शुक्रवार, 29 अप्रैल 2022

मेरा सपना खुरई में भी बने मेडीकल कालेजः मंत्री भूपेन्द्र सिंह★ खुरई सिविल अस्पताल में 20 लाख की लागत से डायलिसिस मशीन का शुभारंभ★ निःशुल्क स्वास्थ्य मेले में 1884 लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण, उपचार

मेरा सपना खुरई में भी बने मेडीकल कालेजः मंत्री भूपेन्द्र सिंह
★  खुरई सिविल अस्पताल में 20 लाख की लागत से डायलिसिस मशीन का शुभारंभ
★ निःशुल्क स्वास्थ्य मेले में 1884 लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण, उपचार
खुरई। मध्यप्रदेश शासन के नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह ने खुरई सिविल अस्पताल में दो डायलिसिस यूनिट सहित टीबी, केंसर एवं नेत्र रोग की जांच की मशीनों का शुभारंभ किया। अस्पताल में आयोजित वृहद स्वास्थ्य मेला में आए लाभार्थियों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि उनकी कोशिश है कि क्षेत्र की जनता को अच्छी से अच्छी स्वास्थ्य सुविधाएं मिलें इसके लिए वह लगातार प्रयास कर रहे हैं।_

     मंत्री भूपेंद्र सिंह ने कहा कि खुरई में यहां सिविल अस्पताल बनाने से लेकर मशीनों की अधिकतम व्यवस्था की है। बुंदेलखंड मेडीकल कालेज को छोड़कर सागर जिले में कहीं भी सिविल अस्पताल की ऐसी बिल्डिंग नहीं है। आज यहां डायलिसिस मशीन प्रारंभ की गई है और अब मरीजों को कहीं बाहर नहीं जाना पड़ेगा। 



उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के समय यहां जैसी सक्षम व्यवस्थाएं जिले में भी नहीं थीं। उस समय आक्सीजन, इंजेक्शन, दवाइयां, भोजन की निःशुल्क व्यवस्था की गई थी और 335 लोगों को स्वस्थ करके भेजा गया था। उस समय एक साथ 4 एंबुलेंस की भी व्यवस्था की गई और जरूरी इंतजाम करने सिविल अस्पताल को एक करोड़ रूपए दिए थे। यहां आक्सीजन प्लांट लगवाया। पानी के लिए बोरिंग कराया। अस्पताल पहुंचने की सड़क सकरी थी जहां चैड़ी सीसी रोड बनवाकर उस पर स्ट्रीटलाइट की पूरी व्यवस्था कर दी। 

     मंत्री श्री सिंह ने कहा कि सिविल अस्पताल में सुलभ काम्प्लेक्स बनाने के आदेश दे दिए गये हैं और इस मंच से रैनबसेरा भी स्वीकृत कर रहा हूं जो जल्दी ही बन जाएंगे। सीटी स्केन मशीन लगवाने के प्रयास भी जारी हैं। इसके साथ ब्लडबैंक भी जल्दी स्वीकृत कराएंगे। 

     मंत्री भूपेंद्र सिंह ने कहा कि स्वास्थ्य के क्षेत्र में अभी और काम करना बाकी है। मेरा सपना है कि खुरई में मेडीकल कालेज बने जिसके लिए सिविल अस्पताल से लगी 13 एकड़ जमीन को कब्जा मुक्त करा कर इसके लिए आरक्षित कर दिया गया है। उन्होंने कहा सिविल अस्पताल में डाक्टर्स और पैरामेडिकल स्टाफ के रिक्त पद भरने का भी प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार का उद्देश्य है कि हर गरीब को निःशुल्क उपचार मिले। इसके तहत देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने आयुष्मान योजना शुरु की है। 


     इस योजना में किसी भी प्राइवेट अस्पताल में सभी का 5 लाख रूपए तक का निःशुल्क इलाज सरकार कराती है। सभी पात्र व्यक्ति अपना आयुष्मान कार्ड जरूर बनवाएं ताकि आयुष्मान योजना का लाभ ले सकें। मंत्री श्री सिंह ने जानकारी दी कि आजादी के अमृत महोत्सव के तहत आज सिविल अस्पताल में आयोजित इस निःशुल्क स्वास्थ्य मेले में कुल 2144 पंजीयन हुए जिनमें से 1884 लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण व उपचार किया गया जो कि लाभार्थियों की बड़ी संख्या है। 
  मंत्री श्री सिंह ने स्वास्थ्य मेले में दिव्यांग चंद्रभान सिंह, तखत सिंह सौंर तथा जितेंद्र धनीराम को ट्राईसाइकिल प्रदान की। इसके अलावा दो व्हील चेयर और दो कान की मशीनें भी जरूरतमंदों को प्रदान कीं। स्वास्थ्य मेले में कलेक्टर दीपक आर्य, स्वास्थ्य संयुक्त संचालक नीना गिडियन, सीएमएचओ सुरेश बौद्ध, बीएमओ शेखर श्रीवास्तव सहित विभिन्न विशेषज्ञ चिकित्सक, पैरामेडिकल स्टाफ तथा भाजपा कार्यकर्ता एवं जनप्रतिनिधि उपस्थित थे। 

स्वास्थ्य मेले में डा. आदित्य दुबे, डा. संतोष पटेल, डा. प्रशांत तिवारी, डा. दीपक तिवारी, डा. पीके जैन, डा. पल्लवी खरे, डा. संध्या पालिया, डा. सुधीर साहू, डा. वीकेस फुसकेले, डा. पुष्पराज सिंह, डा. बरखा केशरवानी, डा. आकाश विश्वे, डा. नीतेश दुबे, डा. महरीन कुरैशी, डा. विनीता कुशवाहा तथा टेक्निकल सुपरवाइजर अमिताभ चैबे ने अपनी महत्वपूर्ण सेवाएं दीं।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive

Adsense