शनिवार, 19 फ़रवरी 2022

अभियोजन अधिकारी डॉ. रश्मि वैभव शर्मा ने सागर संभाग के पुलिस अधिकारियों को दिया प्रशिक्षण

अभियोजन अधिकारी डॉ. रश्मि वैभव शर्मा ने सागर संभाग के पुलिस अधिकारियों को दिया प्रशिक्षण

भोपाल। प्रशिक्षण निदेशालय पुलिस मुख्यालय भोपाल के निर्देशन में पुलिस अधीक्षक महोदय पी टी एस सागर द्वारा  किशोर न्याय अधिनियम पर 3 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम वेबीनार के माध्यम से आयोजित किया गया ।
 प्रशिक्षण कार्यक्रम  बेवीनार का आयोजन  वेबेक्स मीटिंग एप्स के माध्यम से ऑनलाईन आयोजित किया गया। जिसमें व्याख्याता के रूप में सहायक जिला अभियोजन अधिकारी डॉ. रश्मि वैभव शर्मा ने सागर संभाग में पदस्थ पुलिस अधिकारीयो को किशोर न्याय अधिनियम   के संबंध  महत्वपूर्ण एवं ज्ञानवर्धक जानकारी दी।

राष्ट्रीय अस्मिता का द्योतक: अन्तर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवस★प्रो. नीलिमा गुप्ता ,कुलपति

राष्ट्रीय अस्मिता का द्योतक: अन्तर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवस,
★प्रो. नीलिमा गुप्ता ,कुलपति

पूरे विश्व में 21 फरवरी अंतर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवस के रूप में मनाया जाता है। किसी भी देश की राष्ट्रीय अस्मिता तथा सांस्कृतिक स्वाभिमान का प्रतीक मातृभाषा होती है। 21 फरवरी को मातृभाषा दिवस के रूप में मनाने का संकल्प सर्वप्रथम बांग्लादेश द्वारा किया गया। यूनाइटेड नेशन्स एजूकेशनल, साइंटिफिक एंड कल्चरल आॅर्गनाइजेशन ;न्छम्ैब्व्द्ध की आमसभा ने 21 फरवरी को अंतर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवस के रूप में मनाने का संकल्प नवंबर 1999 में लिया जिसे यूनाइटेड नेशन्स की आमसभा ने 2002 में इसका स्वागत किया। 16 मई, 2007 को यूनाइटेड नेशन्स ने यह संकल्प लिया कि समस्त देशों कोमातृभाषा को बढ़ावा देने के लिए प्रोत्साहित किया जाये। आज 21 फरवरी एक अंतर्राष्ट्रीय वार्षिक उत्सव के रूप में मनाया जाता है।
भाषा वह माध्यम है जिसके द्वारा हम अपने विचारों को दूसरों से आदान-प्रदान कर सकते हैं और वह हमारी भौतिक और अभौतिक सांस्कृतिक विरासत को संरक्षित कर इसे शक्तिशाली बनाये रखती है। मातृभाषा को बढ़ावा देने के लिए सभी कदम न केवल भाषा के विविध बहुभाषी शिक्षा को प्रोत्साहित करने के लिए, बल्कि दुनिया भर को प्रोत्साहित कर जागरूकता विकसित करने और समझ और संवाद के आधार पर एकजुटता को प्रदर्शित करने के लिए है।
          (कुलपति : प्रो नीलिमा गुप्ता)

पूरे विश्व में हर 14 दिन में कोई एक भाषा विलुप्त हो रही है, और अपने देश भारत में भी स्थिति अच्छी नहीं है। भारत में कुल 19,500 भाषायें बोली जाती हैं जिनमें से करीब 2,900 विलुप्त होने की कगार पर हैं। सत्य तो यह है कि इन भाषाओं को मात्र 100 या इससे कम लोग बोलते हैं। मात्र 121 भाषाएँ 10,000 से अधिक लोग बोलते हैं। आश्चर्य की बात यह है कि 121 भाषाओं में 99 भाषायें भारत के 3.3 प्रतिशत लोग ही बोलते हैं और बाकी 22 भाषायें भारत के 96.7 प्रतिशत लोग बोलते हैं और यही 22 भाषायें हैं जिन्हें भारत के संविधान की 8वीं अनुसूची में आधिकारिक भाषा का दर्जा प्राप्त है। यह आंकड़ें हमें स्पष्ट बताते हैं कि हमें अपनी मातृभाषा के विस्तार के लिए पूर्ण प्रयास करने होंगे और यदि हमने ऐसा नहीं किया तो हमारी भाषा भी उसी सूची में शामिल होगी जो हर 14 दिन में विलुप्त हो रही है।

मातृभाषा उसे कहते हैं जिस भाषा को बच्चा जिंदगी में पहली बार बोलता है। बच्चा बचपन में अधिकतर अपनी माँ के पास ही रहता है, और स्वाभाविक है कि माँ जो भाषा बोलती है, बच्चा भी उसी को सीखता है और बोलता है। हर मातृभाषा की कुछ खासियत होती है और मुख्यतः वह 3 चीजों को जोड़ती है: सांस्कृतिक मूल्य, परंपरा और इतिहास। 
ज्यादातर लोगों के लिए यह मात्र एक भाषा है लेकिन बहुभाषी परिवारों में बच्चा एक साथ दो भाषा सीख सकता है,परन्तु ऐसा होने पर राजनीतिक एवं सांस्कृतिक एकरूपता को प्राथमिकता दी जा सकती है। हम यह भी कह सकते हैं कि यह हमारी मूल भाषा है या हम इसे ऐसे भी परिभाषित कर सकते हैं कि एक भाषा जिससे दूसरी भाषा निकलती है उसे मातृभाषा कहा जाता है।
अंतर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवस भाषा संबंधी और सांस्कृतिक विविधता में जागरूकता को बढ़ावा देने और बहुभाषावाद को बढ़ावा देने के लिए 21 फरवरी एक अंतर्राष्ट्रीय दिवस उत्सव के रूप में मनाया जाता है जिससे कि भाषायी और सांस्कृतिक विविधता डनसजपसपदहनंसपेउ को बढ़ावा दे सके और उसका निरंतर विकास कर सकें। विश्व के किसी भी देश में प्राथमिक शिक्षा विदेशी भाषा में नहीं दी जाती। विश्व के परिप्रेक्ष्य में लगभग सभी उन्नत एवं विकसित देशों में वहाँ की शिक्षा, शोध कार्यों, शासन-प्रशासन की भाषा वहाँ की भाषा होती है और अपने देश में भी ऐसे ही भाव को प्रोत्साहित करना चाहिए जिससे कि सभी कार्य मातृभाषा में हों। भारत के महापुरूषों, शिक्षाविदों जैसे विनोबा भावे, महात्मा गाँधी, पं. मदन मोहन मालवीय, डाॅ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम के भी यहीं विचार थे। पूर्व में किए गए अध्ययन यहीं बताते हैं कि अपनी भाषा के माध्यम से शिक्षा ग्रहण करने से चिंतन एवं विचारों में मनोवैज्ञानिकता एवं सृजनात्मकता आती है और कठिन विषय भी सुगमता से समझ में आ जाते हैं।


तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें

वेबसाईट

इस वर्ष अपना देश आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है, इन सपनों को साकार करने में अन्य घटकों के साथ-साथ हिंदी की भी महती भूमिका रही है। भारत में अनेक भाषाओं का समागम है, अतः देश में एकरूपता लाने के लिए पूरे देश में एक भाषा को प्रयोग में लाना चाहिए। लोकमान्य तिलक ने हिंदी के संबंध में विचारों में लिखा है -”यह तो उस आंदोलन का अंग है जिसे मैं राष्ट्रीय आंदोलन कहूँगा और जिसका उद्देश्य समस्त भारतवर्ष के लिए एक राष्ट्रीय भाषा की स्थापना करना है क्योंकि सबके लिए समान भाषा राष्ट्रीयता का महत्वपूर्ण अंग है।“
कुछ इसी प्रकार के विचार भारतेन्दु हरिश्चंद्र के रहे हैं जिन्होंने लिखा हैः-
निज भाषा उन्नति अहै, सब उन्नति को मूल।
बिन निज भाषा ज्ञान के, मिटत न हिय को सूल।।
महात्मा गाँधी ने अपने पत्र हिंदी नवजीवन में लिखा है ”इस विदेशी भाषा (अंग्रेजी) के माध्यम ने बच्चों के दिमाग को शिथिल कर दिया है, उनके स्नायुओं पर अनावश्यक जोर डाला है उन्हें रट्टू और नकलची बना दिया है तथा मौलिक कार्यों और विचारों के लिए सर्वथा अयोग्य बना दिया है।“
एक तरफ जहाँ हिंदी सिनेमा खरबों रूपयों की इंडस्ट्री है तो दूसरी तरफ देश के सर्वाधिक पठित अखबार हिंदी के हैं। यदि हम टेलीविजन की बात करें तो 2 तिहाई चैनल हिंदी के हैं और सर्वाधिक देखे जाने वाले चैनलों में हिंदी आगे है। विज्ञापन में भी हिंदी का बोलबाला है और यह भी प्रसन्नता का विषय है कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति में भी भाषा नीति को प्रोत्साहित किया गया है और एक तरफ जहाँ हम भारत में हिन्दी और मातृभाषा में शिक्षा को प्रोत्साहित कर रहे हैं, तो दूसरी तरफ पूरी दुनिया में 200 विश्वविद्यालयों में हिन्दी पढ़ाई जा रही है। डिजिटल इंडिया के अंतर्गत मोबाइल एप्स आदि में भी हिंदी की अपार संभावनायें हैं। गूगल का अनुमान है कि वर्ष 2024 तक भारत में अंग्रेजी की तुलना में हिंदी माध्यम से इंटरनेट का प्रयोग करने वालों की संख्या कहीं अधिक होगी। पुस्तक प्रकाशक किताबों के प्रिंट वर्जन के साथ-साथ आडियो डिजिटल वर्जन भी हिंदी में प्रकाशित कर रहे हैं। आडियो किताबों का ई-वर्जन जैसी डिजिटल दुनिया ने हिंदी का एक नया संसार ही बना दिया है। भारत को आत्मनिर्भर बनाने में देश भर में प्रयास हो रहा है और इसे साकार करने में हिंदी की भी एक महती भूमिका होगी इसका हमें पूर्ण विश्वास है।
आज अन्य देशों में भी हिंदी सीखने की जिज्ञासा बढ़ती जा रही है। हिंदी सिनेमा, हिंदी टेलीविजन के बढ़ते प्रसार ने हिंदी सीखने की चाहत को कई गुना बढ़ा दिया है। आज पूरे विश्व में कोई योग को समझने के लिए, कोई भारतीय अध्यात्म को समझने के लिए हिंदी को सीखने का प्रयास कर रहा है। अंतर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवस के अवसर पर यह आवश्यक है कि मातृभाषा में आ रही चुनौतियों से निपटने के लिए प्राथमिक एवं माध्यमिक स्तर के साथ-साथ उच्च शिक्षा में भी हिंदी भाषा प्रयोग को बढ़ावा देने के प्रयास किये जायें तथा सभी संस्थानों मेंहिंदी को प्रोत्साहित किया जाये। हिंदी ज्ञान, विज्ञान, चिंतन, परंपरा की भाषा एवं उचित माध्यम बने।भाषा का ज्ञान, ज्ञान का द्वार है। इस अंतर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवस पर, आइए, हम सभी संकल्प लें कि हम अपनी मातृभाषा का सम्मान करें क्योंकि:
मातृभाषा का सम्मान, देश का सम्मान है,
हमारी स्वतंत्रता वहाँ है, मातृभाषा जहाँ है।
इसी सम्मान से हम अपने देश, भारत का सम्मान बढ़ाने में और नए भारत की संरचना करने में सफल होंगे।

( लेखिका  प्रो. नीलिमा गुप्ता, 
डाॅक्टर हरीसिंह गौर विश्वविद्यालय, सागर की कुलपति है)

जन्म से नहीं अपने विचारों से व्यक्ति महान होता है :गोविंद सिंह राजपूत★ संत गुरु रविदास जी जयंती पर तीन दिवसीय महोत्सव

 जन्म से नहीं अपने विचारों से व्यक्ति महान होता है :गोविंद सिंह राजपूत

★  संत गुरु रविदास जी जयंती पर तीन दिवसीय महोत्सव 


संगत। सुरखी विधानसभा क्षेत्र में संतगुरु रविदास जी महाराज की  जयंती धूम-धाम से मनाई जा रही है इस आयोजन की भव्यता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि गुरु रविदास जी की जयंती सुरखी विधानसभा क्षेत्र में 16 फरवरी 19 फरवरी 2० फरवरी को तीन दिवसीय भव्य आयोजन के रूप में मनाई जा रही है 19 फरवरी को नगर परिषद बिलहरा में गुरु रविदास जी महाराज के सम्मान में  आयोजन किया गया जिसमें समाज के माते , बडकुल एवं समाज के वरिष्ठ जन शामिल हुए इस अवसर पर राजस्व एवं परिवहन मंत्री श्री गोविंद सिंह राजपूत जी द्वारा संत रविदास जी के चित्र पर माल्यार्पण करते हुए कन्याओं का पूजन किया तथा समाज के संत जनों का साल श्रीफल से स्वागत सम्मान किया इस अवसर पर श्री राजपूत ने अपने उद्बोधन में कहा कि संत शिरोमणि गुरु रविदास जी महाराज किसी जाति के संत नहीं है बल्कि वह हमारे देश की धरोहर है और सभी समाजों में वह पूजनीय हैं । जिन्होंने समाज को भाईचारे का संदेश दिया श्री राजपूत ने कहा कि गुरु रविदास जी का कहना था कि ऐसा राज्य हो जिसमें कोई भी भूखा ना रहे तो ऐसा राज्य भाजपा  की सरकार का है जिसने हर जरूरतमंद तथा गरीब को भोजन, मकान ,रोजगार मुहैया कराकर संत गुरु रविदास जी के आदर्शों को आत्मसात कर मानव कल्याण का इतिहास रचा है उन्होंने कहा कि कोरोना काल में तो लगभग 2 वर्षों से जरूरतमंदों के लिए राशन मुफ्त दिया जा रहा है ताकि कोई भी इस महामारी के कारण भूखा ना रहे।
श्री राजपूत ने कहा किसंत रविदास जी के सम्मान में सुरखी विधानसभा क्षेत्र के प्रत्येक ग्राम में रविदास जी का मंदिर बनवाया जा रहा है जिसमें मूर्ति स्थापित करने की सारी जवाबदारी मेरी रहेगी। 
इस अवसर पर भाजपा वरिष्ठ नेता श्री हीरा सिंह जी राजपूत ने कहा कि संत रविदास जी महाराज के आदर्श भारत में ही नहीं पूरे विश्व में जन कल्याण के लिए जाने जाते हैं बड़े-बड़े राजा महाराजाओं ने संत शिरोमणि गुरु रविदास जी से दीक्षा ली तथा गुरु बना कर उनके आदर्शो पर चले चाहे वह राणा परिवार की बहू मीराबाई हो या सिख धर्म के गुरु द्वारा गुरु रविदास जी का सम्मान हो। सभी धर्म तथा समाज में संत गुरु रविदास जी महाराज के आदर्शों की बात कही गई है भाजपा वरिष्ठ नेता श्री हीरा सिंह राजपूत जी ने कहा कि यह हमारे लिए गौरव की बात है कि हमारी विधानसभा में संत गुरु रविदास जी की जयंती महोत्सव के रूप में मनाई जा रही 16 फरवरी को राहतगढ़ में भव्य आयोजन किया गया था ,19 फरवरी को बिलहरा में यह महोत्सव धूमधाम से मनाया गया।  20 फरवरी को जैसीनगर में संत शिरोमणि गुरु रविदास जी महाराज की जयंती धूमधाम से मनाई जाएगी।
इस अवसर पर भाजपा अनुसूचित जातिमोर्चा  के जिला अध्यक्ष एड नरेंद्र अहिरवार,
प्यारेलाल माते, भाव सिंह, घनश्याम अहिरवार, काशीराम मेंबर, देवेंद्र परदेसी ,सुखलाल अहिरवार ,हीरालाल अहिरवार, कमलेश माते ,अनुसूचित जाति मोर्चा सुखी परमानंद अहिरवार,  ललित अहिरवार ,भगवानदास अहिरवार, शिवलाल अहिरवार , वृंदावन अहिरवार, वीरेंद्र तत्वाय ,नरेंद्र डब्बू आठया, परसोत्तम अहिरवार ,cm o राजेश खटीक ,डॉक्टर परशुराम अहिरवार, सहित भाजपा के वरिष्ठ नेता लखन चौबे  , संतोष पटेल अशोक मिश्रा सहित बड़ी संख्या में क्षेत्रवासी मौजूद रहे।

दिवा सिंह की शतकीय पारी से बीटीआईई सागर ने यू टी ड़ी को शिकस्त दी


दिवा सिंह की शतकीय पारी से बीटीआईई सागर ने यू टी ड़ी को शिकस्त दी 

सागर।  शारीरिक शिक्षा विभाग डॉ हरीसिंह गौर वि वि के तत्वाधान में आयोजित अन्तरमहाविद्यालय क्रिकेट पुरुष प्रतियोगिता का फायनल मैच यू टी डी सागर एवं बीटीआईई सागर के मध्य खेला गया ।
जिसमे यू टी डी सागर ने टॉस जीतकर बीटीआईई सागर को बल्लेबाजी करने को आमंत्रित किया, बीटीआईई सागर ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवर में शानदार बल्लेबाजी करते हुए  202 रन बनाए। जिसमें दिवा सिंह ने 111रन की  शतकीय पारी खेली, 35  रन सत्यम दुबे ने एवं 28 रन की पारी तरुण अहिरवार ने खेली ।
यू टी डी की ओर से गेंदबाजी करते हुए रिहान 3, सुमित ने 1 विकेट लिया ।
लक्ष्य का पीछा करने उतरी यू टी डी की टीम 121 रन पर सिमट गई । सर्वाधिक 23 रनों की पारी राहुल ने एवं सुमित सोनी ने 18 रनों पारी खेली खेली । बीटीआईई की ओर से गेंदबाजी करते हुए अक्षत राजपूत ने 4 विकेट, फतेह ने 2 एवं सत्यम एवं तरुण ने 1-1 विकेट लिए । इस प्रकार बीटीआईई 81 रन जीत अर्जित की । मैन आफ द मैच दिवा सिंह रहे । मैच के निर्णायक राजा ठाकुर,  गजेंद्र विश्वकर्मा  स्कोरर हर्षित साहू रहे ।
मैच उपरांत प्रो. सुबोध जैन जी के मुख्य आतिथ्य में खिलाड़ियों को ट्राफी प्रदत्त की गई । इस अवसर पर प्रो. जी एस दुबे संचालक बीटीआईई संदीप जैन, प्राचार्य बीटीआईई  डॉ. राजू टंडन, खेल विशेषज्ञ राजेश ठाकुर, संगठन सचिव विनय शुक्ला, अनवर खान, महेंद्र कुमार, गौरव भट्ट, आकाश लिटोरिया उपस्थित रहे ।

  

साप्ताहिक राशिफल : 21 फरवरी से 27 फरवरी 2022 तक★पण्डित अनिल पांडेय

साप्ताहिक राशिफल : 21 फरवरी से 27 फरवरी 2022 तक
★पण्डित अनिल पांडेय
जय श्री राम ।कहते हैं समय से पहले और किस्मत से ज्यादा किसी को ना तो मिला है और ना मिलेगा । सही भी है और   इस सप्ताह आपका भाग्य क्या क्या दिलाएगा यह बताने के लिए मैं पंडित अनिल पांडे आपके सामने प्रस्तुत हूं।
आप सभी दर्शकों को अनिल पांडे का नमस्कार। आज हमारी चर्चा का विषय है 21 फरवरी से 27 फरवरी 2022 तक अर्थात विक्रम संवत 2078 शक संवत 1943 की फाल्गुन कृष्ण पक्ष की पंचमी से फाल्गुन कृष्ण पक्ष की द्वादशी तक के सप्ताह का साप्ताहिक राशिफल ।

मेष राशि के जातकों का साप्ताहिक राशिफल
मेष राशि के जातकों का व्यापार इस सप्ताह काफी उन्नति करेगा । थोड़ा बहुत धन लाभ होगा । भाग्य साथ देगा । कचहरी के कार्यों में सफलता का योग है । वे जातक जो सरकारी कर्मचारी या अधिकारी हैं उनके उन्नति का योग है । इस सप्ताह आपके लिए 21 और 22 तारीख उत्तम है । 23 और 24 तारीख को आपको सोच समझ कर कार्य करना चाहिए । इस सप्ताह आपको चाहिए कि आप  प्रातः काल स्नान के बाद तांबे के पात्र में जल लेकर भगवान  सूर्य को अर्पण करें। सप्ताह का शुभ दिन सोमवार है।

 वृष राशि के जातकों का साप्ताहिक राशिफल
 वृष राशि के जातकों का भाग्य इस सप्ताह एका एक साथ देगा । व्यापार में उन्नति का योग है । छोटी मोटी दुर्घटना हो सकती है । कार्यालय में संभल कर कार्य करें अन्यथा आप पर कार्रवाई हो सकती है ।इस सप्ताह आपको कोई भी कार्य सोच समझकर और संभल कर  करना चाहिए । आपको चाहिए कि आप  गुरुवार का व्रत करें और प्रतिदिन राम रक्षा स्त्रोत का जाप करें। सप्ताह का शुभ दिन बुधवार है।

मिथुन राशि के जातकों का साप्ताहिक राशिफल
अविवाहित जातकों के विवाह हेतु अच्छे प्रस्ताव आएंगे । भाग्य कम साथ देगा । कार्यालयों में आपके कार्य संपन्न हो जाएंगे । आप खून संबंधी रोगों से सावधान रहें । 23 और 24 तारीख को आप सावधान रहकर कार्य करें । 25 और 26 तारीख शुभ है ।आपको चाहिए कि आप इस सप्ताह मंदिर में जाकर गरीबों के बीच चावल का दान दें । सप्ताह का शुभ दिन शुक्रवार है।

कर्क राशि के जातकों का साप्ताहिक राशिफल।
अगर आप व्यापारी हैं तो यह आपके लिए बहुत ही अच्छा समय है । आपको अपने व्यापार को बढ़ाने के लिए हर तरह का प्रयास करना चाहिए । आपके स्वास्थ्य में थोड़ी खराबी आ सकती है । भाग्य इस सप्ताह  अच्छा कार्य करेगा। 21 , 22 और 27 तारीख आपके लिए शुभ और लाभप्रद है । 25 और 26 तारीख को आपको सावधान रहना चाहिए । इस सप्ताह आपको शनिवार का व्रत रखना चाहिए और शनि मंदिर में जाकर पूजा करना चाहिए । सप्ताह का शुभ दिन बुधवार है।



सिंह राशि के जातकों का साप्ताहिक राशिफल
आपके जीवन साथी को इस सप्ताह कष्ट हो सकता है । आपकी संतान की उन्नति होगी । गुप्त शत्रु बनेंगे । व्यर्थ के वाद विवाद ना करें । इस सप्ताह आपको 27 तारीख को सावधान रहना चाहिए । आपको चाहिए कि आप इस सप्ताह काले कुत्ते को रोटी खिलाएं।  सप्ताह का शुभ दिन बृहस्पतिवार है।

कन्या राशि के जातकों का साप्ताहिक राशिफल।
अगर आप जनप्रतिनिधि हैं और कोई इलेक्शन लड़ रहे हैं तो यह सप्ताह आपके लिए बहुत उत्तम है । आपके संतान को इस सप्ताह खुशी मिलेगी व्यापार में उन्नति होगी शत्रुओं से बचें । 25 और 26 तारीख आपके लिए बहुतअच्छी है । इस सप्ताह आपको चाहिए कि आप दिन घर की पहली पहली रोटी गौ माता को खिलाएं । सप्ताह का शुभ दिन शुक्रवार है।

यह भी पढ़े...क्लिक करे..


तुला राशि के जातकों का साप्ताहिक राशिफल
इस सप्ताह आपके सुख  और व्यापार में वृद्धि होगी । यह भी संभव है कि आप अपने सुख वाली कोई चीज खरीदें । अगर आप कर्मचारी या अधिकारी हैं तो आपको सतर्क रहना चाहिए । भाग्य से कोई विशेष मदद नहीं मिलेगी । इस सप्ताह आपके लिए 21 , 22 और 27 तारीख लाभप्रद है । आपको चाहिए कि आप इस सप्ताह चिड़ियों को दाना खिलाए। सप्ताह का शुभ दिन शनिवार है ।

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे

ट्वीटर  फॉलो करें

वेबसाईट

वृश्चिक राशि के जातकों का साप्ताहिक राशिफल
इस सप्ताह आपके व्यापार के कारण आपके धन में वृद्धि होगी । धन आने का उत्तम योग है। संतान से आपको अच्छा सहयोग प्राप्त होगा । कार्यालय में आपकी स्थिति अच्छी होगी । इस सप्ताह आपको 21 और 22 तारीख को सतर्क रहना चाहिए । आपको चाहिए कि आप इस सप्ताह के प्रतिदिन चींटियों को शक्कर दें । सप्ताह का शुभ दिन बृहस्पतिवार है।

धनु राशि के जातकों का साप्ताहिक राशिफल
यह सप्ताह आपके लिए उत्तम है । धन की वृद्धि होगी । भाग्य आपका साथ देगा ।शत्रु परास्त होंगे। जनता में आप की प्रसिद्धि बढ़ेगी । छोटी मोटी दुर्घटना का योग है । इस सप्ताह आपके लिए 25 और 26 तारीख शुभ और लाभप्रद है । आपको चाहिए कि आप 23 और 24 तारीख को सतर्क रहें । सप्ताह का शुभ दिन रविवार है।

मकर राशि के जातकों का साप्ताहिक राशिफल
इस सप्ताह आपके व्यापार में निरंतर वृद्धि होगी ।धन लाभ होगा । कचहरी के कार्यों में विजय मिलेगी । आपके जीवनसाथी को कष्ट हो सकता है । 21 और 22 फरवरी आपके लिए उत्तम है । 25 , 26 और 27 फरवरी को आपको सावधान रहना चाहिए । इस सप्ताह आपको चाहिए कि आप भगवान शिव का अभिषेक करें । सप्ताह का शुभ दिन बुधवार है।

कुंभ राशि के जातकों का साप्ताहिक राशिफल
आपका स्वास्थ्य इस सप्ताह नरम गरम रहेगा । न्यायालयीन प्रकरणों में लाभ हो सकता है । मामूली धन आने का योग है । शत्रु आप पर हावी रहेंगे । इस सप्ताह आपको 27 फरवरी को सतर्क रहना चाहिए। सप्ताह का शुभ दिन शनिवार है।

मीन राशि के जातकों का साप्ताहिक राशिफल
अगर आप  किसी कार्यालय में अधिकारी या कर्मचारी हैं तो यह समय आपके लिए अत्यंत उपयुक्त है । इस समय आपको धन लाभ  होगा । उच्चाधिकारियों से आपको प्रशंसा भी मिलेगी । आपके खर्चे बढ़ेंगे । कोई शुभ कार्य घर में हो सकता है या कोई बड़ी चीज आप खरीद सकते हैं । इस सप्ताह आपके लिए 25 और 26 तारीख लाभदायक है । 21 और 22 को आपको सतर्क रहना चाहिए । सप्ताह का शुभ दिन रविवार है।

वर्तमान में आंशिक कालसर्प योग चल रहा है । जिन जातियों की कुंडली में कालसर्प योग है उनको सावधान रहना चाहिए मां शारदा से प्रार्थना है कि आप सभी दर्शक सुखी सानंद और स्वस्थ रहें।
जय मां शारदा।
निवेदक:-
पण्डित अनिल कुमार पाण्डेय
सेवानिवृत्त मुख्य अभियंता
प्रश्न कुंडली विशेषज्ञ और वास्तु शास्त्री
स्टेट बैंक कॉलोनी मकरोनिया
 सागर। 470004
 मो 7566503333 /8959594400
 यूट्यूब लिंक
 https://youtu.be/cv_XAYSI3rc

शुक्रवार, 18 फ़रवरी 2022

SAGAR : सरेराह लोगो को चाकू मारने वाले और लूटने वाले तीनो बदमाश गिरफ्तार


SAGAR : सरेराह लोगो को चाकू मारने वाले और लूटने वाले तीनो बदमाश गिरफ्तार

सागर। कोतवाली थाना क्षेत्र में तीन दिन पहले सरेराह लोगो को चाकू मारकर लूटने वाले तीनो युवकों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। 
पुलिस के अनुसार  14-15.02.2022 की रात्रि गस्त के दौरान कंट्रोल रूम सागर से सूचना प्राप्त हुई की लच्छू चौराहे के
पास एक व्यक्ति को मारपीट मे चोटे होने से घायल पड़ा है। जाकर देखा तो घायल ने अपना नाम शुभम पटेल पिता राजू पटेल उम्र 23 साल निवासी चितौरा थाना सुरखी जिला सागर का होना बताया जिसके दोनों घुटनों के ऊपर चोट होने से खून बहने के कारण सीधे तिली अस्पताल सागर भर्ती किया गया फरियादी की रिपोर्ट अपराध क्रं.65/2022 धारा 341,327, 324,294,506,34 ताहि का अपराध मो.सा. पर सवार अज्ञात तीन लड़को के विरुद्ध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। बाद प्रकरण की विवेचना के दौरान फरियादी के कथन के आधार पर प्रकरण में धारा 394 ताहि का इजाफा किया गया है। उसी दिनाँक 15/02/22 को अमित जैन पिता
नवीन जैन उम्र 26 साल नि. वर्धमान कालोनी थाना मोतीनगर के पिता को रात्रि करीबन 03.45 बजे एक मोटर साईकिल से अज्ञात तीन लड़को ने फरियादी के पिता नवीन जैन से तीनों पैसे माँगने लगे नवीन जैन ने पैसा देने से मना किया तो तीनों ने जान से मारने की नियत से माँ बहिन की गंदी गंदी गालियाँ देकर आह्त के पैर व पेट में चाकू से मारपीट किया ।फरियादी की रिपोर्ट से अपराध क्र. 66/2022 धारा 307,327,294,34 ताहि. का कायम कर विवेचना में लिया गया। उक्त घटनाओं में फरार अज्ञात आरोपियों की तलाश हेतु  पुलिस अधीक्षक सागर, अति.पुलिस अधीक्षक सागर,नगर पुलिस अधीक्षक  सागर द्वारा टीम गठित की गई जिसमें टीम द्वारा। अज्ञात आरोपियों की तलास हेतु घटना स्थल के आस पास लगे कैमरो की सीसीटीव्ही फुटेज से संदेहियानों के संबंध में घटना स्थल व मुखविरो/आम जन को घटना के फुटेज दिखाये गये जो उक्त संदेही सचिन पिता संतोष तिवारी उम्र 21 साल नि. मोहन नगर वार्ड बड़ा बाजार सागर थाना मोतीनगर जिला सागर एवं मधुर साहू पिता मुन्ना लाल साहू उम्र 19 साल नि. संत कबीर वार्ड हरदौल मंदिर के पास थाना मोतीनगर
जिला सागर का एवं तीसरा व्यक्ति कार्तिक पिता सुरेश कोरी उम्र 18 साल नि. रविशंकर स्कूल के सामने गुमान बाबा रोड बुन्देला
जी के बाजू में थाना मोतीनगर जिला सागर के रूप में हुई।  उक्त आरोपियों की तलाश वैज्ञानिक रीति एवं सूक्ष्मता से गली गली
मोहल्ला किया जो उक्त आरोपी महलवार देवी मंदिर के पीछे छिपे मिले जिनसे घटना के संबंध में पूछताछ किया जिन्होने अपना जुर्म स्वीकार किया आरोपियों द्वारा घटना में प्रयुत्त चाकू एवं मो.सा.एवं लूटा गया ईयर फोन जप्त किया गया है। आरोपियों को विधिवत गिरफ्तार किया जाकर माननीयन न्यायालय पेश किया गया है।
सराहनीय भूमिकाः-निरी.सतीश सिंह थाना प्रभारी थाना कोतवाली, उनि टी.एस.धुर्वे, उनि मनोज जंघेला, प्र.आर.543 जानकीरमण मिश्रा,आर.1120 पवन ठाकुर आर.758 आशीष गौतम आर.1037 बृजेन्द्र थाना कोतवाली एवं स्पेशल टीम के प्र.आर,मुकेश,प्र.आर.अमित चौबे,आर.प्रदीप शर्मा का महत्वपूर्ण योगदान रहा है।

छोटे-छोटे कांधों पर हैं भारी-भारी बस्ते,मंद-मंद मुस्कान बिखेरें सबको करें नमस्ते"★ कवि पुष्पदंत को साहित्य-संस्कृति जगत ने दी श्रद्धांजली

छोटे-छोटे कांधों पर हैं भारी-भारी बस्ते,मंद-मंद मुस्कान बिखेरें सबको करें नमस्ते"
★ कवि पुष्पदंत को साहित्य-संस्कृति जगत ने दी श्रद्धांजली

सागर।  नगर के लोकप्रिय कवि पुष्पदंत हितकर के निधन पर सागर के साहित्य-संस्कृति जगत ने शुक्रवार को श्यामलम् संस्था द्वारा जे जे इंस्टिट्यूट सिविल लाइंस में आयोजित गरिमामय कार्यक्रम के माध्यम से श्रद्धांजली अर्पित की। कार्यक्रम की शुरुआत में श्यामलम् अध्यक्ष उमा कान्त मिश्र ने हितकर जी का जीवन परिचय देते हुए उनकी रचनाओं को पुस्तकाकर में प्रकाशित करने की बात कही।उनके अभिन्न साथी गायक कवि शिखरचंद शिखर ने उनके साथ बिताए क्षणों को अश्रुपूरित नेत्रों के साथ उल्लेखित किया। कथाकार डॉ.सुश्री शरद सिंह ने उनके बारे में बहिन स्व.डॉ.वर्षा सिंह द्वारा सागर के साहित्यकारों पर लिखी श्रंखला में पुष्पदंत के ऊपर लिखे गए लेख का वाचन करते हुए उनकी बाल-कविता "छोटे-छोटे कांधों पर हैं भारी-भारी बस्ते,मंद-मंद मुस्कान बिखेरें सबको करें नमस्ते" का उल्लेख कर आंखें नम कर दीं।
आशीष ज्योतिषी ने पुष्पदंत से पारिवारिक संबंधों को उद्धृत किया।महिला काव्य मंच अध्यक्ष डॉ.अंजना चतुर्वेदी तिवारी ने कहा कि भले ही वे विभिन्न आयोजनों में पिछली पंक्ति में बैठे रहते थे किंतु उनका आभा मंडल पूरे वातावरण को प्रभावित करता था। सहपाठी अखिलेश शर्मा ने विश्वविद्यालयीन छात्र जीवन के संस्मरण सुनाए। श्यामलम् सचिव कपिल बैसाखिया, कवि पूरनसिंह राजपूत, कवि मुकेश तिवारी,डॉ.अनिल जैन, डॉ.अशोक कुमार तिवारी, कवि डॉ.बी डी पाठक, संस्कृति कर्मी अतुल श्रीवास्तव, कवि वीरेन्द्र प्रधान, हिन्दी सेवा समिति ‌अध्यक्ष जे एल राठौर प्रभाकर, श्रीराम सेवा समिति अध्यक्ष डॉ.विनोद तिवारी,पी आर एस वेलफेयर सोसायटी अध्यक्ष प्रदीप पाण्डेय ने भी हितकर से जुड़े संस्मरण व्यक्त  करते हुए उन्हें एक सहृदयी, सौम्य,सरल और मिलनसार व्यक्ति के रूप में अभिव्यक्त करते हुए उनके निधन को सागर‌ के साहित्य जगत को अपूरणीय क्षति बताया। संचालन स्वर संगम समिति अध्यक्ष हरीसिंह ठाकुर ने किया।

कार्यक्रम में डॉ.आशीष द्विवेदी, हरी शुक्ला,संतोष पाठक,डॉ.आर आर पाण्डेय,डॉ.ऋषभ भारद्वाज ने भी हितकर को भावभीनी श्रद्धांजली दी।  
स्व. हितकर के पुत्रों पंकज व राकेश ने कृतज्ञता ज्ञापित की। कार्यक्रम के अंत‌ में दो मिनिट का मौन रखकर श्रद्धांजली अर्पित की गई।

इनरव्हील क्लब सागर द्वारा किया गया वृक्षारोपण

इनरव्हील क्लब सागर द्वारा किया गया वृक्षारोपण

सागर । वृक्ष और शिक्षक दोनों ही कल्याणकारी भूमिका निभाते हैं। विद्यालयीन शिक्षक नन्हें बच्चों को ज्ञान और संस्कार की खुशबू से महकाते हैं। उनमें रचनात्मक काम करने की नयी नयी डालियाँ आकार लेती हैं और दायित्वों का निर्वाह करने की प्राणवायु बहती है, यह सब शिक्षकों की मेहनत और लगन का फल होता है। इनरव्हील क्लब भी सेवा और कल्याण की भावना के साथ सामाजिक विकास में सहभागी भूमिका निभाता है।" ये विचार दिये इनरव्हील क्लब सागर की अध्यक्ष एनी नेहा राजपूत ने।
अंतर्राष्ट्रीय इनरव्हील क्लब सागर द्वारा रैनबो पब्लिक स्कूल सागर में वृक्षारोपण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप रोटरी क्लब सागर के पूर्व अध्यक्ष और डाॅ हरीसिंह गौर विश्वविद्यालय सागर मध्यप्रदेश के प्रोफेसर रो डाॅ दिवाकर सिंह राजपूत ने कहा कि शिक्षक और इनरव्हील सदस्य सभी एक माता की तरह व्यक्तित्व को निखारती हैं। वृक्षारोपण से प्राकृतिक पर्यावरण शुद्ध होता है और बच्चों की पढ़ाई से सामाजिक परिवेश सुसंस्कृत एवं समृद्ध होता है।
रैनबो पब्लिक स्कूल की डाॅयरेक्टर श्रीमती रश्मि जैन ने सभी को बधाईयाँ देते हुए इनरव्हील क्लब के सेवा कार्यों की सराहना की।
इस अवसर पर रोटरी क्लब के सदस्य रो सुभाष जैन, इनरव्हील क्लब की अध्यक्ष एनी नेहा राजपूत, कोषाध्यक्ष एनी सुनीता सिंह, इनरव्हील सदस्य निधि जैन, पूर्व अध्यक्ष अर्चना अग्रवाल और स्कूल परिवार से श्रीमति रश्मि जैन, चंचल मौर्या, रीता शाह, माधुरी महौर, पारुल मौर्या, शबाना बेग़म, आशिया बेग़म, सुनयना परिहार, रचना ओझा, सुश्री माधवी साहू, अदिति ठाकुर, सोनू बाल्मीकि वज़ीर खान श्रीमति पुष्पा आदि ने वृक्षारोपण कार्यक्रम में सक्रिय सहभागिता निभाई।
कार्यक्रम का संचालन प्राचार्य श्रीमती कला सिंह राजपूत ने किया। निधि जैन ने आभार व्यक्त किया ।

SAGAR : वैक्सीनेशन में लापरवाही पर तीन बीएमओ और एक जनपद सीईओ को नोटिस

SAGAR : वैक्सीनेशन में लापरवाही पर तीन बीएमओ और एक जनपद सीईओ को नोटिस

सागर।  सागर संभाग कमिष्नर श्री मुकेष शुक्ला ने वैक्सीनेषन के कार्य में लापरवाही पर तीन विकासखण्ड चिकित्सा अधिकारियों और एक जनपद सीईओ को नोटिस जारी किया है। संभागयुक्त श्री शुक्ला ने बीएमओ केसली डा. सत्यम सोनी, बीएमओ राहतगढ़ डा. राजीव रैकवार, बीएमओ जैसीनगर डा. लोकेन्द्र शाक्य और केसली जनपद सीईओ सुश्री पूजा जैन को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। इन अधिकारियों को अपना लिखित स्पष्टीकरण तीन दिन के अंदर प्रस्तुत करना होगा, अन्यथा एक पक्षीय कार्यवाही की जाएगी।

उल्लेखनीय है कि कलेक्टर सागर द्वारा इस संबंध में संभागायुक्त, सागर को अवगत कराया गया था। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से 17 फरवरी को शाम को वैक्सीनेषन की प्रगति की समीक्षा में उक्त तीनों विकासखण्ड में वैक्सीनेषन की उपलब्धियां  अत्यंत कम पाई गई।

विकासखण्ड केसली में वैक्सीनेषन का कुल लक्ष्य 3040 था। जिसके विरूद्ध प्रथम डोज के केवल 2 डोज लगाए गए एवं दूसरे डोज के शून्य एवं प्रीकॉशन डोज की शून्य उपलब्धि रही।

इसी प्रकार विकासखण्ड राहतगढ़ में वैक्सीनेषन का कुल लक्ष्य 3111 था। जिसके विरूद्ध प्रथम डोज के केवल 76 डोज लगाए गए एवं दूसरे डोज के 137 एवं प्रीकॉषन डोज की एक उपलब्धि रही।

इसी प्रकार विकासखण्ड जैसीनगर में वैक्सीनेषन का कुल लक्ष्य 3018 था। जिसके विरूद्ध प्रथम डोज के केवल 14 डोज लगाए गए एवं दूसरे डोज के 52 एवं प्रीकॉषन डोज की एक उपलब्धि रही। 

SAGAR : माध्यमिक शिक्षा मंडल की परीक्षाओं , संयुक्त कलेक्टर सपना त्रिपाठी ने किया निरीक्षण★ कुल परीक्षार्थियों 37531 में से 1341 अनुपस्थित रहे

SAGAR  : माध्यमिक शिक्षा मंडल की परीक्षाओं , संयुक्त कलेक्टर सपना त्रिपाठी ने किया निरीक्षण
★ कुल परीक्षार्थियों 37531 में से 1341 अनुपस्थित रहे


सागर 18 फरवरी 2022
माध्यमिक शिक्षा मंडल की कक्षा दसवीं की बोर्ड परीक्षा शुक्रवार से आयोजित माध्यमिक शिक्षा मंडल भोपाल की कक्षा 10वीं की बोर्ड परीक्षा का निरीक्षण किया । प्रभारी कलेक्टर श्री क्षितिज सिंघल के निर्देश पर विभिन्न प्रशासनिक अधिकारी एवं शिक्षा विभाग के अधिकारियों द्वारा माध्यमिक शिक्षा मंडल भोपाल द्वारा आयोजित कक्षा 10 वीं की परीक्षा का आज जिले के विभिन्न परीक्षा केंद्रों का निरीक्षण किया।

 संयुक्त कलेक्टर श्रीमती सपना त्रिपाठी ने उत्कृष्ट विद्यालय, लाल स्कूल एवं महारानी लक्ष्मी बाई विद्यालय क्रमांक 1 पहुंचकर मंडल द्वारा आयोजित कक्षा 10 वीं के हिंदी विषय के प्रश्न पत्र का विभिन्न कक्षों में जाकर निरीक्षण किया ।

संयुक्त कलेक्टर श्रीमती सपना त्रिपाठी ने उत्कृष्ट विद्यालय एमएलबी एवं लाल स्कूल परीक्षा केंद्र एवं जिला शिक्षा अधिकारी श्री अजब सिंह ठाकुर ने शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय हिलगन ने निर्देशित किया कि संपूर्ण परीक्षा कोविड गाइडलाइन के अनुसार आयोजित की जाए एवं मंडल के निर्देशों का अक्षरशः पालन करें।

 संयुक्त कलेक्टर श्रीमती सपना त्रिपाठी एवं जिला शिक्षा अधिकारी श्री अजब सिंह ठाकुर के निरीक्षण के दौरान केंद्र अध्यक्ष श्रीमती आशा जैन श्रीमती रंजना झा ने बताया कि, मंडल के निर्देशों का पालन करते हुए परीक्षा आयोजित की जा रही है ।
उन्होंने बताया कि मंडल द्वारा दिए गए निर्देश के अनुसार समस्त परीक्षार्थियों को परीक्षा के समय अवधि के डेढ़ घंटे पूर्व परीक्षा केंद्र पर उपस्थिति प्रदान की गई ।उन्होंने बताया कि परीक्षा प्रारंभ होने की 10 मिनट पूर्व उत्तर पुस्तिका एवं 5 मिनट पूर्व प्रश्न पत्रों का वितरण किया गया।
 जिला शिक्षा अधिकारी श्री अजब सिंह ठाकुर ने बताया कि आज जिले में 135 परीक्षा केंद्र पर कक्षा 10 वीं के हिंदी विषय का प्रश्न पत्र की परीक्षा आयोजित की गई। जिसमें कुल परीक्षार्थी 37531 में से परीक्षार्थी 36190 उपस्थित थे एवं 1341 अनुपस्थित थे

मप्र के वन विकास निगम मंडल के पूर्व अध्यक्ष शिवशंकर पटेरिया का भोपाल में निधन★ कीटनाशक दवा पीने के कारण किया गया था भर्ती

मप्र के वन विकास निगम मंडल के पूर्व अध्यक्ष शिवशंकर पटेरिया का भोपाल  में निधन
★ कीटनाशक दवा पीने के कारण किया गया था भर्ती

भोपाल। मध्य प्रदेश वन विकास निगम के पूर्व अध्यक्ष राज्य मंत्री दर्जा प्राप्त शिवशंकर पटेरिया का निधन हो गया है। शिवशंकर पटेरिया ने कीटनाशक पीकर आत्महत्या करने की कोशिश की थी। जिसके बाद से बंसल अस्पताल भोपाल में उनका इलाज चल रहा था। जहां उन्होंने शुक्रवार को अंतिम सांस ली है। श्री पटेरिया भाजपा में थे। पूर्व वित्तमंत्री राघवजी के सीडी कांड बनवाने में अहम भूमिका के चलते भाजपा से निलंबित कर दिया गया था। 

सागर जिले के मंडी बामोरा में 9 फरवरी को शिवशंकर पटेरिया ने कीटनाशक पिया था। प्राथमिक इलाज के लिए बीना ले जाया गया जहां से उन्हें सागर रेफर किया गया। जानकारी मिली है कि शिवशंकर पटेरिया का कनेक्शन मध्य प्रदेश के पूर्व वित्त मंत्री राघवजी भाई के स्केंडल कांड से जुड़ा हुआ है।
सुसाईड नोट हुआ था वायरल
वहीं उसी दौरान सोशल मीडिया पर उनका लिखा एक सुसाइड नोट वायरल हो रहा हुआ था। उसमें लिखा है कि वह सरकार से नहीं लड़ सकते। उन्हें झूठे मामले में फंसाकर सजा दिलाने के लिए शासन में बैठे लोग सक्रिय हैं। उनके इस घटना की जानकारी वॉट्सऐप मैसेज के माध्यम से वायरल हुई।
वहीं कथित सुसाइड नोट में लिखा कि मैं हनुमान प्रसाद द्विवेदी अजयगढ़ जिला पन्ना के कारण आत्महत्या कर रहा हूं, जो 16 साल मेरे साथ रहा और मेरा सबकुछ ठग कर ले गया। धारा 307 का केस सरकार ने इकतरफा बनवाया और शासन में बैठे लोग न्यायालय में भी मुझे सजा कराने के लिए प्रत्यक्ष सक्रिय है।
उसमें आगे लिखा था कि मैं शासन सरकार से नहीं लड़ सकता, इतना ताकतवार नहीं हूं। पिछले एक वर्ष से जो जीवन जी रहा हूं अब और नहीं जिया जाता। हर न्याय उल्टा हो रहा है। मामले में पुलिस और एफएसएल की टीम मौके पर जांच कर रही है। जांच के दौरान साक्ष्य जुटाए जा रहे हैं। सुसाइड नोट की जांच कराई जाएगी।

गुरुवार, 17 फ़रवरी 2022

मध्यप्रदेश कांग्रेस ने लॉच किया डिजीटल सदस्यता अभियान ★ हर बूथ पर कम से कम 100 सदस्य बनाएं: कमलनाथ★प्रदेश में 50 लाख से अधिक सदस्य बनाने का लक्ष्य: मुकुल वासनिक

मध्यप्रदेश कांग्रेस ने लॉच किया डिजीटल सदस्यता अभियान 
★ हर बूथ पर कम से कम 100 सदस्य बनाएं: कमलनाथ
★प्रदेश में 50 लाख से अधिक सदस्य बनाने का लक्ष्य: मुकुल वासनिक 

भोपाल । प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय के सभाकक्ष में आज संगठनात्मक चुनाव प्रक्रिया को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ की अध्यक्षता मंे बैठक आहूत की गई। 
अभा कांग्रेस के महासचिव प्रदेश प्रभारी मुकुल वासनिक ने कहा कि चुनाव के लिए समय बहुत कम है, कांग्रेस की सदस्यता अभियान के माध्यम से बुनियादी तौर पर संगठन को और शसक्त बनाकर पूरी ताकत के साथ 2023 और 2024 के चुनाव में हमंे पूरी शक्ति के साथ भाजपा को पराजित करना है। श्री वासनिक ने कहा कि प्रदेश में 50 लाख से अधिक कांग्रेस पार्टी के सदस्य बनाये जाने का लक्ष्य रखा गया है।  
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने अपने संबोधन में कहा कि मण्डलम के गठन की प्रक्रिया शीघ्र पूरी कर कांग्रेस सदस्यता अभियान में तेजी लायें। कांग्रेस की डिजीटल सदस्यता से प्रदेश भर मंे अच्छा संदेश जायेगा, फर्जीवाडे़ की कोई गुंजाइश नहीं होगी। भाजपा ने जो सदस्यता अभियान चलाया है, उसमंे पूरी तरह फर्जीवाड़ा किया गया है।  


कांग्रेस संगठन चुनाव के पीआरओ आर.सी. खूंटिया ने कहा कि मप्र में सबसे अच्छा संगठन है। सरकार बनाने का लक्ष्य ही हमारे दिलो-दिमाग में रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि तेलंगाना मंे डिजीटल सदस्यता अभियान में 32 लाख सदस्य बनाए गए हैं। मोदी जी और शिवराज जी ने कमलनाथ सरकार को गिराने के लिए जो समय गवाया उस दौर में कोरोना के देश-प्रदेश मंे हजारों लोगों की मौत हो गई। जिसका विपरीत असर सीधे तौर पर जनता पर पड़ा है। मप्र में कांग्रेस की सरकार बनेगी तो भारत वर्ष में एक आशा जागेगी। इसलिए सबसे पहले सदस्यता अभियान पर ध्यान देना चाहिए। 
अभा कांग्रेस से नियुक्त डिजीटल सदस्यता अभियान के प्रभारी के. राजू ने कांग्रेस की डिजीटल सदस्यता से संगठन को होने वाले फायदे और उसकी महत्ता के बारे में बताते हुए जिला शहर कांग्रेस अध्यक्षों को प्रशिक्षित किया। उन्होंने कहा कि 15 राज्यों में डिजीटल सदस्यता पर काम हो रहा है। बहुत ही आसान तरीके से डिजीटल सदस्य बना सकते हैं। इस अवसर पर तरण त्यागी और पूर्व मंत्री एनपी प्रजापति ने भी संबोधित किया। 
बैठक में, अभा कांग्रेस के सचिवगण सहप्रभारी संजय कपूर, सी.पी. मित्तल और सुधांशु त्रिपाठी, पूर्व मंत्री सज्जनसिंह वर्मा, राज्यसभा सांसद राजमणि पटेल, पी.सी. शर्मा, कार्यकारी अध्यक्ष रामनिवास रावत, सुरेन्द्र चौधरी, युवा कांग्रेस अध्यक्ष विक्रांत भूरिया, प्रदेश कांग्रेस के पदाधिकारीगण चंद्रप्रभाष शेखर, प्रकाश जैन, राजीव सिंह, सहित अन्य प्रदेश कांग्रेस पदाधिकारीगण और जिला एवं शहर कांग्रेस अध्यक्ष उपस्थित थे।

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष और प्रदेश अध्यक्ष सहित संगठन चुनावों का कार्यक्रम जारी★ 21 जुलाई से 20 अगस्त 2022 के बीच होगा प्रदेश अध्यक्ष का चुनाव★ 21 अगस्त से 20 सितंबर के बीच होगा राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव★ डॉ. रामचंद्र खूंटिया मध्यप्रदेश में कांग्रेस संगठन चुनाव के पीआरओ ने की पत्रकारों से चर्चा



कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष और प्रदेश अध्यक्ष सहित संगठन चुनावों का कार्यक्रम जारी
★ 21 जुलाई से 20 अगस्त 2022 के बीच होगा प्रदेश अध्यक्ष का चुनाव
★ 21 अगस्त से 20 सितंबर के बीच होगा राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव
★  डॉ. रामचंद्र खूंटिया मध्यप्रदेश में कांग्रेस संगठन चुनाव के पीआरओ ने की पत्रकारों से चर्चा


भोपाल 17 फरवरी 2022 ।
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष और पूरे संगठन के चुनाव का कार्यक्रम तय हो गया है। मध्य प्रदेश संगठन चुनाव के लिए प्रोविंशियल रिटर्निंग ऑफिसर पीआरओ बनाए गए डॉक्टर रामचंद्र खूंटिया ने प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए यह बात कही।
श्री खूंटिया ने बताया कि उनके साथ श्री चक्रवर्ती शर्मा, श्री तरुण त्यागी और श्री क्रांति शुक्ला को एपीआरओ बनाया गया है। श्री शुक्ला के पास ग्वालियर, चंबल और बुंदेलखंड के 25 जिलों का प्रभार होगा। श्री तरुण त्यागी के पास भोपाल, विदिशा, छिंदवाड़ा, जबलपुर सहित 22 जिलों का प्रभार है। श्री चक्रवर्ती शर्मा के पास उज्जैन, मंदसौर, इंदौर, धार, झाबुआ सहित 21 जिलों का प्रभार है। 
श्री खूंटिया ने बताया कि 31 मार्च 2022 तक सदस्यता का काम पूरा कर लिया जाएगा। 1 अप्रैल से 15 अप्रैल के बीच चुनाव में भाग लेने वाले प्रतियोगियों की सूची प्रकाशित की जाएगी। 

यह भी पढ़े..


16 अप्रैल से 31 मई के बीच अध्यक्ष और प्राथमिक समितियों की कार्यकारिणी और ब्लाक कमेटियों का चुनाव होगा। ब्लॉक कमेटी द्वारा ब्लॉक अध्यक्ष और कार्यकारणी कमेटी तथा पीसीसी के एक सदस्य का चुनाव होगा। दूसरे चरण में जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और कोषाध्यक्ष का चुनाव 1 जून से 20 जुलाई के बीच होगा, 21 जुलाई से 20 अगस्त के बीच पीसीसी जनरल बॉडी द्वारा पीसीसी अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, कोषाध्यक्ष और पीसीसी कार्यकारिणी तथा एआईसीसी सदस्यों का चुनाव होगा, 21 अगस्त से 20 सितंबर 2022 के बीच राष्ट्रीय कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव होगा।


SAGAR : अतिवृष्टि एवं ओलावृष्टि से प्रभावित 15 हजार से अधिक किसानों के खातों में 22 करोड़ से अधिक की राशि हस्तांतरित★ किसानों के हर सुख दुख में साथ खड़ी है मध्य प्रदेश सरकार : राजस्व मंत्री गोविंद राजपूत

SAGAR : अतिवृष्टि एवं ओलावृष्टि से प्रभावित  15 हजार से अधिक किसानों के खातों में 22 करोड़ से अधिक की राशि हस्तांतरित
★ किसानों के हर सुख दुख में साथ खड़ी है मध्य प्रदेश सरकार : राजस्व मंत्री गोविंद राजपूत

सागर । मध्य प्रदेश सरकार किसानों के हर सुख दुख में साथ खड़ी है।  अतिवृष्टि एवं ओलावृष्टि से हुई फसल क्षति के लिए राहत की राशि समय सीमा में दी जा रही है। यह अपने आप में एक नया इतिहास है । उक्त विचार राजस्व एवं परिवहन मंत्री श्री गोविंद सिंह राजपूत ने कलेक्ट्रेट कार्यालय के एनआईसी कक्ष में वर्चुअल कान्फ्रेंस के माध्यम से आयोजित अतिवृष्टि राहत राशि वितरण कार्यक्रम में व्यक्त किए। इस अवसर पर लाभान्वित हितग्राही श्रीमती सरोज रानी, प्रभारी कलेक्टर श्री क्षितिज सिंघल, अपर कलेक्टर अखिलेश जैन, सिटी मजिस्ट्रेट श्री शैलेंद्र सिंह, एसएलआर श्री राकेश अहिरवार सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे ।

राजस्व मंत्री श्री गोविंद सिंह राजपूत ने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार किसानों के हर संकट में मदद के लिए हमेशा तत्पर है। ओलावृष्टि एवं अतिवृष्टि से हुए नुकसान के लिए सहायता राशि दी जा रही है। यह एक नया इतिहास है क्योंकि यह राशि अत्यंत कम समय में फसलों के हुए नुकसान के सर्वे के पश्चात दी जा रही है। उन्होंने कहा कि किसान भाई किसी भी स्थिति में चिंतित न रहे। उनकी फसलों को हुए नुकसान के लिए मध्यप्रदेश सरकार हर कदम पर सहयोग करेगी ।

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें

वेबसाईट

इस अवसर पर श्रीमती सरोज रानी ने मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान से वर्चुअल कान्फ्रेंस के माध्यम से चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री एवं राजस्व मंत्री श्री राजपूत को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि आप लोग हैं ता हमें चिंता करने की कोई बात नहीं है। महिला किसान ने कहा कि शासन से हमें कपिलधारा का कुआ, राशन पर्ची, कुटीर, गैस चूल्हा सहित अन्य योजनाओं का लाभ निरंतर प्राप्त हो रहा है। शासन का धन्यवाद करती हूं।

जनवरी 2022 में आसमयिक वर्षा एवं ओलावृष्टि से प्रभावित किसानों को राहत राशि वर्चुअल कान्फ्रेंस के माध्यम से आयोजित कार्यक्रम में प्रदेश के कुल प्रभावित 1 लाख 34 हजार 19 हेक्टेयर क्षेत्र के 1 लाख 46 हजार  से अधिक किसानों को 202 करोड़ 90 लाख रुपए की राशि सिंगल क्लिक के माध्यम से प्रदान की गई ।
सागर जिले के 127 ग्रामों के प्रभावित 15 हज़ार 979 किसानों को 22 करोड़ 21 लाख 98 हजार 850 रूपये की राशि सिंगल क्लिक के माध्यम से हस्तांतरित की गईं। सागर जिले में जनवरी माह में हुई अतिवृष्टि एवं ओलावृष्टि में कुल 142 ग्राम में फसल प्रभावित हुई थी । जिसमें तहसील सागर नगर के 11, बंडा के 13, बीना के 09, शाहगढ़ के 78 एवं सागर ग्रामीण के 31 ग्राम, इस प्रकार कुल 30 हजार 557 किसान प्रभावित हुए थे ।  जिनको 36 करोड़ 73 लाख 98 हजार 213 रुपए की राशि हस्तांतरित किया जाना  है। जिनमें से गुरूवार को 127 ग्रामों के 15979 किसानों को 22 करोड़ 21 लाख 98 हजार 850 राशि हस्तांतरित की गई जो कि कुल राशि का 60 प्रतिषत है ।

सरोजरानी को मिली 7200 रुपए फसल क्षतिपूर्ति राशि


मध्यप्रदेश सरकार किसानों के लिए मददगार है। यह कहना है कि सागर जिले की ग्राम चांदवर निवासी महिला किसान श्रीमती सरोजरानी का । गुरूवार को किसान श्रीमती सरोजरानी चड़ार के खाते में सिंगल क्लिक के माध्यम से मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने 7200 रुपए फसल  क्षतिपूर्ति राशि के रूप में हस्तांतरित किए। श्रीमती सरोज ने बताया कि पिछले दिनों बेमौसम बारिश एवं अतिवृष्टि से उनकी फसल बर्बाद हो गई थी। ऐसी विपरीत परिस्थिति में मध्यप्रदेश सरकार के मुखिया श्री शिवराज सिंह चौहान ने शीघ्र फसलों का सर्वे कराया और उचित फसल क्षतिपूर्ति राशि दिलाई।

श्रीमती सरोज को मध्यप्रदेश सरकार की अनेक योजनाओं का लाभ भी मिल रहा है। जिनमें उज्ज्वला योजना, कपिलधारा योजना, खाद्यान्न पर्ची, जॉब कार्ड, शौचालय आदि योजनाएं शामिल है। श्रीमती सरोज ने बताया कि मध्यप्रदेश सरकार किसानों की समृद्धि के लिए हमेशा तत्पर रहती है।  श्रीमती सरोजरानी ने शीघ्र फसल क्षतिपूर्ति राशि हस्तांतरित करने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का आभार भी व्यक्त किया है।



SAGAR : बोर्ड परीक्षा शुरू, ADM अखिलेश जैन ने किया निरीक्षण★ कुल परीक्षार्थियों 24557 में से 452 अनुपस्थित रहे


SAGAR : बोर्ड परीक्षा शुरू, ADM अखिलेश जैन ने किया निरीक्षण
★ कुल परीक्षार्थियों 24557 में से 452 अनुपस्थित रहे


सागर । अपर कलेक्टर श्री अखिलेश जैन ने गुरुवार से आयोजित माध्यमिक शिक्षा मंडल भोपाल की कक्षा 12वीं की बोर्ड परीक्षा का निरीक्षण किया । प्रभारी कलेक्टर श्री क्षितिज सिंघल के निर्देश पर अपर कलेक्टर श्री अखिलेश जैन ने माध्यमिक शिक्षा मंडल भोपाल द्वारा आयोजित कक्षा 12वीं की परीक्षा का आज जिले के विभिन्न परीक्षा केंद्रों का निरीक्षण किया।
श्री जैन ने आज महारानी लक्ष्मीबाई उच्चतर माध्यमिक विद्यालय क्रमांक 1 में पहुंचकर मंडल द्वारा आयोजित कक्षा 12वीं के अंग्रेजी विषय के प्रश्न पत्र का विभिन्न कक्षों में जाकर निरीक्षण किया ।अपर कलेक्टर श्री जैन ने निर्देशित किया कि संपूर्ण परीक्षा कोविड गाइडलाइन के अनुसार आयोजित की जाए एवं मंडल के निर्देशों का अक्षरशः पालन करें।

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें

वेबसाईट

अपर कलेक्टर श्री जैन के निरीक्षण के दौरान केंद्र अध्यक्ष श्रीमती अनीता कुमार ने बताया कि, मंडल के निर्देशों का पालन करते हुए परीक्षा आयोजित की जा रही है ।
उन्होंने बताया कि मंडल द्वारा दिए गए निर्देश के अनुसार समस्त परीक्षार्थियों को परीक्षा के समय अवधि के डेढ़ घंटे पूर्व परीक्षा केंद्र पर उपस्थिति प्रदान की गई ।उन्होंने बताया कि परीक्षा प्रारंभ होने की 10 मिनट पूर्व उत्तर पुस्तिका एवं 5 मिनट पूर्व प्रश्न पत्रों का वितरण किया गया।
 जिला शिक्षा अधिकारी श्री अजब सिंह ठाकुर ने बताया कि आज जिले में 135 परीक्षा केंद्र पर कक्षा 12वीं के अंग्रेजी विषय के प्रश्न पत्र की परीक्षा आयोजित की गई। जिसमें कुल परीक्षार्थी 24557 में से परीक्षार्थी 24105 उपस्थित थे एवं 452 अनुपस्थित थे 

डा0 संजीव सराफ को ज्ञानोदय पुरुस्कार


डा0 संजीव सराफ को ज्ञानोदय पुरुस्कार



वाराणसी। देवी अहिल्या विश्वविद्यालय इंदौर के मान्य शोध केन्द्र कुन्दकुन्द ज्ञानपीठ के सहयोग से डाॅ0 सूरजमल बोबरा द्वारा स्थापित ज्ञानोदय पुरूस्कार की घोषणा कर दी गई है। निर्णायक मण्डल की बैठक   इंदौर विश्वविद्यालय की कुलपति  प्रो0 रेणु जैन की अध्यक्षता में संपन्न हुई। जिसमें सर्वसम्मत अनुशंसा के आधार पर वर्ष 2021 का ज्ञानोदय पुरूस्कार डा0 हरीसिंह गौर विश्वविद्यालय के पुरा छात्र और काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के वरिष्ठ डिप्टी लाइब्रेरियन डा0 संजीव सराफ को देने का निर्णय लिया गया। 

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे

ट्वीटर  फॉलो करें

वेबसाईट

डा0 संजीव सराफ द्वारा पुस्तकालयों के माध्यम से संस्कृति एवं पांडुलिपियों के डिजीटल संरक्षण हेतु सेवाओं को दृष्टिगत रखते हुए ज्ञानोदय पुरूस्कार प्रदान किया जायेगा। पुरूस्कार के तहत इक्कीस हजार रूपये की राशि, शाल एवं श्रीफल से सम्मानित किया जायेगा। पुस्तकालय जगत में डा0 संजीव सराफ को प्रतिष्ठित ज्ञानोदय पुरूस्कार की घोषणा से हर्ष की लहर है। यह पुरूस्कार वर्ष 1998 से प्रतिवर्ष भारतीय संस्कृति के संर्वद्धन मे अपना योगदान देने वाले व्यक्ति को दिया जाता है 

बुधवार, 16 फ़रवरी 2022

" महाकाल के अद्भुत प्रसंग " महाकाल की ही प्रेरणा है-आनंद कुमार शर्मा

" महाकाल के अद्भुत प्रसंग " महाकाल की ही प्रेरणा है-आनंद कुमार शर्मा


सागर
। सागर की प्रतिष्ठित संस्था "श्यामलम्" के तत्वावधान में  वरदान होटल सिविल लाइंस के सभागार में पूर्व आयुक्त सागर एवं मुख्यमंत्री के विशेष कर्त्तव्यस्थ अधिकारी आनंद कुमार शर्मा की पुस्तक "महाकाल के अद्भुत प्रसंग" पर चर्चा हुई जिसमें मुख्य अतिथि साहित्यकार डा. सुरेश आचार्य, अध्यक्षता कवयित्री डा. चंचला दवे,विशिष्ट अतिथि श्री मुकेश शुक्ला आयुक्त सागर एवं श्री आर पी अहिरवार नगर निगम आयुक्त सागर, चर्चा विश्लेषक उपन्यासकार सुश्री डा.शरद सिंह व डॉ.हरीसिंह गौर विश्वविद्यालय में संस्कृत प्राध्यापक डा. शशिकुमार सिंह मौजूद रहे ।
कार्यक्रम की शुरुआत मे मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्ज्वलन पश्चात् बुंदेली गायक शिव रतन यादव द्वारा मधुर सरस्वती गायन तथा रुद्राष्टक  प्रस्तुत किया गया। तत्पश्चात् संस्थाध्यक्ष उमा कान्त मिश्र  द्वारा कार्यक्रम का विवरण देते हुये स्वागत भाषण दिया । अतिथि स्वागत आर‌ के तिवारी, कपिल बैसाखिया, सुनीला सराफ, हरी सिंह ठाकुर,हरी शुक्ला ने किया। संतोष पाठक ने लेखक का जीवन परिचय वाचन किया। डॉ.अंजना चतुर्वेदी तिवारी ने कुशल संचालन किया और रमाकांत शास्त्री ने आभार व्यक्त किया।

★ 
यह भी पढ़े.. क्लिक करे ...'संत रविदास जयंती पर सागर आये पूर्व सीएम कमलनाथ ने कहा★मोदी- शिवराज जिस स्कूल में पढ़े हैं, वह कांग्रेस ने बनवाए★ राष्ट्रवाद की बात करने वाली भाजपा बताये उनके पास कोई स्वतंत्रता संग्राम सेनानी है क्या★ भाजपा के पास सिर्फ पुलिस और पैसा, 20 महीने बचे है बटोर ले पैसा★ पुलिस की जेब मे कमल का फूल, वर्दी का सम्मान करें पुलिस

   पुस्तक पर चर्चा करते हुये डॉ. सुश्री शरद सिंह ने कहा कि आनंद कुमार शर्मा एक समर्थ लेखक हैं। यह संस्मरण पुस्तक है, विशुद्ध साहित्यिक जिसमें उन्होंने अपने लौकिक, अलौकिक अनुभवों को पिरोया है। उनकी यह पुस्तक एक टाईममशीन की तरह है जिसे पढ़ते हुए पाठक विशेष कालखंड में जा पहुंचता है। वस्तुतः अपने कथ्य की विलक्षणता और भाषाई सादगी के कारण यह पुस्तक सभी पाठकवर्ग के लिए पठनीय है।  
  डा. शशिकुमार सिंह ने कहा कि भारत की अखंड सांस्कृतिक एकता के प्रतीक हैं भगवान् शिव। सम्पूर्ण भारत में लोक आस्था के केन्द्र के रूप में ख्यात द्वादश ज्योतिर्लिंग इसके प्रमाण हैं। उज्जयिनी में स्थित महाकाल का ज्योतिर्लिंग दक्षिण मुखी होने के कारण विशेष महत्व को प्राप्त है क्योंकि  दक्षिणमुखी अवस्था शिव की समाधि की अवस्था होती है जो अत्यधिक कृपामय होती है। आनन्द कुमार शर्मा  द्वारा लिखित पुस्तक महाकाल के अद्भुत प्रसंग   महाकाल परिसर के  प्रशासनिक अधिकारी रहते हुए लिखा गया महाकाल की चमत्कारिक कृपाशीलता का स्वानुभवसिद्ध संस्मरणात्मक आख्यान है।  

मुख्यमंत्री कार्यालय में विशेष कर्त्तव्यस्थ अधिकारी के रूप में पदस्थ एवं महाकाल एक अद्भुत प्रसंग के लेखक आनंद कुमार शर्मा ने अपने उद्बोधन में कहा कि सन् 1995 में महाकाल मंदिर में घटित दर्दनाक हादसे जिसमें 34 श्रद्धालुओं की जान चली गई थी और मंदिर की व्यवस्था से लोगों का विश्वास डिग गया था ऐसे में  मंदिर के प्रशासनिक अधिकारी का दायित्व मुझे इस उम्मीद के साथ दिया गया कि  मंदिर के व्यवस्था पर श्रद्धालुओं के विश्वास  पुनः वापस कायम हो सके । इसी क्रम में व्यवस्था सुधार के विभिन्न कार्य मेरे द्वारा कराए गए। इसी दौरान हमने ऐसा अनुभव किया कि अनेक ऐसे कार्य भी बड़े सहज रूप में पूर्ण हुए जा रहे हैं जिनको कर पाना लगभग असम्भव होता था। बिल्कुल ठीक समय पर असम्भव को सम्भव बना देने की कोई न कोई युक्ति स्वयं ही उपस्थित हो जाती थी। इस पुस्तक में उन्हीं घटनाओं का शब्द रूप में वर्णन करने का एक प्रयास है।महाकाल के अद्भुत प्रसंग महाकाल की ही प्रेरणा है।
                  कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डा.सुरेश आचार्य ने अपनी विशिष्ट वक्तव्य शैली में भगवान शिव से अपना साले - बहनोई का रिश्ता व्यक्त करते हुए कहा कि मैं तो कभी- कभी उनसे लड़ता भी हूं। एक बार मन्दिर जाते समय मैं स्कूटर से गिरते-गिरते बचा। मंदिर पहुंचकर भगवान से कहा अब नईं आहें, मरत- मरत बचे। अब तो हम जब चार चकों की गाड़ी आ जाहे तबई आहें। लेकिन जब वापस घर पहुंचा तो दरवाजे पर नई कार खड़ी दिखी। पता चला एक शुभचिंतक दे गए हैं। इस अप्रत्याशित घटना से मैं हतप्रभ हो गया और अगले ही दिन मंदिर जाकर भगवान से क्षमा मांगी। उन्होंने पुस्तक में लेखक द्वारा महाकाल में उद्धृत भगवान शिव की कृपा और आशीर्वाद को आस्था और विश्वास का प्रतीक कहा।
     कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रही डा. चंचला दवे ने कहा
शिव पीड़ित मानवता के आराध्य हैं.शिव जहाँ हमें वैचारिक निष्ठा से जोडते हैं,उसमें वसुधैव कुटुंबकम की भावना अंतर्निहित है.जीवन के संघर्षों में  मनुष्य सदैव शिव की शरण जाता रहा है.महाकाल जहाँ संहार के प्रतीक है,वहीं सृष्टि के निर्माण में भी संलग्न है.महाकाल को जब भी सच्चे ह्रदय से पुकारा,आकर सहायक बने हैं.
इस अवसर पर प्रदीप पाण्डेय ने अपने उपन्यास "पक्षद्रोह ", डा. विनीत मोहन औदिच्य ने गजल संग्रह, डॉ.मनीष‌ झा ने गीत गीता, गुंजन शुक्ला ने काव्य संग्रह की प्रतियां आनंद शर्मा जी को भेंट कीं । कार्यक्रम मे साहित्य एवं सामाजिक क्षेत्र से जुड़े नगर के प्रबुद्धवर्ग के शुकदेव प्रसाद तिवारी,जे पी पांडे,टी आर त्रिपाठी, सिटी मजिस्ट्रेट शैलेंद्र सिंह, पी आर मलैया, महिला लेखिका संघ अध्यक्ष सुनीला सराफ, आशीष ज्योतिषी, जे एल राठौर, डॉ मनीष झा, डॉ. आर आर पांडेय, डॉ. सिद्धार्थ शुक्ला, अंबर चतुर्वेदी, डॉ.नलिन जैन, मुकेश तिवारी, डॉ.ऋषभ भारद्वाज, डॉ.विनोद तिवारी, कुंदन पाराशर, दामोदर अग्निहोत्री,के एल तिवारी आदि की उपस्थिति उल्लेखनीय रही।

संत रविदासजी के विचार हमारे समाज और देश लिये आदर्श: मंत्री गोपाल भार्गव ★ संत रविदास जी ने समाजिक समरसता का संदेश दिया : मंत्री गोविंद राजपूत

 


संत रविदासजी के विचार हमारे समाज और देश लिये आदर्श: मंत्री गोपाल भार्गव
संत रविदास ने समाजिक समरसता का संदेश दिया : मंत्री गोविंद राजपूत

सागर । संत षिरोमणि रविदासजी की जयंती सागर में धूम-धाम से मनाई गई। जयंती के अवसर पर जिला मुख्यालय से लेकर ग्राम पंचायत स्तर तक विविध कार्यक्रम आयोजित किये गये और रविदासजी के विचारों तथा संदेषों को जनजन तक पहुंचाया गया। जिले
महाकवि पद्माकर आडोटोरियम में लोक निर्माण कुटीर एवं ग्रामोद्योग मंत्री श्री गोपाल भार्गव के मुख्य आतिथ्य और राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविन्द राजपूत की अध्यक्षता में सम्पन्न हुआ। विषिष्ट अतिथि के रूप में सांसद श्री राजबहादुर सिंह एवं सागर विधायक श्री शैलेन्द्र जैन की उपस्थित थे। कार्यक्रम में संत श्री पंचमदासजी कर्रापुर, श्री मुकेषदासजी, श्री मुन्नादासजी, श्री हरिदासजी सहित अन्य संतों की उपस्थिति रही।
कार्यक्रम में अतिथियों द्वारा मंच पर स्थापित किये गए संत श्री रविदास जी के मदिंर में पूजन, आरती पष्चात् संतों का शाल श्रीफल और माला से सम्मान किया गया। अतिथियों द्वारा संतों पर पुष्प वर्षा भी की गई। कार्यक्रम में प्रारंभ में गुरू रविदास भजन मण्डली के श्री बबलू अहिरवार और साथियों द्वारा सुन्दर भजनों की प्रस्तुति दी गई। जिसे सभी ने सराहा। कार्यक्रम में अनुसूचित जाति वर्ग के विभिन्न योजनाओं के हितग्राहियों को बैंक चेक प्रदाय किये गए। कार्यक्र्र्रम में भोपाल में आयोजित राज्यस्तरीय कार्यक्रम और मुख्यमंत्री श्री षिवराज सिंह चौहान के उद्बोधन का सीधा प्रसारण किया गया। जिसे लोगों ने देखा और सुना।


आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुये लोक निर्माण मंत्री श्री भार्गव ने कहा कि संत रविदासजी के विचार हमारी धरोहर हैं। उन्होंने समाज के सौहार्द और समरसता का संदेष दिया। उनके विचार हमारे समाज, देष और विष्व के लिये आदर्ष हैं। उन्होंने सामाजिक भेदभाव, कुरीतियों और असमानता के विरूद्व लोगों को जागरूक किया। वे किसी एक समाज के नही बल्कि सभी समाजों के पथप्रदर्षक थे। लोक निर्माण मंत्री ने कहा कि केन्द्र और राज्य सरकार संत रविदास के भावना के अनुरूप गरीबों को खाद्यान्न उपलब्ध करा रही है। ताकि कोई भी व्यक्ति भूखा न रहे। इसी तरह सभी के लिये पक्के आवास की व्यवस्था भी कर रही है।

कार्यक्रम में राजस्व मंत्री श्री गोविन्द राजपूत ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री षिवराज सिंह चौहान ने निर्णय लिया है कि संत श्री रविदासजी की जयंती शहर से लेकर ग्राम पंचायत तक मनाई जायेगी। इस तारतम्य में पूरे प्रदेष के कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि संत रविदासजी ने सामाजिक कुरीतियों को छोडकर समरसता का संदेष दिया। उन्होंने लोगों को भक्ति के मार्ग पर चलना सिखाया। मनुष्य अपने जन्म से या व्यवसाय बड़ा नही होता। समाज के हित में काम करने से बड़ा होता है। संत रविदासजी ने कि कहा कि मनचंगा तो कठौती में गंगा।


यह भी पढ़े.. क्लिक करे ...'संत रविदास जयंती पर सागर आये पूर्व सीएम कमलनाथ ने कहा★मोदी- शिवराज जिस स्कूल में पढ़े हैं, वह कांग्रेस ने बनवाए★ राष्ट्रवाद की बात करने वाली भाजपा बताये उनके पास कोई स्वतंत्रता संग्राम सेनानी है क्या★ भाजपा के पास सिर्फ पुलिस और पैसा, 20 महीने बचे है बटोर ले पैसा★ पुलिस की जेब मे कमल का फूल, वर्दी का सम्मान करें पुलिस


कार्यक्रम में संसाद श्री राजबहादुर सिंह ने कहा कि राज्य सरकार ने पूरे प्रदेष में रविदास जयंती मनाने ऐतिहासिक निर्णय लिया है। सभी जगह सरकारी स्तर पर कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे है। विघायक श्री शैलेन्द्र जैन ने कहा कि संत किसी एक समुदाय के नही होते हैं। वे पूरी मानवता की भलाई के लिये कार्य करते हैं। उन्होंने लोगों से संत रविदास के बताये मार्ग पर चलने की बात कहीं। कार्यक्रम के प्रारंभ में उपायुक्त जनजाति विकास श्री आर.के. श्रोत्री ने अनुसूचित जाति वर्ग के लिये शासन द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी।
हितग्राहियों को बैंक चैक वितरित
संत रविदास जयंती के अवसर पर महाकवि पद्माकर सभागार में आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि लोक निर्माण मंत्री श्री गोपाल भार्गव और राजस्व एवं परिवहन मंत्री श्री गोविन्द सिंह राजपूत, सांसद श्री राजबहादुर सिंह और विधायक श्री शैलेन्द्र जैन ने हितग्राहियों को बैंक चैक प्रदान किये। अनुसूचित जाति पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति के लिये कु. उन्नति पंथी को नर्सिंग पाठ्यक्रम के लिये 51 हजार रू. कु. शालू खटीक बीटेक पाठ्यक्रम के लिये 43 हजार 745 रू. और पवन अहिरवार बीई पाठ्यक्रम के लिये 44 हजार 200 रू., के बैंक चैक वितरित किये गए।

इस अवसर पर पूर्व मंत्री श्री नारायण प्रसाद कबीर पंथी, श्री वृन्दावन अहिरवार, जिला पंचायत उपाध्यक्ष श्रीमती तृप्ति सिंह, प्रभारी कलेक्टर श्री क्षितिज सिंघल, अपर कलेक्टर श्री अखिलेष जैन, नगर निगम आयुक्त श्री आरपी अहिरवार सहित बड़ी संख्या में नागरिक मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन श्री अरविन्द्र जैन ने किया और अभार श्री बृन्दावन अहिरवार ने व्यक्त किया।

संत रविदास जयंती पर सागर आये पूर्व सीएम कमलनाथ ने कहा★मोदी- शिवराज जिस स्कूल में पढ़े हैं, वह कांग्रेस ने बनवाए★ राष्ट्रवाद की बात करने वाली भाजपा बताये उनके पास कोई स्वतंत्रता संग्राम सेनानी है क्या★ भाजपा के पास सिर्फ पुलिस और पैसा, 20 महीने बचे है बटोर ले पैसा★ पुलिस की जेब मे कमल का फूल, वर्दी का सम्मान करें पुलिस

संत रविदास जयंती पर सागर आये पूर्व सीएम कमलनाथ ने कहा
★मोदी- शिवराज जिस स्कूल में पढ़े हैं, वह कांग्रेस ने बनवाए
★ राष्ट्रवाद की बात करने वाली भाजपा बताये उनके पास कोई स्वतंत्रता संग्राम सेनानी है क्या
★ भाजपा के पास सिर्फ पुलिस और पैसा, 20 महीने बचे है बटोर ले पैसा

★ पुलिस की जेब मे कमल का फूल, वर्दी का सम्मान करें पुलिस

★ स्मार्ट सिटी बनी माफिया सिटी

सागर । कांग्रेस अध्यक्ष और पूर्व सीएम कमलनाथ ने आज सागर में संत रविदास जयंती पर आयोजित कार्यक्रम के बहाने प्रधानमंत्री मोदी और शिवराज सिंह पर जमकर निशाना साधा। बुन्देलखण्ड अंचल के सम्भागीय मुख्यालय पर लंबे अरसे  बाद हुए काँग्रेज़ के आयोजन में अच्छी खासी भीड़ उमड़ी । 
काँग्रेस  ने 70 साल में क्या किया? भाजपा के इस सवाल के जवाव में कमलनाथ बोले कि सच्चाई सभी जानते है । मोदी जी और शिवराज सिंह जिस स्कूल में पढ़े है। वे कांग्रेस ने बनवाई थी। ।मोदी जी कहते थे कि दो करोड़ रोजगार युवाओं को रोजगार देंगे।   चार साल बाद  हम बात करते है तो मोदी  पाकिस्तान और राष्ट्रवाद की बात करते है। मोदी जी बताये क्या उनकी पार्टी में कोई स्वतंत्रता संग्राम सेनानी है क्या और हमे राष्ट्रवाद का पाठ पढ़ाते है। कलाकारी से नारे गढ़ते है मेक इन इंडिया, शायनिग इंडिया बनाते है ।



उन्होंने शिवराज सरकर की घोषणाओं पर कहा कि शिवराज के पाप का घड़ा भर गया है। घोषणाओं का घड़ा भर गया। किसी की भी घोषणा करा लो। उन्होंने कहा कि 20 महीने बचे है। पैसा बटोर लो। पुलिस का सहारा लेकर मामले दर्ज कराओ। पुलिस को चेतावनी देते हुए कहा कि पुलिस अपनी वर्दी का सम्मान करें। हमारा वक्त आ रहा है। सबको सबक सिखाएंगे। पुलिस की जेब मे कमल का फूल रखा है। शिवराज की कलाकारी से भविष्य नही बनता है।

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें

वेबसाईट
हमारी सँस्कृति लोगो को जोड़ती है

कमलनाथ ने कहा कि हमारे देश की संस्कृति पूरे विश्व में अनोखी है। हम दिल समाज और धर्म को जोड़ते हैं, लेकिन भाजपा देश में हमारी संस्कृति को छिन्न-भिन्न करने में लगी है लोगों को लोगों से लड़वा रही है। उन्होंने कहा कि सागर स्मार्ट सिटी नहीं, माफिया सिटी बन गई है। सागर ही नहीं, बल्कि पूरी मध्य प्रदेश की सरकार माफिया बनी बैठी है। आज यहां रेत, शराब, भूमि माफिया जैसे कई माफिया बैठे हुए हैं। जब हमारी सरकार आई थी तब शिवराज सिंह ने मुझे कैसा मध्यप्रदेश सौंपा था यह मैं बता रहा हूं। तब मध्य प्रदेश भ्रष्टाचार, लूट, हत्या, किसानों की आत्महत्या, बेरोजगारी में नंबर वन था। मैंने क्या गुनाह किया था शुद्ध के लिए युद्ध माफियाओं पर कार्रवाई करके। कमल नाथ ने कहा कि आज नौजवान अपने भविष्य के लिए तड़प रहा है। उसके सामने कई चुनौतियां हैं। हमारे मध्य प्रदेश का युवा काम चाहता है क्योंकि यह मध्य प्रदेश का भविष्य है, लेकिन सरकार बेरोजगारों को रोजगार देने के बदले छीन रही है।



मोदी - शिवराज जिस स्कूल में पढ़े हैं, वह कांग्रेस ने बनवाए

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि भाजपा सरकार मोदी सरकार कहती है कि 70 साल में कांग्रेस ने क्या किया। मैं कहता हूं कि मोदी जी, शिवराज जी, आप जिस स्कूल में पढ़े हैं, वह कांग्रेस ने बनवाया है। कमल नाथ ने कहा कि शिवराज सिंह घोषणा वीर है उनसे जो चाहे घोषणा करवा लो। उनके पाप और घोषणाओं का घडा आ अब भर गया है।

मोदी शाइनिंग इंडिया की बात करते हैं,



बेरोजगारी पर चुप रहते हैं
y
प्रधानमंत्री मोदी और शिवराज महंगाई और बेरोजगारी पर जवाब नहीं दे पा रहे हैं और राष्ट्र के लोगों को राष्ट्रवाद समझा रहे हैं। यदि उनसे कोई पूछे तो वह शाइनिंग इंडिया, पाकिस्तान या फिर राष्ट्रवाद की बात करने लगते हैं। बेरोजगारी पर वह कोई बात नहीं करते। शिवराज हमेशा कहते हैं कि वह किसान के बेटे हैं, बच्चियों के मामा हैं, लेकिन किसानों के लिए जरूरत के समय खाद-बीज नहीं मिलता और आज मध्य प्रदेश में महिलाएं ही सुरक्षित नहीं है।

भाजपा के पास सिर्फ पुलिस और पैसा, 20 महीने बचे है बटोर ले

पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा कि भाजपा के पास सिर्फ पुलिस और पैसा है। भाजपा 20 महीनों में जितना हो सके बटोरने में लगी है और उसका विरोध करने वालों के खिलाफ पुलिस को आगे करके कार्रवाई करती है। खुरई में हुई घटना के दौरान भी भाजपा नेताओं ने निर्दोष कांग्रेसियों पर झूठे प्रकरण दर्ज कराएं। सागर और समूचे मध्य प्रदेश की पुलिस से मैं कहना चाहता हूं कि वह अपनी वर्दी की इज्जत करें। आपने जनसेवा की शपथ ली है, लेकिन आज पुलिस की वर्दी तो है लेकिन जेब में भाजपा का फूल रखे है। मैं खुरई के लोगों को भी साफ कह देता हूं की आपके पीछे कांग्रेस है और कमलनाथ है। हमारा समय भी आएगा तो यह नहीं चलेगा।

डॉक्टर गौर को दें भारत रत्न




पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि यह डाक्‍टर हरीसिंह गौर की नगरी है। उन्होंने अपने जीवनभर की कमाई शिक्षा के क्षेत्र में खर्च कर दी। आज सागर विश्वविद्यालय में पड़े हुए लोग देश के विभिन्न पदों पर हैं। उन्‍होंने भारत रत्न डॉक्टर भीमराव आंबेडकर के साथ संविधान बनाने में कार्य किया है। वह सागर के लोगों के दिल में बसते हैं। इसलिए हम सभी की मांग है की डाक्‍टर गौर को भारत रत्न दिया जाए।

संत रविदास जयंती पर आयोजित सभा को,पूर्व विधानसभा अध्यक्ष पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा , हर्ष यादव विधायक तरवर लोधी ,,दमोह के अजय टण्डन, पूर्व सांसद आनंद अहिरवार ,सुरेंद्र चौधरी, स्वदेश जैन, श्रीमती रेखा चौधरी युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष विक्रांत भूरिया सहित अन्य लोगों ने भी संबोधित किया।

ये रहे मौजूद

कार्यक्रम में पूर्व विधायक सुनील जैन, श्यामलाल ,प्रभुसिंह ठाकुर, पारुल साहू, नारायण प्रजापति, , अमितदुबे राम जी, सुरेंद्र चौबे, राजकुमार पचौरी, सिंटू कटारे, रामकुमार पचौरी, मुकुल पुरोहित, अखिलेश केशरवानी, संदीप सबलोक, त्रिलोकी कटारे, मुन्ना चौबे, राहुल चौबे, सुरेंद्र सुहाने, शेलेन्द्र तोमर, अवधेश तोमर ,आनंद तोमर, ओंकार साहू, महीश जाटव, प्रमिला राजपूत, सहित अनेक कांग्रेसजन मौजूद थे। 

मंगलवार, 15 फ़रवरी 2022

हाईकोर्ट ने अनुसूचित जाति/जनजाति अधिनियम के तहत नियमित लोक अभियोजकों को विशेष लोक अभियोजक के रूप में नियुक्‍त करने के राज्‍य सरकार के निर्णय को बरकरार रखा

हाईकोर्ट ने अनुसूचित जाति/जनजाति अधिनियम के तहत नियमित लोक अभियोजकों को विशेष लोक अभियोजक के रूप में नियुक्‍त करने के राज्‍य सरकार के निर्णय को बरकरार रखा 

भोपाल।  म.प्र. हाईकोर्ट ने अनुसूचित जाति/जनजाति अधिनियम के तहत नियमित लोक अभियोजकों को विशेष लोक अभियोजक के रूप में नियुक्‍त करने के राज्‍य सरकार के निर्णय को बरकरार रखा  है।
18 जनवरी 2022 को म.प्र. शासन विधि एवं विधायी कार्य विभाग भोपाल द्वारा आदेश किया गया कि अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (अत्‍याचार निवारण अधिनियम) 1989 के अधीन प्रदत्‍त शक्तियों को प्रयोग में लाते हुए इस अधिनियम की धारा 15 के तहत नियमित उपसंचालक, जिला लोक अभियोजन अधिकारी/ अतिरिक्‍त जिला लोक अभियोजन अधिकारी एवं समस्‍त सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी जिनकी सेवा अवधि 7 वर्ष हो गई है को विशेष लोक अभियोजक नियुक्‍त किया गया था। उपरोक्‍त विशेष लोक अभियोजक को अनुसूचित जाति/जनजाति की विशेष न्‍यायालय में पैरवी के लिए आदेशित किया गया था।


म.प्र. सरकार के उक्‍त आदेश के विरूद्ध एक रिट याचिका द्वारा एस.पी.पी. विशेष लोक अभियोजक जो पहले से विशेष न्‍यायालय में राज्‍य सरकार की ओर से पैरवी कर रहे थे, के द्वारा राज्‍य सरकार के उक्‍त आदेश को चुनौती म.प्र. हाई कोर्ट में दी गई थी जिनकी याचिका को माननीय म.प्र. हाईकोर्ट द्वारा खारिज कर म.प्र. शासन के आदेश को बरकरार रखने का आदेश पारित किया है।

चुनाव नजदीक आते ही कमलनाथ और कांग्रेस को याद आने लगे रविदास जी० भाजपा नेताओं ने कांग्रेस की मानसिकता को बताया दोगलापन

चुनाव नजदीक आते ही कमलनाथ और कांग्रेस को याद आने लगे रविदास जी
० भाजपा नेताओं ने कांग्रेस की मानसिकता को बताया दोगलापन


सागर । प्रदेश में कांग्रेस सरकार रहते कमलनाथ ने अनुसूचित जाति वर्ग का न केवल अपमान किया बल्कि समाज के संतों को भी खुले मंच से अपमानित किया। कांग्रेस सरकार ने इस वर्ग के लिए चलाई जा रही तमाम योजनाओं को बंद कर दिया। अब चुनाव नजदीक आ रहे हैं तो कमलनाथ और कांग्रेसजन सागर में रविदास जयंती मनाने आ रहे हैं। यह सारे प्रयास कांग्रेस की दोगली मानसिकता को उजागर कर रहे हैं। 
भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा के पदाधिकारियों और अन्य वरिष्ठ भाजपा नेताओं ने मंगलवार को मकरोनिया में यह बात पत्रकारों से चर्चा में कही। पत्रकार वार्ता में वरिष्ठ भाजपा नेता संतोष रोहित, जिला महामंत्री वृंदावन अहिरवार, एड.नरेंद्र अहिरवार, जिला अध्यक्ष इंदू चौधरी, पूर्व पार्षद चेतराम अहिरवार आदि मौजूद थे।



 संतोष रोहित ने कहा कि यह बड़ा सवाल है कि संत रविदास कुंभ में संतों का अपमान करने वाले कमलनाथ सागर आ रहे हैं। जब वे 15 माह तक कांग्रेस सरकार के मुखिया थे तो उन्होंने अजा वर्ग के लिए कुछ नहीं किया। जहां भाजपा ने संत रविदास के नाम पर कई योजनाओं की शुरुआत के साथ जनहित के लिए कल्याणकारी भवनों का निर्माण कराया तो कमलनाथ सरकार रविदास के नाम पर कोई योजना भी शुरू नहीं कर सकी। उल्टे जिन्हें भाजपा सरकार ने शुरू किया था, उन्हें भी बंद करा दिया। श्री रोहित ने कहा कि भाजपा ने बाबा साहब और संत रविदास की विचारधारा को अपनाया है और ऐसा किसी राजनीतिक दल ने नहीं किया। ऐसे में यह साफ है कि चुनाव को देखते हुए यह कांग्रेस का ढकोसला है और पार्टी अजा वर्ग को गुमराह और बरगलाने की कोशिश कर रही है। भाजपा ने बाबा साहब और रविदास के नाम पर कई सौगातें जनता को दी है। चाहे वह उज्जैन में अध्ययन पीठ की स्थापना हो या फिर गरीबों के लिए सामूहिक आयोजन के लिए मंगल भवन का निर्माण हो या फिर संसद के केंद्रीय कक्ष में बाबा साहब के चित्र के अनावरण की पहल। इसी तरह अंबेडकर पंचतीर्थ निर्माण और विकास, महू में अंबेडकर विवि स्थापित किया गया है। वृंदावन अहिरवार ने कहा कि कांग्रेस समाज के विभाजन की बात करती है तो भाजपा सामाजिक समरसता को बढ़ाती है। खुरई मामले में असलियत सामने है जहां कांग्रेस नेताओं ने भाजपा के अनुसूचित जाति वर्ग के पार्षदों पर जानलेवा हमला किया। अब कमलनाथ सागर में संत रविदास जयंती मनाने आ रहे हैं और दिखावा कर रहे हैं कि वे इस वर्ग के हितैषी हैं। भाजपा नेत्री इंदू चौधरी ने कहा कि कांग्रेस का दलित विरोधी चेहरा उजागर हो चुका है।

डाॅ.लक्ष्मी पाण्डेय साहित्य सरस्वती सम्मान से विभूषित

डाॅ.लक्ष्मी पाण्डेय साहित्य सरस्वती सम्मान से विभूषित

सागर . सरस्वती पुस्तकालय एवं वाचनालय ट्रस्ट द्वारा मंगलवार को संस्था के स्थापना दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित समारोह में साहित्यकार डाॅ. लक्ष्मी पाण्डेय को साहित्य सरस्वती सम्मान से विभूशित किया गया। सम्मान में एक लाख रूपये, षाल श्रीफल और प्रषस्ति पत्र प्रदान किया गया। समारोह के मुख्य अतिथि सागर के विधायक षैलेन्द्र जैन और विषिश्ठ अतिथि पूर्व सांसद लक्ष्मीनारायण यादव थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता समाजवादी चिंतक रघु ठाकुर ने की। समारोह की षुरूआत मंे अतिथियों ने मां सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया इसके बाद सरस्वती वंदना की गयी। संस्था के सचिव षुकदेव प्रसाद तिवारी ने वाचनालय के इतिहास के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी। संस्था के अध्यक्ष के.के. सिलाकारी ने पप्रषस्ति पत्र का वाचन किया। साहित्कार षरद सिंह ने डाॅ.लक्ष्मी पाण्डेय के जीवन परिचय पर विस्तार पूर्वक जानकारी दी। मुख्य अतिथि षैलेन्द्र जैन ने अपने संबोधन मंे सरस्वती वाचनालय ट्रस्ट के सदस्यों को बधाई दी जिन्होंने साहित्य के क्षेत्र में एक बडे़ सम्मान समारोह की षुरूआत की उन्होंने उपस्थित जन समूह से आह्वान किया की वे सागर में साहित्य जगत की गतिविधियों का बढ़ावा देने के लिए हर संभव सहयोग करें। 



पूर्व सांसद लक्ष्मीनारायण यादव ने अपने संबोधन में कहा कि में लम्बे समय से इस वाचनालय में समाचार पत्रों के एक पाठक के रूप में जुड़ा रहा हूं इस संस्था ने ईमानदारी पूर्वक कार्य करते हुए षहर के लोगों को अपना ज्ञान बढ़ाने में सहयोग किया है उन्होंने स्वर्गीय राधेलाल माहेष्वरी का स्मरण करते हुए कहां कि उन्होंने इस संस्था को मजबूती से खड़ा करने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए समाजवादी चिन्तक रघुठाकुर ने कहां कि समाज में पुस्तकालयों का महत्व बढ़ाया जाना चाहिए पुस्तकालय का ज्ञान प्रमाणिक है जो इतिहास की मजबूती पर आधारित है। वर्तममान दौर में मोबाइल पर आधारित ज्ञान प्रमाणिक नहीं है। देष को मजबूत बनाने के लिए भारतीय संस्कृति को मजबूत बनाना जरूरी है। वर्तमान षिक्षण व्यवस्था में समानता नहीं है।
व्यवस्था में बदलाब कर षिक्षा में समता लायी जाए तो सरस्वती, लक्ष्मी, दुर्बा भी मजबूत होगी। साहित्य सरस्वती सम्मान से सम्मानित डाॅ. लक्ष्मी पाण्डेय ने समाज में स्त्रियों को समानता का दर्जा दिलाने पर जोर दिया उन्होंने कहां कि महिलाओं को अभी भी पुरूशों की तुलना में कमजोर समझा जाता है। वाचनालय ट्रस्ट द्वारा सम्मानित किये जाने पर उन्होंने ट्रस्ट का आभार व्यक्त किया, उन्होंने कहां कि 30 वर्श पहले मै सागर आयी थी किन्तु यहां के लोगों ने मुझे इतना स्नेह दिया कि में स्वयं को कभी अकेला महसूस नहीं कर पायी। 30 वर्शो में 39 पुस्तकों की रचना मैने की जिससे मुझे राश्ट्रीय व अन्तर्राश्ट्रीय स्तर पर पहचान मिली। कार्यक्रम का संचालन संस्था के सचिव षुकदेव प्रसाद तिवारी ने किया और आभार प्रदर्षन संस्था के अध्यक्ष के.के. सिलाकारी ने माना । 



समारोह में प्रमुख रूप से षरद सिंह, चंचला दवे, कविता षुक्ला, उमाकांत मिश्रा, गजाघर सागर, अषोक तिवारी, विनोद तिवारी,ऋशभ समैया, आर.के. तिवारी सहित बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे। उल्लेखनीय है कि साहित्य सरस्वती पत्रिका के आठ वर्श पूर्ण हो चुके है इस दौरान 32 अंक निकाले गये। इस पत्रिका के प्रकाषन की निरंतरता बनी हुई है। कोरोना काल में भी पत्रिका का कोई भी अंक अप्रकाषित नहीं रहा

संत रविदास जयंती समारोह 16 फरवरी को, मुख्य अतिथि लोक निर्माण मंत्री गोपाल भार्गव होंगे


संत रविदास जयंती समारोह 16 फरवरी को, मुख्य अतिथि लोक निर्माण मंत्री गोपाल भार्गव होंगे

सागर । लोक निर्माण, कुटीर एवं ग्रामोद्योग मंत्री श्री गोपाल भार्गव सागर में आयोजित संत रविदास जयंती समारोह के मुख्य अतिथि होंगे। कार्यक्रम का आयोजन 16 फरवरी को प्रातः 11 बजे से मोतीनगर चौराहा स्थित महाकवि पदमाकर सभागार में होगा। राज्य स्तरीय कार्यक्रम का सीधा प्रसारण दोपहर 12 बजे से वेबकास्ट के माध्यम से किया जाएगा। उक्त समारोह में माननीय अनुयायी संतो के सानिध्य में होगा। कार्यक्रम की अध्यक्षता नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह और राजस्व एवं परिवहन मंत्री श्री गोविन्द सिंह राजपूत करेंगे। विषिष्ट अतिथि के रूप में सांसद श्री राजबहादुर सिंह, सागर विधायक श्री शैलेन्द्र सिंह, नरयावली विधायक श्री प्रदीप लारिया, बीना विधायक श्री महेष राय, देवरी विधायक श्री हर्ष यादव, बण्डा विधायक श्री तरवर सिंह लोधी, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती दिव्या अषोक सिंह शामिल होंगे

संत रविदास जयंती पर पूर्व सीएम कमलनाथ सागर में ★ कजलीवन मैदान में सुबह 11 बजे विशाल आमसभा को संबोधित करेंग★ कांग्रेस जनो ने किया जनसंपर्क


संत रविदास जयंती पर पूर्व सीएम कमलनाथ सागर में 
★ कजलीवन मैदान में सुबह 11 बजे विशाल आमसभा को संबोधित करेंग
★ कांग्रेस जनो ने किया जनसंपर्क
सागर । संत शिरोमणि गुरु रविदास जी महाराज की जयंती पर  प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ जी बुधवार 16 फरवरी की सुबह 11 बजे सदर स्थित कजलीवन मैदान में सामाजिक समरसता के संदेश के साथ विशाल आमसभा को संबोधित करेंगे। कार्यक्रम में मध्यप्रदेश युवा कांग्रेस के अध्यक्ष डॉ विक्रांत भूरिया भी विशेष रूप से उपस्थित रहेंगे। इस दौरान श्री कमलनाथ जी जिले भर की हजारों जनता के बीच संत शिरोमणि की पूजा अर्चना व संतों का सम्मान करेंगे।
जिला कांग्रेस अध्यक्ष द्वय स्वदेश जैन गुड्डू व रेखा चौधरी द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष सुरेंद्र चौधरी पूर्व सांसद आनंद अहिरवार पीसीसी प्रभारी व विधायक अजय टंडन विधायक हर्ष यादव व तरवर सिंह लोधी के साथ ही पूर्व विधायक -सांसद व प्रदेश कांग्रेस के सभी स्थानीय पदाधिकारी विशेष रूप से उपस्थित रहेंगे।
कांग्रेसजनों ने किया जनसम्पर्क

कांग्रेस जनों ने काकागंज वार्ड,सूबेदार वार्ड और पुरव्याऊ वार्ड पर घर-घर पहुंचकर आमंत्रण पत्र और पीले चावल देकर लोगो को कजलीवन मैदान पर आमंत्रित किया।
इस अवसर पर प्रदेश उपाध्यक्ष अमित दुबे रामजी ने कहा कि संत रविदास ना सिर्फ आध्यात्मिक बल्कि सर्व समाज के और सर्व धर्म के गुरू थे,साथ ही समाज सेवा समाज सुधारक कवि एवं लेखक भी थे उनकी 645 वीं जन्म जयंती पर पूर्व मुख्यमंत्री आदरणीय कमलनाथ जी सर्वहारा वर्ग के हितों की लडाई का शंखनाद करेगे। जिला ग्रामीण कार्यकारी अध्यक्ष अखलेश केसरवानी ने कहा कि संत रविदास जी के विचारों, सिद्धान्तों को सदैव स्वयं में जीवित रखने के लिए और उनके जन्म दिवस को उत्सव के रूप में मनाने हेतू ही कमलनाथ जी सागर पधार रहे है।
जिला शहर कांग्रेस सेवादल अध्यक्ष सिंटू कटारे ने जन-सामान्य को आमंत्रित करते हुये कहा कि संत रविदास जयंती के पुनीत उत्सव पर कमलनाथ जी का सागर आगमन बडे ही गर्व और हम कांग्रेस जनों के लिये हर्ष का विषय है। इस अवसर पर प्रदीप गुप्ता,नितिन पचौरी,द्वारका चौधरी,बंटी कोरी,अनिल अहिरवार,महेश अहिरवार,मिथुन घारू,शरद मछंदर,नरेन्द्र घारू,आशीष,सौरभ वाल्मीकि, अंकित सनकत,अरविंद अहिरवार,जीवन अहिरवार,महेश अहिरवार,आर्यन दुबे,अवध दुबे,अंकुर यादव आदि उपस्थित रहे।


आकाशवाणी सागर ने रेडियो किसान दिवस मनाया , विशेषज्ञों ने दी किसानों को उपयोगी जानकारी

आकाशवाणी सागर ने रेडियो किसान दिवस मनाया , विशेषज्ञों ने दी किसानों को उपयोगी जानकारी

सागर । आकाशवाणी केंद्र सागर द्वारा 15 फरवरी 2022 मंगलवार को रेडियो किसान दिवस के अवसर पर ग्राम बमोरी ढूंडर में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया । कार्यक्रम में उपस्थित कृषि वैज्ञानिकों, पशु चिकित्सा एवं अन्य विशेषज्ञों ने किसानों को मौके पर कृषि पशुपालन और कृषि बीमा संबंधी उपयोगी जानकारी दी । इस अवसर पर आकाशवाणी केंद्र सागर के कार्यक्रम प्रमुख श्री दीपक कुमार निषाद ने अपने स्वागत वक्तव्य में रेडियो किसान दिवस का महत्व बताते हुए कृषि कार्यों को सफलता से करने हेतु किसानों के जीवन में रेडियो की उपयोगिता बताई और कृषि की लागत कम व आमदनी अथिक करने हेतु विज्ञान आधारित खेती करने की सलाह दी । उन्होंने कार्यक्रम में पधारे सभी किसानों व कृषि विशेषज्ञों का आत्मीय स्वागत किया । कार्यक्रम में कृषि विज्ञान केंद्र क्रमांक दो के प्रमुख वैज्ञानिक डॉ. आशीष त्रिपाठी ने किसानों को समसामयिक कृषि की जानकारी देते हुए कृषि को लाभ का धंधा बनाने हेतु अनेकानेक सुझाव दिए । 
पशु चिकित्सा विशेषज्ञ डॉ. बी.के. शर्मा ने पशुपालन के कार्यों को उन्नत बनाने हेतु पशु नस्ल सुधार, पशुओं की चिकित्सा, उनके खान-पान, दुग्ध उत्पादन में वृद्धि एवं गोमूत्र और गोबर के कृषि कार्य में भरपूर उपयोग संबंधी अनेक महत्वपूर्ण जानकारियां दीं । उद्बोधनों के क्रम में अग्रणी विकास बैंक से पधारे श्री जितेंद्र जी ने प्रधानमंत्री फसल बीमा के बारे में सविस्तार बताया । इस अवसर पर विशेष रूप से उपस्थित उप संचालक कृषि सागर श्री बीएल मालवीय ने कहा कि किसान स्वयं के बजट के अनुसार एवं बाज़ार की मांग को  ध्यान में रखकर खेती करें और सारे कामों का लेखा-जोखा रखें ।

कार्यक्रम में उपस्थित कुछ किसानों ने इस अवसर पर अपने अनुभव साझा किए तो प्रश्नोत्तरी सत्र के दौरान अनेक किसानों ने मौके पर उपस्थित विशेषज्ञों से विविध प्रश्न पूछकर अपनी जिज्ञासाओं का समाधान किया । कार्यक्रम के अंत में ग्राम बमोरी ढूंढर के सरपंच श्री भूपेंद्र कुमार नायक ने सभी के प्रति आभार व्यक्त किया । कार्यक्रम का संचालन सतीश साहू एवं सुनील राय ने किया । इस अवसर पर गुड्डू चौबे एवं परेश जैन का विशेष सहयोग रहा । कार्यक्रम के दौरान किसानों द्वारा लाए गए प्याज के रोगग्रस्त पौधों के बारे में भी विशेषज्ञों ने जानकारी दी साथ ही पशु चिकित्सा विशेषज्ञ द्वारा पशु चिकित्सा संबंधी दवाओं का वितरण व मौके पर ही किसानों के पशुओं का इलाज भी किया गया । कार्यक्रम में रवि जायसवाल, संदीप दुबे, हल्लन भाई धुरा, तरुण मौर्य, लखन लाल पटेल, अरविंद सिंह, धनप्रसाद पटेल, मेहताब सिंह राजपूत सहित बड़ी संख्या में क्षेत्र के किसान उपस्थित रहे ।

Archive

Adsense