सोमवार, 24 जनवरी 2022

आम आदमी पार्टी ने मध्यप्रदेश सरकार की नई आबकारी नीति का जताया विरोध ★ प्रदेश सरकार बनाना चाहती है मदिरा प्रदेश : डॉ धरणेन्द्र

आम आदमी पार्टी ने मध्यप्रदेश सरकार की नई आबकारी नीति का जताया विरोध
★ प्रदेश सरकार बनाना चाहती है मदिरा प्रदेश : डॉ धरणेन्द्र

सागर । मध्यप्रदेश सरकार द्वारा घोषित नई आबकारी नीति जो एक अप्रेल 2022 से लागू होने बाली है उसके खिलाफ कलेक्ट्रेट पहुंचकर विरोध जताया तथा मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के नाम नायब तहसीलदार आदर्श जैन को ज्ञापन सौंपा ज्ञापन में मांग की गयी है कि नई आबकारी नीति प्रदेश में नशा बृद्धि में सहायक होगी जिससे अपराध,दुराचार तथा महिला उत्पीड़न बढेगा साथ ही प्रदेश में शराब के  नशे  का विकेन्द्रीयकरण होगा इसलिये उक्त नई आबकारी नीति को तुरंत बापिस लिया जाए ताकि प्रदेश  को नशे में डूबने से बचाया जा सके।
ज्ञापन सौंपने के बाद  प्रदेश प्रवक्ता एवं बुंदेलखंड ज़ोन प्रभारी डॉ धरणेन्द्र जैन ने बताया कि नई आबकारी नीति  में शराब के दाम कम करना,होम बार को मंजूरी,घर मे शराब के स्टॉक में चार गुना बृद्धि,देशी शराब दुकान पर  अंग्रेजी एवं अंग्रेजी  दुकान पर देशी मदिरा बिकने  जैसे प्रावधान से  प्रदेश में शराब का अबैध संग्रहण बढेगा एवं  शराब के नशे का विकेन्द्रीयकरण होगा जिससे अपराध एवं दुराचार बढेगा।उन्होंने बताया कि नई शराब नीति का विरोध सम्पूर्ण प्रदेश में आप कर रही है।उन्होंने यह भी बताया कि शिवराज सरकार को  खाद्य तेल,रसोई गैस,पेट्रोल सहित जीवकोपार्जन हेतु अन्य वस्तुओं को सस्ता करना चाहिये लेकिन सरकार इसके विरुद्ध शराब सस्ती कर रही है।उन्होंने बताया कि सरकार मध्यप्रदेश को मदिरा प्रदेश बनाना चाहती है। जिला अध्यक्ष  अभिषेक अहिरवार एवं के के प्रजापति ने बताया कि सरकार प्रदेश को शराबियों का स्वर्ग बनाना चाहती है जो घातक है और इसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।
नीलेश पवार ने कहा कि प्रदेश को अच्छी शिक्षा,स्वस्थ्य और रोजगार की जरूरत है न कि सस्ती शराब की। विरोध प्रदर्शन में डॉ धरणेन्द्र जैन,अभिषेक अहिरवार,के के प्रजापति,नीलेश पवार,लक्ष्मीकांत राज,भगवानदास रायकवार,कालूराम जी,आदेश जैन,अन्वेष दुबे,गजेंद्र अहिरवार,प्रियांशु,दुष्यंत,जशवंत जाटव, इंदर माते , नागर जी, सहित अन्य साथी उपस्थित रहे।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive

Adsense