गुरुवार, 5 दिसंबर 2019

अंधे कत्ल का खुलाशा, मृतक की पत्नी थी बुरी नीयत इसलिए की हत्या

अंधे कत्ल का खुलाशा, मृतक की पत्नी पर थी बुरी नीयत इसलिए की हत्या
सागर।  पुलिस ने एक अंधे कत्ल का खुलाशा कर लिया है । सागर के आरटीओ वायपास पर एक नरकंकाल मिला था। इसमे हत्या की गई थी। पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। एक आरोपी फरार है । पुलिस अधीक्षक अमित सांघी और asp राजेश व्यास ने मीडिया में जानकारी दी।
 02  दिसम्बर को पुलिस कंट्रोल रूम को जानकारी मिली कि आरटीओ बायपास रोड मोड के पास किसी की लाश और उक्त लाश सड़ जाने और बदबू आ रही हैं । मौके पर  पुलिस ने देखा कि पत्थरो के नीचे करीब 15-20 दिन पुराना एक पुरुष शव दबा देखा शव लगभग नर कंकाल हो चुका था।पहचान मृतक के कपडे स्वेटर शर्ट चप्पल व गले मे पहनी हुई ताबीजो से हुुुई। दीपक पिता खेमराज पटैल उम्र 32 साल निवासी तिली वार्ड थाना गोपालगंज सागर की होना पाये जाने पर मर्ग पुलिस ने पंचनामा कार्यवाही की प्रथम दृष्टया अपराध क्र.235/19 धारा 302,201 IPC का पाये जाने से पंजीबध्द कर विवेचना में लिया गया।
इस दौरान मृतक के भाई भरत पटैल निवासी तिली वार्ड द्वारा बताया गया कि तिली वार्ड का ही रोहित चौरसिया दीपक की मौत के बाद बार-बार घर आकर दीपक के बारे मे पूछता था तथा फोन लगाता था।  सिविल लाइन पुलिस ने रोहित से पूछताछ की जिसने अपने मेमोरेण्डम पर मृतक की पत्नि पर बुरी नजर रखने पर मृतक दीपक पटैल द्वारा इसे गाली गलौच करना जेल भिजवाने की धमकी देना आदि पाया गया।
दोस्तो के साथ मिलकर बनाई योजना
रोहित ने  दीपक को रास्ते से हटा देने की योजना अपने मित्र हरीश पटैल,अनिल रजक के साथ मे बनाई और वारदात को अंजाम दिया। योजना के मुताबिक शराब पीने के बहाने सफेद रंग की मोटरसाइकिल क्र. MP15 MR 0952 से आरटीओ बायपास रोड ले जाकर शराब पिलाकर पत्थर से कुचालकर बाइक के एक्सीलेटर वायर से गला दबाकर दीपक पटैल  की हत्या कर शव को वही पत्थरो के नीचे दबा दिया और तीनो वारदात की जगह से गायब हो गए। मृतक का मोबाइल और एटीएम हरीश के पास होना बाइक अनिल के द्वारा ले जाना बताया है। पुलिस ने बताया कि आरोपीयो के विरुध्द अपराध प्रमाणित पाया गया है।जो आरोपी रोहित चौरसिया व हरीश पटैल को कल  को न्यायालय पेश किया जायेगा अनिल रजक अभी गिरफ्तार नही हुआ है। इस अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने मे पुलिस अधीक्षक अमित सांघी और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेश व्यास के निर्देशन में जाँच पड़ताल तेजी से शुरू हुई साथ ही नगर पुलिस अधीक्षक सागर आर.डी भारद्वाज के नेतृत्व में एफएसएल टीम के सहारे पुलिस थाना सिविल लाइन की थाना प्रभारी निरीक्षक रीता सिंह उनकी टीम उपनिरी. रामसिया चौधरी, सउनि बी एल पटैल एवं आर. नौबत, तूफान, विकास, तजीम, कार्तिकैय, प्रवीण,हरीश प्रदीप व अन्य थाना स्टाफ की प्रमुख भूमिका थी।


0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें


नौरादेही अभ्यारण : प्रभावित लोगों का शत-प्रतिशत होगा विस्थापन : कलेक्टर

Archive