शनिवार, 14 मार्च 2020

गुलाब बाबा मंदिर में हुई बरसाने की लठ्ठमार होली

गुलाब बाबा मंदिर में हुई बरसाने की लठ्ठमार होली 
सागर। बुन्देलखण्ड  के अति भव्य एवं बडे़ मंदिरों में से एक श्री गुलाब बाबा मंदिर, सागर में पंचमी के दिन विशाल सांस्कृतिक आयोजन के तहत फूलों की होली बरसाने की लठ्ठमार होली बुंदेली फागों के साथ गायक विजय ठाकुर पड़रिया, जयंत विश्वकर्मा, दिनेश तंतवाय, मनोज-महेश चैबे ने लगभग 4 घंटे अपने भजनों से भक्त समूह को खूब नचाया ।
श्री गुलाब बाबा मंदिर ट्रस्ट सागर के सचिव श्याम सोनी ने बताया कि पूर्ण पारम्परिक, धार्मिक आयोजन में सिर्फ प्राकृतिक रंगों, ब्रज की रज, (गुलाल) एवं फूलों का उपयोग किया गया । अपार महिला पुरूष भक्तों ने अपनी पारम्परिक वेशभूषा में खूब थिरके । भगवान श्री राधाकृष्ण के स्वरूप के साथ ही मंदिर के भक्त दंपतियों की विशाल लठ्ठमार होली अपने आप में अद्वितीय थी । स्पेशल तौर पर मथुरा से ढाल एवं लठ्ठ बुलाये गये थे, जिसका प्रशिक्षण लकी सराफ ने देकर सागर में इस नई परम्परा को शुरू किया ।
फूलों की होली एवं पंचमी महोत्सव में शामिल होने श्री गुलाब बाबा चेरिटेबिल ट्रस्ट मंुबई की श्रीमति ज्योति जिमी अल्मेडा (ताईजी) विशेष रूप से आज शामिल हुई दोपहर से संध्या तक चले इस आयोजन का भक्तों के साथ नगर के निवासियों ने आनंद लिया । आयोजन में अध्यक्ष डाॅ. भरत आनंद वाखले, डाॅ. हरिशंकर साहू, शिवकुमार ताम्रकार, डाॅ. रजनीश विश्वकर्मा, सुधीर पलया एवं मंदिर व्यवस्थापक सतीश विश्वकर्मा का सहयोग रहा ।  

MP:भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों की पद-स्थापना

MP:भारतीय प्रशासनिक सेवा  के अधिकारियों की पद-स्थापना
भोपाल ।राज्य शासन द्वारा भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों की नवीन पद-स्थापना की गई है।
श्रीमती दीपाली रस्तोगी प्रमुख सचिव अब विशेष कर्त्तव्यस्थ अधिकारी-सह-आयुक्त आदिवासी विकास के प्रभार से मुक्त होंगी। श्री एम. कालीदुरई (भारतीय वन सेवा) आयुक्त-सह-संचालक उद्यानिकी एवं खाद्य प्र-संस्करण को वर्तमान कर्त्तव्यों के साथ-साथ प्रबंध संचालक कृषि उद्योग विकास निगम का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है। श्रीमती छवि भारद्वाज द्वारा अपर आयुक्त आदिवासी विकास का कार्यभार ग्रहण करने पर श्री अभिषेक सिंह अपर आयुक्त आदिवासी विकास के प्रभार से मुक्त होंगे। श्री नंदकुमारम प्रबंध संचालक मध्यप्रदेश राज्य इलेक्ट्रानिक्स विकास निगम को वर्तमान कर्त्तव्यों के साथ संचालक प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड का प्रभार अतिरिक्त रूप से सौंपा गया है। श्री अविनाश लवानिया संचालक खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण को वर्तमान कर्त्तव्यों के साथ प्रबंध संचालक मध्यप्रदेश राज्य भण्डार गृह निगम का प्रभार अतिरिक्त रूप से दिया गया है। श्री लवानिया द्वारा प्रबंध संचालक मध्यप्रदेश राज्य भण्डार गृह निगम का कार्यभार ग्रहण करने श्रीमती सुफिया फारूकी वली प्रबंध संचालक मध्यप्रदेश राज्य भण्डार गृह निगम के अतिरिक्त प्रभार से मुक्त होंगी

कोरोना वायरस: 31 मार्च तक सभी आंगनवाड़ी केंद्र बन्द

कोरोना वायरस: 31 मार्च तक सभी आंगनवाड़ी केंद्र बन्द

भोपाल। कोरोना वायरस की सतर्कता के चलते मध्य प्रदेश के सभी आंगनवाड़ी केंद्र 31 मार्च तक  बन्द रहेंगे। राज्यशासन ने आदेश जारी कर दिए है। 

सरकार से बर्खास्त मंत्री पर ट्वीटर अकाउंट पर बरकरार,यही हाल फेसबुक का भी

सरकार से बर्खास्त मंत्री पर ट्वीटर अकाउंट पर बरकरार,यही हाल फेसबुक का भी

#सिंधिया समर्थक मंत्रियो में सिर्फ इमरती देवी 
ट्वीटर रहा संचालित,गोविन्द राजपूत ने रँगपंचमी की बधाई पोस्ट की बिना पद के 

सागर। एमपी में चल रहे सियासी ड्रामे के सोशल मीडिया मे जमकर पोस्टिंग हो रही है । ट इसी बीच कल कमलनाथ सरकार के छह मंत्रियो प्रधुम्न सिंह तोमर,गोविन्द राजपूत,इमरती देवी,महेंद्र सिंह सिसोदिया और प्रभुराम चोधरी को बर्खास्त कर दिया गया। इनके मंत्रालयका प्रभार  दूसरे मंत्रियो को दिया जा चुका है । पर इनके निजी और अधिकृत ट्वीटर एकाऊंट पर मंत्री पद बरकरार है ।यही हाल फेसबुक पेज का है । हालांकि पिछले कुछ दिनों से इन  मंत्रियो के ट्वीटर पर लिखापढ़ी बन्द ही रही। सिर्फ इमरती देवी को छोड़कर।
 
नही हुए एकाउंट अपडेट सोशल मीडिया के 

सिंधिया समर्थक मंत्री जिस दिन बेंगलुरु गए उसके बाद से अपडेट कम ही हुए। मंत्रियो ने माधवराव सिंधिया को श्रद्धांजलि जरूर दी। अभी इनके ट्वेटर पर राहुल गांधी से लेकर सोनिया,मनमोहन और पंजे के निशान प्रोफाइलों पर बने है ।  मंत्री इमरती देवी ने सिंधिया के राज्यसभा का नामांकन भरने की पोस्ट रीट्वीट की है । 
गोविन्द राजपूत ने दी बधाई रँगपंचमी की पर पद नही लिखा

ट्वीटर/फेसबुक  पर एक्टिव मंत्री गोविन्द राजपूत ने बर्खास्तगी के बाद पहली पोस्ट रँगपंचमी की बधाई  डाली है । लेकिन इसमे पद का हवाला नही है। फेसबुक पर प्रोफाईल ज्यो की त्यों है। यहां भी रंग पंचमी की बधाई दी गई है। 

शुक्रवार, 13 मार्च 2020

सिंधिया के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पारित होगा व्लाक स्तर पर कांग्रेस ने संगठन की समीक्षा के लिये प्रभारी किये घोषित

सिंधिया के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पारित होगा व्लाक स्तर पर कांग्रेस ने संगठन की समीक्षा के लिये प्रभारी किये घोषित
सागर । मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के  निर्देशानुसार जिला कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष एवं संगठन प्रभारी वीरेन्द्र गौर ने व्लाक स्तर पर प्रभारी नियुक्त कर संगठानात्मक समीक्षा एवं कमलनाथ सरकार पर विश्वास एवंज्योतिरादित्य सिंधिया के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पारित करेंगे एवं राज्यसभा सदस्य के लिए दिग्विजय सिंह एवं फूलसिंह बरैया को प्रत्याशी बनाये जाने धन्यवाद प्रस्ताव पारित करेंगे। संबंधित व्लाक प्रभारी व्लाक अध्यक्ष के साथ रंगपंचमी त्योहार के दूसरे दिन तीन दिन में बैठकें आयोजित करने का आग्रह किया है .व्लाक स्तरीय प्रभारियों में सागर ग्रामीण में अमित दुबे रामजी. असरफ खान. मकरोनिया में आर आर पारासर. देवेन्द्र पटैल. सदर में अवधेश तोमर. आनंद तोमर. नरयावली अखिलेश मोनी केशरवानी. रामजी दुबे. खुरई पं. महेश तिवारी. गिरीश पटैरिया. बीना राजेश्वर सेन. दीपक दुबे. खिमलासा इन्द्रर सिंह ठाकुर.विवेक मिश्रा. मालथौन बंटू चौबे. आशुभाई. राहतगढ़ सुरेन्द्र सुहाने. मुकुल पुरोहित. जैसीनगर रामकुमार पचौरी. सिन्टू कटारे .सुरखी  पप्पू गुप्ता. जितेन्द्र रोहण. देवरी जतिन चौकसे. संजय चौधरी. गौरझामर संजय बृजपुरिया. अनंतराम रजक.केसली आशीष राजौरिया. अंचल आठिया. महराजपुर सुधीर श्रीवास्तव. अनवर खान. रहली राजेन्द्र चौबे. महेन्द्र यादव. गढाकोटा राकेश राय. देवेन्द्र फुसकेले. बंडा सुशील गुप्ता. लोकराम विश्वकर्मा. शाहगढ़ श्याम सराफ.शिवकुमार तिवारी. धामोनी भूपेन्द्र सिंह सिंगदोनी.शुभम तिवारी गडर. शाहपुर राजकुमार पचौरी. अनूप मिश्रा बनाए गए हैं।
 उन्होंने सभी प्रभारियों एवं व्लाक अध्यझों से की गई कार्यवाही से अवगत कराने का आग्रह किया है .जिससे मध्यप्रदेश कांग्रेस को अवगत कराया जा सके ।
       

कोरोना वायरस:MP में स्कूलो के बाद सरकारी और निजी कॉलेजों की छुट्टी ,सिनेमाघर भी बंद

कोरोना वायरस:MP में स्कूलो के बाद सरकारी और निजी कॉलेजों की छुट्टी,सिनेमाघर  भी बंद

भोपाल। कोरोना वायरस से  निपटने और सतर्कता के तौर पर उच्च शिक्षा विभाग ने शासकीय और निजी कॉलेजों में आगामी आदेश तक के लिए छुट्टी घोषित कर दी है । उधर स्कूली शिक्षा विभाग ने भी स्कूलो की छुट्टियां कर दी है।
उधर प्रदेश के सिनेमाघरों को भी वाणिज्यकर विभाग ने  14 मॉर्च से 31 मॉर्च तक के लिए या आगामी आदेश तक के लिए बन्द कर दिया गया है ।

गेंहू उपार्जन केन्द्र पर गुणवत्ता का ध्यान रखे खरीदी में,प्रदेश के सीमावर्ती जिलों में सतर्कता जरूरी :प्रमुख सचिव

गेंहू उपार्जन केन्द्र पर गुणवत्ता का ध्यान रखे खरीदी में,प्रदेश के सीमावर्ती जिलों में सतर्कता जरूरी :प्रमुख सचिव
सागर।  इस वर्ष अच्छी वर्षा और संभाग में सिंचाई साधानों की वृद्धि के कारण संभाग में गेंहू के उत्पादन में अच्छी वृद्धि होगी। इसे दृष्टिगत रखते हुए सभी कलेक्टर अपने जिलों में समर्थन मूल्य पर गेंहू खरीदी के पर्याप्त व्यवस्थाएं बनाएं। खरीदी के प्रारंभ से ही उपज की गुणवत्ता पर विषेष ध्यान दिया जाए। खरीदी केन्द्रों पर मूलभूत सभी व्यवस्थाएं हों। बारदानों और परिवहन की अग्रिम व्यवस्था सुनिष्चित की जाए। किसानों को समय पर भुगतान प्राप्त हो। उक्त निर्देष खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग के प्रमुख सचिव षिवषेखर शुक्ला ने रबी उपार्जन की समीक्षा बैठक में कमिष्नर कार्यालय के सभाकक्ष में शुक्रवार को दिए। इस अवसर पर सागर संभाग कमिष्नर  अजय सिंह गंगवार, खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग के संचालक श्री अविनाष लावनिया, प्रबंधक संचालक श्री अभिजात अग्रवाल संभाग के सभी जिलों के कलेक्टर, जिला पंचायत सीईओ और अन्य संबंधित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।
समीक्षा बैठक में 25 मार्च से 22 मई की अवधि में रबी उपार्जन से संबंधित उपार्जन, परिवहन, भण्डारण, भुगतान सहित सभी संबंधित बिन्दुओं की समीक्षा की गई। संभाग के लिए उपार्जन एजेन्सी मध्यप्रदेष स्टेट सिविल सप्लाईज कार्पोरेषन होगी। इस वर्ष गेंहू का समर्थन मूल्य 1925 रूपये प्रति क्विंटल, चने का समर्थन मूल्य 4875 रूपये प्रति क्विंटल और मसूर का समर्थन मूल्य 4800 रूपये प्रति क्विंटल निर्धारित किया गया है।
श्री शुक्ला ने समीक्षा करते हुए निर्देष दिए कि सभी कलेक्टर गेंहू उपार्जन केन्द्रों की माॅनीटरिंग करते समय यह विषेष ध्यान रखें कि उपार्जन की गुणवत्ता कैसी है। खराब गुणवत्ता वाली उपार्जन को न खरीदें। उन्होंने कहा  कि उत्तरप्रदेष की सीमा से लगे छतरपुर, टीकमगढ़, निवाड़ी, पन्ना के कलेक्टर प्रमुख रूप से यह सतर्कता रखें कि मध्यप्रदेष के बाहर के व्यक्ति प्रदेष में उपार्जन न कर पाएं। उन्होंने कहा गिरदावरी का सत्यापन कर जांच कराएं। उन्होंने कहा ओपन कैप (वेयरहाउस) के बनाते समय उसकी सतत माॅनीटरिंग की जाए और गुणवत्ता के साथ 15 अपै्रल तक पूर्ण किया जाए।
श्री शुक्ला ने निर्देष दिए कि नाफेड को सूचित करें कि वेयरहाउस को समयावधि में रिक्त हो जाएं। उन्होंने सभी वेयर हाउसों का सत्यापन कर उनकी वास्तविक स्थिति का प्रतिवेदन प्रस्तुत करने के भी निर्देष दिए। समस्त अनाज मण्डियों में व्यवस्थाओं को सुचारू रूप से बनाए रखने के संबंध में आवष्यक दिषा-निर्देष दिए। उन्होंने निर्देष दिए कि किसानों तक प्रचार-प्रसार करके सूचना दी जाए कि आपको प्राप्त एसएमएस प्राप्त होते ही फसल का उपार्जन करना है और यदि कृषक एक एसएमएस पर उपार्जन नहीं कर पाता है तो उसको दो और एसएमएस भेजे जाएंगे।
उपार्जन केंद्र पर होगी भौतिक एवं अन्य सुविधाएं
उपार्जन केंद्र पर भौतिक एवं अन्य सुविधाएँ निर्धारित हाई-स्पीड इंटरनेट कनेक्शन एवं निर्बाध विधुत/जनरेटर सुविधा, इलेक्ट्रानिक उपकरण-कम्प्यूटर, प्रिंटर, डोंगल, स्केनर, न्च्ै, लेपटॉप बैटरी जन-सुविधाएं-दरियां, टेबल, कुर्सी, पेयजल, शौचालय, छाया, बिजली आदि, (केलिब्रेटेड), छन्ना 4ग्6 फीट का पंखें, परखी, सूचना पटल, उपार्जन बैनर, तथा भुगतान एवं टोल फ्री नंबर का प्रदर्शन-सामान्य जानकारी, एफएक्यू गुणवत्ता का मापदण्ड सुरक्षा सुविधाएं-तिरपाल, कवर, अग्निशमन, यंत्र, रेत, बाल्टियां, चिकित्सा सुविधाएं आदि, निर्धारित संख्या में केलिबेटेड इलेक्ट्रानिक तौलकांटे वे-ब्रिज (धर्मकांटा) परखी, इनेमल प्लेट, प्लास्टिक की सेम्पल थैलियाँ, कपड़े की थैलियां, चपडा, मोमबत्ती, माचिस, एजेंसी की पीतल की सील उपलब्ध रखें।
उपार्जन प्रारंभ होने के पूर्व निर्देषों का पालन हो
श्री शुक्ला ने संभाग के समस्त कलेक्टर्स को निर्देष दिए कि उपार्जन प्रारंभ होने के पूर्व केन्द्रों का निर्धारण, राज्य शासन उपार्जन योजना का जिला एवं एवं संबंधित उपार्जन क्षेत्रों में प्रचार-प्रसार, शून्य परिवहन व्यय दृष्टिकोण से अधिकतम गोदाम, कैप स्तरीय खरीदी केन्द्रों का निर्धारण प्राथमिकता पर कराना। 
उपार्जन के उपरांत किसानों के भुगतान की समीक्षा, उपार्जित किये गये समस्त स्कंध के परिवहन गये समस्त स्कंध के परिवहन की पूर्णता की समीक्षा, उपार्जित किये गये समस्त स्कंध के सुरक्षित भण्डारण की समीक्षा, समितियों के अंकेक्षित देयक प्रस्तुति एवं भुगतान का परिवहनकर्ताओं के देयकों के भुगतान की समीक्षा 60 दिवस के अंदर करने के निर्देष दिए गए।
रबी विपणन वर्ष 2020- 21 में नवीन प्रावधान
रबी विपणन वर्ष 2020-21 में यदि किसी केन्द्र पर अधिकांश कृषकों द्वारा विक्रय पूर्ण कर लिया गया है तो संचालक खाद्य द्वारा निर्धारित म्गपज च्तवजवबंस के अनुरूप उपार्जन कार्य दो सप्ताह बाद स्थगित किया जा सकेगा। रबी विपणन वर्ष 2020-21 में स्टाफ की कमी को दृष्टिगत रखते अतिरिक्त स्टाफ नियोजित करने हेतु प्रावधान, प्रयास। उपार्जन केन्द्र पर किसान उपज की गुणवत्ता जांच सर्वेअर एप के माध्यम से, स्वीकृति पत्रक जारी करने हेतु मोबाइल एप का प्रावधान किया जा रहा है। गोदाम पर भण्डारण हेतु ट्रक उतारने हेतु मोबाइल एप का प्रावधान किया जा रहा है। जिन केन्द्रों पर गत वर्ष अधिक नान एफएक्यू की शिकायतें प्राप्त हुई है उन केन्द्रों पर केन्द्र प्रभारी गुणवत्ता पर्यवेक्षक नही होगा तथा उपार्जन संस्था द्वारा अतिरिक्त सर्वेअर पदस्थ किया जायेगा।

वर्णी कालोनी की कीमती जमीन से अतिक्रमण हटाने और दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही करने के आदेश,कलेक्टर कोर्ट ने दिया फैसला

वर्णी कालोनी की कीमती जमीन से अतिक्रमण हटाने और दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही करने के आदेश,कलेक्टर कोर्ट ने दिया फैसला
सागर । सागर के बेहद महंगे इलाके वर्णी कालोनी की जमीन के मामले में न्यायालय कलेक्टर सागर ने फैसला सुनाया है। जिसमे शासकीय चरनोई की जमीन को खरीदा बेचा गया था । फैसले में नगर निगम से अतिक्रमण हटाने और रजिस्ट्री कराने वाले दोषी अधिकारियों पर कार्यवाही के लिए महानिरीक्षक पंजीयन एवं अधीक्षक मुद्रांक म.प्र.को आदेशित किया है। इसमे 11 लोगों की जमीन से बेदखली होगी। इस मामले में अधिवक्ता रोहित ठाकुर और विन्यकान्त सुहाने ने एक जनहित याचिका लगाई थी। 
शिकायतकर्ता विनय कांत सुहाने  ने मीडिया को बताया कि 15 जनवरी 2015 को वर्णी कालोनी की शासकीय जमीन और चरनोई की जमीन की अवैध तरीके से खरीद फरोख्त को लेकर जनहित याचिका जबलपुर में  दायर की थी । जिसमे   कलेक्टर को सुनवाई कर फैसला करने निर्देशित किया गया। 
इनके विरुद्ध हुआ फैसला
न्यायालय कलेक्टर  प्रीति मैथिल ने जिन 11 के विरुध्द निर्णय दिया है उनमें लीलावती  पति स्व. शिवकुमार शुक्ला (फौत),शिवचंद पिता स्व. शिवकुमार शुक्ला,शिवप्रकाश पिता स्व. शिवकुमार शुक्ला,निवासी भवन कमांक-218/263/80 शुक्ला निवास पुरानी सब्जी मंडी के सामने ,नया बाजार रोड कटरा वार्ड सागर ,मोहन लाल पिता स्व. भावनदास सडानी निवासी भवन कमांक-219/283
फर्म-भावनदास हेमनदास (बारदाना वाले)
पुरानी सब्जी मंडी के सामने नया बाजार रोड़
कटरा वार्ड सागर , घनश्यामदास अशोक कुमार
फगुनामल तीनो निवासी भवन क्रमांक 220/267/84/4 एम/एस अशोक बीज भंडार पुरानी सब्जी मंडी के सामने नया बाजार रोड़ कटरा वार्ड सागर, अरविन्द पिता पूरनचंद जैन
निवासी भवन क्रमांक-221/268/92 एम/एस
मार्डन इलेक्टिकल्स पुरानी सब्जी मंडी के सामने नया बाजार रोड कटरा वार्ड सागर
आरविंद कुमार पिता भागचंद्र जैन ,राजमल पिता भागचंद जैन दोनो निवासी भवन कमांक-222/269 राज इलेक्ट्रिक इंटरप्राईजेस पुरानी सब्जी मंडी के सामने नया बाजार रोड कटरा वार्ड सागर ,संदीप कुमार पिता विनोद कुमार जैन  निवासी भवन क्रमांक-223 एम/एस बैसाखिया कलेक्शन वर्णी विद्या भवन के पास पुराने स्टेट बैंक के पीछे वर्णी कालोनी कटरा वार्ड सागर।
यह दिया फैसला
कलेक्टर के निर्णय अनुसार उक्त सभी भूमियों में शासकीय भूमि (रास्ता या आबादी की भूमि भी शामिल है) का अनावेदकों द्वारा अनाधिकृत कय-विक्रय किया गया। शासकीय भूमियों का क्रय-विक्रय करने का अधिकार इनकों नहीं था। आयुक्त नगर पालिक निगम सागर को आदेश दिये जाते है कि वे नया बाजार, पुरानी सब्जी मण्डी से लगी हुई भूमियां जो निजी भूमियों से
लगकर शासकीय नजूल भूमि जो जेर निगरानी म्यूनिस्पिल कमेटी के अंतर्गत है।शासकीय रास्ता की भूमिया है को चिन्हित करअतिक्रमणकर्ताओं के विरूद्ध नियमानुसार वैधानिक कार्यवाही करें। शासकीय भूमियों के विक्रय पत्र पंजीयन करने वाले अधिकारियों के विरूद्ध कार्यवाही करने हेतु महानिरीक्षक पंजीयन एवं अधीक्षक मुद्रांक म.प्र. भोपाल को लिखा जावे। माननीय उच्च न्यायालय म.प्र. जबलपुर की रिट याचिका
कमाक-15895/2015 (PIL) में पारित आदेश दिनांक 21.09.15 के पालन में आवेदकगण द्वारा प्रस्तत आवेदन पत्र दिनांक 17.12.15, दिनांक 18.12.15 एव दिनाक 17.12.16 स्वीकार कर उक्त अनुसार निराकरण किया जाता है। आदेश की प्रति संबंधितों को भेजी जावे।आदेशानुसार कार्यवाही किये जाने हेतु आदेश की प्रति आयुक्त नगर पालिक निगम
सागर को भेजी जावे।
फैसले के खिलाफ अपील करेंगे:शुक्ला
इस मामले में शिवप्रसाद शुक्ला गुंजन शुक्ला का कहना है कि मीडिया से पता चला है । फैसले का अध्ययन कर ऊपर की अदालत में अपील करेंगे। 

मुनि प्रमाण सागर महाराज का खुरई से लुहारी के लिए हुआ गमन

मुनि प्रमाण सागर महाराज का खुरई से लुहारी के लिए हुआ गमन

#रविवार 15 मार्च को लुहारी में सुबह होगी भव्य आगवानी
सागर। ग्रामों के मन्दिरों के प्रति जुड़ाव बढ़ाने और  अपनी ग्राम मंदिरों के संरक्षण  की मुहिम में मुनि श्री प्रमाण सागर महाराज का आशीर्वाद मिल रहा है। ग्रामो के मंदिरों को बचाने के लिए कार्यरत *ग्राम पूजन पुण्य दल* मुनि श्री के आशीर्वाद से लुहारी नन्ही देवरी सहित अन्य ग्राम मंदिरों के रखरखाव के लिए कार्य कर रहा है। मुनि श्री लुहारी से ग्राम मंदिरों को बचाने की रूपरेखा का उदघोष करेंगे। करिश्माई व्यक्तित्व और ओजस्वी प्रखर वक्ता मुनि प्रमाण शंका समाधान के जनक है और गुणायतन प्रणेता हैं। मुनि श्री का लुहारी जैसे वेहद छोटे ग्राम में प्रवास को जैन समाज मे एक नई दिशा के रूप में लिया जा रहा है। संभावना है कि मुनि श्री का लुहारी में प्रवास बढ़ सकता है। मुनि श्री 22 साल पहले बुंदेलखंड की धरा पर पधारे थे। अहिंसा रैलियों और मांस निर्यात बंद कराने के भागीरथी प्रयासों के कारण मुनि श्री की भारत वर्ष में पहचान बनी औऱ आज आचार्य विद्यासागर से प्रभावी शिष्य के रूप में पूरे भारत वर्ष में मुनि श्री के अनुयायी हैं। लुहारी ग्राम में मुनि श्री का रविवारीय विशेष प्रवचन-आहारचर्या-शंका समाधान और रात्रि विश्राम तो तय है ही पर ग्राम पूजन पुण्य दल के संदस्यों के प्रयास मुनि श्री प्रवास को 03 दिवसीय कराने के हैं।

MP:कोरोना वायरस के चलते शासकीय और निजी स्कूलो की छुट्टी, लेकिन परीक्षाएं होंगी

MP:कोरोना वायरस के चलते शासकीय और निजी स्कूलो की छुट्टी, लेकिन परीक्षाएं होंगी
भोपाल। स्कूली शिक्षा विभाग भोपाल ने कोरोना वायरस के चलते शासकीय और निजी  विद्यालयों की आगामी आदेश तक के लिए छुट्टी घोषित की है । लेकिन परीक्षाएं होंगी।

गुरुवार, 12 मार्च 2020

कमिश्नर अजय गंगवार ने कार्यभार संभाला

कमिश्नर अजय गंगवार ने कार्यभार संभाला
सागर । कमिष्नर श्ललल अजय सिंह गंगवार ने गुरूवार को प्रातः 10.30 बजे कार्यालय में सागर संभाग के कमिष्नर का कार्यभार संभाल लिया है। इस अवसर पर कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक, उपायुक्त राजस्व श्रीमती प्रभा श्रीवास्तव उपस्थित थीं।
श्री गंगवार भारतीय प्रषासनिक सेवा के 2004 बैच के अधिकारी है। इसके पहले श्री गंगवार जिला नीमच के कलेक्टर थे। श्री गंगवार माध्यमिक षिक्षा मण्डल के सचिव, कलेक्टर जिला वड़वानी जैसे महत्वपूर्ण पदों पर कुषलतापूर्वक कार्य कर चुके है

कमिष्नर  13 मार्च को रबी विपणन फसलों की समीक्षा बैठक लेंगे

 श्री अजय सिंह गंगवार 13 मार्च को संभागीय कमिष्नर कार्यालय, सागर में प्रातः 10.30 बजे से रबी विपणन वर्ष 2020-21 में रबी फसलों के उपार्जन की तैयारियों की समीक्षा करेंगे। बैठक में संभाग के सभी जिलों के कलेक्टर और अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद रहेंगे।

क्षय रोग अस्पताल में कोरोना वायरस हेतु आईसोलेसन वार्ड तैयार करें :कलेक्टर

क्षय रोग अस्पताल में कोरोना वायरस हेतु आईसोलेसन वार्ड तैयार करें :कलेक्टर
सागर । क्षय रोग अस्पताल में कोरोना वायरस हेतु आईसोलेषन वार्ड तैयार करें एवं बीएमसी के गेस्ट हाउस में क्वाराईनटाइम बनाने के निर्देष कोरोना वायरस की रोकथाम हेतु आयोजित बैठक में कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक ने गुरूवार को कलेक्टर कक्ष में बुंदेलखंड मेडीकल कॉलेज के अधिकारियां को दिए। इस अवसर पर बीएमसी के डॉ जी.एस.पटेल, अधिष्ठाता डॉ. पिप्पल, डॉ0एम0एस0सागर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, डॉ व्ही.एस.तोमर सिविल सर्जन सह मुख्य अस्पताल अधीक्षक, एवं डॉ0 एन0के0सैनी, डॉ0एम0एम0जैन उपस्थित थे।
बैठक में उन्होंने निर्देष दिये कि कोरोना वायरस की रोकथाम हेतु टी0बी0 अस्पताल को आईसोलेषन वार्ड बनायें तथा बुंदेलखंड मेडीकल कॉलेज के गेस्ट हाउस को संदिग्ध मरीजों के स्वास्थ्य परीक्षण हेतु क्वाराईनटाइम बनाने के निर्देष दिए। उन्होंने जिला षीघ्र हस्तक्षेप केन्द्र जिला चिकित्सालय के पास वाली जगह मे स्टाफ ( डाक्टर/ पैरामेडीकल स्टाफ) को रूकने की व्यवस्था की जावे और यदि इसके बाद भी ओैर जगह की आवष्यकता हो तो वन विभाग के रेस्ट हाउस का उपयोग  करें।
कलेक्टर श्रीमती मैथिल ने बैठक में कहा कि प्रदेश के साथ जिले के नागरिकों को कोरोना वायरस के लक्षणों और उसके संक्रमण से बचने के लिए लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा एजवाइजरी (सलाह) जारी की गई है। उसका पूर्णतः पालन सुनिष्चित करने का आव्हान किया है।
एडवाइजरी (सलाह) के अनुसार कोरोना वायरस विषाणुओं का समूह है जिससे सामान्यतः जानवरों में बीमारियाँ होती है। कभी-कभी ये मनुष्यों में संक्रमण करता है। मनुष्यों में इसके लक्षण सर्दी, खाँसी एवं बुखार, सिरदर्द, गले में खराश इत्यादि के रूप में हो सकते हैं। छोटे बच्चों और बुजुर्ग व्यक्तियों सहित ऐसे व्यक्तियों में जिनमें प्रतिरक्षण की क्षमता कम होती है, में यह वायरस निमोनिया, ब्रोंकाइटिस इत्यादि गंभीर बीमारियाँ उत्पन्न करता है। एडवाइजरी के अनुसार कोरोना वायरस संक्रमित व्यक्ति के खाँसने या छींकने से हवा द्वारा फैलता है। संक्रमित व्यक्ति के निकट संपर्क, छूने या हाथ मिलाने और संक्रमित सामग्रियों के संपर्क में आने के बाद आँख या नाक को छूने से भी यह फैलता है।
कोरोना वायरस के निगरानी हेतु संभागीय टीम गठित ,डा. प्रणय खरे संभाग के प्रभारी बने
 क्षेत्रीय संचालक स्वास्थ्य सेवाएं सागर संभाग सागर डा0 वीरेन्द्र यादव ने कोरोना वायरस एवं अन्य महामारी की व्यवस्थाओं को सुदृढ़ बनाए जाने हेतु संभागीय टीम का गठन किया है। जिसमें नगर निगम उपायुक्त डा. प्रणय कमल खरे के नेतृत्व में श्री राकेष भारद्वाज को कोरोना वायरस  नोडल अधिकारी, श्री कपिल चौधरी संविदा प्रोग्रामर को रिपोर्टिंग हेतु नियुक्त किया गया है। डा0 यादव ने बताया कि संभागीय व्यवस्था टीम के प्रभारी डा. प्रणय कमल खरे सागर दमोह, पन्ना, टीकमगढ़ एवं छतरपुर में कोरोना वायरस एवं महामारी की रोकथाम की व्यवस्थाएं बनाने हेतु आवष्यक प्रबंध करेंगे।

BDDS के निरीक्षक/उप निरीक्षक /आरक्षकों के तबादले

BDDS के निरीक्षक/उप निरीक्षक /आरक्षकों के तबादले
भोपाल। पुलिस के बीडीडीएस प्रशिक्षित अधिकारी/कर्मचारियों की पुरानी एवं नवीन स्वीकृत बीडीडीएस इकाईयों में निम्नलिखित दर्शाये गये तालिका अनुसार आगामी आदेश पर्यन्त पदस्थापना की जाती।

फर्जी परिचय पत्र बनाकर धोखा देने वाले आरोपी को तीन साल की सजा

फर्जी परिचय पत्र बनाकर धोखा देने वाले आरोपी को तीन साल की सजा
सागर। न्यायालय-अनिल चौहान , द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीष बीना जिला सागर की न्यायालय ने आरोपी इत्तष्याम पिता गुल्लन उम्र-30 वर्ष निवासी गौसगंज तहसील थोवनीपुर जिला कानपुर देहात को धारा 419, 466, 468 में 3-3 वर्ष एवं धारा 465 व 471 में 2-2 वर्ष के सश्रम कारावास एवं कुल 5000 रूपये के अर्थदण्ड से दंडित किया। मामले में म.प्र. शासन की ओर से पक्ष वरिष्ठ सहायक जिला अभियोजन अधिकारी बीना जिला सागर दिनेष कुमार मालवीय ने रखा।
प्रकरण का विवरण इस प्रकार है कि थाना जीआरपी बीना ने फरियादी बिट्टू की रिपोर्ट पर से धारा 379 भादवि अपराध क्र. 88/13 का अपराध पंजीबद्ध किया था। विवेचना के दौरान आरोपी इत्तष्याम ने अपना नाम वीरेन्द्र मिश्रा बताया तथा वीरेन्द्र मिश्रा के नाम से अपना परिचय पत्र बनवा कर पुलिस को प्रस्तुत किया जबकि विवेचना में पुलिस ने संदेह के आधार पर आरोपी की पहचान के संबंध में ग्राम गौसगंज विकासखण्ड अमरौधा रमाबाई नगर जिला कानपुर उ.प्र. जाकर आरोपी के नाम के संबंध में जाॅंच की। जहाॅं पता चला कि उसका वास्तविक नाम इत्तष्याम पिता स्व. गुल्लन ग्राम गौसगंज तहसील थोवनीपुर जिला कानपुर का मूल निवासी होना पाया गया। इस प्रकार आरोपी इत्तष्याम द्वारा कूटरचित दस्तावेज तैयार किये और अपना वास्तविक नाम छिपाकर वीरेन्द्र मिश्रा के नाम का परिचय पत्र छल करने के प्रयोजन से बनवाया था। जीआरपी बीना ने विवेचना के उपरांत आरोपी इत्तष्याम के विरूद्ध धारा 379, 419, 465, 466, 468, 471, 420 भादवि का अभियोग पत्र न्यायालय में प्रस्तुत किया। जहाॅं विचारण उपरांत अभियोजन ने अपना मामला संदेह से परे साबित किया। माननीय न्यायालय-अनिल चैहान, द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीष बीना जिला सागर की न्यायालय ने आरोपी इत्तष्याम को दोषी पाते हुए भादवि की धारा 419, 466, 468 में 3-3 वर्ष एवं धारा 465 व 471 में 2-2 वर्ष के सश्रम कारावास एवं कुल 5000 रूपये के अर्थदण्ड से दंडित किया।

सिंधिया और मंत्री गोविन्द राजपूत का पुतला जलाने के दौरान कांग्रेसियों और पुलिस मे छीनाझपटी ,एक कार्यकर्ता झुलसा

सिंधिया और मंत्री गोविन्द राजपूत का पुतला जलाने के दौरान कांग्रेसियों और पुलिस मे छीनाझपटी ,एक कार्यकर्ता झुलसा
सागर । ज्योतिरादित्य सिंन्धिया के भाजपा में शामिल होने और उनकेसमर्थके मंत्रियो और विधायको के खिलाफ कांग्रेस अब लामबंद होकर इनका विरोध करने पर उतर आई है । 
सागर में जिले की काँग्रेस की एक अहम बैठक पार्टी कार्यालय में हुई। कार्यकारिअध्यक्ष सुरेंद्र चोधरी के नेतृत्व में । इसके बाद सभी लोग सेवादल काँग्रेस द्वारा आयोजित  पुतला दहन कार्यक्रम में पहुचे।  जब कार्यकर्ता नारेबाजी करते हुए सिंन्धिया और गोविंद राजपूत के पुतले लेकर आ रही थी। इसी दौरान पुलिस ने पुतला छीनने की कोशिश की। पुलिस और कार्यकर्ताओं में जमकर छीना झपटी हुई। किसी ने पेट्रोल डालकर आग लगा दी। जलते हुए पुतले को फेंका। जिसमे  सेवादल का एक पदाधिकारी मनोज पवार  झुलस गया। जिसको पुलिस वाहन में इलाज के  लिए भर्ती कराया।
इस दौरान सिंधिया और राजपूत के खिलाफ जमकर नारेबाजी चलती रही । कांग्रेसियों ने पुलिस की निंदा भी की।यूथ ब्रिगेड सेवादल के शहर अध्यक्ष जावेद राईन ने  मोतीनगर चौराहे पर पुतला दहन किया । 
शहर सेवादल अध्य्क्ष सिंटू कटारे ने कहा कांग्रेस छोड़ भाजपा में गये नेताओं को जनता सही समय पर सबक सिखाएगी।  सेवा दल के पूर्व युवा अध्य्क्ष कार्यकर्ता मनोज पवार पुतला दहन के दौरान  झुलस गए सभी कांग्रेसियों ने उन्हें बचाया । पुतला दहन में प्रमुख रूप सेकार्यकारी अध्यक्ष सुरेंद्र चोधरी, सुरेंद्र सुहाने, रफीक गनी, पप्पू गुप्ता ,रामकुमार पचौरी, मुन्ना चौबे ,मुकुल पुरोहित , कमलेश साहू (रहली) संजय ब्रजपुरिया ,राजेश उपाध्याय ,मोनी की शेरवानी, अवधेश तोमर ,मोंटी यादव ,अशरफ खान ,सुरेंद्र चौबे ,शालू सेंगर ,अक्षय दुबे ,देशराज यादव ,ब्रजेन्द्र नगरिया, राहुल चौबे ,बाबा राजोरिया ,निखिल चौकसे ,नैतिक चौधरी, रोहित चौधरी, नरेंद्र मिश्रा ,अंकित जैन, आदिल राईन,शुभम उपाध्याय ,बन्टी पंथी ,मिथुन घारू , मोहित वाल्मिकी ,कन्नू कोरी, अंकित मिश्रा ,नरेंद्र कौशिक ,अमित मिश्रा, नितेश साहू, गोलू घोषी ,अमित शुक्ला, लक्ष्मीनारायण सोनकिया, प्रदीप जैन, सुधीर जैन ,पवन केसरवानी,शुभम पटेल एवं मोहित बाल्मीकि ,रवि सोनी ,राजीव राठौर ,ओमप्रकाश पांडे ,आदि सैकड़ों कार्यकर्ता मौजूद थे।

सिंधिया और समर्थक मंत्री गोविन्द राजपूत के खिलाफ कांग्रेसी लामबंद, सुरखी में डालेंगे डेरा

सिंधिया और समर्थक मंत्री गोविन्द राजपूत के खिलाफ कांग्रेसी लामबंद, सुरखी में डालेंगे डेरा

सागर ।  मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार के खिलाफ सिधिंया समर्थक मंत्रियों एवं विधायकों के इस्तीफों के साथ राजस्व परिवहन मंत्री गोविन्द राजपूत का इस्तीफा एवं जिला कांग्रेस कमेटी ग्रामीण के अध्यक्ष हीरा सिंह राजपूत के इस्तीफे से उपजे हालातो से निपटने अब कांग्रेसी मुखर होकर सामने आए है। जिला कांग्रेस कार्यालय में कांग्रेस जनों का ऐसा हुजूम पिछले 15 सालों में कभी नहीं देखा गया। चर्चा रही है कि स्वच्छ एवं दबाव मुक्त कांग्रेस की ऐसी ऐतिहासिक बैठक कभी नहीं हुई।खचाखच भरी बैठक में सर्वसम्मति  से प्रस्ताव पास कर  निर्णय लिया गया है कि गोविंद राजपूत के सुरखी विधानसभा चुनाव में हजारों कार्यकर्ताओं का हूजूम सुरखी जाकर राजपूत के खिलाफ चुनाव प्रचार कर कांग्रेस प्रत्याशी को जिताने के लिए सुरखी में डेरा डालेंगे । मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष एवं बैठक के प्रभारी सुरेन्द्र चौधरी के मुख्य आतिथ्य एवं जिला शहर कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष श्रीमती रेखा चौधरी की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में  जिला कांग्रेस के संगठन प्रभारी वीरेन्द्र गौर द्वारा रखे गए तीन प्रस्ताव को  सर्वसम्मति से पास किया गया । 
सिंधिया और राजपूत की निंदा
उपस्थित कांग्रेस जनों ने मुख्यमंत्री कमलनाथ के नेतृत्व में आस्था एवं विश्वास व्यक्त किया है  तथा ज्योतिरादित्य सिधियां के कांग्रेस छोडकर भाजपा में जाने की भत्सर्ना तथा निंदा प्रस्ताव पास करते हुए कांग्रेस से बगावत कर पीठ में छुरा भोकने पर गोविन्द राजपूत की निंदा की गई है तथा तीसरे प्रस्ताव में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को राज्यसभा में प्रत्याशी बनाए जाने का स्वागत करते हुए कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी एवं राहुल गांधी के प्रति आभार व्यक्त किया गया है ।
जिला ग्रामीण अध्यक्ष की नियुक्ति जल्दी
 मध्यप्रदेश के कार्यकारी अध्यक्ष सुरेन्द्र चौधरी ने कहा है कि कमलनाथ सरकार के कामों को भाजपा हजम नहीं कर पाई । कमलनाथ सरकार के शुद्ध के लिए युद्ध एवं माफियाओं के खिलाफ शिकंजा भाजपाइयों ने प्रजातंत्र का गला घोंटकर सरकार को अस्थिर करने का काम किया है एवं सिधियां समर्थकों ने जो कांग्रेस से गददारी की है उसे जनता माफ नहीं करेगी. उन्होंने कहा है कि जो गोविन्द राजपूत ने मंत्री रहते नियुक्तियां एवं राशन दुकानें दिलवाई हैं उन्हें निरस्त कराएंगे. उन्होंने राजपूत पर बंडा. टीकमगढ में खदानों पर कब्जा करने का भी आरोप लगाया है । जल्दी ही जिला ग्रामीण अध्यक्ष की नियुक्ति होगी।
 शहर कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष रेखा चौधरी ने कहा है कि जो गद्दार हैं उन्हें धन्यवाद. हमारे खून में कांग्रेस है. उन्होंने कहा है कि हमें न डरने की जरूरत है एवं न ही दबने की . उन्होंने सिधियां एवं उनके सिलपहारों पर जमकर तीखे प्रहार किए हैं ।प्रदेश सचिव अमित दुबे रामजी ने कहा है कि विश्वासघात करने वालों को सबक सिखाने सुरखी चुनाव में कमरकसकर कूंदेगें। नरेश जैन ने कहा है कि अब पदलोलुपता वालों को कभी शामिल नहीं किया जाए ।मुकुल पुरोहित ने कहा है कि जब तक हम सत्ता सुख भोगने वालों को सबक नहीं सिखा देगें .चैन से नहीं बैठेंगे. कार्यकारी अध्यक्ष राजकुमार पचौरी ने कहा है कि कमलनाथ जी जहां भी रहेगें हम उनके साथ रहेंगे . उन्होंने सिधियां पर गद्दारी का आरोप लगाया है। सुरेन्द्र सुहाने ने कांग्रेस की पीठ में छुरा भोकने वालों के खिलाफ शंखनाद का आवहान किया है। राजेश्वर सेन ने सिधियां को गद्दारी का खिताब दिया है .गिरीश पटैरिया ने कहा कि आज कांग्रेस स्वच्छ हो गई है। बैठक को अभय सिंघई बीना.मुन्ना चौबे. दीनदयाल उपाध्याय बीना.कमलेश साहू गढाकोटा. रामकुमार पचौरी. सुरेन्द्र चौबे.सेवादल अध्यक्ष सिंन्टू कटारे . पप्पू गुप्ता. डा. महेश तिवारी. श्याम  आशीष ज्योतिषी श्याम सराफ बंडा. असरफ खान .संजय बृजपुरिया देवरी.महेश तिवारी खुरई.देवेन्द्र फुसकेले. शालू ठाकुर. अखिलेश मोनी केशरवानी. जितेन्द्र चावला.चक्रेश सिंघई. रामजी दुबे .दीपक दुबे. आनंद रजक.संतोष सराफ.आशीष राजौरिया. महेश जाटव.धनसिंह लडिया. इंद्रासन बांदरी राहुल खरे सहित अनेक नेताओं पदाधिकारियों ने अपने विचार रखे हैं . बैठक का संचालन वीरेन्द्र गौर ने किया एवं आभार महिला कांग्रेस अध्यक्ष प्रमिला राजपूत ने किया है ।
ये रहे मौजूद
  बैठक में राकेश राय. शिवकुमार तिवारी भूपेंद्र सिगदोनी .शिवराज सिंह. अंकेश हजारी .अनूप मिश्रा. अवधेश तोमर .आनंद तोमर. शैलेंद्र तोमर .देवेंद्र कुरमी. रफीक भाई . देवेंद्र गौर . संजय चौधरी. अंकित जैन . आर आर पारासर. जाहिद ठेकेदार. मजीद भाई.मनोहर राय. रिंकू केशरवानी. राजू राठौर .सहित सैकड़ों की संख्या में कांग्रेस जन उपस्थित रहे।
 

EVM से होंगे नगरीय निकाय एवं पंचायत चुनाव, निर्वाचन प्रेक्षकों की कार्यशाला में राज्य निर्वाचन आयुक्त

EVM से होंगे नगरीय निकाय एवं पंचायत चुनाव, निर्वाचन प्रेक्षकों की कार्यशाला में राज्य निर्वाचन आयुक्त 
भोपाल।  मध्यप्रेदश राज्य निर्वाचन आयुक्त श्री बसंत प्रताप सिंह ने नगरीय निकायों और पंचायतों की फोटोयुक्त मतदाता सूची के पुनरीक्षण कार्य के पर्यवेक्षण के लिये नियुक्त प्रेक्षकों की कार्यशाला में कहा कि आगामी नगरीय निकाय एवं पंचायतों के आम-चुनाव ई.व्ही.एम. से ही कराये जायेंगे। उन्होंने कहा कि त्रुटि रहित मतदाता सूची बनाना आयोग का पहला उद्देश्य है। श्री सिंह ने कहा कि मतदाता का नाम एक ही स्थान पर होना चाहिये।
श्री बसंत प्रताप सिंह ने कहा कि पर्यवेक्षक यह देखें की मतदाता सूची में दावे-आपत्तियों के लिये समुचित व्यवस्था की गई है कि नहीं। दावे-आपत्ति केन्द्र में बैनर लगवायें। दावे-आपत्ति केन्द्र नियमित रूप से खुलें। उन्होंने बताया कि वार्डों के परिसीमन के आधार पर प्रारूप मतदाता सूची बनाई गई है।
आयोग की उप सचिव श्रीमती अजीजा सरशार ज़फर ने कहा कि कंट्रोल टेबल का वेरीफिकेशन ठीक ढंग से होना चाहिये। उन्होंने पिछले आम-चुनाव के दौरान बनाई गई मतदाता सूची में आयी त्रुटियों की ओर प्रेक्षकों का ध्यान आकृष्ट किया। श्रीमती ज़फर ने कहा कि इस तरह की त्रुटियों की पुनरावृत्ति नहीं होना चाहिये। प्रेक्षक 16 से 20 मार्च और 29 अप्रैल से 4 मई तक जिलों में रहेंगे।
अवर सचिव श्री प्रदीप शुक्ला ने नगरीय निकायों की फोटोयुक्त मतदाता सूची पुनरीक्षण प्रक्रिया के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि आयोग द्वारा मतदान केन्द्रों के युक्तियुक्तकरण के निर्देश भी दिये गये हैं। श्री शुक्ला ने बताया कि नगरीय निकायों में 244 और पंचायत चुनावों के लिये 534 अतिरिक्त मतदान केन्द्र बनाये जा सकते हैं। उन्होंने बताया कि नगरीय क्षेत्र में मतदाता संख्या 1000 से 1200 और ग्रामीण क्षेत्र में 500 से 700 पर मतदान केन्द्र बनाने का प्रावधान है। श्री शुक्ला ने बताया कि मतदाता सूची से संबंधित जानकारी के लिये आयोग और एम.पी.एस.ई.डी.सी. में कंट्रोल रूम बनाये गये हैं।
एम.पी.एस.ई.डी.सी. के प्रबंधक श्री राजेश दिघे ने मतदाता सूची पुनरीक्षण प्रक्रिया के तकनीकी पहलुओं की जानकारी दी। कार्यशाला में आयोग के सचिव श्री दुर्ग विजय सिंह, ओ.एस.डी. श्रीमती सुनीता त्रिपाठी, उप सचिव श्री अरूण परमार, उप सचिव डॉ. सुतेश शाक्या एवं प्रेक्षक उपस्थित थे।

MP:पांच ASPऔर 26 DSP केस्तर के पुलिस अधिकारियों के ट्रांसफर

MP:पांच ASPऔर 26 DSP स्तर के पुलिसअधिकारियों के ट्रांसफर


भोपाल । गृहविभाग ने 5 AsP और 26 DSP स्तर के पुलिस अधिकारियों के तवादला आदेश जारी किए है।

सिंधिया परिवार के राजनीतिक निर्णयों का आंख मीचकर मानने वाला है राजस्व मन्त्री गोविन्द राजपूत का परिवार

सिंधिया परिवार के राजनीतिक निर्णयों का आंख मीचकर मानने वाला है राजस्व मन्त्री गोविन्द राजपूत का परिवार

सागर। राजनीति में सिंधिया परिवार को राजनीतिक रसूखदारो में  आंका जाता है ।  जिसमे दांवपेंच की  झलक दिखती है ।एमपी में सत्ता पलटने की कहानी के मुख्य जयोतिरादित्य सिंधिया अब भाजपा के प्रमुख नेताओं में शुमार हो गए।सिंधिया परिवार के  तेवरों से खासतौर से बगावती कहानी एमपी में हमेशा धमाकेदार दिखी । सिंधिया परिवार के राजनेतिक निर्णयों का आंख मीचकर पालन करने वालो की  एक तस्वीर एमपी के सागर में भी दिखती है । ये है बुंदलखण्ड अंचल के कद्दावर नेता गोविन्द राजपूत की । सिंधिया परिवार के राजनीतिक फैसलों को स्वीकारना और पार्टी को छोड़ना। 
एक और समानता है कि दोनों परिवारों को काँग्रेस से सब कुछ मिला। सिंधिया घराने की दूसरी राजनीतिक पीढ़ी यानी स्व श्री मंत माधव राव  सिंधिया के साथ जुड़े युवा नेता गोविन्द राजपूत का भी इतिहास बगावत के साथ जुड़ गया है ।  1996 में जब स्व माधव राव  सिंधिया  ने कांग्रेस से नाता तोड़कर विकास काँग्रेस का गठन किया था। उस समय सबसे पहले गोविन्द राजपूत ने पार्टी छोड़कर सिंधिया का दामन पकड़ा था। उनकी पार्टी में वापसी हुई सो राजपूत भी साथ थे । इसके बाद युवक काँग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष के तौर पर सर्वाधिक 5 साल निकाले ।  
पिता का साथ साथ देते देते ज्योतिरादित्य सिंधिया केम्प के अहम बने। अब ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपनी उपेक्षा के चलते  काँग्रेस से नाता तोड़ा का तो राजस्व मंत्री श्री राजपूत भी इस कदम में साथ हो लिए। यह सिलसिला राजपूत के परिवार में भी चला। पिछले दस साल से सागर के  जिला अध्यक्ष पड़ पर  काबिज  हीरा सिंह ने और सुरखी विधानसभा क्षेत्र के युवक कांग्रेस के अध्यक्ष अरविंद राजपूत टिंकू राजा ने भी काँग्रेस का दामन त्याग दिया। हीरा सिंह परिवहन मन्त्री गोविन्द राजपूत के बड़े भाई और टिंकू राजा भतीजे है।
खूब मिला कांग्रेस से, खूब काम किया कांग्रेस के लिए

राजनीतिक समृद्धता राजपूत परिवार को खूब मिली। सिंन्धिया के दामन पकड़ते ही गोविन्द राजपूत को एमपी युवक कांग्रेस की कमान मिली।पाँच साल से अधिक प्रदेशाध्यक्ष बने रहना का रिकार्ड है। अध्यक्ष रहते सुरखी विधानसभा से टिकिट मिला। गोविन्द राजपूत को पांच दफा विधानसभा का टिकिट मिला। तीन दफा जीते। संगठन में कई पदों पर रहे और 2014 का सागर लोकसभा का टिकिट भी मिला। परन्तु हार गए। कमलनाथ सरकार में परिवहन और राजस्व जैसे महत्वपूर्ण मंत्रालय मिले। श्री राजपूत की पत्नी श्री मति सविता गोविन्द सिंह राहतगढ़ जनपद और सागर जिला पंचायत की अध्यक्ष रही।
जी जान से भी लगे रहे कोई दूसरा खड़ा नही हुआ 15 साल:हीरा सिंह राजपूत

जब कांग्रेस से इतना सब कुछ मिलातो फिर क्यो छोड़ी पार्टी ? यह सवाल तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
पूछा तो जिलाध्यक्ष हीरा सिंह राजपूत का कहना था कि पार्टी ने दिया इसमे दो मत नही है।होटल से लेकर जमीन जायदाद तक सब कुछ लेकर 15 साल काँग्रेस के लिए खड़ा रहा । उस समय कोई दूसरा आगे नही आया। सरकार बनी तो जिले के कार्यकर्ताओं के काम नही हो रहे । यदि अभी यह निर्णय नही लेते तो तान साल बाद हालत और खराब हो जाते।
जिला अध्यक्ष दो दशकों से राजपूत परिवार में 
राजपूत परिवार हमेशा पावर में रह है। भले ही सरकार किसी दल की रहे। गोविन्द के दोनो बड़े भाई गुलाब सिंह राज पूत लंबे समय तक जिला अध्यक्ष रहे । कुछ अंतराल बाद इस पद पर हीरासिंह विराजे। पिछले दस साल से हीरा सिंह ही सम्भाल रहे है। अब इस्तीफा  दिया। 
इनके भतीजे अरविंद राजपूत भी युवक कांग्रेस के सुरखी के अध्यक्ष है । उन्होंने भी पार्टी का साथ छोड़ दिया।

बुधवार, 11 मार्च 2020

घर मे शादी थी इसलिए हाई कमान ने दी भाजपा विधायक शेलेन्द्र जैन को छुट्टी

घर मे शादी थी इसलिएहाईकमान ने दी  भाजपा विधायक शेलेन्द्र जैन को छुट्टी  
सागर।राजनेतिक घमासान में एमपी में विधायकों की हालत खराब है । दोनो दलों ने अपने अपने विधायको को शिफ्ट कर दिया है । यदि कोई काम हो तो आना मुश्किल है । ऐसे में 
सागर से तीन बार के विधायक शेलेन्द्र जैन को बड़ी मुश्किलों में घर आने को  मिला। वह भी एक दिन की छुट्टी मिली घर मे शादी समारोह के कारण। गुरुग्राम से सागर आये और परिजनों और पार्टीजनों से मिले। 
भाजपा के सागर विधायक शैलेन्द्र जैन ने कहा की कांग्रेस सरकार ने जो वादे किए उन्हें पूरा न कर पाने का ही परिणाम है कि यह सरकार अल्पमत में आ गई है।उन्होंने कहा, यह सरकार तो अस्थिर होनी ही थी। इनको सरकार में रहने का कोई अधिकार नही है। फ्लोर टेस्ट कराने पर यह सरकार गिर जाएगी। यह सरकार ट्रांसपर किये जा रही है इनकी हवस आखिर तक जाने का नाम नही ले रही है। परिवार में शादी समारोह में आने की हाईकमान से छुट्टी मांगी थी, शादी में शामिल होकर वापिस चला जाऊंगा। इस मौके पर जगन्नाथ गुरैया,श्रीकांत जैन,प्रासुक जैन आदि ने स्वागत किया।

पद्माकर के स्मरण के साथ साहित्यकारों ने मनाई होली

पद्माकर के स्मरण के साथ साहित्यकारों ने मनाई होली
 सागर। सागर के साहित्यकारों ने अपनी परंपरागत होली महाकवि पद्माकर को गुलाल लगाकर प्रारंभ की। उल्लेखनीय है  कि विगत 45-46 वर्षों से नगर के साहित्यकार  चकराघाट स्थित पद्माकर की मूर्ति को स्नान करा कर सम्मान सहित गुलाल लगाते हैं। इसके बाद परस्पर होली खेलते हैं। इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि हिंदी के विद्वान प्रोफेसर सुरेश आचार्य के सान्निध्य में कार्यक्रम प्रारंभ हुआ। पद्माकर जी के संदर्भ में डॉ.आचार्य ने चर्चा करते हुए कहा कि पद्माकर जी का इस अवसर पर स्नान किया जाना अद्भुत है। इस अवसर पर कार्यक्रम संचालक वरिष्ठ साहित्यकार मणिकांत चौबे ने कहा कि बुंदेलखंड की परंपरा है उसके अतीत को अपने अतीत को संजोकर रखना।प्राचीन इतिहास के विद्वान डॉ. रजनीश जैन पद्माकर जी के अछूते छंदों को‌ प्रस्तुत कर चमत्कृत कर दिया।श्यामलम् अध्यक्ष उमाकांत मिश्र ने इस कार्यक्रम को ऐतिहासिक बताया। बुंदेलखंड साहित्य संस्कृति विकास मंच के अध्यक्ष डॉ. सीताराम श्रीवास्तव, होली उत्सव के सहसंयोजक पूरन सिंह राजपूत ने इस कार्यक्रम को विशेष मानते हुए नई पीढ़ी के लिए संदेश बताया। बुंदेलखंड हिंदी साहित्य संस्कृति मंच के प्रदेश अध्यक्ष के.के.बख्शी,सरस्वती नाट्य मंच के राजेंद्र दुबे,प्रलेस के टी.आर. त्रिपाठी,लेखक संघ के वृंदावन राय,देवकीनंदन रावत, दिनेश साहू, शिव रतन यादव ने कविताओं की अपनी प्रस्तुति दी। बड़ी संख्या में इस कार्यक्रम में लोग उपस्थित थे जिनमें पद्माकर समिति के मधुसूदन सिलाकारी, विजय चौबे,संतोष सिलाकारी,रानू ठाकुर, अमित चौबे,शरद जैन गुड्डू,शिखरचंद शिखर, आशीष निशंक, ऋषभ जैन, राजेश नामदेव आदि प्रमुख थे।

होली पर रंगारंग विराट कवि सम्मेलन का आयोजन

होली पर रंगारंग विराट कवि सम्मेलन का आयोजन
सागर। बुंदेलखंड हिंदी साहित्य संस्कृति विकास मंच के बैनर तले रंग उत्सव पर पर आयोजित होने वाला विराट कवि सम्मेलन वरिष्ठ साहित्यकार निर्मल चंद निर्मल व जे.पी.पांडे की संयुक्त अध्यक्षता में रात 7:30 बजे बारिश की हल्की फुहारों के बीच संपन्न हुआ। जिसके मुख्य अतिथि पूर्व विधायक सुनील जैन, वरिष्ठ समाजसेवी नरेश चंद विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित थे। वहीं डॉ. सुरेश आचार्य ने भी अपनी गरिमामय उपस्थिति दी। कार्यक्रम के पूर्व मंचासीन एवं गणमान्य जनों का संयोजक मणिकांत चौबे एवं पूरन सिंह राजपूत ने टोपा पहनाकर सत्कार किया।लगभग 40 कवियों ने अपनी रंगारंग प्रस्तुति दी। इस अवसर पर संयोजक बेलिहाज चौबे ने कहा कि यह एक परंपरा है जो नई पीढ़ी को सौंपने का और सीखने का मौका देने का प्रयास है।निर्मल चंद निर्मल ने कार्यक्रम की प्रशंसा करते हुए उसकी निरंतरता की कामना की। सुनील जैन ने कहा कि ऐसे कार्यक्रमों की निरंतरता बनी रहनी चाहिए।प्रो.सुरेश आचार्य ने अपनी शुभकामनाएं प्रेषित कीं। शानदार और जानदार हास्य व्यंग की रचनाओं के साथ पूरन सिंह राजपूत और राधा कृष्ण व्यास के संचालन में सत्कार के साथ हास्य व्यंग की बौछार पढ़ती रही।उभरते हुए दो नए कवि अभिषेक और अरिहंत ने ओज की कविताएं पढीं जिन्हें सराहा गया। सुपरिचित‌ शायर अशोक मिजाज, वृंदावन सरल ने जहां होली पर गजलें पढ़ीं वहीं राधा कृष्ण व्यास, अशोक तिवारी, मुकेश तिवारी,देवकीनंदन रावत,नरेंद्र जैन बिट्टी, दिनेश साहू ने हिंदी बुंदेली के व्यंग प्रस्तुत किए। आयोजक संस्था की ओर से उमा कान्त मिश्र एवं पत्रकार राजेश शास्त्री का सम्मान भी किया गया।शिवरतन यादव ने मधुर फागें सुनाईं। अबरार अहमद ने एकता भाईचारे पर मुक्तक सुनाए। डॉ. अरविंद गोस्वामी,के.एल.तिवारी अलबेला,राजू चौबे,पी.आर.मलैया, टीकाराम त्रिपाठी ,एम.शरीफ,पुष्पदंत हितकर ने अपनी रचनाएं प्रस्तुत कीं।आर. के.तिवारी ने स्वागत कार्यक्रम में उत्साह पूर्वक भागीदारी की।इंजीनियर अशोक तिवारी ने व्यंग्य सुनाए। कार्यक्रम को सफल बनाने में चंद्रकांत चौबे,अमित चौबे,शरद जैन गुड्डू, राजेश नामदेव, मुकेश सोनी आदि का विशेष सहयोग रहा।आभार कपिल बैसाखिया एवं सीताराम श्रीवास्तव ने व्यक्त किया।

कांग्रेस जिलाध्यक्ष राजपूत ने छोड़ी पार्टी,उधर सिंधिया के निष्कासन की कार्यवाही का किया स्वागत कांग्रेसजनों ने

कांग्रेस जिलाध्यक्ष राजपूत ने छोड़ी पार्टी,उधर सिंधिया के निष्कासन की कार्यवाही का किया स्वागत कांग्रेसजनों ने

सागर। एमपी में राजनीतिक घमासान का असर सागर जिले में देखने मिला रहा है ।सिंधिया के प्रमुख समर्थकों में से एक परिवहन मन्त्री गोविन्द राजपूत का यह गृह जिला सागर हैं। सिंधिया के भाजपा में शामिल होने के बाद सागर काँग्रेस के जिला अध्यक्ष हीरा सिंह राजपूत ने पद से इस्तीफा दे दिया। दूसरी तरफ काँग्रेस के एक धड़े ने सिंधिया के निष्कासन की कार्यवाही का समर्थन करते हुए नारेबाजी की। 
ज्योतिरादित्य सिंधिया के 12 मॉर्च के प्रस्तावित कार्यक्रम में कांग्रेसियों परनज़र रखी जा रही है ।

परिवहन मंत्री के बड़े भाई और जिलाध्यक्ष हीरा सिंह का इस्तीफा,बोले  कामकाज को लेकर हुई उपेक्षा

सिंधिया समर्थक परिवहन मन्त्री गोविन्द राजपूत के बड़े भाई हीरासिंह राजपूत ने कांग्रेस छोड़ दी है।  उन्होंने कहा कि मंत्रियो से लेकर कार्यकर्ताओं तक कि सुनवाई नही हो रही थी  कमलनाथ सरकार में । इस कारण असंतोष उपजाा है। हम   सिंधिया जी के साथ है और रहेंगे। उन्होंने कहा कि जिस मंत्री को जो काम मिला उनको फुल पावर तक नही थे । वही संगठन भी कमजोर हो गया था। उन्हीने कहा कि सिंधिया जी की लगातार उपेक्षा की जा रही थी। इसलिए यह कदम उठाया ।  भाजपा में जाने के सवाल पर कहा कि अभी देखते जाए। आने वाले समय मे सामूहिक इस्तीफे होंगे और पार्टी से जुड़ेंगे।  जब उनसे पूछा गया कि  गोविन्द राजपूत और उनके परिवार को कांग्रेस से सब कुछ मिला है फिर क्यो छोड़ी तो इस सवाल पर हीरा  सिंह ने कहा हमने  भी जी जान से पार्टी के लिए काम किया।
सिंधिया के निष्कासन का स्वागत

राजनीतिक घटनाकर्मो के बीच  सरस्वती वाचनालय में हुई बैठक में बड़ी संख्या में उपस्थित कांग्रेसजनों ने मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार को भा जा पा के इशारे पर गिराने का षडयंत्र रचने की साजिश की निंदा करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी राहुल गांधी मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ जी पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह जी, कांग्रेस पार्टी के हाथ मजबूत करने का प्रस्ताव पारित किया। बैठक की अध्यक्षता कांग्रेस नेता अब्दुल रफीक गनी ने की। जिला कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष सुरेंद्र सुहाने ने कहा ज्योतिराज सिंधिया ने सांप्रदायिक शक्तियों से हाथ मिला कर कांग्रेस की पीठ में छुरा भोंकने का कार्य किया है जिसे जनता कभी माफ नहीं करेगी उन्होंने कहा कि कांग्रेस छोड़कर जाने वाली लोगों का सामाजिक एवं राजनीतिक बहिष्कार किया जावे, विधानसभा में कांग्रेस के प्रत्याशी रहे नेवी जैन ने कहा कि पार्टी के लिए धोखा देकर व्यक्तिगत लाभ के लिए सांप्रदायिक शक्तियों से हाथ मिलाने को जनता कभी माफ नहीं करेगी। जिला महासचिव मुकुल पुरोहित ने कहा ऐसे लोगों की निंदा करता हूं जो लोग पार्टी से पद और प्रतिष्ठा प्राप्त करके आज ऊंचे मुकाम पर पहुंचे हैं उनके धोखेबाज व्यवहार से पार्टी और सरकार संकट में आई है ऐसे धोखे बाजो को आने आने वाले चुनाव में  हार का सबक  सिखाना होगा।बैठक का संचालन करते हुए जिला महामंत्री राम कुमार पचौरी ने सरकार को अस्थिर करने और वर्षों से कांग्रेस पार्टी पर काबिज गोविंद सिंह राजपूत एवं जिला अध्यक्ष हीरा सिंह राजपूत के इस कृत्य की तुलना विभीषण से करते हुए कहा इनके फैसले पर कड़ा प्रहार किया जिला महामंत्री जितेंद्र रोहण ने अपने उद्बोधन में कहा कांग्रेस कार्यकर्ताओं के दम पर पार्टी में ऊंची मकान पर पहुंचे गोविन्द राजपूत और हीरासिंह राजपूतने क्षेत्र के मतदाताओं व कार्यकर्ताओं के साथ धोखा और विश्वासघात किया है प्रदेश सचिव अमित राम जी दुबे ने कांग्रेस हाईकमान द्वारा पूर्व मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के इतिहास की चर्चा करते हुए कहा कि उन्होंने अपने अपने लाभ के लिए देश को दांव पर लगाया है।  बैठक को संबोधित करने वालों में  सुकदेव प्रसाद तिवारी कांग्रेस सेवादल अध्यक्ष सिंटू कटारे रेल सुधार समिति अध्यक्ष रवि सोनी लीलाधर सूर्यवंशी मनोज पवार विमल जैन ओमप्रकाश पंडा रुपेश जड़िया आदि ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कांग्रेस हाईकमान के निर्णय का समर्थन एवं पार्टी कमजोर करने वालों की निंदा की ।अंत में बैठक के अध्यक्ष अब्दुल रफीक गनी ने प्रस्ताव रखते हुए कांग्रेस अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी राहुल गांधी मुख्यमंत्री कमलनाथ पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के प्रति कांग्रेसजनों का पूर्ण समर्थन का प्रस्ताव पारित किया आभार व्यक्त करते हुए जिला कार्यकारी अध्यक्ष अखिलेश मोनी केसरवानी ने कहा की पार्टी छोड़ने वालों ने अपनी विश्वसनीयता खो दी है ऐसे गद्दारों को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाने के लिए वरिष्ठ जनों का आभार माना। 
ये रहे मौजूद
इस मौके पर  जिला कार्यकारी अध्यक्ष दीपक दुबे राजकुमार कोरी पप्पू गुप्ता पूर्व पार्षद रवि यादव सुल्तान कुरेशी राजेश उपाध्याय मुकेश खटीक नरेश चौबे बिल्ली रजक प्रदीप पांडे कमल केसरवानी राजू विश्वकर्मा राजेश यादव अनवर कुरेशी प्रीतम यादव प्रमोद शर्मा साजिद राइन, आदिल राइन सहित अनेक लोग उपस्थित रहे । इसके बाद तीनबत्ती पर जमकर नारेबाजी की।

सिंधिया के स्वागत में भोपाल नहीं जाएगा कोई भी कांग्रेस नेता या कार्यकर्ता

जिला कांग्रेस अध्यक्ष रेखा चौधरी ने कहा है कि अवसरवादी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के भाजपा में जाने के बावजूद सागर की पूरी कांग्रेस प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ जी के नेतृत्व में एकजुट है। सिंधिया के भोपाल आगमन पर यहां का कोई भी कांग्रेस नेता या कार्यकर्ता उनके स्वागत में नहीं जाएगा। ऐसे किसी भी नेता या कार्यकर्ता की जानकारी मिलने पर उसे तत्काल पार्टी से निष्कासित किया जाएगा।।उन्होंने कहा कि सागर के सभी कांग्रेसजन राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी जी और प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ जी के नेतृत्व में एकजुट हैं तथा सिंधिया के भाजपा में जाने से पार्टी या सरकार पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा। ऐसे में उन्होंने कांग्रेसजनों से कहा है कि सिंधिया समर्थकों द्वारा कांग्रेस पार्टी के खिलाफ की जाने वाली किसी भी गतिविधि की जानकारी उन्हें तत्काल उपलब्ध कराएं ताकि उन पर सम्बन्धित कार्यवाही की जा सके।

प्रशासनिक तबादले, पांच कलेक्टर बदले गए,अजय गंगवार होंगे सागर सम्भाग के कमिश्नर

प्रशासनिक तबादले, पांच कलेक्टर बदले गए,अजय गंगवार होंगे सागर सम्भाग के कमिश्नर

भोपाल। एमपी में चल रहे राजनीतिक घमासान के बीच प्रसासनिक अधिकारियों के ट्रांसफर किये गए है । नीमच कलेक्टर अजय गंगवार को सागर सम्भानग का कमिश्नर बनाया गया है। 
श्री जितेन्द्र सिंह राजे (सिक्किम-2007), 
कार्यपालक संचालक,
पर्यावरण नियोजन एवं समन्वय संगठन
(एप्को) तथा उप सचिव, मध्यप्रदेश शासन,
योजना, आर्थिक एवं सांख्यिकी विभाग एवं
सहायक सलाहकार राज्य योजना आयोग
(अतिरिक्त प्रभार)  को कलेक्टर नीमच
श्री एस. विश्वनाथन (2008).कलेक्टर, जिला हरदा को  कलेक्टर, जिला गुना ,श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह (2010),कलेक्टर, जिला विदिशा को कलेक्टर, जिला ग्वालियर ,श्री अनुराग चौधरी (2010). कलेक्टर, जिला ग्वालियर को
उप सचिव, मध्यप्रदेश शासन ,श्री भास्कर लक्षकार (2010), कलेक्टर जिला गुना को उप सचिव, मध्यप्रदेश शासन ,डॉ. पंकज जैन (2012), संचालक, सूक्ष्म, लघ एवं मध्यम उद्यम
तथा प्रबंध संचालक, मध्यप्रदेश लघुउद्योग निगम, भोपाल को कलेक्टर, जिला विदिशा
श्री अनुराग वर्मा (2012). उप सचिव, मध्यप्रदेश शासन, पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग को कलेक्टर, जिला हरदा बनाया गया है।
sdm के ट्रांसफर
सुश्री जयति सिंह, (2016) ,अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व), मुरार, जिला ग्वालियर को 
अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व),डबरा, जिला ग्वालियर सुश्री अंकिता धाकरे (2017).
अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व),सबलगढ़, जिला मुरैना को अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व), राहतगढ़, जिला सागर बनाया गया है ।


सिंधिया को साइडलाइन करने की बात गलत:दिग्विजय सिंह

सिंधिया को साइडलाइन करने की बात गलत:दिग्विजय सिंह

एबीपी न्यूज़
नई दिल्ली: मध्य प्रदेश में सियासी संकट के बीच कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह का बड़ा बयान सामने आया है. दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया को साइडलाइन करने की बात गलत है. ग्वालियर चंबल इलाके में उनसे बिना पूछे पार्टी कोई फैसला नहीं लेती थी. पिछले 16 महीने में उनसे राय ली जाती रही है.
दिग्विजय ने ट्विटर पर लिखा, ''कोई सवाल ही नहीं है, वह बिल्कुल भी साइडलाइन नहीं थे. कृपया ग्वालियर चंबल संभाग के किसी भी कांग्रेस नेता से पूछें और आपको पता चलेगा कि पिछले 16 महीनों में उनकी सहमति के बिना इस क्षेत्र में कुछ भी नहीं हुआ है. लेकिन मैं उन्हें मोदी-शाह के साथ जाने पर शुभकामनाएं देता हूं.''

सत्ता का अंक गणित :बचेगी सरकार या जाएगी

सत्ता का अंक गणित :बचेगी सरकार या जाएगी

पात्रिका
नई दिल्ली। ज्योतिरादित्य सिंधिया ( Jyotiraditya Scinidia ) के कांग्रेस से इस्तीफे के साथ ही मध्य प्रदेश ( Madhya Pradesh ) में कांग्रेस की कमलनाथ ( Kamal Nath Government ) सरकार पर खतरा मंडराने लगा है। ज्योतिरादित्य और उनके गुट वाले 22 विधायकों ने एक साथ राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंप दिया।
इसके बाद से ये सवाल खड़े होने लगे हैं कि आखिर कैसे बचेगी कमलनाथ की सरकार? सियासी गलियों में ये चर्चाएं शुरू हो चुकी है कि कमलनाथ सरकार जाएगी या बचेगी? क्योंकि विधायकों के इस्तीफे का बाद विधानसभा में सदस्यों की संख्या का अंक गणित बदल गया है।
विधानसभा में सदस्यों का अंक गणित
भाजपा का दावा है कि कांग्रेस के पास समर्थन नहीं है। ऐसे में क्या कांग्रेस के पास सरकार चलाने के लिए पर्याप्त संख्या बल है? आइए जानते हैं कि विधानसभा का पूरा अंक गणित..
आपको बता दें कि मध्य प्रदेश में विधानसभा की 230 सीटें हैं। मौजूदा समय में कांग्रेस के पास 114 विधायक हैं, जबकि भाजपा के पास 107 विधायक हैं। इसके अलावा 4 निर्दलीय, बसपा के दो और सपा के एक विधायक हैं। इसके अलावा दो विधायकों के निधन के बाद से ये सीटें खाली हैं।
अभी के सत्र में विधानसभा में सदस्यों की संख्या 228 है। कांग्रेस की कमलनाथ सरकार के पास 121 विधायकों (कांग्रेस के 114 और अन्य सात) का समर्थन है। अब जब ज्योतिरादित्य सिंधिया के गुट वाले 22 विधायकों के इस्तीफे के बाद से विधानसभा का अंक गणित बदल गया है। इसके अलावा सपा और बसपा के एक-एक विधायकों ने भी कांग्रेस से अपना समर्थन वापस लेने की बात कही है।
ऐसे में अब विधायकों के इस्तीफे के बाद से विधानसभा में सदस्यों की संख्या 206 (228-22= 206) रह गई। लिहाजा बहुमत के लिए 104 सदस्यों के समर्थन की जरूरत होगी। ऐसे में देखना दिलचस्प होगा कि क्या कमलनाथ ये आंकड़ा हासिल कर पाते हैं या नहीं? क्योंकि कांग्रेस के पास अब केवल 97 (114-22= 92 और 7-2= 5, टोटल- 92+5= 97) सदस्यों का समर्थन बचा है।

कौन कितना मजबूत?
अब मध्य प्रदेश से लेकर देशभर में ये चर्चाएं शुरू हो गई है कि कौन कितना मजबूत है। यानी कि किसके पास पर्याप्त संख्या बल है। क्या कमलनाथ सरकार बचा पाएंगे या भाजपा सरकार बनाने में कामयाब रहेगी?

विधानसभा में नंबरों के आधार पर देखें कांग्रेस के पास 99 सदस्यों के समर्थन का आंकड़ा दिखाई पड़ रहा है। कांग्रेस के पास अब केवल 97 (114-22= 92 और 7-2= 5, टोटल- 92+5= 97 ) सदस्यों का समर्थन हासिल है।

दूसरी तरफ भाजपा की बात करें तो ज्योतिरादित्य सिंधिया के भाजपा में शामिल होने से संख्या बल में मजबूती आएगी। यानी कि भाजपा के पास अभी 107 विधायक हैं और सपा व बसपा के एक-एक विधायकों के समर्थन को जोड़ दें तो 109 का आंकड़ा हो जाता है। जबकि सरकार बनाने के लिए 104 की जरूरत है।

लिहाजा कांग्रेसी विधायकों के इस्तीफे के बाद अंक गणित के हिसाब से कांग्रेस जहां कमजोर नजर आ रही है, वहीं भाजपा का दावा मजबूत दिखाई दे रहा है। फिलहाल इन सभी अटकलों का जवाब विधानसभा के अंदर ही मिलेगा, जब फ्लोर टेस्ट होगा।

MP: बीजेपी को विधायकों को गुरुग्राम लाया गया, ITC ग्रैंड भारत होटल में ठहरे हैं 106 MLAs

MP: बीजेपी को विधायकों को गुरुग्राम लाया गया, ITC ग्रैंड भारत होटल में ठहरे हैं 106 MLAs

एबीपी न्यूज़
नई दिल्ली: मध्य प्रदेश में कमलनाथ सरकार खतरे में आ चुकी है. 22 विधायक कांग्रेस से इस्तीफा दे चुके हैं. वहीं देर रात भोपाल से दिल्ली होते हुए गुरुग्राम तक सियासी हलमल मचती रही. देर रात बीजेपी के 106 विधायक भोपाल से प्लेन के जरिए दिल्ली आए. दिल्ली एयरपोर्ट पर बस से विधायकों को गुरुग्राम ले जाया है. ग्रुरुग्राम में सभी विधायकों को एक होटल में ठहराया गया है. बीजेपी विधायकों के साथ कैलाश विजयवर्गीय भी दिल्ली आए हैं. भोपाल एयरपोर्ट पर विधायकों से मिलने शिवराज सिंह चौहान भी पहुंचे. बीजेपी के 106 विधायक गुरुग्राम के ITC ग्रैंड भारत होटल में ठहरे हैं.
कांग्रेस के 22 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया है और बेंगलुरु के रिसॉर्ट में ठहरे हैं. वहीं बीजेपी पूरी प्लानिंग और तैयारी के साथ हर कदम उठा रही है. ऑपरेशन लोटस में कहीं कोई गड़बड़ ना हो जाए इसके लिए बीजेपी ने अपने विधायकों को मध्य प्रदेश से बाहर भेजा है.
एमपी में सियासी संकट को लेकर राज्यपाल लालजी टंडन ने कहा कि वह स्थिति पर नजर रखे हुए हैं और राजभवन पहुंचने के बाद कोई फैसला लेंगे. वहीं कांग्रेसी विधायकों के इस्तीफे को लेकर विधानसभा स्पीकर ने कहा है कि हम पहले वेरीफाई करेंगे उसके बाद उसपर कोई फैसला लेंगे. बीजेपी नेताओं ने कांग्रेस के 22 बागी विधायकों में से 19 विधायकों के इस्तीफे स्पीकर को सौंपे हैं.
सिंधिया का अगला रुख क्या होगा?
सूत्रों ने बताया कि सिंधिया 12 मार्च को अपने समर्थकों और कांग्रेस के कई विधायकों के साथ बीजेपी का दामन थाम सकते हैं. सूत्रों ने यह भी बताया कि बीजेपी में शामिल होने से पहले सिंधिया ग्वालियर में अपने समर्थकों को संबोधित कर सकते हैं.
क्या है विधानसभा का गणित
मध्य प्रदेश में विधानसभा की कुल 230 सीटें हैं और इसमें से दो सीट खाली है. अब तक 22 कांग्रेस विधायकों ने इस्तीफा दिया है. ऐसे में अगर विधायकों का इस्तीफा स्वीकार हो जाता है तो इसकी कुल संख्या 206 हो जाती है. बहुमत के लिए 104 विधायकों की जरूरत होगी. कांग्रेस के 22 नेताओं के इस्तीफे के बाद इस समय उसके विधायकों की संख्या 93 है. बीजेपी के पास 107 विधायक हैं और सूबे में अन्य दलों के सात विधायक हैं. कमलनाथ को विधानसभा सत्र शुरू होने के बाद अविश्वास प्रस्ताव का सामना करना पड़ सकता है.

सोमवार, 9 मार्च 2020

विधायको की सुरक्षा के मामले में राजनीति नही हो,ईर्ष्या वश कोई निर्णय नही होना चाहिए: केंद्रीय राज्य मंत्री प्रह्लाद पटेल

विधायको की सुरक्षा के मामले में राजनीति नही हो,ईर्ष्या वश  कोई निर्णय  नही होना चाहिए: केंद्रीय राज्य मंत्री प्रह्लाद पटेल
सागर । एमपी में भाजपा विधायकों की सुरक्षा को लेकर और सुरक्षा हटाये  जाने पर  केंद्रीय  राज्य मंत्री प्रह्लाद पटेल का कहना है कि  सुरक्षा के मामले में कोई राजनीति नही  होना चाहिए।ईर्ष्या वश  कोई निर्णय  नही होना चाहिए। होली एक ऐसा त्योहार है जिसमे  राग द्वेष खत्म हो जाते है । इनका राजनीति में भी कोई स्थान नही है ।
 केन्द्रीय राज्य मंत्री प्रह्लाद पटेल आज  सागर जिले के बण्डा विधानसभा क्षेत्र के तिनसमाल गाँव पहुंचे थे।  वे एक होली मिलन कार्यक्रम में  शामिल हुए। इस मौके पर उन्होंने  बुंदेली फागों का  जमकर आनंद लिया।
उन्होंने होली की शुभ कामनाएं देते हुए कहा कि  तिन्समाल एक ऐतिहासिक सिद्ध क्षेत्र है । जो सागर जिले की सबसे ऊंची पहाड़ी पर बना है । इसको बेहतर बनाने पुरातत्व विभाग को कहा है। यहाँ 10 वी -11वी सदी की प्रतिमाएं है।

कोरोना वायरस की शंकाओं को लेकर कांग्रेसी मिले CMHO से

कोरोना वायरस की शंकाओं को लेकर कांग्रेसी मिले CMHO से 
सागर ।सागर विधानसभा चुनाव के प्रत्याशी रहे कांग्रेस नेता नेवी जैन ने होली के त्यौहार के मद्देनजर, मुख्य चिकित्सा अधिकारी सी.एम.एच.ओ, डॉ.एम.एस. सागर के पास जाकर आमजन की चिंता "कॅरोना" वायरस के बारे में पूछा, क्या साधारण सर्दी, जुखाम, बुखार "कॅरोना" वायरस की शुरुवात हो सकती है? नेवी जैन ने कहा, होली के त्योहार का अवसर मौसम का बदलाव शुरू हो चुका है ऐसी स्थितियों में सर्दी जुखाम, बुखार होना बहुत आम बात है, आमजन इस बात को जानना चाहते है, की कहीं उनके परिवार जन, बच्चों, रिश्तेदारों, नातेदारओं को हो रहा सर्दी, जुखाम,बुखार, कॅरोना की आहट तो नहीं? इस पर डॉ सागर ने बतलाया की कॅरोना कई प्रकार के संक्रमित वायरस की चेन है, जो की अन्य संक्रमित देशों के सैलानी के भारत आने पर आया है, और इसीलिए सरकार द्वारा विगत कई दिनों से, बाहर देशों से आने वाले सैलानी की पूरी स्क्रीनिंग की जाती है, वहीँ उसे 14 दिन तक इन्क्यूबेशन पीरियड के रूप में लगातार उसकी मानीटरिंग की जाती है। अथवा इससे डरने की आव्यशकता नहीं है बल्कि इसे समझते हुए इसपे सावधानी रखने की आवश्यकता है।
प्रतिनिधिमंडल में प्रमुख रूप से युवक कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष दिनेश  सिंघई, जिला कांग्रेस के उपाध्यक्ष पूर्व पार्षद, प्रशिक्षण विभाग के प्रदेश सचिव प्रदीप पाँडे, सेवादल के प्रदेश सचिव मनोज पवार, एड. रामगोपाल उपाध्याय, अजय शर्मा , यंग ब्रिगेड सेवादल के अध्यक्ष जावेद राईन प्रशिक्षण विभाग के जिलाध्यक्ष पवन केसरवानी जिला कांग्रेस सचिव मानसिंघ चौधरी ।

कक्षा पांचवी बोर्ड की परीक्षा में गैर हाजिर छात्रा की जगह चौथी क्लास की छात्रा को बैठाया

कक्षा पांचवी बोर्ड की परीक्षा में गैर हाजिर छात्रा की जगह चौथी क्लास की छात्रा को बैठाया
सागर । सागर विधानसभा चुनाव के प्रत्याशी रहे कांग्रेस नेता नेवी जैन ने होली के त्यौहार के मद्देनजर, मुख्य चिकित्सा अधिकारी सी.एम.एच.ओ, डॉ.एम.एस. सागर के पास जाकर आमजन की चिंता "कॅरोना" वायरस के बारे में पूछा, क्या साधारण सर्दी, जुखाम, बुखार "कॅरोना" वायरस की शुरुवात हो सकती है? नेवी जैन ने कहा, होली के त्योहार का अवसर मौसम का बदलाव शुरू हो चुका है ऐसी स्थितियों में सर्दी जुखाम, बुखार होना बहुत आम बात है, आमजन इस बात को जानना चाहते है, की कहीं उनके परिवार जन, बच्चों, रिश्तेदारों, नातेदारओं को हो रहा सर्दी, जुखाम,बुखार, कॅरोना की आहट तो नहीं? इस पर डॉ सागर ने बतलाया की कॅरोना कई प्रकार के संक्रमित वायरस की चेन है, जो की अन्य संक्रमित देशों के सैलानी के भारत आने पर आया है, और इसीलिए सरकार द्वारा विगत कई दिनों से, बाहर देशों से आने वाले सैलानी की पूरी स्क्रीनिंग की जाती है, वहीँ उसे 14 दिन तक इन्क्यूबेशन पीरियड के रूप में लगातार उसकी मानीटरिंग की जाती है। अथवा इससे डरने की आव्यशकता नहीं है बल्कि इसे समझते हुए इसपे सावधानी रखने की आवश्यकता है।
प्रतिनिधिमंडल में प्रमुख रूप से युवक कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष दिनेश  सिंघई, जिला कांग्रेस के उपाध्यक्ष पूर्व पार्षद, प्रशिक्षण विभाग के प्रदेश सचिव प्रदीप पाँडे, सेवादल के प्रदेश सचिव मनोज पवार, एड. रामगोपाल उपाध्याय, अजय शर्मा , यंग ब्रिगेड सेवादल के अध्यक्ष जावेद राईन प्रशिक्षण विभाग के जिलाध्यक्ष पवन केसरवानी जिला कांग्रेस सचिव मानसिंघ चौधरी ।

कक्षा पांचवी बोर्ड की परीक्षा में गैर हाजिर छात्रा की जगह चौथी क्लास की छात्रा को बैठाया

कक्षा पांचवी बोर्ड की परीक्षा में गैर हाजिर छात्रा की जगह चौथी क्लास की छात्रा को बैठाया
* निरीक्षण दल ने बनाया प्रकरण, दोषी शिक्षको पर कार्यवाही  के लिए भेजा प्रस्ताव
* चौथी की छात्रा बोली मेडम के कहने पर परीक्षा देने आई
सागर। एमपी में  परीक्षाओं में गड़बड़ियों को लेकर एक और तस्वीर सामने आई है । मामला एमपी के सागर जिले में कक्षा 5 वी की बोर्ड परीक्षा का है। बोर्ड परीक्षा के  दौरान एक गैरहाजिर छात्रा की जगह कक्षा चौथी पढ़ने वाली दूसरी छात्रा को परीक्षा देने के लिए बैठाया गया। जब निरीक्षण दल को भनक मिली तो पूरे मामले का खुलासा हुआ। जिस पर अधिकारियों ने पंचनामा कार्यवाही कर वरिष्ठ अधिकारियों के प्रतिवेदन सौपा है। 
मामला एमपी के सागर जिले के  राहतगढ़ ब्लॉक की चौकी शासकीय प्राथमिक स्कूल का है।  जहाँ पर आज पाचवी क्लास की परीक्षा में दर्ज 29 बच्चों में से 21 परीक्षार्थी पेपर देने पहुचे थे  गैरहाजिर  बच्चों में हिमानी सौर का नाम भी शामिल था । पर उसकी जगह कक्षा चार में पड़ने बाली पायल पेपर देने बैठी थी। जिसकी भनक विभाग के अधिकारियो को लग गई। तुरंत मोके पर जिला स्तरीय टीम और ब्लॉक अधिकारी पहुचे और जाँच में जो बात सामने आई वह चौकाने बाली थी।
रविकान्ता जैन मेडम की करतूत निकली
इस पूरे घटनाक्रम में स्कूल स्टाफ की कारगुजारी ही सामने आई। जिसे हिमानी की जगह नकली परीक्षा दे रही कक्षा चार की छात्रा पायल ने स्वयं बताया है कि उसको शिवानी की जगह पेपर देने के लिये रविकान्ता जैन मेडम ने बैठाया था।
केंद्राध्यक्ष सोमित अहिरवार के अनुसार परीक्षा शुरू होने के 10  मिनिट बाद ही छात्रा को देख लिया गया। निरीक्षण दल ने ।जिस टीचर रविकान्ता जैन ने बैठाया है उसका नाम भी छात्रा ने बताया है । 
वही इस मसले पर ब्लाक एजुकेशन अधिकारी BEO राहतगढ़  मोनीश कार्लो का कहना है कि मोके पर हिमानी की जगह पायल को पेपर देते परीक्षा केंद्र में पाया गया है और जिस तरह पायल ने बताया है कि उसे परीक्षा देने के लिये जैन मेडम ने बोला था इसलिये वह पेपर देने आई थी,आदि हालातो का प्रतिवेदन आगे की कार्येवाहि के लिये  वरिष्ठ अधिकारियो को भेजा जा रहा है। 

टेक्स बार एसोशियेशन के चुनाव सम्पन्न, अनिल चउदा बने अध्यक्ष

टेक्स बार एसोशियेशन के चुनाव सम्पन्न, अनिल चउदा बने अध्यक्ष

सागर। टेक्स बार एसोशियेशन सागर के वित्तीय
वर्ष 2020-2021 के आम चुनाव रविवार को 
होटल रॉयल पैलेस में संपन्न हुये ।जिसमें सर्वसम्मति से अध्यक्ष पद पर  अनिल चऊदा एडव्होकेट,उपाध्यक्ष पद पर रामअवतार
यादव एडव्होकेट निर्विरोध चुने गये। चुनावी मुकाबले में बीना उपाध्यक्ष पद पर  यशवंत जैन एडव्होकेट खुरई एवं कोषाधयक्ष पर  राकेश गुप्ता एडव्होकेट चुने गये वही सचिव पद पर
श्री यशवंत जैन एडव्होकेट सागर व सहसचिव पद पर रआहुल खरया एडव्होकेट चुने गये।
टेक्स बार एसोशियेशन के चुनाव निर्वाचन  अधिकारी  हर्षवर्धन दिवाकर एडव्होकेट व सहा. चुनाव अधिकारी श्री मानतुंग दिवाकर एडव्होकेट व जावेद खान के निर्देशन एवं निगरानी में चनाव संपन्न हुये। यह जानकारी वर्तमान सचिव श्री यशवंत जैन के द्वारा दी गई।

डॉ गौर वि वि में अनियमितताओं के आरोप का जवाब सार्वजनिक मंच से कुलपति :रघु ठाकुर

डॉ गौर वि वि में अनियमितताओं के आरोप का जवाब सार्वजनिक मंच से कुलपति :रघु ठाकुर

#विवि प्रशासन ने आंदोलन में शामिल  चार कर्मचारियों को दिया नोटिस

सागर।डॉ हरिसिंह केंद्रीय गौर विवि सागर में वित्तीय और नियुक्ति सम्बन्धी गड़बड़ियों को लेकर कुलपति प्रो आर पी तिवारी को सार्वजनिक मंच से चर्चा करना चाहिए। ताकि विवि पर लगे दाग साफ हो। यह बात समाजवादी नेता रघु ठाकुर ने आज विवि बचाओ संघर्ष मोर्चा द्वारा आयोजित  पत्रकार वार्ता में कही । उन्होंने कहा कि  कुलपति से सार्वजनिक मंच पर चर्चा करने बातचीत हुई थी। एक पत्र भी सुरेंद्र सुहाने ने भेजा था। हमारी निजी बुराई किसी से नही है ।  उन्होंने कहा कि CAG की 2017 की रिपोर्ट बताती है कि अनियमितताएं हुई है । मोर्चा को  27 आरोप मिले  है जिनकी विधि जानकारों द्वारा स्कूटनी की जा रही है । कमेटी जल्दी ही आरोप पत्र सौपेंगी।
कर्मचारियों को नोटिस देना गलत

विवि में हुई अनियमितताओं को लेकर विवि के कर्मचारियों को विवि प्रशासन ने अनुशाशन हीनता माना है । इसके चलते  विवि प्रशासन ने चार कर्मचारियों  कर्मचारी संघ के अध्यक्ष संदीप बाल्मीकि,जयंत जैन ,अशोक मिश्रा और गोपाल रजक को चेतावनी भरा  नोटिस भेजा है और तीन दिन में जवाब मांगा है । इस मामले में रघु ठाकुर का कहना है कि विवि में गड़बड़ियों की सूचना  देना अनुशाशन हीनता नही है । बल्कि कर्मचारियों द्वारा इन सूचनाओं की जानकारी नही  देना अनुशासन हीनता है। कर्मचारियों को धमकाना बन्द करे। 
इस मौके पर विवि बचाओ मोर्चा के अध्यक्ष अखिलेश केशरवानी, डॉ बद्री प्रसाद,सुरेंद्र सुहाने,संदीप बाल्मीकि,प्रवक्ता अरविंद भट्ट, प्रदीप गुप्ता, अतुल  मिश्रा ,घरनेंद्र जैन आदि मौजूद थे। 

झोपड़ी में आग लगने से मासूम भाई बहिन की मौत ,त्योहार पर मातम

झोपड़ी में आग लगने से मासूम भाई बहिन की मौत ,त्योहार पर मातम

@ मनोज वाधवानी

सागर। सागर जिले के खुरई देहात थाने के सिलोधा गांव के पास खेत मे बनी एक मजदूर की झोपड़ी में आग लग गई जिसमें दो मासूम भाई बहिन की दर्दनाक मौत हो गयी। होली के त्योहार पर पूरे क्षेत्र में मातम फेल गया। 
सागर  मार्ग के सिलोधा गांव के पास स्थित एक खेत मे कई मजदूरों के झोपड़े बने हुए थे। झोपड़ों के बाहर इन मजदूरों का खाना बनाया जाता था। शायद इन्ही चूल्हों की चिंगारी से झोपड़ी में आग लग जाने का अंदेशा जताया जा रहा है। घटना के समय झोपड़े के सभी मजबूर दूसरे खेतों में काम कर रहे थे। जब तक यह लोग घटना स्थल पर पहुँचे तब तक झोपड़ी में सो रहे 3 वर्षीय सखीना कोल व 4 वर्षीय धर्मेन्द्र कोल दोनों निवासी मिडरा थाना बड़वारा जिला कटनी की दर्दनाक मौत हो गयी। इन मासूमों की मौत के बाद एक ओर बड़ी घटना होने से टल गई इसी खेत मे बने अन्य झोपड़ियों में एक दर्जन बच्चे सो रहे थे। यदि आग फैल जाती तो एक बड़ी घटना हो सकती थी। घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर डॉयल 100 व देहात थाना प्रभारी रोहित मिश्रा अपने बल के साथ पहुँचे। दोनों मासूम बच्चों का सिविल अस्पताल में पीएम किया गया। थाना प्रभारी रोहित मिश्रा के अनुसार जब मजदूर खेत पर गए थे उस समय हादसा हुआ।

भीषण सड़क हादसा ,बाइक को अज्ञात वाहन ने मारी टक्कर तीन युवकों की मौत

भीषण सड़क हादसा ,बाइक को अज्ञात वाहन ने मारी टक्कर तीन युवकों की मौत

सागर। सागर जिले के  जैसीनगर सड़क मार्ग पर  बीती रात्रि में एक सड़क हादसे में  बाइक सवार तीन युवकों की मौत हो गई । तीनो मजदूरी करके गांव वापिस लौट रहे थे । बताया जाता है कि ट्रक से टक्कर हुई है । जैसीनगर पुलिस मामले की जांच कर रही है ।
जैसीनगर थाना प्रभारी महेंद्र सिंह  ने बताया कि  बीती देर रात्रि में बाइक पर तीन युवक  देवरी से अपने  गांव घूघर लौट रहे थे । हिननोद गांव के पास अज्ञात वाहन से बाइक से टक्कर हो गई। जिनकी मौके पर ही मौत हो गई। घटना की खबर लगते ही 108 एम्बुलेंस और पुलिस पहुची । जिनको जिला अस्पताल  लाया गया। मोके से वाहन चालक वाहन लेकर भाग निकला। पुलिस ने मामला कायम कर विवेचना में ले लिया है । मामले की जांच कर रही है ।
मृतको में विंनोद पितां नेतराम पटेल उम्र 25, अजय पितां जगदीश पटेल 21 साल और गोविन्द पितां मुन्ना लाल पटेल उम्र 24 साल हैं। जिनका पोस्टमार्टम कराया जा रहा है । उधर इस  हादसे की खबर लगते ही घूघर  ग्राम में मातम पसरा हुआ है ।

रविवार, 8 मार्च 2020

होली: जाने कब है मुहूर्त, क्या करे उपाय

होली: जाने कब है  मुहूर्त, क्या करे उपाय

इस साल 9 मार्च 2020 को होलिका दहन और 10 मार्च 2020 को रंगों का त्योहार मनाया जाएगा। नौ मार्च को होलिका दहन का शुभ मुहूर्त प्रदोष काल से मध्यरात्रि से कुछ समय पूर्व तक है। प्रदोष काल सूर्यास्त 6:42 बजे से लेकर निशामुख रात्रि 11 बजकर 26 मिनट तक है। होलिका दहन के दिन सुबह 6:08 मिनट से लेकर दोपहर 12:32 बजे तक भद्रा है। भद्रा को विघ्नकारक माना गया है। 
राशियों के अनुसार होलिका में डालें आहुति
*मेष और वृश्चिक राशि के लोग गुड़ की आहुति दें।
*वृष राशि वाले होलिका में चीनी की 
*मिथुन और कन्या राशि के लोग कपूर की 
*कर्क के लोग लोहबान की 
*सिंह राशि के लोग गुड़ की 
*तुला राशि वाले कपूर की 
*धनु और मीन के लोग जौ और चना की 
*मकर व कुंभ वाले तिल कr होलिका दहन में आहुति दें। 

होलिका दहन: पूजा की विधि
होलिका दहन से पहले विधि विधान के साथ होलिका की पूजा करें। इस दौरान होलिका के सामने पूर्व या उतर दिशा की ओर मुख करके पूजा करने का विधान है। पहले होलिका को आचमन से जल लेकर सांकेतिक रूप से स्नान के लिए जल अर्पण करें। इसके पश्चात कच्चे सूत को होलिका के चारों और तीन या सात परिक्रमा करते हुए लपेटना है। सूत के माध्यम से उन्हें वस्त्र अर्पण किये जाते हैं। फिर रोली, अक्षत, फूल, फूल माला, धूप, दीप, नैवेद्य अर्पित करें। पूजन के बाद लोटे में जल लेकर उसमें पुष्प, अक्षत, सुगन्ध मिला कर अघ् र्य दें। इस दौरान नई फसल के कुछ अंश जैसे पके चने और गेंहूं, जौं की बालियां भी होलिका को अर्पण करने का विधान है।

नकारात्मक शक्तियों के प्रभाव से बचने को होलिका दहन करें
पुराणों और शास्त्रों में चार सिद्ध रात्रि में से होलिका दहन वाली रात को भी सिद्ध रात्रि माना गया है। नकारात्मक शक्तियों के प्रभाव से बचने के लिए होलिका दहन को सबसे अच्छा माना जाता है। इस दिन किए गए प्रयोग से मनचाहा फल मिलता है। नवग्रह जनित पीड़ा से निवारण के लिए अपनी राशि के अनुसार होलिका दहन में लकड़ी जरूर अर्पित करनी चाहिए। फिर होलिका के सात फेरे लगाना चाहिए ।
★मेष और वृश्चिक राशि के लोग होलिका दहन के समय खैर की लकड़ी
★वृष और तुला राशि वाले होलिका दहन वाले दिन गूलर की लकड़ी
★मिथुन और कन्या राशि के लोगों के लिए अपामार्ग की लकड़ी
★धनु और मीन राशि के लोगों के लिए पीपल की लकड़ी होलिका में डालें
★फिर राशि के अनुसार होलिका में द्रव्यों की आहुति डालें ।
होलिका। ऐसे करें अपनी मुश्किलों को कम

★शरीर की उबटन को होलिका में जलाने से नकारात्मक शक्तियां दूर होती हैं।
★सफलता प्राप्ति को होलिका दहन स्थल पर नारियल, पान तथा सुपारी भेंट करें।
★गृह क्लेश से निजात पाने और सुख-शांति के लिए होलिका की अग्नि में जौ-आटा चढ़ाएं।
★भय और कर्ज से निजात पाने के लिए नरसिंह स्रोत का पाठ करना लाभदायक होता है।
★होलिका दहन के बाद जलती अग्नि में नारियल दहन करने से नौकरी की बाधाएं दूर होती हैं।
★घर, दुकान और कार्यस्थल की नजर उतार कर उसे होलिका में दहन करने से लाभ होता है।
★होलिका दहन के दूसरे दिन राख लेकर उसे लाल रुमाल में बांधकर पैसों के स्थान पर रखने से बेकार खर्च रुक जाते हैं।
★लगातार बीमारी से परेशान हैं तो होलिका दहन के बाद बची राख मरीज़ के सोने वाले स्थान पर छिड़कने से लाभ मिलता है।
★बुरी नजर से बचाव के लिए गाय के गोबर में जौ, अरसी और कुश मिलाकर छोटा उपला बना कर इसे घर के मुख्य दरवाज़े पर लटका दें।

शादी नहीं हो रही है तो होली पर करें यह उपाय
★जिन जातकों की शादी नहीं हो रही है और विलंब हो रहा है तो होली के दिन शिव मंदिर में पूजा करें। इसके साथ ही शिवलिंग पर पान, सुपारी और हल्दी की गांठ भी अर्पित करें। शादी की परेशानियों से छुटकारा पाने के लिए होलिका दहन के दौरान पांच सुपारी, पांच इलायची, मेवे, हल्दी की गांठ और पीले चावल लें जाए और इसकी पूजा कर इसे घर में देवी के सामने रख दें। ऐसा करने से शादी में आने वाली बाधाएं दूर हो जाती है और जल्द ही विवाह के योग बन जाते हैं। दांपत्य जीवन में शांति के लिए होली की रात उत्तर दिशा में एक पाट पर सफेद कपड़ा बिछा कर उस पर मूंग, चने की दाल, चावल, गेहूं, मसूर, काले उड़द एवं तिल के ढेर पर नव ग्रह यंत्र स्थापित करें। इसके बाद केसर का तिलक कर घी का दीपक जला कर पूजन करें।
नवविवाहिताओं को होली पर जाना चाहिए मायके
शास्त्रीय परम्परा के अनुसार नवविवाहिता को अपनी पहली होली पर मायके जाना चाहिए। होली के मौके पर सभी नई दुल्हन अपनी पहली होली अपने मायके में ही मनाती हैं। इस परंपरा को सालों से निभाया जा रहा है। होली के मौके पर नवविवाहिता अपने मायके चली जाती है और वहीं पर अपनी पहली होली मनाती है। माना जाता है कि शादी के बाद पहली होली पिहर में खेलने से एक नवविवाहिता का जीवन सुखमय और सौहार्द पूर्ण बीतता है। इसके साथ ही कुछ जगहों पर यह रिवाज इसलिए भी है कि शादी के बाद मायके में होली और पति से दूरी उनके बीच के प्रेम को और भी ज्यादा बढ़ा देता है।
पहली होली नवविवाहिता और सास के लिए अशुभ
पहली होली सास और बहू एक साथ कभी नहीं देखती, क्योंकि सास और नई बहू का एक साथ होली को जलते देखना अशुभ माना जाता है, जिसका असर घर के लोगों पर पड़ता है। यह भी मत है कि यदि कोई सास और नविवाहिता एक साथ होली को जलता हुआ देखती है तो उनमें से किसी एक की मृत्यु भी हो सकती है। इसी कारण से पहली होली पर नवविवाहिता अपने मायके जाकर ही पहली होली खेलती है। पति और पत्नी के बीच इस अहसास को बढ़ाने के लिए मायके में पहली होली मनाने की परम्परा शुरू की गई थी।
वायरस से बचने को होलिका में डालें हवन सामग्री
होलिका दहन में प्रत्येक परिवार से आधा किलो हवन सामग्री के साथ 50 ग्राम कपूर और 10 ग्राम सफेद इलायची मिलाकर होलिका में अवश्य डालें, जिससे प्रदूषित वातावरण शुद्ध होगा, कोरोना जैसे वायरस भी नष्ट हो सकेंगे। इसके बाद प्रतिदिन सुबह गाय के गोबर से बने कंडे को जला कर अपने इष्ट का 21 बार नाम लेकर आहुति देकर हवन अवश्य करें। ऐसा करने से कोरोना जैसे वायरस से बचाओ हो सकेगा।

संत निरंकारी मिशन का सत्संग समागम आयोजित

संत निरंकारी मिशन का सत्संग समागम आयोजित
संत निरंकारी मिशन द्वारा आज विशाल सत्संग कार्यक्रम का आयोजन खुरई रोड स्थित   नव निर्माणाधीन भवन पर किया गया । जिसमें उज्जैन जोन के जोनल इंचार्ज  मनोहर वादवानी जी का आगमन हुआ  उनके सानिध्य में यह कार्यक्रम रखा है ।इसमें निरंकारी मिशन से जुड़े साहित्य की भी स्टाल लगाए गए की भी स्टाल लगाए गए जोड़ों की व्यवस्था प्याऊ की व्यवस्था लंगर की व्यवस्था सारी व्यवस्थाएं की गई हैं ।पार्किंग से लेकर जवान सेवादल के जवान कई जगहों पर अपनी सेवाएं दे रहे हैं ।इसमें ग्राम रैली जुड़ा गढ़ाकोटा बंडा खुरई बीना विदिशा कई जगह के संतों ने समागम का आनंद प्राप्त किया ।
बीना से पधारे अर्जुन सिंह नाहर जी ने अपने भाव व्यक्त किए इनके बाद खुरई से पधारे नारायण कुशवाहा जी , बहन हर्षा जी ने एवं कई संतों ने गीतों द्वारा अपने भाव अपने गुरु के प्रति   रखें बिना गुरु के ज्ञान न उपजे ज्ञान बिना नहीं दिखता ध्यान बिना गुरु किए हुए ज्ञान की प्राप्ति नहीं हो सकती।अंत में आभार सागर संयोजक श्री नारायण दास निरंकारी जी ने बाहर से पधारे स्वागत किया।

कवि निर्मल चंद निर्मल की 21 वीं काव्य कृति " जगत मेला चलाचल का" विमोचित।

कवि निर्मल चंद निर्मल की 21 वीं काव्य कृति " जगत मेला चलाचल का" विमोचित
सागर। नगर के सुप्रसिद्ध कवि निर्मल चंद निर्मल की 21 वी काव्य कृति "जगत मेला चला चल का" का विमोचन मध्य प्रदेश हिंदी साहित्य सम्मेलन सागर इकाई द्वारा आदर्श संगीत महाविद्यालय में रविवार को आयोजित एक गरिमामय कार्यक्रम में संपन्न हुआ। इस अवसर पर निर्मल जी को उनके 90 में जन्मदिन पर बधाई देते हुए  समाजवादी चिंतक रघु ठाकुर ने कहा कि इस वय में भी निर्मल जी का साहित्य के प्रति प्रेम व समर्पण अभिभूत कर देने वाला है।उन्होंने कहा कि कविता श्रंगार की वस्तु नहीं है निर्मल जी कमल बेहद निर्मल है वे लगातार सक्रिय हैं दर्शन के काव्य का संपूर्ण जगत में मान होता है।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि बरकतउल्ला विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रोफेसर उदय जैन ने निर्मल जी के जीवन और साहित्यिक अवदान से युवा पीढ़ी को प्रेरणा लेने का परामर्श दिया।
अध्यक्षीय उद्बोधन में प्रो सुरेश आचार्य ने कहा कि अच्छी कविता के लिए अपने समय, समाज, संस्कृति और साहित्य की जानकारी होना अनिवार्य है। इस मायने में निर्मल जी बहुपठ और बहुश्रुत हैं। इसलिए उनकी रचनाएं काव्य के इतिहास में अपना स्थान अवश्य बनाएंगी।
विशिष्ट अतिथि डॉ लक्ष्मी पांडेय ने कहा कि जिस दार्शनिकता की पृष्ठभूमि पर सारे जीवन की महत्वपूर्ण घटनाओं का अध्ययन होता है उसी आधार पर चल अचल को जोड़कर यह संसार बनता है। निर्मल जी के संस्कारी व्यक्तित्व ने उनकी संतानों को भी संस्कारी बनाया है यह उनकी कविता की ही उपलब्धि है।
पुस्तक पर समीक्षा लेख प्रस्तुत करते हुए कवयित्री डॉ.चंचला दवे ने कहा कि किसी भी कृति की समीक्षा साहित्य की संवाहक होने के साथ परिष्कारक भी होना चाहिए। यह कविता संग्रह उदार भावों की प्रतिस्थापना,मानवीय मूल्यों का संरक्षण, विकास एवं उन सब में जीवन के लिए  जगह बनाने का काम करता है यह संग्रह कवि के लक्ष्यों को सुंदरता से पूर्ण करता है। समालोचक टीकाराम  त्रिपाठी ने भी पुस्तक पर अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि मैंने उनकी समस्त कृतियों का अध्ययन किया है उनका रचना कर्म उच्च स्तरीय और पठनीय है।
इस अवसर पर नगर की समस्त साहित्यिक सांस्कृतिक संस्थाओं द्वारा निर्मल जी का शाल, श्रीफल, पुष्पहार एवं अभिनंदन पत्र भेंट कर सम्मान किया ।स्वर संगम समिति के अध्यक्ष हरि सिंह ठाकुर ने जीवन परिचय का वाचन किया। निर्मल जी ने अपने वक्तव्य में आयोजक संस्था एवं समस्त लोगों के प्रति अपना आभार प्रकट किया।
कार्यक्रम का प्रारंभ अतिथियों द्वारा दीप प्रज्वलन व मां सरस्वती के पूजन अर्चन से हुआ।लोक गायक देवीसिंह राजपूत ने‌ सरस्वती वंदना की।उमा कान्त मिश्र ने कार्यक्रम दिया।गरिमामय संचालन म प्र हिन्दी साहित्य सम्मेलन सागर के कोषाध्यक्ष प्रदीप पांडेय एवं श्यामलम् सचिव कपिल बैसाखिया ने ‌किया।आभार प्रदर्शन‌ संस्था के‌ कार्यकारिणी सदस्य आर. के.तिवारी ने किया।
इस अवसर‌ पर शंभू दयाल पाण्डेय, हरगोविंद विश्व,डॉ.जीवनलाल जैन, मणिकांत चौबे,मुन्ना शुक्ला, डॉ दिनेश अत्रि, डॉ आशीष द्विवेदी ,डॉ.शशिकुमार सिंह,डॉ.आर.आर. पांडेय ,शिवरतन यादव, डॉ रजनीश जैन ओ. पी .दुबे,सुनीला सराफ,नंदिनी चौधरी,डॉ.अंजना पाठक, ज्योति विश्वकर्मा,डॉ.वंदना गुप्ता,डॉ. अलका शुक्ला,दीपा भट्ट,राजेन्द्र दुबे कलाकार,जी एल छत्रसाल,राधाकृष्ण व्यास,डॉ विनोद तिवारी, डॉ अरविंद गोस्वामी, डॉ रामानुज गुप्ता,डॉ बी डी पाठक,डॉ.सीताराम श्रीवास्तव भावुक, पूरनसिंह राजपूत, डॉ अनिल जैन,ऋषभ समैया जलज,गोविंद दास नगरिया,लक्ष्मी नारायण चौरसिया,डॉ गजाधर सागर,‌ के.एल. तिवारी अलबेला,कुंदन पाराशर, डॉ अशोक कुमार तिवारी,पेट्रिस फुसकेले, अंबिका यादव, अम्बर‌ चतुर्वेदी, अशोक तिवारी अलख, वृंदावन राय सरल,मुकेश तिवारी, रमेश दुबे, मुकेश निराला,प्रभात कटारे,शिब्बू नामदेव,प्रभात कटारे,आदर्श दुबे, आनंद मिश्र अकेला,पी आर मलैया, कैलाश तिवारी,नवनीत जैन, डॉ नलिन जैन,प्राशु,सोनू जैन,ओ. पी.‌ रिछारिया, नदीम राइन, डॉ.आस्था जैन, कौशिल्या जैन, सुषमा जैन,माया जैन, नायरा जैन, पुष्पदंत हितकर,दामोदर‌ अग्निहोत्री सहित बड़ी संख्या में साहित्य प्रेमियों की उपस्थिति उल्लेखनीय रही।

पंचायतों का कार्यकाल समाप्त होने पर प्रशासकीय समिति के गठन के आदेश, निवर्तमान सरपंच बनेगा समिति का प्रधान


पंचायतों का कार्यकाल समाप्त होने पर प्रशासकीय समिति के गठन के आदेश, निवर्तमान सरपंच बनेगा समिति का प्रधान

भोपाल। एमपी  में सरपंचों के कार्यकाल खत्म होने के मद्देनजर अब पंचायतों में प्रशासकीय समिति के गठन करने के दिशा निःर्देश जारी किए हैं। इसमे ग्राम के ही लोगो को लिया जाएगा। पूर्व सरपंच को इस समिति का प्रधान बनाया जाएगा । प्रदेश के सभी कलेक्टरों को आज पंचायत एवम ग्रामीण विकास विभाग ने निःर्देश जारी किए है।

पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वाराया जारी आदेशानुसार निर्देशित किया गया था
कि ग्राम पंचायतों का कार्यकाल समाप्त होने के दिनांक से मध्यप्रदेश पंचायत राज एवं ग्राम स्वराज अधिनियम, 1993 की धारा 87(3)(ख) अनुसार वैकल्पिकव्यवस्था होने तक ग्राम पंचायतों के खातों का परिचालन एवं आहरण संवितरणसरपंचों के हस्ताक्षर से किये जाने पर पाबंदी लगाई जावे। इसी अनुक्रम में ग्राम
पंचायतों के कार्यकलापों के सुचारू संचालन की दृष्टि से वैकल्पिक व्यवस्था स्वरूप ग्राम पंचायतों का पुनर्गठन होने तक प्रशासकीय समितियों के गठन कानिर्णय लिया गया है।अतः म.प्र. पंचायत राज एवं ग्राम स्वराज अधिनियम, 1993 की धारा 87 की उपधारा (3)(ख) अनुसार प्रत्येक ग्राम पंचायत हेतु एक प्रशासकीय समिति का गठन किया जाए। प्रशासकीय समिति में वे सब पदाधिकारी जो कार्यकाल समाप्त होने से पूर्व ग्राम पंचायत के सदस्य रहे हैं, सदस्य बनाये जाएं। ग्राम
पंचायत का कार्यकाल (2015-2020) समाप्त होने के पूर्व सरपंच रहे व्यक्ति कोइस प्रशासकीय समिति का प्रधान बनाया जाए। इस समिति में ऐसे 2 व्यक्ति मनोनीत किये जाएं, जिनका नाम संबंधित ग्राम पंचायत की निर्वाचक नामावली में
सम्मिलित हो। यह प्रशासकीय समिति मनोनीत सदस्य न होने अथवा मनोनयनके अभाव में भी कार्य करती रहेगी। प्रशासकीय समिति के प्रधान एवं ग्रामपंचायत के सचिव, मध्यप्रदेश पंचायत राज एवं ग्राम स्वराज अधिनियम, 1993 की
धारा 66 एवं सुसंगत नियमों के अनुसार ग्राम पंचायत के खातों से राशि काआहरण संवितरण कर सकेंगे। ग्राम पंचायतों की प्रशासकीय समिति के गठन हेतु कलेक्टर विहित प्राधिकारी होंगे। 
उक्तानुसार ग्राम पंचायतों की प्रशासकीय समितियों के गठन काप्रतिवेदन तत्काल आयुक्त/संचालक पंचायत राज संचालनालय, म.प्र. को प्रेषित किया जाना सुनिश्चित करें।

कोरोना एवं संक्रमण बीमारियों से बचने के लिए "हम हैं इंसान" टीम ने लगाया जन-जागरूकता कैम्प

कोरोना एवं संक्रमण बीमारियों से बचने के लिए "हम हैं इंसान" टीम ने लगाया जन-जागरूकता कैम्प
सागर। सागर को पिछले 5 माह से सुंदर और स्वच्छ बनाने वाली टीम "हम हैं इंसान" ने आज मुख्य बस स्टैंड पर विशेषज्ञों के साथ मिलकर "नमस्ते सागर" जनजागरूकता कैंप के माध्यम से सागर को स्वस्थ रहने का संदेश दिया।
टीम ने बताया कि सोशल मीडिया पर कोरोना वायरस को लेकर काफी भ्रांतियां फैलाई जा रही हैं, जिससे शहरवासियों में कोरोना को लेकर भयावह माहौल है, अतः उन्हीं भ्रांतियों को दूर करने यह कैम्प लगाया जा रहा है। कोरोना तथा अन्य वायरस हमेशा गंदगी के कारण फैलते हैं, इसीलिए इनके रोकथाम हेतु स्वच्छता ज़रूरी है, अतः टीम ने सभी शहरवासियों से यह निवेदन भी किया कि अपने आसपास का वातावरण स्वच्छ बनाएं रखें जिससे शहर का हर रहवासी स्वस्थ रहे।
कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में डॉक्टर नीना गिडियन, डॉ साधना मिश्रा, डॉ मोनिका जैन, डॉ प्राची,रंजीता राणा, डॉ रूपेश साह, डॉ नीलेन्द्र राजपूत, तबरेज़ दाद (इंचार्ज 108 सर्विस), आर.के.जड़िया, पंकज सोनी शामिल हुए।
इस अवसर पर उपस्थित स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने बताया कि बुखार, शरीर में कंपकंपी, खांसी व श्वास में तकलीफ करोना के प्राथमिक लक्षण हैं। यह वायरस स्पर्श के माध्यम से एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक फैलता है। उन्होंने खांसते या छींकते समय पर मुंह और नाक पर रूमाल रखने, बुखार और खांसी के रोगियों से दूरी बनाए रखने, हाथ मिलाने या गले लगने से बचने व संपर्क होने पर हाथों को साबुन से अच्छी तरह साफ करने की हिदायत दी।
108 सर्विस इंचार्ज तबरेज़ दाद ने 108 सर्विस के बारे विस्तृत जानकारी दी। महिला दिवस के शुभावसर पर टीम ने  विशिष्ट अतिथि स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ नीना गिडियन एवं डॉक्टर साधना मिश्रा का स्मृति चिन्ह भेंटकर सम्मान किया। टीम की महिला सदस्यों ने गीत के माध्यम से महिला दिवस की शुभकामनाएं दी।

पंचायतों का कार्यकाल समाप्त होने पर प्रशासकीय समिति के गठन के आदेश, निवर्तमान सरपंच बनेगा समिति का प्रधान

पंचायतों का कार्यकाल समाप्त होने पर प्रशासकीय समिति के गठन के आदेश, निवर्तमान सरपंच बनेगा समिति का प्रधान

भोपाल। एमपी  में सरपंचों के कार्यकाल खत्म होने के मद्देनजर अब पंचायतों में प्रशासकीय समिति के गठन करने के दिशा निःर्देश जारी किए हैं। इसमे ग्राम के ही लोगो को लिया जाएगा। पूर्व सरपंच को इस समिति का प्रधान बनाया जाएगा । प्रदेश के सभी कलेक्टरों को आज पंचायत एवम ग्रामीण विकास विभाग ने निःर्देश जारी किए है। 

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर रंजना हर्ष यादव ने किया महिलाओं का सम्मान

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर  रंजना हर्ष यादव ने किया महिलाओं का सम्मान 
सागर ।  जिले की देवरी तहसील में अंतराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखीनय उपलब्धियां हासिल करने वाली महिलाओं का सम्मान किया गया। कार्यक्रम में वक्ताआें के कहने का सार यही था कि सम-विषय हर परिस्थितियों में महिलाएं पूरी जिम्मेदारी के साथ अपने दायित्वों का निर्वहन करती हैं।नवकरणीय र्जा मंत्री  हर्ष यादव की पहल पर देवरी में आयोजित इस कार्यक्रम में बड़ी संख्या में महिलाओं की उपस्थिति रही। कार्यक्रम में डा. मीरा यादव, श्रीमती रंजना हर्ष यादव, जनपद अध्यक्ष सुश्री अंचल आठया ने विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाली क्षेत्र की बेटियों, बहनों और माताओं का पुष्प गुच्छ प्रमाण पत्र और मूमेन्टों देकर सम्मान किया।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुये डा. मीरा यादव ने कहा कि बिलक्षण प्रतिभा के कारण समाज में महिलाओं का सम्मान पुरातन काल से रहा है। उन्होंने कहा कि महिलाआें के लिये कोई भी कार्य कठिन नहीं होता है। उन्होंने पुराणिक कथा का उल्लेख करते हुये कहा कि सवित्री ने यमराज से भी अपने पति का जीवन प्राप्त किया था। जबकि यह असंभव था।
श्रीमती रंजना हर्ष यादव ने कहा कि भारत एक मात्र ऐसा लोकत्रात्रिक देष है जहां राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, लोकसभा अध्यक्ष, केबिनेट मंत्री, विभिन्न प्रदेषों के मुख्यमंत्री, राजनीतिक दलों की अध्यक्ष के रूप में महिलाओं ने सफलतापूर्वक कार्य किया है। यह देखकर हमारा माथा गर्व से ऊंचा हो जाता है। वहीं दूसरी ओर महिलाओं के साथ होने वाल अन्याय और अत्याचार से हमारा सिर शर्म से झुक  जाता है। आज प्रत्येक नागरिक यह संकल्प लें कि महिलाओं को सुरक्षित रखेगे और उनकी अंदर असुरक्षा की भावना नहीं पनपने देंगे। कार्यक्रम में महाविद्यालय की प्रचार्य डा. हेमलता रिछारिया, डा. अंजना मसकोले, ने भी अपने विचार व्यक्त किये। कार्यक्रम में एसआई देवरी सुश्री वीना विष्वकर्मा ने सुंदर गीत की प्रस्तुति दी। जिसे जनसमूह सराहा।
महिला दिवस पर अतिथियों द्वारा डा. प्रियंका गोस्वामी, सुश्री कीति जैन, डा. रतना जैन, डा. षिवानी विष्वकर्मा, शालनी मिश्रा, भूमिका उदेनिया, मेघा पंत, रोषनी रैकवार रष्मि ठाकुर, पलक खरे, अंकिता गुप्ता आदि महिलाओं का सम्मान किया गया। कार्यक्रम का संचालन डा. अलका ने किया। इस कार्यक्रम में कोरेना वायरस से बचाव से संबंध में महिलाओं को बताया गया। कहा गया कि वायरस से डरने की आवष्यकता नहीं है। सावधानी रखना है ताकि बीमारी पास भी न भटके। मतदाता सूची के पुर्नरीक्षण कार्यक्रम के बारे में जानकारी दी गई। कार्यक्रम के अंत में जनपद अध्यक्ष सुश्री अंचल आठया ने सभी का आभार व्यक्त किया।


नौरादेही अभ्यारण : प्रभावित लोगों का शत-प्रतिशत होगा विस्थापन : कलेक्टर

Archive