जंय श्री गणेशाय नमः

शुक्रवार, 30 जुलाई 2021

सम्भागीय मुख्यालय सागर पर चल रहे अव्यवस्थित निर्माण कार्यो से जनता परेशान ★ नागरिकों की असुविधा पर विकास स्वीकार्य नहीं : कमिश्नर मुकेेेश शुक्ला ★कमिश्नर ने दी टाटा कंपनी को चेतावनी

सम्भागीय मुख्यालय सागर पर चल रहे अव्यवस्थित निर्माण कार्यो से जनता परेशान

★ नागरिकों की असुविधा पर विकास स्वीकार्य नहीं : कमिश्नर मुकेेेश शुक्ला

★कमिश्नर ने दी टाटा कंपनी को चेतावनी

सागर। सम्भागीय मुख्यालय सागर ओर इन दिनों सीवरेज, पेयजल पाईप लाईन  ,सागर झील का जिर्णोद्धार और सड़क निर्माण का काम लगा है। निर्माण कामो में तालमेल और मनमाने तरीके से किये जाने के कारण पूरा शहर परेशान है। स्मार्ट सिटी और नगर निगम के निर्माण कार्य तमाशा बने है।बारिश ने परेशानी को और बढ़ा दिया है। जगह जगह गढ्ढे खुदे होने और सड़कों पर मिट्टी मलबा पड़ा है। जिसके कारण दुर्घटनाये भी बढ़ी है। शहर में आने जाने के कई रास्ते बंद पड़े है। समय सीमा में भी काम पूरा होता नही दिख रहा है।  रिरेस्टोरेशन समय सीमा में पूरा नही होने से भी फजीहत प्रशासन की हो रही है। जबप्रतिनिधियो की भी जमकर आलोचना  हो रही है। इस सम्बंध में कमिश्नर मुकेश शुक्ला ने इसको लेकर आज एक बैठक भी ली। 

नागरिकों की असुविधा पर विकास स्वीकार्य नहीं। शहर में चल रहे निर्माण कार्यों को इस प्रकार सुनियोजित तरीके से किया जाए जिससे नागरिकों को कम-से-कम असुविधा का सामना करना पड़े। तीन दिन के नोटिस पीरियड में व्यवस्थाएं दुरुस्त नहीं होने पर कठोर कार्रवाई होगी। शहर में नागरिकों को होने वाली अव्यवस्था के खिलाफ कमिश्नर श्री शुक्ला ने टाटा कंपनी सहित नगर निगम एवं स्मार्ट सिटी के द्वारा कराए जा रहे विभिन्न कंपनियों के अधिकारियों को सख्त चेतावनी दी।

देखे वीडियो : कमिश्नर मुकेश शुक्ला ने क्या कहा


इस अवसर पर नगर निगम कमिश्नर श्री आरपी अहिरवार, स्मार्ट सिटी सीईओ श्री राहुल सिंह राजपूत, नगर निगम स्मार्ट सिटी कि अधिकारी इंजीनियर एवं समस्त निर्माण करने वाली एजेंसियों के अधिकारी मौजूद थे।
संभागायुक्त श्री शुक्ला ने शहर में कराए जा रहे विभिन्न निर्माण कार्यों की समीक्षा करते हुए स्पष्ट रूप से निर्देश दिए कि किसी भी विकास कार्य में शहर के नागरिकों को आसुविधा नहीं होनी चाहिए और यदि इसकी सूचना मिलती भी है तो तत्काल वैधानिक कार्रवाई की जाए।
उन्होंने संबंधितों को 3 दिन का समय देते हुए कहा कि 3 दिन में संपूर्ण कार्यों की गतिविधियां और कार्य नहीं सुधारा गया तो ना केवल कंपनियों को ब्लैकलिस्ट किया जाएगा बल्कि उन पर कानूनी कार्रवाई भी की जाएगी।


तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे




ट्वीटर  फॉलो करे



वेबसाईट

उन्होंने कहा कि निर्माण कार्यों को बिना किसी पूर्व योजना के करने से शहर की जनता को असुविधा हो रही है।  निर्माण कार्य से राजघाट की पेयजल सप्लाई की लाइन भी क्षतिग्रस्त होने से शहर में दो-दो दिन में पानी सप्लाई नहीं हो पा रहा है। यह बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।
 
उन्होंने निर्देश दिए कि बरसात के मौसम में स्ट्रीट लाइट को चालू रखा जावे जिससे राहगीरों को आने-जाने में परेशानी का सामना ना करना पड़े ।उन्होंने स्पष्ट रूप से निर्देश दिए कि प्रत्येक कार्य  तकनीकी अधिकारियों की मौजूदगी में कराया जाए। कार्यस्थल पर तकनीकी अधिकारी उपस्थित रहे ।

उन्होंने कहा कि, लाखा बंजारा झील से निकल रही मिट्टी सड़कों पर ना गिरे , इसकी भी सघन मॉनिटरिंग की  जावे और यदि मिट्टी से कोई दुर्घटना होती है इसके लिए कंपनी जिम्मेदार होगी ।

उन्होंने कहा कि लाखा बंजारा झील का कार्य शहर के नागरिकों की भावनाओं से जुड़ा हुआ मुद्दा है इसे शीघ्रता एवं गुणवत्तापूर्ण रूप से पूर्ण किया जाए ।
उन्होंने कहा कि निर्माण में लगे डम्फर एवं मशीनरी  का उपयोग करते समय ट्रैफिक का ध्यान रखा जाए ।

श्री शुक्ला ने निर्देश दिए कि निर्माण स्थलों पर, सड़कों पर साइन बोर्ड लगाए जाएं,  निर्माणाधीन जगह पर बैरिकेडिंग की जावे जिससे किसी भी प्रकार की दुर्घटना को रोका जा सके। 


---------------------------- 







तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885



--------------------------

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive