SAGAR : 8000 से अधिक व्यक्तियों ने कोरोना से जीती जंग ,आत्मबल और मनोबल बनाए रखें

शनिवार, 21 दिसंबर 2019

ABVP महाकौशल प्रांत का 52 वां प्रांतीय अधिवेशन सागर में

ABVP महाकौशल प्रांत का 52 वां प्रांतीय अधिवेशन सागर में 
सागर।अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद  के  प्रदेष मंत्री  सतेन्द्र पटवा ने बतााया कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का 52 वां प्रदेश अधिवेशन डॉ हरीसिंह गौर की नगरी सागर में 17 से 19 जनवरी 2020 को संपन्न होगा। जिसमें पूरे प्रांत से मेडिकल,एग्रीकल्चर,वेटनरी एवं खेल एवं अन्य विधाओं के 1000 कार्यकर्ता सम्मिलित होंगे इस अधिवेशन की थीम (शिक्षा से सम्मान समृद्ध बने देश महान) रखी गई है समूचे प्रांत से आए हुए प्रतिनिधि इस अधिवेशन में मध्यप्रदेश का वर्तमान शैक्षणिक परिदृश्य, मध्यप्रदेश का वर्तमान परिदृश्य  एवं महिला शिक्षा एवं सुरक्षा के विषय पर चर्चा कर तीन प्रस्ताव पारित करेंगे। साथ ही वर्ष 2019 - 2020 के नवीन प्रांत अध्यक्ष एवं प्रान्तमंत्री का निर्वाचन एवं नए सत्र की प्रान्त  कार्यकारिणी यहां घोषित की जाएगी। इस अधिवेशन परिसर का नाम बुंदेलखंड में शिक्षा के स्तर में अमूल चूल परिवर्तन लाने वाले डॉ.हरीसिंह गौर जी के ऊपर रखा गया है साथ ही मुख्य सभागार को शहीद कालीचरण जी को समर्पित किया जाएगा पूरे अधिवेशन में पूरे प्रांत से आए कार्यकर्ताओं हेतु मुख्य आकर्षण बुंदेली संस्कृति से सजाया जाएगा साथ ही अधिवेशन में लगने वाली प्रदर्शनी की भी विशेष तैयारियां की जा रही है जिसमें विशेष रूप से गुरु नानक देव जी के 550 वें प्रकाश पर्व,जलियांवाला बाग के 100 वर्ष एवं गांधी जी के 150 वें वर्ष की प्रदर्शनी लगाई जाएगी साथ ही प्रांत भर मैं हुई अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की गतिविधियों के बारे में भी प्रदर्शनी लगाई जाएगी प्रदर्शनी उद्घाटन 16 जनवरी को किया जाएगा एवं अधिवेशन उद्घाटन 17 जनवरी को रहेगा जिसमें अभाविप के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. एस सुब्बैया उपस्थित रहेंगे। साथ ही 18 जनवरी को सागर शहर में भव्य शोभा यात्रा का आयोजन किया जाएगा जिसमें सभी जिलों की  झांकियों को देखने एवं समझने का मौका मिलेगा साथ ही शोभा यात्रा का समापन खुला अधिवेशन के रूप में हुआ होगा जिसमें प्रदेशभर से आए छात्र नेता भाषण देंगे एवं 19 जनवरी  को शाम तक यह आयोजन किये जाएंगे। 
 

अनिता किंग बनी ग्रामीण महिला सेवादल की अध्यक्ष,सेवादल ने किया सिखतीर्थ यात्रियों का स्वागत

अनिता किंग बनी ग्रामीण महिला सेवादल की अध्यक्ष,सेवादल ने किया सिखतीर्थ यात्रियों का स्वागत

सागर। अखिल भारतीय कांंग्रेस सेवादल अध्यक्ष लाल जी भाई देसाई की सहमति से प्रदेश कांंग्रेस सेवादल अध्यक्ष सतेन्द्र यादव की अनुमोदन एवं यंग बिग्रेड प्रदैश अध्यक्ष धर्मेद्र भदोरिया, प्रदेश संयोजक विजय साहू , महिला विंग की प्रदेश सचिव रिचा राजपूत की अनुशंसा पर सेवादल महिला विंग की प्रदेश अध्यक्ष श्रीमति राजकुमारी रघुवंशी  ने बीना की कांंग्रेस नेत्री अनिता किंग को ग्रामीण कांंग्रेस सेवादल महिला  का नयाअध्यक्ष नियुक्त किया  है। कांंग्रेस सेवादल जिला शहर कांंग्रेस सेवादल एवं समस्त कांंग्रेस परिवार की ओर से हार्दिक बधाई शुभकामनाएं। इस अवसर पर असंगठित क कामगार कांंग्रेस के प्रदेश सचिव मुकेश खटीक ने समस्त कांंग्रेस सेवादल पदाधिकारियों को प्रदेश कार्यालय में  नियुक्ति पर बधाई दी।
शहर सेवादल ने किया सिख  तीर्थ यात्रियों का स्वागत
सागर । मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा पहली बार मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के तहत सिख धर्म के तीर्थं दर्शन के लिए ट्रेनें चालू की हैं ।
उसी योजना के तहत आज सागर से  सिख तीर्थ पांच तखत में श्री दमदमा साहिब के लिए   ट्रेन रवाना हुई है ।आज इस ट्रेन में सागर से 229 यात्री दर्शन करने गए है। इस से  पहले श्री अमृतसर साहिब और पटना साहिब सिख तीर्थ दर्शन ट्रेन जा चुकी है । मध्य प्रदेश का सिख समाज और श्री गुरुनानक नाम लेवा  मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ जी का ऋणी है।
इस मौके पर सेवादल अध्यक्ष सिंटू कटारे और प्रदेश सचिव अमित राम जी दुबे के नेतृत्व में यात्रियों का स्वागत किया गया। इस मौके पर कार्यकारी अध्यक्ष जितेंद्र चावला,मुन्ना चोबे, चक्रेश सिंघई,शरद पुरोहित,हेमराज रजक, हरप्रीत होरा,पप्पी दुग्गल,पवन घोषी, फहीम अंसारी, अन्नू घोषीआदि शामिल हुए।

नगरीय निकायों के चुनाव के मद्देनजर भाजपा तैयार रहे: पूर्व गृहमन्त्री भूपेंद्र सिंह, पार्षदों एवं एल्डरमेनों की बैठक

नगरीय निकायों के चुनाव के मद्देनजर भाजपा तैयार रहे: पूर्व गृहमन्त्री भूपेंद्र सिंह

 पार्षदों एवं एल्डरमेनों की बैठक 
सागर । भारतीय जनता पार्टी के सागर नगर निगम के सभी पार्षदों ,पार्टी  प्रत्याषियों और एल्डरमेनों की बैठक कार्यालय में सम्पन्न हुई। बैठक में संभागीय संगठन मंत्री केषव सिंह भदौरिया, पूर्व गृह मंत्री भूपेन्द्र सिंह विधायक शैलेन्द्र जैन एवं  जिलाध्यक्ष प्रभुदयाल पटेल ने दीप प्रज्जवलित कर किया। बैठक प्रारंभ में  पार्षद याकृति जड़िया ने एकलगीत लिया।
 पूर्व मंत्री, विधायक भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि मप्र की कांग्रेस सरकार तीनों क्षेत्रों में मात्र काम कर रही है। जनता को धोखा देना, भ्रष्टाचार के मानक तोड़ना और कानून व्यवस्था का बंटाधार कर क्षेत्र में लूट अपराध, डकैती बदमासी का जमकर फलफूल रहा है। विकास के नाम पर प्रदेष में शून्य की अवधारणा साकार हो रही है। ऐसे में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता जन-जन के बीच जाकर केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी जनकल्याणकारी योजनाओं से जन-जन को अवगत कराकर नगरीय निकाय चुनाव को ध्यान में रखते हुए भाजपा के पक्ष में माहौल बनाने के लिए कमर कसके कार्य करें। जिससे निष्चित रूप से आगामी समय में होने वाले नगरीय निकाय चुनाव में भाजपा को प्रचंड बहुमत से विजयश्री प्राप्त हो इस बात की चिंता समस्त पार्षदों एवं पार्टी कार्यकर्ताओं को करनी है। 
भाजपा के संभागीय संगठन मंत्री केषव सिंह भदौरिया ने परिचयात्मक बैठक में सबसे क्षेत्रवार जानकारी लेते हुए संगठन के विस्तार के संबंध में विस्तृत रूप से दिषा-निर्देष दिये। उन्होंने कहा कि भाजपा का कार्यकर्ता सतत् चलने वाला कार्यकर्ता कहलाता है। 
विधायक  शैलेन्द्र जैन ने  कहा कि नगरीय निकाय चुनाव को देखते हुए समस्त पार्षद एवं पार्टी के कार्यकर्ता कमर कसकर केंद्र सरकार की महत्वकांक्षी योजनाओं से जन-जन से अवगत कराये।  भाजपा के पक्ष में माहौल बनाकर भाजपा को नगरीय निकाय चुनाव में विजयश्री दिलाने के लिए एकजुट होकर कार्य करें जिससे निष्चित रूप से भाजपा को विजयश्री प्राप्त होगी। 
 भाजपा जिलाध्यक्ष प्रभुदयाल पटेल ने भी सम्बोधित किया।बैठक का संचालन शैलेष केषरवानी ने एवं आभार वैभव कुकरेले ने जताया
ये रहे बैठक में
। बैठक में लक्ष्मण सिंह, गणेष पटेल, विनोद तिवारी, नरेष यादव, राजेष केषरवानी,प्रदीप राजोरिया, याकृति जड़िया, षारदा कोरी, संजय दुबे, डेलन सिंह, सोमेष जड़िया, अखलेष घोषी, चेतराम पटेल, सुबोध पाराषर, हेमन्त यादव, धमेन्द्र खटीक, गोलू जैन, प्रभुदयाल साहू, गंगाराम ठेकेदार, श्वेता यादव, सुनीता रैकवार, पुष्पा पटेल, अजय देवलचोरी, संदीप सोनी, जिनेष साहू, रीतेष तिवारी, सुनीता रैकवार, रामू ठेकेदार, जावेद खान, हरेन्द्र खटीक सहित बड़ी संख्या में भाजपा पार्षद एवं नगरीय निकाय चुनाव में रहे भाजपा प्रत्याषी के साथ ही एल्डरमेन उपस्थित रहे। 

ग्राम सभा मे उपद्रव मचाने और सहायक सचिव से मारपीट करने वाला पांच हजार का इनामी बदमाश गिरफ्तार

ग्राम सभा मे उपद्रव मचाने और सहायक सचिव से मारपीट करने वाला पांच हजार का इनामी बदमाश गिरफ्तार
सागर। सागर जिले की खिमलासा पुलिस ने पाँच हजार रुपये का  इनामी आरोपी बदमाश को  गिरफ्तार किया है । इस पर ग्राम सभा मे उपद्रव मचाने का मामला भी दर्ज है।
थाना खिमलासा प्रभारी कृपाल मार्को ने बताया कि पुलिस अधीक्षक के मार्गदर्शन में फरार आरोपियों की तलाश जारी है। खिमलाशा थाने ने सहायक सचिव रतिराम अहिरवार ने 21 अगस्त को मामला दर्ज कराया था कि  ग्राम खरेरा में ग्राम सभा का आयोजन किया गया था। इस दौरान आरोपी राजा बाबू बघेल पिता बहादुर सिंह बघेल निवासी खरेरा द्वारा शासकीय कार्य में व्यवधान उत्पन्न करते हुए फरियादी रतिराम अहिरवार के साथ मारपीट की। जिस पर   धारा 294 ,353 ,332 506 ,आईपीसी  3-1-r,3-1-s 3 -2- 5 ए एससी एसटी एक्ट के तहत अपराध पंजीबद्ध किया गया था ।आरोपी घटना दिनांक से फरार था। आरोपी के विरुद्ध पाँच हजार रुपये कर  इनाम की घोषणा पुलिस अधीक्षक  द्वारा की गई थी। आरोपी के विरुद्ध  न्यायालय एससी एसटी एक्ट सागर के यहां धारा 299 सीआरपीसी के तहत चालान पेश किया गया था। न्यायालय द्वारा आरोपी का फरारी स्थाई वारंट जारी किया गया था। आरोपी   को गिरफ्तार  कर न्यायालय पेश किया गया।

कोर्ट मोहर्रिर पुलिस और न्यायालय की महत्वपूर्ण कड़ी:आईजी सतीश सक्सेना

कोर्ट मोहर्रिर पुलिस और न्यायालय की महत्वपूर्ण कड़ी:आईजी सतीश सक्सेना

सागर।  सागर जिले  के न्यायालय  एवं जिला सागर की समस्त तहसील न्यायालयों  में पदस्थ कोर्ट मोहर्रिर की एक दिवसीय दक्षता कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस अवसर पर महानिरीक्षक सतीश सक्सेना ने कहा कि कोर्ट मोहर्रिर पुलिस व न्यायालय के बीच महत्वपूर्ण कडी है। न्यायालय में कोर्ट मोहर्रिरों का भी महत्वपूर्ण कार्य होता है। और सागर के लिए यह गर्व का विषय है कि सागर जिला के न्यायालय में पदस्थ कार्यरत कोर्ट मोहर्रिरों की पूरे प्रदेश में तारीफ हो रही है।
सागर बना रोल मॉडल
आई जी ने बताया कि सागर  के कार्यो को रोल माॅडल के रूप में  महानिदेशक/डी जी लोक अभियोजन  पुरूषोत्तम शर्मा ने लागू करने के निर्देश दिये है। मै इसके लिए आप सभी को बधाई देता  हूॅ। कि आप सभी की संयुक्त मेहनत का यह परिणाम आ रहा है। कार्यशाला के दौरान पुलिस अधीक्षक  अमित सांघी द्वारा पुलिस महानिरीक्षक  सतीश सक्सेना को अवगत कराया गया कि सागर पूर्व से ही कोर्ट मोहर्रिर की नियमित रूप से कार्य समीक्षा के संबंध में समीक्षा बैठक प्रत्येक माह ली जा रही है। जिसकेसुखद  परिणाम भी देखने को मिले है। कोर्ट मोहर्रिरों की कार्यप्रणाली में भी सुधार आया है। एवं सकारात्मक परिणाम भी प्राप्त हुये है। डी.जी. लोक अभियोजन द्वारा सागर में ली जा रही समीक्षा बैठकों के संबंध में और उसके परिणामों को लेकर प्रश्ंासा पत्र पुिलस अधीक्षक  अमित सांघी, अति. पुलिस अधीक्षक राजेश व्यास,  विक्रम सिंह परिहार को जारी किये गये। सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी अमित कुमार जैन द्वारा जो नियमित रूप से समीक्षा बैठक ली जा रही हैं अतः इस संबंध में जो परिणाम प्राप्त हो रहे है इसके संबंध मे पावर पाइन्ट प्रजेन्टेशन पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों के समक्ष प्रस्तुत किया गया । श्री सक्सेना ने इस अवसर पर बहतर प्रदर्शन करने वाले कोर्ट मोहर्रिर अभियेाजन अधिकारीगण एवं पुलिस अधिकारीगण को प्रशंसा प्रत्र देकर सम्मानित किया। कार्यशाला में पुलिस अधीक्षक  अमित सांघी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक  राजेश व्यास ,  विक्रम सिंह परिहार , उप-संचालक अभियोजन  अनिल कटारे, डी पी ओ राजीव रूसिया अन्य अभियोजन अधिकारी श्री जिनेन्द्र कुमार जैन, श्री शिवसंजय अहिरवार, मीडिया प्रभारी सौरभ डिम्हा , श्रीमति प्रियंका जैन अन्य अधिकारी व कार्मचारी उपस्थित रहें।

कार पेड़ से टकराई छत्तरपुर के रेत कारोबारी शंकर शुक्ला की मौत,तीन घायल

 कार पेड़ से टकराई छत्तरपुर के रेत कारोबारी शंकर शुक्ला की मौत,तीन घायल

सागर। छत्तरपुर के रेत  कारोबारी और कांग्रेस नेता शंकर शुक्ला की सागर कानपुर हाईवे पर  एक सड़क हादसे में मौत हो गई। भोपाल से छतरपुर जाते समय बंडा थाना अंतर्गत दलपतपुर के शिव मंदिर के पास उनकी फार्च्यूनर  कार अनियंत्रित होकर  पेड़ से टकरा गई। बताया जाता है रात्रि में कुहरे के कारण यह हादसा हुआ। इसमे तीन अन्य घायल हो गए जिनको इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। शंकर शुक्ला का पीएम कराने के बाद शव  परिजनों को सौंप दिया गया है ।अभी गौरिहार थाना क्षेत्र   के गोयरा गांव के रहने बाले है।अश्वनी द्विवेदी , जितेंद्र यादव ड्राइवर आदि घायल हुए है।

मध्यप्रदेश । कांग्रेस विधायक बनवारी लाल शर्मा का निधन,जौरा से विधायक

मध्यप्रदेश । कांग्रेस विधायक बनवारी लाल शर्मा  का निधन,जौरा से विधायक
भोपाल। मध्यप्रदेश के मुरैना जिले की जौरा विधानसभा से कांग्रेस के विधायक बनवारी लाल शर्मा का निधन हो गया। वो लंबे समय से कैंसर से पीड़ित थे। भोपाल के कैंसर अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था। जहा उनका निधन हो गया। उन्होंने राजनीति में सरपंच से लेकर विधायक तक का सफर तय किया था।
हाल ही में मुख्यमंत्री कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया कांग्रेस विधायक बनवारी लाल शर्मा की नातिन की शादी में एक साथ दिखाई दिए थे। उनके निधन पर सीएम कमलनाथ, वरिष्ठ नेता जयोतिरादित्य सिंधिया,पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान,नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव सहित अनेक नेताओं ने शोक जताया है।
 सफर राजनीति  का 
 बनवारी लाल शर्मा कांग्रेस के टिकिट पर 1993 , 2013 तथा 2018  में  जौरा विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़े । दो चुनाव हारे , 2018 का जीते ।जापथाप ग्राम पंचायत के सरपंच पद से की थी राजनीति शुरू की थी। शुरू से ही सिंधिया के रहे कट्टर समर्थक, हाल ही में विधायक की नातिन की शादी में आये थे सिंधिया कमलनाथ । पिछले 2018 में भारी मतों से  बनवारी लाल शर्मा चुनाव जीते थे।
मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में बनवारी लाल शर्मा को 56,187 वोट मिले थे। उन्होंने बहुजन समाज पार्टी के उम्मीदवार को हराया था। 2013 के विधानसभा चुनाव में बनवारी लाल शर्मा भाजपा उम्मीदवार सूबेदार सिंह से चुनाव हार गए थे। 2013 में हार का अंतर करीब 2 हजार वोट था।
 विधायक बनवारीलाल शर्मा का पार्थिव शरीर सडक मार्ग से मुरैना लाया जा रहा है ।सिंधिया की मुख्यमंत्री से हुई चर्चा के बाद हैलीकॉप्टर से आना था  लेकिन कोहरा से व्यवधान आ गया।   अब भोपाल से एंबुलेंस से रवाना  किया गया गया  है। सभी मुरैना होकर जापथाप पहुंचेंगे । उनके  गृह गांव जापथाप में ही  कल रविवार को अंतिम संस्कार  होगा।  प्रदेश के अनेक बडे राजनीतिज्ञों के आने की संभावना ।
सीएम कमलनाथ ने ट्वीट कर शोक जताते हुए कहा कि जौरा के विधायक,हमारे परिवार के सदस्य बनवारी लाल शर्मा के दुःखद निधन का समाचार मिला। वे पिछले कुछ समय से बीमार चल रहे थेउनका निधन मेरे लिये एक व्यक्तिगत क्षति हैपरिवार के प्रति मेरी शोक संवेदनाएँ
ईश्वर उन्हें अपने श्रीचरणो में स्थान,पीछे परिजनो को यह दुःख सहने की शक्ति प्रदान करे।

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जौरा विधायक के निधन पर शोक प्रकट किया है। शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट करते हुए कहा- जौरा विधायक बनवारी लाल शर्मा जी के निधन का दुखद समाचार मिला। ईश्वर से प्रार्थना है कि वे दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें और शोकाकुल परिजनों को यह गहन दुःख सहन करने की शक्ति प्रदान करें। विनम्र श्रद्धांजलि!

शुक्रवार, 20 दिसंबर 2019

प्रधानमंत्री आवास में गड़बड़ी, कमिश्नर से कार्यवायी के लिए पत्र लिखा महापौर ने, आडिटोरियम का निर्माण घटिया, ठेकेदार /इंजीनियर के खिलाफ़ कार्यवाही के निर्देश

प्रधानमंत्री आवास में गड़बड़ी, कमिश्नर से कार्यवायी के लिए पत्र लिखा महापौर ने,
आडिटोरियम का निर्माण घटिया, ठेकेदार /इंजीनियर के खिलाफ़ कार्यवाही के निर्देश

सागर । नगर  निगम सागर के  महापौर अभय दरे  अपने इस  कार्यकाल के अंतिम दिनों में सख्त नज़र आ रहे है । महापौर  ने संभाग कमिश्नर को पत्र लिखकर मांग की है कि प्रधानमंत्री आवास योजनाके बी. एल. सी.  घटक के तहत प्लाट पर एवं कच्चे मकान को पक्का बनाने के लिए शासन द्वारा दी जाने वाली ढाई लाख रूपये की राशि की किश्तें हितग्राहियों के खाते में भेजने के लिए बी. एल. सी. शाखा में पदस्थ कर्मचारियों द्वारा हितग्राहियों से पैसे की मांग की जा रही है तथा पैसा लेकर ही किस्तें उनके खातों में भेजी जा रही हैं| इस प्रकार की शिकायतें लगातार मेरे पास सभी वार्डों के हितग्राहियों द्वारा की जा रही हैं| साथ ही बी. एल. सी. शाखा के कर्मचारियों द्वारा कलेक्टर द्वारा अनुमोदित 3337 के हितग्राहियों की डी.पी.आर. में कई पेजों को बदलकर उनमे नए हिग्राहियों के नाम जोड़ दिए हैं जिसकी जांच कराकर दोषी पाए जाने वाले कर्मचारियों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही की जाए|।
महापौर ने पत्र में लेख किया है कि बी.एल.सी. योजना के अंतर्गत पात्र हितग्राहियों को योजना का लाभ दिया जाता है, किन्तु विगत एक वर्ष से देखा जा रहा है कि योजना शाखा में शामिल कर्मचारियों कि भूमिका संदेह पूर्ण है, यहाँ तक की 3337 हितग्राहियों की सूची जिसमे कलेक्टर महोदय, आयुक्त के प्रत्येक पेज पर हस्ताक्षर थे, उस सूची को छेड़छाड़ कर दूसरी सूची आ रही है| इस प्रकार की मेरे समक्ष अनेक बार शिकायतें आईं कि  राजकुमार गुप्ता तथा अन्य उनके साथ के कर्मचारियों द्वारा बी.एल.सी. शाखा में अनेक प्रकार की अनियमितताएं एवं शिकायतें प्राप्त हो रही हैं| यहाँ तक की मेरे द्वारा की गयी जन सुनवाई में शहर के सभी 48 वार्डों की गरीब जनता द्वारा बी.एल.सी. के सम्बन्ध में आवेदन प्राप्त हुए जो मेरे माध्यम से बी.एल.सी. शाखा को  भेजे गए, किन्तु उन गरीब हितग्राहियों के नाम काटकर धनाढ्य लोगों के नामलिस्ट में जोड़कर बी.एल.सी. योजना का लाभ दिया जा रहा है|
बी.एल.सी. शाखा में पदस्थ नगर निगम के लिपिक  राजकुमार गुप्ता,  दिनेश कन्नोजिया, तथा अन्य प्लेसमेंट एजेंसियों के माध्यम से कार्यरत कर्मचारियों की कार्य प्रणाली संदेह पूर्ण है| ऐसा ज्ञात हुआ है कि नगर निगम के कर्चारियों द्वारा अपने प्राइवेट एजेंट नियुक्त कर वार्डों में भेजे जा रहे हैं और हितग्राहियों से रकम ली जा रहे है|अतः इस सम्बन्ध में बी.एल.सी. शखा में पदस्थ लिपिक एवं अन्य कर्मचारियों की जांच कराकर दोषी पाए जाने वाले कर्चारियों के विरद्ध सख्त कार्यवाही की जाए।
आडिटोरियम का निर्माण घटिया
 महापौर अभय दरे ने मेयर इन काउंसिल के सदस्यों के साथ मोतीनगर चौराहा के पास लगभग 12 करोड़ रूपये की लागत से बनाये जा रहे ऑडिटोरियम के निर्माण कार्य का निरीक्षण किया| निरीक्षण के दौरान उन्होंने ग्राउंड फ्लोर में किये गए कार्य की सराहना की उसके बाद प्रथम तल के कार्य का जब उन्होंने निरीक्षण किया तो दीवालों पर किये गए प्लास्टर के कार्य में घोर लापरवाही की गयी साथ ही कार्य में  गुणवत्ता का ध्यान भी नहीं रखा गया| महापौर ने जब चाबी से दीवालों पर किये गए प्लास्टर की टेस्टिंग की तो प्लास्टर निकलने लगा| इसके साथ ही दीवालों पर जगह जगह दरारे पायी गयी साथ ही प्रथम तल पर बाउंड्री वाल को ठीक तरह से न बनाये जाने पर महापौर ने नाराजगी व्यक्त करते हुए सम्बंधित ठेकेदार एवं इंजीनियर के विरुद्ध सख्त कार्यवाही के निर्देश निगम आयुक्त को दिए हैं|
      निरीक्षण के दौरान महापौर ने बताया कि पूर्व मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान द्वारा भाजपा परिषद् के कार्यकाल की यह एक  बड़ी उपलब्धि सागर को ऑडिटोरियम निर्माण के लिए दी गयी थी यह प्रोजेक्ट लगभग 12 करोड़ रूपये की लागत से तैयार किया जा रहा है| मेरे द्वारा पूर्व में भी कई बार निरीक्षण किया गया था उस समय भी मैंने कहा था कि ऑडिटोरियम के निर्माण में किसी भी प्रकार की लापरवाही न की जाए उसके बाद भी आज निरीक्षण के दौरान पाया कि प्रथम तल पर ठेकेदार द्वारा प्लास्टर सहित अन्य कार्यों में गुणवत्ता का ध्यान नहीं रखा गया| इसके साथ ही प्रथम तल पर निर्माण के दौरान तराई न किये जाने के कारण दीवालों में क्रेक आ गए हैं| कार्य में लापरवाही किये जाने पर  ठेकेदार एवं सम्बंधित इंजिनियर के विरुद्ध सख्त कार्यवाही की जाएगी| |निरीक्षण के दौरान एम्. आई. सी. सदस्य  विनोद तिवारी, याक्रति जडिया, नीरज जैन गोलू, धर्मेन्द्र खटीक, सुबोध पाराशर सहित अन्य लोग उपस्थित थे|

सागर नगर निगम ओडीएफ डबल प्लस घोषित, महापौर /आयुक्त ने दी बधाई

सागर नगर निगम ओडीएफ डबल प्लस घोषित, महापौर /आयुक्त ने दी बधाई 
सागर । नगर निगम सागर स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 की प्रतियोगिता में ओडीएफ डबल प्लस घोषित किया गया है। उल्लेखनीय है कि इस वर्ष स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 की प्रतियोगिता में नगर निगम सागर द्वारा ओडीएफ डबल प्लस के लिए प्रतियोगिता में भाग लिया था। इस प्रतियोगिता में सागर शहर के नगर निगम सीमा क्षेत्र में स्थित सभी सार्वजनिक एवं सामुदायिक शौचालयों की स्थिति का आकलन कर उनके मापदंडों के अनुसार नगर निगम द्वारा तैयार कराया गया कराया गया है। जिससे लोगों को सार्वजनिक एवं सामुदायिक शौचालय में सभी सुविधा प्राप्त हो नगर निगम आयुक्त आर पी अहिरवार द्वारा लगातार इस प्रतियोगिता  को दृष्टिगत रखते हुए सभी शौचालयों में सुविधाएं उपलब्ध कराई हैं जिसके तहत दिल्ली से आई यू सी आई की टीम द्वारा प्रत्येक मापदंड के अनुसार इसका सर्वे किया और अन्य शहरों की तुलना में सागर नगर निगम को श्रेष्ठ पाया जिस कारण सागर नगर निगम ओडीएफ डबल प्लस की प्रतियोगिता में सफल हुआ.
महापौर इंजीनियर अभय  दरें एवं नगर निगम आयुक्त  ने सागर शहर के लिए ओडीएफ डबल प्लस की उपलब्धि मिलने पर सभी नागरिकों को सहयोग देने के लिए धन्यवाद दिया साथ ही उन्होंने नगर निगम की दिन रात मेहनत करने वाली टीम को बधाई दी उन्होंने कहा कि आप स्वच्छता सर्वेक्षण 1920 की प्रतियोगिता का समय आ गया है सभी नागरिक शहर को स्वच्छ एवं सुंदर बनाने में नगर निगम का सहयोग करें जिससे सागर अन्य महानगरों की भांति इस बार स्वच्छता सर्वेक्षण की परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त कर सकें

सागर को बहुत जल्द मिल सकते है दो बडे बाय पास, विधायक शैलेंद्र जैन को विधानसभा में उठाया मुद्दा

सागर को बहुत जल्द मिल सकते है दो बडे बाय पास, विधायक शैलेंद्र जैन  को विधानसभा में उठाया मुद्दा
सागर ।सागर विधायक शैलेन्द्र जैन ने मध्यप्रदेश विधान सभा में शीतकालीन सत्र के दौरान प्रश्न के माध्यम से सागर के बायपास मार्ग/रिंग रोड निर्माण एवं सड़को के रखरखाब का मुद्दा उठाया। विधायक शैलेन्द्र जैन ने कहा कि, शासन सागर नगर में भारी वाहनों के बढ़ते दबाव एवं यातायात व्यवस्था सुगम बनाये जाने हेतु भोपाल रोड से नरसिंहपुर रोड को जोड़ने वाले नये बायपास मार्ग/रिंग रोड निर्माण कब तक करायेग।
इसके उत्तर में लोक निर्माण मंत्री  सज्जन सिंह वर्मा ने बताया कि, बायपास मार्ग/रिंग रोड निर्माण का कार्य भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अधीन है। भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण से प्राप्त जानकारी अनुसार सागर के अंतर्गत भोपाल-विदिशा-सागर रा.रा. क्र. 146 के फोर लाईन/चैड़ीकरण के कार्य हेतु विस्तृत परियोजना रिपोर्ट का कार्य प्रगतिरत है। जिसमें एक पैकेज भोपाल रोड पर बेरखेड़ी के पास सागर शहर को बायपास करते हुये गढ़पहरा झाँसी रोड तक का डी.पी.आर. कार्य प्रगतिरत है। भोपाल-सागर रा.रा. क्र. 146 पर भापेल तिराहे से नरसिंहपुर रोड पर बम्होरी बीका तक को जोड़ने वाले नये बायपास मार्ग निर्माण/रिंग रोड निर्माण का कार्य विचाराधीन है जिसके तहत डी.पी.आर. सलाहकार द्वारा एकरेखण रिपोर्ट जमा की गई है, जिसकी स्वीकृति की प्रक्रिया प्रगतिरत है।।
दूसरे प्रश्न में विधायक शैलेन्द्र जैन ने पूछा कि, सागर नगर से जुड़ी लोक निर्माण विभाग द्वारा बनाई गई सड़कें काफी जर्जर होने के बाद भी इनका रख-रखाव/पुनर्निर्माण नहीं हो रहा है। उक्त सड़कों को विभाग द्वारा स्थानीय प्रशासन को हस्तांतरित कर इनके रख-रखाव/पुनर्निर्माण हेतु काई अतिरिक्त बजट उपलब्ध करायेगा। 
इसके उत्तर में लोक निर्माण मंत्री श्री सज्जन सिंह वर्मा ने बताया कि,  सड़कों के रख-रखाव/पुनर्निर्माण की मार्गों पर संधारण कार्य नियमित रूप से किया जा रहा है। लोक निर्माण विभाग के अधीन 14 सड़कों एवं म.प्र. सड़क विकास निगम की 01 सड़क का रख-रखाव कार्य कर दिया गया है एवं यह प्रक्रिया निरंतर जारी है।
 चिट फण्ड कंपनी की अनियमित्ताओं का मुद्दा उठाया 
सागर विधायक शैलेन्द्र जैन ने मध्यप्रदेश विधान सभा में शीतकालीन सत्र के दौरान ध्यानाकर्षण के माध्यम से चिट फण्ड कंपनी की अनियमित्ताओं एवं निवशकों की राशि का भुगतान कराये जाने का मुद्दा उठाया। निवेशकों को वित्तीय राशि का भुगतान नहीं होने से हजारों निवेशकों एवं उनके परिवारजनों में असंतोष तथा आक्रोश व्याप्त है। विधायक शैलेन्द्र जैन ने सदन में ध्यानाकर्षण के माध्यम से चिट फण्ड कंपनी द्वारा निवेशकों की राशि का भुगतान शीघ्र कराये जाने को कहा।

65वीं राष्ट्र स्तरीय शालेय कूडो क्रीड़ा प्रतियोगिता रंगारंग समापन

65वीं राष्ट्र स्तरीय शालेय कूडो क्रीड़ा प्रतियोगिता रंगारंग समापन
सागर । खेल में हार जीत आवष्यक नहीं खेलना आवष्यक है और खेल के लिए पूरी खेल भावना के साथ खेला जाना चाहिए। उक्त विचार  65वीं राष्ट्र स्तरीय शालेय कूडो क्रीड़ा प्रतियोगिता के समापन अवसर पर कमिष्नर सागर संभाग  आनंद कुमार शर्मा ने स्वीडिष मिषन स्कूल मैदान में व्यक्त किए। 
कमिष्नर श्री शर्मा ने कहा कि खेल से स्वस्थ प्रतिस्पर्धा का जन्म होता है हार से भी दोस्ती करें क्योंकि इससे आपको आगे बढ़ने का रास्ता मिलता है। उन्होंने कहा कि खेल के माध्यम से दूसरे साथ की तुलना में ज्यादा प्रतिस्पर्धी रहते है। उन्होंने कहा कि सागर में विगत दिनों भी कूडो प्रतियोगिता आयोजित की गई थी जो सफलता पूर्वक संपन्न हुई थी और आज राष्ट्रीय प्रतियोगिता का समापन बड़े ही सोहार्द वातावरण में संपन्न हुआ। 
स्वागत भाषण देते हुए संयुक्त संचालक लोक षिक्षण सागर संभाग डा. आरएन शुक्ला ने कहा कि प्रतियोगिता कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक के निर्देषन में सफलता पूर्वक संपन्न हो रही है। दीपक मेमोरियल विद्यालय के बैंड दल एवं फील्ड मार्षल श्री रविन्द्र खटोल के निर्देषन में आकर्षक मार्चपास्ट कराया गया। साथ ही पारस विद्या बिहार, कैब्रिज हाईट्स स्कूल एवं उत्कर्ष पब्लिक स्कल के छात्र-छात्राआंे द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों द्वारा पस्तुत किए गए।  कार्यक्रम का संचालन  राजकुमार कपूर, श्रीमती रचना तिवारी एवं  मुकेष तिवारी ने किया जबकि आभार उप संचालक एचएन नेमा ने माना।
इस अवसर पर श्रीमती शारदा खटीक, मोंटी यादव, एचएन नेमा, जिला षिक्षा अधिकारी डा. महेन्द्र प्रताप तिवारी,  एचपी कुर्मी, नीलेष चौबे, श्री आरके वैद्य, डा. महेष राजपूत, श्री सुधीर तिवारी, श्री अनिल मिश्रा, आशुतोष गोस्वामी, जे.के. सोनी, मुकेश तिवारी, संदीप शुक्ला, मनोज शुक्ला, विनय शुक्ला समिति संयोजक एम कुमार जीके सोनी सी.जे फिलिफ स्वीडिश मिशन स्कूल की प्राचार्य आर के डेविड शशिभूषण तिवारी जिला क्रीडा अधिकारी संजय दादर, श्री मनीष नेमा, बलवंत यादव सदस्य आदि उपस्थित रहे।

65वीं राष्ट्र स्तरीय शालेय कूडो क्रीड़ा प्रतियोगिता सागर म.प्र.
प्रतियोगिता दिनांक 16.12.2019 से 20.12.2019 तक
पदक तालिका
क्र. राज्य पदक कुल
गोल्ड सिल्वर ब्राउंज
1 मध्यप्रदेश 26 16 08 50
2 महाराष्ट्र 18 20 10 48
3 राजस्थान 04 05 12 21
4 गुजरात 02 05 20 27
5 दिल्ली 02 04 11 17
6 गोवा 02 01 10 13
7 सी.बी.एस.ई. 02 - 04 06
8 उतरप्रदेश - 04 10 14
9 विघा भारती - 01 06 07
10 छत्तीसगढ़ - - 13 13
11 अण्डमान निकोबार - - 04 04
12 आई.पी.एस.सी. - - 03 03
13 पंजाब - - 01 01
कुल योग 56 56 112 224

पदक तालिका अण्डर 14 बालक वर्ग
क्र. राज्य पदक कुल
गोल्ड सिल्वर ब्राउंज
1 महाराष्ट्र 05 03 01 09
2 मध्यप्रदेश 04 03 00 07
3 राजस्थान 01 02 04 07
4 गुजरात 00 02 06 08


पदक तालिका अण्डर 14 बालिका वर्ग
क्र. राज्य पदक कुल
गोल्ड सिल्वर ब्राउंज
1 मध्यप्रदेश 05 05 00 10
2 महाराष्ट्र 02 04 02 08
3 गोवा 02 00 02 04
4 सी.बी.एस.ई. 01 00 01 02
पदक तालिका अण्डर 17 बालक वर्ग
क्र. राज्य पदक कुल
गोल्ड सिल्वर ब्राउंज
1 महाराष्ट्र 04 03 02 09
2 मध्यप्रदेश 02 02 03 07
3 गुजरात 01 01 03 05
4 राजस्थान 01 01 01 03


पदक तालिका अण्डर 17 बालिका वर्ग
क्र. राज्य पदक कुल
गोल्ड सिल्वर ब्राउंज
1 मध्यप्रदेश 07 02 00 09
2 महाराष्ट्र 02 04 02 08
3 गुजरात 00 01 03 04
4 गोवा 00 01 03 04
पदक तालिका अण्डर 19 बालक वर्ग
क्र. राज्य पदक कुल
गोल्ड सिल्वर ब्राउंज
1 मध्यप्रदेश 04 04 01 09
2 महाराष्ट्र 03 02 02 07
3 राजस्थान 02 00 02 04


पदक तालिका अण्डर 19 बालिका वर्ग
क्र. राज्य पदक कुल
गोल्ड सिल्वर ब्राउंज
1 मध्यप्रदेश 04 00 04 08
2 महाराष्ट्र 02 04 01 07
3 दिल्ली 02 01 02 05
4 गुजरात 01 00 02 03

पदक तालिका अण्डर 19 बालक वर्ग
बेस्ट प्लेयर अण्डर 14 बालक वर्ग ः सायराज यादव - महाराष्ट्र
बेस्ट प्लेयर अण्डर 14 बालिका वर्ग ः फातिमा शेख - मध्य प्रदेश
बेस्ट प्लेयर अण्डर 17 बालक वर्ग ः कीगेन मेनेजेस - महाराष्ट्र
बेस्ट प्लेयर अण्डर 17 बालिका वर्ग ः प्रियंका इक्का - मध्य प्रदेश
बेस्ट प्लेयर अण्डर 19 बालक वर्ग ः युवराज पवार - मध्य प्रदेश
बेस्ट प्लेयर अण्डर 19 बालिका वर्ग ः दिव्या अहिरवार - मध्य प्रदेश

लोकायुक्त पुलिस ने BEO कार्यालय के क्लर्क को पांच हजार की रिश्वत लेते पकड़ा, शिक्षक से मांगी थी रिश्वत


लोकायुक्त पुलिस ने BEO कार्यालय के क्लर्क को पांच हजार की रिश्वत लेते पकड़ा, शिक्षक से मांगी थी रिश्वत
सागर ।लोकायुक्त पुलिस सागर ने जिले के जैसीनगर में BEO कार्यालय में पदस्थ सहायक ग्रेड 2 के  कर्मचारी को 5 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है । एक शिक्षक से सातवे वेतनमान की किश्त के एवज में रिश्वत मांगी थी।
पुलिस अधीक्षक रामेश्वर यादव ने बताया कि आवेदक विजय शंकर पाठक उच्च श्रेणी शिक्षक हाई स्कूल बरोदा ज़िला ,सागर  ने लोकायुक्त कार्यालय में शिकायत दर्ज कराई थी । जिसमे आरोपी गोविंद कोरी सहा ग्रेड 2  बी.ई.ओ. कार्यालय जैसीनगर द्वारा सातवे  वेतनमान की दूसरी क़िस्त के आहरण एवं सेवा पुस्तिका बापिस करने के एवज में रिश्व्त की मांग  की जा रही है ।                                
आज लोकायुक्त निरीक्षक बी एम दिवेदी के नेतृत्व में कलेक्ट्रेट परिसर स्थित ट्रेजरी कार्यालय के पास चाय की दुकान से गोविन्द कोरी को  पाँच हजार की रिश्वत लेते रंगे  हाथों गिरफ्तार किया गया। इसके बाद उसे सिविल लाईन थाने ले जाया गया।

खुरई क्षेत्र में 1.35 लाख हेक्टेयर की सिंचाई योजनाओं को लगा ग्रहण,मालथौन -बांदरी के कॉलेज के बजट में कटौती विधानसभा में भूपेन्द्र सिंह के सवाल पर खुलासा

खुरई क्षेत्र में 1.35 लाख हेक्टेयर की सिंचाई योजनाओं को लगा ग्रहण,मालथौन -बांदरी के कॉलेज के बजट में कटौती
विधानसभा में भूपेन्द्र सिंह के सवाल पर खुलासा

*सागर।* खुरई विधायक भूपेन्द्र सिंह ने पिछली सरकार में गृह एवं परिवहन मंत्री रहते हुए विधानसभा क्षेत्र खुरई में 13 सिंचाई परियोजना स्वीकृत कराई थी। जिनके साकार होने पर 1 लाख 35 हजार हेक्टेयर से ज्यादा क्षेत्र सिंचित होना है। मगर प्रदेश में कांग्रेस सरकार आने के बाद इनके निर्माण कार्य की गति धीमी पड़ गई है। आलम यह है कि 40 हजार हेक्टेयर क्षेत्र सिंचित करने वाली हनौता जलाशय वृहद परियोजना में निर्माण कार्य की भौतिक प्रगति मात्र एक परसेंट है और छह लघु परियोजनाओं में उपलब्धि शून्य है। यह खुलासा विधानसभा में जल संसाधन मंत्री द्वारा दिये जबाब में हुआ है।
विधानसभा में पूर्व गृहमंत्री एवं विधायक भूपेन्द्र सिंह के प्रश्न पर जल संसाधन मंत्री हुकुम सिंह कराड़ा ने जानकारी दी है कि 90 हजार हेक्टेयर क्षेत्र को सिंचित करने वाली बीना सिंचाई एवं बहुउद्देशीय परियोजना के तहत चकरपुर बाॅध का निर्माण कार्य प्रारंभ किया जाकर नींव खुदाई एवं कांक्रिटिंग का कार्य किया गया है। इस तरह चकरपुर बाॅध की भौतिक प्रगति 12 परसेंट है। जबकि मढ़िया बाॅध की भौतिक प्रगति शून्य है।
खुरई विधानसभा क्षेत्र में 40 हजार हेक्टेयर जमीन में सिंचाई के लिए पूर्व गृहमंत्री भूपेन्द्र सिंह द्वारा स्वीकृत कराई हनौता जलाश्य वृद्ध परियोजना में बहु भौतिक प्रगति मात्र एक परसेंट है। जबकि इस परियोजना की पिछली भाजपा सरकार ने 4 अक्टूबर 2018 को प्रशासकीय स्वीकृति दे दी थी और कार्य पूर्णता का लक्ष्य सन् 2023 रखा गया है। खुरई विधायक भूपेन्द्र सिंह ने पिछली सरकार में गृह एवं परिवहन मंत्री रहते हुए खुरई विधानसभा क्षेत्र में सिंचाई के लिए 11 लघु योजनाएं भी स्वीकृत कराई थीं, जिनसे 5185 हेक्टेयर जमीन सिंचिंत होना है। मगर इनमें से सेवन जलाश्य, मंगरा जलाश्य, नोठा जलाश्य, बरौदिया चंद्रापुर जलाश्य, पठार जलाश्य और बीजरी सागौनी जलाश्य की भौतिक प्रगति शून्य है। जिसका कारण भू-अर्जन और वनभूमि का निराकरण नहीं हो पाना बताया गया है। अन्य 5 लघु योजनाओं में लक्ष्छाशिर जलाश्य की भौतिक प्रगति 2 परसेंट, चुरारी जलाश्य की 40 परसेंट बरौदिया नौनागिर जलाश्य, की 50 परसेंट, नेतना जलाश्य की 55 परसेंट और बीकोर कलां जलाश्य की 70 परसेंट बताई गई है।
 मालथौन, बांदरी काॅलेज के बजट में कटौती
पूर्व गृह एवं परिवहन मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने पिछली भाजपा सरकार में मालथौन और बांदरी में शासकीय काॅलेज खुलवाये थे। इन दोनों काॅलेज में छात्रों की संख्या बढ़ रही है। मगर कांग्रेस सरकार ने इनके बजट में कटौती कर दी है। बांदरी काॅलेज के भवन निर्माण हेतु स्वीकृति देने में भी अब उदासीनता बरती जा रही है। विधान सभा में पूर्वमंत्री एवं विधायक भूपेन्द्र सिंह के प्रश्न पर खेल और युवक कल्याणमंत्री जीतू पटवारी ने बताया है कि मालथौन काॅलेज में वर्ष 2018-19 में प्रवेशित विद्यार्थियों की संख्या 1427 तथा बांदरी काॅलेज में 348 है। सत्र 2019-20 में मालथौन काॅलेज में प्रवेशित विद्यार्थी संख्या 1508 तथा बांदरी में 555 है। दोनों काॅलेज में स्वीकृत शैक्षणिक पदों पर अतिथि विद्वानों द्वारा कार्य किया जा रहा है। वर्ष 2018-19 में मालथौन काॅलेज को आबंटित बजट 44,11,922 रुपए तथा बांदरी काॅलेज को 28,79,500 रुपय था। वर्ष 2019-20 में मालथौन काॅलेज को 31,27,040 रुपए और बांदरी काॅलेज को 13,51,500 रुपए अब तक आबंटित किए गए हैं। मालथौन काॅलेज के भवन निर्माण हेतु 6.50 करोड़ की प्रशासकीय स्वीकृति में से 610.14 लाख का आबंटन कार्यकारी एजेंसी पीआईयू को दिया जा चुका है। मंत्री जीतू पटवारी ने बताया कि बांदरी काॅलेज के स्वयं के भवन निर्माण हेतु प्रस्ताव प्राप्त हुआ है। भवन स्वीकृति हेतु समय-सीमा बताया जाना संभव नहीं है।

जनवरी 2021 तक पूरा होगा मकरोनिया ओवर ब्रिज का काम,पूर्व गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह को मिला विधानसभा में जवाब

जनवरी 2021 तक पूरा होगा मकरोनिया ओवर ब्रिज का काम,पूर्व गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह को मिला विधानसभा में जवाब
सागर। उपनगर मकरोनिया रेलवे ओवरब्रिज का काम की समय सीमा केंद्रीय सड़क मंत्रालय ने 15जनवरी 2021 की है । एमपी विधानसभा में पूर्व गृहमंत्री एवं विधायक भूपेन्द्र सिंह के प्रश्न पर लोक निर्माण मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि रेलवे द्वारा मैपिंग देरी से मिलने पर काम की शुरुआत देरी से हुई। हालांकि कार्य मे देरी होने से क्षेत्र के लोगो को लगातार परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है । अभी परेशानियां खत्म होने वाली नही है।
विधानसभा में प्रश्नोत्तर के मुताबिक  मकरोनिया रेलवे क्रासिंग पर ओवर ब्रिज का निर्माण कार्य अनुबंध अनुसार 24 माह अर्थात 8 मार्च 2020 तक पूर्ण किया जाना है। रुपए 3626 लाख की लागत की इस परियोजना में मकरोनिया ओवर ब्रिज का निर्माण, ब्रिज के दोनों ओर सहायक मार्ग और नाली निर्माण, ब्रिज के एप्रोच मार्ग और ब्रिज निर्माण  शामिल है। अब तक कार्य की भौतिक प्रगति 21.24 परसेंट है। जिसमें 26 नग पीयरों का केप लेवल तक एवं 4 स्पाँन में स्लैब कार्य  डायवर्सन मार्ग पूर्ण हैं। नाली निर्माण और छतरपुर नगर की ओर से एप्रोच मार्ग कार्य प्रगति पर है।
लोक निर्माण मंत्री ने बताया की रेलवे विभाग की ओर से ओवर ब्रिज के निर्माण कार्य की पुनरीक्षित सामान्य संरचना मानचित्र का अनुमोदन बिलम्ब से प्राप्त होने के कारण कार्य बिलम्ब से प्रारंभ हुआ। भारत सरकार के सड़क परिवाहन राजमार्ग मंत्रालय द्वारा कार्य पूर्ण करने हेतु 15 जनवरी 2021 तक समय वृद्धि प्रदान की गई है। मंत्री श्री वर्मा के मुताबिक कार्य की प्रगति संतोषजनक है एवं वर्तमान में वाहनों का आवागमन डायवर्सन मार्ग से चल रहा है।
पिछले कुछ समय से काम मे तेजी
उपनगर  मकरोनिया में में चल रहे रेलवे ओवर ब्रिज (आरओबी) के निर्माण में बीते कुछ समय से तेजी आई है । शुरुआत में देरी से कई आंदोलन इस इलाके में हुए। यहां पर ठेकेदार ने काम तोकरीब ११ माह पहले शुरू कर दिया था, लेकिन रेलवे क्रासिंग वालेक्षेत्र में ब्रिज की डिजाइन को लेकर रेलवे से अनुमति लेने में समयलग गया, हालांकि जनवरी में रेलवे ने समय-सीमा में काम पूरा करनेकी शर्त पर ब्रिज की डिजाइन पर अपनी मुहर लगा दी है।, जिसकेबाद निर्माण कार्य में भी तेजी आ गई है। नेशनल हाईवे अथॉरिटीऑफ इंडिया ने निर्माण कार्य के सुपरविजन के लिएभोपाल की एलएन मालवीय इंफ्रा प्रोजेक्ट कंपनी को जिम्मेदारी
सौंपी है। एनएच से मिली जानकारी के अनुसार ने एनएच-86 पर परमकरोनिया रेलवे स्टेशन के समीप ३० नंबर फाटक पर बन रहे इसआरओबी का काम ठेकेदार को २७.२२ करोड़ रुपए की लागत मेंपूर्ण करना है। टेंडर की शर्तों के अनुसार १०९५ मीटर लंबे और १२मीटर चौंड़े इस ब्रिज के अलावा ठेकेदार को २००-२०० मीटर कीदोनों ओर एप्रोच रोड और ३००-३०० मीटर की चार सर्विस रोड काभी निर्माण करना है।

तृतीय श्रेणी के समकक्ष पदों पर कार्यरत दैनिक वेतन भोगी स्थाई कर्मियों की आयु सीमा बढ़ी, सीधी भर्ती के वर्दीधारी पदों की आयु सीमा तय,आदेश जारी

तृतीय श्रेणी के समकक्ष पदों पर कार्यरत दैनिक वेतन भोगी स्थाई कर्मियों की आयु सीमा बढ़ी,

सीधी भर्ती के वर्दीधारी पदों की आयु सीमा तय,आदेश जारी


भोपाल ।राज्य सरकार ने तृतीय श्रेणी के समकक्ष पदों पर कार्यरत दैनिक वेतन भोगी स्थाई कर्मियों की सेवा में बने रहने की अधिकतम आयु 60 से बढ़ाकर 62 वर्ष किए जाने का आदेश जारी कर दिया है।

वही राज्य शासन द्वारा सीधी भर्ती के वर्दीधारी पदों हेतु न्यूनतम तथा अधिकतम आयु सीमा का निर्धारण करने का आदेश जारी किये।

तृतीय श्रेणी के समकक्ष पदों पर कार्यरत दैनिक वेतन भोगी स्थाई कर्मियों की आयु सीमा बढ़ी, सीधी भर्ती के वर्दीधारी पदों की आयु सीमा तय,आदेश जारी

तृतीय श्रेणी के समकक्ष पदों पर कार्यरत दैनिक वेतन भोगी स्थाई कर्मियों की आयु सीमा बढ़ी,
सीधी भर्ती के वर्दीधारी पदों की आयु सीमा तय,आदेश जारी

भोपाल ।राज्य सरकार ने तृतीय श्रेणी के समकक्ष पदों पर कार्यरत दैनिक वेतन भोगी स्थाई कर्मियों की सेवा में बने रहने की अधिकतम आयु 60 से बढ़ाकर 62 वर्ष किए जाने का आदेश जारी कर दिया है।
वही राज्य शासन द्वारा सीधी भर्ती के वर्दीधारी पदों हेतु न्यूनतम तथा अधिकतम आयु सीमा का निर्धारण करने का आदेश जारी किये।

गुरुवार, 19 दिसंबर 2019

आँगनवाडी के टीएचआर पैकेट खरीदने वाले दुकानदार पर होगी एफआईआर दर्ज, छह आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओ को हटाया,दुकानदार पर मामला दर्ज

आँगनवाडी के टीएचआर पैकेट खरीदने वाले दुकानदार पर होगी एफआईआर दर्ज, छह आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओ को हटाया,दुकानदार पर मामला दर्ज

भोपाल ।प्रमुख सचिव महिला-बाल विकास  अनुपम राजन ने बताया है कि आँगनवाडी के हितग्राहियों के उपयोग के लिये प्रदाय दलिया को आटा चक्की पर बेचने की शिकायत पर 6 आँगनवाडी कार्यकर्ताओं को पद से हटाने की कार्यवाही की गई है। इन कार्यकर्ताओं के नाम कु. रानी मालवीय, श्रीमती गुलबशा खान, श्रीमती मेहरून्निसा खान, श्रीमती नीलिमा यादव, श्रीमती फरहत जहां, श्रीमती अस्मत सुल्तान, श्रीमती सना खान और श्रीमती तस्किम खान हैं। उन्होंने बताया कि सेक्टर सुपरवाइजर श्रीमती सपना साहू को शो-कॉज नोटिस जारी करने और दो वेतन वृद्धि रोकने की कार्यवाही की गई है। श्री राजन ने बताया कि विभागीय अधिकारियों की शिकायत पर आँगनवाडी के पूरक पोषण आहार पैकेट खरीदने वाले दुकानदार मुफ्तार अली चक्की वाले पर भी पुलिस प्रकरण दर्ज कर कार्यवाही प्रारंभ कर दी गई है।
आयुक्त श्री राजन ने कहा है कि आँगनवाडी केन्द्रों पर बच्चों और महिलाओं को बाँटा जाने वाला पूरक पोषण आहार सिर्फ हितग्राही के उपयोग के लिए है। इसका दुरूपयोग करने अथवा बेचे जाने की स्थिति में खरीददार और बेचने वाले, दोनों पर सख्त कानूनी कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने बताया कि सभी आँगनवाडी केन्द्रों में यह जानकारी चस्पा की जायेगी कि पूरक पोषण आहार बेचना और खरीदना, दोनों गैर-कानूनी है। इसका उल्लंघन करने पर सजा होगी। राजन ने सभी परियोजना अधिकारियों को टीएचआर का दुरूपयोग रोकने तथा पात्र हितग्राहियों को ही पूरक पोषण आहार वितरित कर इसका सदुपयोग करने के निर्देश दिए है

बेरोजगारों से छलावा,कमलनाथ सरकार के खिलाफ भाजयुमो ने दिया ज्ञापन

बेरोजगारों से छलावा,कमलनाथ सरकार के खिलाफ भाजयुमो ने दिया ज्ञापन

सागर।  प्रदेश नेतृत्व के आह्वान पर भाजयुमो जिला अध्यक्ष अर्पित पांडे ने सांसद राजबहादुर सिंह के नेतृत्व में युवाओं के साथ कांग्रेश सरकार द्वारा किए गए छलावे के विरोध मेंराज्यपाल मध्यप्रदेश शासन,  मुख्यमंत्री  मध्य प्रदेश शासन, मुख्य सचिव मध्यप्रदेश शासन, के नाम युवा आक्रोश आंदोलन के अंतर्गत ज्ञापन जिला दण्डाधिकारी को सौंपा।
 सांसद राजबहादुर सिंह ने कहा कांग्रेश सरकार द्वारा अपने चुनावी घोषणा पत्र में जितने भी वादे किए थे उनमें से 1 वर्ष में घोषणा पत्र के एक भी बिंदु पर खरी नहीं उतरी है। सिंह ने विरोध करते हुए कहा कि किसानों की हालत किसी से छुपी नहीं है फिर भी कांग्रेस सरकार किसानों के हित में कोई भी कार्य नहीं कर रही है।
 भाजयुमो जिला अध्यक्ष अर्पित पांडे ने कहा कांग्रेस सरकार द्वारा अपने चुनावी घोषणा पत्र में प्रदेश के बेरोजगार युवाओं के लिए ₹4000 महीना बेरोजगारी भत्ता देने का वादा किया था, जो कि आज दिनांक तक पूरा नहीं किया गया है। वहीं कांग्रेस सरकार द्वारा भाजपा सरकार की महत्वाकांक्षी योजना "संबल योजना" के माध्यम से गरीबों को मिलने वाले सभी लाभों से भी वंचित किया गया है।
मोर्चा के मीडिया प्रभारी नितिन सोनी ने बताया कि भाजपा सरकार द्वारा "मेधावी विद्यार्थी योजना" द्वारा मिलने वाले सभी लावो से विद्यार्थी कांग्रेस सरकार में वंचित हैं। एवं कांग्रेस सरकार द्वारा मुख्यमंत्री कौशल विकास योजना अंतर्गत चलने वाले प्रशिक्षण योजनाओं को बंद कर युवा स्वाभिमान योजना में परिवर्तन कर "भेड़ बकरियां चराना" व "बैंड बाजे जैसी विधाओ" का जोड़ कर युवाओं की शिक्षा पर मजाकिया है। तथा इन योजनाओं का पूरा लाभ भी युवाओं को नहीं दिया जा रहा। निम्न बातों को भाजयुमो जिला अध्यक्ष ने ज्ञापन के माध्यम से राज्यपाल महोदय को ज्ञापन प्रेषित किया है। इसके पश्चात भी कांग्रेसी सरकार द्वारा निम्न घोषणाओं को शीघ्र पूर्ण नहीं किया जाता तो युवाओं के सम्मान में युवा मोर्चा द्वारा "उग्र आंदोलन" किए जाएंगे। जिसके लिए कांग्रेस सरकार व प्रशासन स्वयं जिम्मेदार होगा। कार्यक्रम का संचालन भाजपा नगर अध्यक्ष विक्रम सोनी ने किया एवं भाजयुमो जिला महामंत्री शालीन सिंह ने आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम में सागर संभागीय संगठन मंत्री केशव भदोरिया, भाजपा जिला अध्यक्ष प्रभु दयाल पटेल, पूर्व जिलाध्यक्ष जाहर सिंह, भाजपा जिला महामंत्री शैलेश केशरवानी, अनुराग प्यासी, लक्ष्मण सिंह, जगन्नाथ गुरैया, मनीष चौबे, वैभव राज कुकरेले, अंशुल हर्षे, रामेश्वर नेमा, नितिन सोनी, भूपेंद्र सिंह ठाकुर, योगेश दीक्षित, प्रशांत देवलिया, नितिन साहू, निखिल अहिरवार, कुलदीप खटीक, अमित रावत, यश अग्रवाल, दीपक दुबे, कपिल उपाध्याय, संदीप साहू, वैभव यादव, आदर्श मिश्रा, देवाशीष दुबे, चंद्रभान ठाकुर, अन्नू प्रजापति एवं सभी मंडल अध्यक्ष जिला पदाधिकारी एवं सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

नाबालिग से दुष्कर्म के आरोपी को 20 वर्ष की सजा

नाबालिग से दुष्कर्म के  आरोपी को 20 वर्ष  की सजा

सागर।  बलात्संग के मामले में न्यायालय विशेष न्यायाधीश/ नवम् अपर सत्र न्यायाधीश लैगिक अपराधों से बालकों को संरक्षण अधिनियम 2012 श्रीमति नीलू संजीव श्रृंगीऋषि की अदालत ने रूप सिंह पिता परम अहिरवार उम्र 21 वर्ष निवासी आमाखुर्द थाना केंन्ट जिला सागर को 20 वर्ष के सश्रम कारावास एवं अर्थदण्ड से दंडित किया गया।
जिला अभियोजन अधिकारी मामले की पैरवी कर्ता राजीव रूसिया द्वारा बताया गया कि उत्तरजीवि (नावालिग)  ने थाना केन्ट में आवेदन दिया कि दिनांक 06.12.218 को लगभग 11ः30 बजे उसकी मम्मी गाॅव में कंट्रोल रूम की दुकान पर गेहूॅ लेने गयी थी और पापा सागर गये थे। वह अपने खेत में बनी घास की टपरिया में भाजी काट रही थी। तभी आमाखुर्द का रहने वाला रूप सिंह आया और गलत काम करने की कहने लगा, मना करने पर भी उसने जबरदस्ती उसके साथ छेडखानी की और उसे पटक दिया और उसके साथ बलात्कार करने लगा। चिल्लाने पर उसका भाई आ गया जिसे देखकर रूपसिंह वहा से भाग गया। शांम को जब उसके मम्मी पापा घर आये तब उसकी घटना के बारे में बताया। तब उत्तरजीवि (नावालिग) ने थाना केन्ट में आरोपी के विरूद्ध घटना के संबंध में लिखित शिकायत आवेदन दिया। जिस पर से थाना केन्ट में अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना उपरांत अभियोग पत्र न्यायालय में पेश किया गया।
विचारण उपरांत मामले में आयी साक्ष्य और अभियोजन के तर्कों से सहमत होकर न्यायालय विशेष न्यायाधीश/ नवम् अपर सत्र न्यायाधीश श्रीमति नीलू संजीव श्रृंगीऋषि (लैगिक अपराधों से बालकों को संरक्षण अधिनियम 2012) की अदालत ने अरोपी रूप सिंह पिता परम अहिरवार उम्र 21 वर्ष निवासी आमाखुर्द थाना केंन्ट जिला सागर को दोषी पाते हुए धारा 376(3) भादवि में 20 वर्ष के सश्रम कारावास एवं 1000 रूपये के अर्थदण्ड और धारा 450 भादवि में 10 वर्ष के सश्रम कारावास व 1000 रूपये के अर्थदण्ड से दंडित किया गया।
छेड़छाड़ करने वाले आरोपी को सजा
सागर/छेड़छाड़ करने वाले आरोपी को न्यायालय श्रीमान् विशेष न्यायाधीश, नवम् अपर सत्र  न्यायाधीश, लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम- 2012 श्रीमती नीलू संजीव श्रृंगीऋषि की अदालत ने आरोपी गनेश अहिरवार पिता लच्छू उर्फ लक्ष्मण अहिरवार उम्र 25 वर्ष निवासी ग्राम पडा रसोई थाना राहतगढ को दोषी पाते हुए दो वर्ष के सश्रम कारावास एवं अर्थदण्ड से दंडित किया।

      अभियोजन की ओर से पैरवीकर्ता अधिकारी जिला अभियोजन अधिकारी श्री राजीव रूसिया ने बताया कि उत्तरजीवी (नाबालिग) रात्रि के समय छत पर अपनी बहन और भाई के साथ सो रही थी और उसके मम्मी पापा घर के आंगन में सो रहे थे तभी आरोपी गनेश अहिरवार  जो उसके मोहल्ले का रहने वाला है आया और उसके साथ बुरी नियत से छेड़छाड़ की और उसका मुंह दबाने लगा उसकी नींद खुल गई तो उसने देखा कि वह गनेश अहिरवार था। चिल्लाने पर उसकी बहन, भाई एवं मम्मी पापा आ गये, जिन्हें देखकर आरोपी वहां से भाग गया। घटना के बारे में उसने अपने  परिजनों को बताया। घटना की रिपोर्ट थाना राहतगढ में की गई। उत्तरजीवि की रिपोर्ट पर से मामला विवेचना में लिया गया विवेचना उपरांत अभियोग पत्र न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया गया विचारण उपरांत मामले में आयी साक्ष्य के आधार पर श्रीमान् विशेष न्यायाधीश, नवम् अपर सत्र  न्यायाधीश, लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम- 2012 श्रीमती नीलू संजीव श्रृंगीऋषि की अदालत ने आरोपी गनेश अहिरवार पिता लच्छू उर्फ लक्ष्मण अहिरवार उम्र 25 वर्ष निवासी ग्राम पडा रसोई थाना राहतगढ को दोषी पाते हुए धारा 457,354 भादवि में 02-02 वर्ष के सश्रम कारावास एवं 1000-1000 रूपये के अर्थदण्ड से दंडित किया गया।

  

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने किया सम्मान ,शिक्षा में क्षेत्र में बेहतर कार्य के लिए डॉ अनिल तिवारी का

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने किया सम्मान ,शिक्षा में क्षेत्र में बेहतर कार्य के लिए डॉ अनिल तिवारी का

नई दिल्ली। भारत सरकार के सड़क परिवहन और राजमार्ग, जहाजरानी, जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्री नितिन  गडकरी जी ने सागर के वरिष्ठ समाजसेव डॉ अनिल तिवारी को उत्कृष्ट षिक्षा, समर्पित समाजसेवा के कार्याें को एवं स्वामी विवेकानंद विष्वविद्यालय द्वारा षिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्षन को देखते हुए एमएसएमई इनक्लेव-2019 से सम्मानित किया।

वर्ष 2011 में डाॅ.अनिल तिवारी ने बुंदेलखण्ड में अच्छी षिक्षा की आवष्यकता को देखते हुए स्वामी विवेकानंद विष्वविद्यालय की स्थापना की इस विष्वविद्यालय में मूल्य आधारित षिक्षा को बढ़ावा देने के लिये सभी पाठ्यक्रमांें में अनिवार्य विषय के तौर पर नैतिक षिक्षा मूल्य आधारित षिक्षा को शामिल किया गया यह देष भर का एकमात्र ऐसा विष्वविद्यालय बना जिसमें मूल्य आधारित षिक्षा पाठ्यक्रम का हिस्सा है और इस हेतु उनको देषभर में कई संस्थानों ने सम्मानित किया।

डाॅ.अनिल तिवारी को पूर्व में भी कई राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय पुरूस्कारों से सम्मानित किया जा चुका है। गौरतलब है कि अनिल तिवारी जी सागर में कई प्रकार के सामाजिक कार्यों में सक्रिय रूप से भाग लेते रहे है उनके द्वारा ज्ञान चेतना यात्रा का आयोजन किया गया था जिसमें लगभग 8000 किलोमीटर की यात्रा जन जागरण हेतु की गई थी ज्ञान चेतना यात्रा में विभिन्न सामाजिक मुद्दों को लिया गया था जिनमें नषा मुक्ति स्वच्छता आपदा प्रबंधन, युवा रोजगार आदि प्रमुख विषय थे और उनको लेकर गांव-गांव में रथयात्रा निकाली के माध्यम से जनजागृति का अभियान को राजनीतिक सामाजिक तथा अन्य लोगों ने बहुत सराहा था अनिल तिवारी एक मध्यम परिवार से संबंध रखते हैं। स्वामी विवेकानंद विष्वविद्यालय द्वारा नगर व ग्रामों के युवाओं में कई ऐसे टैलेंट भी हैं, जो हैं तो कारगर किन्तु किसी वजह से लोगों तक नहीं पहुँच पा रहे और लोग उसका लाभ नहीं उठा पा रहे. ऐसे स्किल को लोगों के बीच लाने का प्रयास निरंतर किया जा रहा है व उन्हें स्वरोजगार से जोड़ने का निरंतर प्रयास विष्वविद्यालय द्वारा किया जा रहा है विष्वविद्यालय के स्किल डेव्हलपमेंट प्रोग्रामों में प्रशिक्षण के बाद युवाओं को विभिन्न सरकारी योजनाएँ जैसे मेक इन इंडिया योजना, डिजिटल इंडिया प्रोजेक्ट, स्वच्छ भारत अभियान से जोड़ने व उनके प्रति जागरूक करना तथा ग्रामीण क्षेत्रों में जाकर षिक्षा के प्रति जागरूकता फैलाना व भारत सरकार द्वारा स्वरोजगार हेतु स्किल डेव्लपमेंट प्रोग्राम जैसे कम्प्यूटर षिक्षा, सिलाई, कढ़ाई, फेषन डिजाइनिंग इत्यादि स्किल डेव्हलपमेंट प्रोग्रामों का संचालन विष्वविद्यालय द्वारा किया जा रहा है। जिनमें प्रवेष लेकर युवा अपना उज्जवल भविष्य बनाते आ रहे हैं, विष्वविद्यालय द्वारा समय-समय पर अंतर्राष्ट्रीय व बहुराष्ट्रीय कम्पनीयों के कैम्पसों का निरंतर आयोजन भी किया जाता है। जिसमें छात्र-छात्राओं व सागर नगर के युवाओं को भी रोजगार प्राप्त होता है। शामिल षिक्षा के क्षेत्र में इन्ही योगदानों को देखते हुये यह अवार्ड दिया गया। 

बुन्देलखण्ड मेडीकल काॅलेज और महिला विवि का मामला उठाया, विधायक शेलेन्द्र जैन ने

बुन्देलखण्ड मेडीकल काॅलेज और  महिला विवि का मामला उठाया, विधायक शेलेन्द्र जैन ने
सागर। सागर विधायक शैलेन्द्र जैन ने मध्यप्रदेश विधान सभा में शीतकालीन सत्र के दौरान प्रश्न के माध्यम से बुन्देलखण्ड मेडिकल कॉलेज सागर में सुपरस्पेशिलिटी सुविधाओं एवं स्वास्थ्य संबंधी सुविधाओं का मुद्दा उठाया। विधायक शैलेन्द्र जैन ने कहा कि, संभागीय मुख्यालय सागर के बुन्देलखण्ड मेडिकल कॉलेज में कार्डियोलॉजी, न्यूरोलॉजी एवं कैंसर के विषय विशेषज्ञ तथा अन्य सुपरस्पेशिलिटी सुविधायें उपलब्ध नहीं है, जिस कारण मरीजों को अन्यत्र रिफर किया जा रहा है, जिससे इस क्षेत्र के मरीजों को इस मेडिकल कॉलेज का लाभ नहीं मिल पा रहा है एवं प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजनातंर्गत बुन्देलखण्ड मेडिकल कॉलेज सागर में चिकित्सा सुविधा कब तक उपलब्ध कराई जा सके।
इसके उत्तर में चिकित्सा शिक्षा मंत्री डाॅ. विजयलक्ष्मी साधौ ने कहा कि, वर्तमान में बुन्देलखण्ड मेडिकल कॉलेज सागर में कॉर्डियोलॉजी, न्यूरोलॉजी, कैंसर के विषय विशेषज्ञो में से मात्र कैंसर के विषय विशेषज्ञ उपलब्ध है। चिकित्सा महाविद्यालय के जिन विभागों में विषय विशेषज्ञ उपलब्ध नहीं है उन विभागों से संबंधित मरीजों को ही आवश्यकतानुरूप अन्य चिकित्सा महाविद्यालयों में रेफर किया जाता है। सुपरस्पेशिलिटी सुविधायें उपलब्ध कराये जाने पर विचार किया जायेगा। भारत सरकार द्वारा प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजनांतर्गत नये सुपरस्पेशिलिटी अस्पताल के प्रस्ताव मांगने पर सागर का प्रस्ताव भी भेजा जाये।
मेडिकल कालेज में आडिटोरियम का मामला
दूसरे प्रश्न में विधायक शैलेन्द्र जैन ने पूछा कि, बुन्देलखण्ड मेडिकल कॉलेज सागर के ऑडिटोरियम को सर्वसुविधायुक्त बनाये जाने हेतु निर्माण एवं अन्य उपकरणों के प्रस्ताव स्वीकृति की क्या प्रक्रिया है। विधायक शैलेन्द्र जैन ने पूछा कि, बुन्देलखण्ड मेडिकल कॉलेज में ट्रामा सेन्टर स्थापित किये जाने एवं कैंसर के इलाज हेतु रेडियेशन थैरेपी की महत्वपूर्ण सुविधा उपलब्ध कराई जायेगी। इसके उत्तर में चिकित्सा शिक्षा मंत्री डाॅ. विजयलक्ष्मी साधौ ने कहा कि, बुन्देलखण्ड मेडिकल कॉलेज में ट्रामा सेन्टर स्थापित किये जाने का प्रस्ताव केन्द्र सरकार को स्वीकृति हेतु भेजा गया है। कैंसर के इलाज हेतु रेडियेशन थैरेपी की महत्वपूर्ण सुविधा उपलब्ध कराने पर विचार किया जायेगा।
शून्य काल में महिला विश्वविद्यालय खोले जाने का मुद्दा उठाया
 विधायक शैलेन्द्र जैन ने  शून्य काल के दौरान सागर विधायक शैलेन्द्र जैन ने सागर में महिला विश्वविद्यालय खोले जाने का मुद्दा उठाते हुये कहा कि, संभागीय मुख्यालय सागर में शासकीय महिला विश्वविद्यालय खोले जाने की मांग काफी लम्बे समय से की जा रही है। छात्राओं को उच्च शिक्षण हेतु एकमात्र शिक्षण संस्थान शासकीय उत्कृष्ट कन्या महाविद्यालय है, जिसमें दस हजार छात्रायें अध्ययनरत है एवं यहाॅ लगभग 100 कि.मी. की परिधि की छात्रायें प्रवेश लेने आती है, जिससे निर्धारित प्रवेश संख्या से कई गुना अधिक छात्राओं द्वारा प्रवेश हेतु आवेदन किया जाता है, परन्तु हजारों की संख्या में छात्रायें प्रवेश से वंचित रह जाती है तथा शासकीय उत्कृष्ट कन्या महाविद्यालय में निर्धारित संख्या से अधिक प्रवेश देने के कारण शिक्षण कार्य भी प्रभावित हो रहा है। सागर संभागीय मुख्यालय, बुन्देलखण्ड का आर्थिक रूप से पिछड़ा क्षेत्र है, यहाॅ लोगों की आय इतनी अधिक नहीं है कि, अपनी बेटियों को निजी महावि़द्यालयों में प्रवेश दिला सके। प्रायवेट शिक्षण संस्थानों की फीस अधिक होने से गरीब परिवारों की बेटियाँ उच्च शिक्षा से वंचित रह जाती है, जिस कारण अभिभावकों एवं छात्राओं में निराशा होती है। विधायक शैलेन्द्र जैन ने शासन से जल्द ही संभागीय मुख्यालय सागर में महिला विश्वविद्यालय खोले जाने की मांग की।  
 मध्यप्रदेश स्थानीय प्राधिकरण (निर्वाचन अपराध) संसोधन विधेयक 2019 का समर्थन किया
सागर/मध्यप्रदेश विधान सभा में शीतकालीन सत्र में विधायक शैलेन्द्र जैन द्वारा मध्यप्रदेश स्थानीय प्राधिकरण (निर्वाचन अपराध) संसोधन विधेयक 2019 का समर्थन करते हुए कहा कि, यदि कोई उम्मीदवार स्वयं या अपने प्रस्तावक के माध्यम से किसी निर्वाचन क्षेत्र में निर्वाचित होने के आशय से नामांकन पत्र में मिथ्या जानकारी प्रस्तुत करता है, जिसके बारे में वह जानता है या यह विश्वास करने का कारण है कि वह मिथ्या है तो वह कारावास का दण्ड दिया जाना चाहिये, जिसकी अवधि 6 मास तक हो सकेगी या जुर्माने के रूप में लगभग राशि रू. 25000 देना होगा अथवा दोनों से दण्डनिय होगा।

केंद्रीय नितिन गडकरी ने किया सम्मानशिक्षा में क्षेत्र में बेहतर कार्य के लिए क्षेत्र डाॅ.अनिल तिवारी को

केंद्रीय नितिन गडकरी ने किया सम्मानशिक्षा में क्षेत्र में बेहतर कार्य के लिए क्षेत्र  डाॅ.अनिल तिवारी को
नई दिल्ली। भारत सरकार के सड़क परिवहन और राजमार्ग, जहाजरानी, जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्री नितिन  गडकरी जी ने सागर के वरिष्ठ समाजसेव डॉ अनिल तिवारी को उत्कृष्ट षिक्षा, समर्पित समाजसेवा के कार्याें को एवं स्वामी विवेकानंद विष्वविद्यालय द्वारा षिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्षन को देखते हुए एमएसएमई इनक्लेव-2019 से सम्मानित किया।
वर्ष 2011 में डाॅ.अनिल तिवारी ने बुंदेलखण्ड में अच्छी षिक्षा की आवष्यकता को देखते हुए स्वामी विवेकानंद विष्वविद्यालय की स्थापना की इस विष्वविद्यालय में मूल्य आधारित षिक्षा को बढ़ावा देने के लिये सभी पाठ्यक्रमांें में अनिवार्य विषय के तौर पर नैतिक षिक्षा मूल्य आधारित षिक्षा को शामिल किया गया यह देष भर का एकमात्र ऐसा विष्वविद्यालय बना जिसमें मूल्य आधारित षिक्षा पाठ्यक्रम का हिस्सा है और इस हेतु उनको देषभर में कई संस्थानों ने सम्मानित किया।
डाॅ.अनिल तिवारी को पूर्व में भी कई राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय पुरूस्कारों से सम्मानित किया जा चुका है। गौरतलब है कि अनिल तिवारी जी सागर में कई प्रकार के सामाजिक कार्यों में सक्रिय रूप से भाग लेते रहे है उनके द्वारा ज्ञान चेतना यात्रा का आयोजन किया गया था जिसमें लगभग 8000 किलोमीटर की यात्रा जन जागरण हेतु की गई थी ज्ञान चेतना यात्रा में विभिन्न सामाजिक मुद्दों को लिया गया था जिनमें नषा मुक्ति स्वच्छता आपदा प्रबंधन, युवा रोजगार आदि प्रमुख विषय थे और उनको लेकर गांव-गांव में रथयात्रा निकाली के माध्यम से जनजागृति का अभियान को राजनीतिक सामाजिक तथा अन्य लोगों ने बहुत सराहा था अनिल तिवारी एक मध्यम परिवार से संबंध रखते हैं। स्वामी विवेकानंद विष्वविद्यालय द्वारा नगर व ग्रामों के युवाओं में कई ऐसे टैलेंट भी हैं, जो हैं तो कारगर किन्तु किसी वजह से लोगों तक नहीं पहुँच पा रहे और लोग उसका लाभ नहीं उठा पा रहे. ऐसे स्किल को लोगों के बीच लाने का प्रयास निरंतर किया जा रहा है व उन्हें स्वरोजगार से जोड़ने का निरंतर प्रयास विष्वविद्यालय द्वारा किया जा रहा है विष्वविद्यालय के स्किल डेव्हलपमेंट प्रोग्रामों में प्रशिक्षण के बाद युवाओं को विभिन्न सरकारी योजनाएँ जैसे मेक इन इंडिया योजना, डिजिटल इंडिया प्रोजेक्ट, स्वच्छ भारत अभियान से जोड़ने व उनके प्रति जागरूक करना तथा ग्रामीण क्षेत्रों में जाकर षिक्षा के प्रति जागरूकता फैलाना व भारत सरकार द्वारा स्वरोजगार हेतु स्किल डेव्लपमेंट प्रोग्राम जैसे कम्प्यूटर षिक्षा, सिलाई, कढ़ाई, फेषन डिजाइनिंग इत्यादि स्किल डेव्हलपमेंट प्रोग्रामों का संचालन विष्वविद्यालय द्वारा किया जा रहा है। जिनमें प्रवेष लेकर युवा अपना उज्जवल भविष्य बनाते आ रहे हैं, विष्वविद्यालय द्वारा समय-समय पर अंतर्राष्ट्रीय व बहुराष्ट्रीय कम्पनीयों के कैम्पसों का निरंतर आयोजन भी किया जाता है। जिसमें छात्र-छात्राओं व सागर नगर के युवाओं को भी रोजगार प्राप्त होता है। शामिल षिक्षा के क्षेत्र में इन्ही योगदानों को देखते हुये यह अवार्ड दिया गया। 

सत्य और तथ्य से नफरत है भाजपा नेताओं को - भूपेंद्र गुप्ता

सत्य और तथ्य से नफरत है भाजपा नेताओं को - भूपेंद्र गुप्ता

भोपाल । भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने एक बार फिर सिद्ध कर दिया है कि भाजपा नेताओं को तथ्य और सत्य से परहेज़ है। इसलिए वे हमेशा जनता को गुमराह करने वाली बातें दोहराते रहते हैं । मप्र कांग्रेस मीडिया विभाग के उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता ने जारी बयान में कहा कि यदि राकेश सिंह पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से पूछते तो उनको पता चलता है कि पिछले 13 सालों में शिवराज सरकार ने एक भी शासकीय गौशाला का निर्माण नहीं किया। इस तथ्य के ध्यान में आते ही कमलनाथ सरकार ने गौशाला निर्माण का प्रोजेक्ट हाथ में लिया। कांग्रेस सरकार ने गौ सेवा आयोग बनाया था । भाजपा सिर्फ बातें और भाषण देने वाली पार्टी है।
उन्होंने कहा कि जब बेसहारा पशुओं और गौ माता के लिए कमलनाथ सरकार ने पहल की तो इसमें भाजपा को राकेश सिंह को कौन सी आपत्ति है। राकेश सिंह हिम्मत कर बताएं कि क्या ऐसी पहल को सरकार को बंद कर देना चाहिए? उनको तो खुश होना चाहिए और इस काम में सहयोग करना चाहिए ।
राकेश सिंह को शिवराज सिंह से यह भी पूछना चाहिए कि बजट के अभाव में सुसनेर में हजारों गौ माताओं ने दम कैसे तोड़ दिया था? क्या राकेश सिंह विदेश में रहते हैं जो उन्हें यह सब नही मालूम?
भूपेंद्र गुप्ता ने कहा कि शिवराज सिंह से राकेश सिंह  पूछ कर बताएं कि उन्होंने कर्जे में दबे किसानों का कर्जा माफ क्यों नहीं किया था। उन पर एके-47 से गोलियां क्यों चलाई थीं ? किसानों की फसल बीमा के 10000 करोड़ से ज्यादा रुपयों को अपनी जेब में डालने वाली बीमा कंपनी का हिसाब क्यों नहीं लिया ? जब कमलनाथ सरकार इन मुद्दों पर काम करना शुरू कर रही है तो उन्हें तकलीफ क्यों हो रही है ? 
राकेश सिंह ने अपने बयान से यह साबित कर दिया है कि वह शिवराज सिंह सरकार के कार्यकाल में सोते रहे इसलिए उन्हें इन मुद्दों का कोई ज्ञान नहीं है । हारने के बाद ही उनकी नींद खुली है। यदि राकेश सिंह में साहस है तो वे प्रधानमंत्री मोदी जी से गुहार लगाएं कि जो काम शिवराज सिंह सरकार ने नहीं किया उसे कमलनाथ सरकार पूरा कर रही है तो इसके लिए केंद्र सरकार मदद करे। कांग्रेस सत्ता में रहे या विरोधी पार्टी के रूप में रहे भाजपा का एक ही काम बचा है सिर्फ कांग्रेस की आलोचना करना। 
भूपेंद्र गुप्ता ने कहा कि बंटाधार युग में लौटने की बात कहकर राकेश सिंह ने यह साबित कर दिया है कि पिछले 13 सालों में शिवराज सरकार ने मध्य प्रदेश में बंटाधार किया है। कोई ठोस काम नहीं किया । झूठे आंकड़ों को प्रचारित किया। अब कमलनाथ सरकार मध्य प्रदेश का असली विकास कर रही है तो भाजपा के नेताओं को इसमें परेशानी क्यों हो रही है । यदि भाजपा सरकार ने मध्यप्रदेश को स्वर्णिम युग में ला दिया था तो फिर लोगों ने उन्हें क्यों हरा दिया? सच्चाई यह है कि शिवराज सरकार माफियाओं को संरक्षण देती रही। आज जो माफिया हैं वे उन्ही के राज में पनपे थे। यदि राकेश सिंह गलत बयानी करने से पहले शिवराज सिंह चौहान से मिल लेते तो उनकी बोलती बंद हो जाती।
 राकेश सिंह पूछे शिवराज जी  से गौ शाला क्यों नही बनाई, किसानों पर गोली क्यों चलाई, कर्ज़ माफ क्यों नही किया?

जब सांस में धड़कती हैं किताबें @राजेश बादल

जब सांस में धड़कती हैं किताबें 
@राजेश बादल
सीने में जलन आंखों में तूफ़ान सा क्यों है/इस शहर में हर शख़्स परेशान सा क्यों है/
उत्तर साफ़ है कि हमने अपनी ज़िंदगी से पढ़ने की आदत समाप्त कर दी है । सांसों के बिना देह का मतलब क्या है ? ज़िंदा लाश को उठाए फिरते हैं बेजान । न बड़ी गाड़ी सुकून देती है न मौटी वेतन न बड़ा मकान आलीशान । न दीवार के बराबर टीवी और न बड़ी जान पहचान । किसी ने गहराई से नहीं सोचा कि हम क्यों हैं परेशान ? 
तीन भूख़ हैं ज़िन्दगी में । पेट की भूख , देह की भूख और दिमाग़ की भूख। पहली दोनों भूख का आपको अहसास होता है,लेकिन तीसरी छिपी हुई है । उसका पता ही नहीं चलता ।वह साइलेंट किलर की तरह इंसान को मार डालती है । यह मेरी अब तक की ज़िन्दगी का निचोड़ है । तीस - पैंतीस बरस से कमोबेश हर सप्ताह एक किताब पढ़ने की आदत ने अंदर की बहुत सी ताक़त और संवेदना को बचाकर रखा है । यही सबसे बड़ी पूंजी है । इसे आपसे कोई लूट नहीं सकता । किताबों से जो आनंद मिलता है,अब सोचता हूं कि आप तक बीच बीच में पहुंचाऊं ।शायद यह और भी सुख देने वाली क्रिया होगी।
पत्रकारिता में अधिक गहराई से लेखन करने का अवसर  कम मिलता है लेकिन पत्रकार साथी और मेरे लिए छोटे भाई जैसे ब्रजेश राजपूत ने इस मिथक को तोड़ा है । उनकी तीसरी किताब चुनाव है बदलाव का - बाज़ार में आ चुकी है । इससे पहले उनकी दो पुस्तकों को पाठकों ने हाथों हाथ लिया है ।कल इस पुस्तक का विमोचन भोपाल में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने किया । इस आयोजन में बृजेश के जलेबी नुमा सवाल का गोल रोटी जैसा उत्तर मुख्यमंत्री ने दिया । बकौल बृजेश , मैंने उनसे पूछा कि आपने चार सीटों में से कैसे यह गणित लगाया कि दो जीत रहे हैं और दो हार रहे हैं । कमलनाथ ने साफ तौर पर स्वीकार किया कि प्रचार अभियान में ही पता लग जाता है कि जीत होगी या हार । दो तरह की भीड़ सभाओं में होती है । वह या तो लाई होती है या स्वतः आई होती है ।बस लाई और आई से पता लग जाता है । बहरहाल इस किताब पर विस्तृत टिप्पणी किताब पढ़ने के बाद । 
अभी तो बता दूं कि इन दिनों  उपहार में  प्राप्त या खरीदी गई किताबों में से एक खुशवंत सिंह की आत्मकथा सच,प्यार और थोड़ी सी शरारत दूसरी बार पढ़ रहा हूं ।इससे पहले मित्र प्रमोद भार्गव का ग्रंथ दशावतार पढ़ा । अगली पुस्तक भाई पंकज सुवीर की  है - जिन्हें जुर्मो इश्क़ पे नाज़ था । सुनील खिलनानी की किताब अवतरण इसके बाद । अवतरण में भारत की 50 विभूतियों के बारे में गहराई से विवेचन है । इसके बाद देवानंद की आत्मकथा रोमांसिंग विथ लाइफ कतार में है । उसके बाद उर्दू  शायरी और शायरों पर प्रकाश पंडित की तरह ही बड़ा काम नए सिरे से हुआ है । ज़ौक ,इक़बाल,मोमिन, दाग़, मीर, जफर और ग़ालिब पर मंजुल प्रकाशन ने एक लंबी श्रृंखला शुरू की है । यह शानदार है । दिखने में अच्छी लगती है । बाकी पढ़ने के बाद लिखूंगा । इन्हीं पुस्तकों के कवर आप देख सकते हैं।

मिर्ची की पैदावार से कमाते है 5 लाख रुपये से अधिक ,एक एकड़ में, किसान लक्ष्मी नारायण

मिर्ची की  पैदावार से कमाते है 5 लाख रुपये से अधिक ,एक एकड़ में, किसान लक्ष्मी नारायण
सागर ।सागर जिले  रहली तहसील के ग्राम चनौआ के प्रगतिषील कृषक श्री लक्ष्मीषंकर कुर्मी मल्चिंग पद्धति से मिर्च का भरपूर उत्पादन ले रहे है। उन्होंने पौधों को पानी देने के लिए ड्रिप लगाया हुआ है। ड्रिप के जरिए ही पौधों में आवष्यकतानुसार पानी और उर्वरक देते है। वे हरि मिर्च का अच्छा उत्पादन ले रहे है। 47 वर्षीय श्री लक्ष्मीषंकर कक्षा आठवीं तक षिक्षित है। वे सब्जी फसलों के अच्छे जानकार है। उनको सब्जी फसलों का अच्छा उत्पादन लेता देखकर आसपास के कृषक उनसे सलाह लेने आते है। वे बागवानी फसलों की किसानों को अच्छी तरह बारीकियां समझाते है।
श्री लक्ष्मीषंकर बताते है कि एक एकड़ में मिर्च के साढ़े आठ हजार पौधे लगते है। पौधे से पौधे की दूरी लगभग सवा फीट और कतार से कतार की दूरी लगभग 5 फीट रखना होती है। उन्होंने बताया एक एकड़ मंे लगभग एक से सवा लाख रूपये की लागत आ जाती है। किसान तकनीक, मेहनत और जागरूकता अपनाकर एक एकड़ में मिर्च की फसल से 5 से 7 लाख रूपये की आय प्राप्त कर सकता है। उसे अच्छी किस्म का बीज उपयोग में लेना होगा और वैज्ञानिक पद्धति को अपनाना होगा।  

सागर जिले में धारा 144 लागू। जिला दंडाधिकारी/ कलेक्टर प्रीति मैथिल ने दिये आदेश

सागर जिले में धारा 144 लागू। जिला दंडाधिकारी/ कलेक्टर प्रीति मैथिल ने दिये आदेश

सीएम कमलनाथ ने किया पत्रकार ब्रजेश राजपूत की किताब"चुनाव है बदलाव का " का विमोचन

सीएम कमलनाथ ने किया पत्रकार ब्रजेश राजपूत की किताब"चुनाव है बदलाव का "  का विमोचन
भोपाल।मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा है कि प्रदेश की प्रगति और जनकल्याणकारी योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए शासन-प्रशासन की सोच सकारात्मक हो यह जरूरी है। उन्होंने कहा ‍कि मुख्यमंत्री बनने के बाद तंत्र में सुधार के लिए मैंने ना कहने की मानसिकता को बदलकर हाँ कहने की मानसिकता बने यह प्रयास किया है। उन्होंने कहा कि मैं मध्यप्रदेश की एक ऐसी प्रोफाइल तैयार कर रहा हूँ जिससे प्रदेश की पहचान ना केवल देश में बल्कि पूरी दुनिया में बने। श्री नाथ आज एक निजी होटल में पत्रकार श्री बृजेश राजपूत द्वारा लिखित "चुनाव है बदलाव का" पुस्तक का विमोचन कर रहे थे। इस मौके पर जनसंपर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा भी उपस्थित थे। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी भी काम के लिए ना कहना सबसे आसान होता है क्योंकि हाँ कहने पर आपको करके दिखाना होता है परिणाम देने पड़ते है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री बनने के बाद मेरे सामने सबसे बड़ी चुनौती थी कि मैं तंत्र में इस मानसिकता में कैसे बदलाव करूँ। श्री नाथ ने कहा कि इस दिशा में मेरे प्रयास निरंतर है उन्होंने कहा कि राजनीतिक बदलाव से परिवर्तन नहीं आता हमें यह भी देखना होता है जो मशीनरी, डिलीवरी सिस्टम में काम कर रही है। उसके काम करने के तरीके में क्या परिवर्तन आया है। उन्होंने कहा कि आज हर क्षेत्र में परिवर्तन आया है जिन लोगों के हित में हम काम कर रहे है उनकी अपेक्षाएँ बढ़ी ऐसी स्थिति में जरूरी है कि हमारे तंत्र के कार्य करने के तरीकों में भी बदलाव आए। जिससे हमें बेहतर परिणाम मिल सके।
मुख्यमंत्री ने कहा कि 15 साल बाद जो राजनीतिक बदलाव मध्यप्रदेश में हुआ है उसे में मतदाता के नजरिए से देखता हूँ कि उन्होंने यह परिवर्तन क्यों चाहा। हमारे सामने चुनौती है कि मतदाताओं के परिवर्तन की भावनाओं को समझे और उसके अनुसार काम करें। प्रदेश में आर्थिक समृद्धि आए लोगों का जीवन खुशहाल हो, युवाओं को रोजगार मिले इसके लिए जरूरी है कृषि के क्षेत्र में क्रांति आए। जब तक कृषि क्षेत्र को मजबूत नहीं करेंगे, तब तक अर्थव्यवस्था को मजबूत नहीं बनाया जा सकता क्योंकि प्रदेश की 70 प्रतिशत आबादी प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से कृषि पर निर्भर है। आर्थिक गतिविधियाँ बढ़ना जरूरी है क्योंकि इससे ही रोजगार के अवसर पैदा होते है और बुनियादी अर्थव्यवस्था का निर्माण होता है।  श्री नाथ ने कहा कि अधिक उत्पादन के बाद उसका बेहतर तरीके से कैसे उपयोग हो यह भी हमारे सामने चुनौती है। हमारी खरीदी की जो व्यवस्था है वह उस समय की है जब कम उत्पादन होता था। उस व्यवस्था में भी हमें बदलाव लाना होगा ताकि किसानों अपनी उपज को आसानी से बेच सके और उन्हें सही दाम मिले। मुख्यमंत्री ने कहा कि नीतियाँ भी हमारी सरल होना चाहिए। उस नीति का कोई मायना नहीं जो हमारे विकास को अवरुद्ध करें। उन्होंने निवेश के लिए विश्वास का वातावरण बनाने का उल्लेख करते हुए कहा कि हमने अपनी नीतियों में परिवर्तन किया जिससे कई क्षेत्रों में न केवल हमारे देश का बल्कि विदेशी निवेश भी आया। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि बदलाव के बाद हमारे सामने एक और चुनौती थी वित्तीय संकट की। पूर्ववर्ती सरकार ने कई ऐसी योजनाओं की घोषणा कर दी लेकिन उसका कोई बजट प्रावधान नहीं था। खाली खजाने के साथ-साथ इन योजनाओं का भी वित्तीय भार वहन करना पड़ रहा है। अतिवृष्टि के कारण 8 हजार करोड़ रुपए का नुकसान किसानों और अधोसंरचना को पहुँचा है। इन विपरीत परिस्थितियों में भी  प्रबंधन के साथ हम काम कर रहे है। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि बदलाव समाचार माध्यमों के क्षेत्र में भी आया है। प्रिंट मीडिया के बाद इलेक्ट्रानिक मीडिया और अब गुगल और इंटरनेट ने कम्यूनिकेशन के क्षेत्र में एक नई क्रांति कर दी है। इसमें हमारे समाचार माध्यमों से जुड़े सभी लोगों के सामने सबसे बड़ी चुनौती यह है कि वह अपने प्रोफेशन के सम्मान को कैसे कायम रखे। उन्होंने कहा कि मीडिया जगत अगर गलत दिशा में जाता है तो उससे देश का नुकसान होता है। 
 प्रारंभ में वरिष्ठ पत्रकार श्री रशीद किदवई ने लेखक श्री बृजेश राजपूत और उनकी पुस्तक के बारे में जानकारी दी। लेखक श्री बृजेश राजपूत ने पुस्तक लेखन की विषय वस्तु पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम का संचालन पत्रकार श्री मनोज शर्मा ने किया।
 इस मौके पर माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय के कुलपति श्री दीपक तिवारी, राज्य सूचना आयोग के सूचना आयुक्त श्री राहूल सिंह एवं श्री विजय मनोहर तिवारी, पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री अरुण यादव ,मंजुल पब्लिकेशन के एमडी विकास रखेजा,एवं बड़ी संख्या में पत्रकार, वरिष्ठ अधिकारी और विभिन्न राजनैतिक दलों के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

सीएम कमलनाथ ने किया पत्रकार ब्रजेश राजपूत की किताब"चिनाव है बदलाव"का विमोचन

सीएम कमलनाथ ने किया पत्रकार ब्रजेश राजपूत की किताब"चिनाव है बदलाव"का विमोचन

भोपाल।मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा है कि प्रदेश की प्रगति और जनकल्याणकारी योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए शासन-प्रशासन की सोच सकारात्मक हो यह जरूरी है। उन्होंने कहा ‍कि मुख्यमंत्री बनने के बाद तंत्र में सुधार के लिए मैंने ना कहने की मानसिकता को बदलकर हाँ कहने की मानसिकता बने यह प्रयास किया है। उन्होंने कहा कि मैं मध्यप्रदेश की एक ऐसी प्रोफाइल तैयार कर रहा हूँ जिससे प्रदेश की पहचान ना केवल देश में बल्कि पूरी दुनिया में बने। श्री नाथ आज एक निजी होटल में पत्रकार श्री बृजेश राजपूत द्वारा लिखित "चुनाव है बदलाव का" पुस्तक का विमोचन कर रहे थे। इस मौके पर जनसंपर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा भी उपस्थित थे। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी भी काम के लिए ना कहना सबसे आसान होता है क्योंकि हाँ कहने पर आपको करके दिखाना होता है परिणाम देने पड़ते है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री बनने के बाद मेरे सामने सबसे बड़ी चुनौती थी कि मैं तंत्र में इस मानसिकता में कैसे बदलाव करूँ। श्री नाथ ने कहा कि इस दिशा में मेरे प्रयास निरंतर है उन्होंने कहा कि राजनीतिक बदलाव से परिवर्तन नहीं आता हमें यह भी देखना होता है जो मशीनरी, डिलीवरी सिस्टम में काम कर रही है। उसके काम करने के तरीके में क्या परिवर्तन आया है। उन्होंने कहा कि आज हर क्षेत्र में परिवर्तन आया है जिन लोगों के हित में हम काम कर रहे है उनकी अपेक्षाएँ बढ़ी ऐसी स्थिति में जरूरी है कि हमारे तंत्र के कार्य करने के तरीकों में भी बदलाव आए। जिससे हमें बेहतर परिणाम मिल सके।
 
मुख्यमंत्री ने कहा कि 15 साल बाद जो राजनीतिक बदलाव मध्यप्रदेश में हुआ है उसे में मतदाता के नजरिए से देखता हूँ कि उन्होंने यह परिवर्तन क्यों चाहा। हमारे सामने चुनौती है कि मतदाताओं के परिवर्तन की भावनाओं को समझे और उसके अनुसार काम करें। प्रदेश में आर्थिक समृद्धि आए लोगों का जीवन खुशहाल हो, युवाओं को रोजगार मिले इसके लिए जरूरी है कृषि के क्षेत्र में क्रांति आए। जब तक कृषि क्षेत्र को मजबूत नहीं करेंगे, तब तक अर्थव्यवस्था को मजबूत नहीं बनाया जा सकता क्योंकि प्रदेश की 70 प्रतिशत आबादी प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से कृषि पर निर्भर है। आर्थिक गतिविधियाँ बढ़ना जरूरी है क्योंकि इससे ही रोजगार के अवसर पैदा होते है और बुनियादी अर्थव्यवस्था का निर्माण होता है।  श्री नाथ ने कहा कि अधिक उत्पादन के बाद उसका बेहतर तरीके से कैसे उपयोग हो यह भी हमारे सामने चुनौती है। हमारी खरीदी की जो व्यवस्था है वह उस समय की है जब कम उत्पादन होता था। उस व्यवस्था में भी हमें बदलाव लाना होगा ताकि किसानों अपनी उपज को आसानी से बेच सके और उन्हें सही दाम मिले। मुख्यमंत्री ने कहा कि नीतियाँ भी हमारी सरल होना चाहिए। उस नीति का कोई मायना नहीं जो हमारे विकास को अवरुद्ध करें। उन्होंने निवेश के लिए विश्वास का वातावरण बनाने का उल्लेख करते हुए कहा कि हमने अपनी नीतियों में परिवर्तन किया जिससे कई क्षेत्रों में न केवल हमारे देश का बल्कि विदेशी निवेश भी आया। 
 
मुख्यमंत्री ने कहा कि बदलाव के बाद हमारे सामने एक और चुनौती थी वित्तीय संकट की। पूर्ववर्ती सरकार ने कई ऐसी योजनाओं की घोषणा कर दी लेकिन उसका कोई बजट प्रावधान नहीं था। खाली खजाने के साथ-साथ इन योजनाओं का भी वित्तीय भार वहन करना पड़ रहा है। अतिवृष्टि के कारण 8 हजार करोड़ रुपए का नुकसान किसानों और अधोसंरचना को पहुँचा है। इन विपरीत परिस्थितियों में भी  प्रबंधन के साथ हम काम कर रहे है। 
 
मुख्यमंत्री ने कहा कि बदलाव समाचार माध्यमों के क्षेत्र में भी आया है। प्रिंट मीडिया के बाद इलेक्ट्रानिक मीडिया और अब गुगल और इंटरनेट ने कम्यूनिकेशन के क्षेत्र में एक नई क्रांति कर दी है। इसमें हमारे समाचार माध्यमों से जुड़े सभी लोगों के सामने सबसे बड़ी चुनौती यह है कि वह अपने प्रोफेशन के सम्मान को कैसे कायम रखे। उन्होंने कहा कि मीडिया जगत अगर गलत दिशा में जाता है तो उससे देश का नुकसान होता है। 
 प्रारंभ में वरिष्ठ पत्रकार श्री रशीद किदवई ने लेखक श्री बृजेश राजपूत और उनकी पुस्तक के बारे में जानकारी दी। लेखक श्री बृजेश राजपूत ने पुस्तक लेखन की विषय वस्तु पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम का संचालन पत्रकार श्री मनोज शर्मा ने किया।
 इस मौके पर माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय के कुलपति श्री दीपक तिवारी, राज्य सूचना आयोग के सूचना आयुक्त श्री राहूल सिंह एवं श्री विजय मनोहर तिवारी, पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री अरुण यादव एवं बड़ी संख्या में पत्रकार, वरिष्ठ अधिकारी और विभिन्न राजनैतिक दलों के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

बुधवार, 18 दिसंबर 2019

पूर्व मंत्री सुरेंद्र पटवा को 6 महीने की जेल ,25 हजार के मुचलके पर मिली जमानत

पूर्व मंत्री सुरेंद्र पटवा को 6 महीने की जेल ,25 हजार के मुचलके पर मिली जमानत 
भोपाल।शिवराज सरकार में  पर्यटन मंत्री रहे और विधायक सुरेंद्र पटवा को चेक बाउंस मामले में जेल की सजा सुनायी गयी है। हालांकि फिलहाल उन्हें 25-25 हजार के निजी मुचलके पर जमानत मिल गयी है। लेकिन उनकी मुश्किलें बरकरार है। एमपी एमएलए की कोर्ट ने आज सजा सुनाई।
पूर्व पर्यटन मंत्री और भोजपुर विधानसभा से भाजपा विधायक सुरेन्द्र पटवा को चेक बाउंस के दो मामलों में एमपी-एमएलए के लिए गठित अदालत ने छह-छह महीने की सजा समेत चेक राशि का डेढ़ गुना बतौर क्षतिपूर्ति के तौर पर चुकाने की सजा सुनाई है। यह सजा विशेष न्यायाधीश सुरेन्द्र सिंह की अदालत  ने सुनाई ।
याचिकाकर्ता के अधिवक्ता बंसत सितोले ने बताया कि साल 2017 में तत्कालीन मंत्री और वर्तमान विधायक सुरेन्द्र पटवा ने इंदौर निवासी प्रकाश सहसित्तल से 12 लाख स्र्पए और उनकी पत्नी मीनाक्षी सहसित्तल से 8 लाख स्र्पए उधार लिए थे। इसके बदले उन्होंने दोनों को चेक दिए थे। यह चेक जब दंपती ने खाते में डाले तो वे बाउंस हो गए। कई बार मांगने पर भी जब पटवा ने राशि नहीं लौटाई तो दंपती ने कोर्ट में केस कर दिया था। इसके बाद कोर्ट ने पटवा को सजा सुनाते हुए मूल रकम का डेढ़ गुना क्षतिपूर्ति की राशि देने के लिए कहा है।



मोटर पंप चुराने वाले दो चोर गिरफ्तार,खिमलासा पुलिस ने पकड़े

मोटर पंप चुराने वाले दो चोर गिरफ्तार,खिमलासा पुलिस ने पकड़े
सागर । सागर जिले के थाना खिमलासा पुलिस ने   मोटर पम्प चुराने  वाले दो युवकों को पकड़ा है। इनसे सिंचाई के पम्प भी बरामद किए हैं।पुलिस के मुताबिक  बसाहारी तालाब मैं लगे सिंचाई पंप अज्ञात चोरों द्वारा चोरी करके ले गए थे। फरियादी पंकज पिता राजकुमार जैन उम्र 41 वर्ष निवासी बसाहारी की रिपोर्ट पर 3 एचपी स्वराज कंपनी की सिंचाई मोटर कीमती करीब ₹8000 की चोरी चला गया थाम पंकज जैन की रिपोर्ट पर थाना खिमलासा में अपराध क्रमांक 203 /19 धारा 379 आईपीसी के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया ।
विवेचना के दौरान संदेह होने पर आरोपी बल्लू उरफ बलराम पिता गुलाब पटेल उम्र 30 वर्ष निवासी बसारी  और नंदी उर्फ  शिवराज पिता काशीराम पटेल उम्र 28 वर्ष निवासी बसाहारी को अभिरक्षा में लेकर पूछताछ की गई ।आरोपी गणों द्वारा आसपास के क्षेत्रों में कई सिंचाई मोटर पंप चोरी करना बताया गया ।जिनसे पूछताछ पर चोरी की सिंचाई पंप बरामद किए गए हैं आरोपियों को गिरफ्तार किया जाकर न्यायालय पेश किया गया है आरोपियों की पुलिस रिमांड लिया जाकर अन्य चोरियों में  पूछताछ की जाती है इन आरोपियों से चोरी की अन्य सामग्री मिलने की संभावना है। चोरों को गिरफ्तार करने में थाना प्रभारी कृपाल मार्को ,प्रधान आरक्षक भगवतशरण कारोलिया आरक्षक बृजभान पटेल आरक्षक ,आरक्षक रघुवीर तिवारी, ग्राम रक्षा समिति के सदस्य राहुल यादव तथा ग्राम वासियों का सहयोग रहा है।

अखिल भारतीय साहित्य परिषद के महाकोशल प्रांत सम्मेलन का आयोजन

अखिल भारतीय साहित्य परिषद के महाकोशल प्रांत सम्मेलन का आयोजन
सागर। अखिल भारतीय साहित्य परिषद के महाकौशल प्रांत का सम्मेलन सरस्वती शिशु मंदिर, सागर में आयोजित हुआ।संभाग की अध्यक्ष डॉ वंदना गुप्ता के संयोजन में महाकौशल प्रान्त का प्रतिनिधि सम्मेलन आयोजित किया गया। 
 साहित्य परिषद की सागर जिला इकाई अध्यक्ष प्रभात कटारे ने सभी जिला सदस्यों के साथ
मिलकर अतिथियों का स्वागत चंदन लगाकर किया। इस सत्र की मुख्य अतिथि भोपाल से डॉ श्रीमती साधना बलबटे राष्ट्रीय मंत्री साहित्य
परिषद पी अध्यक्षता संस्कृत के प्रकांड विद्वान व पाणिनि विश्वविद्यालय उज्जैन के पूर्व कुलपति प्रोफेसर मिथिला प्रसाद त्रिपाठी जी ने की। विशिष्ट अतिथि के रूप में  निर्मल चंद निर्मल, ऋषभ समैया जलज,  डॉक्टर रामानुज गुप्ता समाजसेवी एवं साहित्य सेवी थे। इस सत्र में 2 पुस्तकों का विमोचन किया गया। पहली पुस्तक "जनजातीय क्षेत्रीय साहित्य संवर्धन यात्रा" जो किबालाघाट सदस्यों द्वारा आयोजित संवर्धन यात्रा का संकलन था। दूसरी पुस्तक "भावों के पारखी" काव्य संकलन का विमोचन किया गया।
प्रथम सत्र में "हमारी साहित्य परंपरा" विषय पर व्याख्यान था।  जिसमें मुख्य वक्ता प्रोफ़ेसर मिथिला प्रसाद त्रिपाठी जी थे।बीज वक्ता डॉ
साधना बलबटे व अध्यक्षता प्रोफेसर शशि कुमार सिंह सर हरीसिंह गौर केंद्रीय विश्वविद्यालय ने की। .
प्रोफेसर मिथिला प्रसाद त्रिपाठी जी ने बताया कि भारत का प्राचीनतम साहित्य ऋगवेद है और वह कहता है "साहित्य जनकल्याण के लिए होता है"। अथर्व वेद कहता है "तेन त्यक्तेन भुंजीथा"अर्थात "तुम अपने लिए नहीं दूसरों के लिए सोचों"। धर्म व परमार्थ भाव की
प्रधानता के साथ साहित्य का मूल सत्य ही होना चाहिए जो समाज को भय व भ्रम से मुक्त करें। जिसका उदाहरण रामायण, महाभारत गीता
आदि ग्रंथ है। 
अध्यक्षीय उद्बोधन में प्रोफेसर शशिकुमार ने कहा कि "साहित्यकार की लेखनी में समाज कल्याण का दायित्व बोध होना चाहिए"।संघर्षशील व्यक्तिका संघर्ष ही उन्हें समाज का नायक बनाता है और हमारी साहित्य परंपरा में इन्हीं नायकों पर आधारित कहानी व कथा लोक कल्याण व प्रेरणाकी दिशा समाज को दिखाती रही है।
द्वितीय सत्र में साहित्य परिषद महाकौशल प्रांत की संगठनात्मक चर्चा डॉ साधना बलबटे की अध्यक्षता में हुई। रीवा संभाग, जबलपुर
संभाग व सागर संभाग के सभी संभागीय व जिला पदाधिकारियों ने संगठन से संबंधित गतिविधियों की जानकारी प्र की। प्रान्त से आए सभीप्रतिनिधियों एवं अतिथियो को स्मृति चिन्ह,पुस्तकें एवं सम्मान पत्र प्रदान किया गया। तीनों संभाग से लगभग 100से अधिक पदाधिकारियों वसदस्यों ने सम्मेलन में भाग लिया।
तृतीय सत्र में विराट कवि सम्मेलन 
मुख्य अतिथि श्रीमती मधु दरें और अध्यक्षता  हर गोविंदविश्व  ने की। सारस्वत अतिथि के रूप में डा गजाधर सागर जी,डॉ श्याम मनोहर सिरोठिया , विशिष्ट अतिथि के रूप में श्रीमती सुनीलासराफ.श्रीमती संध्या दरे  उपस्थित थी। कवि सम्मेलन में कवि रामानंद पाठक जी ने "हेरा गए डीजे के आगे वह बुंदेली बाजे" रचना, श्रीपूरन चंद जी गुप्ता टीकमगढ़ ने" हो जनहित में जीवन",श्री राम गोपाल रैकवार टीकमगढ़ ने " आओ गुनगुनी धूप में बैठे" श्री डीपी शुक्ला
टीकमगढ़ ने दीपक संग जल गया बाती",श्री सीता राम राय ने "सत्य और धर्म पर चलना हमें मानस सिखाता है " डॉ श्याम मनोहर सिरोठिया
ने जिंदगी मेरे लिए बस जिन्दगी की ही तरह है", श्रीमती निरंजना जैन ने "निःशब्द की खोज में मै थक चुकी हूं"।श्री निर्मल चंद निर्मल जी ने -
कुछ ऐसी बात करो चलकर धरती की गोद हरी होवे ",उमाकांत अपरिचित रीवा ने" गर अमर होना है तुमको कुछ हुनर भी सीख लो". आकाश
शर्मा नयन सतना ने "माटी नहीं यह मातृभूमि है अब तो इसका वंदन हो", डॉ गजाधर सागर ने" लेकिन सच तो वह है जिसने सच से आंख
मिलाई हो", श्री मयंक अग्निहोत्री ने "उम्मीद का दीप इतिहास के महापुरुष", डॉ नम्रता फुसकेले ने" गुजरते वक्त से मैंने पूछना चाहा तुम ठहर
क्यों नहीं जाते",श्री शिखर चंद जैन शिखर ने "मैं कविता लिखना क्या जानू", श्री ऋषभ समैया जलज ने दीपों का साहस तो देखो रात अमावस
पूनम कर दी",श्री प्रभात कटारे सागर ने" पीर हमारी जाके कोई कह आवे सरकार को", श्रीमती सुनीला सराफ ने "माँ बेटे का दर्द समझती है।
"डॉ अनिल जैन जी ने" मुट्ठी भर छाया यहां आसमान भर धूप", पंडित हरगोविंद विश्व जी ने " सदियों से हम तो एक हते अबै एक हैं". तथा
अंत में डॉ वंदना गुप्ता ने समाज की "प्रगति का राज है नारी" रचना प्रस्तुत की।
समस्त सत्रों का सफलता पूर्वक संचालन संभागीय अध्यक्ष डॉ वंदना गुप्ता द्वारा किया गया ।इस अवसर पर दमोह जिले से आनंद जैन जिलाअध्यक्ष श्रीमती पुष्पा चिले, डॉ प्रेमलता नीलम ,श्री योगेंद्र तिवारी, श्री पीएस परिहार ,श्री दिनेश जैन राही, जबलपुर से श्री शरद अग्रवाल मध्यप्रदेश उपाध्यक्ष , श्री कौशल दुबे,सुरेंद्र सिंह पवार, श्रीराज सागरी जबलपुर संभागअध्यक्ष , श्री रमाशंकर खरे, श्री सीताराम राय, श्री पूर्ण चंद गुप्ता, श्री द्वारका प्रसाद शुक्ला, श्री विजय कुमार मेहरा, बालाघाट से श्प्रम प्रकाश त्रिपाठी, प्रोफेसर एलसी जैन श्रीमयंक अग्निहोत्री, श्रीआकाश शर्मा ,बालाघाट से अशोक कुमार सिहासने महाकोशल प्रांत अध्यक्ष, श्रीमती सुषमा यदुवंशी प्रांतीय महामंत्री, श्री किशोर छिपेश्वरसागर, मंडला से श्री नवीन जैन अकेला, श्री सुरेश रावत एड., श्रीनीलेश जैन झा.श्री श्याम बैरागी. डिंडोरी से श्री रवि राज बिलेया. रीवा से श्रीचंद्रकांत तिवारी, श्री प्रकाश चंद्र तिपाठी, श्रीउमाकांत गुप्ता, निवाड़ी से राम निवास तिवारी, श्री रामानंद पाठक, नैनपुर से डॉ राजेश कुमारठाकुर, श्री अंबिका प्रसाद यादव सागर संभाग कोषाध्यक्ष, श्री आशीष द्विवेदी.श्री प्रभात कटारे सागर जिला अध्यक्ष श्री ज्ञानी प्रसाद दुबे,श्रीश्यामसुंदर चौबे, श्री संजय सिंह, श्री आरएन खरे, श्री भानु जी जैन आदि अनेक लोग उपस्थित थे।

केंद्रीय विद्यालय -एक में दादा-दादी,नाना -नानी दिवस का आयोजन

केंद्रीय विद्यालय  -एक में दादा-दादी,नाना -नानी दिवस का आयोजन
सागर। वर्तमान समाज की ज्वलंत समस्या हमारे बुजुर्गों का घर-घर में हो रहे तिरस्कार के निदान एवं वर्तमान पीढी कोसजग करने एवं बुजुर्गों के सम्मान को बरकरार रखते हेतु केंद्रीय विद्यालय की पहल की अनवरत्  क्रम में  "दादा-दादी , नाना नानी दिवस का पूर्ण सम्मान के साथ आयोजन किया गया|
बच्चों में संस्कारों के बीजारोपण में केंद्रीय विदयालय क्र 1 सागर विभिन्न माध्यमों का चयन करता है। विदयालय प्राचार्य  अजीत सिंह एवं उपप्राचार्य  दीपक साहू के तत्पर प्रयासों में प्रोफेसर दीपक व्यास को मुख्य आतिथि
के रूप में शामिल किया गया | बच्चों के रंगारंग कार्यक्रम एवं संस्कारपूर्ण आयोजन के साथ ही बुजुर्गों ने भी विभिन्नप्रतियोगिताओं में बढ़ चढ़कर सहभागिता निभाई । प्राथमिक विभाग की मुख्य आध्यापिका  रेनू यादव दवारा
बच्चों का सफलतम उज्ज्वल भविष्य दादा दादी , नाना नानी के हाथों में ही सुरक्षित हे विषय पर प्रकाश डाला गया।समस्त प्राथमिक विभाग के शिक्षकों द्वारा कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु भरसक प्रयास किये |कार्यक्रम का महत्वपूर्ण उददेश्य हमारी वर्तमान पीढ़ी को सच्ची राह दिखाना भी है। मुख्य अतिथि ने बच्चों एवं विदयालय के इस प्रयास की सराहना की | बच्चों ने मंच संचालन, गायन,नत्य,कविता एवं भाषण के माध्यम से हमारे दादा-दादी नाना-नानी के दिलों में ताजगी भर दी | कार्यक्रम की प्रस्तुति
बच्चों द्वारा इस तरह प्रस्तुत की गई की बुजुर्गों के दिलों को तरोताजा कर दिया जिसका असर दादा-दादी , नाना-नानी की खेल प्रतियोगिताओं में देखा गया |

कृषि विस्तार अधिकारी को भ्रष्टाचार के मामले में चार साल की सजा, दो हजार की ली थी रिश्वत

कृषि विस्तार अधिकारी को भ्रष्टाचार के मामले में चार साल की सजा, दो हजार की ली थी रिश्वत

सागर। विशेष न्यायाधीश श्री रामविलास गुप्ता द्वारा भ्रष्टाचार अधिनियम 1988 के आरोपी बृजेन्द्र सिंह लहरिया को धारा 7,13,(1)डी , 13(2) मेें दिनांक 18.12.19 केा 4-4 वर्ष के कारावास एवं 10000-10000रूपये के जुर्माने से दंडित किया गया ।
अभियोजन मामला इस प्रकार है
विशेष न्यायालय भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम सागर ने अभियुक्त बृजेन्द्र सिंह लहरिया को भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा 7 में 4 वर्ष के सश्रम कारावास एवं 10000रूपये के अर्थदण्ड एवं धारा 13(1)डी, सहपठित धारा 13(2) के तहत 4 वर्ष के सश्रम कारावास एवं 10000 रूपये कुल 20000रूपये के अर्थदण्ड की सजा सुनाई है। विशेष लोक अभियोजक, लोकायुक्त सागर श्री रामकुमार पटेल ने शासन की ओर से पैरवी की तथा तर्क प्रस्तुत किय

मामला यह है कि दिनांक 24.02.15 को आवेदक दुर्गा दास ने पुलिस अधीक्षक लोकायुक्त सागर के समक्ष उपस्थित हो शिकायत की थी कि आवेदक खाद, बीज एवं दवाईयाॅ का लाईसेंस बनवाना चाहता था। जिसके एवज में आरोपी बृजेन्द्र सिंह लहरिया ने 2000 रूपये रिशवत की मांग की थी आवेदक उन्हें रिश्वत नहीं देना चाहता था। बल्कि रिश्वत देते हुए रंगे हाथ पकडवाना चाहता था।
आवेदक की उक्त शिकायत पर पुलिस अधीक्षक लोकायुक्त सागर के द्वारा शिकायत का सत्यापन कराया गया। आरोपी की रिश्वत मांग वार्ता रिकार्ड की गई, आरोपी 2000रूपयेे लेने के लिये सहमत हुआ। आरोपी बृजेन्द्र सिंह लहरिया के द्वारा रिश्वत मांगना प्रमाडित होने पर अपराध पंजीबद्ध किया गया। और पुलिस अधीक्षक के कुशल निर्देशन में ट्रेप कार्यवाही आयोजित की गई दिनांक 24.02.2015 को आरोपी बृजेन्द्र सिह लहरिया आवेदक दुर्गा प्रसाद से 1500रूपये की रिश्वत राशि लेते हुए उप संचालक कृषि विकास विभाग सागर में रंगे हाथ पकडा गया।
लोकायुक्त पुलिस सागर द्वारा विवेचना द्वारा उक्त मामले का अभियोग पत्र प्रस्तुत किया गया। विचारण में आरोपी बृजेन्द्र सिंह लहरिया को प्रार्थी से रिश्वत की मांग करने एवं 1500 रूपये की रिश्वत लेने का दोषी पाते हुए आज दिनांक 18.12.19 को माननीय विशेष न्यायालय सागर के द्वारा दंडित किया गया।

 


*साल भर में बढ़े 7 लाख शिक्षित बेरोजगार *दूध के मिलावटखोरों पर 45 लाख का जुर्माना विधानसभा में भूपेंद्रसिंह के प्रश्नों के जवाव

*साल भर में बढ़े 7 लाख शिक्षित बेरोजगार
*दूध के मिलावटखोरों पर 45 लाख का जुर्माना
विधानसभा में भूपेंद्रसिंह के प्रश्नों के जवाव
सागर। मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद पंजीकृत शिक्षित बेरोजगारों की संख्या में 7 लाख की वृद्धि हुई है। सरकार का एक साल पूरा होने पर विज्ञापनों में गुणगान किया जा रहा है कि युवाओं को रोजगार तथा स्वरोजगार के अधिकतम अवसर उपलब्ध करवाने के लिए अनेक रणनीतिक कदम उठाये हैं। जबकि हकीकत ऊँट के मुँह में जीरा जैसी है। जिसका खुलासा विधानसभा में पूर्व गृहमंत्री एवं खुरई विधायक भूपेन्द्र सिंह के प्रश्न पर सरकार के जबाब में हुआ है।
बुधवार को विधानसभा में पूर्व गृहमंत्री एवं विधायक भूपेन्द्र सिंह ने प्रश्न किया कि प्रदेश में अक्टूबर 2018 एवं अक्टूबर 2019 में पंजीकृत शिक्षित बेरोजगारों का ब्यौरा क्या है और कितने बेरोजगारों को शासकीय अथवा निजी क्षेत्र में रोजगार उपलब्ध कराया गया है ? जबाब में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बताया है कि प्रदेश में अक्टूबर 2018 में पंजीकृत शिक्षित बेरोजगारों की संख्या 20,77,222 एवं अक्टूबर 2019 में पंजीकृत शिक्षित बेरोजगारों की संख्या 27,79,725 है। अर्थात बीते एक साल में पंजीकृत शिक्षित बेरोजगारों की संख्या में 7 लाख  2503 की वृद्धि हुई है। जबकि 15 अक्टूबर 2018 से 15 नवम्बर 2019 के मध्य शिक्षित बेरोजगारों को रोजगार प्रदाय करने के लिए मुख्यमंत्री कौशल संवर्धन मुख्यमंत्री स्वभिमान योजना तथा मुख्यमंत्री कौशल संवर्धन योजना के अंतर्गत मेगा स्किल ट्रेनिंग सेन्टर की स्थापना हेतु लघु अवधि के कौशल प्रशिक्षण हेतु निजि प्रशिक्षण प्रदाताओं का चयन किया जा चुका है एवं प्रशिक्षण की कार्यवाही प्रचलन में है, प्रशिक्षण उपरांत प्रशिक्षणार्थियों का चयन प्रशिक्षण प्रदाता द्वारा किया जावेगा। पूर्व में संचालित मुख्यमंत्री कौशल संवर्धन योजना एवं मुख्यमंत्री कौशल्या योजना अंतर्गत निजी क्षेत्रों में 7722 प्रशिक्षणार्थियों का नियोजन किया गया है। जाॅव फेयर योजना के तहत 15 दिसम्बर 2018 से 15 नवम्बर 2019 के मध्य जाॅव फेयर आयोजित कर 17506 शिक्षित बेरोजगारों को निजी क्षेत्रों में नियुक्ति हेतु चयनित करवाया गया। विभिन्न जिलों में नियोजन कंपनी के माध्यम से आईटीआई प्रशिक्षणार्थियों के लिए प्लेसमेंट ड्राइव का आयोजन कर 15 दिसम्बर 2018 से 15 नवम्बर 2019 के मध्य 2520 आईटीआई उत्तीर्ण छात्रों का विभिन्न कंपनियों द्वारा चयन किया गया है। गौरतलब है कि सरकार के उक्त जबाब से यह पता नहीं चलता कि निजी क्षेत्रों में नियुक्ति हेतु चयनित 20026 युवाओं में से कितनों को रोजगार मिला। प्रदेश सरकार द्वारा युवाओं को रोजगार देने में हालत कितनी पतली है, इसका नमूना मुख्यमंत्री के जबाब में है, जिसमें बताया गया है कि प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड द्वारा आयोजित संयुक्त भर्ती परीक्षा 2018 में कौशल विकास संचालनालय द्वारा सहायक ग्रेड-3 के सात पदों पर नियुक्ति की गई है।
मिलावटखोरों पर जुर्माना ठोक कर 45 लाख से अधिक कमाये
पूर्व गृहमंत्री एवं खुरई विधायक भूपेन्द्र सिंह के प्रश्न पर लोक स्वास्थ्य परिवार कल्याण मंत्री तुलसी सिलावट ने जबाब दिया है कि प्रदेश में जून 2019 से अब तक दूध के 1459 एवं दुग्ध उत्पादों के 3242 नमूने जाॅच हेतु लिए गए हैं। उक्त कुल 4701 नमूनों में से 821 अमानक पाये गए जिनमें से 34 नमूनों में केमिकल पाया गया। उपरोक्त कार्रवाई के अलावा इस अवधि में सक्षम न्यायालयों में दर्ज 266 में से 108 प्रकरणों का निराकरण करते हुए 45,38,700 रूपए जुर्माना किया गया। दूध एवं दुग्ध उत्पादों सहित अन्य खाद्य पदार्थों में मिलावट होने पर स्थानीय जिला कलेक्टर द्वारा 30 प्रकरणों में रासुका के तहत कर्रवाई की गई है।
*साल भर में 18810 करोड़ का बाजार ऋण लिया सरकार ने
पूर्व गृहमंत्री एवं विधायक भूपेन्द्र सिंह के प्रश्न पर वित्तमंत्री तरूण भनोत ने बताया है कि प्रदेश सरकार द्वारा दिसम्बर 2018 से 4 दिसम्बर 2019 तक कुल 18810 करोड़ का बाजार ऋण लिया गया है। बाजार ऋण के अलावा अन्य ऋणों के संबंध में महालेखाकार से अंकेक्षित आंकड़े प्राप्त नहीं हुए है। वर्ष 2019-20 के बजट में फसल ऋण माफी योजना हेतु 8000 करोड़ का प्रावधान किया गया है।
कोटपा एक्ट में दर्ज प्रकरण
विधायक भूपेन्द्र सिंह के प्रश्न पर लोक स्वास्थ्य परिवार कल्याण मंत्री ने बताया है कि जनवरी 2019 से अभी तक सिगरेट और अन्य तम्बाकू उत्पाद अधिनियम 2003 (कोटपा एक्ट) के तहत प्रदेश में 2025 प्रकरण दर्ज किए गए हैं।

SAGAR: जिला अस्पताल में 10 दिन में तैयार हो जाएगा ऑक्सीजन प्लांट , 100 बिस्तरों को रोज मिलेगी ऑक्सीजन

Archive