बुधवार, 30 दिसंबर 2020

संयम की शिक्षा रामचरित्र और निष्ठा भक्ति परशुराम से सीखना चाहिए: पं विपिन बिहारी ★सांसद राज बहादुर विधायक शैलेंद्र जैन ,प्रदीप लारिया और सुशील तिवारी ने भी किया संबोधित

संयम की शिक्षा रामचरित्र और निष्ठा भक्ति परशुराम से सीखना चाहिए: पं विपिन बिहारी
★सांसद राज बहादुर विधायक शैलेंद्र जैन ,प्रदीप लारिया और सुशील तिवारी ने भी किया संबोधित

सागर । श्री राम जी का आदर्श जीवन चरित्र हमें त्याग शांति और संयम और भगवान परशुराम जी का जीवन आज्ञाकारीता, निष्ठा एवं भक्ति की शिक्षा देता है यह बात राष्ट्रीय गोवत्स संत पंडित विपिन बिहारी ने मेन पानी में आयोजित सातवें दिन की राम कथा में कही उन्होंने शिव धनुष भंग पर क्रोधित परशुराम- लक्ष्मण एवं राम के संभाषण पर विस्तार से प्रकाश डालते हुए बताया कि उकसाने से क्रोध बढ़ता है किंतु संयम एवं शांति की मल हम से उसके उफान को ठंडा किया जा सकता है।

इस अवसर पर उपस्थित जन सैलाब को संबोधित करते हुए सांसद राजबहादुर ने व्यासपीठ के प्रवचनो और संदेशों को जीवन में उतारने की अपील की विधायक शैलेंद्र जैन और प्रदीप लारिया ने हिंदू संस्कृति को विश्वकल्याण करने वाली एकमात्र और अद्भुत संस्कृति बताया उन्होंने कहा कि अंग्रेजों की दासता के कारण हम उपवास पश्चात हिंदू नव वर्ष गुड़ी पड़वा को भूलकर 31 दिसंबर को चीयर्स पार्टियां करने लगे हैं इससे सनातन संस्कृति पर बुरा प्रभाव पड़ रहा है । भाजपा नेता सुशील तिवारी ने गौ सेवा को मानव जीवन के लिए अति आवश्यक बताते हुए कहा कि राम कथा सुनने से सकारात्मक ऊर्जा प्राप्त होती है नेता गणों ने अपने आपको राम सेतु निर्माण की गिलहरी की उपमा दी।

इस अवसर पर गौ सेवक बसंत बाबा चौरसिया ,संचालक दीपक पौराणिक , देवांश पांडे ,पंडित सुधीर शास्त्री ,नाथूराम, टीकाराम ,छोटे लाल यादव, भगवानदास ,दीपक, अमन एवम मोंटी यादव उपस्थित थे।

---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें


नौरादेही अभ्यारण : प्रभावित लोगों का शत-प्रतिशत होगा विस्थापन : कलेक्टर

Archive