सतर्क रहें..बने सायबर योद्धा

गुरुवार, 23 दिसंबर 2021

वार्षिक राशिफल 2022 : जाने कैसा रहेगा नया साल : मेष , वृष ,मिथुन और कर्क राशि के जातकों का राशिफल ★ पण्डित अनिल पांडेय

वार्षिक राशिफल 2022 : जाने कैसा रहेगा नया साल : मेष , वृष ,मिथुन और कर्क राशि के जातकों का राशिफल

★ पण्डित अनिल पांडेय



नया साल शुरू हो रहा है। जातक के लिए कैसा रहेगा साल 2022 । जाने पहले मेष ,वृष ,मिथुन और कर्क राशि के जातकों का सालाना राशिफल।


मेष राशि के जातकों का वर्ष 2022 का वार्षिक राशिफल 



वर्ष के प्रारंभ में गुरु आपकी एकादश भाव में रहेंगे तथा बाद में आपके द्वादश भाव में पहुंचेंगे । राहु प्रारंभ में दिव्तीय भाव में रहेंगे तथा बाद में लग्न भाव में स्थापित होंगे । शनि प्रारंभ में दशम भाव में रहेंगे तथा बाद में एकादश भाव में विचरण करेंगे। अन्य ग्रह  महीने के अनुसार बदलते रहेंगे।
इस प्रकार वर्ष 2022 का प्रारंभ मेष राशि के जातकों के लिए धन के मामले में सामान्य रहेगा । जो कि बाद में काफी बड़े खर्चे में बदलेगा । खर्चे की यह बढ़ोतरी आपके सुख और अच्छे कार्यों जैसे कि विवाह घर खरीदना आदि के लिए होगी । इसमें अगर आपके परिवार में किसी की का विवाह तय होना है तो वह विवाह भी हो सकता है। अप्रैल के बाद गलत रास्ते से धन आने का योग भी बनेगा 
मेष राशि के जातक जो कि नौकरी में हैं उनका इस वर्ष फरवरी के बाद स्थानांतरण के साथ-साथ प्रमोशन का भी योग है । उस समय यह लोग दो जगह के इस्टैब्लिशमेंट में होने के कारण आर्थिक रूप से थोड़ा परेशान रहेंगे ।
आपका भाग्य वर्ष के प्रारंभ में साथ देगा परंतु बाद में आपको अपने परिश्रम पर ज्यादा भरोसा करना पड़ेगा ।  आप फरवरी के बाद अपने परिश्रम पर ही भरोसा करें । यह सोच कर कि भाग्य साथ दे जाएगा कोई रिस्क का कार्य ना करें । जैसे अगर आपको उम्मीद है की जनता आप का बहुत सपोर्ट करती है ।  आप इलेक्शन में जीत जाएंगे तो इस बात को किसी अन्य से भी जांच करवा लें । फिर इलेक्शन लड़े।
फरवरी के बाद आपके संतान को कष्ट हो सकता है । यह भी संभव है कि आप को अपने संतान से कष्ट हो। जो जातक अभी छात्र हैं उनकी पढ़ाई लिखाई में बाधा पड़ेगी ।
आपका स्वास्थ्य 2022 में नरम गरम चलता रहेगा । आपको चाहिए कि आप 2022 में अपना और अपने जीवन साथी का बराबर विभिन्न टेस्ट करवाते रहें । जिससे कि किसी बड़ी बीमारी की जानकारी आप को पहले से ही मिल सके।
साझेदारी व्यापार में आपको सतर्क रहना चाहिए । इस वर्ष साझेदार आपको धोखा दे सकता है । व्यापार में आपके इस वर्ष उन्नति होगी और यह भी संभव है कि आपको अपना व्यापार बढ़ाने के लिए काफी पैसा लगाना पड़े।
आपको चाहिए कि आप हर शनिवार हनुमान जी को चोला चढ़ावे।
आपको चाहिए कि आप महीने के पहले सोमवार को भगवान शिव का अभिषेक करें।
आपको चाहिए कि आप काले कुत्ते को हर बुधवार को रोटी खिलाएं।

वृष राशि के जातकों का वर्ष 2022 का वार्षिक राशिफल 




वृष राशि राशि चक्र की दूसरी राशि है। कृतिका नक्षत्र की अंतिम तीन चरण , रोहिणी नक्षत्र के चारों चरण तथा मृगशिरा नक्षत्र के पहले दो चरण मिलकर वृष राशि का निर्माण करते हैं इस राशि का स्वामी शुक्र है उसका स्वभाव स्थिर है । इसे सोम्य , राशि मानी जाती है। इस राशि का तत्व पृथ्वी है ,गुण राजसी  है जाति वैश्य है । यह रात्रि में बलि होती है । दक्षिण दिशा की स्वामी है । बात संबंधी रोग इसी राशि की वजह से होते हैं ।शरीर में गला और मुख पर होने वाले सभी क्रियाओं का असर इसी राशि से देखा जाता है। इस राशि के लोग अपने में डूबे रहने वाले विद्या की आकांक्षा रखने वाले तथा अपने कार्य समय से निपटाने वाले होते हैं। सांसारिक कार्यों में दक्ष होते हैं और उनको बुद्धिमत्ता पूर्वक निपटाते हैं। इस राशि वालों के लिए मंगल बाजार ग्रह होता है वृश्चिक बाधक राशि होती है और शनि तथा शुक्र इनके लिए शुभ ग्रह होते हैं।
वर्ष के प्रारंभ में गुरु मकर राशि में रहेंगे । 13 अप्रैल से मीन राशि गोचर करेंगे । 29 जुलाई से गुरु मीन राशि में वक्री होंगे तथा 24 नवंबर से मार्गी हो जाएंगे । इसी प्रकार शनि 28 अप्रैल को कुंभ राशि  में प्रवेश करेंगे । 5 जून से शनि वक्री होंगे तथा 12 जुलाई को  मकर में प्रवेश करेंगे । 13 अक्टूबर से शनि मकर राशि में मार्गी हो जाएंगे । राहु 11 अप्रैल को अपनी उच्च राशि वृष से वक्री चाल चलते हुए मेष राशि में प्रवेश करेंगे तथा पूरे वर्ष भर मेष राशि में ही रहेंगे।
अन्य ग्रह जैसे सूर्य मंगल शुक्र आदि महीने के अनुसार बदलते रहेंगे।
प्रारंभ में आपकी आर्थिक स्थिति सामान्य रहेगी परंतु गुरु के अप्रैल में हो रहे राशि परिवर्तन की वजह से आपकी आर्थिक स्थिति तथा अन्य सभी प्रकार के मामलों में सफलता मिलने की मात्रा बढ़ेगी।।
धन उपार्जन - वर्ष के प्रारंभ में आपकी आर्थिक स्थिति सामान्य रहेगी 14 मार्च 2022 के बाद आपके पास धन आने की मात्रा बढ़ती जाएगी। 29 जुलाई के बाद आपके पास आने वाले धन में कमी आएगी । 18 अक्टूबर 2022 के बाद आपके पास पुनः धन आने लगेगा । इस प्रकार हम कह सकते हैं की वर्ष के प्रारंभ में आपके पास ठीक-ठाक धन रहेगा परंतु मार्च के बाद धन की मात्रा में वृद्धि होगी बीच में थोड़ी सी धन की आवक कमी होगी परंतु वर्ष के अंत में पर्याप्त धन आपके पास आने लगेगा।
भाग्य-वर्ष के प्रारंभ में आपको भाग्य से काफी मदद मिलेगी आपके बहुत सारे कार्य कम परिश्रम से ही संपन्न हो जाएंगे । मार्च के महीने में विशेष रुप से 27 फरवरी के बाद और 31 मार्च के पहले भाग्य का आपको बहुत ज्यादा साथ मिलेगा। अगस्त के महीने में भी भाग्य आपका साथ देगा। इस प्रकार भाग्य के सहारे स्थान पर आपको परिश्रम का सहारा ज्यादा लेना चाहिए।
उपाय - आपको चाहिए कि आप पूरे वर्ष गुरुवार का व्रत रखें राम रक्षा स्त्रोत का प्रतिदिन जाप करें।
कैरियर-वर्ष के प्रारंभ में कार्यस्थल पर आप  पर कोई विशेष ध्यान नहीं दिया जाएगा परंतु मई महीने से आप अपने कार्यालय के एक चमकते हुए सितारे  कहलाए जाओगे । आपको आपके संस्थान से हटाने का भी कुछ लोग प्रयास कर सकते हैं । ऐसे लोगों से आपको पहले से ही सावधान रहना पड़ेगा। मई महीने से अधिकारीगण आप को विशेष तवज्जो देंगे।
उपाय - आपके शनिवार को शनि मंदिर में जाकर शनिदेव की पूजा करनी चाहिए।
परिवार-वर्ष के प्रारंभ दिनों में आपको अपने माता-पिता से प्रचुर स्नेह मिलेगा मई महीने परंतु बाद में पिताजी के स्वास्थ्य में थोड़ी खराबी आने के कारण आप सभी परिवार के लोग परेशान हो सकते हैं वर्ष के प्रारंभ में यह संभव है कि आपके भाई बहन आपके साथ थोड़ा कम सहयोग करें परंतु कुछ समय बीतने के बाद मई के महीने से आपको अपने भाई बहनों का साथ भरपूर मिलेगा ।आपकी संतान भी आपको सहयोग करेगी बाद में संतान को थोड़ी परेशानी हो सकती है। परिवार जनों के बीच आपस में थोड़ा बहुत कन्फ्यूजन भी वर्ष के प्रारंभ के दिनों में हो सकता है।
उपाय - शनिवार के दिन शनि मंदिर में जाकर पूजा करनी चाहिए।
स्वास्थ्य- वर्ष के प्रारंभ के दिनों में आपका और आपकी जीवन साथी का स्वास्थ्य थोड़ा नरम गरम रहेगा । मांह मई से आपके और आपके जीवन साथी के स्वास्थ्य में पर्याप्त सुधार होगा । अगर आपको गर्दन और कमर में अभी दर्द है तो यह दर्द मई माह से ठीक होने लगेगा परंतु 13 अक्टूबर 2022 के बाद पुनः यह बीमारी प्रारंभ हो सकती है।
उपाय - काले कुत्ते को बुधवार के दिन रोटी खिलाएं।
व्यापार-आपका व्यापार वर्ष के प्रारंभ के दिनों में थोड़ा धीमा हो सकता है परंतु वर्ष के मध्य से आपके व्यापार में तेजी आएगी। यह भी संभावना है कि आप कोई बड़ा व्यापार प्रारंभ करें या अपने व्यापार को बढ़ाने के लिए और पूंजी निवेश करें।
उपाय -राम रक्षा स्त्रोत का प्रतिदिन दिन जाप करें । 
मकान कार जमीन आदि-इस बात की पूरी संभावना है कि अगस्त या सितंबर के महीने में वृष राशि के जातक अपनी सुख सुविधा वाली कोई वस्तु कैसे मकान कार एयर कंडीशनर आदि खरीदें।
सभी प्रकार के कष्टों को दूर करने का उपाय -
हर माह के प्रथम सोमवार को भगवान शिव का दूध से अभिषेक करें।


मिथुन  राशि के जातकों का वर्ष 2022 का वार्षिक राशिफल 



मिथुन राशि राशि चक्र की तीसरी राशि है। मृगशिरा नक्षत्र की अंतिम दो चरण , आद्रा नक्षत्र के चारों चरण तथा पुनर्वसु नक्षत्र के पहले तीन चरण मिलकर मिथुन राशि का निर्माण करते हैं । इस राशि का स्वामी बुध है । इसका स्वभाव द्विस्वभाव है । मिथुन राशि की प्रवृत्ति क्रूर है । इस राशि का तत्व वायु है ,गुण सात्विक  है जाति शूद्र है । यह रात्रि में बलि होती है । पश्चिम दिशा की स्वामी है ।  यह राशि  त्रिधातु  प्रकृति की है।शरीर में कंधा  छाती और फेफड़े पर होने वाले सभी क्रियाओं का असर इसी राशि से देखा जाता है। यह एक शुष्क राशि है । इस राशि के लोग विद्या की आकांक्षा रखने वाले तथा शिल्प कला में प्रवीण होते हैं ।।  इस राशि वालों के लिए सूर्य बाधक ग्रह होता है । सिंह राशि बाधक राशि होती है और बुध तथा शुक्र इनके लिए शुभ ग्रह होते हैं।
वर्ष के प्रारंभ में गुरु मकर राशि में रहेंगे । 13 अप्रैल से मीन राशि गोचर करेंगे । 29 जुलाई से गुरु मीन राशि में वक्री होंगे तथा 24 नवंबर से मार्गी हो जाएंगे । इसी प्रकार शनि 28 अप्रैल को कुंभ राशि  में प्रवेश करेंगे । 5 जून से शनि वक्री होंगे तथा 12 जुलाई को  मकर में प्रवेश करेंगे । 13 अक्टूबर से शनि मकर राशि में मार्गी हो जाएंगे । राहु 11 अप्रैल को अपनी उच्च राशि वृष से वक्री चाल चलते हुए मेष राशि में प्रवेश करेंगे तथा पूरे वर्ष भर मेष राशि में ही रहेंगे।
अन्य ग्रह जैसे सूर्य मंगल शुक्र आदि महीने के अनुसार बदलते रहेंगे।
वर्ष के प्रारंभ में आपके स्वास्थ्य में थोड़ी परेशानी रहेगी परंतु यह परेशानी कुछ ही दिनों में समाप्त हो जाएगी।
धन उपार्जन - वर्ष के प्रारंभ में आपके पास धन की आवक में कमी रहेगी। अप्रैल महीने से गलत रास्ते से धन आने का योग बनने लगेगा। जून के महीने के उपरांत आने की गति थोड़ी धीमी पड़ेगी। अप्रैल और मई के महीने में आपके पास काफी धन आएगा।
भाग्य-वर्ष के प्रारंभ में आपको भाग्य से कम मदद मिलेगी । आपके बहुत सारे कार्य परिश्रम से ही संपन्न हो पाएंगे । वर्ष के बीच में अर्थात अप्रैल के बाद और जून के पहले आपका भाग्य आपका साथ देगा । वर्ष के अंतिम कालखंड में भाग्य आपका कम साथ देगा । इस प्रकार भाग्य के सहारे केस्थान पर आपको परिश्रम का सहारा ज्यादा लेना चाहिए।
उपाय-मोती की माला धारण करें

कैरियर-कैरियर के क्षेत्र में वर्ष के प्रारंभिक काल खंड सामान्य रहेगा। वर्ष के बाकी समय अवधि में आपके कैरियर में तेजी आएगी अगर आपके पास कोई नौकरी नहीं है तो नौकरी मिल सकती है कार्यालय में भी आप के मान सम्मान में वृद्धि होगी आपको अतिरिक्त प्रभार मिल सकता है। कार्यालय में कुछ लोगों से आपकी शत्रुता भी हो प्रारंभ हो सकती है।
उपाय-आपको चाहिए कि आप गुरुवार का व्रत करें और गुरुवार को या  प्रतिदिन राम रक्षा स्त्रोत का जाप करें।

भाग्य-अप्रैल माह तक आपका भाग्य आपके कार्यों में कोई विशेष मदद नहीं करेगा । अप्रैल के बाद भाग्य एकाएक आपके कार्यों में मदद कर उनको संपन्न करा देगा । जून के महीने से आपके भाग्य में थोड़ी कमी आएगी परंतु फिर भी समय-समय पर आवश्यकता अनुसार भाग्य की मदद आपको मिलती रहेगी।
उपाय-आपको शनिवार के दिन दक्षिण मुखी हनुमान जी के मंदिर में जाकर हनुमान चालीसा का कम से कम 3 बार जाप करना चाहिए।

परिवार-पूरे वर्ष भर माता और पिता जी का आशीर्वाद आप को मिलता रहेगा। भाई और बहनों से आपको मार्च के बाद कम सहयोग मिलेगा । यह भी संभव है कि किसी भाई या बहन से आपकी लड़ाई भी हो जाए । अतः इस संबंध में आपको सावधान रहने की आवश्यकता है।
उपाय-हर बुधवार को काले कुत्ते को रोटी खिलाना चाहिए।

स्वास्थ्य-सामान्यतया आपका और आपके जीवन साथी का स्वास्थ्य पूरे वर्ष उत्तम रहेगा। आपका आपके जीवन साथी का स्वास्थ्य अप्रैल माह से थोड़ा खराब हो सकता है । अगर आप अस्थमा के रोगी हैं तो आपका स्वास्थ्य भी अप्रैल माह से थोड़ा खराब होना प्रारंभ हो जाएगा।
उपाय-कुएं के कछुए को लाइ खिलाएं।

व्यापार-जनवरी फरवरी और मार्च  के महीने में आपके व्यापार में तेजी आएगी । परंतु उसके बाद अप्रैल के महीने में व्यापार में कमी आएगी । मई के महीने में आप व्यापार में पुनः आगे निकलने का प्रयास करेंगे। इस प्रयास में आप सफल रहेंगे। अगस्त के महीने में आपके व्यापार में सतर्क रहना चाहिए।
उपाय-समय-समय पर आपके द्वारा स्वयं या किसी विद्वान ब्राह्मण से मदद लेकर गणेश अथर्वशीर्ष का पाठ कराना चाहिए ।

विवाह-मिथुन राशि के अविवाहित जातकों  के विवाह संबंध आने के लिए जुलाई-अगस्त और दिसंबर 2022 का समय अच्छा है इस समय इन जातकों के लिए बहुत सारे वैवाहिक संबंध आएंगे उन पर विचार होगा और अगर दशा अंतर्दशा अनुकूल है तो हो ही जाएंगे। 
उपाय -शुक्रवार को गरीबों के बीच जाकर चावल या सफेद वस्त्र का दान दें।

मकान कार और सुख-सुविधा के यंत्र-मकान कार और सुख सुविधा  की सामग्री जैसे एयर कंडीशनर आदि अगस्त से अक्टूबर के बीच में खरीदने का संयोग बन रहा है अगर आप इसकी प्लानिंग कर रहे हैं तो इस समय यह योजना आवश्यक रूप से पूर्ण हो जाएगी इसके अलावा मार्च अप्रैल एवं मई 2022 में भी संयोग बन रहे हैं ।
उपाय-हर बुधवार को आपको गाय को हरा चारा खिलाना चाहिए।

उपाय-ऊपर हर विषय पर अलग-अलग उपाय दिए गए हैं । ये उपाय केवल उस विषय विशेष के लिए ही हैं । जैसे कि अगर आप मकान खरीदना चाहते हैं और मकान खरीदने का कार्य नहीं कर पा रहे हैं तो आपको गाय को बुधवार को हरा चारा खिलाना चाहिए।
आपकी सभी तरफ से रक्षा के लिए सभी संकटों से मुक्ति करने के लिए आपको हर् सोमवती अमावस्या तथा हर महीने की पहली अमावस्या को भगवान शिव का रुद्राभिषेक और गणेश अथर्वशीर्ष का पाठ किसी विद्वान और योग्य ब्राह्मण से करवाना चाहिए। 
मां शारदा से मेरी प्रार्थना है आप सभी स्वास्थ्य सुखी और संपन्न रहें ।

 कर्क राशि के जातकों का वर्ष 2022 का वार्षिक राशिफल 



कर्क राशि राशि चक्र की चौथी राशि है। पुनर्वसु नक्षत्र का अंतिम चरण , पुष्य नक्षत्र के चारों चरण तथा अश्लेषा नक्षत्र के चारों चरण मिलकर कर्क राशि का निर्माण करते हैं । इस राशि का स्वामी चंद्रमा है । इसका स्वभाव चर स्वभाव है । कर्क राशि की प्रकृति सोम्य है । इस राशि का तत्व जल है ,गुण सात्विक  है जाति ब्राम्हण है । यह रात्रि में बलि होती है । यह उत्तर दिशा की स्वामी है ।  यह राशि  कफ  प्रकृति की है।शरीर में हृदय के अलावा,उदर ,सीना और गुर्दे पर होने वाले सभी क्रियाओं का असर इसी राशि से देखा जाता है। यह एक सजल राशि है । इस राशि के लोग लोगों का स्वभाव भौतिक सुखों में लगे रहना लज्जालु स्थिर गति और समयानुसार निर्णय लेना होता है ।  इस राशि वालों के लिए शुक्र बाधक ग्रह होता है । वृष राशि बाधक राशि होती है और मंगल और चंद्रमा इनके लिए शुभ ग्रह होते हैं।
वर्ष के प्रारंभ में गुरु मकर राशि में रहेंगे । 13 अप्रैल से मीन राशि गोचर करेंगे । 29 जुलाई से गुरु मीन राशि में वक्री होंगे तथा 24 नवंबर से मार्गी हो जाएंगे । इसी प्रकार शनि 28 अप्रैल को कुंभ राशि  में प्रवेश करेंगे । 5 जून से शनि वक्री होंगे तथा 12 जुलाई को  मकर में प्रवेश करेंगे । 13 अक्टूबर से शनि मकर राशि में मार्गी हो जाएंगे । राहु 11 अप्रैल को अपनी उच्च राशि वृष से वक्री चाल चलते हुए मेष राशि में प्रवेश करेंगे तथा पूरे वर्ष भर मेष राशि में ही रहेंगे।
अन्य ग्रह जैसे सूर्य मंगल शुक्र आदि महीने के अनुसार बदलते रहेंगे।

कर्क राशि के जातकों के लिए इस वर्ष बहुत अच्छा समय आने वाला है । अप्रैल महीने के बाद 2022 में आप अधिकांश कार्यों  में सफल रहेंगे ।

धन उपार्जन- चुनरी से जनवरी से अप्रैल 2022 तक गलत रास्तों से धन आने का योग है उसके उपरांत पुनः जून, जुलाई अगस्त और सितंबर के महीने में भी अच्छी धनराशि आपको प्राप्त होगी । अप्रैल तक आपके खर्चे भी बहुत रहेंगे। इस समय आपको संभल कर अपना धन व्यय करना चाहिए।
उपाय-आपको चाहिए कि आप गुरुवार का व्रत करें और गुरुवार को रामचंद्र जी के मंदिर में जाकर राम रक्षा स्त्रोत का जाप करें।

कैरियर-अप्रैल तक आपके स्थानांतरण का योग है यह संभव है कि आपका कार्य इसमें बदल जाए। अप्रैल के बाद आप के विवाद बढ़ेंगे । कार्यालय में आपका रुतबा बढेगा । इस वर्ष आपको बाद विभाग से बचना चाहिए। आप बगैर किसी काम के भी इस वर्ष अपने अधिकारियों से संग्राम कर सकते हैं।
उपाय-आपको चाहिए कि आप काले कुत्ते को रोटी खिलाएं।

भाग्य-इस पूरे वर्ष आपका भाग्य आपकी लगातार मदद करेगा । मई महीने के बाद आप जो कुछ भी प्रयास करेंगे सभी  प्रयास सफल होंगे ।आपको सभी पेंडिंग कार्य को संपन्न करने का प्रयास करना चाहिए। जुलाई माह से भाग्य से थोड़ी दिक्कत महसूस होगी और यह नवंबर तक चलेगी। इस प्रकार से कर्क राशि वालों को किसी भी काम को करने के लिए जुलाई से नवंबर तक विशेष परिश्रम करने होंगे।
उपाय-शनिवार के दिन शनि मंदिर में जाकर पूजा अर्चना करें।

परिवार-इस वर्ष आपके पिताजी या माताजी का स्वास्थ्य खराब हो सकता है । यह भी संभव है कि आपकी अपने माता पिता जी से कुछ वाद विवाद हो जाए। भाई बहनों से आपके संबंध सामान्य रहेंगे अर्थात कैसे चल रहे हैं वैसे ही रहेंगे। अगर आपके पिताजी या माताजी 70 साल से ऊपर के हैं इस अवधि में आपको उन पर विशेष ध्यान देना पड़ेगा ।आपको अपने संतान से काफी सहयोग मिलेगा और संतान की उन्नति भी होगी।
उपाय-किसी विद्वान ब्राह्मण से राहु और केतु के शांति का उपाय करवाएं।

स्वास्थ्य-अप्रैल 2022 तक आपके स्वास्थ्य में थोड़ी कमजोरी रहेगी । मई 2022  से जुलाई 2022 तक आपका स्वास्थ्य उत्तम रहेगा । अगस्त 2022 से नवंबर 2022 तक स्वास्थ्य में थोड़ी कमजोरी आएगी । आपके जीवन साथी का स्वास्थ्य भी अप्रैल 2022 तक थोड़ा नरम गरम चलता रहेगा । अप्रैल 2022 के बाद जीवनसाथी का स्वास्थ्य भी ठीक रहेगा।
उपाय-आपको चाहिए कि आप मोती की माला धारण करें।

व्यापार-सितंबर और अक्टूबर 2022 में आपका व्यापार अपनी बुलंदियों पर होगा ।इसके अलावा आपका व्यापार मई महीने से धीरे धीरे प्रगति करेगा। यह वर्ष आपके व्यापार के लिए अत्यंत उत्तम वर्ष है । इस वर्ष में आपको चाहिए कि आप अपना व्यापार लगातार आगे बढ़ायें।
उपाय-आपको चाहिए कि आप शनिवार का व्रत करें और शनिवार को दक्षिण मुखी हनुमान जी के मंदिर में जाकर कम से कम 3 बार हनुमान चालीसा का जाप करें।

विवाह-अविवाहित जातकों के लिए फरवरी-मार्च तथा अगस्त सितम्बर के महीने अत्यंत उत्तम है। इस  अवधि में विवाह के नए प्रस्ताव आएंगे तथा अगर प्रत्यंतर दशा उत्तम है तो शादी भी हो जाएगी । आपको चाहिए कि आप इस समय अपनी कुंडली को किसी विद्वान ब्राह्मणों को दिखाएं और उसके द्वारा बताए गए उपाय करें।
उपाय-कुंडली की विवेचना के उपरांत विद्वान ब्राह्मणों द्वारा बताए गए उपायों के अलावा फरवरी-मार्च तथा अगस्त और सितंबर के महीने में शुक्रवार के दिन आपको मंदिर पर जाकर गरीबों के बीच में चावल का दान देना चाहिए।

मकान-मकान कार और सुख-सुविधा की अन्य चीजें को प्राप्त करने की आपको बहुत इच्छा रहेगी । परंतु अप्रैल के महीने तक यह इच्छा सफल नहीं हो सकेगी ।अप्रैल के बाद अर्थात मई महीने से संयोग बनने प्रारंभ होंगे । मई , जून अक्टूबर और नवंबर 2022 में आपकी इच्छा पूर्ण हो सकती है।
उपाय-आपको चाहिए कि आप गरीबों को सफेद वस्त्र का दान दें ।

वार्षिक उपाय-ऊपर हर विषय पर अलग-अलग उपाय दिए गए हैं । ये उपाय केवल उस विषय विशेष के लिए ही हैं । जैसे कि अगर आप मकान खरीदना चाहते हैं और मकान खरीदने का कार्य नहीं कर पा रहे हैं तो गरीबों के बीच आपको वस्त्र का दान देना चाहिए।
अपने संपूर्ण कष्टों के निवारण के लिए आपको चाहिए कि आप किसी विद्वान ब्राह्मण से हर एकादशी और पूर्णमासी को विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ साल भर में कम से कम 3 बार करवाएं। 
मां शारदा से मेरी प्रार्थना है आप सभी स्वास्थ्य सुखी और संपन्न रहें ।

जय मां शारदा।
निवेदक:-
पण्डित अनिल कुमार पाण्डेय
सेवानिवृत्त मुख्य अभियंता
एस्ट्रो साइंटिस्ट और वास्तु शास्त्री
स्टेट बैंक कॉलोनी मकरोनिया
 सागर। 470004
 मो 7566503333

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive

Adsense