शुक्रवार, 21 जनवरी 2022

SAGAR : बदमाश से परेशान होकर की थी गांव के कुछ लोगो ने हत्या, ★ थाना भानगढ के ग्राम कंजिया क्षेत्र मे हुई हत्‍या का खुलासा

SAGAR : बदमाश से परेशान होकर की थी गांव के कुछ लोगो ने हत्या, 
★ थाना भानगढ के ग्राम कंजिया क्षेत्र मे हुई हत्‍या का खुलासा 

सागर ।सागर जिले के भानगढ़ थाना क्षेत्र में हुए हत्याकांड का पुलिस ने खुलासा कर लिया है। पुलिस के अनुसार 18 जनवरी को फरियादी भरतराम पिता अनरत सिंह यादव नि. कंजिया ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि इसका भाई ज्ञानसिंह यादव का शव रोड किनारे डला है, किसी अज्ञात व्यक्ति ने ज्ञानसिंह को मार कर शव सड़क किनारे फेंक दिया है, जिस पर थाना भानगढ़ में अपराध 10/2022 धारा 302,201 ता.हि. पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।
मामले में मृतक ज्ञानसिंह यादव गाँव के परिवारजनो एवं समाज के लोगो मे इसकी हत्या को लेकर काफी रोष था मामल का यथाशीघ्र खुलासा करने एवं सुनियोजित विवेचना हेतू  पलिस अधीक्षक  सागर श्री तरूण नायक के आदेशानुसार, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सागर श्री विक्रम सिंह कशवाहा,  एसडीआपी बीना श्री उदयभान सिंह बागरी के निर्देशन मे थाना प्रभारी आगासौद निरी.रावेन्द्र सिंह बागरी को मामले की विवेचना सौपी गई एवं थाना प्रभारी बीना कमल निगवाल, थाना प्रभारी भानगढ़ लखन डाबर, चौकी प्रभारी कंजिया आनंद राय, प्र.आर.384 सत्येन्द्र सिंह, आर.1537 सूरज. आर.1387 छोटेलाल, आर.1564 राकेश एवं अन्य पुलिस स्टाफ की पुलिस टीम बनाई गई ।
 पुलिस व्दारा विश्वसनीय सूत्रो, मुखबिरो एवं परिवारजन के कथनो एवं आसपास पूछताछ के आधार पर संदेहीयान निरन उर्फ निरंजन लोधी, भगवानसिंह लोधी, किस्स लोधी. प्रेमसिंह लोधी. गोलू लोधी, कल्लू लोधी सभी नि. ग्राम दौलतपुर चौकी कंजिया की तलाश पतारसी की जो संदेहीयान 1.निरन उर्फ निरंजन पिता खिलान सिंह लोधी उम्र 37 साल 2. भगवान सिंह पिता लालाराम लोधी उम्र 35 साल 3.किस्सू उर्फ रामकिशोर पिता जगन्नाथ लोधी उम्र 28 साल 4.प्रेमसिंह पिता बलराम लोधी उम्र 27 साल 5.गोलू उर्फ कमलसिंह पिता अजब सिंह लोधी उम्र 27 साल सभी नि. ग्राम दौलतपुर चौकी कंजिया थाना भानगढ को पलिस टीम व्दारा दस्तयाव कर हिरासत में लेकर मामले के संबंध में पूछताछ की जिन्होने बताया कि - हमारे गाँव के बगल मे रेन्ज की सरकारी जमीन है। जिस पर हम गाँव के लोग वर्षों से खेती किसानी करके अपने परिवार का भरण पोषण करते आ रहे थे। ग्राम कंजिया के ज्ञानसिंह यादव, उक्त जमीन हम गाँव के लोगो से अपने बाहुबल के दम पर छीनकर खेती किसानी करने लगा, हमारे गाँव के जानवर भी सरकारी जमीन पर चरने नहीं जाने देता था। जिससे हमारे परिवार के भरण पोषण एवं जानवरो को चरने की परेशानी आ रही थी। इसी बात पर से निरन उर्फ निरंजन लोधी ने गाँव के भगवान सिंह लोधी . किस्स उर्फ रामकिशोर लोधी . कल्लू उर्फ गंदर्भ लोधी, प्रेमसिंह लोधी और गोलू लोधी के साथ मिलकर ज्ञानसिंह यादव को जान से मारने का प्लान बनाया दिनांक 17/01/2022 के रात्रि करीब 9.00 बजे जैसे ही ज्ञानसिंह यादव, तिलक सिंह के घर से मोटर सायकल से निकला तो योजनाबध्द तरीके से प्रेम लोधी एवं गोलू लोधी ने अपने घर की छत से हम लोगो को टार्च से इशारा किया हम लोग समझ गये कि ज्ञानसिंह आ रहा है रात्रि एवं अधिक ठंड होने से आस पास सूनसान था, निरन उर्फ निरंजन लोधी, भगवानसिंह लोधी, किस्स उर्फ रामकिशोर लोधी, कल्लू उर्फ गंदर्भ लोधी चारो लोग लोहे का ऐंगल, कतरना, लाठी, कुल्हाडी लेकर गाँव से सडक मे मिलने वाले रास्ते पर सडक की चढाई एवं मोड से कुछ कदम दूर खडे हो गये। यह सोचकर कि ज्ञानसिंह यादव कंजिया तरफ मुडने के लिये मोटर सायकल धीमी करेगा तभी ये लोग उस पर हमला कर देगें, जैसे ही ज्ञान सिंह यादव ने अपनी मोटर सायकल कंजिया तरफ मुडने के लिये धीमी की तो कल्लू लोधी ने बगल से लाठी मारी जिससे वह मय मोटर सायकल के गिर गया फिर चारो ने कुल्हाडी, लोहे के ऐंगल, लाठी, लोहे के कतरना से ज्ञानसिंह यादव को जान से मारने की नियत से सिर मे, पीठ मे एवं शरीर मे जब तक बार करते रहे तब तक लगा कि वह मर गया। फिर चारो लोगो ने सबूत मिटाने की नियत से ज्ञानसिंह यादव को लहू लुहान हालात मे रोड पर डाल दिया पास मे ही मोटर सायकल डाल दी जिससे लगे कि उसका एक्सीडेन्ट हुआ है। फिर ये लोग घटना घटित करके मौके से भाग गये। संदेहीयानो के मेमोरेन्डम लेख कर घटना बालाजरब जप्त किये, कधन. मेमोरेन्डम, जप्ती के आधार पर आरोपियो को विधिवत गिरफ्तार किया गया जिन्हे माननीय न्यायालय पेश किया जाता है।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive

Adsense