शुक्रवार, 29 अप्रैल 2022

अनोखा प्रदर्शनलहसुन - प्याज की उपज को मिले उचित दाम, , पूर्व मंत्री हर्ष यादव ने सिर पर लहसुन प्याज की बोरी रखकर और गले मे माला डालकर किया प्रदर्शन★SDM कार्यालय के सामने सड़क पर फेंका दिया लहसुन प्याज किसानों ने

अनोखा प्रदर्शन
लहसुन - प्याज की उपज को  मिले उचित दाम, , पूर्व मंत्री हर्ष यादव ने सिर पर लहसुन प्याज की बोरी रखकर और गले मे माला डालकर किया प्रदर्शन
★SDM कार्यालय के सामने सड़क पर फेंका दिया लहसुन प्याज किसानों ने

सागर। मध्यप्रदेश में इस दफा लहसुन प्याज की खेती खूब हुई है। लेकिन किसानों को इसका सही दाम नही मिला है। इनके भंडारण आदि की व्यवस्था नही होने से किसान परेशान है। एमपी के सागर जिले के देवरी में दामो को लेकर  कमलनाथ सरकार में मंत्री रहे और विधायक हर्ष यादव ने किसानों के साथ अनोखा प्रदर्शन किया। पूर्व मंत्री हर्ष यादव लहसुन प्याज की बोरी रखकर पैदल चले और  गले मे  लहसुन प्याज की माला भी साथ मे डाले हुए थे। प्रदर्शन के दौरान अनेक  प्रदर्शनकारी सिर पर प्याज लहसुन की बोरी रखे हुए थे। सभी देवरी SDM कार्यालय पहुचे और आठ सूत्रीय मांगो को लेकर राष्ट्रपति के नाम  ज्ञापन दिया।

देवरी क्षेत्र के विधायक हर्ष यादव के नेतृत्व मे कांग्रेसियों एवं क्षेत्र के सैकड़ों किसानों ने अनुविभागीय राजस्व अधिकारी देवरी को देश के महामहिम राष्ट्रपति महोदय भारत सरकार नई के नाम ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन के पूर्व नगरपालिका चौराहा पर आमसभा को संबोधित करते हुये विधायक हर्ष यादव ने कहा कि प्रदेश मे रावणराज चल रहा है।अराजकता का माहौल है।प्रदेश मे न कोई किसानों की ,न व्यापारियों की और न ही आम आदमी की कोई सुनने वाला है,मुख्यमंत्री चैन की वंशी बजा रहे है।


भारतीय जनता पार्टी के नेता,कार्यकर्ता लूटने मे लगे हुये है।उन्होंने कहा कि आजकल बिजली डिस्को लाइट हो गई है जलती है बुझती है। आज किसान परेशान है गर्मी मे अपने खेतो मे मूंग,सब्जी, उदड आदि फसले लगी हुई है बिजली की अघोषित कटौती से फसलें बर्बाद हो रही है। बच्चों की पढाई प्रभावित हो रही है।और किसान खून के आंसू बहा रहा है। क्षेत्र मे इस बार लहसुन, प्याज की अच्छी पैदावार हुई है परन्तु भाव नहीं मिलने से किसानों की लागत नहीं निकल रही है। अपने खून पसीने से पैदा की फसल फेकने को मजबूर है। श्री यादव ने कहा कि सरकार लहसुन और प्याज समर्थन मूल्य पर तत्काल खरीदी शुरू कराये या किसानों को भावांतर योजना के तहत खरीद कर 50 हजार रुपये एकड की राशि दी जाय। प्रदेश की भाजपा सरकार अपने आप को किसान हितैषी कहती है परन्तु आज किसान खून के आसूं बहा रहा है। वर्ष 2015 मे भाजपा सरकार ने समर्थन मूल्य पर प्याज की खरीदी कराई थी परन्तु आज प्रदेश मे चुनाव नहीं इस कारण लहसुन, प्याज की खरीदी नहीं की जा रही है।भाव न मिलने के कारण प्याज ,लहसुन विक्रय पर लागत नहीं निकल रही है। किसान परेशान है।महगांई बेतहाशा बढ रही है। लोगों को अपनी जरुरतों की चीजें नहीं खरीद पा रहा है।चारो ओर अराजकता का माहौल है।


आमसभा के पश्चात विधायक हर्ष यादव के साथ क्षेत्र के सैकड़ों किसान अपने अपने गले मे प्याज, लहसुन की माला पहने एवं ट्रेक्टर मे सैकडों बोरी लहसुन लेकर नारेबाजी करते हुये अनुविभागीय राजस्व कार्यालय देवरी पहुंचे जहां पर किसानों ने अपने वाहनों मे रखा लहसुन एसडीएम गेट के सामने फेंक दिया साथ ही ज्ञापन के साथ मुख्यमंत्री, कृषि मंत्री को लहसुन भेजकर उचित दामों समर्थन मूल्य पर सरकार द्वारा खरीदने की मांग की।ज्ञापन मे मांग की है कि सागर जिले की विधानसभा क्षेत्र देवरी में सबसे ज्यादा लहसुन - प्याज उत्पादक कृषक है। जिन्होने इस वर्ष 2022 में अच्छे उत्पादन को लेकर बहुत ज्यादा लागत लगाकर लहसुन- प्याज की फसल बोयी हुई थी। किन्तु इस वर्ष उक्त फसलों का उचित मूल्य किसानों को प्राप्त नहीं हो रहा है।
कोरोना संकटकाल एवं प्राकृतिक आपदा के कारण विगत 3-4 वर्षो से क्षेत्र का अन्नदाता आर्थिक रूप से बेहद परेशान है।फसलों का उचित दाम न मिलने से किसान परेशान है।
इस वर्ष  2022 में किसानों ने फसल के अच्छे उत्पादन को लेकर जमा पूँजी को व्यय कर अच्छा उत्पादन किया है , किन्तु बाजार भाव ठीक न होने से किसानों को बेहद नुकसान हुआ है , प्रदेश सरकार लहसुन- प्याज फसल को समर्थन मूल्य पर खरीदने की प्रक्रिया सुनिश्चित करें ।लहसुन - प्याज उत्पादक कृषकों को अपनी फसल विक्रय के निर्यात खोले जाए एवं उद्यानिकी विभाग के माध्यम से लहसुन- प्याज भण्डारण केन्द्र निर्माण के सब्सिडी आधार लक्ष्य ज्यादा से ज्यादा प्रदाय किए जाए।



 किसानों को लाभ पहुँचाने हेतु क्षेत्र में फ्रूट प्रोसेसिंग यूनिट स्थापित की जाए।क्षेत्र में लगातार पम्प फीडर ,घरेलू फीडर बंद कर विद्युत कटौती की जा रही है , जिससे ग्रामीण क्षेत्रों में गूंग, उडद एवं सब्जी की फसलों की सिंचाई एवं बच्चों की पढाई प्रभावित हो रही है । विद्युत कटौती पर तत्काल रोक लगाई जाएं। पेट्रोलियम पदार्थो व खाद्य पदार्थों की लगातार मूल्य वृद्धि से आम नागरिक बेहद परेशान है । आमनागरिकों के हितो को ध्यान में रखते हुए मूल्य वृद्धि वापिस ली जाए । ज्ञापन के माध्यम से मांग की है कि ग्रीष्मकाल के दौरान ग्रामीण क्षेत्रों में बेहद भीषण पेयजल संकट उत्पन्न हो चुका है , लगातार जलस्तर गिरने से ग्रामीण क्षेत्रों में संचालित हैण्डपम्प व नलजल योजनाएं बंद होती जा रही है । संबंधित विभाग प्रमुख एवं स्थानीय जनपद पंचायत देवरी, केसली द्वारा पेयजल संकट को ध्यान में रखते हुए कोई आवश्यक प्रभावी कदम अभी तक नहीं उठाए । क्षेत्र में पेयजल संकट को ध्यान में रखते हुए , नवीन नलकूप खनन कराने , बंद योजनाओं को शीघ्र चालू कराने की कार्यवाही त्वरित की जाए । उपरोक्त मांगो का शीघ्र निराकरण किया जावें । नहीं तो आगामी समय में क्षेत्रीय किसानों के साथ भूख हडताल व उग्र आंदोलन किया जाएगा , जिसकी संपूर्ण जबाबदारी शासन की होगी ।


0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive

Adsense