शुभम् सागर, देवाशीष दुबे, गोलू श्रीवास्तव, नीरज चौरसिया, राहुल नामदेव, अर्जुन सूर्यवंशी, वैभव यादव, शुभम् नामदेव एवं नितिन साहू ने ब्रजेश शर्मा का हौसला बढ़ाया.

हाथ ठेला पर केले बेचकर पता लगाया उपद्रवियों का सबइंस्पेक्टर ने

हाथ ठेला पर  केले बेचकर पता लगाया उपद्रवियों  का सबइंस्पेक्टर ने 
साभार: एबीपी गंगा
आगरा, एबीपी गंगा। नागरिकता कानून को लेकर हुए बवाल के बाद उत्तर प्रदेश पुलिस आरोपियों को किस तरह घेर रही है, इसका अंदाजा आप महज इस बात से लगा सकते हैं कि सब इंस्पेक्टर को केले बेचने पड़े। मुस्लिम बाहुल्य इलाके मंटोला में यूपी पुलिस के सब इंस्पेक्टर सुनील तोमर ने हुलिया बदलकरसादे कपड़ों में ठेल लेकर केले बेचे। सुनील तोमर सुभाष बाजार चौकी इंचार्ज है। उनको सूचना मिली थी कि फिरोजाबाद में उपद्रव करने वाले बलवाई छिपे हुए हैं। दारोगा ने सस्ते में केले बेचे और आरोपियों के बारे में जानकारी जुटा ली।
सीएए के विरोध में फिरोजाबाद में हुए उपद्रव के बलवाइयों पर पुलिस की सख्त नजर है। बलवाइयों को दबोचने के लिए पुलिस जुटी हुई है, जिसके चलते ये आरोपी इधर-उधर भाग खड़े हुए। फिरोजाबाद पुलिस को सूचना मिली कि कुछ बलवाई आगरा के मंटोला में छिपे हुए हैं। सूचना पर पुलिस ने दारोगा को केले बेचने वाला बनाकर भेजा। मंटोला के थाना प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि मिशन कामयाब रहा। जो सूचनाएं चाहिए थीं, वो सही पाई गईं।
केला बेचने वाला बनाकर भेजा
पुलिस ने बताया कि जिस घर में बलवाई के आने की खबर थी, उसके पास दारोगा संजीव तोमर को केले बेचने वाला बनाकर भेजा गया। करीब पांच घंटे तक उन्होंने केले बेचे। लोगों से जानकारी हासिल करने के लिए केले सस्ते बेचे, ताकि भीड़ लग जाए। जैसे ही भीड़ जुटना शुरू हुई, दारोगा ने आरोपियों की सूचनाएं जुटाना शुरू कर दीं। आवश्यक सूचनाएं लेने के बाद दारोगा वापस आ गए।
बता दें कि फिरोजाबाद में बवाल करने वाले 29 लोगों के खिलाफ पुलिस संपत्ति जब्त करने की कार्रवाई करेगी। इनकी सूची तैयार कर ली गई है। इन्हें जल्द ही नोटिस जारी किया गया है। आईजी रेंज ए सतीश गणेश का कहना है कि इनके खिलाफ साक्ष्य जुटा लिए गए हैं।
इसको लेकर उपनिरीक्षक सुनील तोमर का कहना है कि उनको जानकारी मिली कि 20 दिसंबर को फ़िरोज़ाबाद में बवाल के आरोपियों ने मंटोला में पनाह ली है, इसलिए मैंने पहले अपनी मूंछे साफ कराई फिर ठेले का इंतजाम कर, उन गलियों में घूमा और हमारी सूचना सही साबित हुई। गलियों में घूमने के दौरान पुलिसकर्मियों द्वारा किये गए मार्चपास्ट से भी सामना हुआ, लेकिन कोई पुकिसकर्मी मुझे पहचान नहीं पाया।
बेहतरीन कार्य के लिए पुरस्कार मिलेगा
नागरिकता कानून के विरोध के दौरान हिंसा फैलाने वाले उपद्रवियों को पकड़ने के लिए आगरा पुलिस ने नायाब तरीका अपनाया। जहांं सब इंस्पेक्टर सुनील तोमर हुलिया बदलकर कुछ इस तरह से उपद्रवियों की जानकारी हासि
उपनिरीक्षक सुनील तोमर को लेकर क्षेत्राधिकारी छत्ता उदयराज सिंह का कहना है कि वाकई में सुनील ने बेहतरीन काम किया है, ऐसे पुकिसकर्मी से बाकी  पुलिसकर्मियी का हौंसला बढ़ता है और सुनील के प्रशस्त्रि पत्र के लिए उच्चाधिकारियों को सिफारिशी पत्र लिखा जाएगा।

ट्रक पर 1लाख 66 का टेक्स बाकी, क्रेन से उठवाया आरटीओ ने

 ट्रक पर 1लाख 66 का टेक्स बाकी, क्रेन से उठवाया आरटीओ ने
सागर । क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी, प्रदीप कुमार शर्मा ने बताया कि  प्रवर्तन अमले के प्रभारी  अश्विनी खरे के साथ रेल्वे माल गोदाम पर वाहनों की चैकिंग की कार्यवाही की गयी।
रेल्वे मालगोदाम में एक ट्रक वाहन क्रमांक डच्16भ्1786 को चैक किया गया। जिस पर रू. 1.66 लाख बकाया था, जिसकी सूचना वाहनस्वामी को दिए जाने पर भी वह उपस्थित नहीं हुए, और उनके द्वारा ड्रायवर को भी नहीं भेजा गया, उक्त वाहन को क्रेन के माध्यम से टोचन कर कार्यालय परिसर तक लाया गया जिसका व्यय वाहनस्वामी से वसूल किया जावेगा। चैकिंग के समय कई बार वाहनचालक अपने वाहन छोड़कर छिप जाते है, जिससे उस वाहन पर चालानी कार्यवाही न की जा सके। अब ऐसी स्थितियों में वाहनों को टो कर कार्यालय तक लाया जावेगा।
इसी प्रकार ट्रक वाहन क्रमांक डच्15भ्।0458ए डच्15च्2763 पर टैक्स बकाया होने एवं 02 ट्रेक्टर प्रायवेट श्रेणी में पंजीकृत होकर व्यवसायिक उपयोग करते पाये गये जिन्हें जप्तकर कार्यालय परिसर में सुरक्षार्थ रखा गया। जप्तशुदा वाहनों से लगभग तीन लाख  लाख शमन शुल्क एवं टैक्स प्राप्त होने की संभावना है।
क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी ने बताया कि चैकिंग की कार्यवाही में विशेष रूप से टैक्स बकाया वाहन, ओव्हर लोडिंग, वाहन चालक एवं परिचालक से संबंधित दस्तावेजों का परीक्षण, फिटनेस, परमिट, स्पीड गर्वनर, बीमा, प्रदूषण प्रमाण पत्र संबंधी दस्तावेजों का परीक्षण जांच दल द्वारा किया गया।

मंगलवार, 24 दिसंबर 2019

तकनीकी का चरमोत्कर्ष मानवता की मौत: रघु ठाकुर, शंकरदत्त चतुर्वेदी स्मृति व्याख्यानमाला में

तकनीकी का चरमोत्कर्ष मानवता की मौत: रघु ठाकुर,
शंकरदत्त चतुर्वेदी स्मृति व्याख्यानमाला में
सागर। समाजवादी चिन्तक  रघु ठाकुर ने कहा है कि पूर्वकालीन संस्कृति में वेतन रहित गुरुओं का दौर था। हिंदुस्तान की शिक्षा पर सबसे बड़ा हमला ब्रिटिश काल में हुआ।जैसी शिक्षा होती है वैसा समाज हो जाता है,जैसा समाज होता है वैसी शिक्षा हो जाती है।भारतीय शिक्षा इंसान को बनाने की, इंसानों को गढ़ने की थी। उन्होंने कहा कि नई तकनीक का दौर भगवान का विस्थापन कर देगा। नई तकनीक में हर कार्य मशीन करेगी तो भगवान का क्या कार्य हुआ।अब मास्टर की जरूरत नहीं पड़ेगी। इंटरनेट से शिक्षा मिलेगी। तकनीकी शिक्षा के दौर में गुरु नाम की चीज नहीं होगी। तकनीकी का चरमोत्कर्ष मानवता की मौत है। वैश्वीकरण में सरकारी शिक्षा खत्म हो रही है‌। शिक्षा का निजीकरण हो रहा है।
श्री ठाकुर पं.मोतीलाल नेहरू उच्चतर माध्यमिक  शाला के प्राचार्य रहे आदर्श शिक्षक स्व.शंकर दत्त चतुर्वेदी की स्मृति में  "शिक्षा और समाज" विषय पर आयोजित व्याख्यानमाला को सम्बोधित कर रहे थे। प्रो.उदय जैन  इसके मुख्य अतिथि तथा आर.के.तिवारी विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित रहे। साहित्यकार प्रो.सुरेश आचार्य ने अध्यक्षता की।
अतिथियों द्वारा स्मृति दीप प्रज्ज्वलन व स्व. चतुर्वेदी के चित्र पर माल्यार्पण पश्चात् बुंदेली गायक शिव रतन यादव ने स्मृति गीत का गायन किया। अतिथि स्वागत हरी सिंह ठाकुर, अमित तिवारी,अंजना तिवारी और मुकेश तिवारी ने किया।श्यामलम् अध्यक्ष उमाकांत मिश्र ने कार्यक्रम परिचय दिया।स्व.चतुर्वेदी की पुत्री डॉ.अंजना चतुर्वेदी तिवारी ने स्वागत उद्बोधन दिया।आर.के.तिवारी ने स्व.चतुर्वेदी का जीवन परिचय दिया। दीपक तिवारी ने काव्य पाठ किया।
     रीवा विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति डॉ. उदय जैन ने इस अवसर पर स्व. चतुर्वेदी के संस्मरण साझा करते हुए कहा कि वे मेरे गुरु थे। म्युनिसिपल हायर सेकेंडरी स्कूल में उनसे शिक्षा प्राप्त करने का गौरव मुझे प्राप्त है। विधायक शैलेंद्र जैन ने चतुर्वेदी परिवार से अपने पारिवारिक संबंधों का उल्लेख करते हुए कहा कि स्व.चतुर्वेदी उनके पिता के गुरु थे। अंग्रेजी शिक्षक के रूप में उनका कोई सानी नहीं था।वे एक अनुशासन प्रिय आदर्श शिक्षक के रूप में जाने जाते रहे।
 इस  अवसर पर शासकीय हाई स्कूल कुड़ारी की प्राचार्य डॉ.अंजना पाठक को'शंकरदत्त चतुर्वेदी शिक्षा सम्मान 2019' से विभूषित किया गया।साथ ही रघु ठाकुर और डॉ.अंजना चतुर्वेदी तिवारी को भी सम्मानित किया गया।
 प्रो. सुरेश आचार्य ने कहा संपूर्ण भारतीय शिक्षा पद्धति पर अगर सबसे कम नियंत्रण किसी का रहा है तो वे अध्यापक हैं और सर्वाधिक नियंत्रण राजनीतिक क्षेत्र का रहा है जिसका परिणाम यह है कि भारतीय शिक्षा पद्धति ने अपनी गरिमा खो दी है।कार्यक्रम का  संचालन चंचला दवे ने  तथा आशीष ज्योतिषी ने आभार माना।
ये रहे उपस्थित
इस अवसर पर निर्मल चंद निर्मल,लक्ष्मी नारायण चौरसिया,डॉ.गजाधर सागर,डॉ.महेश तिवारी,डॉ.श्याम मनोहर सिरोठिया, डॉ राजेश दुबे,डॉ.वर्षा सिंह,डॉ.सुश्री शरद सिंह,डॉ.आनंद प्रकाश त्रिपाठी,ऋषभ समैया जलज,डॉ.शशि कुमार सिंह,सुनील भाई पटेल,डॉ.ए.के.पटेरिया, डॉ.नरेंद्र सिंह ठाकुर,डॉ.अरविंद बोहरे,डॉ.आर. के.पाठक,गोवर्धन पटेरिया,आर.के.चतुर्वेदी,इं. दुर्गेश गर्ग, दीपक तिवारी देवरी,डॉ.आलोक चौबे,डॉ. ऋषभ भारद्वाज,कपिल बैसाखिया, कुंदन पाराशर,संतोष पाठक,पी.आर.मलैया, वीरेंद्र प्रधान,टी.आर.त्रिपाठी,डॉ.सतीश पांडे, दामोदर अग्निहोत्री,शैलेंद्र ठाकुर,डॉ.रजनीश जैन,डॉ.नलिन जैन,वृंदावन राय सरल,डॉ.यू.के. चौबे,कैलाश तिवारी विकल,अतुल श्रीवास्तव, पुष्पदंत हितकर,के.एल.तिवारी अलबेला, मुकेश निराला, प्रभात कटारे, राघव रामकरण, आदर्श दुबे, रमेश दुबे,अभिनव दत्त दुबे, आशीष गौतम सहित बड़ी संख्या में लोगों की उपस्थिति उल्लेखनीय रही।

26 दिसंबर को सूर्य ग्रहण, कब है सूतक काल और क्या रखे सावधानी,कहा दिखेगा ग्रहण




26 दिसंबर  को सूर्य ग्रहण, कब है सूतक काल और क्या रखे सावधानी,कहा दिखेगा ग्रहण

धर्मिक मान्यताओं के अनुसार सूर्य ग्रहण के दौरान कई कार्य वर्जित होते हैं। इस महीने 26 दिसंबर को सूर्य ग्रहण लग रहा है। विज्ञान के मुताबिक इसे नग्न आंखों से नहीं देखना चाहिये।
यह भारत के अधिकांश हिस्सों में प्रभावी तौर पर दिखाई देगा। इस बार का सूर्य ग्रहण वलयाकार होगा यानी आप ग्रहण काल में सूर्य को एक चमकदार रिंग वलयाकार के तौर पर देख सकेंगे। ग्रहण को लेकर तमाम ज्योतिषीय भविष्यवाणी भी की जा रही है कि किन राशियों के लिए ये अच्छा प्रभाव लाएगी और किनके लिए इसका बुरा प्रभाव पड़ेगा।
सूर्य ग्रहण एक प्रकृतिक घटना है लेकिन इसके धार्मिक व वैज्ञानिक महत्व अलग अलग हैं। साल का आखिरी महीना चल रहा है। 26 दिसंबर 2019 को सूर्य ग्रहण है। धार्मिक और वैज्ञानिक रूप से ग्रहण काल अशुभ होता है। विज्ञान की मानें तो सूर्य ग्रहण को नग्न आंखों से नहीं देखना चाहिये। वहीं धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस दौरान कई कार्यों को वर्जित माना गया है। आज हम आपको बतातें हैं कि सूर्य ग्रहण के समय क्या क्या सावधानियां बरतनी चाहिये।
ग्रहण का सूतक काल
सूर्य ग्रहण का समय और सूतक काल
भारतीय समयानुसार सूर्य ग्रहण सुबह 08 बजकर 17 मिनट पर लगेगा और 10 बजकर 57 मिनट पर यह समाप्त हो जाएगा। खण्डग्रास की अवधि 2 घंटे 40 मिनट तक रहेगी। जबकि सूर्य ग्रहण में लगने वाला सूतक काल ग्रहण से 12 घंटे पूर्व लग जाएगा

किस राशि और नक्षत्र में लग रहा है सूर्य ग्रहण
सूर्य ग्रहण गुरु की राशि धनु और मूल नक्षत्र में लग रहा है। मूल नक्षत्र का स्वामी ग्रह केतु है। सूर्य ग्रह, धनु राशि और मूल नक्षत्र के बीच की सामंजस्यता को देखें तो इन तीनों के मध्य अच्छी सामंजस्यता दिखाई दे रही है।
कन्या, तुला और कुंभ राशि को इस ग्रहण के प्रभाव से लाभ मिलेगा। उनकी पर्सनल लाइफ से लेकर प्रोफेशनल लाइफ में तरक्की होगी। इसके अलावा पदोन्नति के आसार भी दिख रहे हैं। जबकि कर्क, वृश्चिक, धनु और मीन राशि के लिए कष्ट लेकर आएगा ये ग्रहण। स्वास्थ्य, आर्थिक हानि और तनाव जैसे संकट का कारक हो सकता है ये ग्रहण। इसके लिए अतिरिक्त अन्य राशियों को भी मध्यम स्तर का ग्रहण प्रभाव दिखाई देगा। अत्यधिक धन खर्च, संपन्न हो रहे कार्यों में बाधा आदि सूर्य ग्रहण के प्रभाव से हो सकता है।
सूर्य ग्रहण के दौरान सावधानियां
-,गर्भवती महिलाओं को ग्रहण के दौरान घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए।
-सूर्य ग्रहण को आंखों पर बिना किसी सुरक्षा के नहीं देखना चाहिए।
-आंखों पर ग्रहण के दौरान प्रयोग किये जाने वाले चश्मे लगाने चाहिए।
-इस अवधि में चाकू, छुरी या तेज धार वाली वस्तुओं का प्रयोग न करें।
-ग्रहण के दौरान भोजन और पानी का सेवन न करें।
-इस समय पूजा करना और स्नान करना भी शुभ नहीं माना जाता।
-ग्रहण के दौरान आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ कर सकते हैं।
-ग्रहण के बुरे प्रभावों से बचने के लिये महा मृत्युंजय मंत्र का जाप करें।
कहां कहां होगा ग्रहण का प्रभाव
 सूर्य ग्रहण भारत के साथ—साथ पूर्वी यूरोप, एशिया, उत्तरी/पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया और पूर्वी अफ्रीका में प्रभावी दिखाई देगा। अफगानिस्तान, पाकिस्तान, भारत, चीन और पूर्वी एशिया के बड़े हिस्से में इस ग्रहण को अच्छे से देखा जा सकेगा।
भूकंप, सुनामी और बर्फबारी का खतरा
ज्योतिष गणना के अनुसार, ग्रहण से ठीक एक दिन पहले पौष माह में मंगल राशि परिवर्तन करके जल-तत्व की राशि वृश्चिक में प्रवेश करने वाला है। ऐसी स्थिति बड़े प्राकृतिक आपदा की ओर इशारा कर रही है। ग्रहण के 3 से 15 दिनों के भीतर भूकंप, सुनामी और अत्यधिक बर्फबारी का खतरा देश पर मंडरा रहा है।

रेवांचल एक्सप्रेस में 65 लाख की लूट का खुलासा,चार गिरफ्तार,आरोपियों में रेलवेकर्मी के बेटे भी शामिल

रेवांचल  एक्सप्रेस में 65 लाख की लूट का खुलासा,चार गिरफ्तार,आरोपियों  में रेलवेकर्मी  के बेटे भी शामिल
सागर। रेवांचल एक्सप्रेस में सतना के व्यापारी के मुनीम से हुई 65 लाख की लूट के मामले में जीआरपी पुलिस ने  खुलासा कर चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों से करीब 28 लाख नकद ज्वेलरी, प्रॉपर्टी और ज्वेलरी के रूप में आंकलित बरामदगी 48 लाख के करीब की गई है। एक आरोपी फरार है । इनमे एक आरोपी रेलवे के कर्मचारीयो के  बेटे भी शामिल है।लूटेरों की लूट के पैसों से बदली जीवन शैली ने उनको पकड़वाने में मदद की। 
  जबलपुर रेलवे पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार जैन ने पत्रकारों को बताया कि गत 25 जुलाई को सतना के सोने चांदी के व्यापारी महीप शाह का मुनीम रंजीत कुशवाह पिता परशुराम उम्र 28 वर्ष निवासी उजरोंधा थाना कोठी जिला सतना रेवांचल एक्सप्रेस से इंदौर में व्यापारियों को यहाँ रकम देने रेवांचल एक्सप्रेस के कोच एस/टू से जा रहा था।
दमोह में हुई थी लूट
दमोह रेल्वे स्टेशन पर रेवांचल एक्सप्रेस धीमी हुई तो  तीन चार लोगो द्वारा उसके सिरहाने से रखा बैग लूट लिया गया। जिसमें करीब  65 लाख रूपए थे।  प्रकरण सागर जीआरपी थाने में दर्ज किया।  जाकर पड़ताल के लिए टीम गठित की गई. श्री जैन ने बताया कि टीम ने राजन उर्फ गौतम जाटव निवासी सतना जो रेलकर्मी का पुत्र है को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने लूट का खुलासा करते हुए बताया कि साथ ही शनिशंकर तिवारी द्वारा रंजीत के लंबी रकम लेकर जाने की जानकारी मिलने पर योजना बनाई गई और मनीष यादव, धमेंद्र चक्रवर्ती, संतोष जैन को इसमें शमिल किया गया।  एसपी के अनुसार दमोह में जब लूट की गई तो रंजीत द्वारा बैग छुड़ाने के प्रयास के दौरान आरोपियों द्वारा चाकू निकालकर जान से मारने की धमकी दी गई ।आरोपी दमोह स्टेशन से भागे उन्हे बैग में 65 लाख रूपए मिले जिन्हे आपस में बांट लिया था । 14 -14 लाख रुपये ईंन चारों ने और 9 लाख रुपये संतोष बेन  को दिए।पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि फरार आरोपी संतोष बैन की तलाश जारी है। बताया जाता है कि 
जिसकी तलाश की जा रही है ।पुलिस ने इनके कब्जे से 28 लाख 16 हजार 880 रुपए बरामद कर लिए है। इसके साथ ही सोने के जेवर और जमीन की रजिस्ट्री और बैंक में जमा एफडी आदि बरामद की है। पुलिस को इनसे शेष रकम व अन्य चोरियों के खुलासे की उम्मीद है। आरोपियों का रिमांड लिया गया है । फरार हुये संतोष बैन की तलाश कार्यवाही की जा रही है।
 इन पुलिस कर्मियों की सराहना
 रेलवे पुलिस जबलपुर व्दारा थाना प्रभारी ब्रजेन्द्र मिश्रा, सउनि, एन.के. दुबे, सउनि. पी.के. श्रीवास्तव, सउनि. आर. एस. शुक्ला ,जे.एस. धर्व, आर. रवि कांत रजक, आर. राजेन्द्र कुमार, आर. रवि पुरोहित, आर.  भानप्रताप सिंह, आर.  सलमान खान, आर. प्रमोद यादव की  विवेचना टीम के व्दारा किये गये सराहनीयकार्य के लिये नगद राशि से वरिष्ठ पुलिस अधिकारी महोदय व्दारा पुरूषकृत करने की घोषणा की गयी है।

बाइट-सुनील कुमार जैन एस पी रेल पुलिस जबलपुर

निर्माणकार्यो में हेराफेरी करने वाले दो सरपंचों को हटाया,छह साल तक चुनाव लड़ने पर रोक

निर्माणकार्यो में हेराफेरी करने वाले दो सरपंचों को हटाया,छह साल तक चुनाव लड़ने पर रोक

सागर । सागर जिले देवर और  केसली जनपद क्षेत्र में पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के तहत निर्माण कार्यों में नियम विरुद्ध कार्य करने और शासकीय राशि का  हेरफेर करने पर जिला पंचायत सागर के  मुख्य कार्यपालन अधिकारी  चंद्रशेखर शुक्ला ने दो सरपंचों को पद से हटा दिया है। इसके साथ ही  आगामी 6 सालों तक उनके चुनाव लड़ने पर भी रोक लगा दी है। दोनों ही सरपंचों के खिलाफ लाखाें रुपए का नियम विरुद्ध निर्माण कार्य कराने की शिकायत मिली थी।
केसली के निर्मल साहू को हटाया
ग्राम पंचायत केसली द्वारा वर्ष 2017-18 एवं 18-19 में चार सीसी रोडों का निर्माण निर्धारित मापदंडों के अनुसार नहीं कराया गया था। तहसील परिसर में निर्मल नीर कूप का निर्माण भी अवैधानिक तरीके से दर्शाते हुए 80390 रुपए मजदूरी के रूप में मस्टर में फर्जी मजदूरों के नाम भरकर राशि का आहरण किया गया, जबकि निरीक्षण करने पर यहां किसी भी प्रकार का कोई निर्माण ही शुरू नहीं हो सका था। इसके अलावा नवीन नलकूप खनन के लिए राशि स्वीकृत कराके बिना कार्य के 118500 रुपए बेंडराों को भुगतान किया गया। वहीं ग्राम पंचायत केसली के वाड्र क्रं. 14 में अंबिका सोनी के घर से रामनाथ की कुलिया तक सीसी रोड निर्धारित मापदंड अनुसार नहीं बनाई गई जो वित्तीय अनियमित्ता की श्रेणी में आता है। इसलिए जिला पंचायत सीईओ ने केसली ग्राम पंचायत के सीईओ निर्मल साहू को सरपंच पद से पृथक करते हुए 6 साल के लिए पंचायत अधिनियम के अधीन निर्वाचन के लिए निरर्हित घोषित किया है। इसके अलावा नियम विरुद्ध किए गए कुछ निर्माण कार्यों की राशि मूल्यांकन राशि से अधिक 136835 रुपए आनवेदक सरपंच, सचिव ग्राम पंचायत केसली मनीष दुबे से वसूल किए जाने के आदेश दिए हैं। उन्होंने केसली के सीईओ को उक्त राशि 15 दिन के अंदर जमा कराने के आदेश दिए हैं। वहीं समनापुर रोड से राजकुमार खटीक के धर की निर्मित सड़क का मूल्यांकन कार्य से अधिक करने पर उपयंत्री बीडी गौड़ के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही का प्रस्ताव ग्रामीण यांत्रिकी सेवा संभाग क्रं. दो के सक्षम अधिकारी को एक सप्ताह में भेजने के निर्देश दिए हैं। देवरी के सिंगपुरगंजन के सरपंच नवनीत राम को  हटाया
देवरी पंचायत के सिंगपुरगंजन के सरपंच नवनीतराम वासुदेव द्वारा सड़क निर्माण कार्य में राशि का हेरफेर करने पर  ने उन्हें भी पद से हटा दिया है। सरपंच ने कृष्णा विश्वकर्मा के घर तक सीसी रोड निर्माण कार्य में पंचायत के खाते से 508000 रुपए का आहरण कर 262377 का कार्य कराने व शेष 245623 का प्रभक्षण करने, विद्या मंदिर से फूलसिंह तक 767281 राशि आहरित कर 623890 का कार्य कराने एवं काली माई तिराहा चेतराम के घर से 1.02 लाख स्वीकृत सीसी रोड में से 91500 के मूल्यांकन के विरुद्ध 88643 का निर्माण कराके शेष राशि का प्रभक्षण किया है। इसलिए जिला पंचायत सीईओ ने पंचायत राज एवं ग्राम स्वराज अधिनियम की धारा 40 के तहत इसके अवचार की श्रेणी मानते हुए अनावेदक नवनीतराम वासुदेव को सरपंच पद से हटा दिया है। सीईआे ने 6 वर्ष के लिए पंचायत अधिनियम के तहत निर्वाचन के लिए निरर्हित घोषित किया है।

अतिक्रमण के खिलाफ कार्यवाई जारी, भाजपा के पूर्व निगम अध्यक्ष का ढाबा तोड़ने के दौरान बहस

अतिक्रमण के खिलाफ कार्यवाई जारी, भाजपा के पूर्व निगम अध्यक्ष का ढाबा तोड़ने के दौरान बहस
सागर । कलेक्टर श् प्रीति मैथिल नायक और पुलिस अधीक्षक  अमित सांघी के मार्गदर्षन में जिले में भू-माफियों और अवैध कार्य करने वालों के विरूद्व जिला प्रषासन द्वारा सख्त कार्यवाही की जा रही है। इस क्रम में प्रषासन, नगर निगम और पुलिस प्रषासन के द्वारा संयुक्त कार्यवाही आज भी की गई। प्रसासन की इस कार्यवायी से पूरे जिले में हड़कम्प मचा है।
 जिसमें मोतीनगर चौराहा के पास भोपाल रोड़ स्थित तिवारी ढाबा जो शासकीय भूमि पर अतिक्रमण कर बनाया गया था। उसे तोड़ने की कार्यवाही की गई और शासकीय जमीन को मुक्त कराया गया। ढाबे से लगी हुई 5 दुकानों को भी तोड़ा गया।
 इस दौरान  पूर्व निगमाध्यक्ष और भाजपा  पार्षद विंनोद तिवारी और निगमायुक्त के बीच जमकर बहस हुई। तिवारी ने आयुक्त को देख लेने की धमकी तक दी। तिवारी का कहना था कि बिना नोटिस के कार्यवाही की गई है।इसमे गरीब दुकानदारों का नुकसान हुआ है । भाजपा नेता विंनोद तिवारी ने उपायुक्त प्रणय कमल खरे  पर आरोप लगाया कि उनके भाई से अतिक्रमण नही तोड़ने के एवज में 20 हजार रुपये मांगे थे।
भाजपाईयो के खिलाफ जानबूझकर कार्यवाई की जा रही है। उधर  कांग्रेस नेता प्रदीप गुप्ता कीदुकानों को भी तोड़ा गया।इस मामले में प्रदीप गुप्ता ने कहा कि प्रसासन ने सही कार्यवायी की है । पिछले कुछ दिनों से इसकी जानकारी दी जा रही थी।इस दौरान  चौराहे पर स्थिति तनावपूर्ण बन गयी।तनाव की स्थिति होता देख मौके पर प्रसासनिक अधिकारियों सहित भारी पुलिस बल मौजूद रहा।
तिली चौराहे स्थित ग्रीन वैली मैरिज गार्डन के समीप सार्वजनिक नाले से अतिक्रमण हटाकर नाले को अतिक्रमण से मुक्त कराया गया।
इस दौरान नगर निगम आयुक्त  आरपी अहिरवार, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक  राजेष व्यास, सीएसपी  आरडी भारद्वाज, सिटी मजिस्ट्रेट  पवन बारिया, संयुक्त कलेक्टर श्रीमती अंजली शाह, डिप्टी कमिष्नर नगर निगम  प्रणय कमल खरे, थाना प्रभारी मोतीनगर, नगर निगम का अतिक्रमण दस्ता और पुलिस बल मौजूद था।
मकरोनिया मेंहुई अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही
 इसी तरह सागर के उप नगरीय क्षेत्र में एसडीएम  संतोष चंदेल, एवं सीएमओ मकरोनिया के निर्देषन मंे सागर बंडा रोड स्थित पंचवटी होटल समीप नाले पर  किए गए अतिक्रमण को हटाकर नाले को अतिक्रमण मुक्त कराया गया। इस दौरान मकरोनिया टीआई एवं पटवारी श्री सूरज शर्मा सहित उपस्थित थे।
रास्ते को अतिक्रमण से मुक्त कराया
 बण्डा में तहसीलदार एलआर जागडे़ एव ंनायब तहसीलदार सुश्री ऋतु सिंघई के निर्देषन में अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही की गई। वार्ड क्रमांक 11 के शासकीय रास्ता पर बनाए जा रहे निर्माणाधीन मकान को गिराकर रास्ते को अतिक्रमण से मुक्त कराया गया।
शासकीय भूमि को अतिक्रमण से मुक्त कराया
 केसली में तहसीलदार श्री कमलेष अग्रवाल, टीआई  देवेन्द्र कच्छवाहा के निर्देषन मंे अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही की गई। कार्यपालन यंत्री जल संसाधन विभाग के कार्यालय के सामने 3 पक्के एवं 9 कच्चे मकानों को तोड़कर शासकीय भूमि को अतिक्रमण मुक्त किया गया।                        

 

SAGAR: जिला अस्पताल में 10 दिन में तैयार हो जाएगा ऑक्सीजन प्लांट , 100 बिस्तरों को रोज मिलेगी ऑक्सीजन

Archive