शनिवार, 26 फ़रवरी 2022

बुन्देलखण्ड अंचल में खनिज संपदासे रोजगार के बेहतर विकल्पों को तलाशा जाएगा : खनिज विकास निगम उपाध्यक्ष राजेन्द्र सिंह मोकलपुर

बुन्देलखण्ड अंचल में खनिज संपदा
से रोजगार के बेहतर विकल्पों को तलाशा जाएगा  : खनिज विकास निगम उपाध्यक्ष राजेन्द्र सिंह मोकलपुर

सागर 26 फरवरी. सागर सहित बुंदेलखंड अंचल में प्रचुर खनिज उपलब्ध हैं, इनके माध्यम से लोगों को रोजगार मिले और खनिज संपदा का बेहतर उपयोग हो सके यह प्रयास करूंगा। इसके लिए एक रोडमेप तैयार किया जाएगा। 
यह बात खनिज विकास निगम के उपाध्यक्ष राजेंद्र सिंह मोकलपुर ने पत्रकारों से चर्चा में कही. उन्होने कहा कि अभी उन्होने कार्यग्रहण किया है, विभाग की अन्य गतिविधि व कार्यों के संबंद्ध में जल्द अधिकारियों के साथ बैठक लेकर जिले व अंचल के लिए क्या कार्य किए जा सकते हैं, इसको देखेगें. सरकार द्वारा यह जिम्मेदारी सौपें जाने पर उन्होने सीएम सहित जिले के तीनों केबिनेट मंत्रियों का आभार माना. उन्होने कहा कि वह पार्टी गाइडलाइन के अनुसार ही सबका साथ सबका विकास मूल मंत्र के साथ काम करूंगा. मंडी अध्यक्ष के रूप में वर्षों किसानों और आमजन के बीच लगातार किए गए कार्य आगे भी जारी रहेगें. उन्होने कहा कि संस्था को लाभकारी बनाकर लोगों को इसका लाभ मिले यह उनका प्रयास रहेगा.


*
*

उन्होंने कहा कि  बुंदेलखंड में खनिज संपदा का भंडार है यंहा के लाल पत्थर  की  विदेशो में  मांग है तो काला पत्थर को सोना कहा जाता है पन्ना में हीरा खदाने है  लौह अयस्क की भी अपार संभावनाएं यँहा पर । इतनी खनिज संपदा होने से  बुंदेलखंड के विकास को नयी दिशा मिल सकती है ।


 इसके लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ,प्रदेश अध्यक्ष शर्मा जी ,नगरीय प्रशासन मंत्री भूपेंद्र सिंह , परिवहन मंत्री गोविंद राजपूत  एवं अन्य पदाधिकारियों के साथ मिलकर एक रोडमैप तैयार करने का प्रयास होगा ।    
उन्होंने बताया कि जल्दी ही भोपाल में विभागीय कार्ययोजना तैयार करने की शुरुआत होगी ,।उन्होंने कहा कि पार्टी का एक कार्यकर्ता होने के नाते मुख्यमंत्री ने जो दायित्व सौपा है उस पर पूरी मेहनत से कार्य करने का प्रयास करेंगे ।

Mahashivratri 2022 :जय महाकाल हिन्दू संगठन निकालेगा शाही बारात★ उज्जैन से आ रहे सैंकड़ो डमरू वादक , होंगे आकर्षण का केंद्र

Mahashivratri 2022 :

जय महाकाल हिन्दू संगठन निकालेगा शाही बारात
★ उज्जैन से आ रहे सैंकड़ो डमरू वादक , होंगे आकर्षण का केंद्र


सागर। महाशिवरात्रि पर जंय महाकाल हिन्दू संगठन विशाल शाही बारात निकालेगा। 
संगठन के अध्यक्ष सपन ताम्रकार एवं अन्य सदस्यों द्वारा बताया गया कि बाबा भोलेनाथ की "शाही बारात" 1 मार्च 2022 दिन मंगलवार को चम्पाबाग मंदिर लक्ष्मीपुरा से शुरू होकर शहर के मुख्य मार्ग सराफा बाजार, तीनबत्ती, कटरा से होती हुई राधा तिगड्डा से वापस चम्पाबाग मन्दिर पर संपन्न होगी। संगठन के सदस्यों ने बताया कि भोलेनाथ की शाही बारात में इस वर्ष आकर्षण का मुख्य केंद्र, बाबा महाकाल की नगरी उज्जैन से आ रहे डमरू वादक होंगे।

*
*

*

संगठन के सदस्यों ने नगर के सभी श्रद्धालुओं से कोरोना गाइडलाइन का पालन करने की अपील की, साथ ही यह भी बताया कि संगठन द्वारा विशेष रूप से बाबा भोलेनाथ की शाही बारात में सभी श्रद्धालुओं के लिए फेसमास्क की व्यवस्था की गई है। साथ ही संगठन के अध्यक्ष सपन ताम्रकार ने बताया कि इस वर्ष विशेष रूप से शाही बारात में सम्मलित होने मातृ शक्ति की व्यवस्था की गई है, जिसमें मीडिया के माध्यम से आग्रह किया गया है कि ज़्यादा से ज़्यादा संख्या में महिलाएं माताएं बहने शामिल हों। जय महाकाल हिन्दू संगठन ने मीडिया के माध्यम से शहर के सभी नगरवासीयों को आमंत्रित किया तथा अपने साथ एक केसरिया झंडा लाने की अपील भी की है। इस मौके पर गाने का ट्रेलर लॉन्च किया । 


साथ ही संगठन द्वारा अपील की गई कि 1 मार्च को ही शिवरात्रि है, और 1 मार्च 2022 को ही शहर में स्वच्छता सर्वेक्षण की शुरुवात होनी है, अतः शहर में शाही बारात के बाद स्वच्छता का विशेष ध्यान दिया जाए।

टीकमगढ : हत्‍या के आरोपीगण को आजीवन कारावास

टीकमगढ : हत्‍या के आरोपीगण को आजीवन कारावास
टीकमगढ़। मीडिया सेल प्रभारी एन०पी० पटेल ने बताया कि फरियादी दलपत उर्फ रामकुमार ने दिनांक 08/09/2016 को इस आशय की प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज करायी कि उक्‍त दिनांक को सुबह करीब 02:30 बजे की बात है वह अपने घर पर था उसी समय शंकरलाल अहिरवार, ब्रजलाल अहिरवार व ब्रजनंदन अहिरवार आये और बोले कि हमारी जमीन में क्‍यों जाते हो तो उसने कहा कि हमारी जमीन है, हम जमीन पर जाएंगे। हमारे घर के सामने यह तीनों लोग परदिया बना रहे थे तो उसने कहा कि हमारे घर के सामने परिदिया न बनाओ तो शंकरलाल अहिरवार सब्‍बल, ब्रजलाल गेंती और ब्रजनंदन फावड़ा लिये हुए था तथा शंकरलाल मॉ-बहिन की बुरी-बुरी गालियां देने लगे। गालियां देने से मना किया तो शंकरलाल ने उसके दाहिने हाथ व पैर व पीठ में सब्‍बल मारी जिससे वह वहीं गिर गया, ब्रजलाल व ब्रजनंदन ने उसे कुईया में पटक दिया वह चिल्‍लाया तो उसकी पत्‍नी व पिता बचाने आए। ब्रजलाल ने फरियादिया के पिता किशोरी को सिर में गेंती मार दी जिससे सिर से खून निकल आया एवं ब्रजनंदन ने फरियादी की पत्‍नी को सब्‍बल मारी व कुईया में पटक दिया। फरियादी की उक्‍त रिपोर्ट से थाना पलेरा में अपराध क्र० 232/2016 अंतर्गत धारा 323,294,506,307,34 भादवि के तहत पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया जाकर  घटनास्‍थल का नक्‍शामौका बनाया गया। आहत किशोरीलाल को इलाज हेतु जिला चिकित्‍सालय टीकमगढ़ भेजा गया था जहां उसे झांसी रेफर किया गया तथा झांसी से ग्‍वालियर रेफर किया गया। दिनांक 11.11.2016 को थाना पलेरा में सूचना प्राप्‍त हुयी कि दिनांक 02.10.2016 को आहत किशोरीलाल की ईलाज के दौरान मृत्‍यु हो गई है। मृतक किशोरीलाल के शव का परीक्षण कराया गया तथा जांच उपरांत प्रकरण में आरोपीगण के विरूद्ध धारा 302 भादवि का इजाफा कराया गया था। प्रकरण में जब्‍तशुदा गेंती, फावड़ा, सब्‍बल आदि को रासायनिक परीक्षण हेतु ग्‍वालियर भेजा गया था। प्रकरण में संपूर्ण अनुसंधान उपरांत अभियोग पत्र माननीय न्‍यायालय के समक्ष प्रस्‍तुत किया गया। माननीय न्‍यायालय अपर सत्र न्‍यायाधीश श्री एम.डी. रजक, जतारा द्वारा सत्र प्रकरण में संपूर्ण विचारण पश्‍चात् पारित अपने निर्णयानुसार हत्‍या के प्रत्‍येक आरोपी शंकरलाल अहिरवार, ब्रजनंदन अहिरवार व ब्रजलाल अहिरवार को धारा 302 भादवि में आजीवन कारावास एवं 10000/- (दस हजार) रूपये के अर्थदण्‍ड, धारा 323 सहपठित धारा 34 (2 काउंट) भादवि में तीन-तीन माह का सश्रम कारावास एवं 1000-1000/-(एक-एक हजार) रूपये के अर्थदण्‍ड से दण्‍डित किया गया है। उक्‍त प्रकरण में शासन की ओर से पैरवी श्री पी०सी० जैन, अपर लोक अभियोजक द्वारा की गई।

राष्ट्रीय सेवा योजना विद्यार्थियों के व्यक्तित्व विकास में सहायक : डॉ० घनश्याम भारती

राष्ट्रीय सेवा योजना विद्यार्थियों के व्यक्तित्व विकास में सहायक : डॉ० घनश्याम भारती

सागर । बी०टी० इंस्टिट्यूट ऑफ़ एक्सीलेंस महाविद्यालय मकरोनिया सागर की राष्ट्रीय सेवा योजना द्वारा "बाल संरक्षण में संस्था व समाज की भूमिका" विषय पर केंद्रित स्वयंसेवकों हेतु एक दिवसीय उन्मुखीकरण कार्यक्रम तथा प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन राष्ट्रीय सेवा योजना के जिला संगठक डॉ० घनश्याम भारती के मुख्य आतिथ्य में तथा प्राचार्य डॉ० राजू टण्डन की अध्यक्षता में किया गया। कार्यशाला के विशिष्ट अतिथि डॉ० हरीसिंह गौर केंद्रीय विश्वविद्यालय सागर के प्रोफेसर सुबोध जैन थे। जिला संगठक डॉ० घनश्याम भारती ने अपने उद्बोधन में कहा कि राष्ट्रीय सेवा योजना द्वारा विद्यार्थियों के व्यक्तित्व का विकास होता है अतः राष्ट्रीय सेवा योजना की गतिविधियों में आगे बढ़कर छात्रों को हिस्सा लेना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि समाज में बाल अपराध बढ़ते जा रहे हैं अतः बालकों के संरक्षण हेतु संस्था व समाज की महत्वपूर्ण भूमिका होनी चाहिए। 
प्राचार्य डॉ० राजू टण्डन ने राष्ट्रीय सेवा योजना द्वारा विगत वर्षों में किए गए उल्लेखनीय कार्यों की चर्चा की। तथा बाल संरक्षण में समाज की भूमिका को अनिवार्य बताया। प्रोफेसर सुबोध जैन ने राष्ट्रीय सेवा योजना  को विद्यार्थियों के कॅरियर निर्माण तथा स्वास्थ्य रक्षा हेतु उपयोगी बताते हुए कहा कि राष्ट्रीय सेवा योजना के माध्यम से विद्यार्थियों को  स्वास्थ्य लाभ के साथ कॅरियर निर्माण तथा समाज सेवा के क्षेत्र में आगे बढ़ने हेतु सहायता मिलती है। 



डॉ गौर केंद्रीय विश्वविद्यालय सागर के शिक्षा शास्त्र के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ० बुद्ध सिंह ने भी अपने विचार व्यक्त किये।कार्यक्रम का संचालन किरण तिवारी ने किया। आभार कार्यक्रम अधिकारी भूपेंद्र पाण्डेय ने व्यक्त किया। इस प्रशिक्षण कार्यशाला में छात्रा इकाई की कार्यक्रम अधिकारी अंजली दुबे का उल्लेखनीय योगदान रहा। इस कार्यक्रम में  महाविद्यालय के शिक्षक डॉ०सुरेश कोरी, डॉ०संतोष चौबे, डॉ० महेश कटहल, साविर आजाद, आकाश लिटोरिया, दीप्ति पटेल, ज्योति सिंह, अलका असाटी, पायल पटेरिया, सुमन चौरसिया, रिचा ठाकुर तथा बड़ी संख्या में एनएसएस के छात्र-छात्राऍं उपस्थित थे।

MP: फर्जी ऋण पुस्तिका बनाकर कोर्ट से जमानत करवाने वाले 04 आरोपी गिरफ्तार ★ करीबन 1000 नकली खाली ऋण पुस्तिका जब्त, 20 जिलो के तहसीलदारों की कार्यालीन रबर की सील बनवा रखी थी


MP: फर्जी ऋण पुस्तिका बनाकर कोर्ट से जमानत करवाने वाले 04 आरोपी गिरफ्तार 
★ करीबन 1000 नकली खाली ऋण पुस्तिका जब्त,  20 जिलो के तहसीलदारों की कार्यालीन रबर की सील बनवा रखी थी
              
इंदौर । क्राईम ब्रांच इंदौर ने फर्जी ऋण पुस्तिका बनाकर कोर्ट से जमानत करवाने वाले 04 आरोपीयो को  गिरफ्तार किया है। इनके पास से करीबन 1000 नकली खाली ऋण पुस्तिका, करीबन 80 जमानतदारो के नाम लिखी हुई ऋण पुस्तिका, राजस्व अधिकारियों के नाम व पद की अलग अलग 20 जिलो की कार्यालीन रबर की सील जब्त
की है 

पुलिस आयुक्त इंदौर नगर श्री हरिनारायणचारी मिश्र द्वारा इंदौर कमिश्नरेट में लोगों के साथ छलकपट कर धोखाधडी संबंधी अपराधों की पतारसी हेतु इंदौर पुलिस को निर्देशित किया गया है । उक्त निर्देशों के तारतम्य में अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) श्री राजेश हिंगणकर के द्वारा पुलिस उपायुक्त (अपराध शाखा) श्री निमिष अग्रवाल एवं अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त ( अपराध शाखा) श्री गुरू प्रसाद पाराशर को इंदौर शहर में हो रहे घटनाओं की पतारसी कर वारदातों पर अंकुश लगाने एवं ऐसे आरोपियों की धरपकड़ करने हेतु निर्देशित किया गया था। उक्त निर्देशों के तारतम्य में इन अपराधों में संलिप्त आरोपियों पर कार्यवाही हेतु अपराध शाखा की टीम को निर्देशित किया गया हैं ।


इसी कड़ी में कार्यवाही के दौरान क्राईम ब्रांच की टीम को मुखबिर से सूचना मिली थी कि सिक्ख मोहल्ला इंदौर पर फर्जी जमानत देने के लिए 04 व्यक्ति घुम रहे हैं । जिस पर क्राईम ब्रांच की टीम नें मुखबिर की सूचना परकार्यवाही कर घेराबंदी कर मुताबिक योजना के आरोपियों 1. करण पिता दीपक चावडा उम्र 19 साल  नि. म.न.श्र-61 अहीर खेडी मल्टी हवा बंगला द्वारकापुरी 2. प्रकाश पिता बलवंत मालवीय उम्र 60 साल नि. ग्राम मुण्डली तह. तराना जिला उज्जैन 3. रमेश पिता स्व. गंगाराम बोडना उम्र 50 साल नि. संत रविदास नगर आवास नगर बी.एन.पी. थाने के पीछ जिला देवास 4. कैलाश पिता बद्रीप्रसाद प्रजापत उम्र 48 साल नि. 125 भगत सिंह नगर सांवेर रोड इंदौर को पकडा ।
आरोपियों की तलाशी लेते उनके कब्जे से करीबन 1000 खाली ऋण पुस्तिका, जमानतदारों के नाम लिखी करीबन 80 ऋण पुस्तिका एवं विभिन्न जिलो के तहसीलदारों की कार्यालीन रबर की मोहरे करीबन 80 नग तथा अन्य सामान जप्त कर अग्रिम वैधनिक कार्यवाही की जा रही है।




आरोपियों से पूछताछ करते गिरोह के सरगना आरोपी करण नें बताया कि वह प्रकाश चावडा का भतीजा हैं तथा अपने चाचा के साथ मिलकर वह नकली जमानतदार न्यायालय में पेश करता था । करण का चाचा प्रकाश थाना एम.जी. रोड इंदौर से फर्जी जमानतदार के अपराध में पूर्व मे भी पकडा गया था। 
इन जिलों के राजस्व अधिकारियों की मिलो सील 
आरोपियों द्वारा तहसील कार्यालय की भी कई प्रकार की रबर एवं स्टील की सील जैसे की तहसील धार जिला धार ,तहसील महिदपुर जिला धार, तहसील टोंक खुर्द, जिला देवास ,तहसील देपालपुर जिला इंदौर, तहसील घटिया जिला उज्जैन ,तहसील बोलाई जिला शाजापुर, तहसील अम्बेडकर नगर जिला इन्दौर, तहसील तराना जि.उज्जैन, तहसील गुलाना जिला शाजापुर, तहसील हातोद जिला इन्दौर,तहसील रतलाम जि.रतलाम,तहसील देवास जि.देवास,तहसील इन्दौर जि.इन्दौर, तहसील कन्नौद जि.देवास, तहसील सोनकच्छ जि.देवास, तहसील, नागदा जि. उज्जैन,तहसील उज्जैन जि.उज्जैन, तहसील महिदपुर जिला उज्जैन ,तहसील सांवेर जि.इन्दौर,तहसील महू जि.इन्दौर, कार्यालय तहसीलदार महु, इन्दौर जिला इन्दौर, की रबर की सीलें बनवा रखी है।

SAGAR : परीक्षा के बाद उत्तर पुस्तिका निकली कम, एक सहायक शिक्षिका निलंबित

SAGAR : परीक्षा के बाद उत्तर पुस्तिका निकली कम, एक सहायक शिक्षिका निलंबित
सागर। हायर सेकेंडरी की राजनीति शास्त्र विषय की परीक्षा के बर्फ एक उत्तरपुस्तिका कम पाए जाने पर जिला शिक्षा अधिकारी ने सहायक शिक्षिका को लापरवाह मानते हुए निलंबित कर दिया।
जारी आदेश के अनुसार  मंडल परीक्षा वर्ष 2022 के तहत दिनांक 25.2.2022 को केन्द्र कमांक 241002 पं.र.श.शुक्ल शास. कं.उ.मा.वि0 सागर में दिनांक 25.2.2022 को हायर सेकेन्डरी परीक्षा विषय राजनीति शास्त्र की परीक्षा के उपरांत कक्षकमांक-10 एक उत्तरपुस्तिका कम पाए जाने के संबंध में केन्द्राध्यक्ष के पत्र कमांक/परीक्षा/03 दिनांक 25.2.2022 द्वारा सूचना प्राप्त हुई।

★ 


 उक्त कक्ष में पर्यवेक्षक की डयूटी श्रीमति चंद्रवती चौरसिया सहा.शिक्षिका शास. कं.प्राथ. शाला बड़ा बाजार सागर के द्वारा लापरवाही एवं उदासीनता बरती जाना पाया गया। उनका यह कृत्य परीक्षा अधिनियम 1937 एवं म.प्र.सिविल सेवा आचरण नियम 1965 के भाग 3 के उपनियम 1,2,3 के विपरीत होकर गंभीर कदाचरण की श्रेणी में आता है। अतः श्रीमति चन्द्रवती चौरसिया सहा.शिक्षक शास.कं.प्राथ.शाला बड़ा बाजार सागर को तत्काल निलंबित किया जाता है। निलंबन अवधि में संबंधित का मुख्यालय शास.हाई स्कूल गोपाल गंज सागर नियत किया जाता है तथा निलंबन अबधि में संबंधित को नियमानुसार जीवन निर्वाह भत्ते की पात्रता होगी

शुक्रवार, 25 फ़रवरी 2022

‘लिटिल सिंघम’ : ये हैं मध्यप्रदेश पुलिस के सबसे कम उम्र के आरक्षक गजेंद्र मरकाम, ★महज पांच वर्ष की उम्र में गजेंद्र ने कटनी एसपी कार्यालय में नौकरी ज्वाइन करने पहुचे

‘लिटिल सिंघम’ : ये हैं मध्यप्रदेश पुलिस के सबसे कम उम्र के आरक्षक गजेंद्र मरकाम

महज पांच वर्ष की उम्र में गजेंद्र ने कटनी एसपी कार्यालय में नौकरी ज्वाइन करने पहुचे

कटनी। कटनी में एक बालक को पुलिस की नौकरी मिली है। इस नौकरी में बकायदा उसे वेतन दिया जाएगा। इसे यह नौकरी मां के प्रयासों से पिता की मौत के बाद मिली है। खेलने की उम्र में अब ये मासूम पुलिस विभाग में बाल आरक्षक कहलाएगा। दरअसल 2017 में पुलिस में नौकरी के दौरान पिता की हार्ट-अटैक से मौत हो गई थी । इसके बाद 5 साल के बच्चे को अनुकंपा नियुक्ति मिली है। खास बात यह रही कि नियुक्ति पत्र देते समय जब एसपी ने बाल आरक्षक से पूछा की पुलिस की नौकरी करोगे तो बालक ने हां कहा और दोनों हाथ जोड़कर नमस्ते किया। इस दौरान मां की आंखों में आंसू भी छलक आए। मां सविता मरकाम ने कहा कि अपने बेटे को पुलिस में बेहतर सेवा देने के लिए तैयार करूंगी। कटनी पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार जैन ने अनुकंपा नियुक्ति पत्र देकर पुलिस लाइन में पदस्थापना की है। यह मप्र पुलिस का सबसे नन्हा बाल आरक्षक बन गया है।



हार्ट अटैक से हुई थी पिता की मौत

बाल आरक्षक की मां सविता मरकाम ने बताया कि उनके पति प्रधान आरक्षक चालक श्याम सिंह मरकाम निवासी कुहिया छपारा तहसील लखनादौन जिला सिवनी की 23 फरवरी 2017 को हार्ट-अटैक से मौत हो गई थी। पति की मौत के बाद पत्नी सविता मरकाम ने अपने 5 वर्षीय बेटे गजेंद्र मरकाम को पुलिस की नौकरी दिलाने की ठानी। नरसिंहपुर में पद खाली न होने पर कटनी में पदस्थाना के निर्देश प्राप्त हुए। इस पर पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार जैन ने आवश्यक कार्रवाई कराते हुए मां की उपस्थिति में पांच वर्ष के बालक को बाल आरक्षक के पद पर अनुकंपा नियुक्ति का पत्र सौंपा।

*

 सागर जिले का छात्र वेदांश सुरक्षित है यूक्रेन में ,कलेक्टर ने वीडियो कॉल से की वेदांश से बात★ राज्य शासन से बात कर वेदांश के देश लौटने की कर रहे व्यवस्था बस से पहुंचेंगे पोलैंड

*

रोमानिया के रास्ते भारत लौटेगा रहली काअक्षय पटेल यूक्रेन में सुरक्षित


एसपी सुनील जैन ने बताया कि बाल आरक्षक गजेंद्र की पदस्थापना पुलिस लाइन में की गई है। बाल आरक्षक कोई काम नहीं करेगा वह मां के साथ रहकर पढ़ाई करेगा। जब यह 18 वर्ष का हो जाएगा और शैक्षणिक योग्यता के साथ शारीरिक दक्षता प्राप्त कर लेगा। उसके बाद चरित्र प्रमाणपत्र के आधार पर आरक्षक के पद पर पदस्थापना होगी। बाल आरक्षक को शर्तों के आधीन 7वें वेतनमान 19 हजार 500 रुपये का आधा शासन द्वारा स्वीकृत मंहगाई भत्ता मिलेगा।

रोमानिया के रास्ते भारत लौटेगा रहली काअक्षय पटेल यूक्रेन में सुरक्षित

रोमानिया के रास्ते भारत लौटेगा रहली काअक्षय पटेल यूक्रेन में सुरक्षित

सागर, 25 फरवरी 2022 । सागर जिले के रहली का अक्षय पटेल पिता श्री दयाराम पटेल एम.बी.बी.एस. की पढ़ाई के लिए यूक्रेन के  ओडिशा  शहर में हैं । अक्षय से बात करने पर अक्षय ने बताया कि हम लोग अभी ओडिशा (यूक्रेन) में सुरक्षित हैं। अक्षय ने बताया कि हम सभी लोग यूक्रेन से रोमानिया जा रहे हैं, जो कि 400 किलोमीटर दूर है। वहां से भारत आने की व्यवस्था मिलेगी। 

*
उन्होंने बताया कि यूक्रेन में काउंसलर के माध्यम से रोमानिया जाने की व्यवस्था की जा रही है। अक्षय के पिता श्री दयाराम पटेल से बात करने पर उन्होंने बताया कि हम लोग अक्षय के प्रति निरंतर चिंतित हैं। अक्षय से लगातार बात हो रही है । अक्षय पूर्ण रूप से सुरक्षित है और ईष्वर से लोग कामना कर रहे हैं कि वह सुरक्षित वापस घर लौटे।


सागर जिले का छात्र वेदांश सुरक्षित है यूक्रेन में ,कलेक्टर ने वीडियो कॉल से की वेदांश से बात★ राज्य शासन से बात कर वेदांश के देश लौटने की कर रहे व्यवस्था बस से पहुंचेंगे पोलैंड

सागर जिले का छात्र वेदांश सुरक्षित है यूक्रेन में ,कलेक्टर  ने वीडियो कॉल से की वेदांश से बात
★ राज्य शासन से बात कर वेदांश के देश लौटने की कर रहे व्यवस्था बस से पहुंचेंगे पोलैंड

सागर, 25 फरवरी 2022 ।युद्ध के हालातों से जूझ रहे यूक्रेन में अनेक भारतीय छात्र भी फंसे हुए हैं। इनमें एक छात्र सागर जिले का श्री वेदांश खरे भी हैं। आज सुबह श्री वेदांश
से कलेक्टर श्री दीपक आर्य ने  बात की और  उनकी खैरियत की जानकारी ली। श्री वेदांश ने बताया कि वे पूर्ण रूप से सुरक्षित हैं ।  कलेक्टर श्री आर्य से बात करने के बाद उन्हें भरोसा है कि वे जल्द ही अपने देश लौटेंगे । कलेक्टर श्री दीपक आर्य ने वेदांश को आश्वासन दिया  कि वे राज्य शासन से बात कर उनके स्वदेश लौटने की व्यवस्था के प्रयास कर रहे हैं।




उल्लेखनीय है कि सागर के एकता कॉलोनी के निवासी श्री वेदांश खरे पिता श्री संदीप खरे यूक्रेन में एम.बी.बी.एस. की पढ़ाई कर रहे हैं । 

यह भी पढ़े...

*

श्री वेदांश खरे से बात करने पर बताया कि उन्होंने इंडियन एम्बेसी से बात की है।





              * पिता संदीप खरे
 उन्हें बस के माध्यम से पोलैंड बॉर्डर पर ले जाया जा रहा है। जहां से भारत सरकार के द्वारा जो भी व्यवस्था करवाई जाएगी, उसके माध्यम से वे अपने देश लौटेंगे। वेदांश के पिता श्री संदीप खरे ने बताया कि वेदांश पूर्ण रूप से सुरक्षित हैं।

गुरुवार, 24 फ़रवरी 2022

मौसम साफ है इसलिए दिन-रात काम करें- कलेक्टर★ कलेक्टर दीपक आर्य ने लाखा बंजारा झील कायाकल्प परियोजना की समीक्षा की

मौसम साफ है इसलिए दिन-रात काम करें- कलेक्टर
★ कलेक्टर दीपक आर्य ने लाखा बंजारा झील कायाकल्प परियोजना की समीक्षा की
सागर।  अब सर्दी खत्म हो गई है, मौसम साफ है इसलिए दिन-रात काम किया जाए। स्टोन पिचिंग के काम में गति लाने के लिए अभी और टीमें बढाने की जरूरत है। उक्त निर्देश गुरुवार को कलेक्टर सह अध्यक्ष एसएससीएल श्री दीपक आर्य ने निर्माण एजेंसी को दिए। वे नगर निगम आयुक्त सह कार्यकारी निदेशक एसएससीएल श्री आरपी अहिरवार और स्मार्ट सिटी सीईओ श्री राहुल सिंह राजपूत के साथ लाखा बंजारा झील कायाकल्प परियोजना की समीक्षा कर रहे थे।

देखे...



समीक्षा के दौरान कलेक्टर सह अध्यक्ष एसएससीएल श्री दीपक आर्य ने झील में चल रहे प्रत्येक काम की प्रगति की जानकारी ली और तय समय-सीमा में सभी काम पूरे करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अब मौसम में गर्मी बढ रही है। काम की गति बढाने के लिए दिन के साथ रात में भी काम करना होगा। उन्होंने कहा कि इंबैंकमेंट में स्टोन पिचिंग के काम में बहुत समय लगता है इसलिए इस काम को समय-सीमा में पूरा करने के लिए दिन-रात काम किया जाए और टीमें बढाकर अलग-अलग स्थानों पर एक साथ काम शुरू करें। उन्होंने निर्देश दिए कि झील की घास जल्द से जल्द साफ की जाए, जिससे समय रहते नमी दूर हो सके। कलेक्टर सह अध्यक्ष एसएससीएल श्री दीपक आर्य ने निर्देश दिए कि एक सप्ताह के अंदर झील की बाउंड्रीवॉल का निर्माण भी शुरू कर दिया जाए। साथ ही मोंगा बंधान में बचा हुआ काम पूरा कराएं। इस दौरान निर्माण एजेंसी के प्रतिनिधि ने बताया कि इंबैंकमेंट का काम लगभग पूरा हो गया था। जो थोडा काम बचा है, उसे भी जल्द पूरा कर लिया जाएगा। इस पर कलेक्टर श्री आर्य ने निर्देश दिए कि जहां-जहां इंबैंकमेंट का काम पूरा होता जाए, वहां घाट निर्माण का काम भी शुरू कर दें। 
कलेक्टर सह अध्यक्ष एसएससीएल श्री दीपक आर्य ने सख्त निर्देश दिए कि काम में गति लाई जाए और समय-सीमा में सभी काम पूरे होने चाहिए। किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। यदि कोई रुकावट या परेशानी आए तो तत्काल अधिकारियों के संज्ञान में लाएं, जिससे तुरंत समाधान किया जा सके और काम न रुके। बैठक के दौरान स्मार्ट सिटी और पीएमसी के इंजीनियर्स और निर्माण एजेंसी के प्रतिनिधि मौजूद थे।

BJP महिला मोर्चा के सागर जिला के मंडल अध्यक्षो की घोषणा

जनपद पंचायत के सब इंजीनियर को 15 हजार की रिश्वत लेते सागर लोकायुक्त पुलिस ने रंगे हाथों किया गिरफ्तार

जनपद पंचायत के सब इंजीनियर को 15 हजार की रिश्वत लेते सागर लोकायुक्त पुलिस ने रंगे हाथों किया गिरफ्तार

पन्ना जिले की पवई जनपद में रिश्वतखोरी के मामला सामने आया है। यहां पर सरपंच पति से सब इंजीनियर ने 20 हजार रुपए रिश्वत की मांग की। सागर लोकायुक्त की टीम ने सरपंच की शिकायत पर सब इंजीनियर को 15 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है।

जानकारी के अनुसार, पन्ना जिले की पवई जनपद पंचायत अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत सिमराखुर्द के सरपंच पति से उपयंत्री अरविंद त्रिपाठी ने 20 हजार की रिश्वत खेल मैदान निर्माण के मूल्यांकन करने के लिए मांगी थी।जिसमें से सरपंच पति ने 5 हजार रुपए तीन दिन पहले उपयंत्री को दे दिए थे, फिर भी उपयंत्री काम नहीं कर रहा था। उपयंत्री 15 हजार रुपए और रिश्वत की मांग करने लगा।

यह भी पढ़े..क्लिक करे..

*

*

*

जिससे परेशान होकर सरपंच पति राम किशोर पटेल ने सागर लोकायुक्त में उपयंत्री की शिकायत की। शिकायत के आधार पर सागर लोकायुक्त की टीम ने गुरुवार की दोपहर पवई पहुंचकर उपयंत्री अरविंद त्रिपाठी के किराए के मकान में छापे मार कार्रवाई की और 15 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे पकड़ लिया। जिसके बाद लोकायुक्त ने भ्रष्टाचार अधिनियम की धारा 7 के तहत कार्रवाई की।

ऑल इंडिया इंटर युनिवर्सिटी ताईक्वांडो प्रतिस्पर्धा में सागर की वसुन्धरा राजूपत का चयन

ऑल इंडिया इंटर युनिवर्सिटी ताईक्वांडो प्रतिस्पर्धा में सागर की वसुन्धरा राजूपत का चयन


सागर । खेल और युवा कल्याण विभाग सागर के ताईक्वांडो खेल प्रशिक्षण केन्द्र की बालिका खिलाड़ी कु. वसुन्धरा राजपूत ने अपने प्रशिक्षक श्री अर्जुन सिंह रावत (विक्रम अवार्डी) के मार्गदर्शन में प्रशिक्षण प्राप्त कर बी.टी.आई.आर.टी. कालेज का प्रतिनिधित्व करते हुए ऑल इंडिया इंटर युनिवर्सिटी ताईक्वांडो प्रतियोगिता में अपना स्थान सुनिश्चित कर लिया है। ऑल इंडिया इंटर युनिवर्सिटी ताइक्वांडो प्रतियोगिता 14 से 18 मार्च तक हरियाणा के कुरूक्षेत्र में होगी।
कु. वसुन्धरा के उत्कृष्ट प्रदर्शन पर कलेक्टर श्री दीपक आर्य एवं पुलिस अधीक्षक श्री तरूण नायक, जिला खेल और युवा कल्याण अधिकारी श्री प्रदीप अबिद्रा, एडवोकेट श्री वीनू राणा, एवं खेल प्रशिक्षक   श्री प्रेमनेती राय, श्रीमती संगीता सिंह, श्रीमती सीमा चक्रवर्ती, श्री श्यामलाल पाल, श्री उमेशचंद मोर्य,श्री नफीस खान, श्री अर्जुन सिंह रावत, एवं कार्यालयीन कर्मचारी श्री महेन्द्र सिंह राजपूत, श्री चंदन मोरे, श्रीमती अंजली सिंह, श्री रंजीत बैन आदि ने वसुन्धरा को बधाई एवं प्रतियोगिता के लिए शुभकामनाएं दी है 

SAGAR : सुरखी और मकरोनिया क्षेत्र में संचालित प्राईवेट नर्सिंग होम का CMHO ने किया निरीक्षण ★ कई नर्सिंग होम मील नियम विरुद्ध, नोटिस जारी

SAGAR : सुरखी और मकरोनिया क्षेत्र में संचालित प्राईवेट नर्सिंग होम का CMHO ने  किया निरीक्षण 
★ कई नर्सिंग होम मील नियम विरुद्ध, नोटिस जारी

सागर ।  मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुरेश बौद्ध द्वारा सुरखी एवं मकरोनिया क्षेत्र में संचालित प्राईवेट नर्सिग होम का औचक निरीक्षण किया गया।  मकरोनिया निरीक्षण के दौरान शांति नर्सिग होम के डा. राकेष शर्मा नवीन भवन में नर्सिग होम शिफ्ट कर संचालित करते पाये गये। जिसकी सूचना मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय सागर में नहीं दी गई। इनके विरूद्ध कार्यवाही प्रस्तावित करने के निर्देश दिये गये है।

यह भी पढ़े ..क्लिक करे..
*
*
*

इसी प्रकार सतनाम मेटरनिटी अस्पताल मकरोनिया के निरीक्षण के दौरान फॉर्मेसी में योग फार्मासिस्ट के स्थान पर कर्मचारी कार्य करता हुआ पाया गया, जो कि नियम के विरूद्ध है। बॉयो मेडिकल बेस्ट मेनेजमेंट की गाईड लाईन का पालन भी होना नहीं पाया गया है। निरीक्षण दौरान हॉस्पिटल में साफ-सफाई एवं हाईजीन की कमी भी पाई गई। इस कमी हेतु कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिये गये।


श्री बालाजी हॉस्पिटल राजघाट रोड सागर निरीक्षण के दौरान संचालित फार्मेसी में फार्मासिस्ट अनुपस्थित मिले। सुरखी में संचालित मुरारी पटेल क्लीनिक के औचक निरीक्षण के दौरान  चिकित्सीय व्यवसाय से संबंधित कोई भी डिग्री/डिप्लोमा  पंजीयन वैद्य नहीं था। क्लीनिक अनाधिकृत रूप से संचालित करते पाये गये, जो कि चिकित्सीय नियमों के विरूद्ध है। निरीक्षण के समय क्लीनिक पर चार मरीज पलंग पर भर्ती पाये गये। जिनमें से एक मरीज को ड्रिप लगी हुई थी । निरीक्षण के समय उपलब्ध दवाओं /इंजेक्शनों आदि सामग्री का टीम द्वारा पंचनामा बनाया गया और क्लीनिक सील करने की कार्यवाही की गई। निरीक्षण दल में डॉ एम.एल.जैन नोडल अधिकारी नर्सिग होम एक्ट, शाखा प्रभारी नर्सिग होम एक्ट विनोद नामदेव फार्मासिस्ट, 

MP: 5 हजार का इनामी केनरा बैंक मैनेजर खंडवा से गिरफ्तार, 18 करोड़ की ठगी कर लंबे समय से था फरार

MP: 5 हजार का इनामी केनरा बैंक मैनेजर खंडवा से गिरफ्तार, 18 करोड़ की ठगी कर लंबे समय से था फरार

ग्वालियर । मध्य प्रदेश के ग्वालियर में 18 करोड़ की ठगी के मामले में फरार चल रहे पांच हजार रुपए के इनामी केनरा बैंक के तत्कालीन मैनेजर को क्राइम ब्रांच व विश्वविद्यालय पुलिस ने खण्डवा से गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी को पकड़ने के लिए पुलिस की कई टीमें पिछले लम्बे वक्त से देश के कई राज्यों में दबिश दे चुकी थीं, लेकिन आरोपी पुलिस को चकमा देकर निकल जाता था। दो साल में आधा सैकड़ा ठिकानों पर दबिश दी जा चुकी थी पर मुखबिर से सूचना मिली कि आरोपी को खंडवा में देखा गया है, जिसके बाद मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने घेराबंदी की और उसे गिरफ्तार कर लिया है अब उससे पूछताछ की जा रही है। दरअसल, वर्ष 2017 में क्राइम ब्रांच व विश्वविद्यालय थाने में केनरा बैंक के तत्कालीन मैनेजर सचिन सोनी के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया था। इस मामले में आरोपी पर 18 करोड़ की धोखाधड़ी का आरोप था। मामला दर्ज होने के बाद से ही आरोपी फरार चल रहा था और क्राइम ब्रांच व थाना पुलिस आरोपी की तलाश में दबिश दे रही थी। आरोपी को पकड़ने का टास्क पूरा करने के लिए विश्वविद्यालय व क्राइम ब्रांच की दो अलग-अलग टीमें बनाई गईं। टास्क मिलते ही पुलिस टीम को आरोपी की लोकेशन चेन्नई में मिली। टीम उसका पीछा करते हुए पहले चेन्नई पहुंची तो आरोपी यहां से भाग निकला।
पढ़े..
*
*
*

पुलिस लगातार उसका पीछा करती रही। आरोपी पुणे महाराष्ट्र होते हुए खंडवा पहुंचा था। मुखबिर की सूचना पर खंडवा पहुंची और पुलिस ने उसकी समय पर घेराबंदी कर उसे गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस पूछताछ में पता चला है कि आरोपी पर कुल छह मामले दर्ज है, जिसमें एक क्राइम ब्रांच तथा पांच विश्वविद्यालय में दर्ज हैं। पुलिस पड़ताल में यह भी पता चला है कि आरोपी ने मैनेजर रहते समय फर्जी नामों पर 18 करोड़ का लोन फाइनेंस कराया था। इसके बाद जब लोन की जानकारी जुटाई तो पता चला कि मंजूर हुए सभी लोन फर्जी आईडी से निकाले गए हैं और इसका खुलासा होते ही आरोपी फरार हो गया था। आरोपी के फरार होने का पता चलते ही बैंक प्रबंधन ने मामला दर्ज कराया था। 

बुधवार, 23 फ़रवरी 2022

जबलपुर मंडल में चलने वाली 6 यात्री गाड़ी रद्द तथा तीन को बदले मार्ग से चलाया★राज्यरानी एक्सप्रेस ,कामायनी ,भोपाल- बिलासपुर ट्रेन आदि पर पडा असर


जबलपुर मंडल में चलने वाली 6 यात्री गाड़ी रद्द तथा तीन को बदले मार्ग से चलाया
★राज्यरानी एक्सप्रेस ,कामायनी ,भोपाल- बिलासपुर ट्रेन आदि पर पडा असर
जबलपुर। जबलपुर रेल मंडल में सागर के निकट स्थित सुमेरू तथा जरुआ खेड़ा रेलवे स्टेशन के मध्य रेलवे द्वारा एक पुलिया निर्माण के कार्य को लेकर लिए  ब्लॉक के कारण कुछ ट्रेनों को रेलवे द्वारा रद्द कर दिया गया है।
 इस संबंध में वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक श्री विश्व रंजन ने बताया कि  रेल प्रशासन द्वारा  आज 23 फरवरी को भोपाल से दमोह के बीच चलने वाली राजरानी एक्सप्रेस तथा बिलासपुर से भोपाल के बीच चलने वाली ट्रेन नंबर 18236 को  उक्त कार्य के चलते रद्द किया गया है. 
इसके साथ ही गुरुवार 24 फरवरी को दमोह से भोपाल जाने वाली राजरानी एक्सप्रेस नंबर 22162 तथा भोपाल से बिलासपुर जाने वाली ट्रेन नंबर 18236 के साथ ही बीना कटनी के बीच चलने वाली मेमू ट्रेन नंबर 06621 तथा 06622 का भी  संचालन नहीं किया जाएगा।
 इसके साथ ही रेलवे द्वारा 3 यात्री गाड़ियों का मार्ग भी परिवर्तित किया गया, जिसके तहत अहमदाबाद से चलने वाली ट्रेन नंबर 19413 भोपाल, इटारसी, जबलपुर कटनी मार्ग से,
 कुर्ला से बनारस के बीच चलने वाली  कामायनी एक्सप्रेस 11071 को बीना स्टेशन के स्थान पर इटारसी जबलपुर कटनी होकर तथा  गोरखपुर से अहमदाबाद की ओर सागर होकर जाने वाली ट्रेन नंबर 19404 को कटनी से जबलपुर इटारसी मार्ग से गंतव्य की ओर रवाना किया गया ।

भारतीय स्टेट बैंक ने वन विहार को भेंट की साईकल और डस्ट्बिन एवं गोद लिए 2 बाघ

भारतीय स्टेट बैंक ने वन विहार को भेंट की साईकल और डस्ट्बिन एवं गोद लिए 2 बाघ


भोपाल । भारतीय स्टेट बैंक के सामाजिक सेवा बैंकिंग के अंतर्गत वन विहार नेशनल पार्क एवं ज़ू, भोपाल में आयोजित कार्यक्रम में मुख्य महाप्रबंधक श्री बिनोद कुमार मिश्रा ने निदेशक, वन विहार नेशनल पार्क श्री एच.सी गुप्ता को अनुदान चेक प्रदान किया ।


बैंक द्वारा 1 बाघ “पन्ना” एवं 1 बाघिन “रिद्धी” को एक साल की अवधि के लिए गोद लिए गया एवं वन विहार को 30 साईकल और 25 डस्टबिन भी भेंट स्वरूप प्रदान किए गए । श्री मिश्रा ने कार्यक्रम में कहा कि पर्यावरण का संतुलन बनाए रखने के लिये बाघों का संरक्षण बहुत ही आवश्यक है और हमें पर्यावरण को बेहतर बनाने के लिए बाघ के संरक्षण हेतु सक्रिय कदम उठाना होगा। श्री मिश्रा ने वन विहार द्वारा वन्यप्राणी के संरक्षण के क्षेत्र में किए गए कार्यों की भी प्रशंसा की । निदेशक श्री गुप्ता ने इस अवसर पर बैंक का आभार प्रकट किया और स्टेट बैंक द्वारा सामाजिक बैंकिंग के क्षेत्र में किए गए कार्यों की भी सराहना की  एवं  वन विभाग की उपलब्धियों की चर्चा भी की। इस पूरे कार्यक्रम में एसबीआई महिला क्लब, भोपाल मण्डल की अध्यक्षा श्रीमती आशा मिश्रा एवं सभी सदस्य भी उपस्थित थे जिन्होनें बड़े जोश के साथ कार्यक्रम में भाग लिया ।


इस अवसर पर महाप्रबंधक श्री एस गिरिधर, श्री संदीप कुमार दत्ता तथा श्रीमती गीता त्रिपाठी,  उप महाप्रबंधक एवं मण्डल विकास अधिकारी श्री यू. दिनेश शानभाग, उप निदेशक वन विहार श्री अशोक कुमार जैन एवं बैंक और वन विभाग के अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन श्री संजय कुमार, सहायक महाप्रबंधक द्वारा किया गया एवं आभार प्रदर्शन श्री जैन, उप निदेशक वन विहार नेशनल पार्क द्वारा किया गया।यह जानकारी  सहायक महाप्रबंधक जनसंपर्क व सामाजिक सेवा बैंकिंग संजय कुमार ने दी।

मंत्री गोपाल भार्गव ने आवास योजना अंतर्गत हितग्राहियों को अधिकार-पत्र एवं किश्तों का किया वितरण★ आवास योजना में हितग्राहियों के खाते में 538 लाख रुपए की राशि सिंगल क्लिक से हुई ट्रांसफर

 

मंत्री गोपाल भार्गव ने आवास योजना अंतर्गत हितग्राहियों को अधिकार-पत्र एवं किश्तों का किया वितरण
★ आवास योजना में हितग्राहियों के खाते में 538 लाख रुपए की राशि सिंगल क्लिक से हुई ट्रांसफर

सागर, 23 फरवरी 2022 । नगर पालिका द्वारा नटराज ऑडिटोरियम गढ़ाकोटा में आयोजित कार्यक्रम में प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत हितग्राहियों को अधिकार-पत्र एवं किश्तों का वितरण लोक निर्माण मंत्री श्री गोपाल भार्गव ने किया । इस अवसर पर मंत्री  श्री गोपाल भार्गव ने कहा कि पक्के मकान का सपना देखने वाले आर्थिक रूप से कमजोर लोगों के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना वरदान है। इस योजना के जरिए मिली ढाई लाख रूपये की
 
से हितग्राहियों ने अपने पक्के आवास का सपना पूरा किया है। इस  राशि का सभी  सदुपयोग करें। हितग्राही अपने अपने आवास पूरी ईमानदारी के साथ तैयार करें ।इसका पैसा कहीं भी खर्च न करें।

उन्होंने कहा कि रहली विधानसभा क्षेत्र में आवासों का कार्य तेजी से हो रहा है । कोई भी व्यक्ति आवासहीन नहीं रहेगा। हितग्राहियों के खाते में 538 लाख रूपए की प्रथम एवं द्वितीय किस्त की   राशि डाली जा रही है। श्री भार्गव ने कहा कि रहली विधानसभा क्षेत्र के विकास के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं । प्रधानमंत्री आवास के सभी लाभार्थी अपने-अपने आवासों में एक-एक तुलसी का पौधा लगाकर अपनी संस्कृति को बनाए रखें । इससे वातावरण शुद्ध रहता है और मन भी शुद्ध बना रहता है ।

उन्होंने कहा कि संबल, आयुष्मान, कर्मकार मंडल सहित कई योजनाओं के कार्ड आप सभी बनवाएं एवं उससे लाभ लें। कार्यक्रम में गढाकोटा नगरपालिका के 277 आवास,
आवास, रहली नपा के 124 एवं शाहपुर नपा  से 137 नए आवासों की प्रथम एवं द्वितीय  किश्त की राशि सिंगल क्लिक के माध्यम से हितग्राहियों के खाते में ट्रांसफर की गई। गढ़ाकोटा में  619 नए आवासों के  अधिकार पत्र हितग्राहियों को  प्रदान किए गए। इस योजना के जरिए मिली ढाई लाख रूपये की राशि से हितग्राहियों ने अपने पक्के आवास का सपना पूरा किया है। इस  राशि का सभी  सदुपयोग करें। हितग्राही अपने अपने आवास पूरी ईमानदारी के साथ तैयार करें ।इसका पैसा कहीं भी खर्च न करें।
उन्होंने कहा कि रहली विधानसभा क्षेत्र में आवासों का कार्य तेजी से हो रहा है । कोई भी व्यक्ति आवासहीन नहीं रहेगा। हितग्राहियों के खाते में 538 लाख रूपए की प्रथम एवं द्वितीय किस्त की   राशि डाली जा रही है। श्री भार्गव ने कहा कि रहली विधानसभा क्षेत्र के विकास के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं । प्रधानमंत्री आवास के सभी लाभार्थी अपने-अपने आवासों में एक-एक तुलसी का पौधा लगाकर अपनी संस्कृति को बनाए रखें । इससे वातावरण शुद्ध रहता है और मन भी शुद्ध बना रहता है ।
उन्होंने कहा कि संबल, आयुष्मान, कर्मकार मंडल सहित कई योजनाओं के कार्ड आप सभी बनवाएं एवं उससे लाभ लें।
कार्यक्रम  में एलईडी  के माध्यम से मुख्यमंत्री के संवाद  प्रसारण  को दिखाया  गया। कार्यक्रम में एसडीएमद्वय जितेंद्र पटेल, श्रीमती  सपना त्रिपाठी, तहसीलदार कुलदीप पराशर, रहली सीएमओ ज्योति शिवहरे, गढ़ाकोटा एवं शाहपुर नपा प्रभारी सीएमओ धनंजय गुमाष्ता , पूर्व पार्षद मुन्नालाल साहू, लघु वनोपज संघ पूर्व अध्यक्ष महेश कोरी, सांसद प्रतिनिधि अमित चौधरी, मनोज तिवारी, सहित गढ़ाकोटा, रहली एवं शाहपुर से  जनप्रतिनिधी एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। कार्यक्रम मे सभी हितग्राहियों ने शामिल होकर योजनाओ की जानकारी ली । संचालन विक्की जैन ने किया। आभार  प्रशासक एवं तहसीलदार कुलदीप पराशर ने  व्यक्त किया।

प्रधानमंत्री आवास शहरी योजनाके तहतनगर निगम सागर के 613 हितग्राही भी हुये लाभान्वित★ आवासहीन नागरिक का स्वयं का मकान और उसके सिर पर स्वयं की छत हो:-सांसद राजबहादुर

प्रधानमंत्री आवास शहरी योजनाके तहत
नगर निगम सागर के 613 हितग्राही भी हुये लाभान्वित
★ आवासहीन नागरिक का स्वयं का मकान और उसके सिर पर स्वयं की छत हो:-सांसद राजबहादुर 

सागर। मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान जी के मुख्य आतिथ्य में पी.एम.ए.वाय शहरी योजना के हितग्राहियों को लाभ वितरण एवं संवाद का राज्य स्तरीय कार्यक्रम कुशाभाऊ ठाकरे अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन केन्द्र (मिन्टो हाल) भोपाल में दोपहर 3 बजे से आयोजित वर्चुअल कार्यक्रम में प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी के अंतर्गत बी.एल.सी.घटक के 1925 करोड की लागत से प्रदेश में नवनिर्मित 50 हजार आवासों में हितग्राहियों को गृहप्रवेश कराया साथ ही 1155 करोड की लागत से निर्मित होने वाले 30 हजार नवीन आवासों का भूमिपूजन एवं प्रधानमंत्री आवास योजना के 26 हजार 500 हितग्राहियों के खातों में 250 करोड की राशि अंतरित करते हुये मुख्यमंत्री ने बदनाबर, जाबरा, जैतरी और मेंहगांव के हितग्राहियों से वर्चुअल संवाद भी किया गया।
इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से नगरीय विकास एवं आवास विभाग मंत्री मान.श्री भूपेन्द्रसिंह जी भी वर्चुअल शामिल हुये। इसके अलावा नगरीय विकास एवं आवास विभाग राज्यमंत्र ओ.पी.एस.भदौरिया के साथ अन्य मान.मंत्रीगण,  मान.सांसद, मान.विधायकगण उपस्थित हुये।
स्थानीय स्तर पर नगर निगम द्वारा इस वर्चुअल कार्यक्रम को नगर निगम के महाकवि पद्माकर सभागार में बडी एल.ई.डी.के माध्यम से देखने एवं सुनने की व्यवस्था की गई थी ।जिसमें सांसद राजबहादुरसिंह, कलेक्टर दीपक आर्य, निगमायुक्त श्री आर पी अहिरवार, स ब्राण्ड एम्बेसिडर सुशील तिवारी, इंजी.प्रकाश चौबे,  महेश तिवारी,  लक्ष्मणसिंह, सुश्री मेघा दुबे, श्रीमति शारदा कोरी, सोमेश जड़िया, धर्मेन्द्र खटीक जनप्रतिनिधिगण तथा गणमान्य नागरिक सहित प्रधानमंत्री आवास योजना के हितग्राही बड़ी संख्या में उपस्थित थे।
इस कार्यक्रम में मुख्यअतिथि के रूप में सागर सांसद श्री राजबहादुरसिंह ने कहा कि किराये के मकान में रहने वाले व्यक्ति का स्थायित्व नहीं होता इसलिये मान.प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने इसको समझते हुये प्रधानमंत्री आवास योजना प्रारंभ की ताकि प्रत्येक आवासहीन नागरिक का स्वयं का मकान हो और उसके सिर पर स्वयं की छत हो ताकि उसे स्थायित्व मिलें, लेकिन सरकार ने जो सहुलियत दी है उसके मानकों का हितग्राही पालन करते हुये आवास निर्माण हेतु मिलने वाली राशि का शत-प्रतिशत उसी कार्य में उपयोग करें अन्यथा दूसरे कार्यो में उपयोग करने पर इस राशि के साथ साथ अन्य योजनाओं का भी लाभ उस हितग्राही को लाभ नहीं मिल पायेगा।
कार्यक्रम के प्रारंभ में पीएमएवाय योजना पर प्रकाश डालते हुये निगमायुक्त श्री आर पी अहिवार ने बताया कि मान.मुख्यमंत्री जी द्वारा जो 26 हजार 500 हितग्राहियों के खातें में 250 करोड रूपये की राशि अंतरित की है, उसमें सागर नगर निगम के 663 हितग्राही भी शामिल है जिनके खातों में 525 लाख की राशि उनके खातों में अंतरित हुई है इस राशि में 149 हितग्राहियों को प्रथम किश्त, 288 हितग्राहियों को द्वितीय किश्त एवं 176 हितग्राहियों को तृतीय किश्त की राशि प्रदान की गई है। 

कार्यक्रम के अंत में सांसद श्री राजबहादुरसिंह, कलेक्टर श्री दीपक आर्य एवं निगमायुक्त श्री आर पी अहिरवार, ब्राण्ड एम्बेसिडर श्री सुशील तिवारी, इंजी.प्रकाश चौबे, श्री महेश तिवारी, श्री लक्ष्मणसिंह ने 5 हितग्राहियों को सांकेतिक रूप से 1-1 लाख रूपये के स्वीकृति पत्र प्रदान किये। कार्यक्रम का संचालन प्राचार्य श्री अरविंद जैन ने किया और आभार सहायक आयुक्त श्री राजेशसिंह राजपूत ने किया।

राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में पुरुष वर्ग में जबलपुर संभाग विजेता व उपविजेता इंदौर संभाग ,महिला वर्ग में सागर संभाग विजेता व इंदौर संभाग बना उपविजेता रहा

राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में पुरुष वर्ग में जबलपुर संभाग विजेता व उपविजेता इंदौर संभाग ,महिला वर्ग में सागर संभाग विजेता व इंदौर संभाग बना उपविजेता रहा
सागर। पं. दीनदयाल उपाध्याय, शासकीय कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय, सागर में राज्यस्तरीय योग (पुरूष/महिला) प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें प्रदेश के 07 संभागों की टीमों ने सहभागिता की। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सांसद राजबहादुर सिंह ने कहा कि चाहे खेल हो या योग यह शरीर के साथ मानसिक दृढ़ता प्रदान करते हैं। तनाव के बंधन में योग का कोई विकल्प नहीं है। टेबलेट के साइड इफेक्ट है जबकि योग के बहुलाभ। युवाओं से आह्वान करते हुये आपने कहा कि नशे से आर्थिक हानि, प्रतिष्ठा का पलायन तथा शरीर का रोगी बनना तय है जबकि योग हमे प्रतिष्ठा के साथ आर्थिक सम्बल प्रदान करता है। स्वस्थ्य शरीर आज की भागदौड़ भरी जिन्दगी में सबसे बड़ी आवश्यकता है और योग इसका महत्वपूर्ण साधन है। स्वागत भाषण देते हुये महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. जी. एस.रोहित ने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना ने हमे योग के महत्व को बहुत अच्छी तरह समझाया है। भारत में योग ने ही व्यक्तियों की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर कोरोना जैसी महामारी को हराया है। 
संगठन सचिव डॉ सुभाष हर्डीकर व अपर संगठन सचिव डॉ. उमाकान्त स्वर्णकार ने प्रतिवेदन का वाचन किया।  मुख्य वक्ता योगाचार्य विष्णु आर्य ने कहा कि भारतीय संस्कृति में प्रातः जल्दी उठकर योग करना शामिल था जब से युवा पीढ़ी ने इसे छोड़कर मोबाइल योग करना शुरू किया है तब से दवाखानों में भीड़ लगने लगी है। योग देखने की विधि नहीं है बल्कि देखकर करने की विधि है। किसी भी स्थिति में सुखपूर्वक बैठने का नाम आसन है। योग के सिद्धांतों का यदि आप पालन करोगे तो मन से विचार से, भाव से तथा शरीर से निरोगी रहोगे। मोबाइल को चार्जर रिचार्ज करता है और व्यक्ति को शवासन।
 डॉ. हरीसिह गौर विश्वविद्यालय में योग के विभागाध्यक्ष डॉ. गणेश शंकर गिरी ने कहा कि बीमारी शरीर में पैदा ही न हो योग इस अवधारणा पर कार्य करता है। यह व्यायाम नहीं है बल्कि निरोगी काया के साथ ईश्वर को प्राप्त करने का मार्ग है। योग संस्कार है अतः विद्यार्थी जिस भी कार्य को करेगा पूर्णता के विचार से करेगा। राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में पुरुष वर्ग में जबलपुर संभाग विजेता रहा तथा उपविजेता इंदौर संभाग रहा इसी तरह महिला वर्ग में सागर संभाग विजेता रहा तथा इंदौर संभाग उपविजेता रहा।

संचालन करते हुये स्वामी विवेकानंद कॅरियर योजना के जिला नोडल अधिकारी डॉ. अमर कुमार जैन ने कहा कि योग ईश्वर से मिलने का वैज्ञानिक मार्ग है जिस प्रकार ईश्वर का ध्यान करने से मन पवित्र होता है, भजन सुनने से कान में पवित्रता आती है उसी प्रकार योग करने से संपूर्ण शरीर निरोगी व पवित्र होता है। कार्यक्रम में पूर्व जनभागीदारी अध्यक्ष विनय मिश्रा तथा वीरेन्द्र जोशी अंकुर गौतम संदीप तिवारी विशेष रूप से उपस्थित थे। कार्यक्रम का आभार वरिष्ठ प्राध्यापक डॉ. मधु स्थापक ने माना। 

SAGAR : अहिरवार समाज और भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा ने की हमलावरों को शीघ्र गिरफ्तार करने की मांग,पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंपा

SAGAR : अहिरवार समाज और भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा ने की हमलावरों को शीघ्र गिरफ्तार करने की मांग,पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंपा


सागर।खुरई विधानसभा क्षेत्र के अहिरवार समाज एवं भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा जिला सागर ने खुरई में 27 जनवरी को अनुसूचित जाति के पूर्व पार्षदों सहित अन्य लोगों पर प्राणघातक हमला करने वाले आरोपियों को शीघ्र गिरफ्तार करने की मांग को लेकर जिला पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंपा।

ज्ञापन में उल्लेख है कि, दिनांक 27 जनवरी 2022 को खुरई में भाजपा कार्यकर्ताओं ने सेल्फी प्वाइंट तोड़ने वाले असामाजिक तत्वों को गिरफ्तार किये जाने की मांग को लेकर तहसील परिसर में अनुविभागीय अधिकारी खुरई को ज्ञापन सौंपने का कार्यक्रम बनाया था जिनमें दो पूर्व पार्षद श्री विनोद राजहंस एवं श्री प्रभु अहिरवार सहित अनुसूचित जाति व भाजपा के कार्यकर्ता बड़ी संख्या में शामिल थे। इसी दरम्यान असामाजिक तत्वों ने भाजपा कार्यकर्ताओं पर प्राणघातक हमला कर दिया। जिसमें गंभीर रूप से घायल अनुसूचित जाति के दो पूर्व पार्षद विनोद राजहंस एवं प्रभु अहिरवार भोपाल के अस्पताल में भर्ती रहे हैं। 
आरोपियों की गिरफ्तारी किये जाने की मांग को लेकर ज्ञापन पूर्व में दिनांक 29 जनवरी, 2 फरवरी, 3 फरवरी एवं 4 फरवरी को खुरई, जिला मुख्यालय सागर, मालथौन एवं बांदरी में अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) एवं पुलिस अधीक्षक महोदय सागर के समक्ष प्रस्तुत किया जा चुका है। पूर्व में कई बार ज्ञापन प्रसतुत किये जाने के उपरांत भी आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं की गई है सभी नामजद आरोपी खुलेआम घूम रहे हैं जिससे अनुसूचित जाति वर्ग के नागरिकों में अत्याधिक रोष एवं भय का वातावरण है। पुलिस द्वारा अब तक हमलावर आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किये जाने से शिकायतकर्ता और अनुसूचित जाति के लोगों में भय व्याप्त हैं और स्वयं को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। अब तक गिरफ्तारी नहीं होने से समाज में रोष व्याप्त है। यदि आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी नहीं हुई तो अनुसूचित जाति वर्ग के लोग धरना और आंदोलन करने का बाध्य होंगे। 

ज्ञापन में पुलिस अधीक्षक से अनुरोध किया है कि, खुरई पुलिस द्वारा पंजीबद्ध किये गये अपराध में आरोपियों को शीघ्र ही गिरफ्तार किया जाये ताकि हमारे समाज के लोग भयमुक्त हो सकें। ज्ञापन देने वालों में वृन्दावन अहिवार, संतोष रोहित, नरेन्द्र अहिरवार, रामू ठेकेदार, चेतराम अहिरवार, अरविंद तोमर, गुड्डा खटीक, महेश अहिरवार, रघुवीर अहिरवार, दीना रोहित, प्रशांत अहिरवार, अनिल राज, रिंकू राज, अरविंद अहिरवार, विजय अहिरवार, काशीराम अहिरवार, इंजी. काशीराम अहिरवार, प्रभु चैधरी, शैलेनद्र नैक्या, हरिशंकर अहिरवार, विनोद राजहंस, नरेश वनपुलिया, निर्मल अहिरवार, सुनील राज, चुन्नीलाल, पप्पू अहिरवार, अजय चैधरी, बल्लू चैधरी, जयराम अहिरवार, जमना प्रसाद अहिरवार, जित्त अहिरवार, संतोष एलआईसी, सोनू अहिरवार, इन्द्रकुमार राय, कमलेश राय, विक्रम चैधरी, करन मंडल, मिहिरवान अहिरवार, उत्तम अहिरवार, नंदराम अहिरवार, संजय अहिरवार, नीलेश अहिरवार पातीखेडा, बब्लू अहिरवार पड़रिया, मोहन अहिरवार देवपुरा, हरचरन अहिरवार सीपुर, ब्रजेश अहिरवार रोडा, संतोष अहिरवार मृगावली, बाबूलाल अहिरवार दुगाहा कला, मानक अहिरवार मालथौन, आनंद अहिरवार बरोदियाकला, रुप सिंह अहिरवार प्रेमपुरा, उमेश अहिरवार मडखेरा, मोहन अहिरवार बीकोरकला, दिलीप अहिरवार रजवास, नवीन अहिरवार वनखिरिया, मोतीलाल अहिरवार, राजूभाई, डीआर रोहित, सनत रोहित, वीरेन्द्र अहिरवार, राहुल अहिरवार, कुलदीप राय, हरपे अहिरवार, हीरालाल अहिरवार, शिवलाल अहिरवार, तुलसीराम अहिरवार, मुकेश अहिरवार, केशव अहिरवार, रजकुमार अहिरवार, धर्मेन्द्र अहिरवार सहित बड़ी संख्या में अहिरवार समाज के लोग शामिल थे।

मंगलवार, 22 फ़रवरी 2022

कोरोना के नए वेरिएंट का खतरा, नए वैक्सीन और उपचार की संभावनाओं पर देशभर के विशेषज्ञों ने किया मंथन,★ बीएमसी में अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार एवं वर्कशॉप संपन्न



कोरोना के नए वेरिएंट का खतरा, नए वैक्सीन और उपचार की संभावनाओं पर देशभर के विशेषज्ञों ने किया मंथन,
★ बीएमसी में अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार एवं वर्कशॉप संपन्न

सागर।
 बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज सागर में मंगलवार को मध्यप्रदेश के चिकित्सा शिक्षा विभाग के आदेश अनुसार अंतरराष्ट्रीय सेमिनार एवं वर्कशॉप का आयोजन किया गया। बीएमसी के टीबी एवं चेस्ट रोग और माइक्रोबायोलॉजी विभाग के संयुक्त तत्वधान से आयोजित हुए इस सेमिनार में मुख्य तौर पर कोरोना वायरस के वैरीएंट जैसे अल्फा, बीटा, गामा, डेल्टा और ओमिक्रोन से संबंधित जानकारी साझा की गई।

इसके साथ ही कोरोना वायरस के नए वैरीएंट के आने की संभावना के बारे में भी चर्चा की गई। इसके अलावा सेमिनार में नए वैरीअंट के लक्षण और नए ट्रीटमेंट के बारे में भी बात की गई। सबसे जरूरी बात जो इस सेमिनार से संबंधित रही वह विभिन्न प्रकार की उपलब्ध वैक्सीन जो आज के समय में अभी तक जितने भी कोरोना वायरस के वैरीअंट आए हैं उनके विरुद्ध तो असरकारक हैं, लेकिन आने वाले नए वैरीअंट के लिए यह वैक्सीन जो कितनी असरकारक होगी। साथ ही नए वैक्सीन की संभावनाएं कितनी हो सकती हैं, इसके बारे में भी विस्तृत चर्चा की गई।
छतरपुर: 10वीं की ऑफलाइन परीक्षा ने ली जान,तैयारी नहीं थी इसलिए गणित के पेपर से पहले छात्र ने की फांसी लगाकर आत्महत्या
सेमिनार के मुख्य अतिथि प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री माननीय विश्वास सारंग थे। वहीं विशिष्ट अतिथि के रूप में चिकित्सा शिक्षा आयुक्त श्री निशांत बरबड़े, संभाग आयुक्त श्री मुकेश शुक्ला, बीएमसी के  डीन डॉ आरएस वर्मा, सीएमएचओ डॉ. सुरेश बौद्ध, सिविल सर्जन डॉ. ज्योति चौहान और आईएमए के अध्यक्ष डॉ. राजेंद्र चउदा मौजूद रहे। इस सेमिनार के ऑर्गेनाइजिंग चेयरमैन डॉ. तल्हा साद एवं डॉ. अमरदीप राय थे और ऑर्गेनाइजिंग सेक्रेट्री की भूमिका डॉ. सुमित रावत ने निभाई। सेमिनार में मेडिकल स्टूडेंट और मेडिकल कॉलेज के फैकल्टी की सहभागिता रही।

सेमिनार में देशभर के मेडिकल एक्सपर्ट ने रखे विचार


इस सेमिनार में देश प्रदेश के विभिन्न वरिष्ठ चिकित्सक ने भी अपनी जानकारी साझा की। इसमें प्रमुख तौर पर पीजीआई चंडीगढ़ के वायरोलॉजी के हेड डॉ आरके राठौ और एम्स भोपाल के पूर्व डायरेक्टर डॉ सरमन सिंह, बीएचयू वाराणसी के डॉक्टर ज्ञानेश्वर चौबे और मणिपाल के डॉक्टर किरण जे मुखोपाध्याय थे। इन्होंने कोरोना वायरस के मूल स्ट्रक्चर के संबंध में जानकारी दी। इसके साथ ही एएमयू से डॉक्टर मोहम्मद शमीम  और जबलपुर से डॉक्टर जितेंद्र भार्गव ने विभिन्न प्रकार के वैरीएंट के लक्षण से संबंधित जानकारी दी। एम्स हैदराबाद से डॉक्टर रोहित सलूजा और एम्स भोपाल से डॉक्टर जितेंद्र सिंह ने कोरोना वायरस के जीनोम सीक्वेंसिंग के संबंध में जानकारी दी।

बीएमसी में वायरोलॉजी विभाग के हेड डॉ सुमित रावत ने भी विभिन्न प्रकार की जीनोम सीक्वेंसिंग में प्रैक्टिकल तौर पर आने वाली परेषानियों से संबंधित जानकारी दी। टीबी एवं चेस्ट रोग विभागाध्यक्ष डॉ तल्हा साद और एएमयू के डीन डॉक्टर राकेश भार्गव ने कोरोना वायरस के विभिन्न प्रकार के वैरीअंट के भिन्न-भिन्न इलाज से संबंधित जानकारी साझा की। सेमिनार के बाद दोपहर 2 बजे से वर्कशॉप का भी आयोजन किया गया। वर्कशॉप में एम्स भोपाल से डॉक्टर आशीष व्यास,  डॉक्टर सुधीर गुप्ता और एम्स भोपाल से डॉ अनिरुद्ध सिंह मौजूद रहे। इन्होंने विभिन्न प्रकार के जीनोम सीक्वेंसिंग के संबंध में बताया।

मंच संचालन डॉ. मनीष जैन और डॉ. नेहा सोनी ने किया। इस दौरान डॉ प्रवीण खरे, डॉ. सर्वेश जैन, डॉ. संजय जैन, डॉ सुशील गौर, डॉ. पुण्य प्रताप सिंह, डॉ. शोहेब अख्तर, डॉ. मानसी गुप्ता, डॉ. रुचि अग्रवाल, डॉ. रश्मि उप्पल,  डॉ सुरेंद्र महौर, डॉ नीलू जैन, वायरोलॉजी लैब के वैज्ञानिक  रोबिन शर्मा और नीतू मिश्रा, डॉ. प्रांजल नेमा, डॉ. अनुश्री, डॉ. प्रतिमा वर्मा आदि चिकित्सक और लैब टेक्नीशियन, अखिल जैन, विकास जैन, अमित शर्मा, ओमप्रकाश झा, जितेंद्र त्रिपाठी, अरविंद रघुवंशी आदि मौजूद थे। 

छतरपुर: 10वीं की ऑफलाइन परीक्षा ने ली जान,तैयारी नहीं थी इसलिए गणित के पेपर से पहले छात्र ने की फांसी लगाकर आत्महत्या

छतरपुर: 10वीं की ऑफलाइन परीक्षा ने ली जान,तैयारी नहीं थी इसलिए गणित के पेपर से पहले छात्र ने की फांसी लगाकर आत्महत्या


छत्तरपुर।  छतरपुर में 17 साल के एक कक्षा-10 के छात्र ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। उत्कृष्ट विद्यालय (एक्सीलेंस स्कूल) का यह छात्र कथित तौर पर गणित के परचे की तैयारी नहीं कर सका था। इस वजह से डिप्रेशन में आकर उसने गणित के परचे से पहले ही अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। 

पढ़े..

छतरपुर के हनुमान टोरिया के पीछे शिव कॉलोनी में 17 साल के सुमित ताम्रकार ने सोमवार रात को फांसी लगा ली। सुमित का मंगलवार को गणित का पेपर था, जो उसे सिंचाई कॉलोनी स्थित सरस्वती स्कूल के केंद्र पर देना था। छात्रों के परिजनों का कहना है कि लॉकडाउन में ऑनलाइन पेपर हुए। उस दौरान छात्रों को नकल की आदत पड़ गई है। अचानक ही सरकार ने नियमों में बदलाव किया तो छात्र डिप्रेशन में आ गए। अच्छे से पढ़ाई नहीं कर सके और इसी के चलते सुमित ने सुसाइड किया है। 
सुमित के परिजनों का कहना है कि वह पढ़ाई में अच्छा था। ऑनलाइन पढ़ाई घर पर ही करता था। सरकार ने दसवीं बोर्ड की परीक्षा का पैटर्न बदला और ऑफलाइन किया तो वह डिप्रेशन में आ गया। देर रात परिजनों ने सुमित को समझाइश भी दी थी, लेकिन वह ज्यादा ही घबरा गया था। सुबह पता चला कि उसने आत्महत्या कर ली है।

सोमवार, 21 फ़रवरी 2022

ग्रीन इकॉनमी को बढावा देने बुनियादी ढांचा और कौशल विकास पर काम किया जाएगा★ संयुक्त राष्ट्र की पांच एजेंसियों का समूह पेज करेगा सागर में काम

ग्रीन इकॉनमी को बढावा देने बुनियादी ढांचा और कौशल विकास पर काम किया जाएगा
★  संयुक्त राष्ट्र की पांच एजेंसियों का समूह पेज करेगा सागर में काम
सागर। 21 फरवरी 2022
संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम, अंतरराष्ट्रीय श्रम संगठन, संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम, संयुक्त राष्ट्र औद्योगिक विकास संगठन और संयुक्त राष्ट्र संस्थान प्रशिक्षण और अनुसंधान इन पांच एजेंसियों का समूह पार्टनरशिप फॉर एक्शन ऑन ग्रीन इकॉनमी (पेज) शहर में ग्रीन इकॉनमी को बढावा देने के लिए बुनियादी ढांचा और कौशल विकास पर काम करेगा। सोमवार को पेज के प्रतिनिधियों ने सागर स्मार्ट सिटी में सीईओ श्री राहुल सिंह राजपूत की अध्यक्षता में इस संबंध में आवश्यक बैठक आयोजित की।
बैठक में पेज के प्रतिनिधियों ने बताया कि यह संगठन गरीबी उन्मूलन, रोजगार और सामाजिक समानता बढाने, आजीविका और पर्यावरण प्रबंधन को मजबूत करने और विकास को बनाए रखने के लिए काम करता है। उन्होंने बताया कि मध्यप्रदेश के सागर, सतना और उज्जैन में इसके एजेंडा पर काम किया जाना है। इसके तहत संस्थानों को प्रशिक्षण दिया जाएगा, जिससे कौशल विकास हो सके और ग्रीन इकॉनमी को बढावा देने के लिए बुनियादी ढांचा तैयार हो सके। 

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें

वेबसाईट

इस दौरान इंजीनियर प्रकाश चौबे, रेमकी, एमपीईबी और टाउन एंड कंट्री प्लानिंग के अधिकारी, स्मार्ट सिटी के इंजीनियर्स आदि मौजूद थे।

कुण्डलपुर और बांदकपुर को पवित्र क्षेत्र बनाया जायेगा- मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ★वमुख्यमंत्री ने आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज से आर्शीवाद लिया



कुण्डलपुर और बांदकपुर को पवित्र क्षेत्र बनाया जायेगा- मुख्यमंत्री शिवराज सिंह 
★वमुख्यमंत्री ने आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज से आर्शीवाद लिया


दमोह । मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान धर्म पत्नी श्रीमती साधना सिंह के साथ आज कुण्डलपुर पंचकल्याणक महा-महोत्सव में बड़े बाबा के दर्शन करने पहुँचे। उन्होंने बड़े बाबा के दर्शन, पूजन -अर्चन के
 पश्चात विद्यासागर जी महाराज का आर्शीवाद लिया। लोक निर्माण मंत्री श्री गोपाल भार्गव, सूक्ष्म लघु और मध्यम उद्योग मंत्री श्री ओम प्रकाश सखलेचा, पूर्व मंत्री श्री जयंत मलैया ने भी विद्यासागर जी महाराज का आर्शीवाद लिया। मुख्यमंत्री एवं उनकी धर्म पत्नी पंचकल्याणक महोत्सव में इंद्र एवं इंद्राणी के रूप में उपस्थित हुए। आयोजित कार्यक्रम में श्रद्धालुओं को संबोधित करते हुये मुख्यमंत्री  ने कहा कि कुण्डलपुर और बांदकपुर को पवित्र क्षेत्र बनाया जायेगा । यहाँ मांस -मदिरा जैसी वस्तुएं प्रतिबंधित रहेंगी।


मुख्यमंत्री  ने कहा कि आचार्य श्री ने भटकी हुई मानवता को राह दिखाने का काम किया है। उन्होंने शिक्षा, स्वास्थ्य, गौ-सेवा जैसे क्षेत्र में प्रेरणादायक कार्य किये है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि  आने वाली पीढ़िया इस बात का विश्वास नहीं कर पायेंगी कि संत विद्यासागर जी महाराज जैसे महान संत व्यक्ति भी इस धरती पर रहे हैं।   श्री चौहान ने बताया कि उन्हें जब भी कभी कोई समस्या सामने आती है तो आचार्य श्री के स्मरण से उन्हें उसका समाधान मिल जाता है। वे यहां मुख्यमंत्री के रूप में नहीं बल्कि एक शिष्य के रूप मे आये है। यहाँ पर स्वर्ग जैसा दृश्य है। आचार्य श्री के दर्शन से ऐसा संतोष और आनंद मिलता है ,जिसका वर्णन नहीं किया जा सकता है।


मुख्यमंत्री  ने कहा कि कुण्डलपुर में बना बड़े बाबा का मंदिर अद्भुत है ।यह ऐसा मंदिर है, जिसे देख कर आँखे चकाचौंध हो जाती है। इस पवित्र धरती पर पूरी दुनिया से लोग आकर बड़े बाबा के दर्शन कर लाभ लेंगे। उन्होंने कहा कि यहां की पहाड़ियो पर वृक्षारोपण कर  हरा- भरा बनाया जायेगा। उन्होंने  अधिकारियो को इस संबंध में योजना तैयार करने के निर्देश भी दिये।   

यह भी पढ़े..




तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें

वेबसाईट


       मुख्यमंत्री ने कहा कि जैसा विद्यासागर महाराज जी ने हमेशा कहा है कि शिक्षा मातृ -भाषा में होना चाहिए। राज्य सरकार इसी साल से एक मेडिकल और इंजीनियरिंग कॉलेज में हिन्दी माध्यम से शिक्षा देगी इंजीनियरिंग कॉलेज में हिन्दी माध्यम से शिक्षा देगी। शिक्षा के साथ ही स्वरोजगार पर बल दिया जायेगा। कक्षा छठवी से व्यवसायिक शिक्षा भी दी जायेगी। मुख्यमंत्री  ने कहा कि गौ-सेवा के कार्य में समाज को भी आगे आना होगा। उन्होंने लोगो से अनुरोध किया कि बेटा और बेटी को एक बराबर माने, किसी तरह का भेदभाव न करे। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में लाड़ली लक्ष्मी योजना से स्थिति में बदलाव आया है । पहले वर्ष 2012 में एक हजार बेटों पर 912 बेटियाँ जन्म लेती थी, अब एक हजार बेटों पर 956 बेटियां जन्म ले रही है।  कुण्डलपुर की पहाड़ियो को हरा- भरा करने के  लिये  वृक्षारोपण की योजना बनाई जायेगी।

 मुख्यमंत्री ने लोगो से पर्यावरण सुधार के लिये वृक्षारोपण का भी अनुरोध किया।
 इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने आचार्य श्री द्वारा लिखित प्रसिद्ध पुस्तक मूकमाटी के जर्मन अनुवाद का विमोचन भी किया। कुण्डलपुर पहॅुचने पर महामहोत्सव समिति के सदस्यों ने मुख्यमंत्री और अन्य मंत्रीगण का सम्मान किया और स्मृति- चिन्ह भेंट किये।

 इस अवसर पर पूर्व मंत्री डॉ रामकृष्ण कुसमरिया, वेयरहाउस एवं लॉजिस्टिक कॉर्पोरेशन के अध्यक्ष राहुल सिंह लोधी, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री शिवचरण पटेल, हटा विधायक श्री पीएल तंतुवाय, जबेरा विधायक श्री धर्मेंद्र लोधी, भाजपा जिला अध्यक्ष श्री प्रीतम सिंह लोधी, ब्रह्मचारी श्री विनय भैया, सांसद प्रतिनिधि श्री नरेन्द्र बजाज, सर्वश्री देवेन्द्र सेठ, संतोष सिंघई, संदेश जैन, डाँ सवांत सिंघई, सुधीर सिंघई, नवीन निराला, अजीत मोदी, महेन्द्र जैन सहित अन्य जनप्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री श्री चौहान का आत्मीय स्वागत किया।
इस अवसर पर कमिश्नर श्री मुकेश शुक्ला, आईजी श्री अनुराग, डीआईजी श्री विवेकराज सिंह, कलेक्टर श्री एस. कृष्ण चैतन्य, पुलिस अधीक्षक श्री डीआर तेनीवार, सीईओ जिला पंचायत अजय श्रीवास्तव और बड़ी संख्या में देश के कोने-कोने से आये श्रद्धालु मौजूद थे।     

आने वाले समय मे स्नातक स्तर पर समस्त विषयों का अध्ययन होगा प्रारंभ : उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव★नरयावली महाविद्यालय का भूमिपूजन कार्यक्रम हुआ , 4 करोड़ 34 लाख की लागत से बनेगा

आने वाले समय मे स्नातक स्तर पर समस्त विषयों का अध्ययन होगा प्रारंभ : उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव

★नरयावली महाविद्यालय का भूमिपूजन कार्यक्रम  हुआ , 4 करोड़ 34 लाख की लागत से बनेगा

सागर 21 फरवरी 2022 । नई शिक्षा नीति से रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे। आने वाले सत्र से महाविद्यालय में समस्त विषयों का अध्ययन भी प्रारंभ किया जाएगा। उक्त विचार उच्च शिक्षा मंत्री डॉ मोहन यादव ने नरयावली विधानसभा क्षेत्र के नरयावली  में 4 करोड़ 34 लाख 78 हजार की लागत से बनने वाले भवन के भूमिपूजन के अवसर पर मुख्य  व्यक्त किए। इस अवसर पर सांसद श्री राजबहादुर सिंह, विधायक श्री प्रदीप लारिया, पृथ्वीपुर विधायक श्री शिशुपाल सिंह, श्रीमती तृप्ति बाबू सिंह, श्रीमती कमला यादव, श्री गुलाब सिंह राजपूत, श्री प्रभु दयाल पटेल, उच्च शिक्षा के अतिरिक्त संचालक श्री जीएस रोहित, डॉ अमर जैन, उमाकांत स्वर्णकार, सर्वेश्वर उपाध्याय, डॉ भावना यादव, नरयावली उत्कृष्ट विद्यालय के प्राचार्य महेंद्र प्रताप तिवारी, श्री संतोष गुरु सहित जनप्रतिनिधि, गणमान्य नागरिक एवं छात्र-छात्राएं मौजूद थे।

पढ़े...

 ★


उच्च शिक्षा मंत्री श्री यादव ने कहा कि नई शिक्षा नीति 2020 सेस्वरोजगार के साथ-साथ रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे एवं आने वाले समय में समस्त महाविद्यालयों में स्नातक स्तर पर अध्ययन प्रारंभ किए जा सकेंगे। उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति के तहत विज्ञान विषय का छात्र कला संकाय एवं कला संकाय का छात्र विज्ञान संकाय की परीक्षा दे सकेगा । उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति से सारे विकास के रास्ते छात्र ,-छात्राओं के लिए खुलेंगे। इसके लिए मैं प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी एवं मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान का आभार व्यक्त करता हूँ । मंत्री डॉ. यादव ने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार सभी महाविद्यालयों के भवन बनाने का कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार उच्च शिक्षा एवं स्कूल शिक्षा के लिए अच्छे से अच्छे प्रयास कर रही है।


सांसद श्री राजबहादुर सिंह ने कहा कि शिक्षा को कभी खरीदा नहीं जा सकता। उन्होंने कहा कि पढ़ाई का कोई विकल्प नहीं है,आप सभी  पढ़ाई करें। बाकी का कार्य शासन स्तर पर किया जा रहा है । उन्होंने कहा कि नरयावली के संवेदनशील विधायक श्री प्रदीप लारिया द्वारा जो विकास कार्य किए जा रहे हैं वे सागर संभाग के लिए  उल्लेखनीय हैं। उन्होंने कहा कि विधायक श्री लारिया के प्रयासों से ही आज नरयावली विधानसभा विकासशील विधानसभा में शामिल हो रहा है ।
विधायक श्री प्रदीप लारिया ने कहा कि डॉ हरिसिंह गौर ने अपनी कमाई से विश्वविद्यालय की स्थापना कर न केवल सागर बल्कि पूरे मध्य प्रदेश का  देश में नाम स्थापित किया है। उन्होंने कहा कि डॉ हरिसिंह गौर विश्वविद्यालय के केंद्रीय विश्वविद्यालय बनने से बुंदेलखंड के छात्र -छात्राओं के लिए प्रवेश में परेशानियों का सामना करना पड़ता है । उन्होंने कहा कि डॉ. हरिसिंह गौर विश्वविद्यालय में बुंदेलखंड के छात्र- छात्राओं के लिए आरक्षण मिलना चाहिए। उन्होंने कहा कि सागर में केंद्रीय विश्वविद्यालय के बाद अब सागर में एक राज्य स्तरीय विश्वविद्यालय की अत्यंत आवश्यकता है ।इसके लिए समुचित स्तर पर प्रयास किए जा रहे हैं ।श्री लारिया
ने नरयावली एवं मकरोनिया स्नातक कॉलेज को स्नातकोत्तर कॉलेज में परिवर्तित करने की आवश्यकता भी जताई । उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति के तहत समस्त कॉलेजों में तो रोजगार विषय प्रारंभ किए जाएं जिससे छात्र-छात्राओं को पढ़ाई के तत्काल पश्चात रोजगार प्राप्त हो सके । कार्यक्रम में एक करोड़ 79 लाख 69 हजार रुपए की लागत से तैयार की जा रही नल-जल योजना का मंत्री डॉ. मोहन यादव द्वारा भूमिपूजन किया गया ।

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें

वेबसाईट


कार्यक्रम में मंत्री श्री मोहन यादव द्वारा मंत्र उच्चारण के साथ भूमिपूजन किया गया, तत्पश्चात कन्या पूजन हुआ । कार्यक्रम में स्वागत भाषण एवं कार्यक्रम का प्रतिवेदन  प्रभारी प्राचार्य डॉ अखिलेश सिंह द्वारा प्रस्तुत किया गया। अतिरिक्त संचालक उच्च शिक्षा डॉ जी एस रोहित द्वारा समस्त अतिथियों का पुष्प गुच्छ से स्वागत किया गया। कार्यक्रम का संचालन श्री राजकुमार उदैनिया एवं डॉक्टर अमर जैन ने किया। आभार डॉक्टर भावना यादव ने माना।

मातृभाषा से ही राष्ट्र की समृद्धि संभव है : प्रो. वृषभ प्रसाद जैन★ अंतर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवस पर आयोजन

मातृभाषा से ही राष्ट्र की समृद्धि संभव है : प्रो. वृषभ प्रसाद जैन

★ अंतर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवस पर आयोजन



सागर. 21 फरवरी. डॉ. हरीसिंह गौर विश्वविद्यालय, सागर के जवाहरलाल नेहरू ग्रंथालय सभागार में अंतर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवस के अवसर पर ‘हमारी मातृभाषाएं’ विषय पर व्याख्यान का आयोजन किया गया. प्रख्यात भाषाविद और चिन्तक प्रो. वृषभ प्रसाद जैन मुख्य वक्तव्य देते हुए कहा कि भाषा हमें पहचान देती है और पहचान बनाती है. व्यक्तित्व निर्माण में मातृभाषा भाषा एक महत्त्वपूर्ण कारक है. उन्होंने वर्तमान समय में मातृभाषा की स्थिति को देखते हुए चिंता व्यक्त की और कहा कि   आज़ादी के बाद के वर्षों में यह पहचान धूमिल होती जा रही है और भाषायी परतंत्रता बढ़ी है.  केवल हिन्दी ही नहीं बल्कि तमिल, मलयालम, तेलगू जैसी तमाम भाषाओं की स्थिति एक जैसी है. भारतीय भाषाओं का व्याकरणकोश अंग्रेजी भाषा से प्रभावित है. हम अभी तक भारतीय भाषाओं के व्याकरण और शब्दकोष निर्माण में पीछे हैं. आज नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति में  मातृभाषा में शिक्षा देने की बात की जा रही है. भाषायी स्वतन्त्रता के साथ आर्थिक स्वतन्त्रता भी जुडी हुई है. इस बात को उन्होंने आंकड़ों और उदाहरणों के माध्यम से समझाया. उन्होंने कहा कि भारत में सबसे समृद्ध शहर मुंबई है. इसका एकमात्र कारण वहां की मातृभाषा है. भारतीय भाषा के फॉण्ट निर्माण का काम आज विदेशी कम्पनियां कर रही हैं. भाषायी रूप से समृद्ध होने के बावजूद हम भारतीय भाषाओं के फॉण्ट निर्माण में भी पीछे हैं. भाषाओं की समृद्धि से ही राष्ट्र की समृद्धि का सपना देखा जा सकता है. उन्होंने कई उदाहरणों के जरिये मातृभाषा की पहचान करने के तरीके भी बताये. उन्होंने कहा कि भाषा के बिना मनुष्यता अधूरी है.

यह भी पढ़े..

साप्ताहिक राशिफल : 21 फरवरी से 27 फरवरी 2022 तक*★पण्डित अनिल पांडेय -

*

SAGAR : रेलवे फाटक बंद होते समय फंस गई कार और बाइक ..सामने से ट्रेन आ गयी, बड़ा हादसा टला★ खैरियत रही कि दूसरे ट्रेक से कोई ट्रेन नही निकली , वरना हादसा बड़ा होता #देखे वीडियो -

*

राष्ट्रीय अस्मिता का द्योतक: अन्तर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवस,★प्रो. नीलिमा गुप्ता ,कुलपति ,डॉ गौर विवि सागर का विशेष आलेख


सांस्कृतिक मूल्य, परंपरा एवं इतिहास को एक सूत्र में बांधती है भाषा- प्रो. नीलिमा गुप्ता 

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कुलपति प्रो. नीलिमा ने कहा कि मनुष्य अपने जन्म से ही भाषा का प्रयोग शुरू कर देता है. पैदा होने के बाद सबसे पहला शब्द वह ‘माँ’ सीखता है. इसलिए इस शब्द से उसको अलग नहीं किया जा सकता. उन्होंने कहा कि यूनेस्को ने मातृभाषा दिवस मनाने का प्रावधान किया. भारत 19500 भाषाओं से समृद्ध देश है जिसमें 121 भाषाएँ केवल दस हज़ार लोगों तक सीमित है, जिनके द्वारा वे बोली जाती हैं. इस तरह 22 प्रमुख भाषाएँ जो भारत के लोग बोलते हैं उन्हें संविधान में शामिल किया गया. मातृभाषा की महत्ता बताते हुए उन्होंने कहा कि नोबेल पुरस्कार से ज़्यादातर उन्हीं लोगों को सम्मानित किया गया है जिन्होंने अपना कार्य मातृभाषा में किया है. सांस्कृतिक मूल्य, परंपरा एवं इतिहास इन तीनों को भाषा ही बाँध कर रखती है. 

उन्होंने आकड़ों के माध्यम से विश्व में हिंदी भाषा की स्थिति पर बात रखते हुए कहा कि आज दो तिहाई आबादी हिंदी समाचार पत्र पढ़ रही है व विश्व भर के सिनेमाघरों में हिंदी सिनेमा प्रदर्शित होती है. कोविडकाल के दौरान जब सभी चीज़ों का डिजिटलीकरण हुआ उसके साथ हिंदी भाषा की भी तकनीक में सहभागिता बढ़ी है. गूगल के आकड़ों के अनुसार वर्ष 2024 तक हिंदी में मोबाइल उपयोगकर्ताओं की संख्या अंग्रेज़ी से ज्यादा रहेगी. अपने उद्बोधन के अंत में उन्होंने हिंदी भाषा की विविधता को सरलता से समझाया और सभी को मातृभाषा के संवर्धन एवं संरक्षण के लिए संकल्पित होने का संदेश दिया.

भाषा विज्ञान और हिन्दी विभाग की अध्यक्ष प्रो. चन्दा बेन ने स्वागत वक्तव्य दिया और कहा कि स्वतंत्रता संग्राम के पश्चात एकीकरण के कारण भाषा के रूप में भारतेंदु युग के सभी भाषाविदों का अहम योगदान रहा है. उन्होंने त्रिभाषा सूत्र के माध्यम से बात रखते हुए कहा कि प्राथमिक शिक्षा हमारी मातृभाषा में होनी चाहिए. नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति ने भाषा संबंधों को अधिक प्रगाढ़ बनाने का प्रावधान किया है. छात्र कल्याण अधिष्ठाता प्रो. अम्बिकादत्त शर्मा ने विषय प्रवर्तन किया और कहा कि इस वर्ष मातृभाषा दिवस आजादी के अमृत महोत्सव वर्ष में आया है. आज़ादी के तीन सोपान होते हैं जिन्हें पार करके आजादी पाई जा सकती है. पहला- राजनीतिक परतंत्रता से मुक्ति, दूसरा-वैचारिक स्वराज और तीसरा-भाषायी स्वराज की प्राप्ति. भाषायी स्वराज मातृभाषा को महत्त्व देकर ही प्राप्त किया जा सकता है. उन्होंने प्रसिद्ध कवि रवीन्द्रनाथ टैगोर और बलवंत गार्गी के बीच वार्तालाप का उद्धरण देते हुए मातृभाषा के महत्त्व के रेखांकित किया.

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें

वेबसाईट

व्याख्यान के उपरांत मातृभाषा दिवस के उपलक्ष्य में विश्वविद्यालय स्तर पर आयोजित ‘आत्मनिर्भरता में मातृभाषा का योगदान’ विषय पर निबंध प्रतियोगिता एवं ‘बहुभाषिकता भारत के लिए वरदान है’ विषय पर वाद-विवाद प्रतियोगिता में विजयी प्रतिभागियों को मुख्य समारोह में पुरस्कृत किया गया. कार्यक्रम का संचालन हिंदी विभाग के प्राध्यापक डॉ राजेंद्र यादव ने किया एवं आभार डॉ आशुतोष ने ज्ञापित किया. आयोजन में प्रो. बीआई. गुरु, प्रो. नवीन कांगो, प्रो. निवेदिता मैत्रा, प्रो. उमेश पाटिल, डॉ राकेश सोनी, डॉ अलीम खान, डॉ हिमांशु, विवेक विसारिया, डॉ  शशि सिंह, डॉ. अरविन्द, डॉ मुकेश साहू सहित कई शिक्षक, शोधार्थी एवं विद्यार्थी उपस्थित थे.

 

 

Archive

Adsense