रानगिर की माँ हरसिद्धि माई

शनिवार, 11 जनवरी 2020

राजस्व मंत्री को अपने विधानसभा क्षेत्र सुरखी के स्वास्थ्य की चिता,कहा 40 मिनिट अपने स्वास्थ्य के लिए निकाले

राजस्व मंत्री को अपने विधानसभा क्षेत्र सुरखी के स्वास्थ्य की चिता,कहा 40 मिनिट अपने स्वास्थ्य के लिए निकाले
सागर ।राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत को अपने  सुरखी विधानसभा क्षेत्र वासियों के स्वास्थ्य की चिंता भी है। उन्होंने एक स्वास्थ्य शिविर में जनमानस से 40 मिनिट स्वास्थ्य के लिए निकालने की बात कही।सरखी के जैसी ञ्जर में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में निःशुल्क स्वास्थ्य चिकित्सा शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने कहा कि सुरखी विधानसभा क्षेत्र में मेरा जितना जोर क्षेत्र के विकास की ओर है, उतनी ही चिंता मुझे मेरे सुरखी क्षेत्र की जनता के स्वास्थ्य को लेकर भी है। राजपूत ने कहा कि जीवन में आदमी मेहनत की दम पर संपत्ति आदि सबकुछ पा लेता है, लेकिन सब कुछ पाने के बाद अगर वह स्वस्थ नहीं है, तो वह अपनी कमाई हुई संपत्ति को केवल देख सकता है, परंतु स्वयं उसका उपभोग नहीं कर सकता। उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति को अपनी दिनचर्या में कम से कम 40 मिनिट अपने स्वास्थ्य के लिए जरूर देना चाहिए। राजपूत ने कहा कि स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क का निवास होता है। मौके पर उपस्थित लोगों ने मंत्री जी से जैसीनगर स्वास्थ्य केंद्र में अव्यवस्थाओं की बात कही, जिस पर मंत्री गोविंद राजपूत ने मौके पर उपस्थित स्वास्थ्य अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश देते हुए कहा कि एक माह की भीतर जैसीनगर स्वास्थ्य केंद्र का कायाकल्प हो जाना चाहिए, मेरे अगले दौरे से पहले स्वास्थ्य केंद्र स्वस्थ मिलना चाहिए। आमजन की मांग पर पोस्टमार्टम वार्ड के समीप आमजन की सुविधा हेतु शेड निर्माण करने हेतु भी अधिकारियों को निर्देशित किया। इस दौरान मंत्री जी ने स्वास्थ्य शिविर में उपस्थित दिव्यांकों को ट्राईसाईकिल प्रदान की। निःशुल्क स्वास्थ्य चिकित्सा शिविर में लगभग 1 हजार से अधिक लोगों ने स्वास्थ्य परीक्षण कराया जिसमें लगभग 700 महिलाएं शामिल रही। मंत्री गोविंद राजपूत ने स्वास्थ्य चिकित्सा शिविर में महिलाओं की संख्या को देखते हुए महिलाओं का निःशुल्क स्वास्थ्य चिकित्सा शिविर पृथक से लगाये जाने की बात कही।
इस मौके पर  राजू बड़ोन्या, पदम बजाज, गौरीशंकर सोनी, डब्बू आठिया, दिलीप पटैल, पप्पू दुबे सूखा, राजकिशोर शुक्ला, भगवानदास तिवारी, अनिल सोनी सेवादल, राजेश श्रीवास्तव, अरविंद जैन, बलराम विश्वकर्मा, लक्ष्मन पटैल, विश्वजीत, पवन तिवारी, प्रमोद पटैल आदि  मौजूद थे।

विवेकानंद जी ने राष्ट्र का परिचय दिया शिकागो में -राजकुमार

विवेकानंद जी ने राष्ट्र का परिचय दिया शिकागो में  -राजकुमार
सागर।विवेकानंद जी ने अपनी प्रतिभा से विश्व धर्म सम्मेलन शिकागो में भारत की महत्ता को बताया, राष्ट्र का परिचय देते हुए कहा कि भारत की महत्ता व सभी धर्म के जनमानस को साथ लेकर चलने का अद्वितीय बनाए रखने का श्रेय केवल भारत को जाता है यह उद्धबोधन मुख्य अतिथि राजकुमार ठाकुर ने कही । सरस्वती शिशु मंदिर उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मोतीनगर सागर में विवेकानंद जयंती समारोह में मुख्य अतिथि राजकुमार ठाकुर, अध्यक्षता बाबूलाल सेन विशिष्ट अतिथि हरिशंकर दुबे व रणवीर सिंह ठाकुर थे । कार्यक्रम के पूर्व अतिथियों ने मां सरस्वती व विवेकानंद के छायाचित्र पर माल्यार्पण व दीपप्रज्वलन किया । अतिथियों का परिचय श्रीमती रीना ज्योतिषी व स्वागत स्वदेश तिवारी ने किया। विशिष्ट अतिथि हरिशंकर दुबे ने कहा कि भारत अजेय हैं और अजेय रहेगा। भारतीय संस्कृति हमारी प्राचीन भारतीय परंपरा को विकसित किये हुए हैं। कार्यक्रम अध्यक्ष बाबूलाल सेन ने कहा कि स्वामी विवेकानंद का उद्देश्य ही था कि हम ज्यादा से ज्यादा आनंद में डूबे रहेंगे तो हमारा शरीर स्वस्थ रहेगा। उन्होंने धर्म सम्मेलन में भारत को धर्मों के आधार पर कहते हुए कहा कि भारत खोज में सर्व शक्तिशाली है शून्य में जानकारी दी तब सभी सभासद मौन रहकर भाषण को सुनने के लिए आतुर हो गये । ‌मीडिया प्रभारी मनोज नेमा ने कहा कि विवेकानंद ने अपने युवा समय में भारत की प्रतिभा को विकसित कर युवाओं को राष्ट्रप्रेम की भावना को जागृत किया । आपका भारत से लगाव इतना था कि उन्होंने भारत में आते ही समुद्र के किनारे धरती पर लोटकर देश प्रेम का भाव जनमानस को जागृत करवा दिया।मंच संचालन समीक्षा रजक व वसुंधरा वर्मन ने किया व सरस्वती वंदना बैष्णवी , उपमा व खुशी ने संगीत के साथ प्रस्तुत की। भैया शिवकांत रजक, श्रेष्ठ साहू व उर्मिला बर्दिया के द्वारा विवेकानंद रूप धारित किया। आचार्य अमन नामदेव ने विवेकानंद पर कविता पाठ के साथ भैया, बहनों व अभिभावकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। विद्यालय के 425 भैया-बहिनों के द्वारा सूर्य नमस्कार किया गया ।कार्यक्रम में मनोज नेमा, रंजीता चौरसिया, अशोक पटेल,बालकेश ठाकुर, कविता बाजपेयी, वंदना कुशवाहा, रश्मि रावत, सरिता मिश्रा,प्रदीप , संजय, रामबाबू पाराशर,वर्षा, मोहिनी अवस्थी, अनुजा प्यासी,सोमकांत श्रीवास्तव,आचार्य, आचार्या व अभिभावकों की उपस्थिति रही। आभार  प्रदर्शन रणवीर सिंह ठाकुर ने किया।

नेमा समाज का अप्रैल में आयोजित होगा प्रांतीय सम्मेलन सागर में एवम सामुदायिक भवन बनेगा

 नेमा समाज का अप्रैल में आयोजित होगा प्रांतीय सम्मेलन सागर में एवम सामुदायिक भवन बनेगा

सागर। समाज का अपै्रल में आयोजित होगा प्रांतीय सम्मेलन एवं शहर में बनेगा सामुदायिक भवन व विवाह पत्रिका होगी जारी उक्त विचार भटियारा नेमा समाज के आयोजित मिलन समारोह शनिवार को सरस्वती मैरिज गार्डन, भगत सिंह वार्ड, थाना मोतीनगर में प्रांतीय अध्यक्ष एडवोकेट  जिला अध्यक्ष महेष नेमा ने व्यक्त किए।
इस अवसर पर सचिव  मुकेष नेमा, कोषाध्यक्ष  पुरूषोत्तम नेमा, आनंद गुप्ता, मनोज नेमा, कमलेष नेमा, जिला कोषाध्यक्ष लक्ष्मीनारायण नेमा, अतुल नेमा, योगेष नेमा, संजय नेमा सहित समाज जन उपस्थित थे।
मिलन समारोह में समाज की बैठक आयोजित की गई जिसमें निर्णय लिया गया कि अपै्रल माह में प्रांतीय सम्मेलन आयोजित किया जाएगा जिसमें सामूहिक विवाह समारोह एवं विवाह पत्रिका जारी की जाएगी।
प्रांतीय सचिव श्री मुकेष नेमा ने कहा कि समाज को पिछड़ा वर्ग में लाने पर समाज के अनेक लोगों को इसका लाभ प्राप्त हुआ है।  जिला अध्यक्ष  डीपी नेमा ने कहा कि कोषाध्यक्ष  पुरूषोत्तम नेमा के साथ मिलकर सामूदायिक भवन निर्माण की रणनीति तैयार की गई है। समाज के सहयोग से इसे मूर्तरूप दिया जाएगा।
नववर्ष मिलन समारोह में श्री हरिषंकर नेमा, श्री विष्णप्रसाद नेमा, श्री बाबूलाल नेमा, श्री रमेष कुमार नेमा, श्रीमती सुषीला बाल मुकुंद गुप्ता, श्रीमती रूपा नेमा, श्रीमती शंकुतला नेमा, श्री केषव नेमा का सम्मान किया गया। साथ ही संदीप नेमा पुत्र श्री राजेन्द्र नेमा का पीओ पद पर चयन होने पर सम्मानित किया गया। इसी प्रकार प्रियांषी पुत्री लक्ष्मीनारायण नेमा का जूडो प्रतियोगिता में राष्ट्रीय खिताब जीतने पर समानित किया गया। कुमारी दूर्वा मुकेष नेमा, कुमारी सिद्धि मनोज नेमा, खुषी मनीष नेमा का 80 प्र्रतिषत से अधिक अंक प्राप्त करने पर सम्मान किया गया। श्री योगेष नेमा द्वारा सरस्वती गार्डन निःषुल्क उपलब्ध कराने पर उनका सम्मान किया गया। इस अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ सहभोज किया गया।                                            

उपायुक्त, सहायक आयुक्त सहित छह नोडल अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस,कमिश्नर के निरीक्षण में थे गैरहाजिर

उपायुक्त, सहायक आयुक्त सहित छह नोडल अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस,कमिश्नर के निरीक्षण में थे गैरहाजिर
सागर।  नगर निगम द्वारा स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 के अंतर्गत किये जा रहे विभिन्न कार्याे का औचक निरीक्षण 10 जनवरी को संभागीय आयुक्त एवं प्रषासक  आनंद कुमार षर्मा द्वारा नगर निगम आयुक्त  आर.पी.अहिरवार के साथ षहर के विभिन्न स्थानों पर किया गया था। निरीक्षण के दौरान स्वच्छता सर्वेक्षण में नोडल अधिकारी के रूप में उपायुक्त, सहायक आयुक्त, चिकित्सक सहित सभी विभागों के अधिकारियों को 48 वार्डो में पदस्थ किया गया है। निरीक्षण के दौरान संभाग आयुक्त एवं प्रषासक को विभिन्न वार्डो में नोडल अधिकारी अपने कत्र्तव्य स्थल पर उपस्थित नहीं मिलें ।जिस कारण उन्होनें 6 नोडल अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किये है। दो दिवस के भीतर जबाब प्रस्तुत न करने की स्थति  में सभी नोडल अधिकारियों की एक वेतन वृद्वि असंचयी प्रभाव से रोकी जायेगी।
10 जनवरी को संभागीय आयुक्त एवं प्रषासक द्वारा विभिन्न वार्डो की सफाई व्यवस्था औचक निरीक्षण के दौरान उपायुक्त आर.पी.श्रीवास्तव, सहायक आयुक्त श्रीमति गीता मांझी, चिकित्सक डाॅ.हनीफ खान, राजस्व उप.निरीक्षक श्री राजेन्द्र नगरिया, श्री रामेन्द्र बचकैंया सहायक ग्रेड-3 एवं समयपाल श्री रमेष कुषवाहा प्रातः अपने कत्र्तव्य स्थल पर अनुपस्थित पाये गये। जबकि नोडल अधिकारी के रूप में नगर निगम आयुक्त श्री आर.पी.अहिरवार द्वारा स्वच्छता सर्वेक्षण अंतर्गत स्वच्छ एवं संुदर बनाने के लिये सिंगल यूज पाॅलीथीन का उपयोग न करने, खुले में कचरा न फेंकने, सूखा कचरा एवं गीला कचरा अलग-अलग डस्टबिन में देने, नाला नालियों में कचरा न डालने सहित विभिन्न कार्यो के लिये अपने अपने वार्डो में भ्रमण कर लोगों को स्वच्छता सर्वेक्षण की जानकारी देने के साथ-साथ समझाईस देने हेतु नियुक्त किया गया है।

दो कारो में अवैध शराब, पौने दो लाख की शराब जब्त,तीन आरोपी गिरफ्तार

दो कारो में अवैध शराब, पौने दो लाख की शराब जब्त,तीन आरोपी गिरफ्तार
सागर । अवैध शराब  का परिवहन लग्जरी  वाहनों से जमकर हो रहा है । सागर जिले के खुरई में  पुलिस ने दो ऐसे ही वाहनों से  पौने दो लाख से अधिक कीमत की 42 पेटी अवैध शराब जब्त की है। इसमे तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।
पुलिस के मुताबिक श्पलिस अधीक्षक सागर मार्गदर्शन में  अवैध शराब की परिवहन के रोकथाम के सबंध में निर्देशित किया गया था।
जिसके पालन में थाना प्रभारी खुरई ग्रामीण रोहित मिश्रा को मुखबिर व्दारा सूचना प्राप्त
हई। प्राप्त सूचना की तस्दीक हेतु मय फोर्स के रवाना होकर ग्राम कौरासा तिराहे पर चैकिंग की।  वाहन चैकिंग  के दौरान गाडी नम्वर MP 04T8713 टवेरा तथा दूसरी गाडी क्र.MP 1572559 शिफ्ट डिजायर इन  दोनों में कुल
42 पेटी अवैध शराब कुल मात्रा 369 ली0 कुल कीमती 1,78,300 रूपये की जब्त की गई।पुलिस ने  आरोपी राजकुमार पिता प्रहलाद सिंह ठाकुर भगवानगंज सागर,प्रवीण पिता रामगोपाल शर्मा पगारा रोड सागर जाहर पिता रहीम खान,ग्राम पीपरा थाना नरयावली को गिरफ्तार किया गया ।गाडियों को मयशराब के साथ जप्त किया गया ।
इस कार्यवाही में  प्रभारी उनि रोहित मिश्रा आरक्षक संजय प्रजापति , भूपेन्द्र  परिहार  शाजिद खान ,आनंद खटीक ,प्रदीप गोयल ,डाल सिंह आदि शामिल थे।

चितिंत होने से अधिक चिंतित दिखने की कोशिश @भूपेन्द्र गुप्ता

चितिंत होने से अधिक चिंतित दिखने की कोशिश

@भूपेन्द्र गुप्ता

देश की चिंता करना और चिंतित दिखना दोनों में बहुत फर्क है ।वर्तमान में सरकार चिंतित दिखने की कोशिश कर रही है ,इसी तर्ज पर देश के नीति आयोग ने अर्थशास्त्रियों और विशेषज्ञों की एक बैठक बुलाकर निष्कर्ष विहीनता का परिचय दिया है ।आज राजकोषीय घाटे की समस्या केवल केंद्र की नहीं है राज्य भी इस भीषण संकट से गुजर रहे हैं लगभग सभी राज्य  3.4% की सीमा पर बैठे हुए हैं । तब क्या यह बेहतर नहीं होता कि इस बैठक में राज्यों के मुख्यमंत्री एवं उनकी वित्तीय व्यवस्था देखने वाली नौकरशाही को भी शामिल किया जाता इससे राज्यों की समस्याएं भी सामने आती और उनकी प्राथमिकताओं पर केंद्र का ध्यान भी आकर्षित होता किंतु इस बैठक से तो देश की वित्त मंत्री ही गायब थी तब ऐसी बैठकों से क्या निष्कर्ष निकल सकते हैं और देश को क्या दिशा मिल सकती है यह अपने आप में ही बड़ा सवाल है।
अंततः केंद्र सरकार ने नोटबंदी और हड़बड़ी में लागू किये गये जीएसटी से बिगड़ी अर्थव्यवस्था को सुधारने के लिए 6 साल बाद बजट पूर्व अर्थशास्त्रियों और विशेषज्ञों से सुझाव लेने का मन बनाया  और एक बैठक आयोजित की । क्या यह ज्यादा समीचीन नहीं होता अगर सरकार इस बैठक में राजन,पनगड़िया या अरविंद सुब्रमन्यम को भी बुला लेती या कि निजी तौर पर ही सही पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह या अमर्त्य सेन जैसे महान अर्थशास्त्रियों से भी देशहित में राय ली जाती ।खैर जो सुझाव अर्थशास्त्रियों के सामने से आए हैं वह भी देश की चिंताजनक अर्थ व्यवस्था की तस्वीर ही पेश करते हैं ।एक दैनिक अखबार के अनुसार एक विशेषज्ञ ने यह सुझाव दिया है कि आर्थिक सुस्ती का दायरा इतना बड़ा है कि अब राजकोषीय घाटे की फिक्र किए बिना खर्च बढ़ाने चाहिए और इसकी योजनाएं बनानी चाहिए। एक अन्य अर्थशास्त्री ने यह सवाल उठाया कि राजकोषीय घाटे के बारे में वास्तविक आंकड़े सामने आने चाहिए। विश्वसनीय आंकड़े ही समाधान की ओर ले जा सकते हैं उन्होंने कहा कि संशोधित अनुमानों के मुताबिक 18-19 में राजकोषीय घाटा जीडीपी का 3.4% रहा है अगर बजट से हटकर ली गई उधारी को इसमें शामिल किया जाए तो यह 6 फ़ीसदी के आसपास आता है ।बैठक में हिस्सा लेने वाले ज्यादातर लोगों ने अर्थव्यवस्था की सुस्ती के परिमाण पर चिंता व्यक्त की है। यह भी बताया जाता है कि बैठक में 30-35 लोग शामिल थे एवं किसी भी अर्थशास्त्री या विशेषज्ञ को 2 मिनट से अधिक का समय सुझाव देने के लिए नहीं मिला। क्या भारत की अर्थव्यवस्था की कठिनाइयों को समझने के लिये 2 मिनट का समय काफी  है ? यह सवाल सभी के चेहरों पर एक सन्नाटा छोड़कर चला गया है।ऐसा नहीं लगता  कि सरकार अपनी कोई अर्थनीति बना पाई है ? हालांकि सरकार ने आश्वस्त किया है कि आगामी बजट से स्थितियों में बड़ा सुधार परिलक्षित होगा किंतु साथ ही एन आई पी की रिपोर्ट भी चिंता ही जाहिर करती है ।एक तरफ मोदी सरकार इस बात का ढिंढोरा पीट रही है कि निजीकरण से देश में  प्रतिस्पर्धा का वातावरण सुधरेगा किंतु दूसरी तरफ आधारभूत संरचना में 2025 तक जिस 102 लाख करोड़ रुपए दिए जाने की  बात की गई है उसमें 78% पैसा तो सार्वजनिक क्षेत्रों से ही खर्च किया जाएगा जबकि मात्र 22 फ़ीसदी धन ही निजी क्षेत्र लगायेगा। इसका अर्थ  है कि भले ही सरकार ने योजना आयोग को भंग कर पंचवर्षीय योजनाओं या दीर्घकालीन योजनाओं से हाथ हटाने की कोशिश की  और उसे निरर्थक सिद्ध किया हो किंतु उसी पंचवर्षीय योजनाओं पर लौटने के लिए चुप कदम उसने नेहरूवादी अर्थव्यवस्था को ही स्वीकार कर लिया है ।
कई क्षेत्र तो ऐसे हैं जिनमें निजी क्षेत्र का कोई निवेश ही नहीं है एटॉमिक एनर्जी ,रेलवे ,सिंचाई ,कृषि और नवकरणीय ऊर्जा योजनाएं ऐसे क्षेत्र हैं जहां पर निजी क्षेत्र का निवेश अत्यंत अल्प ही है किंतु सार्वजनिक धन से बनने वाली इन योजनाओं की आधारभूत संरचना को परिचालन के लिए निजी क्षेत्र को सौंपने का अर्थ है कि जोखिम तो सार्वजनिक निवेश के मत्थे जाएगा और लाभ निजी हाथों में सिमट जाएगा ।यह परिस्थिति और भी चिंताजनक तथा भयावह है। जब प्रधानमंत्री जी यह स्वीकारते हैं कि उनके 5 साल बर्बाद हो गए हैं ,तो इसकी भरपाई की कोशिशें भी तो दिखाई पड़नी चाहिये।अंततः ये पांच साल देश के  भी तो बर्बाद हुये हैं ।
 देश की पंचवर्षीय योजनाओं में सबसे महत्वपूर्ण चीज वित्त के अनुशासन की होती थी । यथा समय संसाधनों की उपलब्धता बनाई जाती थी  किंतु एनआईपी (अधोसंरचना पाइपलाइन)में यह समझना बाकी है कि सार्वजनिक क्षेत्र और निजी क्षेत्र किस तरह उसकी जरूरत के संसाधनों की पूर्ति कर सकेंगे।
यह भी सामने आया है कि बैठक में सरकार को सार्वजनिक क्षेत्र के निवेश, कर्ज के विस्तार ,सरकारी बैंकों के कामकाज में सुधार,एक्सपोर्ट में वृद्धि एवं कंजम्पशन बढ़ाने पर ध्यान देने का सुझाव दिया गया है। विशेषकर रोजगार सृजन की महत्ता पर सभी विशेषज्ञों ने अपनी राय जाहिर की है किंतु यह भी उतना ही सच है कि देश में चर्चा तो सार्वजनिक निवेश की हो रही है किंतु फैसले सार्वजनिक विनिवेश के लिए जा रहे हैं ।बीपीसीएल जैसी लाभदायी कंपनी के विनिवेश के बाद बीएचईएल,एम एम टी सी के विनिवेश की भी चर्चायें शुरु हो गईं हैं ,अब रास्ता कहां जाकर निकलेगा इसे तो अगला बजट ही बता पाएगा।फिलहाल दिखाने के लिये ही सही देश ने चिंतित होना तो शुरू कर ही दिया है।

(लेखक स्वतंत्र विश्लेषक एवं मध्यप्रदेश कांग्रेस विचार विभाग के अध्यक्ष हैं)

कुमारी रिद्धि ने बढ़ाया सागर का मान, जायेगी जापान

कुमारी रिद्धि ने बढ़ाया सागर का मान, जायेगी जापान
सागर ।शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय सागर की छात्रा कुमारी रिद्धि तिवारी का चयन भारत सरकार की विज्ञान एवं तकनीकी मंत्रालय द्वारा सकुरा प्रोग्राम के अंतर्गत यूथ एक्सचेंज प्रोग्राम मैं जापान जायेगी।
सागर की एक्सीलेंस स्कूल की छात्रा कुमारी रिद्धि तिवारी का चयन सकुरा प्रोग्राम के अंतर्गत पिछले वर्ष इंस्पायर अवार्ड में टॉप 60 मॉडल में चयन होने की आधार पर किया गया है इस यात्रा में छात्रों को जापान की विज्ञान एवं तकनीक का अध्ययन करीब से करने का अवसर प्राप्त होता है। कुमारी रिद्धि की यह जापान यात्रा सागर के षिक्षा के इतिहास में बड़ी उपलब्धि है। कुमार रिद्धि ने विगत वर्ष इंस्पायर अवार्ड प्रदर्षनी में विद्यालय के प्राचार्य डा. आरके बैघ के मार्गदर्षन में सौर पैनल की क्षमता अभिवृद्वि का मॉडल तैयार किया था। डा. बैघ ने बताया कि प्राप्त निर्देषों के अनुसार कुमार रिद्धि अप्रैल, जून एवं नवम्बर में जाने वाले किसी भी दल वाल विज्ञानिकों के साथ जापान जायेगी।  इस उपलब्धि पर कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक, संयुक्त संचालक लोक षिक्षण डा. आर.एन. शुक्ला एवं जिला शिक्षा अधिकारी श्री महेंद्र प्रताप तिवारी एडीपीसी श्री गिरीश मिश्रा एवं उत्कृष्ट विद्यालय के साला परिवार ने रिद्धि को बधाई दी है।

सड़क त्रासदी की पीड़ा जीवन भर रहती है,सुरक्षित रहकर वाहन चलाये: मन्त्रीहर्ष यादव

सड़क त्रासदी की पीड़ा जीवन भर रहती है,सुरक्षित रहकर वाहन चलाये: मन्त्रीहर्ष यादव
सागर। 31 वे राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह का शुभारंभ नवकरणीय ऊर्जा मंत्री हर्ष यादव ने हेलमेट रैली को  हरी झंडी दिखाकर किया।इस मौके पर मन्त्री हर्ष यादव ने कहा कि जीवन कितना असुरिक्षत करके हम  निकलते है  यह सोचने का विषय है।सड़क त्रासदीकी  जिंदगी भर की पीड़ा होती है । हम परिवार और जीवन के प्रति लापरवाह होते जा रहे है।उनहोने कहा कि  बढ़ती काम की आपाधापी में हम लापरवाह बनते जा रहे है । कई परिवार तबाह हो गए है ।हम  पुलिस की समझाईश को कितना उपयोग करते है । यह हमारी  नैतिक  जिम्मेदारी है।उन्होंने कहा किहम  सबको मिलकर सुरक्षित जीवन का संकल्प लेना होगॉ।इसी के साथ संकेतकों की जानकारी भी हमे रखनी होगी। हमे अपने आपको  सुधारने की जरूरत है । हम यातायात नियमो का पालन करते हुए आगे बढ़े  । सड़क हादसों की तस्वीर भयावह होती जा रही है।
जन सहयोग से सम्भव:आईजी सतीश सक्सेना
 इस मौके पर सागर झोन के आई जी सतीश सक्सेना ने कहा कि जिस तरह इंदौर में स्वछता अभियान में जन भागेदारी से पहला स्थान मिला। उसी तरह हम सभी को यातायात के नियमो का हमेशा खुद पालन करना होगा। फिर ऐसे सड़क सुरक्षा सफ्ताहो की जरूरत ही नही पड़ेगी। जिंदगी की सुरक्षा के लिए नियमो का पालन करे।
सागर जिले में हर साल चार सौ मौत सड़क :एसपी अमित सांघी
हादसों में :एसपी पुलिस अधीक्षक अमित सांघी ने बताया कि सागर जिले में हर साल 400 मोटे सड़क हादसों में होती है। करीब दो हजार सड़क दुर्घटनाएं होती है। हमे इन आकंडो से समझना होगा कि कितना असुरक्षित जीवन बना है। हेलमेट लगाए और नियमो का पालन करे अन्यथा घर पर लोग इंतजार ही करते रहे जाएंगे। हर व्यक्ति के मन मे पुलिस बैठी है। उसको जगाए और सुरक्षित रहे।कार्यक्रम को शहर अध्यक्ष रेखा चोधरी ने सम्बोधित किया। अतिथियों का स्वागत asp राजेश व्यास विक्रम सिंह, asp ट्रैफिक संजय खरे  ने किया
रैलीका शुभारम्भ हुआ
इस मौके पर हेलमेट जागरूकता रैली को मन्त्री हर्ष यादव ने हरी झंडी दिखाई। इस मौके पर सागर झोन के आईजी सतीश सक्सेना,एसपी अमित सांघी, asp राजेश व्यास,विक्रम सिंह ,यातायात asp संजय खरे,शहर अध्यक्ष रेखा चोधरी, जितेंद्र चावला,अमित राम जी दुबे,सुरेंद्र चोबे,सिंटू कटारे,पप्पू गुप्ता,पप्पू तिवारी, आनंद तोमर पुलिस अधिकारी,कालेज और NCC के छात्र छात्राएं सहितअनेक लोग मौजूद थे। 
यमराज और चित्रगुप्त बने आकर्षण का केंद्र
रैली सागर के प्रमुख मार्गों से निकली । इसमे एक झांकी ट्रक पर बनी थी। जिसमे यातायात के नियमो की जानकारी दी गई थी। वही  मौत के देवता यमराज और चित्रगुप्त की भेषभूषा में संदेश देने वाले बहरूपिये आकर्षण का केंद्र थे। ये बहरूपिये शहर के प्रमुख चौराहों पर संदेश देंगे कि नियमो को पालन करे अन्यथा  हादसा हो जाएगा।

शुक्रवार, 10 जनवरी 2020

अधिकारी ज्ञानेंद्रिय है तो कर्मचारी कार्येंद्रिय : डी.जी. पुरूषोत्तम शर्मा

अधिकारी ज्ञानेंद्रिय है तो  कर्मचारी कार्येंद्रिय : डी.जी. पुरूषोत्तम शर्मा

भोपाल। लोक अभियोजन संवर्ग में हमारे अभियोजन अधिकारी ज्ञानेंद्रिय है तो लोक अभियोजन के सहायक ग्रेड कर्मचारी अभियोजन की कार्येंद्रिय है जिनके कारण अभियोजन उत्तरोत्तर प्रगति कर रहा है। किसी भी संगठन के लक्ष्य को कुषल और प्रषिक्षित कर्मचारियों के द्वारा ही हासिल किया जा सकता है इसी उद्देष्य से सहायक ग्रेड कर्मचारी का 13 दिवसीय प्रषिक्षण कार्यक्रम म.प्र. पुलिस अकादमी भौंरी, भोपाल में आयोजित किया जा रहा है। उक्त आषय के उद्गार लोक अभियोजन के सहायक ग्रेड-3 का आधारभूत प्रषिक्षण कार्यक्रम आधार निर्माण का शुभारंभ करते हुए पुरूषोत्तम शर्मा महानिदेषक लोक अभियोजन संचालनालय द्वारा व्यक्त किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि म.प्र. पुलिस अकादमी भौंरी के निदेषक अतिरिक्त पुलिस महानिदेषक श्री वाइफै द्वारा सम्मिलित प्रषिक्षुओं को प्रेरक उद्बोधन करते हुए उनके भविष्य की मंगल कामना की गई। प्रषिक्षण कार्यक्रम की रूपरेखा सहायक संचालक प्रषिक्षण श्रीमती अमिता बरतारिया द्वारा प्रस्तुत करते हुए प्रषिक्षण कार्यक्रम को व्यावहारिक कठिनाईनों का समाधान करते हुए कर्मचारियों की कार्यदक्षता को विकसित करने वाला निरूपित किया गया।

ज्ञात हो कि उक्त प्रषिक्षण कार्यक्रम में प्रदेष के लगभग 260 कर्मचारी प्रषिक्षु के रूप में सम्मिलित हुए हैं, जिन्हें लेखा संबंधी, स्थापना एवं रीडर आदि विभिन्न विषयों पर उक्त क्षेत्र के विषेषज्ञों द्वारा 13 दिवस का प्रषिक्षण दिया जायेगा। जिसमें सागर अभियोजन के सहायक जिला अभियोजन अधिकारी अमित कुमार जैन द्वारा प्रषिक्षुओं को मासिक नक्षा बनाने, फिंगरप्रिंट लेने संबंधी नियमों से अवगत कराया गया। शुभारंभ के अवसर पर पुलिस अकादमी भौंरी के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुश्री रष्मि पाण्डे, श्री मौर्या, उप संचालक अभियोजन के.के. सक्सेना सहित विभाग के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे।

अधिकारी ज्ञानेंद्रिय है तो कर्मचारी कार्येंद्रिय : डी.जी. पुरूषोत्तम शर्मा

अधिकारी ज्ञानेंद्रिय है तो  कर्मचारी कार्येंद्रिय : डी.जी. पुरूषोत्तम शर्मा
सागर। लोक अभियोजन संवर्ग में हमारे अभियोजन अधिकारी ज्ञानेंद्रिय है तो लोक अभियोजन के सहायक ग्रेड कर्मचारी अभियोजन की कार्येंद्रिय है जिनके कारण अभियोजन उत्तरोत्तर प्रगति कर रहा है। किसी भी संगठन के लक्ष्य को कुषल और प्रषिक्षित कर्मचारियों के द्वारा ही हासिल किया जा सकता है इसी उद्देष्य से सहायक ग्रेड कर्मचारी का 13 दिवसीय प्रषिक्षण कार्यक्रम म.प्र. पुलिस अकादमी भौंरी, भोपाल में आयोजित किया जा रहा है। उक्त आषय के उद्गार लोक अभियोजन के सहायक ग्रेड-3 का आधारभूत प्रषिक्षण कार्यक्रम आधार निर्माण का शुभारंभ करते हुए पुरूषोत्तम शर्मा महानिदेषक लोक अभियोजन संचालनालय द्वारा व्यक्त किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि म.प्र. पुलिस अकादमी भौंरी के निदेषक अतिरिक्त पुलिस महानिदेषक श्री वाइफै द्वारा सम्मिलित प्रषिक्षुओं को प्रेरक उद्बोधन करते हुए उनके भविष्य की मंगल कामना की गई। प्रषिक्षण कार्यक्रम की रूपरेखा सहायक संचालक प्रषिक्षण श्रीमती अमिता बरतारिया द्वारा प्रस्तुत करते हुए प्रषिक्षण कार्यक्रम को व्यावहारिक कठिनाईनों का समाधान करते हुए कर्मचारियों की कार्यदक्षता को विकसित करने वाला निरूपित किया गया।
ज्ञात हो कि उक्त प्रषिक्षण कार्यक्रम में प्रदेष के लगभग 260 कर्मचारी प्रषिक्षु के रूप में सम्मिलित हुए हैं, जिन्हें लेखा संबंधी, स्थापना एवं रीडर आदि विभिन्न विषयों पर उक्त क्षेत्र के विषेषज्ञों द्वारा 13 दिवस का प्रषिक्षण दिया जायेगा। जिसमें सागर अभियोजन के सहायक जिला अभियोजन अधिकारी अमित कुमार जैन द्वारा प्रषिक्षुओं को मासिक नक्षा बनाने, फिंगरप्रिंट लेने संबंधी नियमों से अवगत कराया गया। शुभारंभ के अवसर पर पुलिस अकादमी भौंरी के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुश्री रष्मि पाण्डे, श्री मौर्या, उप संचालक अभियोजन के.के. सक्सेना सहित विभाग के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे।

अमेरिकी राजनयिक ने किया माखनलाल चतुर्वेदीपत्रकारिता विवि में छात्रों से संवाद

अमेरिकी राजनयिक  ने किया  माखनलाल चतुर्वेदीपत्रकारिता विवि में छात्रों से संवाद
भोपाल। अमेरिका के मुंबई स्थित कांसुलेट (वाणिज्य दूतावास) के राजनयिक श्री डेविड जे राँज़ ने आज भोपाल स्थित माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय में आकर विश्व में चल रहे अनेक मुद्दों सहित अंतरराष्ट्रीय संबंधों के विषय में व्याख्यान दिया। व्याख्यान में विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों ने राजदूत  प्रश्नोत्तर भी किए।

यह पहला अवसर है जब अमेरिका के राजनयिक ने मध्यप्रदेश के माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों के साथ संवाद किया।व्याख्यान के पूर्व श्री राँज़ ने कुलपति श्री दीपक तिवारी के साथ मुलाकात की। श्री राँज़ ने अमेरिका में उच्चशिक्षा के विषय मे विस्तार से बताया।

हत्या का प्रयास करने वाले आरोपी को 10 वर्ष का कठोर कारावास,महिला को मारा था खपचा

हत्या का प्रयास करने वाले आरोपी को 10 वर्ष का कठोर कारावास,महिला को मारा था खपचा
सागर। विषेष न्यायाधीष/नवम अपर सत्र न्यायालय नीलू संजीव श्रृंगीऋषि ने हत्या का प्रयत्न करने वाले आरोपी घनष्याम पिता रामकिषन अहिरवार उम्र 25 वर्ष निवासी ग्राम नई बस्ती बड़ा करीला संत रविदास वार्ड थाना मोतीनगर सागर को धारा 307 भादवि में दोषी पाते हुए 10 वर्ष के कठोर कारावास और 2000 रू के अर्थदण्ड से दण्डित किया। प्रकरण में म. प्र. शासन की ओर से पैरवी विषेष लोक अभियोजक/जिला अभियोजन अधिकारी राजीव रूसिया द्वारा की गयी।

जिला अभियोजन सागर के सह-मीडिया प्रभारी अमित जैन ने बताया कि घटना दिनांक  31.05.2016 को जिला अस्पताल सागर से थाना मोतीनगर में सूचना प्राप्त हुई। जिसके आधार पर पीड़िता के कथन लेख किये गये। पीड़िता ने अपने कथनों में बताया कि वह दिन के 11 बजे अपने घर के बाहर बनी नहानी में नहाकर कपड़े धो रही थी तभी मोहल्ले का घनष्याम अहिरवार हाथ में खपचा लिये आया और उसका हाथ पकड़ लिया। जब उसने हाथ छुड़ाया तो आरोपी ने खपचा मारा जो उसके बांये तरफ आॅंचल में लगा कटकर खून बहने लगा वह बैठ गई तो उसने फिर मारने की कोषिष की जिससे उसे दाहिने पैर के घुटने के नीचे चोट आई थी। घटना दिनांक से करीब 7-8 माह से आरोपी उससे छेड़छाड़ करता था व बुरी नीयत से देखता था। उसने अपने मम्मी पापा को बताया था कि आरोपी उसे परेषान करता है और शादी करने की कहता है पीड़िता के कहने पर भी वह नहीं माना आरोपी ने उसे जान से मारने की नीयत से मारा था। पीड़िता के चिल्लाने पर उसके मम्मी पापा भाई एवं मोहल्ले के अन्य लोग आ गये थे जिन्होंने घटना देखी थी।

थाना मोतीनगर में अपराध पंजीबद्ध किया गया। अनुसंधान पूर्ण कर अभियोग पत्र धारा 354ए, 307, 324 भादवि एवं 11/12 पाक्सो एक्ट में माननीय न्यायालय में प्रस्तुत किया गया। अभियोजन ने अपना मामला अभियुक्त के विरूद्ध धारा 307 भादवि में युक्तियुक्त संदेह से परे प्रमाणित किया जिसके आधार पर माननीय विषेष न्यायाधीष/नवम अपर सत्र न्यायालय नीलू संजीव श्रृंगीऋषि की अदालत ने अभियुक्त घनष्याम अहिरवार को धारा 307 भादवि में दोषी पाते हुए 10 वर्ष के कठोर कारावास एवं 2000 रूपये के जुर्माने से दंडित किया।

नवनिर्मित पुल से रेत से भरी ट्रेक्टर ट्राली गिरी, एककी मौत ,दो घायल

नवनिर्मित पुल से रेत से भरी ट्रेक्टर ट्राली गिरी, एककी मौत ,दो घायल
सागर । सागर जिले के बंडा थाना अंतर्गत बंडा मोकलमऊ रोड पर चौका के समीप बेवस नदी के समीप बेवस नदी पर बने पुल से रेत से भरी  ट्रेक्टर ट्राली  के गिरने से एक की मौत हो गई ।जबकि दो अन्य घायल बताए गए है।  जिनको बंडा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में उपचार हेतु भर्ती कराया गया है। नदी में पानी नही था। 
     बंडा थाना प्रभारी कमल सिंह से मिली जानकारी के अनुसार  नया ट्रेक्टर जॉन डियर लेकर बंडा से मोकलमऊ जा रहे थे कि बेवस नदी के पुल से अनियंत्रित होकर ट्रेक्टर नीचे नदी में जा गिरी ।जिसमें विजन पिता इमरत लोधी उम्र 55 वर्ष निवासी मोकलमऊ की मौके पर ही मौत हो गई ।जबकि दो अन्य घायल हो गए। घटना की खबर लगते ही 100 डायल और पुलिस पहुच गई। घायलों को बंडा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भिजवाया गया है। इस पुल से हाल ही में आवागमन शुरू हुआ है।

राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह पर होंगे अनेक आयोजन, जागरूकता रैली 11को, मन्त्री हर्ष यादव करेंगे शुभारंभ

राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह पर होंगे अनेक आयोजन, जागरूकता रैली 11को, मन्त्री हर्ष यादव करेंगे शुभारंभ
सागर। 31वाँ राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह 11 से 17 जनवरी तक मनाया जायेगा। इसके तहत आमजन को सड़कों यातायात नियमो और सुरक्षित चालन के प्रति जाग्ररूक करने के लिए प्रशासन द्वारा स्वयंसेवी संघटनो के सहयोग से अनेक कार्यक्रमो को आयोजित कर रहा है। इसमे यमराज और चित्रगुप्त के वेश धारण किये लोगो को प्रमुख चौराहों पर खड़ा किया जाएगा। ताकि लोग सतर्कता से वाहन चलाये।
रैली 11 जनवरी को
जिसके तहत शनिवार को दोपहर 12 बजे से यातायात जागरूकता रैली का आयोजन किया गया है। जिसके मुख्य अतिथि प्रदेष के कुटीर एवं ग्रामोद्योग, नवीन तथा नवकरणीय उर्जा विभाग मंत्री श्री हर्ष यादव होंगे। विषिष्ट अतिथि आईजी श्री सतीष सक्सेना, एआईजी श्री दीपक वर्मा अध्यक्षता करेंगे। पुलिस अधीक्षक श्री अमित सांघी ने समस्त जागरूक नागरिकों से यातायात जागरूकता रैली शामिल होने की अपील की है
सड़क सुरक्षा सप्ताह के प्रस्तावित कार्यक्रम

दिनांक 11.01.2020 दिन शनिवार
1 हेलमेट रैली जिसमें अधिक से अधिक स्कूलों एवं कालेजों तथा एशोसियेशन के
लोंगों को शामिल करते हये दो पहिया वाहन रैली निकाली जावेगी जो कि पुलिस लाइन
से प्रांरभ होकर सिविल लाइन, पीली कोठी कृष्णगंज, बकोली तिराहा, बस स्टेण्ड, तीन
मढिया, भंडारी, तीन बत्ती, मस्जिद, राधा तिराहा, डिम्पल पेट्रोल, पंप कगरयाउ होते हुये
उप पुलिस अधीक्षक यातायात के कार्यालय में समाप्त होगी। इस हेलमेट रैली को हर्ष यादव जी केबीनेट मंत्री म.प्र.शासन हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे।
2 यमराज चित्रगुप्त एवं यमराज के सहयोगी दो गणों सहित चार व्यक्तियों का समूह
पूर्ण वेशभूषा के साथ तीन टीम सिविल लाइन चौराहे पर एक टीम तीन बत्ती पर ऐसे
व्यक्तियों को जो यातायात नियमों का उल्लघंन कर रहे है उन्हें गुलाब का फूल देकरनियमों के पालन हेतु प्रोत्साहित करेंगे।
3 प्रचार प्रसार बेन जो कि यातायात नियमों की जानकारी हेतु अधिकृत की जावेगी।उससे शहर में प्रचार प्रसार एवं लोगों को यातायात नियमों के प्रति जागरूक करने काअभियान चलाया जावेगा जो कि निंरतर सात दिन जारी रहेगा।
4 यातायात नियमों की जानकारी देने वाले पम्पलेटस का वितरण
5 शहर में यातायात शिक्षा के प्रति लोगों को जागरूक करने हेतु एक पुलिस वाहनमें पीए सिस्टम आदि लगाकर यातायात जागरूकता रथ का निर्माण किया जावेगा जोइन सातों दिन घूम घूमकर लोगों को यातायात नियमों की जानकारी प्रदान करेगा।
दिनांक 12.01.20 20 दिन रविवार
1 सिहोरा चौकी अंतर्गत वाहन चालकों के लायसेंसों का बनाया जाना आरटीओविभाग के साथ में।
दिनांक 13.01.2020 दिन सोमवार
1 मकरोनियाँ एवं जिला पंचायत स्थित स्थित यातायात सिग्नलों का लोकार्पणकार्यक्रम, सिविल लाइन चौराहा स्थित यमराज की वेशभूषा वाले कलाकारों की टीम में
से एक टीम मकरोनियाँ चौराहे पर अपना प्रदर्शन करेगी।
2 पत्रकारों सामान्यजनों से परिचर्चा।विभिन्न स्कूलों के बच्चों के व्दारा सिविल लाइन चौराहे पर दोपहर 11 बजे सेएवं कटरा चौकी के बाजू में सायं काल 0 3.30 बजे से नुक्कड नाटक का आयोजन।जिसमें यातायात जागरूकता एवं नियमों के प्रचार प्रसार हेतु जानकारी रहेगी।
दिनांक 14.01.2020 मंगलवार
1 स्कूल के प्राचार्यों की मीटिंग एवं स्कूलों में चलने वाले वाहन चालकों परिचालकोंतथा वाहन मालिकों से चर्चा तथा उनका नेत्र परीक्षण एवं यातायात नियमों के पालनहेतु कार्यशाला।
2 प्रदूषण परीक्षण केंप पम्पा साहू तिराहा, कबूला पुल,तिली रोड पर एवं वाहनचालकों को समझाइस तथा यातायात नियमों के पालन हेतु लोगों को जागरूक करना।
3 संपूर्ण जिले में वाहनों में रिफलेक्टर,फस्ट ऐड बाक्सेस एवं अग्निशमन यंत्रों कावितरण कराया जाना। यह वितरण कार्यक्रम दिनांक 14.15.16 एवं 17/01/2020 तकही कराया जावे
1 जावेगा इसके उपरांत यह कार्य नहीं कराया जावेगा. इस हेत प्राईवेट लोगोंकी मदद ली जावेगी।
दिनांक 15.01.2020 बुधवार
पुलिस नियंत्रण कक्ष में स्कूली छात्र और छात्राओं की चित्रकला एवं निबंध प्रतियोगिता
का आयोजन।
दिनांक 16.01.2020 गुरुवार
बस, ट्रक आटो एवं चैम्पियन वाहनों के चालकों का नेत्र परीक्षण एवं ट्रेक्टर ट्रालियों में
रेडियम रिफलेक्टर का लगवाया जाना।
दिनांक 17.01.2020 शुक्रवार
यातायात पुलिस के अधिकारियों के व्दारा शहर में जगह जगह केंप लगाये जाकर आमजन
को यातायात संबधी नियमों की जानकारी दी जावेगी एवं वाहनों की चैंकिग आदि की
कार्यवाही की जावेगी।
दिनांक 18.01.2020।समापन मन्त्री गोविन्द राजपूत करेंगे
सडक सुरक्षा सप्ताह का समापन दिनांक 18.01.2020 को 11 बजे सेश्रीगोविंद सिंह राजपूत परिवहन मंत्री की उपस्थिति में विश्वविद्यालय के गोल्डन जुबली हालमें जिसमें विश्वविद्यालय की टीम, गर्ल्स डिग्री कालेज की टीम, मेडीकल कालेज की टीमएवं भाग्योदय तीर्थ की टीम दारा सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं पुरूष्कार वितरण।

महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ता निलंबित,आशा कार्यकर्ता को हटाया,BMO को नोटिस

महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ता निलंबित,आशा कार्यकर्ता को हटाया,BMO को नोटिस

#मातृ मृत्यु की समीक्षा, कलेक्टर की कार्यवाही
सागर । जिले मंे मातृ मृत्यु की समीक्षा बैठक  हुए कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक ने मातृ मृत्यु की समीक्षा करते हुए श्रीमती मैथिल ने जिले की ग्राम करैया निवासी श्रीमती मधु रैकवार पति नरेन्द्र रैकवार, षाहपुर निवासी श्रीमती संतोष भगवान दास लोधी, बरोदिया निवासी श्रीमती सरस्वती आदिवासी, केसली निवासी प्रीति कोरी, देवरी निवासी रचना ताम्रकार बकस्वाहा निवासी अंकी कुषवाहा, श्रीमती षिवरानी सौर, श्रीमती रानी सेन, हिनपुर निवासी श्रीमती कल्पना लोधी के प्रकरणांे की समीक्षा की। उन्होंने निर्देष दिए कि गर्भवती महिलाओं की सम्पूर्ण जांचे एवं उनका आरसीएच पोटर्ल में पंजीयन एवं अपडेशन समय पर किये जावे जिससे गर्भवती महिलाओं को स्वास्थ्य सुविधायें समय पर मिलने तथा हाई रिक्श गर्भवती महिलाओं का समय पर चिन्हांकन कर समय पर रिफर किया जाकर गर्भवती महिलाओं की मृत्यु को रोक जा सकता है। उन्होंने सीएमएचओ को निर्देष दिए कि उक्त समीक्षा प्रति माह की 10 तारीख को आयोजित होगी।
लापरवाहों पर गिरी गाज
ग्राम स्तर पर पदस्थ महिला स्वास्थ्य कार्यकर्त्ता एवं आशा कार्यकर्त्ता द्वारा महिला के गर्भकाल के दौरान पंजीयन एवं जांचों में लापरवाही की गई जिस पर महिला स्वास्थ्य कार्यकर्त्ता श्रीमति सुनीता कुम्हार उप.स्वा.केन्द्र.जरूआखेड़ा विकास खंड राहतगढ़ को निलम्बित किया। श्रीमति भारती रैकवार आशा कार्यकर्त्ता को तत्काल प्रभाव से हटाने के निर्देश दिये।  स्व. रचना पति श्री बालमुकुंद ताम्रकार जवाहर वार्ड देवरी की मृत्यु के संदर्भ में आरसीएच आईडी की इन्ट््री एवं अपडेशन न होने के कारण डॉ0 मुकेश जैन खंड चिकित्सा अधिकारी देवरी को कारण बताओ नोटिस दिये जाने के निर्देश दिये ।
ये अधिकारी रहे मौजूद
इस अवसर पर सीएमएचओ डा. सागर, डा0 व्ही0एस0 तौमर सिविल सर्जन, डा0 एन0के0सैनी जिला स्वास्थ्य अधिकारी-1, बुंदेलखंड मेडीकल  कॉलेज एवं जिला चिकित्सालय सागर की स्त्रीरोग विशेषज्ञ डा. ज्योति चौहान, संबंधित खंड चिकित्सा अधिकारी, डीपीएम, डीपीएचएनओ, डीसीएम, बीपीएम, बीसीएम, स्टार्फ नर्स, ए.एन.एम. जिला सागर एवं मृतक महिलाओं के परिजन आदि उपस्थित रहे।

सम्भागीय कमिश्नर ने देखी सुबह से सागर की सफाई व्यवस्था, कहा व्यापारियों से शपथ पत्र ले खुले में कचरा नही फेंकेंगे

सम्भागीय कमिश्नर ने देखी सुबह से सागर की सफाई व्यवस्था, कहा व्यापारियों से शपथ पत्र ले खुले में कचरा नही फेंकेंगे

सागर। संभाग आयुक्त एवं नगर निगम प्रशासक  आनंद कुमार शर्मा ने आज कड़कड़ाती ठंड में  स्मार्ट सिटी सागर में  सुबह सफाई व्यवस्था देखी  और जरूरी निःर्देश दिए। उन्होंने कहा कि व्यापारियो से शपथ पत्र ले कि सड़क पर खुले में कचरा नही फेकेंगे।उन्होंने स्वछता सर्वेक्षण में बेहतर सफलता के लिए शहरवासियों से सहयोग की अपील की। इस मौके पर निगमायुक्त आर पी अहिरवार और अन्य कर्मचारी मौजूद रहे।
संभागीय आयुक्त नगर पालिक निगम के प्रशाशक आनंद शर्मा  निगम सागर द्वारा बस स्टैंड ,कटरा बाजार, सब्जी मंडी क्षेत्र का आकस्मिक निरीक्षण किया गया ।नया बाजार में निरीक्षण के दौरान पाया गया कि व्यापारिक प्रतिष्ठानों द्वारा अभी भी खुले में कचरा फेंका जा रहा है ।जिस पर निर्देशित किया गया कि सभी व्यापारियों से एक शपथ पत्र लिया जाए कि वे खुले में कचरा नहीं फेंकेंगे।साथ ही साथ शहर के गार्बेज  पॉइंट को समाप्त करने हेतु निर्देशित किया गया ।

डॉ गौर को भारत रत्न दिलाने के लिए अब सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगेगी

डॉ गौर को भारत रत्न दिलाने के लिए अब सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगेगी
सागर। डॉ हरीसिंग गौर को भारतरत्न दिलाने की मांग को लेकर सुप्रीमकोर्ट में याचिका दायर की जाएगी। इस संबंध में गौर यूथ फ़ोरम के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ विवेक तिवारी और सुप्रीम कोर्ट के वकील एहतेशाम हाशमी जी( मप्र सरकार के सुप्रीम कोर्ट में अधिकृत कांउसिल ) ने संयुक्त बयान जारी कर ये जानकारी दी। यह प्रश्न और मांग यहाँ के जनमानस से जुड़ी हुई है पूर्व में कई बार इस संबंध में आंदोलन हुए जनप्रतिनिधियों, विश्वविद्यालय प्रशासन, सामाजिक संगठन लगातार ये मांग करते आये हैं।
ज्ञात हो कि डॉ सर हरीसिंह गौर जी भारत के संविधान को निर्माण करने वाली समिति के भी सदस्य थे। संविधान दिवस भी उनके जन्मदिन 26 नवंबर को मनाया जाता है। हिन्दू लॉ और अन्य कई महत्वपूर्ण कानून जो आज भारतवर्ष में चल रहे हैं उनके निर्माण में भी उनका विशेष योगदान है। 
विश्वविद्यालय से जानकारी लेने पर यह पता चला कि विधिवत प्रस्ताव केवल एक बार तत्कालीन कुलपति प्रो. डी. पी. सिंह जी के समय भारत सरकार के पास भेजा गया था। केवल यही एक सार्थक प्रयास हुआ है, बाकि केवल कमेटियों तक ही सीमित रहा मामला या मंचों से घोषणा बखान होता रहा ।
डॉ विवेक तिवारी और सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता एहतेशाम हाशमी जी ने कहा कि भारत रत्न मिलना ही डॉ गौर को सच्ची श्रद्धांजलि होगी और अगर आवश्यक हुआ तो विश्वविद्यालय से मदद ली जावेगी या उनको भी इसमें पार्टी बनाया जाएगा।

साल का पहला चंद्र ग्रहण आज; भारत में नहीं होगा इसका कोई असर

साल का पहला चंद्र ग्रहण आज; भारत में नहीं होगा इसका कोई असर
साल 2020 का पहला चंद्र ग्रहण 10 जनवरी को पड़ रहा है। धार्मिक दृष्टि से भारत में इसका कोई महत्व नहीं होगा। यह उप छाया ग्रहण है। इसलिए यह न तो देश में कहीं दिखेगा और न ही मंदिरों में इसके सूतक आदि को माना जाएगा। पूरे साल में कुल 4 चंद्र ग्रहण व 2 सूर्य ग्रहण पड़ेंगे। इनमें से 5 धार्मिक दृष्टि से कोई महत्व नहीं रखेंगे। सिर्फ 21 जून को पड़ने वाला सूर्य ग्रहण ही मान्य होगा।
ज्योतिषियों के अनुसार चंद्र ग्रहण तीन वर्गों में होता है। पहला पूर्ण चंद्र ग्रहण। यानि चन्द्रमा की काली छाया पृथ्वी पर गिरती है। दूसरा आंशिक चंद्र ग्रहण, जब आंशिक रूप से काली छाया पृथ्वी पर गिरती है। तीसरा उप छाया चन्द्र ग्रहण इसमें चंद्रमा पूरी तरह से छिपता नहीं, न ही उसकी काली छाया पृथ्वी पर गिरती है। 10 जून को पड़ने वाला चन्द्र ग्रहण उप छाया चंद्र ग्रहण है। अतः इसका धार्मिक दृष्टि से कोई महत्व नहीं है। इसका यम नियम सूतक मान्य नही है। यह ग्रहण रात्रि 10.37 मिनट से शुरू होगा तथा रात्रि 2.42 मिनट तक रहेगा।
कब-कब पड़ेंगे चंद्र और सूर्य ग्रहण 
10 जनवरी- शुक्रवार को पड़ने वाले इस ग्रहण का धार्मिक दृष्टि से कोई महत्व नहीं है। इसका कोई भी यम, नियम लागू नहीं होगा।
5 जून- शुक्रवार को भी चंद्र ग्रहण पड़ेगा, लेकिन इसका भी धार्मिक दृष्टि से कोई महत्व नहीं होगा।
5 जुलाई- रविवार को भी चंद्र ग्रहण होगा, लेकिन इसका का भी धार्मिक दृष्टि से कोई महत्व नहीं होगा।
30 नवंबर- सोमवार को भी चंद्र ग्रहण होगा। देश में धार्मिक दृष्टि से इसका कोई महत्व नहीं होगा।
14 दिसंबर- सोमवार को सूर्य ग्रहण पड़ेगा। देश में धार्मिक दृष्टि से इसका भी कोई महत्व नहीं होगा।
21 जून- रविवार को सूर्य ग्रहण पड़ेगा। यह ग्रहण देश में मान्य होगा। यह ग्रहण मृगशिरा व आर्द्रा नक्षत्र तथा मिथुन राशि में पड़ेगा। इसका वेद(सूतक) 20 जून को रात्रि 10.10 बजे से मान्य होगा। इसका स्पर्श 21 जून को सुबह 10.10 बजे होगा। मध्य 11.48 मिनट के बाद दोपहर 1.37 मिनट पर इसका मोक्ष होगा। यह सूर्य ग्रहण लगभग 3.30 घंटे का होगा। धार्मिक दृष्टि के इसके यम नियम सभी मान्य होंगे। इस दौरान किया गया पूजा, जप तप विशेष फलदायी होगा।

गुरुवार, 9 जनवरी 2020

PSC परीक्षा: ठंड में टोपी,मफलर,शाल आदि नही पहन सकेंगे परीक्षार्थी, चेकिंग के बाद जूते /मोजे पहन सकेंगे, निःर्देश जारी

PSC परीक्षा: ठंड में टोपी,मफलर,शाल आदि नही पहन सकेंगे परीक्षार्थी, चेकिंग के बाद जूते /मोजे  पहन सकेंगे, निःर्देश जारी

#पीएससी परीक्षा संपन्न कराने हेतु बैठक संपन्न

सागर । आयोग के निर्देषों का अक्षरषः पालन सुनिष्चित करंे एवं पूरी गंभीरता के साथ परीक्षा को संपन्न कराएं उक्त निर्देष कमिष्नर  आनंद कुमार शर्मा ने राज्य सेवा प्रारंभिक परीक्षा एवं राज्य वन सेवा परीक्षा 2019 हेतु आयोजित आब्जर्बर एवं केन्द्राध्यक्षों की बैठक में कमिष्नर कार्यालय के सभाकक्ष में दिए। इस अवसर पर संभागीय पर्यवेक्षक  अषोक कुमार शर्मा सेवानिवृत्त आईपीएस, उपायुक्त विकास श्रीमती प्रभा श्रीवास्तव, अपर कलेक्टर  मूलचंद वर्मा, डिप्टी कलेक्टर सुश्री अमृता गर्ग, सहायक संचालक उच्च षिक्षा जीएस रोहित, आरके गोस्वामी सहित 30 परीक्षा केन्द्रों के आब्जर्बर एवं केन्द्राध्यक्ष मौजूद थे।
 ये है 12 जनवरी को होने वाली परीक्षा सम्बन्धी निःर्देश
 12 जनवरी रविवार को आयोजित होने वाली पीएससी प्रारंभिक परीक्षा हेतु कमिष्नर श्री शर्मा ने निर्देष देते हुए कहा कि लोकसेवा आयोग द्वारा जारी निर्देषों का अक्षरषः पालन कर गंभीरता के साथ परीक्षा को संपन्न कराएं। साथ ही प्रत्येक परीक्षा कक्ष में एक घड़ी लगाई जाए। उन्होंने दिव्यांग परीक्षार्थियों के लिए भू-तल पर परीक्षा देने के लिए व्यवस्था करने के निर्देष दिए। उन्होंने कहा कि परीक्षा कक्ष में कोई भी इलेक्ट्रॉनिक डिवाईस का प्रवेष पूर्णतः वर्जित रहेगा। उन्होंने कहा कि ठंड के मौसम को देखते हुए एवं आयोग से प्राप्त निर्देषों के अनुसार परीक्षार्थी जूते-मोजे पहनकर अंदर तो जा सकता है किन्तु पूरी जांच करानी होगी। उन्होंने परीक्षा कक्ष में स्कार्प, टोपी, शाल , मफलर को भी परीक्षार्थी परीक्षा कक्ष में उपयोग नहीं कर सकेंगे। उन्होंने यह भी निर्देष दिए कि नकल प्रकरण यदि कोई परीक्षार्थी आपस में बात करता है तब भी बनाए जा सकते है। केन्द्राध्यक्ष एवं आब्जर्बर के अतिरिक्त कोई भी शासकीय कर्मचारी एवं परीक्षार्थियों का मोबाईल ले जाना प्रतिबंधित रहेगा। उन्होंने स्पष्ट रूप से निर्देष दिए कि परीक्षार्थी को ओएमआर शीट प्राप्त करने के पष्चात परीक्षार्थी को परीक्षा कक्ष से बाहर जाने की अनुमति नहीं रहेगी। उन्होंने परीक्षार्थिंयों को केवल काला डाट पेन ही लेकर परीक्षा कक्ष में जाने के निर्देष दिए है। उन्होंने परीक्षार्थिंयों को यह भी निर्देष दिए है  िकवह अपने साथ किसी भी प्रकार की आपत्तिजनक सामग्री लेकर न आए। उन्होंने परीक्षार्थिंयों से आयोग द्वारा जारी प्रवेष पत्र में आवेदक की फोटो जो चस्पा है उसी फोटो के परीचय पत्र एवं आधारकार्ड की मूल प्रति लेकर उपस्थित हों। उन्होंने यह भी कहा कि यदि प्रवेष पत्र में फोटो का मिलान नहीं हो पा रहा है तो केन्द्राध्यक्ष इसकी सूचना तत्काल जिला प्रषासन व पुलिस को दें। साथ ही आस्पष्ट फोटो के पास अपनी स्पस्ट फोटो चस्पा कर राजपत्रित अधिकारी से प्रमाणित कराएं एवं एक फोटो की प्रति जिसके पीछे नाम, आवेदन क्रमांक एवं अनुक्रमांक अंकित कराएं।
इनको नही पहन सकते परीक्षार्थी
आयोग द्वारा नियुक्त संभागीय पर्यवेक्षक श्अषोक कुमार शर्मा सेवानिवृत्त आईपीएस ने आयोग के निर्देष देते हुए बताया कि वर्जित वस्तुओं की श्रेणी में बालों को बांधने वाले क्लेचर, बकल, घड़ी, हाथ में पहने जाने वाले किसी भी प्रकार के बैंड, कमर में पहने जाने वाले बेल्ट, धूप मंे पहने जाने वाले चष्में, पर्स, वालेट, टोपी वर्जित है। सिर नाक, कान, गला, हाथ-पैर, कमर आदि में पहनने वाले सभी प्रकार के आभूषण तथा हाथ में बंधे धागे, कलावा, रक्षा सूत्र आदि का सूक्ष्मता से परीक्षण कर वीक्षकों द्वारा परीक्षार्थी के कक्ष में जाने के पूर्व तलाषी ली जाएगी।
जिला मुख्यालय पर 30 परीक्षा केन्द्र बनाए गए
 12 जनवरी रविवार को आयोजित होने वाली पीएससी प्रारंभिक परीक्षा हेतु सागर जिला मुख्यालय पर 30 परीक्षा केन्द्र बनाए गए है। परीक्षा कार्य के सुचारू संचालन हेतु संभाग आयुक्त  आनंद कुमार शर्मा ने क्षेत्रीय अतिरिक्त संचालक उच्च षिक्षा सागर संभाग कार्यालय मंे नियंत्रण कक्ष स्थापित करते हुए नियंत्रण कक्ष में  बृजेष खरे, कार्यालय आयुक्त सागर संभाग मो. 9893456597, श्री गंगा प्रसाद रैकवार शासकीय कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय सागर मो. 7000579095, श्री दामोदर पटैल, कम्प्यूटर संबंधी कार्य मो. 9685893308 एवं श्री अमित मिश्रा कार्यालय आयुक्त सागर संभाग मो. 6264839634 प्रातः 8 बजे से परीक्षा समय तक उपस्थित रहकर आयोग के निर्देषानुसार कर्तव्यों का संपादन करंेगे। नियंत्रण कक्ष का दूरभाष नंबर 07582- 292799  पर संपर्क कर सकते है।

डाटा एंट्री ऑपरेटर्स को सविधाओं सम्बन्धी आदेश फर्जी, कलेक्टर ने वैधानिक कार्यवाही के दिये निःर्देश

डाटा एंट्री ऑपरेटर्स को सविधाओं सम्बन्धी आदेश फर्जी, कलेक्टर ने वैधानिक कार्यवाही के दिये निःर्देश

सागर। सचिव म.प्र. भवन एवं अन्य संनिर्माण कर्मकार कल्याण मंडल भोपाल के प्राप्त पत्र में उल्लेखित जानकारी अनुसार श्रमायुक्त कार्यालय को 2 जनवरी 2020 को ईमेल के माध्यम से श्रमायुक्त, मध्यप्रदेष इंदौर के कूटरचित हस्ताक्षरित एक फर्जी आदेष प्राप्त हुआ। उक्त फर्जी आदेष में मध्यप्रदेष के समस्त आउटसोर्स पर कार्यरत डाटा एन्ट्री ऑपरेटर्स को सुविधायें दिए जाने का उल्लेख है। उक्त फर्जी आदेष की प्रति संलग्न है। अवगत हो कि यह आदेष पूर्णतः कूटरचित एवं फर्जी हैं। यह भी संज्ञान में आया है कि उक्त फर्जी आदेष के आधार पर जिलों में कलेक्टरों के माध्यम से निर्देष जारी करवाने का प्रयास किया जा रहा है। अतः उक्त कूटरचित आदेष के संबंध में कोई भी कार्यवाही ना की जाए। मण्डल द्वारा इस संबंध में प्रथम सूचना प्रतिवेदन दर्ज करवाया जा रहा है। उक्त आदेष फर्जी एवं कूटरचित होने के संबंध में जिले में जिले में स्थित समस्त शासकीय विभागों को भी अवगत कराते हुए कार्यालय को सूचित करने के निर्देष दिए गए है।
इस संबंध में कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक ने श्रमायुक्त कार्यालय, मध्यप्रदेष का हवाला देकर जारी फर्जी आदेष के संबंध में तत्काल वैधानिक कार्यवाही किए जाने के निर्देष समस्त विभाग प्रमुखों को दिए है।

कबाडी की दुकान पर ब्लास्ट,एक कि मौत दो घायल, आर्मी का था शेल/बम

कबाडी की दुकान पर ब्लास्ट,एक कि मौत दो घायल, आर्मी का था शेल/बम

#कबाडी बमो की खोल से निकालते है पीतल और अन्य धातुएं,पहले भी हुए हादसे
सागर ।सागर के उपनगरीय क्षेत्र मकरोनिया के रिहायशी इलाके में  कबाड़ी द्वारा एक सेना के बम से खोल निकालते समय ब्लास्ट हो गया। जिसमें एक कि मौत हो गई और दो लोग घायल हो गए। ब्लास्ट की आवाज से पूरा इलाका थर्रा  गया।काफी दूर तक धमाके की आवाज सुनी गई। मौके पर सागर झोन के आई जी ,एसपी और आर्मी पुलिस के अधिकारी पहुचेमकरोनिया थाना क्षेत्र के आनंदनगर में राजू साहू के कबाड़े की दुकान में यह हादसा हुआ। 
 जानकारी के मुताबिक  कबाडीकी दुकान पर सेना के बम के  खोल से पीतल और अन्य धातुओं को निकाला जा रहा था। इसी दौरान वह फट गया। विस्फोट में एक युवक के चिथड़े उड़ गए और दो घायल हो गए।इसमे बेजनाथ नामक युवक की मौत हो गई। इसमे पप्पू साहू और 
उसका भतीजा मनोज साहू घायल हो गए ।
आई जी /एसपी और आर्मी पुलिस पहुची
इस हादसे की खबर लगते ही सागर झोन के आईजी सतीश सक्सेना और एसपी अमित सांघि सहित पुलिस बल पहुच गया। मौके से सेना को खबर की गई।
आई जी सतीश सक्सेना ने बताया कि इनके पास कैसे बम आया इसकी जांच की जा रही है।
एसपी अमित सांघि  ने बताया कि सागर में  सेना की आर्टिलरी सेल का विस्फोटक था। कबाड़ी इनकी खोल से पीतल आदि निकालते है। इसी दौरान यह फट गया। आर्मी पुलिस को इसकी सूचना दी है । यह विस्फोटक  कैसे आया इसकी पड़ताल की जा रही है। घायलों को बीएमसी में भर्ती कराया गया है।
हादसे से दहशत /पहले भे ऐसे हादसे
इस हादसे के बाद पूरे इलाके में दहशत बनी है।प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार जैसे ही बम फटने जैसा धमाका हुआ तो लोग डर गए।  घटना के बाद बम स्क्वाड आसपास की जांच कर रहा है। कही कबाड़े में अन्य कोई विस्फोटक पदार्थ न हो ।  उल्लेखनीय  है कि सागर में सैन्य क्षेत्र होने से यहां फायरिंग रेंज में सेना की मनाही के वावजूद कबाड़िये और आसपास के लोग यहां पीतल और अन्य धातुओं की तलाश में बम और गोलियों के खोल ढूढते है । कई बार बम के खोल इसी तरह फटने  से सागर में ऐसे हादसे हो चुके है । कई जाने जा चुकी है।


समता,एकता,देशप्रेम,शांति,का संदेश लेकर निकली गणतंत्र यात्रा

समता,एकता,देशप्रेम,शांति,का संदेश लेकर निकली गणतंत्र यात्रा 
सागर।सागर से समता एकता देश प्रेम और शांति के संदेश को लेकर प गणतंत्र यात्रा प्राम्भ हुई। यात्रा विधि छात्र परिषद के प्रदेश अध्यक्ष एवं भारतीय जनता पार्टी विधि प्रकोष्ठ के जिला सह संयोजक अधिवक्ता दीपक पौराणिक के  संयोजन में प्रारंभ हुई है । यह सागर से जरुआ खेड़ा खुरई न्यायालय बिना न्यायालय तक पहुंची यात्रा में संबिधान के उद्देशिका का वाचन सहित समता,एकता,देशप्रेम,शांति की शपथ ली अनेक स्थानों पर दिलाई गई ।
एडवोकेट दीपक पौराणिकने बताया कि पूरे जिले अलग अलग क्रमो में यह यात्रा जाएगी औरयात्रा के समाप्ति पर सागर में  देशप्रेम से भरा  एक बड़ा सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित होगा। जिसमे सागर जिले के प्रतिभावान लोग,सम्मानीयजन भी  सम्मलित होगे।सागर से यात्रा पर गौर प्रतिमा पर माल्यार्पण करके प्रारम्भ हुए, यात्रा में भाग्योदय अस्पताल के सामने,जरुआखेड़ाऔर जरारा,नरयाबली में भी शपथ ली गयी और यात्रा का उद्देश्य बताया गया,, साथ ही खुरई न्यायालय अधिवक्तागणों एवं बीना न्यायलय अधिवक्तागण भी यात्रा में सम्मलित हुए।
यात्रा में मुख्य रूप से एड दीपक पौराणिक,एड अमित श्रीवास्तव,संतोष सेन,दुष्यन्त मिश्रा, गौरव यादव,मंजेश यादव,एड राहुल माथुर,एड राजेश बाथरी,एड नरेंद्र नारायण श्रीवास्तव,एड रामनरेश ठाकुर,एड देवस्कर सहित अनेक प्रबुद्ध जन सम्मलित हुए।


अदालत में पहुचे भगवान, जज ने किया प्रणाम आये दिया आदेश

अदालत में पहुचे भगवान, जज ने किया प्रणाम आये दिया आदेश
टीकमगढ़।बुन्देलखण्ड अंचल में एक ऐसा मामला सामने आया जब भगवान जी को अदालत में साक्ष्य के लिए उपस्थित होना पड़ा। धूमधामसे पहुचे अदालत में । दरअसल  टीकमगढ़ जिले के पृथ्वीपुर थाना अंतर्गत ग्राम पंचायत वीरसागर में दस साल पहले प्रसिद्ध बिहारीजू महाराज मंदिर से मूर्तियों की चोरी मामले में बुधवार को स्वयं भगवान कोर्ट में पेश होना पड़ा। घटना के बाद चोरों के मूर्तियों के साथ पकड़े जाने के इस मामले में भगवान को साक्ष्य के रूप में पेश होना था। भक्तों के साथ जब भगवान कोर्ट पहुंचे तो जज ने पहले उन्हें नमन किया बाद में सत्यापन कर मूर्तियों को मंदिर में स्थापित करने का आदेश दिया।
ये है मामला
जानकारी के अनुसार थाना सिमरा मे राधाकृष्ण का प्राचीन मंदिर है। सन 14 जनवरी 2009 में बिहारी जू मंदिर की मूर्तियां चोरी हुई थी जिसकी रिपोर्ट पुलिस थाना में दर्ज की थी। चार आरोपितों के विरुद्ध मामला भी पंजीकृत किया गया। इसकी  मंदिर के पंडित रिंकू पुजारी ने पृथ्वीपुर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी।पुलिस ने मामले का खुलासा किया और मूर्तियों की बरामदगी भी की गई जिन्हें मंदिर के पुजारी के सुपुर्द कर दी गई थी। आगे की कार्यवाही के लिए प्रकरण न्यायालय निवाड़ी में पेश किया गया।
अदालत में भगवान
न्यायालय ने भगवान को अदालत में बुला लिया। न्यायालय के आदेशानुसार बुधवार को सुबह से ही बिहारी जू मंदिर के भगवान साक्ष्य के लिए न्यायालय पहुंचने से पहले से ही मंदिर पर पूजा पाठ कर भगवान की आरती के बाद बिहारी जू महाराज को ग्राम वीरसागर होते हुए लाया गया।
बिहारी जू भगवान जब कोर्ट के लिए निकले तो भारी संख्या में श्रद्धालु उनके जुलूस में शामिल हो गए। आतिशबाजी और जयकारों के साथ बिहारी जू कोर्ट पहुंचे। इनके साथ काफी संख्या में ग्रामीणजन साथ रहे।  जहां पर बैठे न्यायाधीश ने पहले भगवान बिहारीजू को नमन किया और बारीकी से जानकारी ली और न्यायालीन कार्रवाई के बाद पुन: बिहारी जू भगवान वीरसागर पहुंचे। इस मामले में शासकीय अभियोजक अधिकारी विकास गर्ग ने बताया कि चोरी गई मूर्ति बरामद हुई थीं, इसलिए न्यायालय में साक्ष्य के रूप में प्रदर्शित होना था। न्यायधीश ने भगवान की मूर्तियों का सत्यापन कर मूर्तियों को यथास्थान रखने का आदेश न्यायालय द्वारा दिया गया।


 

बुधवार, 8 जनवरी 2020

अनियमितताओं के कारण चार नगरीय निकायो के अध्यक्षो को पद से हटाया

अनियमितताओं के कारण  चार  नगरीय निकायो के अध्यक्षो को  पद से हटाया

भोपाल। राज्य शासन ने चार नगरीय निकाय के अध्यक्षों को कर्त्तव्य पालन में अक्षमता और विभिन्न अनियमितताओं में प्रथम दृष्टया उत्तरदायी पाए जाने पर पद से पृथक कर दिया है। इनमें नगर परिषद भानपुरा जिला मंदसौर की अध्यक्ष श्रीमती रेखा मांदलिया, नगर परिषद आरोन जिला गुना के अध्यक्ष श्री कृष्ण सिंह रघुवंशी, नगर परिषद गुढ़ जिला रीवा के अध्यक्ष श्री विष्णु प्रकाश मिश्रा और नगर पालिका होशंगाबाद के अध्यक्ष श्री अखिलेश खंडेलवाल शामिल हैं। पदच्युत अध्यक्षों को अगली पदाविधि में नगरीय निकाय के अध्यक्ष, उपाध्यक्ष अथवा किसी समिति के अध्यक्ष का पद धारण करने से भी निरहरित  कर दिया गया है ।

स्टूडेंट पुलिस योजना के तहत स्कूलो में दिया सुरक्षा सम्बन्धी प्रशिक्षण

स्टूडेंट पुलिस योजना  के तहत स्कूलो में दिया सुरक्षा सम्बन्धी प्रशिक्षण
सागर ।  पुलिस द्वारा संचालित स्टूडेन्ट पुलिस केडिट (एस.पी.सी.) योजना के अंतर्गत जिले के कुल 16 शासकीय विद्यालयों का चयन किया गया है ।जिसमें एस.पी.सी.के सदस्य केडिट्स को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इनके  ट्रेनिंग की प्रक्रिया सात जनवरी से शुरू की गई है । यह  17 जनवरी 2020 तक चलेगी। 
पुलिस अधीक्षक अमित सांघी  ने बताया कि 
स्टूडेन्ट पुलिस केडिट योजना केजरिये चुने गये विद्यार्थियों को पुलिस विभाग से जुडने एवं उसे जानने का अवसर प्राप्त होगा एवं इस योजना
के अंतर्गत एक विद्यार्थी समाज सुरक्षा के प्रति पुलिस के साथ अपनी सक्रिय साझेदारी को समझ सकेगा। उन्होंने बताया कि इसमे महिला संबंधी अपराधों की रोकथाम एवं सामुदायिक पुलिसिंग को बढावा देने हेतुसागर पुलिस द्वारा स्टूडेन्ट पुलिस केडिट (एस.पी.सी.) योजना ,पिक निर्भया मोबाइल एवं 03 शक्ति मोबाइल  संचालित की जा रही है।
भैसा और विठ्ठल नगर स्कूल में पहुची टीम
 शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय भैसा नाका सागर एवं शासकीय हाईस्कूलविठ्ठलनगर सागर में एस.पी.सी.के सदस्यों के प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया। प्रशिक्षण शिविर में ASP राजेश व्यास एस.पी.सी.के सदस्य केडिट्स को "भारतीय संविधान की प्रस्तावना" के जरिये आम नागरिकों को प्राप्त अधिकार एवं उसके कर्तव्यों के बारे में विस्तार से बताया गया। महिला थाना प्रभारी उप निरीक्षक नेहा सिंह गुर्जर द्वारा एसपीसी के सदस्य केडिट्स को महिला अपराधों के संबंध में एवं उसकीरोकथाम के बारे में बताया गया एवं उनि.कमल किशोर मौर्य थाना कोतवाली द्वारा केडिट्स को पुलिस कार्यप्रणाली के संबंध में विस्तार से बताया गया। नए स्वरूप में आई  पिंक निर्भया मोबाइल द्वारा एमएलबी स्कूलमें छात्राओं को संबोधित किया गया एवं महिला संबंधी अपराधों एवं उसकी रोकथाम के संबंध में विस्तार सेबताया गया। शक्ति मोबाइल 02 द्वारा शासकीय कन्या शाला बाघराज वार्ड सागर एवं ज्ञानोदय छात्रावास मेंबालिकाओं से चर्चा कर महिला संबंधी अपराधों के संबंध में बताया गया। उप निरी.ऋचा गर्ग थाना
कोतवाली द्वारा निर्भया मोबाइल एवं शक्ति मोबाइल के साथ निगम मार्केट कटरा बाजार में महिला जनचौपाल आयोजित कर महिलाओं को महिला संबंधी अपराधों की रोकथाम व हेल्पलाईन नंबरों के संबंध मेंविस्तृत जानकारी दी गई।
इन स्कूलो में हो चुका प्रशिक्षण 
चयनित स्कूलो में प्रशिक्षण के तहत  शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय गौरनगर सागर एवं शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मोराजी लक्ष्मीपरा सागर में मंगलवार को एस.पी.सी.के सदस्यों द्वारा प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया । ।शासकीय उच्चतर माध्य विद्यालय गौरनगर में प्रशिक्षण दौरान प्राचार्य जी पी. सक्सेना एवं स्टाफ एवंएस.पी.सी. के केडिटस व शासकीय उच्चतर माध्य विद्यालय मोराजी लक्ष्मीपुरा सागर में प्राचार्य ए.के.जैन एवं स्टाफ व एन.पी.सी.के केडिट उपस्थित रहे। । प्रशिक्षण दौरान आरक्षक रजनी मिश्रा, महिला थाना
सीसीटीव्ही कंट्रोल रुम सागर के सचित व आर विशाल भी उपस्थित रहे।

प्रदूषित शहरों में शामिल सागर में पर्यावरण सुधारने प्रशासन सतर्क,झील में गंदगी फैलाने वालों पर सख्त कार्यवाही के निःर्देश दिये कमिश्नर ने

प्रदूषित शहरों में शामिल सागर में पर्यावरण सुधारने प्रशासन सतर्क,झील में गंदगी फैलाने वालों पर सख्त कार्यवाही के निःर्देश दिये कमिश्नर ने
सागर । केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की रिपोर्ट आने पर प्रदेश के सबसे प्रदूषित छह शहरों में शामिल सागर  में प्रदूषण नियंत्रण करने   और पर्यावरण के सुधार हेतु  संभागायुक्त आनंद शर्मा ने  प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड  की बैठक ली।
कमिश्नर ने निःर्देश दिए कि लाखा बंजारा झील किनारे बने प्रतिष्ठानों द्वारा की जा रही गंदगी फैलाने पर सख्त कार्यवाही करें । इस अवसर कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक, अपर कलेक्टर श्री मूलचंद वर्मा, निगम कमिष्नर  आरपी अहिरवार सहित विभिन्न विभागों के विभाग प्रमुख उपस्थित थे।
उक्त बैठक का आयोजन केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा भारत के विभिन्न शहरों में वायु गुणवत्ता हेतु सर्वे कराया गया था। जिसमें देष के 103 शहरों में वायु प्रदूषण अधिक पाया गया। जिनमें मध्यप्रदेष के 6 शहर सागर, भोपाल, इंदौर, ग्वालियर, उज्जैन, देवास शामिल थे। वायु प्रदूषण को नियंत्रण करने के उद्देष्य से विभाग को कमिष्नर श्री शर्मा ने निम्न निर्देष दिए। जिनमें प्रमुख रूप से व्यावसायिक डीजल वाहनों पर पूर्णतः प्रतिबंध लगाया जाए। वाहनों के प्रदूषण की नियमित जांच, पैट्रोल पंपों पर पैट्रोल, डीजल की नियमित जांच, मल्टी लेवल पार्किंग का निर्माण, रोड डस्ट मषीन के द्वारा सफाई, शहर में खाली पड़ी जगहों पर हरी घांस एवं वृक्षारोपण करना। व्यावसायिक प्रतिष्ठानों पर कोयला, डीजल भट्टी का पूर्णतः प्रतिबंध कर सीएनजी एवं गैस का उपयोग करने के निर्देष, मकान निर्माण के समय पर्दा लगाकर कार्य कराएं, ई-वाहनों को प्रोत्साहित किया जाए एवं ई-वाहनों की चार्जिंग हेतु सर्विस स्टेषन निर्मित किए जाए।
झील में  गंदगी फैलाने वालों पर सख्त कार्यवाही 
श्री शर्मा ने विभाग को निर्देष देते हुए कहा कि लाखा बंजारा झील किनारे बने व्यावसायिक प्रतिष्ठानों एवं निजी आवासों के द्वारा झील में सीधे तौर पर सीवरेज का गंदा पानी मिलाने वालों पर सख्त कार्यवाही करें। उन्होंने साथ ही कहा कि आवष्यकतानुसार उनको बंद करने की कार्यवाही भी करें। उन्होंने सड़क निर्माण के समय जल छिड़काव करने के भी निर्देष दिए।

कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल ने निर्देष दिए कि वायु, ध्वनि, जल एवं अन्य प्रदूषण करने वालों पर सख्ती से कार्यवाही करें जिससे प्रदूषण को रोका जा सके। उन्होंने कहा कि अभी शहर में प्रातः 7 बजे से रात्रि 11 बजे तक भारी वाहनों की नो-एन्ट्री रहती है। सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में फैल रहे प्रदूषण को लेकर चर्चा कर कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी को निर्देष दिए कि शहर के प्रमुख स्थानों पर पीयूसी वैन के द्वारा वाहनों के प्रदूषण को मापा जाए।  इस अवसर पर क्षेत्रीय अधिकारी प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड  एसपी झा, श्री प्रदीप शर्मा,  एसके जैन,  हरिषंकर जयसवाल उपस्थित थे।

परीक्षा परिणाम सुधारने के लिए स्कूलो में पहुच रही है ज्ञानपुंज टीम, सौ से अधिक को नॉटिस हुए जारी

परीक्षा परिणाम सुधारने के लिए स्कूलो में पहुच रही है ज्ञानपुंज टीम, सौ से अधिक को नॉटिस हुए जारी
सागर । सागर जिले की शालाओं को बोर्ड परीक्षा परिणाम सुधारने एवं अर्द्धवार्षिक परीक्षा में 50 प्रतिशत से कम परीक्षा परिणाम लाने वाली शालाओं में कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल के निर्देष पर जिला षिक्षा अधिकारी डा महेन्द्र प्रताप तिवारी ने आठ सदस्यीय ज्ञानपुंज टीम एवं  चार सदस्यीय प्राचार्यों की टीम बनाई ।जो शालाओं में जाकर छात्र-छात्राओं एवं शिक्षकों की कठिनाईयों का सूक्ष्मता से अध्ययन कर उनका निराकरण किया जा रहा है।
जिला षिक्षा अधिकारी डा. महेन्द्र प्रताप तिवारी ने बताया कि गठित टीमों द्वारा सतत मॉनीटरिंग की जा रही है। गठित टीमें शाला में पहुंचकर शैक्षणिक कार्य के साथ-साथ प्रयोगषाला में भी प्रायोगिक कार्य कराती है। उन्होंने बताया कि टीम में प्रत्येेक विषय के विषय विषेषज्ञ शामिल है।  गठित टीम में प्राचार्य  अनिल मिश्रा,  गजेन्द्र सोनी,  यूीवएस गौर,  विष्वनाथ मिश्रा,  बीएस ठाकुर,  अनिल लोधी, सी डी कोरी, हितेंद्र जैन, संगीता गर्ग व संजय श्रीवास्तव, राजेंद्र अहिरवार, बृजमोहन त्रिवेदी एवं आलोक बलैया शामिल है। जिला शिक्षा अधिकारी महेंद्र तिवारी ने बताया कि इस अभियान में कमियां पाए जाने पर 100 से अधिक प्राचार्यो को कमियां दूर करने सम्बन्धी नोटिस जारी किए गए थे। जिनका समय सीमा में निराकरण भी हुआ।
अब तक 314 शालाओं में पहुची टीम
ज्ञानपुंज एवं प्राचार्यों की टीम ने जिले की अबतक 314 शालाओं में पहुंचकर अध्ययन कार्य के साथ-साथ बच्चों की होमवर्क कापियां भी जांची। साथ ही षिक्षकों की डेली डायरी एवं शैक्षणिक कार्य कराने का कलेण्डर पर चर्चा की। ज्ञानपुंज टीम के प्रभारी  संजय श्रीवास्तव ने बताया कि जिन शालाओं में षिक्षकों का कार्य संतोषजनक नहीं पाये जाने पर उनको कारण बताओ नोटिस जारी किए गए है। प्राचार्यों के टीम प्रभारी  अनिल मिश्रा ने बताया कि शालओं में पहुंचकर न केवल शैक्षणिक गुणवत्ता पर ध्यान दिया। साथ ही शालेय अभिलेखों के संधारण की व्यवस्था देखकर आवष्यक दिषा-निर्देष दिए।टीम द्वारा शालाओं का चयन कर बोर्ड परीक्षा में 30 फीसदी से कम परिणाम वाली शाला, मिशन 1000 वाली शालाएं अधिक दर्ज छात्र संख्या वाली शालाएं ,शिक्षक विहीन शालाएं आदि का चयन प्राथमिकता से कर उनमें शैक्षणिक भ्रमण किया गया। भ्रमण के दौरान दल द्वारा शाला के विभिन्न अकादमिक बिंदुओं जैसे विषय शिक्षक उपलब्धता की स्थिति, निदानात्मक कक्षाओं के संचालन की स्थिति, बालिका शौचालय की उपलब्धता व साफ सफाई व्यवस्था, प्रयोगशाला की स्थिति, यूथ क्लब उमंग जीवन कौशल आदि कार्यक्रमों का नियमित संचालन की स्थिति, स्वच्छ पेयजल व्यवस्था की स्थिति, पुस्तकालय की स्थिति आदि बिंदुओं से संबंधित प्रतिवेदन तैयार कर जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय के अकादमिक सेल को अवगत कराया जाता है तथा इन कमियों को स्वयं के स्तर पर दूर करने का प्रयास किया जाता है। साथ ही दल के विषय विशेषज्ञ 10वी के छात्रों को बोर्ड परीक्षा में अच्छा परिणाम लाने हेतु शैक्षिक मार्गदर्शन प्रदान करते हैं। शिक्षकों से उनके विषय अधयापन में आने वाली कठिनाइयों पर चर्चा कर उन्हें निराकृत करते हैं।
टीम द्वारा बुधवार को शासकीय हाईस्कूल मेनपानी का निरीक्षण किया जहां उन्होंने प्रार्थनाकाल से ही उपस्थित होकर शैक्षणिक कार्य कराया। इस अवसर पर प्राचार्य श्रीमती अंजु श्रीवास्तव सहित समस्त स्टॉफ उपस्थित था।

स्कूल में चोरी,मध्यान्ह भोजन के बर्तन,नल,टयूब लाईट पंखे आदि चोरी

स्कूल में चोरी,मध्यान्ह भोजन के बर्तन,नल,ट्यूब लाईट ,पंखे आदि चोरी
सागर।सागर शहर में चोर स्कूलो को भी नही बक्श रहे है।  सिंधी केम्प स्थित सुभाष नगर स्कूल से अज्ञात चोर दो दफा चोरी की । इसमे मध्यान्ह भोजन के बर्तन,पंखे ,ट्यूबलाईट और नल आदि चुरा ले गए।
 संत कंवर राम वार्ड स्थित एकीकृत शासकीय कन्या माध्यमिक शाला सिंधी कैंप सुभाष नगर के अंतर्गत शासकीय प्राथमिक शाला सुभाष नगर में विगत दो  दिनों से लगातार चोरी की घटनाएं घटित हो रही हैं। इसकी सूचना स्कूल प्रबंधन द्वारा पुलिस एवं वार्ड के वरिष्ठ नागरिकों को भी दी गई है ।
शिक्षकों ने बताया कि दोनों रातों में चोरों के द्वारा चैनल गेट के ताले तोड़कर अंदर प्रवेश किया गया फिर कार्यालय का दरवाजा छतिग्रस्त करते हुए अंदर प्रवेश करके दोनों तीनों अलमारियों को तोड़ा गया ।उसमें से शासकीय दस्तावेजों को तितर-बितर करते हुए उनकी चोरी की गई ।मध्यान भोजन के बर्तनों को चुराया गया। तथा प्रांगण में स्थित शाला के दो पंखे और लगभग 6 ट्यूब लाइट भी चोरी की गई। इसके अतिरिक्त नल निकाले गए। जिनकी फिटिंग अभी अभी हुई थी लगभग 15 नल भी संस्था से चुराए गए हैं। माध्यमिक शाला के प्राचार्य विनीत सिंह चौहान और प्राथमिक स्कूल के रवि शंकर सोनी ने मोतीनगर थाना पुलिस को इसकी सूचना भी दी है । पुलिस मामले की जांच कर रही है।

बाईक -ट्रेक्टर ट्राली की टक्कर,बाइक सवार दो की मौत

बाईक -ट्रेक्टर ट्राली की टक्कर,बाइक सवार दो की मौत
सागर। सागर जिले के सागर -रहली में स्टेट हाइवे पर कडता ग्राम के पास सड़क हादसे में दो युवकों की दर्दनाक मौत हो गई।घटना मंगलवार की रात में है। 
जानकारी के मुताबिक  एक तेज रफ्तार से बाईक चली आ रही थी वह टैक्टर ट्राली से पीछे से टकरा गई । टक्कर इतनी जबरजस्त थी कि बाइक सवार दोनो युवकों ने घटना स्थल पर ही दम तोड़ दिया।सड़क हादसे की सूचना डायल 100 को दी गई।मौके पर पायलट पंकज यादव और ASI बी के यादव पहुच गए। पुलिस के अनुसार मृतको की जेब से मिले आधार कार्ड और फोन से मृतको की शिनाख्त जितेंद्र सिंह दांगी निवासी डोंगर सलैया एवं मूलचंद राजपूत निवासी बीना बारह के रूप में की गई।पुलिस द्वारा टैक्टर को जब्त कर ।शवो का पोस्ट मार्टम के लिए भेजा। रहली थाने ने मर्ग  कायम कर हादसे की जांच शुरू कर दी है।

डॉ गौर विवि के नए कुलपति की चयन प्रक्रिया शुरू,विज्ञापन जारी, कुलपति प्रो तिवारी का कार्यकाल तीन माह का बचा

डॉ गौर विवि के नए कुलपति की चयन प्रक्रिया शुरू,विज्ञापन जारी, कुलपति प्रो तिवारी का कार्यकाल तीन माह का बचा

सागर। मध्यप्रदेश के एक मात्र केंद्रीय  विवि डॉ हरीसिंह गौर केंद्रीय विवि सागर के नए कुलपति के चयन की प्रक्रिया शुरू हो गई है। मॉनव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा डॉ. हरिसिंह गौर विश्वविद्यालय सागर के नए कुलपति के चयन के लिए विज्ञापन जारी कर दिया गया है।  प्रो आर पी तिवारी ने18 मार्च  2015 को डॉ गौर विवि के कुलपति पद संभाला था। प्रो तिवारी ने इसी विवि के पूर्व छात्र रहे है । नई नियुक्ति तक कुलपति प्रो तिवारी  अहम फैसला नही ले सकते है। कुलपति अपने कार्यकाल के आखिरी साल में विवादों में आये। विवि में रिक्त पदों की भर्ती और कर्मचारियों की पदोन्नति को लेकर शिकायते हुई है। तीन माह से भी कम बचे कार्यकाल में अहम निर्णयों को लेकर उनकी भूमिका पर चर्चाएं बनी है। 
30 दिनों के भीतर करे आवेदन
मॉनव संसाधन विभाग के विज्ञापन के मुताबिक
नियुक्ति हेतु प्रक्रिया यह नियुक्ति केन्द्रीय विश्वविद्यालय अधिनियम, 2009 के प्रावधानों के अंतर्गत गठित एक समिति द्वारा सिफारिश किए गए नामों के एक पैनल में से की जाएगी।

• यह विज्ञापन और आवेदन का प्रपत्र वेबसाइट http://mhrd.gov.in और

http://www.dhsgsu.ac.in पर उपलब्ध है।
• निर्धारित प्रोफार्मा में आवेदन इस विज्ञापन के प्रकाशन की तिथ से 30 दिन के भीतर
रजिस्ट्री/स्पीड पोस्ट द्वारा निम्न पते पर पहुंचने चाहिए।

मंगलवार, 7 जनवरी 2020

नौरादेही में बाघिन कैमरे में कैद हुई अपने तीन शावकों के साथ

नौरादेही में बाघिन कैमरे में कैद हुई अपने तीन शावकों के साथ
सागर। सागर जिले के नौरादेही अभयारण्य के कर्मचारियों ने अपनी गश्त के दौरान कैमरा के डेटा की चेकिंग की तो उन्हें एक ऐसा चित्र मिला जिसकी तलाश उन्हें पिछले कई महीनों
थी. बाधिन अपने 3 शावकों के साथ !
उप वन संरक्षक (वन्यप्राणी)रजनीश कुमार सिंह ने बताया कि मध्य प्रदेश के 8 टाइगर रिजर्स एवं अन्य वन क्षेत्रों में कुल मिलाकर 526 बाघों का आकलन 2018 में किया गया है। वर्ष 2014 में प्रदेश में 306आंकलित थे। निःसंदेह प्रदेश में बाघों की संख्या बढ़ रही है और इस दृष्टि से जंगल मेंविभागीय कैमरा ट्रेप्स में बार्चा के चित्र आना सामान्य सी बात है। नोरादेही में बाधिन के शावकों की  के लिए। किन्तु विगत कई माह से प्रयासरत नौरादेही प्रबंधन के लिये यह अत्यंत खास और गौरवकी बात है।
 नोरादेही अभ्यारण में ऐसे बढ़ा कुनबा
नौरादेही अभयारण्य मध्य प्रदेश के सागर, दमोह एवं नरसिंहपुर जिले में अवस्थित है।900 वर्ग कि.मी. से बड़े क्षेत्रफल वाले इस अभयारण्य में तेन्दए, नीलगाय चीतल,लकडब्घहे ,भालू आदि प्रजातियों के वन्यप्राणी बहुतायत से पाये जाते हैं किन्तु लगभग कान्हा के क्षेत्रफल के बराबार
क्षेत्रफल वाले इस अभयारण्य में विगत कई वर्षों से बाघों की उपस्थिति नहीं थी। विगत वर्षों
नौरादही अभयारण्य को एक श्रेष्ठ वन्यप्राणी रहवास क्षेत्र के रूप में विकास करने के सतत् प्रयासकिये जा रहे हैं। ग्रामों का पुनर्स्थापन, जल स्रोतों का विकास, मैदानों का विकास और अ
समस्त प्रबंधकीय उपाय जो किसी वन क्षेत्र को श्रेष्ठ वन्यप्राणी आवास बनाते हैं ।वे विगत वर्षों
नौरादेही में किये गये हैं। इन्हीं प्रयासों के अंतर्गत और नौरादेही अभयारण्य को परिपूर्णता प्रद
करने की दृष्टि से अप्रैल 2018 के नौरादेही अभयारण्य में एक नर एवं एक मादा बाघिन लाकर छोड़े गये थे। नर बाघ को पहचान के लिये N-2 नाम दिया गया और मादा को N-1 | नएआवास में सहज होने में इन बाधों को कुछ समय लगा और कुछ अवधि के उपरांत मादा बाघ ने वर्ष 2019 में 3 शावकों को जन्म दिया। पहले पन्ना और फिर नौरादेही अभयारण्य में बाधों  को बसाना और उन बाघों के द्वारा अपनी वंश वृद्धि करना प्रदेश के लिये अत्यंत गौरव एवं हर्षकारण बना।
बांधवगढ़ का बाघ
इस तथ्य के कारण यह गौरव और हर्ष कई गुणा बद जाता है कि बांधवगढ़ से लाया ।नर बाघ तो पूर्णतः प्राकृतिक परिवेश में पला बढ़ा बाघ था जबकि मादा बाघिन जंगली परिस्थितियों से इतर एक 35 हेक्टेयर के बाड़े में पली बढ़ी थी।  जो नौरादेही अभयारण्य में छोड़ी।बाघिन पेंच टाइगर रिजर्व की प्रख्यात बाधिन नाला बाघिन की पुत्री है। जिसे उसकी मां की मौत के उपरांत लगभग 3 माह की आयु से ही कान्हा के घोरेला इन्क्लोजर में लालन-पालन कियागया था। लगभग 2 वर्ष घोरेला इन्क्लोजर में रहने उपरांत 2 वर्ष 3 माह की उम्र में उसे नौरादेहीमें छोड़ा गया था एवं उसने वर्ष 2019 में 3 शायकों को जन्म दिया था। खुद मानवों के द्वारा परवरिश पाई बाधिन द्वारा अपने तीनों शावकों का एक अनुभवी जंगली बाघिन के जैसालालन-पालन करते हुए इस आयु तक ला पाना एक बड़ी उपलब्धि है। उक्त बाधिन अपीने शावकों की सुरक्षा के लिये अत्यंत सजग है। इसी कारण से विगत अवधि में तमाम प्रयासोंबाद भी उक्त शावकों के चित्र नौरादेही प्रबंधन को नहीं मिल पा रहे थे। जनवरी प्रथम सप्ताहशायकों के मिले चित्र से स्पष्ट होता है कि तीनों शावक पूर्णतः स्वस्थ हैं और अपनी मां से जंगली जीवन में सफलता के गुर सीख रहे हैं।

लाखा बंजारा झील का काम शुरू करने की मंजूरी दी, स्मार्ट सिटी बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ने

 लाखा बंजारा झील का काम शुरू करने की मंजूरी दी, स्मार्ट सिटी बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ने 
सागर ।सागर स्मार्ट सिटी लिमिटेड कार्यालय में बारहवीं बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स की बैठक जिला कलेक्टर सह अध्यक्ष श्रीमती प्रीति मैथिल की अध्यक्षता में संपन्न हुई। सागर स्मार्ट सिटी लिमिटेड की बारहवीं बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स की बैठक में लााखा बंजारा झील के कार्य को प्रारंभ करने हेतु स्वीकृति प्रदान की गई एवं स्मार्ट रोडस् के निर्माण कार्य में तिली तिराहा से राजघाट तिराहा तक की रोड को शामिल किया गया।
उक्त बैठक में शहर की प्राचीन लाखा बंजारा झील के पुनर्विकास एवं जीर्णोद्धार के कार्य हेतु चयनित एजेंसी मेसर्स  अस्वथ इंफ्राट्रेक प्रा लिमिटेड द्वारा कोड  की  वित्तीय दरों पर 13 फीसदी ब्लो पर  बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स द्वारा स्वीकृति प्रदान की गयी एवं चयनित एजेंसी को कार्य प्रारंभ करने हेतु कार्यादेश जारी करने और अनुबंध किये जाने का निर्णय लिया गया। झील के पानी को भी खाली करने हेतु निर्देशित किया गया।
चार स्कूलो में बनेंगे स्मार्ट क्लास रूम
इसके साथ ही स्मार्ट सिटी मिशन के अंतर्गत चार शासकीय विद्यालयो को स्मार्ट क्लास रूम बनाने पर भी विस्तृत चर्चा की गई एवं उक्त कार्य में शहर की प्रमुख चार शासकीय विद्यालयो को सम्मिलित किया गया है, जैस एक्सीलेंस स्कूल, एम.एल.बी नं.1, पं.रविशंकर स्कूल एवं लक्ष्मीपुरा में स्थित मौराजी स्कूल सम्मिलित है।
सागर शहर के अंतर्गत निर्माण की जाने वाली 5  स्मार्ट रोड के कार्य में सिविल लाईन चैराहे से तिली तिराहा तक रोड निर्माण के प्रस्तावित कार्य में राजघाट तिराहा तक की रोड को उक्त कार्य में शामिल किये जाने का निर्णय लिया गया एवं उक्त कार्य हेतु शीघ्र निविदा जारी किये जाने का निर्देश दिये गये।

यह भी रहे अन्य महत्वपूर्ण विषय

 शहर की धरोहर डफरिन हाॅस्पिटल को हेरिटेज कन्जर्वेशन के अंतर्गत सौंदर्यीकरण किये जाने की स्वीकृति प्रदान की गई।

 शहर में इंक्यूवेशन सेंटर के निर्माण करने हेतु चर्चा की गई।

 नगर निगम स्टेडियम पर इंटीग्रेटिड स्पोर्टस् काॅम्पलेक्स का निर्माण किये हेतु कंसल्टैंट को जल्द से जल्द डी.पी.आर कार्यालय में प्रस्तुत करने के निर्देश दिये गये।

उक्त बैठक में जिला कलेक्टर सह अध्यक्ष श्रीमति प्रीति मैथिल नायक, आयुक्त सह कार्यकारी निदेश  आर.पी.अहिरवार, अन्य निदेशको में  जी.एस.सलूजा (अधीक्षण यंत्री, नगरीय प्रशासन एवं विकास, भोपाल), श्री जी.पी.सिंह (मुख्य अभियंता, म.प्र.पू.क्षे.वि.वि.क.लि.), स्वतंत्र निदेशक  नबरून भट्टाचार्य, श्रीमति बिंदु नायर, स्मार्ट सिटी के मुख्य कार्यपालन अधिकारी  राहुल सिंह राजपूत, कंपनी सेक्रेटरी श्री रजत गुप्ता एवं पी.एम.सी. के टीम लीडर व एक्सपर्ट की उपस्थिती रही। 

लाखा बंजारा झील का काम शुरू करने की मंजूरी दी, स्मार्ट सिटी बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ने

 लाखा बंजारा झील का काम शुरू करने की मंजूरी दी, स्मार्ट सिटी बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ने 

सागर ।सागर स्मार्ट सिटी लिमिटेड कार्यालय में बारहवीं बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स की बैठक जिला कलेक्टर सह अध्यक्ष श्रीमती प्रीति मैथिल की अध्यक्षता में संपन्न हुई। सागर स्मार्ट सिटी लिमिटेड की बारहवीं बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स की बैठक में लााखा बंजारा झील के कार्य को प्रारंभ करने हेतु स्वीकृति प्रदान की गई एवं स्मार्ट रोडस् के निर्माण कार्य में तिली तिराहा से राजघाट तिराहा तक की रोड को शामिल किया गया।
उक्त बैठक में शहर की प्राचीन लाखा बंजारा झील के पुनर्विकास एवं जीर्णोद्धार के कार्य हेतु चयनित एजेंसी की  वित्तीय दरों पर बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स द्वारा स्वीकृति प्रदान की गयी एवं चयनित एजेंसी को कार्य प्रारंभ करने हेतु कार्यादेश जारी करने और अनुबंध किये जाने का निर्णय लिया गया। झील के पानी को भी खाली करने हेतु निर्देशित किया गया।
चार स्कूलो में बनेंगे स्मार्ट क्लास रूम
इसके साथ ही स्मार्ट सिटी मिशन के अंतर्गत चार शासकीय विद्यालयो को स्मार्ट क्लास रूम बनाने पर भी विस्तृत चर्चा की गई एवं उक्त कार्य में शहर की प्रमुख चार शासकीय विद्यालयो को सम्मिलित किया गया है, जैस एक्सीलेंस स्कूल, एम.एल.बी नं.1, पं.रविशंकर स्कूल एवं लक्ष्मीपुरा में स्थित मौराजी स्कूल सम्मिलित है।
सागर शहर के अंतर्गत निर्माण की जाने वाली 5  स्मार्ट रोड के कार्य में सिविल लाईन चैराहे से तिली तिराहा तक रोड निर्माण के प्रस्तावित कार्य में राजघाट तिराहा तक की रोड को उक्त कार्य में शामिल किये जाने का निर्णय लिया गया एवं उक्त कार्य हेतु शीघ्र निविदा जारी किये जाने का निर्देश दिये गये।
यह भी रहे अन्य महत्वपूर्ण विषय
 शहर की धरोहर डफरिन हाॅस्पिटल को हेरिटेज कन्जर्वेशन के अंतर्गत सौंदर्यीकरण किये जाने की स्वीकृति प्रदान की गई।
 शहर में इंक्यूवेशन सेंटर के निर्माण करने हेतु चर्चा की गई।
 नगर निगम स्टेडियम पर इंटीग्रेटिड स्पोर्टस् काॅम्पलेक्स का निर्माण किये हेतु कंसल्टैंट को जल्द से जल्द डी.पी.आर कार्यालय में प्रस्तुत करने के निर्देश दिये गये।
उक्त बैठक में जिला कलेक्टर सह अध्यक्ष श्रीमति प्रीति मैथिल नायक, आयुक्त सह कार्यकारी निदेश  आर.पी.अहिरवार, अन्य निदेशको में  जी.एस.सलूजा (अधीक्षण यंत्री, नगरीय प्रशासन एवं विकास, भोपाल), श्री जी.पी.सिंह (मुख्य अभियंता, म.प्र.पू.क्षे.वि.वि.क.लि.), स्वतंत्र निदेशक  नबरून भट्टाचार्य, श्रीमति बिंदु नायर, स्मार्ट सिटी के मुख्य कार्यपालन अधिकारी  राहुल सिंह राजपूत, कंपनी सेक्रेटरी श्री रजत गुप्ता एवं पी.एम.सी. के टीम लीडर व एक्सपर्ट की उपस्थिती रही। 

इंस्पायर अवार्ड विज्ञान प्रदर्शनी,सागर सम्भाग के 11 मॉडल जाएंगे राज्य स्तर पर

इंस्पायर अवार्ड  विज्ञान प्रदर्शनी,सागर सम्भाग के 11 मॉडल जाएंगे राज्य स्तर पर
सागर।इंस्पायर अवार्ड मानक योजना वर्ष 2019-20 के जिलास्तरीय विज्ञान प्रदर्षनी का आज समापन हो गया। इस मौके पर 11 मॉडल राज्यस्तरीय प्रदर्शन हेतु चयनित किया गया।समापन अवसर पर जिला पंचायत सीईओ श्री सीएस शुक्ला ने कहा कि जो बाल वैज्ञानिक चयनित हुए हैं उनके लिए बधाई एवं जो इसमें चयनित नहीं हो पाए है उनको निराष होने की आवष्यकता नहीं वो पूरे मनोयोग से और प्रयास करें जिससे अगले सत्र में उनका चयन हो सके 
 श्री शुक्ला ने कहा कि सागर षिक्षा एवं खेल के क्षेत्र में प्रदेष मे अपनी छवि बनाने में अग्रणी है। इसके लिए मैं जिले के षिक्षा विभाग को बधाई देता हूं। उन्होंने कहा कि संभाग की 75 लाख की जनसंख्या में इन 82 बाल वैज्ञानिकों ने अपनी नई सोच से अपने बाल वैज्ञानिक बनने का जो सपना सजोया है वह जरूर कामयाब होगा। उन्होंने जिले के षिक्षकों की प्रसंषा करते हुए कहा कि आज उन्हें के मार्गदर्षन से ही ।
इन मॉडलों का हुआ चयन
प्रदर्षनी में संभाग के 11 मॉडलों को चयनित कर राज्य स्तर हेतु चयनित किया गया। जिसमें छतरपुर जिले के विजाबर के राज विष्वकर्मा एवं कार्तिक अनुरागी, दमोह जिले के पथरिया की मीना गौड़, अभिषेक लोधी, उषा बैरागी, पन्ना जिले के पवई से कुमारी झलक सोनी, टीकमगढ़ के बल्देवगढ़ से विक्रम कुषवाहा एवं सागर जिले के केसली विकासखण्ड के चिखली जमुनिया हाईस्कूल के रोहित सेन, गढ़ाकोटा के चौरई की रूचि सेन, राहतगढ़ के मानकचौक माध्यमिक शाला की रिक्की अहिरवार, शाहगढ़ के मॉडल स्कूल के प्रयत्न सोनी शामिल है। राहतगढ़ के मानकचौक माध्यमिक शाला की माध्यमिक षिक्षक श्रीमती कृष्णा साहू ने अपने मार्गदर्षन में रिक्की अहिरवार ने आटोमेटिक फोड्डर कंट्रोल ट्रेजर मषीन का अविष्कार किया था।
जैन स्कूल के सांस्कृतिक कार्यक्रम हुए
जिला षिक्षा अधिकारी डा. महेन्द्र प्रताप तिवारी ने स्वागत भाषण एवं प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। वैज्ञानिक डा. आषुतोष शुक्ला, डा. आषीष वर्मा ने भी अपने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम के पूर्व में सरस्वती पूजन एवं वंदना प्रस्तुत की गई तत्पष्चात जैन पब्लिक स्कूल के छात्र-छात्राओं ने प्राचार्य रजनीष जैन के मार्गदर्षन दर्षन में सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये गए।
। कार्यक्रम का संचालन श्री नीलेष चौबे ने किया।
ये रहे मौजूद
इस अवसर पर डा. आषुतोष गोस्वामी, श्प्रचीस जैन, दिल्ली से आये  आषुतोष शुक्ला,  एचपी कुर्मी नियर्णक श्री आषीष वर्मा, डा. संध्या पटैल, डा. आरएस पाण्डेय , नोडल अधिकारी श्री आरके बैघ मौजूद डा. गिरीष मिश्रा,  सीपी शुक्ला, श्री अखलेष पाठक,  मनीष नेमा, जिला विज्ञान अधिकारी श्री एनके श्रीवास्तव, श्री शैलेंद्र जैन, श्री विवेक नाबाथे, श्री मनोज अग्रवाल, श्री मनोज तिवारी, श्री अनिल मिश्रा, श्री जी के सोनी, श्री अतेन्द्र गुप्ता, श्री आनंद गुप्ता, श्री अनुभव श्रीवास मौजूद थे।

नवजात शिशु की मृत्यदर अधिक होने पर शोकाज नोटिस दें :कमिश्नर आनंद शर्मा

नवजात शिशु की मृत्यदर अधिक होने पर शोकाज नोटिस दें :कमिश्नर आनंद शर्मा
सागर ।छात्रावासों में शीत लहर से बचाव पर्याप्त प्रबंध करें उक्त निर्देष कमिष्नर  आनंद शर्मा ने षिक्षा, स्वास्थ्य, महिला बाल विकास, आदिम जाति कल्याण विभाग एवं आबकारी विभाग की संभागीय समीक्षा बैठक में दिये। इस अवसर पर उक्त विभागों के संभागीय संयुक्त संचालक उपस्थित थे।
          श्री शर्मा ने षिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक लेते हुये कहा कि ठण्ड के मौसम में समस्त छात्रावासों में ठण्ड के बचाव हेतु पर्याप्त रजाई, गरम पानी की पर्याप्त व्यवस्था की जाये। उन्होंने छात्रवृति के मामले में निर्देष दिये कि सत्र 19-20 की लंबित प्रकरण तत्काल निराकरण करे साथ ही जिलों में वितरण होने के पष्चात शेष बची साईकिलों का भौतिक सत्यापन कराकर सुरक्षित रखा जाये। उन्होंने समस्त छात्रावासों में खेल सामग्री, पर्याप्त पाठय्पुस्तकें उपलब्ध कराना भी सुनिष्चित करें। संभाग में बचुअल कक्षायें को अपडेट रखे जिससे वहा उनका उपयोग किया जा सके।
 आबकारी विभाग की समीक्षा करते हुये निर्देष दिये कि 31 मार्च तक समस्त राजसात वाहनों की नीलामी करे एवं खेल परिसर के वाजू वाली मैदान के समीप स्थित देषी शराब दुकान द्वारा फैलाई जा रही गंदगी पर तत्काल रोक लगायें एवं दुकान के बाहर शराब पीने वाले पर तत्काल रोक लगाये। साथ ही शराब ठेकेदार से स्वच्छता मिषान के अन्तर्गत दुकान पास डस्टविन लगाये।
नवजात शिशु मार्च दर पर नोटिस जारी होंगे
       स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा करते हुये निर्देष दिये कि स्वास्थ्य विभाग महिला बाल विकास से समन्वय बनाकर सीएमएचओ एवं बाल विकास के अधिकारियों के साथ प्रत्येक जिला पर बैठक आयोजित करें ।जिसमें कुपोषण के खिलाफ अभियान चलाने में सहायता होगी। उन्होंने संयुक्त संचालक स्वास्थ्य को निर्देष दिये कि नवजात शिशु की संभाग में मृत्युदर अधिक एवं प्रसव के समय संक्रमण फैलने के प्रकरण पर समस्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद प्रभारियों को कारण बताओ नोटिस जारी करें। उन्होंने गर्भवती महिलाओं के पंजीयन में सक्रीयता के लिये पूरे संभाग में अभियान चलाने के निर्देष दिये। संभाग में डाक्टरों की पदपूति एवं कमी एवं टीकाकरण की अद्यतन स्थिति की भी जानकारी ली। आयुष विभाग को निर्देष दिये कि मलेरिया एवं चिकिन गुनिया के षिविर की संख्या बढायें

खरगोन जिले में पदस्थ महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारी को सागर में भाजपा नेताओ ने की मारपीट

खरगोन जिले में पदस्थ महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारी को सागर में भाजपा नेताओ ने की मारपीट
# पोषण आहार का था पुराना विवाद
सागर । खरगोन जिले के बड़वाह में पदस्थ महिलाएवम बाल विकास विभाग के परियोजना अधिकारी एस के शिंदे के साथ सागर जिले के खुरई में भाजपा नेता और उसके साथियों द्वारा मारपीट कर मोबाइलऔर बेग छीनने का मामला सामने आया है । पुलिस ने चारों आरोपियों के खिलाफ  मामला दर्ज  दर्ज कर लिया है। शिंदे खुरई में पदस्थ रहे है। आरोपी विकास पांडे के खिलाफ शिंदे ने अपने खुरई के कार्यकाल में पोषण आहार को लेकर कार्यवाहि की थी। जिसके कारण दोनो में विवाद था।
क्या है मामला
 परियोजना अधिकारी शिंदे नेबताया कि वह ऑफिस के काम से खुरई में  आए थे। उन्हें कुछ दस्तावेजइकट्ठे कर सागर कार्यालय में जमाकरने थे।खुरई में परियोजना अधिकारी शिंदे ने पोषण आहार में गड़बड़ी पाए जाने के कारण विकास पांडे  पर कार्यवाही की थी।  जिसके के  कारण विकास पांडे नाराज था । जिसके चलते शिंदे के खुरई पहुचने पर रेस्टहाउस में आरोपी विकास पांडे, उसका भाईगोपाल, पुष्पेन्द्र सहित एक अन्यआए और अभद्र भाषा का प्रयोगकरते हुए जातिसूचक शब्द कहकरअपमानित किया, उसके बाद मारपीटशुरू कर दी। मारपीट देखकर  रेस्टहाउस का स्टॉफ, बाहर के लोग आगए। जिससे आरोपी चले गए। उसकेबाद शिंदे रिपोर्ट दर्ज कराने थानेआ रहे थे, तभी रास्ते में गोपाल नेउन्हें दोबारा धमकाया, मारपीट की।जिससे वह वापस लौट गए। कुछदेर बाद जैसे ही थाने की तरफआए, आरोपी बाइकों से आ गए।उन्हें मारपीट करते हुए कपड़े फाड़दिए, उनके बैग, मोबाइल लूटकरले गए। मारपीट में परियोजनाअधिकारी को चोटें आई हैं। खुरई पुलिस थाना प्रभारी अरविंद चोबे ने बताया कि  चारों आरोपियों के खिलाफ शिंदे की रिपोर्ट पर धारा394, एससी-एसटी एक्ट के तहतमामला दर्ज किया है।
खुरई में पदस्थ रहे शिंदे विवादित भी रहे
परियोजना अधिकारी एस  के  शिंदे  खुरई में पदस्थ रह चुके है। इस दौरान वे विवादित भी हुए। शिंदे महिला एवं बाल विकास विभाग  खुरई के वाट्सप ग्रुप में  विवादित पोस्ट डालने पर जांच  के घेरे में आये थे।  जांच के बाद मामला खत्म हो गया था।

सोमवार, 6 जनवरी 2020

गांधीवादी नेता स्व विट्ठलभाई के बेटे संजय भाई पटेल का निधन,अंतिम संस्कार मंगलवार को

गांधीवादी नेता स्व विट्ठलभाई के बेटे संजय भाई पटेल का निधन,अंतिम संस्कार मंगलवार को
सागर । गांधीवादी विचारक ,फिल्मी गीतकार और काँग्रेस के वरिष्ठ नेता स्व विट्ठलभाई पटेल के बेटे संजय भाई पटेल का निधन हो गया। उनका कल  मंगलवार को सागर में अंतिम संस्कार किया जाएगा। उनके निधन पर अनेक लोगो ने शोक व्यक्त किया है। 
 संजय भाई अपने पीछे पत्नि छाया बेन,बेटा हीरक और बेटी धारणा बेन और माँ सहित भरापूरा परिवार छोड़ गए।  उनके निधन की खबर  शहर में फैलते ही शुभचिन्तको का राधेश्याम भवन पहुचना शुरू हो गया। कल मंगलवार को दोपहर दो बजे अन्तिमयात्रा  निकलेगी।
हसमुख मिजाज के संजय भाई पटेल ने तीन जनवरी को अपना 60 वा जन्मदिन मनाया था। कल शनिवार को एक कार्यक्रम में स्व पटेल सम्मान लेने फ़िल्म अभिनेता राजीव वर्मा पहुचे थे। इस कार्यक्रम को सफल बनाने में सक्रिय रहे। अपने निधन के कुछ घण्टे पहले तक फेसबुक पर फिल्मी गीतों को शेयर कर रहे थे।
 संजय भाई अपने पिता स्व विट्ठलभाई की विरासत को सहेजने में ज्यादातर समय व्यस्त रहते थे। अक्सर सोसल मीडिया पर विट्ठलभाई के हिट फिल्मी गीतों के साथ साथ राजकपूर के परिवार से जुड़ी यादों को शेयर किया करते थे। वे पुराने गायकों और कलाकारों साहित्यकारों की रचनाओं को शेयर करते थे।

आंगनवाड़ी ,स्कूल में अंडा वितरण ,अहिंसक समाज को करे विरोध:आचार्य निर्भय सागर

आंगनवाड़ी ,स्कूल में अंडा वितरण ,अहिंसक समाज को करे विरोध:आचार्य निर्भय सागर 

सागर। आहार जीने के लिए है खुद को कब्रिस्तान बनाने के लिए नहीं। मांसाहारी व्यक्ति चलता फिरता कब्रिस्तान है ।आज कुछ हिंसक ताकतें देश के बच्चों ,महिलाओं की रगों में अंडा परोस कर क्रूरता व बर्बरता की ओर धकेलने का दुस्साहस कर रही हैं ,जो बहुत ही गलत है ।अंडा मांसाहार है। स्कूलों ,आगनबाडी आदि में इसके वितरण का अहिंसक समाज  पुरजोर विरोध करें ताकि हमारी बाल पीढ़ी के अंदर हिंसक तत्व प्रवेश ना कर सकें ।
उक्त उद्गार आचार्य श्री निर्भय सागर जी महाराज ने बाहुबली कॉलोनी जैन धर्मशाला सभागार में व्यक्त किए।आचार्य श्री ने कहा मांगना सबसे बड़ी दरिद्रता है ,आज समाज में विवाह शादियों में दहेज मांगने की जो परंपरा बढ़ती जा रही है वह बेहद गलत है समाज के मध्यमवर्गीय परिवार इसमें पिस रहे हैं सोचिये जिसने अपनी बेटी तुम्हें दी है उसने अपना सबकुछ तुम्हे दे दिया है।आप भिखारी नहीं बने बल्कि जो कुछ बिना मांगे मिले सहर्ष स्वीकार करे और इस दहेज़ जैसी कुप्रथा को बढ़ावा नहीं दे।
आचार्य श्री ने बताया धर्म संस्कृति देश परिवार सब महिला नारी स्त्री के ऊपर टिका हुआ है यदि महिला का आचरण श्रेष्ठ होगा तो वह बच्चों को श्रेष्ठ संस्कृति अनुरूप संस्कार दे पाएगी और यदि महिला ही ब्यूटीपार्लर फैशन और नौकरी में व्यस्त हो जाएगी तो परिवार को कौन संभालेगा मात्र धन ही सब कुछ नहीं है नारी का व्यवहार खानपान मधुर वचन और कार्यकुशलता से ही उसके व्यक्तित्व का पता चलता है। श्रेष्ठ नारी वही है जो निम्न बताए गए 6 गुणों को धारण करती है।
(1) कार्य करने में मंत्री के समान (2)वचन बोलने में दासी के समान 
(3)भोजन कराते समय माता के समान 
(4)शयन करते समय देवांगनाके समान 
(5)धर्म के अनुकूल आचरण करने वाली हो
(6)क्षमा मांगने वाली,क्षमा करने वाली हो।
इन 6 गुणों से युक्त नारी कुल को तारने वाली होती है।

रहली में महाविद्यालय में वाणिज्य संकाय खोलने की मांग ,सौंपा ज्ञापन

 रहली में महाविद्यालय में वाणिज्य संकाय खोलने की मांग ,सौंपा ज्ञापन
सागर। सागर जिले के  रहली कॉलेज के छात्र छात्राओं और नगर छात्रों द्वारा अनुविभागीय अधिकारी के नाम उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी के नाम एस डी एम को ज्ञापन सौंपा ।
रहली महाविद्यालय में लंबे समय से वाणिज्य संकाय की मांग की    जा रही है ।महाविद्यालय के छात्र योगेन्द्र सिंह ने बताया एक सप्ताह में मांग पूरी नही हुई तो शांति पूर्ण धरना प्रदर्शन करेगे बताया कॉलेज में वाणिज्य संकाय न होने के कारण छात्र छात्राओं को बाहर प्रवेश लेना पड़ रहा है ।जिससे छात्र छात्राओं को परेशानी हो रही है । छात्रों की मांग है कि रहली महाविद्यालय में वाणिज्य संकाय की कक्षाओं को विधिवत प्रारंभ करवाने की कृपा करें  उपस्थित छात्र संघ के अरुण पटेल पूर्व संयोजक निकेतन शुक्ला ,पूर्व नगर मंत्री अनुज मुदगल , सत्यम पाडेय , मनोहर कुर्मी , अंजली राज , अंशुल ठाकुर ,हेमतला सेन , अनुज सेन अनेक छात्र उपस्थित रहे ।

नेशनल हाईवे पर 83 लाख की लागत से बनेगा महाराजपुर थाना,मंत्री हर्ष यादव ने किया भूमिपूजन

नेशनल हाईवे पर 83 लाख की लागत से बनेगा महाराजपुर थाना,मंत्री हर्ष यादव ने किया भूमिपूजन
सागर। सागर जिले के नेशनल हाईवे 26 फोर लाइन पर देवरी के  महाराजपुर में 83 लाख की लागत से अर्ध शहरी पुलिस थाना महाराजपुर के भवन के भूमिपूजन और शिलान्यास कैबिनेट मंत्री हर्ष यादव के मुख्य आतिथ्य में संपन्न हुआ। इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री  यादव ने कहा कि महाराजपुर क्षेत्र है जो शांति टापू हुआ करता है यहां की सामाजिक संरचना अपने आप में विशिष्ट रूप लिए हुए हैं। जिले की सीमा में होने वाले अपराधों पर रोक लगेगी उन्होंने कहा कि जिले की सीमा पर पिछले महीने हुए अपराधों पर पुलिस ने तत्परता से आरोपियों को पकड़ने में सफलता हासिल की है, उन्होंने कहा कि राम मंदिर के मुद्दे  के फैसले पर प्रदेश में पुलिस ने एवं प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ की सतर्कता के कारण प्रदेश में एक भी घटना नहीं होने दी इसमें सबसे बड़ा योगदान पुलिस विभाग का रहा।
 आईजी सतीश सक्सेना सागर  ने कहा कि महाराजपुर का पुलिस थाना बस्ती के अंदर था अब नया थाना नेशनल हाईवे 26 पर बनेगा जिससे महाराजपुर क्षेत्र का तेजी से विकास होगा वही अपराधों की रोकथाम में मदद मिलेगी।इस दौरान डी आई जी सागर दीपक वर्मा ने कहा महाराजपुर पुलिस थाना  नेशनल हाईवे 26 के किनारे बन रहा है यह बहुत ही अच्छी जगह है लेकिन अच्छा थाना तभी कहलायेगा जब यहां लोग विश्वास के साथ आए और उन्हें न्याय मिले और यहाँ आने से लोगों को डर ना लगे तभी अच्छा थाना कहलाएगा ।पुलिस  जनता के साथ न्याय करें और जन सहयोग से अपराध रोकने में काम करें ।इस दौरान एसपी अमित सांघी ने महाराजपुर पुलिस थाने के निर्माण से संबंधित प्रतिवेदन प्रस्तुत किया ।उन्होंने बताया कि मंत्री जी के प्रयास से बहुत जल्द ही महाराजपुर के पुलिस थाने के लिए नेशनल हाईवे पर भूमि उपलब्ध हुई है ।जल्द ही 8 माह की अवधि में यह थाना बनकर तैयार हो जाएगा। इस दौरान एडिशनल एसपी विक्रम सिंह बीना, एसडीओपी अजित पटेल, देवरी थाना प्रभारी आर एस ठाकुर, महाराजपुर थाना प्रभारी चंद्रजीत सिंह यादव, केसली थाना प्रभारी एम के जगेत, गौरझामर थाना प्रभारी आसाराम अहिरवार, सहित कांग्रेस कार्यकर्ता और ग्रामीण उपस्थित रहे।

Archive