रानगिर की माँ हरसिद्धि माई

रविवार, 15 नवंबर 2020

ऑनलाईन परिचय सम्मेलन 29 नबम्बर को,जैन गोला पूर्व महासभा का

ऑनलाईन परिचय सम्मेलन 29 नबम्बर को,जैन गोला पूर्व महासभा का

सागर। अखिल भारत वर्षीय दिगंबर जैन गोला पूर्व महासभा के तत्वाधान में इस वर्ष ऑनलाईन परिचय सम्मेलन का आयोजन 29 नवम्बर को सुबह 11 बजे से दोपहर में चार बजे तक किया जा रहा है. विवाह योग्य जैन युवक युवतियों की जानकारियों पर केंद्रित पत्रिका संस्कार का विमोचन गत दिवस किया जा चुका है.
   महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष संतोष जैन घड़ी ने बताया कि इस वर्ष वैश्विक महामारी कोरोना के चलते परिचय सम्मेलन का आयोजन नहीं किया जा सका. जिसके चलते ऑनलाईन परिचय सम्मेलन का आयोजन करने का निर्णय लिया गया, जिसके लिए विवाह योग्य युवक-युवतियों की सचित्र जानकारियों पर प्रविष्टियां आमंत्रित की गई थी जिस पर बुंदेलखंड के साथ-साथ मप्र और देश के विभिन्न स्थानों से लगभग 1300 प्रविष्टियां शामिल की गई. महासभा द्वारा प्रकाशित संस्कार पत्रिका का विमोजन गत दिवस किया गया. परिचय सम्मेलन के साथ चेतना सम्मान समारोह एवं महासभा के राष्ट्रीय अधिवेशन को लेकर आज देर शाम ऑनलाईन जू मीटिंग भी रखी गई है. ऑनलाईन परिचय सम्मेलन में प्रत्याशियों द्वारा शामिल होने की स्वीकृति के बाद रजिस्ट्रेशन कराया जायेगा, जिसके बाद युवक युवती ऑनलाईन परिचय दे सकेगें. वहीं हाईस्कूल और हायर सेकेंडरी परीक्षाओं के मेधावी विद्यार्थियों को चेतना सम्मान से सम्मानित किया जायेगा. उपनगरीय क्षेत्र मकरोनिया स्थित एक निजी स्कूल में प्रस्तावित कार्यक्रम के दौरान सागर के मेधावी विधार्थियों को प्रमाण पत्र एवं नगद राशि के साथ स्मृति चिन्ह प्रदान किया जायेगा.  ऑनलाईन एवं ऑफलाईन प्राप्त आवेदनों के आधार पर महासभा द्वारा कक्षा 12 वी के 36 एवं कक्षा 10 वी के 19 बच्चों को चेतना सम्मान से ऑनलाईन सम्मानित किया जायेगा.

जैन मंदिरों में चढ़ाए गए निर्वाण लाडू

जैन धर्म के 24 वे एवं अंतिम तीर्थंकर भगवान महावीर स्वामी के 2547 निर्वाण महोत्सव के उपलक्ष्य में आज नगर के जैन मंदिरों में निवार्ण लाडू चढ़ाए गए. काकागंज स्थित आदिनाथ दिगंबर जैन मंदिर अतिशय क्षेत्र, चंद्रप्रभु दिगंबर जैन मंदिर, वर्णी भवन मोराजी, कटरा नमक मंडी स्थित गौराबाई दिगंबर जैन मंदिर, पाश्र्वनाथ दिगंबर जैन मंदिर चंद्रप्रभु दिगंबर जैन मंदिर, वर्णी कॉलोनी जैन मंदिर में पूजा अर्चना के साथ निर्वाण लाडू चढ़ाए गए. इस अवसर पर गौराबाई दिगंबर जैन मंदिर में प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी ध्वजा चढ़ाई गई

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive