सोमवार, 17 जनवरी 2022

SAGAR : निर्माणाधीन गड्ढे में गिरी स्कूटी, लोगो ने बचाई जान ★ सुरक्षा उपाय करने में लापरवाही पर निर्माण एजेंसी को नोटिस ★ शहर में कई निर्माणस्थलों पर नही है सुरक्षा के इतंजाम

SAGAR : निर्माणाधीन गड्ढे में गिरी स्कूटी, लोगो ने बचाई जान

★ सुरक्षा उपाय करने में लापरवाही पर निर्माण एजेंसी को नोटिस

★ शहर में कई निर्माणस्थलों पर नही है सुरक्षा के इतंजाम

★  24 घंटे में जरूरी इंतजाम नहीं किए तो कार्रवाई होगी


सागर। स्मार्ट सिटी सागर में  इन दिनों विकास कार्यो के लापरवाही पूर्वक चल रहे निर्माण कार्यो से जनता परेशान है। शिकायतों पर भी कोई सुनवाई नही हो रही है। सीवरेज, पेयजल पाईप लाईन और सड़कों का काम इन दिनों लगा हुआ है। समय सीमा भी खत्म हो चुकी है। पूरे शहर में छोटे - बड़े गड्ढे खुदे है।  वही रीस्टोरेशन तरीके से नही होने का खामियाजा जनता भुगत रही है। रविवार की रात को सिविल लाईन क्षेत्र में खोदी गई ड्रेन में एक स्कूटी सवारियों सहित जा गिरी। लोगो की मदद से जान बची। ऐसे कई स्थल है । जहां सुरक्षा के इतजाम नही है । कई दफा प्रशासन इनको लेकर निर्देशित कर चुका है। लेकिन ठेकेदार कम्पनी पर कोई असर नही पड़ा। 

कारण बताओ नोटिस जारी

स्मार्ट रोड कॉरिडोर के तहत एसआर-2 पर खोदी गई ड्रेन में रविवार रात एक स्कूटी गिर जाने की घटना को सागर स्मार्ट सिटी लिमिटेड ने गंभीरता से लिया है। कार्य स्थल पर पर्याप्त सुरक्षा उपाय नहीं करने को गंभीर लापरवाही मानते हुए स्मार्ट रोड कॉरिडोर का निर्माण कर रही एजेंसी श्रीजी इन्फ्रा को सागर स्मार्ट सिटी लिमिटेड की ओर से कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। साथ ही 24 घंटे के अंदर सभी सुरक्षा उपाय करने के निर्देश दिए गए हैं। अन्यथा की स्थिति में अनुबंधानुसार पेनाल्टी अधिरोपित करने की कार्रवाई की जाएगी। 

ये थी घटना

उल्लेखनीय है कि रविवार रात को सिविल लाइंस क्षेत्र में खुली पडी ड्रेन में एक स्कूटी गिर गई थी। स्कूटी सवार को कोहरे के कारण ड्रेन नहीं दिखी। ड्रेन के किनारों पर बेरिकेट्स भी नहीं लगाए गए थे। सागर स्मार्ट सिटी के सीईओ श्री राहुल सिंह राजपूत ने श्रीजी इन्फ्रा के एमडी को भेजे नोटिस में कहा है कि कई बार नोटिस और निर्देश देने के बाद भी निर्माण स्थल पर पर्याप्त सुरक्षा उपाय नहीं किए गए हैं, यह गंभीर स्तर की लापरवाही है। ऐसा क्यों और कैसे हुआ? इसका जवाब दें। इस तरह की घटना दोबारा न हो इसके लिए सभी निर्माण स्थलों पर 24 घंटे के अंदर सुरक्षा उपाय करें। यदि ऐसा नहीं किया जाता तो निर्माण एजेंसी पर पेनाल्टी अधिरोपित करने की कार्रवाई की जाएगी।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive

Adsense