सोमवार, 25 अप्रैल 2022

मुख्यमंत्री विद्युत बिल राहत योजना के तहत बिलमाफी के प्रमाण-पत्र वितरित किए मंत्री गोविंद राजपूत ने

मुख्यमंत्री विद्युत बिल राहत योजना के तहत बिलमाफी के प्रमाण-पत्र वितरित किए  मंत्री गोविंद राजपूत ने

★ 33 हजार से अधिक घरेलू उपभोक्ताओं को 14 करोड़ रूपये के बिल माफ

सागर । राजस्व एवं परिवहन मंत्री श्री गोविन्द सिंह राजपूत ने जैसीनगर में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री विद्युत बिल में राहत योजना-2022 के अंतर्गत एक किलोवाट तक के घरेलू विद्युत कनेक्षन पर 31 अगस्त 2020 की स्थिति में बकाया वसूली के कोरोना काल के विद्युत बिल माफी के प्रमाण-पत्र वितरित किए। श्री राजपूत ने बताया कि सुरखी विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत 33 हजार से अधिक घरेलू विद्युत उपभोक्ताओं को 13 करोड़ 86 लाख रूपये के विद्युत बिल माफ किए गए है।

मध्यप्रदेष पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी द्वारा आयोजित कार्यक्रम में राजस्व एवं परिवहन मंत्री श्री राजपूत ने मंच से प्रतीकस्वरूप कुछ हितग्राहियों को बिलमाफी के प्रमाण-पत्र वितरित किए। इनमें श्री बहादुर सिंह पिता नन्हेलाल ठाकुर ग्राम करैया एक लाख 440 रूपये, श्री अरविन्द पिता श्री रामषंकर सिरोठिया ग्राम सरखड़ी को 36 हजार 886 रूपये, श्री कमलेष सेन ग्राम सरखड़ी को 22 हजार 906 रूपये, श्री पंचे पिता बिहारी आदिवासी ग्राम सूखा को 23 हजार 101 रूपये, श्रीराम दुबे ग्राम सूखा को 10 हजार 588, रामवती मिश्रा ग्राम सरखड़ी को 19 हजार 447, श्री सुहागरानी अहिरवार ग्राम अगरिया को 14 हजार 49 रूपये, श्री लखनलाल कुर्मी ग्राम बांसा 17 हजार, श्री करोड़ी ग्राम अगरिया 22 हजार 254, श्री लीलाधर ग्राम सरखड़ी को 11 हजार 647, श्री कुंवरसींग ग्राम खजुरिया को 14 हजार 237 रूपये आदि शामिल है।


आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मंत्री श्री राजपूत ने कहा कि कोरोना काल में लोगों के रोजगार, काम धंधे प्रभावित हुए थे। इससे लोगों को कई समस्याओं का सामना करना पड़ा। लोग बिजली का बिल जमा नहीं कर पा रहे थे। राज्य सरकार ने आम लोगों की समस्याआें को समझा और राषि की वसूली को कोरोना काल में राहत देने के लिए स्थगित कर दिया गया था। मुख्यमंत्री विद्युत बिलों में राहत योजना-2022 के अंतर्गत राषि माफ की गई है। उन्होंने बताया कि यदि आपके द्वारा समाधान योजना-2021 के अंतर्गत उपरोक्त राषि के विरूद्ध राषि का भुगतान किया गया है, तो उक्त राषि आगामी बिलों में समायोजित की जाएगी।

श्री राजपूत ने कहा कि आगामी समय में क्षेत्र को लोगों के नेत्ररोग के निराकरण के लिए षिविर लगाए जाएंगे। उनके मोतियाबिंद के ऑपरेषन निःषुल्क किए जाएंगे। चष्मे भी निःषुल्क दिए जाएंगे। रोगियों के भोजन एवं रूकने की व्यवस्था भी मुफ्त रहेगी।

राजस्व मंत्री श्री राजपूत ने लोगों को बताया कि मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के अंतर्गत जैसीनगर में 13 मई को और जनपद राहतगढ़ में 11 मई को सामूहिक विवाह सम्मेलन आयोजित किए जाएंगे। उन्होंने लोगां से अनुरोध किया है कि कन्याओं को विवाह हेतु पंजीयन के लिए अपनी ग्राम पंचायत एवं जनपद पंचायत में संपर्क करें। मध्यप्रदेष सरकार बेटियों के विवाह पर 55 हजार रूपये की राषि खर्च करेगी।

कन्या का मध्यप्रदेष का मूल निवासी होना अनिवार्य है। कन्या की उम्र 18 साल और लड़के की उम्र 21 साल से उपर होना चाहिए।  राजस्व मंत्री ने कहा कि इन कार्यक्रमों में हमें  इसी तरह कार्य करना है, जैसे कि हमारे घर का ही आयोजन हो। राजस्व मंत्री ने स्वच्छ भारत अभियान के तहत जैसीनगर जनपद पंचायत की ग्राम पंचायतों को डस्टबिन बाक्स (कचरा बॉक्स) वितरित किए। उन्होंने ग्रामों को साफ-स्वच्छ बनाने की अपील भी की। उन्होंने कहा कि जहां साफ-सफाई रहती है, वहां लोग कम बीमार पड़ते है। उन्होंने जैसीनगर के विभिन्न पंचायतों में तालाब एवं अन्य कार्यों के लिए 2 करोड़ 43 लाख रूपये की राषि स्वीकृति दी।  

इस अवसर पर मध्यप्रदेष पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के अनुविभागीय अधिकारी श्री विकास मिश्रा ने मुख्यमंत्री विद्युत बिलों में राहत योजना-2022 के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने जानकारी दी कि सुरखी विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत एक किलोवाट तक के 33 हजार 33 घरेलू विद्युत उपभोक्ताओं को 13 करोड़ 86 लाख रूपये के विद्युत बिल माफ किए गए है। कार्यक्रम में अन्य जनप्रतिनिधि, एसडीएम श्रीमती सपना त्रिपाठी, जनपद सीईओ श्री खरे सहित अधिकारी-कर्मचारी और ग्रामीणजन उपस्थित थे।



0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive

Adsense