जंय श्री गणेशाय नमः

शनिवार, 28 नवंबर 2020

कोरोना योद्धा डॉ शुभम उपाध्याय की मौत पर सवाल उठाए जूनियर डाक्टर/ मेडिकल आफीसर ने, कमिश्नर को दिया ज्ञापन

कोरोना योद्धा डॉ शुभम उपाध्याय की मौत पर सवाल उठाए जूनियर डाक्टर/ मेडिकल आफीसर ने, कमिश्नर को दिया ज्ञापन



सागर। बुंदेलखंड मेडिकल कालेज सागर के कोरोना योद्धा डॉ शुभम उपाध्याय की दुखद मौत ने अब कई सवाल खड़े किये। डॉ की मौत ने चिकित्सा जगत को झकझोर दिया है। मेडिकल कालेज के जूनियर डाक्टर और मेडिकल आफीसरों ने डॉ शुभम की मौत में लापरवाहियों का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित सम्बंधित अफसरों को एक ज्ञापन दिया है। जिसमे  उचित कार्यवाही की मांग के साथ ही डीन के इस्तीफे की बात की गई है। इसके साथ ही स्वास्थ्य कर्मियों के बेहतर इलाज की बात भी की गई है। इसमे डॉ शुभम के परिजनों को अनुकम्पा नियुक्ति की मांग भी शामिल है। 

जूनियर डॉक्टरों और मेडिकल आफीसरों ने कमिश्नर मुकेश शुक्ला को दिए ज्ञापन में लिखा कि मेडिकल ऑफिसर डॉ शुभम उपाध्याय की मृत्यु में गैर जिम्मेदाराना व असंवेदनशील
बर्ताव को हुआ है।
ज्ञापन के मूताबिक  जैसा कि आपको ज्ञात है, कि बुण्देलखण्ड मेडिकल कॉलेज, सागर में पदस्थ मेडिकल ऑफीसर डॉ. शुभम उपाध्याय कोरोना महामारी में अपनी सेवायें प्रदान करते हुए दिनांक 28.10.2020 को स्वयं संक्रमित हो गये। दिनांक 28.10.2020 से दिनांक 10.11.2020 तक उनका ईलाज बुण्देलखण्ड मेडिकल कॉलेज में हुआ। ईलाज के दौरान उनकी स्थिति में कोई सुधार नहीं आया, स्थिति बिगड़ती चली गई, जिसके उपरांत बुण्देलखण्ड मेडिकल कॉलेज के वरिष्ठ चिकित्सकों द्वारा परिजनों को यह सलाह दी गई कि इनको अब चिरायु अस्पताल, भोपाल में इलाज के लिए ले जाया जाये। दिनांक 10.11.2020 को डॉ शुभम को चिरायु अस्पताल ले जाया गया। जहां पर उनके ईलाज के दौरान उनकी स्थिति ओर बिगड़ती चली गई। ईलाज के दौरान डॉ. शुभम
ने 19.11.2020 को स्वयं के मोबाईल से अपने साथी चिकित्सकों एवं सीनियर एवं अन्य वरिष्ठ
चिकित्सकों को वाट्एप संदेश के माध्यम से अपनी बद से बदल होती स्थिति के संबंध में अवगत कराया। उसके उपरांत साथी चिकित्सकों के प्रयास से इस मामले को विभिन्न सोशल मीडिया एवंप्रिन्ट मीडिया के माध्यम से सरकार एवं वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारियों के समक्ष लाया गया। लेकिन बुण्लेदलखण्ड चिकित्सा महाविद्यालय के प्रशासन की तंदा तब तक भंग नहीं हुईथी। इनके उपरांत कही से भी कोई मदद नहीं मिलते देख कर साथी चिकित्सकों द्वाराजन-सहयोग के माध्यम से डॉ. शुभम के इलाज के लिए कुछ धन राशि एकत्रित की गई।तदोपरांत 24.11.2020 की सुबह को  मुख्य मंत्री, मध्यप्रदेश शासन द्वारा डॉ. शुभम का
ईलाज सरकारी खर्च से कराने की घोषणा की गई। कतिपय परिस्थितियों के कारण डॉ. शुभम
को तत्काल एयरलिफ्ट करके वांछनियअस्पताल में नहीं ले जाया जा सका। जैसा आप सभी को
ज्ञात है कि दिनांक 25.11.2020 को शाम 05:05 मिनट पर हृदय की गति रूकने से
शुभम वीरगति को प्राप्त हुए।

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे



ट्वीटर  फॉलो करें

@weYljxbV9kkvq5ZB



वेबसाईट


 
इन बिंदुओं पर जांच की मांग

★ 28.10.2020 से 10.11.2020 की अवधि मे जब डॉ. शुभम की स्थित में सुधार नहीं हो रहा था तो उनको चिरायु अस्पताल के जगह किसी उच्च चिकित्सा संस्थान(एम्स) में क्यों नहीं भेजा गया।
★ बुण्लेदलखण्ड चिकित्सा महाविद्यालय, सागर, जो खुद में एक Tertiary Care
Centre है। इसके बावजूद डॉ. शुभम को चिरायु रैफर करने की आवश्यकता क्यों पड़ी?
और अगर आवश्यकता थी, तो रैफर करने मे विलम्ब क्यों किया गया?

★गत नो माह से डॉ. शुभम कोरोना वार्ड में इयूटी कर रहे थे। इसके बावजूद उनके ईलाज के लिए कॉलेज प्रशासन की तरफ से कोई भी आर्थिक मदद प्रदान क्यों नहीं की।
★ एक माह पूर्व डॉ. शुभम को कोरोना वारियर की उपाधि से सम्मानित किया गया था, लेकिन जब वे इस महामारी से संक्रमति हो गये, और ये जिंदगी और मौत से संघर्ष कररहे थे, तबसरकार एवं प्रशासन द्वारा आर्थिक मदद उपलब्ध कराये जाने में इतना विलंब क्यो हुआ।
★ दिनांक 25.11.2020 को दोपहर के समय उनकी स्थिति गंभीर हो गई थी, तब उन्हें E.C.M.O सपोर्ट की आवश्यकता थी अस्पताल में E.C.M.O, सपोर्ट की सुविधा होने के बावजूद भी सुविधा उपलब्ध क्यों नहीं कराई गई ?

★ चिरायु अस्पताल में इलाज के दौरान परिजनों की प्रार्थना के उपरांत भी डॉ. शुभम
की R.T.P.C.R. जाँच नहीं कराई गई। जब साथी चिकित्सकों ने अपने स्तर पर चिरायु प्रशासन पर दबाव बनाया ।उसके उपरांत दिनांक 21.11.2020 R.T.P.C.R. जाँच हो सकी।
उन्होंने मांग की है कि उक्त प्रकरण में अनियमितताओं के आधार पर डीन को मानवीयता के आधार पर अपने पद से इस्तीफा स्वयं प्रस्तुत करना चाहिए एवं डॉ. शुभम
के उपचार में की गई लापरवाहियों कीजबावदेही जल्द से जल्द तय की जाए एवं उचित वैधानिक
कार्यवाही की जाए।
एक अन्य ज्ञापन में डॉ शुभम के परिजनों को अनुकम्पा नियुक्ति देने के साथ ही स्वास्थ्यकर्मियों को बीमा सुविधा और  उच्च इलाज की सुविधा आदि मुहैया कराने की मांग की है। 

---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

60 वर्ष से अधिक पीड़ितों को होम आइसोलेट न करें : निशांत बरबड़े, आयुक्त चिकित्सा शिक्षा ★ कोरोना संक्रमण से हुई मौतों को लेकर की समीक्षा

 60 वर्ष से अधिक पीड़ितों को होम आइसोलेट न करें :  निशांत बरबड़े, आयुक्त चिकित्सा शिक्षा
★ कोरोना संक्रमण से हुई मौतों को लेकर की समीक्षा


सागर ।  60 वर्ष से अधिक कोरोना संक्रमित व्यक्तियों को होम आइसोलेट  न कर उनको बीएमसी के वार्ड में  भर्ती कराएं । उक्त निर्देश चिकित्सा शिक्षा आयुक्त डॉ निशांत वरवड़े ने बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज में अंतर के बढ़ते स्तर की समीक्षा करते हुए दिए । इस अवसर पर आयुक्त स्वास्थ्य डॉ संजय गोयल, संभागायुक्त श्री मुकेश शुक्ला, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री इच्छित गढ़पाले, बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज के अधिष्ठाता डॉ आर एस वर्मा , डॉ वीरेंद्र यादव डॉक्टर मनीष जैन डॉक्टर रमेश पांडे सीएमएचओ डॉ एमएस सागर तकनीकी सलाहकार डॉक्टर लोकेंद्र दुबे आशीष सक्सेना मौजूद थे।

यहां बता दे कोविड योद्धा डॉ शुभम उपाध्याय की मौत के बाद सीएम शिवराज सिंह ने कल समीक्षा के दौरान सागर में कोविड से मौत को लेकर समीक्षा के निर्देश दिए थे। 

मृत्यु दर की समीक्षा करते हुए चिकित्सा शिक्षा आयुक्त डॉ निशांत वरवड़े ने कहा कि 60 वर्ष से अधिक आयु वाले व्यक्तियों को  होम आइसोलेट  ना कर बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज में स्थापित कोविड-19 वार्ड में भर्ती कराएं उन्होंने कहा कि समस्त डॉ आपसी समन्वय बनाकर कार्य करें उन्होंने निर्देश दिए कि जो कोरोना संक्रमित मरीज  मेडिकल कॉलेज में आ रहा है उसकी पूरी हिस्ट्री संबंधित डॉक्टर से अवश्य ले उन्होंने कहा कि कोविड-19  वार्ड में भर्ती होने के पश्चात संक्रमित व्यक्ति यदि पूर्व में किसी बीमारी की दवा खा रहा है तो उसको अवश्य चालू रखें ।उन्होंने निर्देश दिए  कि सभी डॉक्टर जिनकी ड्यूटी कोविड वार्ड में है वह दिन में दो बार व्यक्तिगत जाकर पीड़ित मरीज का ऑक्सीमीटर से ऑक्सीजन एवं उसका तापमान एवं उसकी अन्य पैरामेडिकल की जांच करेंम
डॉक्टर निशांत बरबड़े ने डीन मेडिकल कालेज को निर्देश दिये कि वह प्रतिदिन कमिश्नर  मुकेश शुक्ला की उपस्थिति में जिले के समस्त मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों से बात कर उनके जिलों में कोरोना पीड़ितों की समीक्षा करें।
 उन्होंने निर्देश दिए कि यह भी सुनिश्चित करें कि कोई भी मेडिकल स्टोर वाला सर्दी खांसी बुखार की दवा बगैर डॉक्टर के पर्ची के ना देवे और उनका रिकॉर्ड संधारित किया जावे ।उन्होंने निर्देश दिए कि जिस  डॉक्टर के अधीन कोरोना संक्रमित व्यक्ति का इलाज हो रहा है ।वह उसकी समस्त जांचों की हिस्ट्री एवं दिनांक अवश्य लिखकर  हस्ताक्षर करें उन्होंने मेडिकल कॉलेज की चल रही है हेल्पडेस्क को और सशक्त बनाने के निर्देश दिए साथी इसके माध्यम से पीड़ित मरीज की प्रतिदिन जानकारी उनके परिजनों को दी जावे एवं उनको वीडियो कॉलिंग से उनसे बात करी कराई जाए ।उन्होंने ठंड के दिनों में कोविड-19 वार्डो मैं समस्त आवश्यक सुविधाएं मुहैया कराने की भी निर्देश दिए ।
श्री निशांत बरबड़े एवं डॉ गोयल ने मृत्यु दर की समीक्षा करते हुए समस्त प्रकरणों  की गहनता से जांच की।
आयुक्त चिकित्सा डॉ संजय गोयल ने कहा कि समस्त डॉक्टर कोविड-19 की गाइडलाइन का अक्षरश  पालन करते हुए इलाज करें उन्होंने आपसी समन्वय बनाकर कार्य करने एवं उसी के अनुसार रोस्टर  बनाने के भी निर्देश दिए उन्होंने कहा कि सभी डॉक्टर टीम लीडर की तरह काम करें और उनके अधीन आने वाले पैरामेडिकल एवं चतुर्थ वर्ग कर्मचारियों से भी सामान्य व्यवहार करते हुए सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए सहयोग प्राप्त करें।
भोपाल से आए तकनीकी सलाहकार डॉक्टर लोकेंद्र दुबे ने कहा कि उनसे किसी भी कठिन प्रकरण में प्रतिदिन सलाह ले सकते हैं और हर स्तर पर मृत्यु दर को कम करना ही  हमारा उद्देश्य एवं संकल्प होना चाहिए।


---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------
 

मंदिर गयी महिला के साथ दुष्कृत्य करने वाले आरोपीयो की जमानत निरस्त

मंदिर गयी महिला के साथ दुष्कृत्य करने वाले आरोपीयो की जमानत निरस्त 

सागर। न्यायालय- नीलेन्द्र कुमार तिवारी न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी, बीना जिला सागर के न्यायालय ने आरोपी लल्लू बुन्देला और रोहित बुन्देला का जमानत आवेदन निरस्त करने का आदेश दिया गया। जमानत आवेदन पर राज्य शासन की ओर से सहा0 जिला अभियोजन अधिकारी श्री दिनेश कुमार मालवीय, बीना जिला सागर ने शासन का पक्ष रखा। 

घटना का संक्षिप्त विवरण इस प्रकार हैकि फरियादिया ने थाना भानगढ़ उपस्थित होकर लिखित आवेदन प्रस्तुत किया कि दिनांक 27.09.2020 को 10ः00 बजे मंदिर गयी थी तभी वहां रोहित बुन्देला और लल्लू बुन्देला आये फरियादिया के मुंह पर कपडा दबाकर मंदिर के पीछे ले गए और दोनों आरोपीगण ने उसके साथ गलत काम किया। वहां गांव का एक लडका आ गया तो दोनों आरोपीगण वहां से भाग गये और जाते-जाते कहा कि किसी को बताया तो जान से खत्म कर देगें। फरियादिया ने अपने घर पहुचकर पति को घटना के बारे में बताया और पति के साथ थाना रिपोर्ट करने गयी। उक्त घटना की रिपोर्ट पर प्रकरण पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायालय के समक्ष पेश किया गया।आरोपी के अधिवक्ता ने न्यायालय में जमानत आवदेन प्रस्तुत किया गया। जहां अभियोजन ने जमानत आवेदन का विरोध किया। माननीय न्यायालय द्वारा उभय पक्ष को सुना गया। न्यायालय द्वारा प्रकरण के तथ्य परिस्थितियों एवं अपराध की गंभीरता को देखते हुए व अभियोजन के तर्कों से सहमत होकर आरोपी लल्लू बंुदेला एवं रोहित बुन्देलाका प्रस्तुत जमानत हेतु धारा 437 दप्रसं का आवेदन निरस्त कर दियागया। 
 
जमीन खरीदी के विवाद पर से मारपीट करने वाले आरोपीगण की जमानत निरस्त 

सागर। न्यायालय-श्रीमान नीलेन्द्र कुमार तिवारी न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी, बीना जिला सागर के न्यायालय ने आरोपीगण नन्दलाल पिता भगुन्त लोधी, बलीराम पिता कन्छेदी लोधी एवं रामकुमार पिता केर सिंह लोधी सभी निवासी ग्राम बगसपुर थाना भानगढ़ का जमानत आवेदन निरस्त करने का आदेश दिया गया। जमानत आवेदन पर राज्य शासन की ओर से सहा0 जिला अभियोजन अधिकारीश्री दिनेश कुमार मालवीय, बीना जिलासागर ने शासन का पक्ष रखा। 

घटना का संक्षिप्त विवरण इस प्रकार हैकि दिनांक 09.10.2020 के रात्री 01ः00 बजे फरियादी अपने घर में सो रहा था तभी गांव के नन्दलाल लोधी, बलीराम लोधी उसके घर में घुसकर जमीन खरीदी की बुराई पर से मारपीट करने लगे और रामकुमार गंलिया देते आ गया और नंदलाल ने लोहे की राड से फरियादी से मारपीट की जिससे उसके सिर एवं शरीर में चोट कारित हुयी। फरियादी के चिल्लाने पर उसकी पत्नि बचानेआयी तो आरोपीगण ने उसके साथ भी मारपीट की। जब परिवार के अन्य लोग आ गये तो उन्होने बीच बचाव किया तो आरोपीगण ने धमकी दी कि अगर खरीदी जमीन पर गये तो जान से खत्म कर देगें और चले गये। फरियादी इलाज कराने बीना गया और फिर थाना भानगढ में रिपोर्ट दर्ज कराई। उक्त घटना की रिपोर्ट पर प्रकरण पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। आरोपीगण को गिरफ्तार कर न्यायालय के समक्ष पेश किया गया।आरोपी के अधिवक्ता ने न्यायालय में जमानत आवदेन प्रस्तुत किया गया। जहां अभियोजन ने जमानत आवेदन का विरोध किया। माननीय न्यायालय द्वारा उभय पक्ष को सुना गया। न्यायालय द्वारा प्रकरण के तथ्य परिस्थितियों एवं अपराध की गंभीरता को देखते हुए व अभियोजन के तर्कों से सहमत होकर आरोपीगण नन्दलाल, बलीराम और रामकुमार का प्रस्तुत जमानत हेतु धारा 437 दप्रसं का आवेदन निरस्त कर दियागया।


 

राष्ट्रीय महिला आयोग के समन्वय से विधिक साक्षरता शिविर आयोजित

राष्ट्रीय महिला आयोग के समन्वय से विधिक साक्षरता शिविर आयोजित

सागर ।  राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण, नई दिल्ली एवं मध्य प्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जबलपुर के आदेशानुसार जिला न्यायाधीश/अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, श्रीमान् बी.आर. पाटिल एवं श्रीमती विधि सक्सेना, सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, सागर के निर्देशन एवं मार्गदर्शन में  राष्ट्रीय महिला आयोग के समन्वय से ग्राम बरारू, शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय परिसर, जिला सागर में महिलाओं के लिए विधिक साक्षरता शिविर आयोजित किया गया, जिसकी अध्यक्षता  जिला न्यायाधीश/अध्यक्ष, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण,  बी.आर. पाटिल के द्वारा की गई।


तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे



ट्वीटर  फॉलो करें

@weYljxbV9kkvq5ZB



वेबसाईट


उक्त आयोजित शिविर का दीप प्रज्जवलन के साथ शुभारंभ करते हुए  जिला न्यायाधीश/अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण,  बीर.आर. पाटिल ने कहा कि, महिला अपने परिवार की रीढ़ होती है और महिला जितनी सशक्त, शिक्षित और जागरूक होगी परिवार उतना ही प्रगति करेगा एवं जिला न्यायाधीश के द्वारा महिलाओं के लिए बनाए गए विभिन्न कानूनों की भी विस्तृत जानकारी दी गई। शिविर में उपस्थित सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, सागर श्रीमती विधि सक्सेना के द्वारा महिलाओं को घरेलू हिंसा अधिनियम की विस्तृत जानकारी प्रदान करते हुए गुड टच, बेड टच एवं महिलाओं से संबंधित अन्य कानूनों के बारे में बताया गया। जिला विधिक सहायता अधिकारी, श्री अनुज कुमार चन्सौरिया, के द्वारा कार्यक्रम का संचालन करते हुए उपस्थित महिलाओं को जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा किये जाने वाले कार्यों के बारे में अवगत कराया और निःशुल्क विधिक सहायता योजना के बारे में जानकारी प्रदान की तथा उपस्थित महिलाओं से अपने अधिकारों का उपयोग करने एवं बच्चों को शिक्षित करने के लिए प्रेरित किया गया।
कार्यालय, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, सागर की ओर से रिसोर्स पर्सन के रूप में सुश्री मनोरमा गौर, अधिवक्ता/सामाजिक कार्यकर्ता द्वारा महिलाओं की समाज में भूमिका एवं उनके महत्व पर प्रकाश डाला गया एवं रिसोर्स पर्सन श्रीमती संगीता चौबे, अधिवक्ता द्वारा भू्रण हत्या, बाल विवाह, दहेज प्रथा जैसे अपराधों का पुरजोर विरोध करने की अपील करते हुए महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक किया गया। वर्तमान में कोविड-19 के संक्रमण के प्रसारण को देखते हुए सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र की अधिकारी श्रीमती नीतू वर्मा के द्वारा शिविर में आने वाली महिलाओं का स्क्रीनिंग टेस्ट किया गया तथा ग्राम पंचायत, सचिव, श्री मनीष सोनी द्वारा उपस्थित महिलाओं को मास्क वितरित करते हुए उनके हाथों को सैनेटाईज कराया गया।
शिविर में चतुर्थ अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश, श्री पंकज यादव, महिला सशक्तिकरण अधिकारी, श्रीमती शिवानी सेंगर, शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, के प्रभारी प्राचार्य, श्री शैलेन्द्र जैन, ग्राम पंचायत बरारू, के सरपंच श्रीमती मीरा बाई लक्ष्मण पटेल उपस्थित रहे। शिविर के आरंभ में सरस्वती वंदना की प्रस्तुति विद्यालय की छात्राओं द्वारा दी गई एवं शिविर में कोविड-19 के संबंध में मध्य प्रदेश शासन द्वारा समय-समय पर जारी की गई गाईड लाईन एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया गया। 

 ---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------
 

स्पेशल डीजी व डायरेक्टर, खेल एवं युवा कल्याण ने इंटीग्रेटेड स्पोर्टस कॉम्प्लेक्स की समीक्षा


स्पेशल डीजी व डायरेक्टर, खेल एवं युवा कल्याण  ने  इंटीग्रेटेड स्पोर्टस कॉम्प्लेक्स की समीक्षा
 
 
★ खेल परिसर मैदान व नगर निगम स्टेडियम का किया स्थल निरीक्षण

सागर । मंत्री खेल एवं युवा कल्याण, तकनीकी शिक्षा, कौशल विकास एवं रोजगार, मध्यप्रदेश शासन श्रीमति यशोधरा राजे सिंधिया के सागर प्रवास के दौरान मंत्री के निर्देशानुसार विशेष पुलिस महानिदेशक, संचालक खेल एवं युवा कल्याण म.प्र. श्री पवन जैन(आईपीएस) ने सागर स्मार्ट सिटी लिमिटेड द्वारा सागर के खेल परिसर मैदान तथा नगर निगम स्टेडियम में तैयार किये जा रहे इंटीग्रेड स्पोर्ट कॉम्प्लेक्स प्रोजेक्ट की समीक्षा की। इस दौरान ज्वाइंट डायरेक्टर, खेल एवं युवा कल्याण म.प्र.  बी एस यादव, पुलिस अधीक्षक सागर अतुल सिंह, निगमायुक्त सह सागर स्मार्ट सिटी कार्यकारी निदेशक श्री आर पी अहिरवार, जिला खेल और युवा कल्याण अधिकारी श्री प्रदीप अबिद्रा, स्मार्ट सिटी असिस्टेंट प्लानर श्री प्रवीण चौरसिया, पीएमसी टीम लीडर श्री अलोक चौबे, पीएमसी एक्सपर्ट श्री आशीष डे सहित अन्य अधिकारी, कर्मचारी उपस्थित रहे।
प्रोजेक्ट प्रजेंटेशन में प्रस्तुत दोनो मैदानों के मास्टर प्लान की समीक्षा कर डायरेक्टर श्री जैन ने साधारण सुधारों हेतु निर्देशित किया। स्मार्ट सिटी द्वारा शहर विकास में खेलों के महत्व को देखते हुए यहां विभिन्न खेलों के उभरते खिलाड़ियों को एक उत्कृष्ठ व्यवस्था प्रदान कर राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी तैयार करने के उद्देश्य से बनाये जा रहे स्पोर्ट कॉम्प्लेक्स की प्रस्तुत ड्राइंग एवं डिजाईन की सराहना की। पश्चात खेल परिसर मैदान का स्थल निरीक्षण किया एवं शहर के बीचोंबीच पहाड़ी से लगे ऐसे मैदान को और सुंदर बनाने हेतु प्लांटेशन करने, मैदान के चारो ओर वॉक-वे तैयार करने हेतु कहा। साथ ही अत्यावश्यक सुविधाओं जैसे 24 घंटे पानी की व्यवस्था आदि का विशेष ध्यान रखने को कहा। परिसर में आने वाले खिलाड़ियों व अन्य से एक मिनिमम शुल्क लेने की योजना बनाने को भी कहा। यहां बनने वाले खेल मैदानों, ट्रैक, कोर्ट आदि में आवश्यकता अनुसार अच्छी लाइट व्यवस्था हो एवं अन्य जरूरतों हेतु एक्सपर्ट एवं खिलाड़ियों से सलाह लें। इसके साथ ही नगर निगम स्टेडियम का भी स्थल निरीक्षण किया। 


---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

केन्द्रीय जेल के हथकरघा केंद्र में अनुशासन और क्रियाशीलता देख कर मैं निःशब्द हूँ : यशोधरा राजे सिंधिया


केन्द्रीय जेल के हथकरघा केंद्र में अनुशासन और क्रियाशीलता देख कर मैं निःशब्द हूँ :  यशोधरा राजे सिंधिया


* सागर केन्द्रीय जेल मैं कैदियों द्वारा संचालित हथकरघा केन्द्र का कार्य अनुकरणीय

सागर । जेल के अंदर सजायापता कैदियों का ऐसा अनुशासन क्रियाशीलता देखकर मैं निःशब्द हूँ। उक्त वक्तव्य युवा कल्याण, तकनीकी शिक्षा,  कौशल विकास एवं रोजगार मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया ने सागर के केन्द्रीय जेल पहुँच कर वहाँ कैदियों द्वारा संचालित किए जा रहे विद्यासागर हथकरघा केंद्र का निरीक्षण के दौरान दिये। उन्होंने कहा कि जेल में कैदियों द्वारा संचालित किया जा रहा कार्य अन्य जेलों के लिए भी अनुकरणीय है।
निरीक्षण के दौरान श्रीमती सिंधिया ने वहाँ उपस्थित हथकरघा से वस्त्र बनाने वाले कैदियों को संबोधित करते हुए कहा कि, प्रत्येक मनुष्य में कुछ अच्छाइयाँ और कुछ कमियां होती हैं। कई बार उन कमियों के कारण मनुष्य गलती कर बैठता है। परंतु , प्रत्येक व्यक्ति को सुधार का मौका मिलना चाहिए। मौका मिलने पर व्यक्ति स्वयम में सकारात्मक परिवर्तन लाकर न केवल खुद के लिए बल्कि समाज के लिए भी अच्छा कार्य कर सकता है।

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें
@weYljxbV9kkvq5ZB


वेबसाईट


मंत्री श्रीमती सिंधिया ने निरीक्षण के दौरान हथकरघा केंद्र की प्रणेता सुश्री रेखा जैन, डा. नीलम जैन से हथकरघा के बारे में बारीकी से जानकारी ली। उल्लेखनीय है कि, सागर केन्द्रीय जेल के अंदर परिसर में स्थापित हथकरघा केंद्र में प्रशिक्षित कैदियों द्वारा हैंडलूम मशीन पर विभिन्न प्रकार के वस्त्रों का निर्माण किया जाता है। इन वस्त्रों की बिक्री के लिए सद्भावना विक्रय केंद्र बनाया गया है।
उन्होंने बताया कि आचार्य श्री विद्यासागर महाराज की प्रेरणा एवं मार्गदर्शन के फलस्वरूप किए जा रहे हथकरघा कार्य को और आगे बढ़ाएंगे। उन्होंने कहा कि यह साधु साध्वियों की तपस्या का ही परिणाम है कि, जेल परिसर मैं इतनी सकारात्मक ऊर्जा का एहसास हो रहा है।
इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक श्री अतुल सिंह, एडीजे जेल श्री संजय पाण्डे, श्री संतोष सोलंकी, नगर निगम आयुक्त श्री आरपी अहिरवार, जिला पंचायत के सीईओ श्री इच्छित गढ़पाले, नगर निगम उपायुक्त डा. पीके खरे सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे। 

---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

शुक्रवार, 27 नवंबर 2020

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा की ★ विशेषज्ञ डॉक्टर्स की टीम लेकर सागर जाएं ★ कोरोना योद्धा डॉ. शुभम उपाध्याय के परिवार को 50 लाख रूपए की सहायता ★प्रकरण कम हैं, वैवाहिक आयोजनों पर न लगाए जाएं अनावश्यक प्रतिबंध

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा की

★ विशेषज्ञ डॉक्टर्स की टीम लेकर सागर जाएं
★ कोरोना योद्धा डॉ. शुभम उपाध्याय के परिवार को 50 लाख रूपए की सहायता

★प्रकरण कम हैं, वैवाहिक आयोजनों पर न लगाए जाएं अनावश्यक प्रतिबंध

★ मास्क न पहनने व अन्य सावधानियां न बरतने पर "ओपन जेल"

★ भोपाल में बनाए गए पाँच कंटेनमेंट जोन

भोपाल।मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश के जिन जिलों में कोरोना संक्रमण अधिक है, वहां क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की सलाह अनुसार वैवाहिक आयोजनों में संख्या संबंधी प्रतिबंध लगाया जाएं, परंतु जिन जिलों में प्रकरण कम हैं, वहां वैवाहिक आयोजनों पर अनावश्यक प्रतिबंध न लगाए जाएं। मास्क न लगाने तथा कोरोना संबंधी अन्य सावधानियां न बरतने पर कुछ समय के लिए 'ओपन जेल' में रखा जाए। जो लोग 'होम आइसोलेशन' में हैं, उनके घर के बाहर तत्संबंधी सूचना प्रदर्शित की जाए, जिससे वे घर से बाहर न निकलें।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जिन क्षेत्रों में संक्रमण अधिक है, वहां 'कंटेनमेंट जोन' बनाए जाएं, जिससे संक्रमण आगे न फैले। भोपाल शहर में कोलार, एम.पी. नगर तथा अशोका गार्डन क्षेत्रों में कुल 05 संक्रमण क्षेत्र बनाए गए हैं। इन क्षेत्रों में विशेष सावधानी रखी जाए।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना योद्धा डॉ. शुभम उपाध्याय कोरोना मरीजों की सेवा करते हुए शहीद हो गए हैं। हमने उन्हें बचाने की बहुत कोशिश की। उन्हें 'लंग ट्रांसप्लांट' के लिए चैन्नई भी ले जाने वाले थे, परंतु इसके पूर्व उनका दु:खद निधन हो गया। हम सभी उन्हें सादर श्रद्धांजलि देते हैं। उनके परिवार को 50 लाख रूपए की आर्थिक सहायता दी जाएगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान आज निवास से वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव श्री मोहम्मद सुलेमान सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

'होम आइसोलेशन' की कड़ी निगरानी हो

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि जो मरीज 'होम आइसोलेशन' में हैं, उनकी कमाण्ड एंड कंट्रोल सेंटर्स के माध्यम से कड़ी निगरानी की जाए। आवश्यक होने पर तुरंत उन्हें अस्पताल में भर्ती किया जाए। वे घर से बाहर न निकलें, इस पर सख्त पाबंदी की जाए। प्रदेश में कोरोना के कुल मरीजों में 62 प्रतिशत मरीज होम आइसोलेशन में हैं।

91.1 प्रतिशत रिकवरी रेट

प्रदेश में कोरोना की रिकवरी रेट 91.1 प्रतिशत है, पॉजिटिविटी रेट 5.5 प्रतिशत है तथा मृत्यु दर 1.6 प्रतिशत है। कोरोना के एक्टिव प्रकरणों की संख्या 14 हजार 677 है तथा प्रदेश में प्रति 10 लाख व्यक्ति कोरोना टैस्ट की संख्या 42 हजार 889 है।

इंदौर में सर्वाधिक नए प्रकरण

जिलावार समीक्षा में पाया गया कि कोरोना के सर्वाधिक नए प्रकरण इंदौर में 556 आए हैं, उसके बाद भोपाल में 313, ग्वालियर में 95, जबलपुर में 85, रतलाम में 51 तथा विदिशा में 33 नए प्रकरण आए हैं। इन जिलों पर विशेष ध्यान दिए जाने के निर्देश मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा दिए गए।

विशेषज्ञ डॉक्टर्स की टीम लेकर सागर जाएं

सागर में मृत्यु दर अधिक होने पर मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि वहां के प्रभारी अधिकारी विशेष चिकित्सकों की टीम लेकर कल ही सागर जाएं। वहां मृत्यु दर हर हालत में कम होनी चाहिए।

बुरहानपुर में कोई नया प्रकरण नहीं, केस स्टडी करें

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि बुरहानपुर जिले में घनी आबादी होने के बावजूद कोरोना संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण पाया गया है। शुरूआत में जहां बुरहानपुर में बड़ी संख्या में कोरोना के प्रकरण आ रहे थे, वहीं आज जिले में कोई भी नया प्रकरण नहीं आया है तथा कोरोना लगभग समाप्ति की स्थिति में है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि बुरहानपुर जिले की केस स्टडी करें तथा अन्य जिलों में भी ऐसी व्यवस्था लागू की जाए।

जिला शिक्षा कार्यालय और संगीत महाविधालय में चोरी करने वाले पुलिस की गिरफ्त में

जिला शिक्षा कार्यालय और संगीत महाविधालय में चोरी करने वाले पुलिस की गिरफ्त में 

सागर। सागर के जिला शिक्षा कार्यालय और संगीत महाविधालय में कम्प्यूटर, टीवी कैमरा आदि चुराने वाले शातिर अपराधियों को पुलिस ने पकड़ लिया है । इनसे चोरी का माल ब्यहि बरामद किया है। 
गोपाल गंज थाना क्षेत्र में  21 नवंबर की रात्रि में जिला शिक्षा कार्यालय एवं  23 तारीख की रात्रि में संगीत महाविघालय बस स्टैण्ड सागर मे
हुई थी।  चोरी जिसमें अज्ञात चोर कार्यालय मे लगे कम्प्यूटर प्रिन्टर एवं कैमरों की डीव्हीआर सहित एलईडी टीव्ही चोरी कर ले गये थे।  उक्त दोनों चोरियों का खुलासा करने पुलिस अधीक्षक महोदय सागर के निर्देश पर नगर पुलिस अधीक्षक शहर के नेत्रत्व मे पुलिस टीम दवारा पतासाजी करने पर एवं मुखबिर की सूचना के आधार पर शातिर अपराधी रूपेश कोरी निवासी विश्व भारती स्कूल के पास थाना मोतीनगर हाल केसली सागर पर संदेह हुआ जो कुछ दिन पहले ही जेल से चोरी के प्रकरण मे छूटा है।  संदेही की पहचान होने पर तलाश हेतु टीम को लगाया गया टीम मुखबिर की सूचना प्राप्त हुई कि संदेही रूपेश कोरी पीली कोठी के पास मैदान मे बैठकर शराब पी रहा है जिसे टीम दवारा घेराबंदी कर पकडा गया व उससे पूछताछ की गई जिसने अपने साथ जय सोनी निवासी विवेकानंद वार्ड, बड़ा बाजार सागर के साथ् उक्त दोनों चोरी करना स्वीकार किया एवं आटो चालक कन्हैया कुमार उर्फ कृष्णकुमार कोरी निवासी चकराघाट सागर की आटो से उक्त चोरी का सामान अपने भाई के किराये के मकान मे रिमझिरिया मे ले जाकर रखना बताया जो प्रकरण मे चोरी
गया सामान कम्प्यूटर दो प्रिंटर दो सीपीयू दो डीवीआर एक एलईडी टीवी एक सीपीयू एक माउस एवं कीबोर्ड जप्त किये गये एवं घटना में प्रयुक्त आटो क्रं एम पी 15 आर 3083 आरोपी कन्हैया उर्फ क्रष्णकांत कोरी से जप्त किया गया दोनो अरोपियों को गिरफतार किया गया एक साथी जय सोनी की तलाश जारी है।  उक्त आरोपी पूर्व मे चोरी के प्रकरण मे पकडे
जा चुके हैं एवं शातिर चोर हैं । उक्त कार्यवाही में नगर पुलिस अधीक्षक सागर की टीम एवं थाना प्रभारी गोपालगंज की टीम की सराहनीय
भूमिका हेतु पुलिस अधीक्षक दवारा पुरूष्क़त किया जायेगा ।

---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

मुनगा की कौसों की कड़ी का न्यौता दिया मुख्यमंत्री को, सागर के स्वसहायता समूह की महिलाओं ने

मुनगा की कौसों की कड़ी का न्यौता दिया मुख्यमंत्री को, सागर के स्वसहायता समूह की महिलाओं ने 



सागर । स्वयं सहायता समूहों के 150 करोड़ रूप्ये के वर्चुअल ऋण वितरण कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री षिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश के 5 जिलों से की महिलाओं से सीधे बात-चीत की थी। इस बातचीत में सागर जिले की ग्राम आमेट की लक्ष्मी स्वयं सहायता समूह एवं प्रार्थना स्वयं सहायता समूह की महिलायें भी मुख्यमंत्री से सीधे बातचीत के लिए चयनित थीं।
मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम के दौरान अपने भाषण में महिलाओं की आर्थिक गतिविधियों के संचालन की प्रशंसा करते हुए अपनी बातचीत में कहा कि प्रदेश की हमारी बहिनें आत्म विश्वास के साथ गरीबी के विरूद्ध अपनी जंग लड़ रहीं हैं और आजीविका मिशन के माध्यम से उन्होंने अपनी आमदनी को बढ़ाने के रास्ते खोजें हैं। चर्चा के इसी तारतम्य में महिलाओं को उन्होंने अपने प्रवास के दौरान अपनी गतिविधियों को भी दिखाने को कहा इस पर ग्राम आमेट की श्रीमती द्रोपदी देवी ने मुख्यमंत्री को सागर आने का न्यौता दिया, जिस पर मुख्यमंत्री ने पूछा की क्या बहिनें अपने मुख्यमंत्री भाई को भोजन भी करायेंगी। द्रोपदी ने कहा कि - भैया तुम तो आमेट आओ हम तुम्हें मुनगो की कौसों की कड़ी बनाके खोआ हैं। अपने प्रस्तुतिकरण में भी द्रोपदी ने बताया कि उसने किस प्रकार बीड़ी मजदूरी को छोड़कर लक्ष्मी स्वयं सहायता समूह और संगम ग्राम संगठन की मदद से 7 से अधिक वार लोन लिया और आज वे प्रतिदिन 35 से 40 लीटर दूध बेचकर न केवल अपने परिवार को आर्थिक स्वावलंबी बनाया ब्लकि अपने गांव की दूसरी महिलाओं को भी दुग्ध पालन के लिए प्रेरित कर उनके आर्थिक बदलाव के लिए रॉल मॉडल बनीं। इसी वर्चुअल चर्चा में आजीविका मिशन की सहायता से आरसेटी में प्रशिक्षण प्राप्त युवती सीता ने ब्यूटी पार्लर के काम को व्यवसायिक स्वरूप दिया। मामा ब्यूटी पार्लर के नाम से संचालित अपने कारोबार को मुख्यमंत्री से चर्चा में सीता ने बताया कि चूकी- मामाजी तुमने हमें आजीविका मिशन से मदद करवाई, प्रशिक्षण लेवे को मौका दओ और व्हीएसडब्ल्यू कोर्स करवे में भी मदद मिली ऐइसे हमने अपने ब्यूटी पार्लर को नाम मामा ब्यूटी पार्लर रखो है। मुख्यमंत्री ने सीता के प्रयासों की जमकर प्रशंसा की और ब्यूटी पार्लर के नाम को उनके नाम पर रखे जाने पर मुख्यमंत्री के साथ बैठे पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री महेन्द्र सिंह सिसोदिया, शिक्षा मंत्री श्री इंदर सिंह परमार एसीएस श्री मनोज श्रीवास्तव, सीईओ एमपी एसआरएलएम श्री एलएम बेलवाल ने मुख्यमंत्री के साथ जमकर ठहाके लगाये। गांव की श्रीमती अशोकरानी, संझली बहू, रजनी, लक्ष्मी कुर्मी, रामरानी, सब्बो ने मिलकर मुख्यमंत्री को कार्तिक मास के अवसर पर एक बुन्देली दादरा भी सुनाने का आग्रह किया जिस पर मुख्यमंत्री ने उनका पूरा गीत गंभीरता से सुना और खुशी व्यक्त की।
महिलाओं से चर्चा करने में मुख्यमंत्री महोदय ने कहा-
ग्राम आमेट की महिलायें सागर जिले के लिए उदाहरण बन गई हैं। द्रोपदी जैसी महिलाओं ने जो मजदूरी करतीं थीं समूह की ताकत को जानकर और बैंक में अपनी साख बनाकर अपनी प्रगति का रास्ता खोला है। मुख्यमंत्री महोदय ने महिलाओं से बुन्देलखण्डी में दागरा गीत भी सुना। द्रोप्ती के ठेठ बुन्देली संवादों को सुनकर मुख्यमंत्री महोदय भी बुन्देलखण्डी में संवाद करने लगे थे। इस वर्चूअल चर्चा के दौरान ग्राम आमेट में महिला समूहों के बीच डॉ इच्छित गढ़पाले मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत भी उपस्थित रहे। उन्होंने महिलाओं से समूहों के माध्यम से संचालित गतिविधियों के बारे में चर्चा की साथ ही पंचायत स्तर पर चल रहे मनरेगा के अंतर्गत विभिन्न कार्यों गुणवत्ता के बारे में उपस्थित महिलाओं से जानकारी ली। डॉ. गढ़पाले ने महिलाओं को बताया कि वे अब किसी बड़े संयंत्र की स्थापना का नियोजन तैयार करें इसके लिए वे स्वयं राज्य शासन स्तर पर हर संभव मदद के लिए प्रयास करेंगे। संवाद के दौरान डॉ. गढ़पाले ने महिलाओं से अपनी बात को यथार्थ रूप में बताने का भी आग्रह किया और वर्तमान कोरोना संकट से बचाव के उपायों के बारे में उन्हांने उपस्थित जनसमुदाय को जानकारी दी। कार्यक्रम में हरीश दुबे, जिला परियोजना प्रबंधक, अनूप तिवारी जिला प्रबंधक, ब्रजेन्द्र नामदेव जिला प्रबंधक, डॉ. वीरेन्द्र कोरी ग्राम नोडल भी उपस्थित थे। 


---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

नौरादेही अभ्यारण : प्रभावित लोगों का शत-प्रतिशत होगा विस्थापन : कलेक्टर


नौरादेही अभ्यारण : प्रभावित लोगों का शत-प्रतिशत होगा विस्थापन : कलेक्टर 
 
सागर.। सागर जिले की देवरी और रहली विकासखंड के अंतर्गत आने वाले नौरादेही अभ्यारण के तहत प्रभावित परिवारों का शत-प्रतिशत विस्थापन किया जाएगा। उक्त निर्देश कलेक्टर श्री दीपक सिंह ने शुक्रवार को नौरादेही अभ्यारण के तहत आयोजित शिविर में ग्राम घमरा पठार में दिए। इस अवसर पर डीएफओ श्रीमती राखी नंदा, एसडीएम श्री आर.के. पटेल, श्री अरुण जोशी, जिला शिक्षा अधिकारी श्री अजब सिंह ठाकुर, डीपीसी श्री राजकुमार असाटी, तहसीलदार श्री यशवंत सिंह कार्यपालन अधिकारी श्री सीताराम मिश्रा सहित अधिकारी एवं प्रभावित परिवार मौजूद थे।
इस दौरान कलेक्टर श्री दीपक सिंह ने कहा कि प्रभावित परिवारों का शत-प्रतिशत विस्थापन किया जाएगा। जिसके तहत आज शिविर  में खंड स्तरीय शिविर के पश्चात यह शिविर आयोजित किया गया है। विस्थापन के बारे में घमरा पठार के 7 प्रकरण, जोगीपुरा के क्षेत्र 6 प्रकरणों की समीक्षा की गई और सुनवाई कर निराकरण किया गया। जोगीपुरा में प्रकरणों को अंतिम अवसर देते हुए सुनवाई की गई थी। जिसमें परिसंपत्तियों का मूल्यांकन प्रतिवेदन खंड स्तरीय समिति द्वारा प्रस्तुत हितग्राहियों की भूमि पर खड़े वृक्षों का मूल्यांकन एवं वन मंडल अधिकारी द्वारा पूर्ण किया गया। 


---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------


सागर : भाजपा की हरिसिंह गौर मंडल की कार्यकारिणी घोषित


सागर : भाजपा की हरिसिंह गौर मंडल की कार्यकारिणी घोषित


सागर। भारतीय जनता पार्टी सागर के हरिसिंह गौर मंडल के अध्यक्ष श्री मनीष चौबे ने भारतीय जनता पार्टी के संभागीय संगठन मंत्री  केशव सिंह भदोरिया, मध्य प्रदेश शासन के पीडब्ल्यूडी मंत्री  गोपाल भार्गव, मध्य प्रदेश शासन के नगरीय प्रशासन मंत्री  भूपेंद्र सिंह एवं सागर नगर के विधायक  शैलेंद्र जैन और पार्टी के जिला अध्यक्ष  गौरव सिरोठिया की सहमति से भारतीय जनता पार्टी के हरिसिंह गौर मंडल की कार्यकारिणी घोषित की जो निम्नानुसार है ।

---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------
 

गुरुवार, 26 नवंबर 2020

डॉ गौर जयंती पर अनेक कार्यक्रम आयोजित

डॉ गौर जयंती पर अनेक कार्यक्रम आयोजित



सागर। सविधानसभा के सदस्य और सागर विवि के  संस्थापक कुलपति डॉ हरिसिंह गौर के 151 वे जन्मदिवस पर अनेक कार्यकर्मो का आयोजन हुआ। लोगो पूरी श्रद्धा से डॉ गौर को याद किया और उनके आदर्शों पर चलने का संकल्प लिया। 


तीनबत्ती स्थित गौर प्रतिमा पर पहुचे डॉ गौर को नमन करने




सागर शहर के लोगो को डॉ गौर से लगाव तीनबत्ती स्थित डॉ गौर प्रतिमा पर देखने हमेशा मिलता है। कोरोना काल मे लोग श्रद्धा सुमन अर्पित करने पहुँचे। लोगो ने मास्क भी लगाए। तीनबत्ती में विवि की कुलपति प्रो जनक दुलारी आही, समाजवादी चिंतक रघु ठाकुर, पूर्व मंत्री गोविंद राजपूत, विधायक शेलेन्द्र जैन , पूर्व सांसद आनंद अहिरवार,  प्रो सुरेश आचार्य, पूर्व विधायक सुनील जैन, चतुर्भुज सिंह राजपूत, सुशील तिवारी, सुखदेव मिश्रा, रजिस्ट्रार सन्तोष सहगोरा,  के के सराफ, प्रो आर के त्रिवेदी,  प्रो चंदा बेन, डॉ अशोक अहिरवार, अंकलेश्वर दुबे, लखन राठौर, विनोद आर्य,राहुल सिलाकारी,  मुकेश जैन ढाना, कमलेश बघेल, शैलेंद्र ठाकुर, नरेंद्र सिलाकारी,  डॉ राकेश शर्मा, यशबन्त जैन, कपिल बेशाखिया, हरिनारायण यादव, शेवता यादव, दिवाकर राजपूत, डॉ अलीम खान, डॉ अनिल पुरोहित, डॉ दीपक गुप्ता, डॉ दीपक  गुप्ता, डॉ पंकज तिवारी, सुरेंद्र गाडेवार, संदीप चंचल, दीपक मोदी, राजू टण्डन, डॉ आशीष वर्मा, सुरेश जाट, डॉ विवेक तिवारी, प्रदीप गुप्ता राजिक अली, कृष्णकांत नगाईच,सुधीर द्विवेदी, शैलेश अग्रवाल, बहादुर यादव, संदीप बाल्मीकि, मुन्ना यादव सहित अनेक लोगो ने श्रद्धा सुमन अर्पित किए।




विहिप ने बांटे मास्क


कोरोना काल का ध्यान रखने के लिए तीनबत्ती पर विहिप के जिला अध्यक्ष अजय दुबे साई वाटिका के मार्गदर्शन में डॉ गौर की जयंती में शामिल होने वालों के लिये मास्क वितरित किये जा रहे थे। एक पंडाल लगाकर लोगो के हाथ सेनेटाईज कराते हुए मास्क वितरित किये जा रहे थे।



स्मार्ट सिटी लिमिटेड ने  आयोजित की रंगोली प्रतियोगिता निकाली साईकिल रैली 




सागर स्मार्ट सिटी लिमिटेड के मुख्य कार्यपालन अधिकारी  राहुल सिंह राजपूत के निर्देशानुसार डॉ गौर जयंती पर हुए आयोजन। भारतीय संविधान सभा के उपसभापति,शिक्षामित्र समाज सुधारक डॉ हरीसिंह गौर की जन्म जयंती 26 नवंबर के उपलक्ष्य में साईकिल4चेंज चैलेंज एवं स्ट्रीट फार प्यूपिल के अंतर्गत  साईकिल रैली का आयोजन किया साथ ही स्मार्ट सिटी द्वारा पुनर्विकसित डॉ हरीसिंह गौर पार्क (डिग्री कॉलेज के पास) में रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन भी किया गया। जिसमें कलाकारों द्वारा शहर में स्वछता सन्देश की रंगोली बनाने के साथ ही शहर के हाल ही में दिवंगत हुए कोरोना योद्धा डॉ शुभम उपध्याय को श्रधांजलि अर्पित करती रंगोली भी बनाई और उनकी आत्मा की शांति की प्रार्थना की। डॉ गौर की याद में पौधा रोपण भी किया गया। 



छात्रों ने मनाई गौर जयंती




सागर. विवि के संस्थापक डॉ हरीसिंह गौर की 151 वी जयंती पर विवि में अध्ययनरत छात्रों द्वारा तीन बत्ती स्थित गौर मूर्ति पर पहुंचकर उन्हें श्रृद्धा सुमन अर्पित किए गए. इस दौरान प्रमुख रूप से आदर्श ठाकुर, अभिषेक यादव, अंकित ठाकुर, युवराज दीक्षित, उज्जवल तिवारी, अजय कुर्मी सहित बड़ी संख्या में छात्र मौजूद रहे।


                                                                               

कांग्रेस कार्यालय में मनाई गई जयंती


                                                      

सागर। महान षिक्षाविद दानवीर डाॅ. सर हरिसिंह गौर जी की जन्म जयंती एवं भारत के सविधान दिवस पर डाॅ. भीमराव अम्बेडकर को श्रद्वांजली सभा जिला कांग्रेस कार्यालय मे आयोजित की गई।

  इस अवसर पर जिला कांग्रेस अध्यक्ष श्रीमति रेखा चैधरी ने संबोधित करते हुए कहा कि डाॅ. सर गौर के के योगदान को भूलाया नही जा सकता सागर की पहचान डाॅ. गौर हैं। उन्होने षिक्षा षास्त्री विधिक्ता और प्रकृति के कवि के रूप में ख्याति अर्जित की। श्रीमति रेखा चैधरी ने कहा कि भारत के संविधान निर्माण में डाॅ. अम्बेडकर के साथ डाॅ. गौर संविधान दिवस के अवसर पर उन्होेंने कहा कि ''आज संविधान के साथ लोकतंत्र भी खतरे में है, जिसकी रक्षा के लिये युवाओं को आगे आना होगा। 



जिला कांग्रेस प्रवक्ता आषीष ज्योतिषी ने कहा कि डाॅ. गौर विष्वस्तरीय व्यक्तित्व थे उन्होने दिल्ली विष्वविद्यालय और नागपुर विष्वविद्यालय के कुलपति रहने के बाद सागर विष्वविद्यालय की स्थापना कर बुदेलखण्ड के प्रति अपना ऋण चुकाया।कार्यवाहक अध्यक्ष गोवर्धन रैकवार ने कहा कि डाॅ गौर ने गरीबों के जिले षिक्षा का मंदिर बनाया था। इस अवसर पर प्रदीप पप्पू गुप्ता, फिरदोष कुरैषी, तारिक खान, विनोद कोरी, आदिल राईन, षरद पुरोहित, अलीम तज्जू, सुनील वावा, भैयन पटेल, बिल्ली रजक, हनीफ भाई, षुभम उपाध्याय, अजय अहिरवार, षाजिद राईन, आदि उपस्थित थे।संचालन स्थाई मंत्री दीनदयाल तिवारी ने किया।






---------------------------- 



www.teenbattinews.com




तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885



-----------------------------

 

 




डॉ. गौर जयंती व संविधान दिवस पर समाज के प्रतिष्ठित जनों का सम्मान समारोह


डॉ. गौर जयंती व संविधान दिवस पर समाज के प्रतिष्ठित जनों का सम्मान समारोह
 


सागर ।  सागर विश्वविद्यालय के संस्थापक डॉ. हरिसिंह गौर की जयंती व संविधान दिवस के अवसर पर मकरोनिया स्थित डॉ .हरिसिंह गौर नगर  में  सागर विश्वविद्यालय से विभिन्न विधाओं से निकले समाज के प्रतिष्ठित जनों का सम्मान समारोह का आयोजन मध्य प्रदेश शासन के पूर्व मंत्री श्री सुरेंद्र चौधरी के मुख्य आतिथ्य में किया गया।कार्यक्रम की शुरुआत डॉ.सर हरिसिंह गौर व  संविधान निर्माता बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर के चित्रों पर माल्यार्पण कर की गई।डॉ.गौर जयंती व संविधान दिवस के अवसर पर युवा नेता निर्वाण सिंह द्वारा आयोजित किये गए समाज के प्रतिष्ठित जनों के सम्मान समारोह  के मुख्य अतिथि पूर्व मंत्री श्री सुरेंद्र चौधरी ने डॉ. राजेंद्र यादव, मथुरा प्रसाद, शीतल प्रसाद, मनोज जैन, रत्नदीप जैन, बद्री प्रसाद भारद्वाज, पी.सी. शर्मा, डॉक्टर लखन पटेल, डॉक्टर ताम्रकार, सुरेश अहिरवार, नत्थू मासाब, मंगल प्रसाद आदि का फूल माला व  स्मृति भेंट कर सम्मान किया गया।कार्यक्रम का संचालन देवेंद्र कुर्मी ने किया व अन्त में आभार निर्माण सिंह ने माना।कार्यक्रम में मुख्य रूप से एडवोकेट राजेश दुबे, आरआर पाराशर, अशरफ खान, मनोज यादव,राजू डिस्क, एम,आई, खान, मनी सिंह गुरोन, अक्षय दुबे ,प्रितेश तिवारी, संजय रोहिदास, मुल्ले चौधरी , राजेश ठेकेदार,अबरार सौदागर,मोनू राजपूत, राजा बुंदेला, सन्दीप चौधरी, गोपाल तिवारी, धीरज खरे, रघुवीर वर्मा, महेश मयंक कटारे, शंकर दाऊ,गुड्डू रैकवार, प्रीतम दाऊ, राजेंद्र साहनी , दुर्गेश अहिरवार, ,राजू साहनी, केशव चौधरी  आदि मौजूद थे।



---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------
 

डॉ गौर का दर्शन मौजूदा दौर में अधिक प्रासंगिक: प्रो डी पी सिंह, अध्यक्ष विवि अनुदान आयोग


डॉ गौर का दर्शन मौजूदा दौर में अधिक प्रासंगिक: प्रो डी पी सिंह, अध्यक्ष  विवि अनुदान आयोग 

 

★ डॉ हरीसिंह गौर हम सबके लिये आदर्श . प्रो बलवंत शांतिलाल जानी

★ डॉ हरीसिंह गौर हम सबके प्रेरणा स्रोत . प्रो जनक दुलारी आही


सागर। सागर  विश्वव्यिालय के संस्थापक प्रख्यात विधि वेत्ता संविधान सभा के सदस्य दानवीर शिक्षा विद एवं समाज सुधारक डॉ हरीसिंह गौर के १५१ वा जन्म दिवस समारोह बड़े हर्ष उल्लास के साथ मनाया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ प्रात ८ बजे से कटरा बाजार में स्थित गौर प्रतिमा पर  कुलपति प्रो जनकदुलारी आही द्वारा माल्यार्पण कर किया गया। जिला प्रशासन द्वारा प्राप्त अनुमति एवम कोविड १९ के सुरक्षा मानको का अनुपालन करते हुये शोभायात्रा गौर मूर्ति कटरा बाजार से गौर वाचनालय और गौर जन्म स्थली गौर स्मारक होते हुये विश्वविद्यालय परिसर तक सीमित संख्या में अधिकतम निकाली गई। 

समारोह के द्वितीय चरण मे विश्वविद्यालय परिसर स्थित डॉ गौर की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया और डॉ गौर समाधि पर पुष्पांजलि समर्पित की। इस अवसर पर कुलपति  के साथ ही जिलाधीश सागर  दीपक सिह  ने विश्वविद्यालय परिसर स्थित डॉ गौर की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया और डॉ गौर समाधि पर पुष्पांजलि समर्पित की। जिलाधीश  ने कहा कि उन्होने सागर शहर मे सभी के दिलो मे गौर साहेब के प्रति एक अटूट श्रद्धा देखी ।




सरस्वती वंदना एवं गौर गीत की संगीत विभाग द्वारा प्रस्तुत किया गया। सर गौर वृतचित्र का प्रसारण किय गयाण्  स्वागत उद्बोधन कुलपति प्रो जनकदुलारी आही द्वारा दिया। उन्होंने अपने उद्बोधन में विगत वर्ष में विश्वविद्यालय को प्राप्त उपलब्धियों के बारे में बताया ।


मुख्य अतिथि विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के अध्यक्ष  प्रो डी पी सिंह ने अपने विचार रखे। प्रो डी पी सिंह ने कहा कि सागर विष्वविद्यालय की स्मृतियाँ आज भी हमारे सांसों में विद्यमान है। डाॅ. गौर का पूरा जीवन और कर्म हमारी श्रद्धा का आधार है। कोई भी विष्वविद्यालय षिक्षकों की प्रतिभा, शोध और लगाव के लिए जाना जाता है। इस अर्थ में सागर विष्वविद्यालय निष्चित रूप से उन्नयन की तरफ बढ़ रहा है। आज के दिन हमें यह विचार करना होगा कि हम डाॅ. गौर के सपनरें को किस तरह संपूर्णता में पूरा कर सकते हैं। मैं अपने शीक्षक साथियों का आह्वान करता हूँ कि वे डाॅ. गौर के महान व्यक्तित्व की प्रेरणा ले कर अपने विद्यार्थियों के भीतर वैज्ञानिकता, तार्किकता और सात्विकता का संचार करें। आज के समय में डाॅ. गौर के विचारों की प्रासंगिकता और अधिक बढ़ गयी है। डाॅ. गौर का शैक्षिक दर्षन, समाज-सुधार के विचार आदि इस बदलती हुई दुनिया के लिए अत्यंत प्रासंगिक हैं। प्रो डी पी सिंह ने कहा कि  मुझे ऐसा मेहसूस हो रहा ह मानो मै आज सागर मे हू और गौर मूर्ति व गौर समाधि पर उनको प्रणाम करते हुये माल्यार्पण कर रहा हू।



विशिष्ट अतिथि कुलाधिपति प्रो बलवंतराय शांतिलाल जानी  ने अपने उद्बोधन में कहा कि डाॅ. गौर केवल सागर या बुन्देलखंड के ही नहीं पूरे भारत के प्रज्ञावान सपूत रहे हैं। डाॅ. गौर अपने समय में लोकल के लिए वोकल थे, जिसका विरल उदाहरण है, हमारा यह विष्वविद्यालय। वे सामाजिक स्तर पर, राजनैतिक स्तर पर और ज्ञान-विमर्ष के स्तर पर भी नये प्रतिमान स्थापित करने वाले व्यक्तित्व थे। उनकी लिखी हुई पुस्तकें विधि शास्त्र, साहित्य व दर्षन के क्षेत्र में दुनिया भर में आदर का केन्द्र रही हैं। उनके ज्ञान-दान के महत्व को स्वीकार करते हुए मैं कह सकता हूँ कि डाॅ. सर गौर भारतीय ऋषि परम्परा के आधुनिक स्वरूप थे।


कार्यक्रम में डेलीगेसी अध्यक्ष प्रो सुरेश आचार्य ने कहा कि डाॅ. सर गौर इस धरा-धाम के लिए अद्वितीय प्रेरणास्रोत हैं। वे एक ऐसे व्यक्तित्व थे जिन्होंने अपने हौसले से बुन्देलखण्ड के ज्ञान और बोध के स्तर को बदल दिया था। उनका जीवन और कार्य आज भी हमारा मार्ग प्रषस्त कर रहे हैं। उन्होंने अपने सामाजिक कर्म से बल्कि लेखन से भी साहित्य की पूर्व से विद्यमान अवधारणाओं को परिवर्तित कर नये मानदंड स्थापित किया। आज उनके विचारों से नयी पीढ़ी को जोड़ने के लिए आवष्यक है कि उनकी लिखी पुस्तकों को भारतीय भाषाओं में अनुवाद कराया जाय। 






कुलपति प्रो जनकदुलारी आही ने कहा डाॅ. हरीसिंह गौर अपने समय के प्रखरतम मेधा थे। आपने जीवन-भर षिखरों की यात्राएँ की, विचारों के खुले आकाश में आप विचरते रहे, किन्तु अपनी मातृभूमि सागर के उत्थान का स्वप्न आपके दिलो-दिमाग में हमेषा जगमगाता रहा। इन्हीं भावनाओं को मूर्त रूप देते हुए आपने इस विष्वविद्यालय की स्थापना की। हमें गर्व है कि हम डाॅ. गौर जैसे एक कर्मठ एवं दूरदर्शी संस्थापक के सपनों हिस्सेदार हैं। अपने संस्थापक से प्रेरणा लेकर हम अपने विद्यार्थियों को रचनात्मक, नवाचारधर्मी एवं ऊर्जावान्  बनाने हेतु संकल्पित हैं। डाॅ गौर अपने समय के अद्वितीय प्रतिभा सम्पन्न व्यक्तित्व थे। उनकी पहुँच लगभग सभी ज्ञान-अनुशासनों में थी, उनका स्वप्न शिक्षा से वंचित मनुष्यता को ज्ञान के उजाले से रोषन करना था। डाॅ. गौर द्वारा स्थापित यह ज्ञान-पुंज निरन्तर प्रगति कर रहा है।

कुलपति प्रो जनकदुलारी आही ने जिला प्रशासन जन प्रतिनिधि वर्ग शहरवासी पुराछात्र मीडिया प्रतिनिधी वर्ग एवम विश्वविद्यालय परिवार के प्रति धन्यवाद दिया

कार्यक्रम में ऑनलाइन मोड के माध्यम से पुस्तकों का विमोचन मेधावी छात्र छात्राओ का सम्मान एवम पुरस्कारों की घोषणा की गई।

कार्यक्रम के समापन अवसर पर प्रभारी कुलसचिव श्री संतोष सोहगौरा द्वारा सभी धन्यवाद ज्ञापित किया गया।  श्री सह्गोरा ने कहा कि गौर साहब की रचनाये कालजयी है।







तीनबत्ती न्यूज़. कॉम

के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे



ट्वीटर  फॉलो करें

@weYljxbV9kkvq5ZB



वेबसाईट





 

---------------------------- 



www.teenbattinews.com




तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885



-----------------------------


अक्टूबर 2021 के अंत तक सागर शहर को मिलेगा 24 घण्टे पानी: कलेक्टर ★ सीवरेज प्रोजेक्ट का कार्य मार्च 2021 तक पूर्ण करें

अक्टूबर 2021 के अंत तक सागर शहर को मिलेगा 24 घण्टे पानी:  कलेक्टर 

★ सीवरेज प्रोजेक्ट का कार्य मार्च 2021 तक पूर्ण करें

सागर ।अक्टूबर 2021 के अंत तक शहर को 24 घण्टे 365 दिन पानी मिलना प्रांरभ हो उक्त निर्देष कलेक्टर श्री दीपक सिंह ने अमृत मिषन योजना के तहत सागर शहर एवं मकरोनिया में डाली जा रही पाइप लाइन की समीक्षा बैठक में संबंधित अधिकारियों को दिये । इस अवसर पर नगर निगम के इंजीनियर श्री संजय तिवारी, टाटा कंसलटेंसी के श्री अनुपम सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।
कलेक्टर श्री सिंह ने टाटा कंसलटेंसी के अधिकारियों को निर्देष दिये कि सागर के लिये स्वीकृत अमृत योजना के तहत 24 घण्टे 365 दिन पानी की उपलब्धता की समीक्षा बैठक में निर्देष दिये कि उक्त परियोजना का कार्य 31 अक्टूबर 2021 पूर्ण कर शहर को पानी की मात्रा भरपूर उपलब्ध कराये। टाटा कंसलटेंसी के इंजीनियरिंग श्री अनुपम ने बताया कि इस परियोजना के तहत सागर शहर में 335 किलोमीटर की पाइप लाइन डाली जाना प्रस्तावित हैं। किन्तु 85 किलोमीटर पाइप लाइन डाली जा चुकी है। इसी प्रकार मकरोनिया में 165 किलोमीटर पाइप लाइन डाली जाना है। जिसमें से 128 किलोमीटर पाइप लाइन डाली जा चुकी है। उन्होंने बताया कि शेष कार्य शीघ्र ही पूर्ण कर लिया जायेगा। उन्होंने बताया कि इस परियोजना के तहत तीन टंकिया बनाई जाना हैं जिनमें से शनिचरी में बनने वाली टंकी कार्य प्रारंभ हो गया हैं शेष दो टंकिया का कार्य अगले हप्ते प्रांरभ होगा।
कलेक्टर श्री दीपक सिंह ने निर्देष दिये कि उक्त सभी कार्यों की समय-सीमा अनुसार शीघ्रता से कार्य करें। साथ ही निर्देष दिये कि पाइप लाइन बिछाने के पष्चात् रोड़ो की मरम्मत गुणवत्तापूर्ण की जाये। उन्होंने कहा कि शासन द्वारा निर्धारित समय-सीमा 31 अक्टूबर 2021 तक पूर्ण कर शहर को 24 घण्टे 3365 दिन पानी उपलब्ध करायें।           

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे



ट्वीटर  फॉलो करें

@weYljxbV9kkvq5ZB



वेबसाईट


सीवरेज प्रोजेक्ट का कार्य मार्च 2021 तक गुणवत्तयुक्त पूर्ण करें
                                              
सीवरेज  प्रोजेक्ट का कार्य मार्च 2021 तक गुणवत्तयुक्त पूर्ण करें। उक्त निर्देष कलेक्टर श्री दीपक सिंह ने गुरूवार को आयोजित प्रोजेक्ट की समीक्षा बैठक में दिये। इस अवसर नगर निगम इंजीनियर श्री संजय तिवारी, प्रोजेक्ट के रीजनल इंजीनियर श्री श्याम, श्री हितेष, श्री सोयफ सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे। कलेक्टर श्री दीपक सिंह ने निर्देष दिये कि सीवरेज प्रोजेक्ट के तहत शहर में डाली जाने वाली 221 किलोमीटर पाइप लाइन का कार्य सयम सीमा में पूर्ण करें और पाइप लाइन बिछाने के पष्चात् रोड की मरम्मत गुणवत्तापूर्ण करें। प्रोजेक्ट के रीजनल इंजीनियर श्री श्याम ने बताया इस योजना के तहत शहर में 221 किलोमीटर पाइप लाइन डाली जाना है जिसके तहत अभी तक 152 किलोमीटर पाइप लाइन डाली जा चुकी है। शेष का कार्य निरन्तर जारी है। उन्होंने बताया कि योजना के तहत पथरिया हाट में बन रहे ट्रीटमेंट प्लान्ट का कार्य 80 प्रतिषत किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि योजना के तहत 4 पंपिग स्टेषन का कार्य किया जाना है। पगारा रोड के पंपिग स्टेषन का कार्य जारी। शेष का कार्य शीघ्र ही प्रांरभ किया जायेगा। 

---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

सुरखी नगर परिषद का वार्ड आरक्षण संपन्न

सुरखी नगर  परिषद का वार्ड आरक्षण संपन्न

सागर । सुरखी नगर परिषद के 15 वार्डों का वार्ड आरक्षण कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री दीपक सिंह की अध्यक्षता में संपन्न हुआ इस अवसर पर नगर परिषद की परियोजना अधिकारी श्रीमती ज्योति सिंह एसडीएम श्री आदित्य रिछारिया सुरखी नगर परिषद के जनप्रतिनिधि मौजूद थे
कलेक्टर श्री दीपक सिंह ने बताया कि सुरखी परिषद का आरक्षण जनगणना 2011 के अनुसार जनसंख्या 17642 के अनुसार किया गया है जिसमें 15 वार्ड बनाए गए हैं
अनुसूचित जाति वर्ग के लिए 2 वार्ड काआरक्षण किया गया अनुसूचित जनजाति वर्ग के लिए भी 2 वार्डो  का निर्धारण किया गया अन्य  पिछड़ा वर्ग के लिए 4 वार्डों का आरक्षण किया गया सामान्य वर्ग के लिए 7 वार्ड निर्धारित किए गए। अनुसूचित जाति की महिला वर्ग के लिए वार्ड  क्रमांक 5  निर्धारित किया गया । जबकि वार्ड क्रमांक एक अनुसूचित जाति के लिए सुरक्षित रखा गया।

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम

के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे



ट्वीटर  फॉलो करें

@weYljxbV9kkvq5ZB



वेबसाईट


अनुसूचित जाति जनजाति के लिए महिला वर्ग के लिए वार्ड क्रमांक 10 आरक्षित किया गया जबकि वार्ड क्रमांक 9 अनुसूचित जनजाति के लिए सुरक्षित रखा गया।पिछड़ा वर्ग की महिलाओं के लिए वार्ड क्रमांक 4 एवं वार्ड क्रमांक 2 सुरक्षित रखा गया पिछड़ा वर्ग के लिए वार्ड क्रमांक 15 एवं वार्ड क्रमांक 14 आरक्षित किए गए।
सामान्य वर्ग के लिए आरक्षित 7 वार्डों में महिला वर्ग के लिए वार्ड क्रमांक 8 वार्ड क्रमांक 11 एवं वार्ड क्रमांक 12 एवं वार्ड क्रमांक 13 को आरक्षित किए गए सामान्य वर्ग के लिए वार्ड क्रमांक 3  ,6  ,7  आरक्षित किया गया। 


---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

पति, पत्नी और बेटी की गोली मारकर हत्या

पति, पत्नी और बेटी की  गोली मारकर हत्या

★ पुलिस आरोपी की तलाश में जुटी, पुलिस की रात्रिकालीन गस्त की खुली पोल, त्योहारों में चौकसी को धता बताकर शहर के बीचोंबीच तीन हत्याएं

रतलाम। शहर के औद्योगिक थाना क्षेत्र अंतर्गत राजीव नगर में एक ही परिवार के तीन  लोगों के शव मिलने से सनसनी फैल गई।पुलिस के अनुसार पति-पत्नी और बेटी की गोली मारकर हत्या की गई है। पुलिस आरोपियों की तलाश में जुट गई है। पुलिस की रात्रिकालीन गस्त की खुली पोल, त्योहारों में चौकसी को धता बताकर शहर के बीचोंबीच तीन हत्याएं जानकारी के अनुसार अलकापुरी क्षेत्र के पास स्थित राजीव नगर में रहने वाले गोविंद, उनकी पत्नी शारदा और 21 वर्षीय बेटी दिव्या का शव गुरुवार सुबह उनके घर से बरामद किया गया। पुलिस के अनुसार किरायेदारों ने घटना की सूचना पुलिस को दी । जिसके बाद एसपी एएसपी टीआई  सहित पुलिस के आला अधिकारी और एफएसएल टीम मौके पर पहुंची। परिवार मकान की पहली मंजिल पर रहता था।एसपी गौरव तिवारी ने बताया कि तीनों की गोली मारकर हत्या की गई है। पुलिस ने शव को पीएम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया है।


तीनबत्ती न्यूज़. कॉम

के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे



ट्वीटर  फॉलो करें

@weYljxbV9kkvq5ZB



वेबसाईट


पुलिस कर रही हर एंगल से जांच

इस तिहरे हत्याकांड से क्षेत्र में सनसनी फैल गई।पुलिस टीम ने घटनास्थल और उसके आसपास के क्षेत्र का बारीकी से निरीक्षण किया। एसपी तिवारी ने बताया कि पुलिस इस मामले की हर एंगल से जांच कर रही है। मृतक सैलून चलाने का काम करता था, वही उनकी बेटी पढाई करती थी और पत्नी हाउसवाइफ थी ।आसपास के सीसीटीवी कैमरे की भी जांच की जा रही है।पुलिस के अनुसार जिस तरह से वारदात को अंजाम दिया गया है उससे ऐसी आशंका है कि किसी जान पहचान के व्यक्ति ने ही यह घटना की है।पुलिस इस मामले में आसपास के लोगों से भी पूछताछ कर रही है।पुलिस की प्रारंभिक जांच में घर से स्कूटी की चाबी भी गायब होना सामने आई है।वहीं घर में किसी तरह की लूटपाट यह सामान गायब होने की जानकारी सामने नहीं आई है।पुलिस पूरे मामले का खुलासा करने के लिए जुट गई है।

---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

गौर जयंती: बड़ा बाजार छात्रसंघ ने निकाली वाहन रैली , पूर्व मंत्री गोविंद राजपूत ने दिखाई हरी झंडी

गौर जयंती: बड़ा बाजार छात्रसंघ ने निकाली 

वाहन रैली , पूर्व मंत्री गोविंद राजपूत ने दिखाई हरी झंडी





सागर। दानवीर डॉ हरिसिंह गौर की जन्मजयंती पर बड़ा बाजार छात्रसघ ने एक वाहन रैली निकाली । पूर्व मंत्री गोविंद राजपूत, विधायक शेलेन्द्र जैन और पूर्व विधायक सुनील जैन ने हरी झंडी दिखाई और शामिल हुए। इसके आयोजक  छात्रसंघ के संयोजक नरेंद्र चौबे रहे। सभी ने इस आयोजन की सराहना की । रैली तीनबत्ती होती हुई विवि परिसर पहुची। 


आयोजनों में कोविड गाईड लाईनों का पालन किया गया। इस दौरान लोग डॉ गौर अमर रहे के नारे लगाते हुए चल रहे थें। तीनबती पर सभी ने श्रद्धासुमन अर्पित किए। 



पूर्व मंत्री गोविंद राजपूत ने वाहन रैली को हरी झंडी दिखाते हुए कहा कि बड़ा बाजार छात्रसंघ  जनहित में सराहनीय काम करता आया है। डॉ गौर ने इस विवि की आधारशिला दान से रखी थी। हम सदा उनके ऋणी रहेंगे। आज सागर सहित पूरे प्रदेश और देश मे उनको याद किया जा रहा है। 





विधायक शेलेन्द्र जैन ने कहा कि  डॉ गौर हमारे  आदर्श है। उनकी भावनाओं के अनुरूप विवि आगे बढ़े । ऐसे हमारे प्रयास होना चाहिए। आज छात्रसंघ अपनी परम्परा को बनाये रखे है। बड़ा बाजार छात्रसंघ के संयोजक डॉ नरेंद्र चौबे ने कहा कि पिछले 30 वर्षों से बड़ा बाजार छात्रसंघ छात्रों और जनता के हितों के लिए सक्रिय भूमिका निभा रहा है। कोविड गाईड लाईनों का पालन करते हुए कार्यक्रम किया गया है।  पूर्व विधायक सुनील जैन और भाजपा नेता कमोवेश बघेल और बब्बू यादव ने इस रैली की सराहना करते हुए  बड़ा छात्रसंघ के सदस्यों को शुभकामनाएं दी। सभी ने रैली में शामिल होकर सदस्यों का उत्साह बढ़ाया। 




तीनबत्ती न्यूज़. कॉम के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे https://www.facebook.com/तीनबत्ती-न्यूज़-कॉम-107825044004760/ ट्वीटर  फॉलो करें @weYljxbV9kkvq5ZB https://twitter.com/weYljxbV9kkvq5Z?s=08 वेबसाईट www.teenbattinews.com



छात्रसंघ के अध्यक्ष अर्पित मिश्रा ने रैली में शामिल सभी अतिथियों और सअदस्यो का आभार जताते हुए कहा कि बड़ा  छात्रसंघ का गौरव शाली इतिहास रहा है। छात्रहितों में हमारी सक्रियता  हमेशा  रहेगी। वाहन रैली बड़ाबाजार छात्रसंघ के सरंक्षक लालू घोषी और भाजपा मंडल अध्यक्ष रीतेश मिश्रा के मार्गदर्शन में निकली। 



वाहन रैली में  जय कुमार सोनी, संजय मोंटी यादव, सोनू दुबे, अर्पित मिश्रा अध्यक्ष ,अंशुल सोनी प्रिंस सोनी  ,सपन ताम्रकार अमन ताम्रकार आमिर पठान आदर्श गोरैया , विकास केशरवानी ,  भानु राजपूत ,  अंशुल मिश्रा गोलू मारोलिया लखन साहू  रामेश्वर सोनी  राहुल नामदेव संतोष सोनी अजय सोनी रोहित जैन कार्तिक पाठक , सोनू  यादव,  अनिकेत यादव, मोनू जैन, काजी, सहित अनेक लोग शामिल हुए। 




----------------------------  www.teenbattinews.com तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885 -----------------------------


बुधवार, 25 नवंबर 2020

सागर के कार्तिकेय को इंडियन फिल्म फेस्टिवल ऑफ सिनेसिटी कैलिफोर्निया द्वारा नवाजा गया बेस्ट चाइल्ड एक्टर अवार्ड से


सागर के कार्तिकेय को इंडियन फिल्म फेस्टिवल ऑफ सिनेसिटी कैलिफोर्निया द्वारा नवाजा गया बेस्ट चाइल्ड एक्टर अवार्ड से


सागर ।  सपनों के साथ जूनून मिल जाने से उन्हें सच होने से कोई नहीं रोक सकता। शहर के सूबेदार वार्ड निवासी बॉलीवुड के चर्चित बाल कलाकार कार्तिकेय नायक इसी बात को साकार कर रहे हैं। कार्तिकेय बताते हैं कि जिस उम्र में छोटे बच्चे माँ से लोरी सुनना पसंद करते हैं, वे उस उम्र में भी फिल्मी गानों में ज्यादा रुचि रखते थे। बचपन से ही उन्होंने ठान लिया था कि वे एक्टिंग करेंगे और इंडस्ट्री में अपना करियर बनाएंगे।
करीब आठ वर्ष की उम्र से सफर की शुरुआत करते हुए आज कार्तिकेय ने न केवल अपना, अपने परिवार का बल्कि शहर का भी नाम रोशन किया है। कार्तिकेय को इंडियन फिल्म फेस्टिवल ऑफ सिनेसिटी कैलिफोर्निया द्वारा बेस्ट चाइल्ड एक्टर का अवार्ड दिया गया है। कार्तिकेय के पिता ने बताया कि ऐसा नहीं है कि कार्तिकेय सब कुछ आसानी से मिल गया हो, कार्तिकेय की सफलता के पीछे कई सालों का संघर्ष और मेहनत है। कार्तिकेय ने बताया कि दिसम्बर शुरुआत में वाय सिने स्टार प्रोडक्शन हाउस द्वारा निर्मित तथा सुरजीत शर्मा के निर्देशन में बनी फिल्म शाही पनीर में उन्होंने मुख्य नायिका की भूमिका निभाई है।

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे

https://www.facebook.com/तीनबत्ती-न्यूज़-कॉम-107825044004760/

ट्वीटर  फॉलो करें
@weYljxbV9kkvq5ZB
https://twitter.com/weYljxbV9kkvq5Z?s=08

वेबसाईट
www.teenbattinews.com



इसके पहले भी वे कई उम्दा विषयों पर आधारित फिल्म जैसे धीर, बाल सुधार गृह, पेपर रॉकेट, शाही पनीर, एक आशा जैसी कई फिल्मों में महत्वपूर्ण भूमिका निभा चुके हैं। इसके अलावा वे आगे आने वाले समय में कई वैब सीरीज में भी दिखेंगे साथ ही कार्टून चौनल में भी वे डबिंग तथा वॉइस ओवर का कार्य करते हैं।कार्तिकेय का सपना एक्टिंग करना और एक्टिंग में ही अपने करियर को आगे बढ़ाना है। शहर की इस बाल प्रतिभा को शुरुआती दौर में ही इतने बड़े अवार्ड के लिए चयनित किया जाना वाक़ई गर्व की बात है। यह कार्तिकेय की लगन और मेहनत का ही परिणाम है कि बिना किसी सपोर्ट और गॉडफादर के उन्होंने इंडस्ट्री में अपनी पहचान बनायी है। 

---------------------------- 


www.teenbattinews.com



तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------


 

सागर के कार्तिकेय को इंडियन फिल्म फेस्टिवल ऑफ सिनेसिटी कैलिफोर्निया द्वारा नवाजा गया बेस्ट चाइल्ड एक्टर अवार्ड से

सागर के कार्तिकेय को इंडियन फिल्म फेस्टिवल ऑफ सिनेसिटी कैलिफोर्निया द्वारा नवाजा गया बेस्ट चाइल्ड एक्टर अवार्ड से

सागर ।  सपनों के साथ जूनून मिल जाने से उन्हें सच होने से कोई नहीं रोक सकता। शहर के सूबेदार वार्ड निवासी बॉलीवुड के चर्चित बाल कलाकार कार्तिकेय नायक इसी बात को साकार कर रहे हैं। कार्तिकेय बताते हैं कि जिस उम्र में छोटे बच्चे माँ से लोरी सुनना पसंद करते हैं, वे उस उम्र में भी फिल्मी गानों में ज्यादा रुचि रखते थे। बचपन से ही उन्होंने ठान लिया था कि वे एक्टिंग करेंगे और इंडस्ट्री में अपना करियर बनाएंगे।
करीब आठ वर्ष की उम्र से सफर की शुरुआत करते हुए आज कार्तिकेय ने न केवल अपना, अपने परिवार का बल्कि शहर का भी नाम रोशन किया है। कार्तिकेय को इंडियन फिल्म फेस्टिवल ऑफ सिनेसिटी कैलिफोर्निया द्वारा बेस्ट चाइल्ड एक्टर का अवार्ड दिया गया है। कार्तिकेय के पिता ने बताया कि ऐसा नहीं है कि कार्तिकेय सब कुछ आसानी से मिल गया हो, कार्तिकेय की सफलता के पीछे कई सालों का संघर्ष और मेहनत है। कार्तिकेय ने बताया कि दिसम्बर शुरुआत में वाय सिने स्टार प्रोडक्शन हाउस द्वारा निर्मित तथा सुरजीत शर्मा के निर्देशन में बनी फिल्म शाही पनीर में उन्होंने मुख्य नायिका की भूमिका निभाई है।

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें
@weYljxbV9kkvq5ZB

वेबसाईट


इसके पहले भी वे कई उम्दा विषयों पर आधारित फिल्म जैसे धीर, बाल सुधार गृह, पेपर रॉकेट, शाही पनीर, एक आशा जैसी कई फिल्मों में महत्वपूर्ण भूमिका निभा चुके हैं। इसके अलावा वे आगे आने वाले समय में कई वैब सीरीज में भी दिखेंगे साथ ही कार्टून चौनल में भी वे डबिंग तथा वॉइस ओवर का कार्य करते हैं।कार्तिकेय का सपना एक्टिंग करना और एक्टिंग में ही अपने करियर को आगे बढ़ाना है। शहर की इस बाल प्रतिभा को शुरुआती दौर में ही इतने बड़े अवार्ड के लिए चयनित किया जाना वाक़ई गर्व की बात है। यह कार्तिकेय की लगन और मेहनत का ही परिणाम है कि बिना किसी सपोर्ट और गॉडफादर के उन्होंने इंडस्ट्री में अपनी पहचान बनायी है। 

---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

Archive