शनिवार, 22 जनवरी 2022

समाजवादी नेता सुधीर ठाकुर का निधन, बीएमसी में की गई देहदान ★ सुधीर बचपन से मुझसे जुड़े रहे : रघु ठाकुर ★ सेवादल कांग्रेस ने दी सलामी


समाजवादी नेता सुधीर ठाकुर का निधन, बीएमसी में की गई देहदान
 
★ सुधीर बचपन से मुझसे जुड़े रहे : रघु ठाकुर
★ सेवादल कांग्रेस ने दी सलामी 

सागर। समाजवादी विचारधारा के प्रेरणा स्रोत डॉ राम मनोहर लोहिया की वैचारिक धारा के अनवरत संवाहक देश के समाजवादी चिंतक रघु ठाकुर जी के अति निकट परकोटा निवासी सुधीर ठाकुर जी का दुखद निधन हो गया है। जिनकी देहदान बुन्देलखण्ड मेडिकल कालेज में की गई। उनके निधन पर अनेक गणमान्य नागरिकों ने श्र्द्धांजलि अर्पित की। 

सुधीर बचपन से मुझसे जुड़े रहे : रघु ठाकुर 

समाजवादी चिंतक रघु ठाकुर ने बताया कि साथी सुधीर ठाकुर का निधन मेरे लिए एक निजी अपूरणीय क्षति है। सुधीर बहुत बचपन से मेरे साथ जुड़े रहे ।और शायद वह मुझे अपने भाइयों से भी ज्यादा करीब थे।जितना विश्वास मेरा उन पर रहा और उनका उनका मुझ पर रहा उसे आज शब्दों में कहना भी कठिन  है।
परसों रात को मैं उन्हें बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज सागर में देख कर आया था। लगभग दो घण्टे वहाँ था।डॉ ओझा डॉ पटेल डॉ देवेंद्र  और अन्य चिकित्सकों से बात भी की थी और इलाज की व्यवस्था भी देखी थी। डॉ ओझा तो एक घण्टे मेरे साथ ही रहे थे। 
कल दिन में भी आईसीयू वार्ड के प्रभारी डॉ देवेंद्र जी और डीन डॉ वर्मा जी से बात कर उनके स्वास्थ्य के प्रति अवगत कराया था तथा बेहतर देखभाल की अपेक्षा की थी। 
वह काफी कमजोर पड़ चुके थे ।उन्हें शक्कर की बीमारी भी परेशानी का कारण थीऔर शरीर कमजोर था ।परंतु अभी छोड़कर चले जाएंगे यह कल्पना नहीं थी। 
कल जब उनसे  मेरी बात हुई तो मुझे बताया कि रात में नींद नींद ठीक से आई । और मुझे लगा था कि वह अब स्वस्थ हो जाएंगे ।मैं दोपहर में बाहर का बना हुआ और रास्ते से मेरी बात हुई तो उन्होंने  बताया कि उनकी तबीयत में फिर खराबी आई है। मैंने बीएमसी के डीन डॉक्टर वर्मा जी को फोन किया। डॉ देवन्द्र जी को फोन किया और उन्हें भी अवगत कराया। उन्होंने डॉक्टरों को भेजकर फिर जांच कराई। और जो भी संभव इलाज था वह किया। जा रहा।परंतु अचानक आज सुबह वह दुनिया को छोड़ कर चले गए ।
सुधीर का और मेरा संबंध लगभग 50 साल से था।दो भाइयों के बीच भी ऐसे निस्वार्थ रिश्ते नहीं होते होंगे जेसे रिश्ते हमारे उनके बीच थे। मैं  उनकी मोटरसाइकिल  पर ही जिले भर का दौरा करता रहा। हम लोग साथ-साथ रहे मेरे राजनेतिक काम  भी वही देखते थे ।सारी सूचनाएं वह देते थे। जो काम उन्हें देते थे  वह काम वे करते थे। जो काम सौंपा वह करते थे और यहां तक की अगर मैं सागर पहुंचा तो मेरे चाय पानी से लेकर खाने तक की सारी व्यवस्था वही देखते थे।
पिछले कुछ समय से बीमारी की वजह से वे गाड़ी नहीं चला पाते थे।
आज मैं उनकेअभाव में अपने आप को अधूरा महसूस करता हूं ।
सुधीर जहां भी रहो वहां खुश रहना। उनकी पत्नी श्रीमती राजेश्वरी मेरी बेटी के समान है मैं उन्हें अपनी संवेदनाये उन्हें भेज रहा हूँ। सुधीर कभी मुझे अकेला छोड़कर जाएगा यह कल्पना नहीं थी परंतु नीति का यही फैसला  था। 
मै लोकतांत्रिक समाजवादी पार्टी और सभी समाजवादी कार्य कर्ता उन्हें अपनी भाव पूर्ण श्रृद्धाञ्जलि अर्पित करते है। 



सेवादल कांग्रेस ने दी सलामी 

श्री सुधीर ठाकुर के मरणोपरांत देहदान करने पर जिला शहर कांग्रेस सेवादल परिवार ने अध्यक्ष सिंटू कटारे के नेतृत्व में बुंदेलखंड मेडीकल कालेज पहुंचकर उनको श्रृद्धा सुमन अर्पित कर श्रृद्धांजलि अर्पित की और उनके पार्थिव शरीर को सेवादल की परंपरानुसार सलामी देकर विदाई दी।
इस अवसर पर जिला अधिवक्ता संघ के पूर्व अध्यक्ष कृष्णवीर सिंह ठाकुर, रामकुमार पचौरी,अखलेश केशरवानी,शिवसेना उपराज्य प्रमुख पप्पू तिवारी,विनोद तिवारी,राजेंद्र सिंह ठाकुर,अतुल तोमर,शैलेन्द्र ठाकुर,नितिन पचौरी,रामगोपाल यादव, अंकुर यादव,सीताराम तिवारी,हर्षित तिवारी,पुष्पेंद्र सिंह गौर,विकास चौबे के साथ -साथ समस्त परिवारजन,और वरिष्ठजन आदि उपस्थित रहे।


 

1 comments:

Archive

Adsense