शनिवार, 5 मार्च 2022

नाबालिग का शोषण करने वाले आरोपी को 10 वर्ष का सश्रम कारावास

नाबालिग का शोषण करने वाले आरोपी को 10 वर्ष का सश्रम कारावास


सागर। न्यायालय-श्रीमती दीपाली शर्मा विशेष न्यायाधीश पाॅक्सो एक्ट सागर के न्यायालय ने आरोपी सुनील साहू पिता दामोदर साहू उम्र 30 साल निवासी अंतर्गत थाना मोतीनगर सागर को पाॅक्सो एक्ट की धारा 6 के तहत 10 वर्ष के सश्रम कारावास एवं एक हजार रूपये के अर्थदण्ड से तथा एससी/एसटी एक्ट की धारा 3(2)(अ) के तहत 1 वर्ष के सश्रम कारावास एवं पाॅंच सौ रूपये के अर्थदण्ड से दण्डित करने का आदेश दिया। राज्य शासन की ओर से विशेष लोक अभियोजक/सहायक जिला अभियोजन अधिकारी रिपा जैन ने शासन का पक्ष रखा।
घटना का संक्षिप्त विवरण इस प्रकार है कि अभियोक्त्री के पिता ने थाना मोतीनगर में पीड़िता के गुम होने के संबंध में सूचना दी कि अभियोक्त्री घर से स्कूल का कहकर निकली थी लौटकर नहीं आई। उसे शक है कि कोई अज्ञात व्यक्ति उसकी लड़की को बहला फुसलाकर अपने साथ भगा ले गया। जिसकी तलाश की पर नहीं मिली इसलिए रिपोर्ट की गई। उक्त रिपोर्ट के आधार पर थाना मोतीनगर में अज्ञात व्यक्ति के विरूद्ध अपराध पंजीबद्ध किया गया। पीड़िता के दस्तयाब होने पर दस्तयाबी पंचनामा तैयार किया गया। पीड़िता द्वारा कथनों में सुनील साहू द्वारा उससे शादी करने के बारे में कहने पर उसके साथ घर से भाग जाने, विभिन्न स्थानों पर जाने, शादी करने व पति पत्नि जैसे संबंध होना बताए जाने के आधार पर विवेचना प्रारंभ की गई। विवेचना के दौरान नक्शा मौका तैयार किया गया। पीड़िता का चिकित्सीय परीक्षण कराया गया। विवेचना पूर्ण कर अभियोग पत्र माननीय न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया गया। विचारण के दौरान अभियोजन ने अपना मामला संदेह से परे प्रमाणित किया। जिस पर से न्यायालय ने आरोपी सुनील साहू को दोषी पाते हुए पाॅक्सो एक्ट की धारा 6 के तहत 10 वर्ष के सश्रम कारावास एवं एक हजार रूपये के अर्थदण्ड से तथा एससी/एसटी एक्ट की धारा 3(2)(अ) के तहत 1 वर्ष के सश्रम कारावास एवं पाॅंच सौ रूपये के अर्थदण्ड से दण्डित करने का आदेश दिया।


महंगाई व बेरोजगारी के साथ-साथ सागर में बढ़ते अपराधों को घर-घर चलो अभियान का मुख्य हिस्सा बनाएं कांग्रेसजन : वीरेंद्र दवे★ घर-घर चलो अभियान तथा सदस्यता अभियान की समीक्षा की

महंगाई व बेरोजगारी के साथ-साथ सागर में बढ़ते अपराधों को घर-घर चलो अभियान का मुख्य हिस्सा बनाएं कांग्रेसजन : वीरेंद्र दवे
★ घर-घर चलो अभियान तथा सदस्यता अभियान की समीक्षा की

सागर।  मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी ओर से सागर जिले के प्रभारी एवं दमोह विधायक श्री अजय टंडन के निर्देश पर सह प्रभारी वीरेंद्र दवे ने कांग्रेस कार्यालय राजीव गांधी भवन में पार्टी के प्रमुख पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं से मुलाकात की। जिला कांग्रेस अध्यक्ष रेखा चौधरी की उपस्थिति में उन्होंने घर-घर चलो अभियान तथा पार्टी के सदस्यता अभियान की समीक्षा भी की।  
घर-घर चलो तथा सदस्यता अभियान के सागर जिले के सह प्रभारी वीरेंद्र दवे ने बैठक में उपस्थित कांग्रेसजनों से कहा कि देश में बढ़ती महंगाई और बेरोजगारी के साथ-साथ सागर में बढ़ते अपराधों को घर-घर चलो अभियान का मुख्य हिस्सा बनाएं। आम जनता को नगर निगम स्मार्ट सिटी और सरकार से हो रही परेशानियों को उजागर कर उनके निराकरण का प्रयास करें और उन्हें सदस्यता अभियान के माध्यम से कांग्रेस पार्टी से जोड़ने का आव्हान उपस्थित पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं से किया। 
                     जिला कांग्रेस अध्यक्ष रेखा चौधरी ने बैठक में बताया कि सागर के लगभग सभी ब्लाकों में घर चलो और सदस्यता अभियान एक फरवरी से निरंतर रूप से चलाया जा रहा है और अधिकांश वार्डों में कांग्रेसजन लोगों के घरों तक पहुंच चुके हैं। यह अभियान आगामी दिनों में निरंतर रूप से आगे भी चलता रहेगा। पीसीसी के निर्देश पर मंडलम और सेक्टर के नए गठन के प्रस्ताव भी भोपाल भेज दिए गए हैं।
इस अवसर पर प्रवक्ता संदीप सबलोक ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष शरद पुरोहित ओंकार साहू सिंटू कटारे लीलाधर सूर्यवंशी प्रदीप जैन कुल्फी रितेश पांडे आशीष ज्योतिषी ब्रजेंद्र नगरिया महेश अहिरवार सुनील पावा हेमराज रजक हरिश्चंद्र सोनवार आदि प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

शिवाजीनगर और मधुकर शाह वार्ड में चखेगा अभियान 6 मार्च को
कांग्रेस द्वारा चलाए जा रहे घर चलो अभियान के अंतर्गत शहर जिला कांग्रेस कमेटी द्वारा रविवार 06 मार्च को दोपहर 3.30 बजे से ब्लॉक क्रमांक 1 सिविल लाइन के शिवाजी नगर व मधुकर शाह वार्ड में घर घर जाकर अभियान का संचालन किया जाएगा। जिला कांग्रेस अध्यक्ष रेखा चौधरी के नेतृत्व तथा प्रभारी वीरेंद्र दवे की विशेष उपस्थिति में उक्त अभियान ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष शरद पुरोहित द्वारा आयोजित किया जा रहा है। शुरुआत वार्ड के रमझिरिया स्थिति सहोद्रा राय पॉलिटेक्निक कॉलेज के सामने से दोपहर 3.30 बजे होगी। 

SAGAR: मिर्ची पाउडर में बुरादा की मिलावट, 650 किलो मिर्ची पाउडर जब्त, फैक्ट्री सील

 SAGAR: मिर्ची पाउडर में बुरादा की मिलावट, 650 किलो मिर्ची पाउडर जब्त, फैक्ट्री सील

सागर । सीएम शिवराज सिंह चौहान की महत्वकांक्षी योजना मिलावट से मुक्ति अभियान के तहत कलेक्टर श्री दीपक आर्य के निर्देश पर जिला सुरक्षा खाद्य अधिकारी श्री अमरीश दुबे द्वारा लगातार कार्रवाई की जा रही है। इसी परिपेक्ष्य में शनिवार को गल्ला मंडी स्थित तुलसी राम साहू मसाला फैक्ट्री पर कार्रवाई की गई। जहां बुरादा में लाल पाउडर मिलाकर मिर्ची पाउडर बनाया जा रहा था.।


*

जिला सुरक्षा खाद्य अधिकारी श्री दुबे द्वारा कार्रवाई करते हुए लगभग 6 क्विंटल  50 किलो मिर्ची पाउडर को जप्त किया गया एवं फैक्ट्री को सील किया गया। श्री दुबे ने बताया कि जप्त मिर्ची पाउडर की कीमत लगभग 70 हजार रूपये के करीब है। श्री दुबे ने बताया कि कलेक्टर श्री दीपक आर्य के निर्देश पर लगातार यह कार्रवाई जारी रहेगी।

साहित्याचार्य डॉ पन्नालाल जी के शब्दों का अनुशरण करें: डॉ सुखदेव वाजपेई

साहित्याचार्य डॉ पन्नालाल जी के शब्दों का अनुशरण करें: डॉ सुखदेव वाजपेई


सागर 5 मार्च. साहित्याचार्य पंडित डॉ. पन्नालाल जैन की 111 वीं जन्म जयंती के उपलक्ष्य में जैन भ्रात संघ द्वारा कटरा नमक मंडी स्थित कीर्ति स्तंभ के समक्ष प्रतिमा पर आयोजित कार्यक्रम में नगरवासियों ने श्रद्धा सुमन अर्पण किए.
कार्यक्रम में जैन भ्रात संघ ट्रस्ट के अध्यक्ष अजित मलैया, संस्कृत के विद्वान डॉ, सुखदेव वाजपेई, कैलाश सिंघई, पूर्व पार्षद राजेश केशरवानी, जेपीएस के प्राचार्य रजनीश जैन मंचासीन रहे. कार्यक्रम का संचालन अशोक पिड़रूआ ने किया. आभार वरिष्ठ शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ राजेश जैन ने व्यक्त किया. कार्यक्रम के मुख्य वक्ता डॉ वाजपेई ने पंडित जी के व्यक्तिव एवं
कृतित्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि अपने जीवन दर्शन को बदलने के लिए पंडित जी की कृतियों को पढक़र लगा कि कुछ लिखना चाहिए. उनके कुछ शब्दों का अनुशरण हर किसी को करना चाहिए. ललक, जिज्ञासा और इच्छा के कारण ही उन पर लिखी जा रही पुस्तक अंतिम चरण में हैं. उन्होने कहा कि उस समय व्यक्तिव ही प्रमाण पत्र होता था. कार्यक्रम को जेपीएस के प्राचार्य श्री जैन ने भी संबोधित किया.
 
कार्यक्रम में डॉ केके सराफ, डॉ व्हीसी जैन, डॉ अरूण सराफ, डॉ महेंद्र जैन, डॉ ऋषभ जैन, मुकेश सिंघई, एमएल जैन, डीसी जैन, मुकेश जैन ढाना,डॉ अरूण सिंघई, विनीत ताले वाले, महेश जैन, अशोक जैन, राकेश जैन, संतोष रांधेलिया, अरविंद जैन, अरूण गोदरे, सुभाष जैन, अशोक वीर, राकेश जैन चच्चा जी, भागचंद जैन, राजकुमार पड़ेले, अरविंद जैन, विनीत जैन, अमित चौधरी आदि साहित्य बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे



तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें

वेबसाईट




साप्ताहिक राशिफल : 7 मार्च से 13 मार्च तक★पंडित अनिल पांडेय

साप्ताहिक राशिफल : 7 मार्च से 13 मार्च तक
★पंडित अनिल पांडेय

जय श्री राम। जब मिलना हो कुछ भी तकदीर से बहाने मिल ही जाते हैं ।आपको जो कुछ भी मिलेगा वह आपको लगेगा कि आपके  परिश्रम से मिला है परंतु उसमें बहुत सारा हिस्सा तकदीर का भी होता है। और वह किसी न किसी बहाने ही मिलता है। आप आपके सप्ताहिक भाग्यफल को बताने के लिए मैं प.अनिल पांडे आपके सामने उपस्थित हूं। आप सभी को मेरा नमस्कार।  अब हम राशि वार आपके साप्ताहिक भाग्यफल की चर्चा करते हैं ।

मेष राशि

इस सप्ताह आपके लिए 7 और 13 मार्च के दिन उत्तम है । आपको गलत और सही दोनों रास्तों से धन की प्राप्ति होगी । कार्यालय में आपको सम्मान मिलेगा । आपको चाहिए कि आप इस सप्ताह  शनिवार को दक्षिण मुखी हनुमान जी के मंदिर में जाकर तीन बार हनुमान चालीसा का जाप करें । सप्ताह का शुभ दिन सोम वार है।



वृष राशि
आपके अपने स्वास्थ्य पर ध्यान देना चाहिए । कार्यालय में आपको सावधान रहकर कार्य करना चाहिए । आपका भाग्य आपके साथ है और आपकी बहुत मदद करेगा । 8 ,9 और 10 मार्च आपके लिए शुभ है । 7 मार्च को आपको सावधान रहना चाहिए । इस सप्ताह आपको गौ माता को घर की बनी पहली रोटी देना चाहिए ।सप्ताह का शुभ दिन बुधवार है।

मिथुन राशि
इस सप्ताह व्यापार में आपको भाग्य की थोड़ी बहुत मदद मिलेगी । आपको चोट लग सकती है । शत्रुओं से आपको उलझना पड़ सकता है । 11 और 12 मार्च आपके लिए लाभकारी हैं । 8 ,9 और 10 मार्च को आपको सचेत रहकर कार्य करना चाहिए । इस सप्ताह आपको चाहिए कि आप मंगलवार का व्रत करें और मंगलवार को हनुमान जी के मंदिर में जाकर तीन बार हनुमान चालीसा का जाप करें । सप्ताह का शुभ दिन शुक्रवार है।

कर्क राशि 
इस सप्ताह आपके लिए  7 मार्च उत्तम और 13 मार्च को दोपहर से अति उत्तम है । आपको 11 और 12 मार्च को संभल कर कार्य करना चाहिए। इस सप्ताह आपको आग से बचना चाहिए । शादी या प्रेम संबंध के उत्तम संयोग बनेंगे । आपको चाहिए कि आप इस सप्ताह भगवान सूर्य को तांबे के पात्र में जल और अक्षत लेकर प्रातः काल सूर्य के मंत्र के साथ जल अर्पण करें। ता का शुभ दिन सोमवार है।


सिंह राशि
विवाह के प्रस्ताव आ सकते हैं । प्रेम संबंध भी बन सकते हैं । शत्रु समाप्त हो जाएंगे । कार्यालय में कलह हो सकती है । 8 ,9 और 10  मार्च लाभकारी हैं ।13 मार्च को आपको सचेत रह कर कार्य करना चाहिए । आपको इस सप्ताह काले कुत्ते को रोटी खिलाना चाहिए। सप्ताह का शुभ दिन बृहस्पतिवार है।

कन्या राशि
11 और 12 मार्च कोई भी कार्य करने के लिए आपके लिए उचित तिथि है । 7 मार्च को आपको संभल कर कार्य करने की आवश्यकता है । संतान से आपको सुख प्राप्त होगा । इस सप्ताह आपको आदित्य हृदय स्त्रोत का पाठ प्रतिदिन करना चाहिए । सप्ताह का शुभ दिन शुक्रवार है।

तुला राशि
7 मार्च और 13 मार्च किसी भी कार्य करने के लिए उपयुक्त तिथि है ।  आठ ,नौ और 10 मार्च को आपको सावधानीपूर्वक कार्य करना चाहिए ।आपके सुख में वृद्धि होगी । इस सप्ताह आपके संतान को कष्ट हो सकता है।  । सुन्तान के कष्ट को कम करने के लिए आपको आदित्य हृदय स्त्रोत का पाठ करना चाहिए  । इस सप्ताह शुक्रवार का दिन आपके लिए शुभ है।

वृश्चिक राशि
आपके पराक्रम में वृद्धि होगी ।आपका क्रोध बढ़ेगा । आपके सुख में कमी आएगी । 8 ,9 और 10 मार्च किसी भी काम को करने के लिए उपयुक्त हैं । सात 11 और 12 मार्च को आपको कार्यों में कम सफलताएं  मिलेगी । जीवन साथी के स्वास्थ्य में वृद्धि के लिए काले कुत्ते को रोटी खिलाएं । सप्ताह का शुभ दिन मंगलवार है।

धनु राशि
इस सप्ताह आपको धन की अच्छी प्राप्ति होगी शत्रु समाप्त होंगे संतान से सुख प्राप्त होगा 8 9, 10 और  13 मार्च को कार्यों में सफलता में कमी आएगी । 11 और 12 मार्च को आपको कार्यों में सफलता मिलेगी । आपको चाहिए कि आप गुरुवार का व्रत करें और पूरे सप्ताह प्रतिदिन राम रक्षा स्त्रोत का जाप करें । सप्ताह का शुभ दिन सोमवार है ।


तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें

वेबसाईट


मकर राशि
इस सप्ताह आपका स्वास्थ्य उत्तम रहेगा । शादी और प्रेम संबंध हेतु बात आगे बढ़ेगी । थोड़े बहुत धन की प्राप्ति होगी । 7 और 13 मार्च उत्तम है । 11 और 12 मार्च को आपको कम सफलताएं मिलेंगी । इस सप्ताह आपको घर की बनी पहली रोटी गौ माता को खिलाना चाहिए । सप्ताह का शुभ दिन बुधवार है।

कुंभ राशि

कचहरी के कार्यों में सफलता मिलेगी । आपका पराक्रम बढ़ेगा । धन का आना सामान्य ही रहेगा। व्यापार में प्रगति होगी। 8 ,9 और 10 तारीख शुभ है । 13 मार्च को संभल कर कार्य करें। शनिवार को पीपल के वृक्ष के नीचे दीया जलाकर सात बार परिक्रमा करें । सप्ताह का शुभ दिन बुधवार है।

मीन राशि
इस सप्ताह आपको धन की अच्छी प्राप्ति हो सकती है । भाई बहनों से क्लेश बढ़ेगा । विवाह संबंधों में बाधा आएगी । व्यापारियों को अपने पार्टनर से सचेत रहना चाहिए । किसी भी कार्य को करने के लिए 11 और 12 मार्च उपयुक्त दिन है। इस सप्ताह आपको चीटियों को  शक्कर का दाना देना चाहिए । सप्ताह का शुभ दिन रविवार है।

इस सप्ताह पूर्ण कालसर्प योग चल रहा है ।  इस अवधि में कोई बड़ा उपद्रव हो सकता है या कोई बड़ी हस्ती हम लोगों को छोड़कर जा सकती है। मां शारदा से मेरी प्रार्थना है कि मेरे सभी दर्शक सुखी संपन्न और स्वस्थ रहें।

जय मां शारदा।
निवेदक:-
पण्डित अनिल कुमार पाण्डेय
सेवानिवृत्त मुख्य अभियंता
प्रश्न कुंडली विशेषज्ञ और वास्तु शास्त्री
स्टेट बैंक कॉलोनी मकरोनिया
 सागर। 470004
 You tube link :-
 https://youtu.be/hr5CscXm_Cc

सफाई मित्रों को मिलेगा 150 रूपए मासिक जोखिम भत्ता : सीएम शिवराज सिंह★स्टार रेटिंग के आधार पर दिए जाएंगे सफाई मित्रों को चार पुरस्कार★एक हजार से लेकर सात हजार रूपए की मिलेगी पुरस्कार राशि

सफाई मित्रों को मिलेगा 150 रूपए मासिक जोखिम भत्ता : सीएम शिवराज सिंह

★स्टार रेटिंग के आधार पर दिए जाएंगे सफाई मित्रों को चार पुरस्कार

★एक हजार से लेकर सात हजार रूपए की मिलेगी पुरस्कार राशि


भोपाल।मुख्यमंत्री श्री Shivraj Singh Chouhan ने कहा है कि शहरों, कस्बों और ग्रामों को स्वच्छ रखने वाले सफाई मित्र मेरे लिए पूज्यनीय हैं। सफाई मित्रों के पसीना बहाने के फलस्वरूप ही स्वच्छता बनी रहती है। यह सबसे बड़ा काम है। यदि सफाई मित्र यह काम न करें, तो शहर बीमार हो जाएंगे। इनका सेवा भाव प्रशंसनीय है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज अपनी जन्म वर्ष गाँठ पर स्थानीय मोतीलाल नेहरू विज्ञान महाविद्यालय खेल मैदान में सफाई मित्रों को भोजन परोसा, उनका सम्मान किया, सार्वजनिक कार्यक्रम में दो सफाई मित्रों श्री छोटेलाल और श्रीमती निर्मलाबाई के पैर धोकर (पाद प्रक्षालन कर) उनके साथ बैठकर भोजन भी किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कन्याओं के पूजन के साथ कार्यक्रम का शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि स्वच्छता सर्वेक्षण 2022 में कचरा मुक्त शहर के लिए स्टार रेटिंग के आधार पर सफाई मित्रों को प्रोत्साहन दिया जाएगा। इसके लिए चार पुरस्कार प्रदान किए जाएंगे। साथ ही सफाई मित्र को प्रतिमाह 150 रूपए का जोखिम भत्ता भी दिया जाएगा। पुरस्कारों के लिए 25 करोड़ रूपए की राशि का प्रावधान होगा।



मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सभी सफाई मित्रों का मैं हृदय से सम्मान करता हूँ। आज का कार्यक्रम सिर्फ कर्मकाण्ड नहीं है। सफाई मित्रों ने अपनी मेहनत से प्रदेश के ग्रामों, नगरों और कस्बों को स्वच्छ एवं सुंदर बनाने में पूरा सहयोग दिया है। इसलिए आज सफाई मित्रों को सेवा सम्मान दिया जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आज अपनी जन्म वर्ष गाँठ पर पहले मैंने पौधा लगाया, फिर सफाई और श्रमदान का कार्य कर सफाई मित्रों के पैर धोने और उनके साथ भोजन करने के इस कार्यक्रम में शामिल हो रहा हूँ।

प्रधानमंत्री श्री मोदी हैं प्रेरक

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी स्वच्छता के मामले में हम सभी के प्रेरक हैं। शहरों के साथ ही सभी स्थानों में स्वच्छता और सुंदरता का महत्व है। बापू ने भी कहा था कि जहाँ स्वच्छता होती है वही भगवान रहते हैं। प्रधानमंत्री श्री मोदी ने पूरे देश में स्वच्छता अभियान चलाया है। उनके आव्हान पर देशवासी सार्वजनिक स्वच्छता के महत्व को समझकर अपने आस-पास और अपने ग्राम, नगर को स्वच्छ बनाए रखने का पूरा प्रयत्न करते हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेशवासियों से आव्हान किया कि वे स्वच्छता के मामले में अपने कर्त्तव्य का निर्वहन करें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सफाई मित्रों के बच्चों की पढ़ाई-लिखाई सहित अन्य कठिनाइयों को दूर करने के प्रयास किए जाएंगे। इसके लिए पृथक से समस्याओं का अध्ययन कर समाधान की राह निकालेंगे।

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें

वेबसाईट


स्टार रेटिंग पर एक से सात हजार रूपए की राशि मिलेगी सफाई मित्र को

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में स्वच्छता सर्वेक्षण 2022 में कचरा मुक्त शहर के सफाई मित्रों को स्टार रेटिंग के आधार पर पुरस्कार राशि दी जाएगी। इन पुरस्कारों में एक स्टार प्राप्त करने वाले शहरों के प्रत्येक सफाई मित्र को एक हजार रूपए, तीन स्टार प्राप्त करने वाले शहरों के प्रत्येक सफाई मित्र को तीन हजार, पाँच स्टार प्राप्त करने वाले शहरों के प्रत्येक सफाई मित्र को पाँच हजार रूपए और सात स्टार प्राप्त करने वाले शहरों के प्रत्येक सफाई मित्र को सात हजार रूपए की पुरस्कार राशि दी जाएगी। सफाई मित्रों के लिए प्रतिवर्ष 12 करोड़ रूपए की राशि जोखिम भत्ते पर व्यय होगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रत्येक सफाई मित्र अपने शहर को 5 स्टार या 7 स्टार दिलवाने का प्रयास करें। नागरिक भी सहयोग करें। हमारे सफाई कर्मी अब हमारे सफाई मित्र हैं और ये सफाई मित्र के नाम से ही पहचाने जाएंगे। विधायक श्रीमती कृष्णा गौर, पूर्व महापौर श्री आलोक शर्मा, श्री सुमित पचौरी और जन-प्रतिनिधि उपस्थित थे




नगरीय क्षेत्रों में कचरे के प्रबंधन के लिए गारबेज फ्री सिटी की अवधारणा पर वर्ष 2020 से स्वच्छ भारत में अमल किया जा रहा है। इसके लिए नगरों के मूल्यांकन मानदंड निर्धारित हैं। इसमें कचरे के प्रबंधन के स्तर के अनुसार 1, 3, 5 और 7 स्टार की रैंक नगरीय निकायों को प्रदान की जाती है। इसमें घर से निकलने वाले कचरे का संग्रहण, परिवहन, प्र-संस्करण और वैज्ञानिक ढंग से निपटान को प्रमुख आधार बनाया गया है। इसके अलावा व्यावसायिक और आवासीय इलाकों में प्रतिदिन झाडू़ लगाने, नगरीय क्षेत्रों के जल संरचनाओं की सफाई, उद्यानों के विकास और निर्माण का परीक्षण किया जाता है। प्रदेश में इंदौर, उज्जैन, ग्वालियर, जबलपुर, भोपाल, रीवा और सागर में विभिन्न तरह के 61 हजार 142 सफाई मित्र कार्य कर रहे हैं। खुले में शौच की समस्या से मुक्त होकर स्वच्छता के अभियान को आगे बढ़ाते हुए ओडीएफ प्लस और ओडीएफ प्लस प्लस के साथ ही वॉटर प्लस के मानदंड भी तय किए गए हैं। वॉटर प्लस प्राप्त करने के लिए निकायों को प्रदान किए गए जल प्रदाय को 100 प्रतिशत उपचारित कर 25 प्रतिशत पुन: उपयोग सुनिश्चित करना होता है।


कार्यक्रम में बताया गया कि निकायों द्वारा जीरो वेस्ट सिद्धांत पर कचरा उत्सर्जन का कार्य किया जा रहा है। आज एमवीएम ग्राउंड पर हुए इस कार्यक्रम में भोजन के बाद अविलंब तत्काल गीला और सूखा कचरा एकत्र कर उसका आवश्यक प्रबंधन किया जाएगा। प्रमुख सचिव नगरीय विकास श्री मनीष सिंह, प्रमुख सचिव जनसंपर्क श्री राघवेन्द्र सिंह, आयुक्त नगरीय विकास श्री निकुंज श्रीवास्तव, संचालक जनसंपर्क श्री आशुतोष प्रताप सिंह, कलेक्टर भोपाल श्री अविनाश लवानिया उपस्थित थे।


शुक्रवार, 4 मार्च 2022

SAGAR : पलंग पेटी में रखी मिली दो लाख रुपये की अवैध देशी शराब , आरोपी गिरफ्तार

SAGAR : पलंग पेटी में रखी मिली दो लाख रुपये की अवैध देशी शराब , आरोपी गिरफ्तार
सागर। सागर जिले की बंडा पुलिस ने एक आरोपी के घर से पलंग पेटी के भीतर छिपाकर रखी 42 पेटी देशी शराब की जब्त की है। जिसकी कीमत दो लाख से अधिक आंकी गई है।  पुलिस अधीक्षक सागर श्री तरुण नायक के द्वारा चलाये जा रहे विशेष अभियान के तहत्कार्यवाही किये जाने हेतु निर्देशित किया गया था। इसी तारतम्य मे दिनांक 03.03.2022 को कस्बा भ्रमण के दौरान थाना प्रभारी बंडा को सूचना प्राप्त हुई कि ग्राम झागरी मे पिन्टू दुबे के खेत के पास बने एक कमरे मे भारी मात्रा मे बिक्री हेतु अवैध शराब रखी हुई है।  थाना स्तर
पर टीम गठित कर श्री विक्रम सिह अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सागर एवं श्री उमराव सिंह एस.डी.ओ.पी. बंडा के मार्गदर्शन मे मुखबिर के बताये स्थान ग्राम झागरी से करीब दो किलोमीटर अंदर जंगल के पास खेत मे गेंहू के खेतो मे खोजते हुये खेत के किनारे बने एक कमरे मे पहुंचे जहां पर एक व्यक्ति मिला। जिससे पूछताछ पर अपना नाम गब्बर पिता परषोत्तम रावत निवासीगोराखुर्द गौशाला के पास का होना बताया। 

जिससे अवैध शराब की सूचना के संबंध मे सख्ती से पूछताछ एवं कमरे की तलाशी पर ण रउसी कमरे मे रखी बिस्तर की पेटी मे भारी मात्रा मे शराब की पेटियां रखी मिली जिनकी गिनती की गई जहां पर 42 कार्टून रखे मिले। जिन्हे चैक करने पर प्रत्येक कार्टून मे लाल मशाला शराब के 48 क्वाटर कुल 2016 क्वाटर रखे मिले ।जिनकी बाजार मे कीमत के अनुसार 2 लाख 10 हजार रूपये की होना पाया गया। जांच कार्यवाही मे
उक्त अवैध शराब के कारोबार मे पिन्टू दुबे का संलिप्त होना पाया गया। 




आरोपियो के विरूध्द धारा 34(2) आबकारी एक्ट के तहत् प्रकरण पंजीबध्द किया गया है शराब के स्रोत के संबंध मे विवेचना जारी है। उक्त सराहनीय कार्य मे अनूप सिह निरीक्षक थाना प्रभारी, उपनिरी. अजय शाक्य, उपनिरी. सूरज परिहार ,उपनिरी, वीणा विश्वकर्मा, प्र.आर. राकेश यादव, आरक्षक राजदीप तिवारी, विनोद सिह, विकाश,पुष्पेन्द्र, जितेन्द्र प्यासी, हेतराम, नितेश गोस्वामी, सोनू विश्वकर्मा, बालकृष्ण धुर्वे, ताहिर खान का विशेष योगदान रहा।

समाज का सुधार और विकास करना है तो शिक्षा में सुधार जरूरी- कुलपति प्रो नीलिमा गुप्ता

समाज का सुधार और विकास करना है तो शिक्षा में सुधार जरूरी-  कुलपति प्रो नीलिमा गुप्ता


सागर। डॉ. हरीसिंह गौर विश्वविद्यालय सागर के शिक्षाशास्त्र एवं उन्नत भारत अभियान के संयुक्त तत्वावधान में सात दिवसीय सामुदायिक कार्य जो दिनांक 4 से 11 मार्च 2022 तक संपन्न होना है का उद्घाटन सत्र शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला पथरिया जाट, सागर में दोपहर 2 बजे से संपन्न हुआ। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि डॉक्टर हरीसिंह गौर विश्वविद्यालय सागर की कुलपति प्रो नीलिमा गुप्ता द्वारा किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता शाला की प्राचार्य डॉ श्रद्धा दुबे ने किया। विभागाध्यक्ष, शिक्षा शास्त्र विभाग डॉक्टर हरीसिंह गौर विश्वविद्यालय डॉ रश्मि जैन ने कार्यक्रम में पधारे सभी अतिथियों का स्वागत किया।


 कार्यक्रम समन्वयक डॉ अभिषेक कुमार प्रजापति ने मंच का संचालन करते हुए सात दिवसीय सामुदायिक कार्य की प्रस्तावना प्रस्तुत की। ग्रामीण विकास में उन्नत भारत अभियान की भूमिका का उल्लेख उन्नत भारत अभियान के नोडल अधिकारी प्रो दिवाकर सिंह राजपूत ने किया।

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस :डॉ गौर विवि पोस्टर प्रतियोगिता आयोजित


यूपी के ललितपुर से लाकर सागर के गढ़पहरा के किले में की हत्या, आरोपी गिरफ्तार★ पत्नी से प्रेम सम्बन्ध के चलते हुई हत्या पति ने प्रेमी की हत्या की


भुवनभूषण देवलिया राज्य स्तरीय पत्रकारिता सम्मान जयराम शुकल को

मुख्य अतिथि माननीय कुलपति प्रो नीलिमा गुप्ता ने अपने उद्बोधन में ग्रामवासियों , स्वयं सहायता समूह से संबंधित महिलाओं , छात्राध्यापक/ छात्राध्यापिकाओं विद्यालय के विद्यार्थियों एवं विद्यालय के शिक्षकों को संबोधित करते हुए कहा कि सामुदायिक कार्य कहने में जितना छोटा और सरल शब्द है करने में उतना ही कठिन है। उन्होंने कहा कि समाज सुधार करने के लिए शिक्षा एक सशक्त माध्यम है। शिक्षा और समाज के विकास के लिए सामुदायिक कार्यक्रमों के द्वारा शिक्षक विद्यार्थियों की भूमिका महत्वपूर्ण हो सकती हैं। गाँवों के रास्ते ही राष्ट्रीय विकास हो सकता है।


प्राचार्य शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला ने विश्वविद्यालय का आभार मानते हुए कहा कि हमारी शाला के लिए यह हर्ष का विषय है कि विश्वविद्यालय ने इस सामुदायिक कार्य के शुभारंभ के लिए हमारा विद्यालय चुना। शिक्षा शास्त्र विभागाध्यक्ष ने उपस्थित सभी लोगों का आभार माना। तत्पश्चात मंचासीन अतिथियों द्वारा माध्यमिक शाला के परिसर में वृक्षारोपण किया गया। इस अवसर पर बी, एड बी एस सी बी एड अष्टम सेमेस्टर के छात्राध्यापक छात्राध्यापिकाओं द्वारा विद्यालय परिसर स्वच्छता एवं पौधारोपण का कार्य किया गया। कार्यक्रम में ग्राम पथरिया जाट के सरपंच , सचिव, सरपंच प्रतिनिधि, स्वंय सहायता समूह प्रमुख रोशनी एवं शिक्षा शास्त्र विभाग की डॉ रानी दुबे, डॉ बुध सिंह, डॉ शकीला एवं उच्चतर माध्यमिक शाला के शिक्षक उपस्थित रहे।

यूपी के ललितपुर से लाकर सागर के गढ़पहरा के किले में की हत्या, आरोपी गिरफ्तार★ पत्नी से प्रेम सम्बन्ध के चलते हुई हत्या पति ने प्रेमी की हत्या की

यूपी के ललितपुर से लाकर सागर के गढ़पहरा के किले में की हत्या, आरोपी गिरफ्तार
★ पत्नी से प्रेम सम्बन्ध के चलते हुई हत्या पति ने प्रेमी की हत्या की

सागर। केंट थाना क्षेत्र में गढ़पहरा के किले के पास सन्दिग्ध अवस्था मे खून से लथपथ मिले शव के मामले में पुलिस ने खुलासा कर लिया है। अवैध सम्बन्धो को लेकर हत्या हुई थी। मृतक और आरोपी सभी यूपी के  ललितपुर जिले के है। हत्या करने के लिए मृतक को  ललितपुर से सागर में  मंदिर के  दर्शन कराने के बहाने लाये थे। पुलिस अधीक्षक तरुण नायक ने आज पत्रकारों से चर्चा में इसका खुलासा किया। इस मौके पर ASP विक्रम सिंह और केंट थाना प्रभारी गौरव तिवारी मौजूद थे। 




पुलिस के मुताबिक थाना फेन्ट जिला मागर अंतर्गत दिनांक 01.03.2022 को शाम करीब 5.30 बजे सूचनाकर्ता संदीप यादव द्वारा जरिये फोन जानकारी दी गई कि गढपहरा के पुराने किले के अंदर वाले कमरे में एक डेड वाडी पड़ी हुई है ।सूचना तस्दीक हेतु तत्काल रवाना होकर गढपहरा पुराने किले घटना स्थल पहुंचा जहाँ किले के अंदर वाले कमरे में एक डेड वाड़ी संदिग्ध अवस्था में बरामद हुई ।जिसके सिर मुंह नाक व कपडे खून से लतपथ थे। तत्काल घटना की सूचना बरिष्ठ अधिकारियो को दी गई ।जो मार्गदर्शन प्राप्त कर मौके पर ही प्रार्थी संदीप यादव की ओर से अज्ञात मृतक के संबंध में मामला दर्ज किया गया। एफएसएल यूनिट एवं डॉग स्कॉड बुलवाया गया एवं बारीकी से घटना स्थल व शव निरीक्षण एफएसएल अधिकारियो की उपस्थिति में की गई।रात्रीकालीन समय होने से डेड वाडी को सुरक्षित जिला चिकित्सालय सागर की मरचुरी में रखवाया गया ।याने पर असल  अज्ञात डेड वाडी की पहचान की गई। जो पहचान कर्ता अंकित सेन द्वारा उपरोक्त मृतक की पहचान राजू सैन पिता रमेशचंद सेन उम 35 वर्ष निवासी लकड़यापुरा थाना सदर कोतवाली जिला ललितपुर उत्तर प्रदेश के रूप में की गई। मर्ग जांच पर मृतक के हत्या होना पाये जाने पर अज्ञात व्यक्ति के विरुद्ध धारा 302 भादंवि पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। पुलिस अधीक्षक महोदय तरूण नायक द्वारा अज्ञात आरोपी की त्वरित पतारसी कर गिरफ्तारी व हत्या के खुलासे हेतु निर्देशित किया गया । अति पुलिस अधीक्षक श्री विक्रम सिंह एवं नगर
पुलिस अधीक्षक  रवीन्द्र मिश्रा के मार्गदर्शन में टीम बनाकर हत्या के संबंध में आये साक्ष्यों के अनुसार संदेही.कपिल पिता मनमोहन सेन उम 38 दर्थ निवासी जाखौरा जिला ललितपुर उ.प्र. को दस्तयाब किया गया। जिससे पूछताछ करने पर उसके
द्वारा जुर्म करना स्वीकार किया गया ।

दोस्त को 20 हजार रुपये का लालच देकर कराई हत्या

आरोपी कपिल सेन की पत्नि के साथ मृतक राजू सेन के प्रेम संबंधों के चलते पुरानी बुराई होने के कारण कपिल सेन द्वारा अपने दोस्त छोटू कुशवाहा निवासी कचनौंदा को 20 हजार रूपये का लालच देकर हत्या
करने के लिये उत्प्रेरित किया।  छोटू कुशवाहा निवासी कचनौदा जिला ललितपुर को दस्तयाब कर घटना के संबंध में पूछताछ की गई । उसके द्वारा बताया गया कि कपिल
सेन निवासी ललितपुर के कहने एवं 20 हजार रूपये देने की बात पर तैयार होकर छोटू कुशवाहा  ने मृतक राजू सेन को दिनांक 27.02.2022 को अपनी मोटर साईकिल क्र.UP 94.x 7347 हीरो होण्डा सीडी डीलक्स में शाम करीबन 4.00 बजे गढपहरा मंदिर में दर्शन करने के बहाने ललितपुर से लेकर आया था ।जो दर्शन करने के बाद राज को लेकर गढपहरा के
पुराने खंडहर किले की ओर ले गया एवं किले के अंदर वाले कमरे में सुनसान जगह पर बड़े पत्थर से सिर में मारकर लहू लुहान कर दिया फिर हाथ से गला दबाकर राज सेन की निर्मम हत्या कर दी।

प्रकरण में घटना में प्रयुक्त मोटर साईकिल हीरो होण्डा सीडी डीलक्स UP 94 x
7347 एवं 500 रूपये नगद जप्त किया गया। घटना में संलिप्त आरोपी 01कपिल पिता मनमोहन सेन उम 38 साल निवासी जखोरा हाल बंसत विहार कालोनी
ललितपुर 02- छोट् पिता रामश्वरुप कुशवाहा उम 19 साल निवासी ग्राम कचनोदा जिला ललितपुर (उ.प.) को विधिवत गिरफ्तार कर माननीय न्यायालय पेश किया जायेगा। 
सराहनीय योगदान-
इस वारदात को सुलझाने में उपनिरी0 गौरव सिंह तिवारी उपनिरी के एन अरजरिया, सउनि० हरिहर प्रताप सेगर, प्र0आर0 67 विश्वनाथ प्र0आर0 818 वीरेन्द्र, प्र0आर0 1071 विक्रम प्र0आर0244 मणीशंकर, प्र0आर0 1377 राजेन्द्र प्र0आर074 भवानीशंकर, आर0 245 मनीष आर0 1066 लखन आर0 राकेन्द्र, दिनेश यादव , अभिषेक गौतम, दीपक, संपूर्ण टीम साईवर सेल का अहम योगदान है।

SAGAR : नाबालिग के साथ दुष्कर्म के आरोपी को आजीवन कारावास

SAGAR : नाबालिग के साथ दुष्कर्म के आरोपी को आजीवन कारावास

सागर। न्यायालय-श्रीमती नीतूकांता वर्मा, विशेष न्यायाधीश पाॅक्सो एक्ट सागर के न्यायालय ने नाबालिग लड़की का बलात्कार करने वाले आरोपी रामगोपाल दांगी पिता रामनाथ उम्र 31 वर्ष निवासी ग्राम अंतर्गत थाना बण्डा जिला सागर को दोषी पाते हुए अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम में आजीवन कारावास एवं पाॅंच हजार रूपये के अर्थदण्ड तथा भादवि की धारा 376एबी के अंतर्गत 20 वर्ष का कठोर कारावास एवं पाॅंच हजार रूपये के अर्थदण्ड से तथा भादवि की धारा 363 एवं 366 के तहत 05-05 वर्ष का सश्रम कारावास एवं 1-1 हजार रूपये के अर्थदण्ड दण्डित करने का आदेश दिया। राज्य शासन की ओर से विशेष लोक अभियोजक/जिला अभियोजन अधिकारी राजीव रूसिया तथा विशेष लोक अभियोजक/सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी मनोज पटेल ने शासन का पक्ष रखा।
 
घटना का संक्षिप्त विवरण इस प्रकार है कि अभियोक्त्री की मां ने दिनांक-11.02.2021 को पुलिस थाना बण्डा में उपस्थित होकर मौखिक रिपोर्ट इस आशय की लेख कराई कि दिनांक-10.02.2021 को शाम साढ़े आठ बजे वह घर के अंदर खाना बना रही थी। घर के बाहर आंगन में उसकी लड़की अभियोक्त्री, उसका लड़का तथा आरोपी रामगोपाल आग ताप रहे थे। वह घर के अंदर काम कर रही थी। कुछ देर बाद वह घर के बाहर आंगन में जब आई तो उसे उसका लड़का अकेला बैठा दिखा तब उसने लड़के से पूछा कि अभियोक्त्री कहां है तो उसके लड़के ने बोला कि रामगोपाल बिस्किट खिलाने ले गया है। फिर उसने तुरंत अपने पति को बताया एवं अभियोक्त्री को ढूंढने लगी। लगभग एक घंटे बाद रामगोपाल अभियोक्त्री को कैंया (गोदी) लेकर उसके घर के बाहर टटा के पास छोड़कर जाने लगा और बोला कि ‘‘तुम्हारी मोडी कौन हिरा गई जा तो है‘‘ और चला गया। फिर उसने अभियोक्त्री से पूछा कि कहां गई थी उसे शक सा हुआ। उसने पूछा तो अभियोक्त्री ने बताया कि अभियुक्त उसे ले गया था और उसके साथ बुरा काम किया। उक्त रिपोर्ट के आधार पर से आरोपी के विरूद्ध थाना बण्डा में प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज की गई और प्रकरण अनुसंधान में लिया गया। विवेचना पूर्ण कर अभियोग पत्र माननीय न्यायालय में पेश किया गया। विचारण के दौरान अभियोजन ने अपना मामला संदेह से परे प्रमाणित किया। जिस पर से न्यायालय ने आरोपी रामगोपाल दांगी को दोषी पाते हुए अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम में आजीवन कारावास एवं पाॅंच हजार रूपये के अर्थदण्ड तथा भादवि की धारा 376एबी के अंतर्गत 20 वर्ष का कठोर कारावास एवं पाॅंच हजार रूपये के अर्थदण्ड से तथा भादवि की धारा 363 एवं 366 के तहत 05-05 वर्ष का सश्रम कारावास एवं 1-1 हजार रूपये के अर्थदण्ड दण्डित करने का आदेश दिया।
 

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस :डॉ गौर विवि में पोस्टर प्रतियोगिता आयोजित

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस :डॉ गौर विवि में पोस्टर प्रतियोगिता आयोजित


सागर. 04 मार्च.। डॉक्टर हरीसिंह गौर विश्वविद्यालय, सागर में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (08 मार्च) के उपलक्ष्य में आचार्य शंकर भवन में पोस्टर प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इस प्रतियोगिता का विषय ‘ब्रेक द बायस’ (पक्षपात को तोड़ना) था। विश्वविद्यालय के कई विभागों के छात्र-छात्राओं ने इस प्रतियोगिता में भागीदारी की और उत्कृष्ट पोस्टर बनाये। प्रतियोगिता के दौरान विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो नीलिमा गुप्ता जी ने प्रतियोगिता स्थल पर पहुँचकर प्रतिभागियों का उत्साहवर्धन किया। 


आयोजन की चेयरपर्सन प्रो ममता पटेल (विभागाध्यक्ष, अपराधशास्त्र एवं न्यायिक विज्ञान विभाग), प्रो. अर्चना पाण्डेय, प्रो. श्वेता यादव, संयोजक डॉ  सुप्रभा दास (सहायक प्राध्यापक, फाइन आर्ट डिपार्टमेंट), रुपेश उपाध्याय, नीलम और अन्य शोधार्थी एवं विद्यार्थी उपस्थित थे.

पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन सिंह को दी भावभीनी श्रद्धांजलि

पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन सिंह को दी भावभीनी श्रद्धांजलि



सागर। जिला शहर कांग्रेस सेवादल ने मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और पूर्व केंद्रीय मंत्री अर्जुन सिंह की पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि अर्पित की।
इस अवसर पर प्रदेश उपाध्यक्ष अमित दुबे रामजी विशेष रूप से उपस्थित रहे उन्होने अर्जुन सिंह को याद करते हुये कहा कि दाऊ साहब सभी धर्म जातियों और सर्वहारा समाज के नेता थे। वरिष्ठ कांग्रेसी रफीक गनी ने कहा कि माननीय श्री अर्जुन सिंह जी ने जीवन पर्यंत आम आवाम की खिदमत को अपना ध्येय बनाकर देश और प्रदेश की सेवा की,म.प्र. को विकास की नयी ऊचाइयों पर पहुंचाया।
इस मौके पर सेवादल अध्यक्ष सिंटू कटारे ने कहा कि राजनीति में अर्जुन सिंह के योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता। उन्होंने कई अहम पदों पर रहते हुए पार्टी को मजबूत करने का काम किया।
इस मौके पर राजेश यादव,प्रीतम यादव, नितिन पचौरी, रामगोपाल यादव,अंकुर यादव,नीतेश साहू, पवन घोषी ,तरूण सैनी,रवि जैन,राहुल ताम्रकार,आकाश रजक,आकाश नामदेव,संजू पटैल आदि उपस्थित रहे

MP : नगर परिषद का स्वच्छता प्रभारी 32 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार

MP : नगर परिषद का स्वच्छता प्रभारी 32 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार

आगरमालवा। लोकायुक्त पुलिस उज्जैन ने आगरमालवा जिले के सोयतकला नगर परिषद के स्वच्छता प्रभारी सफाई दरोगा को 32 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया  । सफाई सामग्री खरीदने की नोटशीट आगे बढाने के एवज में रिश्वत  मांगी थी। 
जानकारी के अनुसार आवेदक राकेश कुमार छपरिबन्द निवासी सोयतकलां ज़िला आगर ने 25 फ़रवरी 2022 को पुलिस अधीक्षक लोकायुक्त उज्जैन को शिकायत की थी। शिकायत में बताया था कि सोयतकलां नगर परिषद का स्वच्छता प्रभारी (सफाई दरोगा) कमल किशोर शर्मा उससे सफ़ाई सामग्री ख़रीदने की नोटशीट आगे बढ़ाने के एवज़ में 32 हज़ार की रिश्वत मांग रहा है। उनकी शिकायत पर आज पुलिस अधीक्षक अनिल विश्वकर्मा के निर्देशन में टीआई बलबीर सिंह यादव और राजेंद्र वर्मा द्वारा उसे ट्रैप किया गया।

यह भी पढ़े

*
*

 लोकायुक्त उज्जैन की टीम निरीक्षक राजेंद्र वर्मा ,निरीक्षक बलवीर सिंह यादव, आरक्षकगण संजय पटेल, संदीप कदम, नीरज राठोर,विशाल रेशमिया एवं श्याम शर्मा द्वारा आरोपी को आवेदक से 32 हज़ार रुपए रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा है।

भुवनभूषण देवलिया राज्य स्तरीय पत्रकारिता सम्मान जयराम शुक्ल को

भुवनभूषण देवलिया राज्य स्तरीय पत्रकारिता सम्मान जयराम शुक्ल को         

भोपाल, 4 मार्च। प्रतिष्ठित भुवनभूषण देवलिया राज्य स्तरीय पत्रकारिता सम्मान इस वर्ष वरिष्ठ पत्रकार जयराम शुक्ल को प्रदान किया जाएगा। अलंकरण समारोह  रविवार 6 मार्च को भोपाल में होगा। सम्मान में 11 हजार रूपये नकद, शाल- श्रीफल एवं प्रशस्ति पत्र प्रदान किए जाते हैं। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग होंगे। इस अवसर पर भुवनभूषण देवलिया स्म्रति व्याख्यान माला समिति भोपाल के 11 वें वार्षिक व्याख्यान में ' पत्रकारिता और राष्ट्रवाद' विषय पर प्रमुख वक्ता होंगे माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. के.जी. सुरेश, इंडिया टुडे के पूर्व सम्पादक एवं पूर्व कुलपति श्री जगदीश उपासने, भारतीय जनसंचार संस्थान के महानिदेशक प्रो. संजय द्विवेदी, वरिष्ठ पत्रकार एवं राज्यसभा टीवी के पूर्व निदेशक श्री राजेश बादल।

कार्यक्रम की अध्यक्षता वरिष्ठ पत्रकार एवं राज्य स्तरीय राष्ट्रीय एकता समिति के पूर्व उपाध्यक्ष श्री रमेश शर्मा। विषय प्रवर्तन करेंगे देवलिया जी के शिष्य वरिष्ठ पत्रकार एवं स्वदेश के सलाहकार सम्पादक श्री शिवकुमार विवेक। आयोजन कोरोनाकाल के ऐहितयात आनलाइन होगा। इससे फेसबुक पर भुवनभूषण देवलिया स्म्रति व्याख्यान माला समिति के पेज पर @deoliasmirti  पर जुड़ने का आग्रह समिति ने किया हैं।

गुरुवार, 3 मार्च 2022

राज्यपाल करेंगे गढाकोटा रहस मेला का उद्घाटन

राज्यपाल करेंगे गढाकोटा रहस मेला का उद्घाटन


भोपाल। सागर जिले के गढाकोटा में आयोजित होने वाले प्रसिद्ध रहस मेला का शुभारंभ राज्यपाल श्री मंगू भाई पटेल करेंगे। PWD मंत्री गोपाल भार्गव ने आज मध्यप्रदेश राजभवन भोपाल में  राज्यपाल श्री मंगूभाई पटेल जी से सौजन्य भेंट कर रहस मेले में पधारने हेतु आमंत्रित किया। 

मंत्री श्री भार्गव ने बताया कि जनक गृहनगर गढ़ाकोटा जिला सागर में प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी रहस मेले का 214 वाँ आयोजन दिनांक 10 मार्च गुरुवार से 12 मार्च शनिवार तक किया जा रहा है। गुरुवार 10 मार्च, गुरुवार को दोपहर 2:00 बजे मध्यप्रदेश के राज्यपाल माननीय श्री मंगूभाई पटेल मेले का उद्घाटन करेंगे एवं विशाल आदिवासी सम्मलेन को संबोधित करेंगे।

शिक्षक की नौकरशाही से मुक्ति आवश्यक : प्रो. जगमोहन सिंह★ शिक्षक दक्षता के लिए मानक आवश्यक : प्रो. नीलिमा गुप्ता

शिक्षक की  नौकरशाही से मुक्ति आवश्यक : प्रो. जगमोहन सिंह

★ शिक्षक दक्षता के लिए मानक आवश्यक : प्रो. नीलिमा गुप्ता

 

सागर। डॉ. हरीसिंह गौर विश्वविद्यालय सागर में आयोजित राष्ट्रीय शिक्षा नीति के आलोक में शिक्षको के लिए मानक विषय पर  एक दिवसीय खुली परिचर्चा टीएलसी सागर, राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद् नई दिल्ली एवं विद्यालयी शिक्षा विभाग, मध्यप्रदेश  के सहयोग से आयोजित की गई, जिसमें एन.सी.टी.ई के पूर्व अध्यक्ष पदमश्री जगमोहन सिंह राजपूत ने बताया की वर्तमान से शिक्षकों के समक्ष सबसे बड़ा संकट नौकरशाही है. जो उनकी स्वायत्ता को समाप्त करती है. शिक्षक व्यवसाय एक सेवा है. कार्यक्रम में कुलपति प्रो. नीलिमा गुप्ता ने अतिथियों का स्वागत करते हुए इस परिचर्चा की आवश्यकता को रेखांकित किया और बताया कि भारत में शिक्षक का सम्मान सदैव एक सामाजिक और सांस्कृतिक मान्यता का अंग रहा है. शिक्षक पर समाज सदैव विश्वास करता है. शिक्षक के लिए कौशल मानक आवश्यक है, जिनसे वह एक गुणात्मक शिक्षण-अधिगम कर सकेगा.  


परिचर्चा में भाग लेते हुए केन्द्रीय विश्वविद्यालय शिक्षक परिसंघ के अध्यक्ष प्रो. अजय कुमार भागी ने बताया कि जब तक शिक्षकों की सेवा-शर्तों, कार्य-प्रणाली, प्रोन्नति, कार्य -संस्कृति में सुधार नहीं हो जाता तब तक किसी भी प्रकार के कौशल मानक व्यावहारिक नहीं कहे जा सकते. उन्होंने बताया कि आज सबसे ज्यादा संकटग्रस्त शिक्षक ही है.

कलेक्टर ने अधिकारियों के साथ किया झील और एलिवेटेड कोरिडोर का निरीक्षण★ लाखा बंजारा की मूर्ति लगाने के लिए डिजाइन प्रस्तुत करें

*

स्मार्ट रोड फेस-2 में चयनित सड़कों की डिजाइन पर मंथन किया★ इंजीनियर्स फोरम के सदस्यों ने दिए महत्वपूर्ण सुझाव

*

MP : हत्यारे बेटे को आजीवन कारावास की सजा, शराब पीने मांगे थे पैसे माँ से, नही देने पर की थी हत्या

लालबहादुर शास्त्री संस्कृत विश्वविद्यालय के प्रो. रमेश पाठक ने कहा कि आज शिक्षक से समक्ष सबसे बड़ी चुनौती प्राचीन और आधुनिक ज्ञान के सापेक्ष स्वयं को परिभाषित करने की है. हमें पारम्परिक गुरु भी चाहिए और आधुनिक तकनीक से सुसज्जित आचार्य भी.


कार्यक्रम में  सदस्य सचिव, एनसीटीई नई दिल्ली  केसांग वाई. शेरपा, ने अपने उद्बोधन में कहा कि राष्ट्रीय व्यावसायिक मानक (एनपीसीटीका पिछले एक साल से ड्राफ्ट तैयार हो रहा है और इस खुली चर्चा के माध्यम से  आगे इसके क्रियान्वन में सहायता मिलेगी। उन्होंने कहा कि  करीब 2000 सुझाव पूरे भारत से एनपीसीटी के लिए आए थे और अभी तक 14 मुक्त विमर्श इस विषय पर हो चुके है।  यह दस्तावेज  शिक्षक प्रशिक्षण में सहायता करने के लिए एक महत्वपूर्ण नीति  के रूप में सामने आएगा ।  इस सत्र में कार्यक्रम समन्वयक डॉ. संजय शर्मा ने परिचर्चा की आवश्यकता और उद्देश्यों को बताया.  सत्र का संचालन डॉ. सतीश ने किया.

 

 दूसरे सत्र में  ऋषभ खन्ना ने  विषय प्रवर्तन करते हुए बताया कि एनपीसीटी  में  बीएड और एमएड से ही शिक्षकों को व्यावसायिक प्रशिक्षण देने की बात पर ध्यान केंद्रित किया है। उन्होंने पांच प्रमुख कारक को समझाया जिस पर इस दस्तावेज़ का निर्माण किया जा रहा है इसमें शिक्षक प्रशिक्षण, शिक्षक भर्ती, शिक्षक कौशल, शिक्षक मूल्यांकन और शिक्षक पदोन्नति शामिल हैं। इससे हर शिक्षक अपने विकास पर ध्यान दे सकेगा। शिक्षकों को उनकी क्षमताओं के आधार पर चार स्तरों पर रखा जाएगा जिसमें प्रगामी शिक्षक, प्रवीण शिक्षक, कुशल शिक्षक और प्रमुख शिक्षक की श्रेणी शामिल की गई है। चारों स्तरों पर शिक्षकों की क्या क्षमता होनी चाहिए इस विषय पर दस्तावेज़ में विस्तार से जानकारी दी गई है जिसे उन्होंने उसके साथ आने वाली चुनौतियां के साथ समझाया।

 SAGAR : 5 मार्च से 26 मार्च तक होगी प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा , 90 हजार से अधिक छात्र-छात्राएं होंगे शामिल★ 8 परीक्षा केंद्रों पर होगी ऑनलाइन परीक्षा ,सीसीटीवी कैमरा के माध्यम से होगी निगरानी

*

केन्द्रीय विद्यालय में केजी-1 में प्रवेश के लिए आवेदन शुरू, अंतिम तिथि 21 मार्च


एनआरसी एनसीटी नई दिल्ली के अध्यक्ष प्रो. बी. एल. नाटिया,  ने भाषा के साथ शिक्षकों के आत्मविश्वास को जोड़ते हुए अपनी बात रखी। उन्होंने कहाकि अंग्रेजी न आने के कारण हीन भावना का निर्माण होता है और इससे शिक्षक के प्रदर्शन में अंतर आता है। उन्होने भारतीय परिप्रेक्ष्य को ध्यान में रखते हुए इसे बनाने की सलाह दी। शिक्षा को व्यवसाय कहने और उसके उत्पादन विद्यार्थी पर शिक्षक की गुणवत्ता बढ़ने से होने वाले प्रभावों को भी उन्होंने उदाहरण देते हुए समझाया।

राज्य शिक्षा केंद्र, भोपाल के निदेशक डॉ. अतुल दनायक ने मध्य प्रदेश में शिक्षक कौशल प्रशिक्षण के लिए अभी तक हुई गतिविधियों और कार्यशालाओं की जानकारी दी। उन्होंने निष्ठा कार्यक्रम ऑनलाइन माध्यम से शिक्षक प्रशिक्षण के अनुभवों को बांटा जिसमें उन्होंने शिक्षकों को जरूरी संसाधन और गुणवत्ता के साथ नेतृत्व देने की बात कही जिससे उनकी क्षमताओं का बेहतर विकास हो सके। जामिया मिलीया इस्लामिया, नई दिल्ली के  डॉ. सज्जाद अहमद ने एनपीएसटी को तैयार करने के लिए पाठ्यक्रम में बदलाव लाने की चर्चा की। उन्होने संचालित पाठ्यक्रम में तैयारी, अभ्यास और प्रस्तुति में सुधार लाने की बात कही। मंच संचालन आफरीन खान और आभार डॉ. रश्मि जैन ने दिया।

 

प्रो. अजय कुमार चौबे, दिल्ली ने अपने वक्तव्य में शिक्षा एवं शिक्षक को अत्यंत संवेन्दनशील विषय बताया । शिक्षण के तीन मॉडल के बारे में बात करते हुए उन्होंने प्रथम मॉडल में शिक्षक अपना कार्य मात्र जीवन-यापन  के लिए करता है। दूसरे में वह शिक्षण को व्यावसायिक रूप में देखता है और तीसरे मॉडल में शिक्षण को सामाजिक दायित्व के रूप में करता है। शिक्षक के पास कार्य करने की स्वतंत्रता होनी चाहिए तभी वह अपने कार्य को पूर्ण निष्ठा से कर पाएगा।


तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें

वेबसाईट

डॉ राकेश सिंह, नई दिल्ली  ने क्लास रूम में होने वाले संवाद में भाषा की उपयोगिता पर ध्यान केंद्रित किया। उन्होंने शिक्षक प्रशिक्षण में भाषा और माध्यम को स्पष्ट करने की आवश्यकता पर ज़ोर दिया। उन्होंने विभिन्न भाषा को हर जगह स्वीकार करने की चुनौती और भाषा में पठनीय सामग्री उपलब्ध करने की बात भी सामने रखी और भाषा के मुद्दे पर और संवेदनशीलता से विचार करने की बात कही।

 

डॉ अश्विनी, मानू हैदराबाद ने बताया कि यह दस्तावेज़ पूरी तरह से शिक्षक प्रशिक्षण से जुड़ा हुआ है। उन्होंने अध्यापकों और शिक्षण संस्थाओं को सुविधाओं और जवाबदेही के मानक तय करने का सुझाव दिया। शिक्षकों को चार स्तरों में वर्गीकरण करने को उन्होंने नकारात्मक प्रक्रिया बताया और कहा कि प्राथमिक, माध्यमिक और उच्च शिक्षा को आपस में जोड़ने का प्रयास करना चाहिए। जो शिक्षक सेवा में हैं उनके लिए भी शिक्षण की सही व्यवस्था नहीं हैं, इस पर भी प्रयास होने चाहिए।

डॉ. मनीष वर्मा संयुक्त सचिव शिक्षा विभाग सागर ने कहा कि पूर्व में बनी व्यवस्थाओं में सुधार एवं नवीनीकरण की आवश्यकता है। उन्होने एक अहम सुझाव भी सामने रखा कि बीएलएड की शिक्षा को नर्सरी से पांचवी तक करने  और बीएड को छटवीं से बारहवीं तक करना चाहिए। इससे बीएलएड पूर्ण रूप से प्राथमिक में और बीएड उच्च शिक्षा के लिए क्रियान्वित हो सकेगी और भविष्य में शिक्षकों की कमी भी नही होगी।  डॉ आशुतोष गोस्वामी संयुक्त सचिव शिक्षा विभाग  सागर  ने कहा कि एनपीएसटी ने पहली बार शिक्षकों को राय ली है। उन्होंने प्रश्न किया कि क्या हम जिस कार्य के लिए नियुक्त हुए है हम उसे पूरा समय दे पा रहे हैं क्योंकि शिक्षकों को सरकारी कर्मचारी होने के नाते अन्य कामों में भी लगाया जाता है। उन्होंने कहा कि यह खुली चर्चा शिक्षण परविर्तन में सुधार की एक शुरुआत है व उन्होंने वेबपेज बनाने की जानकारी दी जिसमे सुझाव आमंत्रित होंगे। मंच संचालन डॉ.  चिट्ठी बाबू और आभार डा. रानी दुबे ने माना।

 

हिमाचल प्रदेश केन्द्रीय विश्वविद्यालय के डॉ.  नवनीत शर्मा ने इस दस्तावेज़ का प्रमुख उद्देश्य प्रभावी शिक्षण को बताया जिससे अध्यापकों का स्व मूल्यांकन किया जाएगा। यह एक शिक्षण कौशल को विकसित करने में काम आएगा। अभी तक दस्तावेज में वर्णित चीजों को लेकर उन्होंने कई प्रश्न किए जो व्यावहारिक और प्रायोगिक तौर पर संभव नहीं हैं। इसकी आलोचनात्मक चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि क्या यह निजी विद्यालयों तक पहुंचेगा  ? इसमें स्त्री पुरुष समानता की बात कही है पर धरातल पर यह संभव नही है। इसमें कॉन्वेंट, मदरसा को जोड़ा नही गया है और संप्रभुता का कोई उल्लेख नहीं है। उन्होंने कहा कि यह एक प्रारंभिक दस्तावेज़ है और आशा है कि एक नया दस्तावेज आएगा जो इन मानकों को पूर्ण करेगा।

डॉ. सारिका शर्मा कुलसचिव केन्द्रीय विवि हरियाणा ने कहा कि जब यह दस्तावेज़ लागू होने के बाद इसे अपनाने पर भी प्रयास होने चाहिए । शिक्षक को नई तकनीक आनी चाहिए जिससे वह विद्यार्थी को समझा सके । हमें व्यावसायिक मानक को बढ़ाना होगा और इसको बेहतर तरीके से लागू करने की जिम्मेदारी लेनी होगी क्योंकि नीति तो आ जाती हैं पर वह सुचारू रूप से लागू नहीं हो पाती है। डॉ. प्राचीश जैन ने इस प्रारूप के संदर्भ में शिक्षकों के विचारों को समाहित करने का सुझाव दिया.  

अज़ीम प्रेमजी न्यास, सागर के  डॉ. आलोक सिंह ने व्यावसायिक विकास पर जोर दिया । उन्होंने कहा कि दस्तावेज धरातल से जुड़ा हुआ होना चाहिए। परिकल्पनाओ को स्पष्ट करने की आवश्यकता है क्योंकि एक बात को कई बार दोहराया गया है जिसे बेहतर किया जा सकता है। सत्र की अध्यक्षता  कर रही डॉ. ऋतु यादव ने कहा कि विद्यालय शिक्षा में सुधार की आवश्यकता हैं ।

डॉ संजय शर्मा ने खुली चर्चा में शामिल हुए समस्त वक्ताओं की बात का सारांश प्रस्तुत करते हुए अपनी बात रखी। उन्होने कहा कि शिक्षक पैदा नही होते उन्हे प्रशिक्षण देकर शिक्षक बनाया जाता है।  हमे इस दस्तावेज़ को भारतीय संदर्भ में तैयार करने की जरूरत है.

 

एनसीटीई के उप सचिव  डॉ. डी. के. चतुर्वेदी ने बताया कि  परिषद् को 28 साल हो चुके है, यह लगातार शिक्षकों  की  गुणात्मक शिक्षा के लिए  काम कर रहा है । उन्होंने प्रारूप निर्माण की विभिन्न गतिविधियों को साझा किया. सागर विश्वविद्यालय के सहयोग से आगे भी कार्य करने की मंशा जाहिर की .

उन्होंने बताया कि एनपीसीटी में सुझाव के लिए पोर्टल खोला गया है, जिसमे प्राप्त सभी सुझावों के आधार पर कार्य किया जायेगा.  मंच संचालन डॉ विवेक जायसवाल ने किया और आभार कुलसचिव संतोष सहगोरा ने माना।  

 

 

 

कलेक्टर ने अधिकारियों के साथ किया झील और एलिवेटेड कोरिडोर का निरीक्षण★ लाखा बंजारा की मूर्ति लगाने के लिए डिजाइन प्रस्तुत करें

कलेक्टर ने अधिकारियों के साथ किया झील और एलिवेटेड कोरिडोर का निरीक्षण
★ लाखा बंजारा की मूर्ति लगाने के लिए डिजाइन प्रस्तुत करें

सागर। लाखा बंजारा झील में चकराघाट से दीनदयाल चौक तक बनाए जा रहे एलिवेटेड कोरिडोर के पिलरों पर रखे जाने वाले गर्डर के निर्माण कार्य का शुभारम्भ कलेक्टर श्री दीपक आर्य ने गुरुवार को पूजन करके किया। इस दौरान नगर निगम आयुक्त सह कार्यकारी निदेशक श्री आरपी अहिरवार, स्मार्ट सिटी सीईओ श्री राहुल सिंह राजपूत विशेष रूप से मौजूद थे।

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें

वेबसाईट


कलेक्टर सह अध्यक्ष एसएससीएल श्री दीपक आर्य गुरुवार को अधिकारियों के साथ लाखा बंजारा झील कायाकल्प परियोजना और एलिवेटेड कोरिडोर निर्माण कार्य का निरीक्षण कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जून तक मानसून से पहले ही एलिवेटेड कोरिडोर निर्माण के लिए बनाई गई एप्रोच रोड को डिसमेंटल करना होगा। इसके लिए एलिवेटेड कोरिडोर का कार्य और तेजी से करने हेतु उन्होंने निर्देशित किया। इसके साथ ही उन्होंने लाखा बंजारा झील परियोजना का स्थल निरीक्षण कर झील में लगाई जाने वाली लाखा बंजारा की मूर्ति के लिए स्थल चयन करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि इसकी डिजाइन जल्द प्रस्तुत करें। 

*
*
*

*

कलेक्टर श्री आर्य ने कहा कि मूर्ति ऐसे स्थल पर लगाई जाए कि झील के चारों ओर ज्यादा से ज्यादा क्षेत्र से उसे स्पष्ट देखा जा सके। पाथ-वे के साथ झील में पत्थरों की पिचिंग के लिए मटेरियल, लेबर और मशीनरी बढ़ाएं। झील का जो स्थल सूख चुका है उसको समतल करें। उन्होंने कहा कि जो शेष अनुपयोगी मटेरियल घास, सिल्ट, मिट्टी आदि झील में है उन्हें मशीनों से तेजी से झील से बाहर करें। साथ ही पाथ-वे के दोनों ओर बाउंड्री बनाने लगाई जाने वाली ग्रिल आदि का कार्य भी प्रारम्भ कराएं। इस दौरान सुप्रीटेंडेंट इंजीनियर श्री अजय शर्मा, स्मार्ट सिटी और पीएमसी के इंजीनियर्स और निर्माण एजेंसियों के प्रतिनिधि मौजूद थे।

स्मार्ट रोड फेस-2 में चयनित सड़कों की डिजाइन पर मंथन किया★ इंजीनियर्स फोरम के सदस्यों ने दिए महत्वपूर्ण सुझाव

स्मार्ट रोड फेस-2 में चयनित सड़कों की डिजाइन पर मंथन किया
★ इंजीनियर्स फोरम के सदस्यों ने दिए महत्वपूर्ण सुझाव 

सागर।  नगर विधायक श्री शैलेन्द्र जैन और कलेक्टर सह अध्यक्ष एसएससीएल श्री दीपक आर्य ने स्मार्ट रोड फेस-2 परियोजना की समीक्षा की। इस दौरान नगर निगम आयुक्त सह कार्यकारी निदेशक एसएससीएल श्री आरपी अहिरवार, स्मार्ट सिटी सीईओ श्री राहुल सिंह राजपूत और इंजीनियर्स फोरम के सदस्य विशेषतौर पर उपस्थित रहे।
विधायक श्री शैलेन्द्र जैन ने स्मार्ट रोड फेस-2 अंतर्गत चयनित कुल 10 मुख्य सड़कों की डिजाइन की समीक्षा करते हुए कहा कि इन सड़कों का कैरिज-वे आवश्यकता एवं स्थल उपलब्धता अनुसार ज्यादा रहे। इसके लिए ड्रेन आदि का निर्माण बिल्डिंग लाइन की ओर जगह न छोड़ते हुए करें। उन्होंने कहा कि पार्किंग की उपयुक्त व्यवस्था की जाए। घरों एवं अन्य जगहों से बहकर आने वाले वर्षा जल की निकासी की भी उपयुक्त व्यवस्था हो ताकि जलभराव कहीं न हो। उन्होंने कहा कि जिन सड़कों पर घाटों के सुधार की आवश्यकता है, वहाँ आवश्यकतानुसार कटिंग एवं फिलिंग कराकर प्रोफ़ाइल भी सुधारी जाए। सड़क की चौड़ाई के लिए अतिक्रमण या अन्य निर्माण जिन्हें विस्थापित किया जा सकता है, उन्हें भी चिन्हित कर हटाने का कार्य प्रारम्भ करें।

*
*

*
कलेक्टर श्री दीपक आर्य ने समीक्षा के दौरान निर्माण एजेंसी को निर्देशित करते हुए कहा कि सबसे पहले सभी सड़कों का सर्वे पूर्ण कराएं। ताकि सड़क की कम्प्लीट प्रोफ़ाइल की जानकारी हो और निर्माण के दौरान किसी भी प्रकार की रुकावट न आने पाए। सर्वे अनुसार ही ड्राइंग डिजाइन तैयार होना चाहिए। उन्होंने कहा कि इन सड़कों का निर्माण कार्य भी जल्द प्रारम्भ कराएं। इस दौरान इंजीनियर्स फोरम के सदस्यों ने भी अपने महत्वपूर्ण सुझाव दिए।

सराफा तिराहा से पंतनगर तिराहा तक सड़क निर्माण कार्य का किया शिलान्यास विधायक शेलेन्द्र जैन ने★चौड़ी सड़क निर्माण करने की मांग की और दिया ज्ञापन क्षेत्रवासियो ने

सराफा तिराहा से पंतनगर तिराहा तक सड़क निर्माण कार्य का किया शिलान्यास विधायक शेलेन्द्र जैन ने
★चौड़ी सड़क निर्माण करने की मांग की और दिया ज्ञापन क्षेत्रवासियो ने

सागर।मुख्यमंत्री अधोसंरचना योजना अंतर्गत शहर के मुख्य मार्ग सराफा तिराहा से पंतनगर तिराहा सागर सरोज होटल तक सड़क निर्माण कार्य का शिलान्यास विधायक शैलेंद्र जैन के कर कमलों से संपन्न हुआ, इस दौरान बड़ी संख्या में उपस्थित जनसमूह इस कार्यक्रम के साक्षी बने कार्यक्रम में बड़ा बाजार के रहवासियों द्वारा विधायक जैन को मांग पत्र सौंपा गया मांग पत्र में बड़ा बाजार क्षेत्र में भी स्मार्ट सिटी द्वारा चौड़ी सड़क निर्माण करने की मांग की गई और लोगों द्वारा अपनी-अपनी जमीन चौड़ीकरण के लिए देने की सहमति दी गई मांग पत्र में लगभग 400 लोगों ने हस्ताक्षर और मोबाइल नंबर देकर अपनी सहमति जताई है।
 कार्यक्रम को संबोधित करते हुए विधायक शैलेंद्र जैन ने कहा कि बड़ा बाजार शहर का हृदय स्थल है और इसका पूर्ण विकास मेरी नैतिक जिम्मेदारी है परंतु विकास के लिए  जन भावनाओं को ध्यान में रखना मेरा पहला कर्तव्य है इसके लिए आप सभी यदि सहमत हूं तो एक अच्छी सुंदर चौड़ी सड़क बनाकर आपको प्रस्तुत करूंगा परंतु इसमें आप की सहमति होना बहुत आवश्यक है उन्होंने मेडिकल कॉलेज से दीनदयाल उपाध्याय मार्ग एवं भूतेश्वर मंदिर मार्ग का उदाहरण देते हुए बताया कि किस तरह लोगों ने स्वयं अपनी भूमि को सड़क चौड़ीकरण के लिए उपलब्ध कराया है उन्होंने आश्वस्त किया कि यदि हम अपने हिस्से की बहुत कम भूमि सड़क चौड़ीकरण के लिए देंगे तो उससे हमारा व्यापार 10 गुना बढ़ेगा और हम लोग विकास के लिए एक उदाहरण प्रस्तुत करेंगे ,उपस्थित जनमानस ने विधायक जैन का स्वागत किया उन्होंने कहा कि हम अभी नगर निगम कार्यालय से होते हुए परकोटा तीन बत्ती सराफा से मोती नगर चौराहा तक सड़क निर्माण कार्य कर रहे हैं इसमें अभी हमारा प्लान उपलब्ध चौड़ाई के अनुसार और लोगों द्वारा किए गए अतिक्रमण को हटाते हुए निर्माण करने का है, यदि लोगों द्वारा स्वेच्छा से अपनी भूमि सड़क चौड़ीकरण के लिए दी जाएगी तो हम व्यवस्थित स्मार्ट रोड बना कर देंगे।
*
*
*

कार्यक्रम को वरिष्ठ भाजपा नेता योगाचार्य विष्णु आर्य ने संबोधित करते हुए कहा कि विधायक शैलेंद्र जैन शहर विकास में दिन-रात कार्य करते हैं शहर में ऐसा कोई कार्यक्रम नहीं होता जहां वह अपनी उपस्थिति नहीं देते हो और प्रत्येक कार्य की मॉनिटरिंग स्वयं करते हैं समय सीमा में कार्य पूरे हो उसके लिए निरंतर फील्ड पर उपस्थित रहते हैं।

कार्यक्रम का संचालन मंडल अध्यक्ष विक्रम सोनी ने किया एवं आभार नितिन सोनी ने व्यक्त किया ।कार्यक्रम में मुख्य रूप से डॉ वीरेंद्र पाठक जगन्नाथ गुरैया श्याम तिवारी शैलेश केशरवानी लक्ष्मण सिंह वृंदावन अहिरवार मनीष चौबे सोमेश जडीया याकृती जाडिया नीरज जैन गोलू कंचन गुप्ता सुषमा यादव सविता साहू प्रतिभा चौबे संतोष सोनी पवन जडीया माखनलाल सोनी रूबी पटेल महेंद्र राय संजय पंडा विश्वनाथ सोनी गणेश सोनी ज्योतिस सोनी विनोद तिवारी विमल जैन समर्थ दीक्षित महेश सोनी द्वारका सोनी जगन कोष्टी गोलू गोरी अंशुल हर्षे राजेश सोनी एवं अन्य सभी स्थानीय निवासी गण उपस्थित थे।

SAGAR: मिलावट युक्त 50 किलो पनीर को नस्ट कराया

SAGAR: मिलावट युक्त 50 किलो पनीर को नस्ट कराया  

सागर । मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की महत्वाकांक्षी योजना मिलावट से मुक्ति अभियान के तहत कलेक्टर श्री दीपक आर्य के निर्देश पर जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी श्री अमरीश दुबे द्वारा लगातार कार्रवाई की जा रही है। इसी कार्रवाई के परिपेक्ष में आज गुरुवार को मोती नगर वार्ड लिंक रोड में अशोक जैन पनीर वाले दुकान पर कार्यवाही की गई। जिसमें 50 किलो पनीर जप्त किया गया। प्रारंभिक जांच में मिलावट युक्त पनीर पाया गया। जिसको जप्त  कर विनिस्टीकरण की  कार्यवाही की गई। जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी श्री दुबे ने बताया कि इस पनीर की कीमत लगभग 10,000 से अधिक है।

MP : हत्यारे बेटे को आजीवन कारावास की सजा, शराब पीने मांगे थे पैसे माँ से, नही देने पर की थी हत्या

MP : हत्यारे बेटे को आजीवन कारावास की सजा, शराब पीने मांगे थे पैसे माँ से, नही देने पर की थी हत्या

भोपाल। भोपाल की एक अदालत ने अपनी माता की हत्या के जुर्म में धारा 302 में बेटे कोआजीवन कारावास की सजा सुनाई है। आरोपी ने मा से शराब पीने पैसे  मांगे थे। 
जनसंर्पक अधिकारी भोपाल संभाग मनोज त्रिपाठी ने बताया कि भोपाल जिले के तृतीय अपर एवम सत्र न्यायाधीश  विनोद कुमार पाटीदार के न्यायालय ने आज दिनांक 3/3/22 को  इब्राहिम गंज निवासी गोपाल शाक्य  उम्र 42 वर्ष पुत्र स्वर्गीय भल्लूराम शाक्य को अपनी माता की हत्या करने के जुर्म में धारा 302 भादवि में आजीवन कारावास एवम 10 हजार रुपये के अर्थदंड से दंडित किया है,।मामले में पैरवी अपर लोक अभियोजक सुश्री प्रीति श्रीवास्तव ने किया हैं|   



तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें

वेबसाईट


       
  प्रीति श्रीवास्तव ,अपर लोक अभियोजक



यह है घटना
दिनांक 31/08/2020 को शाम 7 बजे के लगभग अभियुक्त गोपाल  ने अपनी माँ भगवती बाई से शराब के लिए पैसे मांगा था,नही देने पर मकान no 169 मेन रोड इब्राहिम गंज के प्रथम तल पर स्थित कमरे में धारदार हथियार से अपनी माँ भगवती बाई का गला काटकर हत्या कर दी थी।

SAGAR : 5 मार्च से 26 मार्च तक होगी प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा , 90 हजार से अधिक छात्र-छात्राएं होंगे शामिल★ 8 परीक्षा केंद्रों पर होगी ऑनलाइन परीक्षा ,सीसीटीवी कैमरा के माध्यम से होगी निगरानी


SAGAR :  5 मार्च से 26 मार्च तक होगी प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा  , 90 हजार से अधिक छात्र-छात्राएं होंगे शामिल

★ 8 परीक्षा केंद्रों पर होगी ऑनलाइन परीक्षा ,सीसीटीवी कैमरा के माध्यम से होगी निगरानी

सागर । प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड भोपाल के द्वारा आयोजित प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा का 20 दिन का महाकुंभ 5 मार्च से प्रारंभ हो रहा है। प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा 5 मार्च से प्रारंभ होकर 26 मार्च तक संपन्न होगी। इसके लिए प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड भोपाल द्वारा संभागायुक्त श्री मुकेश शुक्ला को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है।
 संभागायुक्त श्री शुक्ला ने सहायक नोडल अधिकारी अतिरिक्त संचालक उच्च शिक्षा डॉक्टर जी एस रोहित को बनाया है। संभागायुक्त श्री शुक्ला द्वारा परीक्षा को शांतिपूर्ण रूप से संपन्न करने के लिए 16  आब्जर्वर की नियुक्ति की है जो 8 परीक्षा केंद्रों पर लगातार अपनी नजर बनाए रखेंगे।


 कमिश्नर श्री शुक्ला ने बताया कि प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन अक्षरशः किए जाने हेतु परीक्षा में संलग्न अधिकारी कर्मचारियों की ब्रीफिंग  की जा चुकी है। कमिश्नर श्री शुक्ला ने बताया कि प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड के द्वारा सागर जिले में आठ परीक्षा सेंटर बनाए गए हैं, जिसमें 90713 परीक्षार्थी शामिल होंगे। उन्होंने बताया कि 8 परीक्षा सेंटरों पर प्रतिदिन 4538 परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल होंगे । यह परीक्षा प्रतिदिन दो पारियों में संपन्न होगी।  उन्होंने परीक्षा को शांतिपूर्ण रूप से संपन्न कराने के लिए उपायुक्त श्री अभय सिंह ओरिया, श्री के के शुक्ला, संयुक्त उपायुक्त, श्रीमती सपना त्रिपाठी संयुक्त कलेक्टर एवं नगर दंडाधिकारी एवं श्री रविंद्र कुमार मिश्रा पुलिस अधीक्षक कार्यालय को प्रशासनिक  उड़नदस्ता के रूप में नियुक्त किया है । जो कि लगातार परीक्षा की मानिटरिंग करेंगे।


सहायक नोडल अधिकारी डॉक्टर जी एस रोहित ने बताया कि सागर में ज्ञानवीर प्राइवेट आईटीआई राजघाट रोड तिली सागर, नोबेल कॉलेज राजाखेड़ी मकरोनिया, इंफिनिटी मैनेजमेंट इंजीनियरिंग कॉलेज पथरिया जाट सागर, ज्ञान सागर कॉलेज आफ इंजीनियरिंग नरसिंहपुर रोड सिरोंजा, बीटी आईटी इंजरिंग कॉलेज नरसिंहपुर रोड सिरोंजा, स्वामी विवेकानंद विश्वविद्यालय नरसिंहपुर रोड सिरोंजा एवं शीतल स्किल डेवलपमेंट सेंटर मोती नगर को परीक्षा सेंटर बनाया गया है।

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें

वेबसाईट


 डॉक्टर रोहित ने बताया कि प्रथम पारी में आयोजित होने वाली परीक्षा में प्रातः 7ः30 बजे से 9ः00 बजे तक रिपोर्टिंग का समय रहेगा जबकि परीक्षा का समय 9ः30 से 12ः00 बजे तक का होगा । इसी प्रकार द्वितीय पारी में दोपहर 1ः00 से 2ः30 तक रिपोर्टिंग का समय होगा जबकि परीक्षा 3ः00 से 5ः30  तक आयोजित की जाएगी।
डॉक्टर रोहित ने बताया कि परीक्षा कार्य में नियुक्त सभी अधिकारियों को इस आषय का घोषणा पत्र देना होगा कि उनका कोई भी निकट  संबंधी इस परीक्षा को नहीं दे रहा है। उन्होंने बताया कि समस्त परीक्षा केंद्रों पर कंप्यूटर नेटवर्किंग सीसीटीवी कैमरा , ठंडा पेय जल, हवा, बिजली ,प्रकाश, पंखे, फर्नीचर, सफाई, परीक्षार्थियों के बैग सुरक्षित रखने आदि की समुचित व्यवस्था की गई है।
उन्होंने बताया कि परीक्षा केंद्र पर पर्यवेक्षक परीक्षार्थी दोनों के लिए परीक्षा कक्ष में मोबाइल ,पेजर, केलकुलेटर, इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस ,डाकियोपेंट केलकुलेटर युक्त घड़ी इत्यादि पूर्णता प्रतिबंधित रहेगी । परीक्षार्थी किसी भी प्रकार की आधुनिक संचार इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का प्रयोग नहीं कर सकेंगे । उन्होंने कहा कि इसका उत्तरदायित्व परीक्षा केंद्र अध्यक्ष का होगा। समस्त परीक्षा केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से परीक्षा एवं परीक्षार्थियों की निगरानी की जाएगी ।

*

*

परीक्षा में परीक्षार्थियों को परीक्षा केंद्र पर मूल प्रवेश पत्र के अतिरिक्त मूल फोटो पहचान पत्र साथ लेकर आना अनिवार्य होगा। मूल फोटोयुक्त पहचान पत्र प्रस्तुत करने पर ही परीक्षा में बैठने की अनुमति प्रदान की जाएगी मूल आईडी की फोटो प्रति मान्य नहीं होगी।

 डॉक्टर जी एस रोहित ने बताया कि अभ्यर्थी परीक्षार्थी का बहु स्तरीय बायोमेट्रिक परीक्षण होगा। प्रथम बायोमेट्रिक परीक्षण परीक्षा कक्ष या लैब में प्रवेश के समय तथा अंतिम बायोमेट्रिक परीक्षण परीक्षा समाप्ति के पश्चात अभ्यार्थी के परीक्षा कक्ष से बाहर जाने के समय पर्यवेक्षक द्वारा किया जाएगा ।उन्होंने समस्त परीक्षार्थियों से अपील की है कि कोई भी परीक्षार्थी पारदर्शी पानी की बॉटल और पारदर्शी पेन के अलावा कोई भी सामग्री परीक्षा केंद्र पर ना लाएं । अन्य कोई भी सामग्री परीक्षा केंद्र के अंदर प्रवेश से निरुद्ध
रहेगी।

Archive

Adsense