गुरुवार, 20 फ़रवरी 2020

सागर की जेल, रहली में 112 रोटियां बाहर ले जाने वाला जेल प्रहरी निलंबित,सागर में पिटाई के विरोध में ज्ञापन

सागर की जेल, रहली में 112 रोटियां बाहर ले जाने वाला जेल प्रहरी निलंबित,सागर में पिटाई के  विरोध में ज्ञापन
सागर। सागर जिले में जेलों में सब कुछ ठीक नही चल रहा है। दो मामले ऐसे आये है जिनमे जेल प्रसाशन की भूमिका संदेह के घेरे में  है। सागर जिले की रहली जेल  में अवैध तरीके से बाहर रोटियां पहुचाने वाएल जेल प्रहरी निलंबित हो गया। प्रहरी ने  प्रशासन पर पक्षपात का आरोप लगाया है। वही सागर जेल में दो कैदियों की पिटाई का मामला सामने आया है । जिसके विरोध और जांच को लेकर ज्ञापन दिया गया।
112 रोटियों की कहानी रहली जेल की
 सागर जिले की उप जेल में पदस्थ एक प्रहरी को अजीबोगरीब आदेश को लेकर  किया गया निलंबन चर्चाओं में है आदेश ऐसा जिसे सुनकर लोग अचंभित भी हो सकते हैं इसमें एक जेल अधीक्षक के द्वारा प्रभारी पर जेल की रोटियां ले जाने का प्रतिवेदन एसडीएम को दिया ।जिसके बाद जेल पहरी को निलंबित कर दिया गया इस तरह का शायद यह पहला मामला होगा कि जब किसी जेल पहरी को जेल की रोटियां बाहर ले जाने के मामले में निलंबित किया गया है ।इसको लेकर केंद्रीय जेल सागर के अधीक्षक संतोष सोलंकी का कहना है कि इसको लेकर जेल अधीक्षक संतोष सोलंकी का कहना है कि सब जेल अधीक्षक द्वारा रिपोर्ट दर्ज की गई थी कि वहां के एक जेल पहरी द्वारा रोटी सहित कुछ अन्य सामग्री सप्लाई की जा रही है जिस पर एसडीएम ने जांच करते हुए जेल पहरी को प्रथम दृष्टया दोषी पाया और निलंबित कर दिया ।इसको लेकर निलंबित हुए राजभान का आरोप है कि रहली उप जेल मैं चल रही अव्यवस्था  को लेकर उन्होंने एसडीएम से शिकायत की थी ।जिसके बाद उन्हें टारगेट किया गया और 112 रोटी बाहर ले जाने का आरोप लगाया और जांच के बाद एसडीएम ने एक  पक्षिय कार्यवाही करते हुए निलंबित कर दिया । इसको लेकर मेरी पत्नी कोर्ट में जा रही है। इसके साथ एक वीडियो भी वायरल हुआ है जिसमे रहली जेल में जेलर के कहने पर पिटाई करने की बात सामने आई है।
सागर जेल में पिटाई ,विरोध में ज्ञापन

केंद्रीय जेल सागर में पिछले दिनों दो बंदियों आकाश खटीक और आकाश रैकवार के साथ जेलर नागेंद्र चोधरी पर मारपीट करने का आरोप है। पीड़ितों ने cjm कोर्ट में आवेदन दिया था। जिस पर गोपालगंज थाना पुलिस ने मुलाहजा कराया है । इसमे जेल अधीक्षक संतोष सोलंकी के अनुसार कोर्ट ने प्रतिवेदन मांगा है। इसमे एक पर पेरोल के दौरान बंदियों से मारपीट के आरोप भी है।
उधर पिटाई को लेकर हिन्दू महाकाल संगठन ने आज कलेक्टर के नाम एक ज्ञापन दिया । जिसमें पिटाई की घटना की  जांच कराने की मांग की गई। ज्ञापन में जेलर नागेंद्र चोधरी और कैदियों के खिलाफ उचित कार्यवाही की मांग की गई है। ज्ञापन देने वालो में भाजपा युवा मोर्चा के अर्पित पांडे,मोनू जैन और शालीन सिंह आदि शामिल है।


0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें


नौरादेही अभ्यारण : प्रभावित लोगों का शत-प्रतिशत होगा विस्थापन : कलेक्टर

Archive