गुरुवार, 31 दिसंबर 2020

यूनिवर्सिटी रोड पुनर्विकास प्रोजेक्ट का किया निरीक्षण कुलपति और अधिकारियों ने

यूनिवर्सिटी रोड पुनर्विकास प्रोजेक्ट   का किया निरीक्षण कुलपति और अधिकारियों ने 

 

सागर। डॉ हरिसिंह गौर केंद्रीय विश्वविद्यालय कुलपति कार्यालय में कुलपति श्री मति जेडी अहि और निगमायुक्त सह कार्यकारी निदेशक सागर स्मार्ट सिटी श्री आर पी अहिरवार 
ने यूनिवर्सिटी रोड पुनर्विकास प्रोजेक्ट अंतर्गत सड़क के चौड़ीकरण, सौंदर्यीकरण एवं अन्य सम्बंधित कार्यों पर विस्तार से चर्चा कर निर्णय लिए पश्चात स्थल निरीक्षण किया। इस दौरान निगम उपायुक्त श्री प्रणय कमल खरे, यूनिवर्सिटी रजिस्ट्रार श्री संतोष सोहगौरा, स्मार्ट सिटी ऐई श्री राघव शर्मा ऐई श्री राजबाबू सिंह, पीएमसी एक्सपर्ट सहित स्मार्ट सिटी एवं यूनिवर्सिटी के अन्य अधिकारी उपस्थित रहे। 
 
निगमायुक्त श्री अहिरवार ने कहा की यूनिवर्सिटी रोड पुनर्विकास प्रोजेक्ट अंतर्गत सड़क के किनारे एक ओर पहाड़ी है जिसपर स्टोन पिचिंग कर सॉइल इरोजन की समस्या को समाप्त करने के साथ ही घाटी को सुन्दर बनाने के लिए रेडियम वर्क एवं लाइटिंग की जाएगी। गौर मूर्ति पर सुन्दर लाइटिंग एवं आस-पास गुजरती सड़क चौड़ीकरण हेतु लेंड फिलिंग कर सलोप बनाने के साथ यहां सुन्दर सनसेट पॉइंट तैयार किया जायेगा।  जहाँ लोग सेल्फी के साथ सनसेट का लुत्फ़ ले सकें। यूनिवर्सिटी गेट को आकर्षक बनाने के लिए यहां वर्टिकल वाल के साथ फाउंटेन लगाएं जायेंगे। इसके साथ ही पथरिया मार्ग पर भी एक गेट बनाया जायेगा। स्वर्णजयंती सभागार के पास खाली जहग को चिन्हित कर यहां रीडर्स कार्नर पॉइंट जैसी बैठक व्यवस्था की जाएगी। जहाँ स्टूडेंट्स एवं आमजन बैठ सकें। इसके साथ ही सड़क किनारे वॉकवे एवं साईकिल ट्रेक तैयार किया जायेगा। सड़क किनारे लगे पेड़ों को आवश्यकता अनुसार ट्रांसप्लांट किया जायेगा। 

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे



ट्वीटर  फॉलो करें

@weYljxbV9kkvq5ZB



वेबसाईट



यूनिवर्सिटी रजिस्ट्रार ने यहां की अन्य संभावनाओं को बताते हुए कहा की फार्मेसी, क्रिमिनोलॉजी, जूलॉजी, परफार्मिंग आर्ट जैसे कई विभाग विश्व प्रसिद्ध है। यहां केम्पस में मिलेनियम पार्क को साइंस पार्क के रूप में तैयार किया जा सकता है। केम्पस में साईकिल ट्रेक, रॉक वर्क आर्ट, रॉक क्लाइमिंग, जीवजगत फ्लोरा फौना आदि पर भी चर्चा की गई एवं शहर विकास एवं सौंदर्यीकरण में विभागों के विषय विशेषज्ञों के सहयोग देने की बात कही।   
 यूनिवर्सिटी केम्पस में वायोकम्पोस्टिं मशीन लगाने व बॉटल क्रसिंग मशीन लगाने के सुझाव भी दिए गए। जिससे  स्वछता को बढ़ावा मिलेगा।

---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें


नौरादेही अभ्यारण : प्रभावित लोगों का शत-प्रतिशत होगा विस्थापन : कलेक्टर

Archive