जंय श्री गणेशाय नमः

गुरुवार, 2 जुलाई 2020

किल कोरोना अभियान : अमान्य सैम्पलों की दुबारा जांच करें : कलेक्टर


किल कोरोना अभियान : अमान्य सैम्पलों की दुबारा जांच करें : कलेक्टर

★सागर स्मार्ट सिटी कार्यालय में ली अधिकारियों की बैठक

सागर । राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, मध्यप्रदेश की डायरेक्टर छवि भारद्वाज ने वीडियो काॅन्फ्रेंसिग के माध्यम से सभी जिलों में चल रहे कोरोना संक्रमण र्निमूलन कार्यक्रमों जैसे-किल कोरोना अभियान आदि की समीक्षा कर आगामी लक्ष्यों की प्राप्ती हेतु र्निदेशित किया। इसके पश्चात् मिशन डायरेक्टर के र्निदेशों के पालन हेतु सागर स्मार्ट सिटी कार्यालय में जिला कलेक्टर सह अध्यक्ष सागर स्मार्ट सिटी लिमिटेड श्री दीपक सिंह की अध्यक्षता में अधिकारी एवं डाॅक्टर्स की बैठक का आयोजन किया गया। 

पढ़े : शिवराज केबिनेट का विस्तार,28 मंत्रियों ने ली शपथ, बुन्देलखण्ड अंचल से अब चार मन्त्री,सागर जिले से पहली दफा तीन मंत्री

सर्वप्रथम कलेक्टर  ने 15 जुलाई तक चलने वाले किल कोरोना अभियान के अंर्तगत जिले में किये जा रहे सर्वे कार्यो की समीक्षा की।  पूरे सागर जिले में विकासखण्ड एवं शहरी स्तर पर जनसंख्या अनुसार टारगेट देकर अलग अलग  सर्वे टीम लगाई गई हैं। जिले में कुल 393 सर्वे दल वर्तमान में कार्यरत है। प्रत्येक टीम को नॉन कान्टेक्ट थर्मामीटर, पल्स ऑक्सीमीटर और जरूरी प्रोटेक्टिव सामग्री उपलब्ध करायी गयी है।

पढ़े : पूर्व मंत्री कुसमारिया और बीडीए के  पूर्व उपाध्यक्ष डालचंद पटेल की भाजपा में वापसी

कलेक्टर ने कहा कि राज्य शासन की गाइडलाईन अनुसार किल कोरोना अभियान में सर्वे द्वारा संदिग्ध मरीजों के साथ-साथ मलेरिया, डेंगू, चिकनगुनिया आदि के संदिग्ध मरीजों को भी चिन्हांकित कर इनकी जानकारी संबंधित अधिकारी को दी जाये जिससे आर डी किट से उनकी मौके पर ही जांच कर तत्काल उपचार दिया जा सके। कोरोना पाॅजिटिव के साथ साथ कोरोना संदिग्ध मरीजों, मलेरिया, डेंगू, चिकनगुनिया आदि के संदिग्ध मरीजों की प्रविष्टि सार्थक ऐप में तत्काल की जाए। सार्थक एप और अन्य डाटा को रियल टाइम मैनेज करने के लिए पृथक से डाटा मैनेजमैंट टीम गठित की गई जो कि विकासखण्ड एवं जिला स्तर पर अलग अलग डाटा मैनेज कर प्रतिदिन निश्चित समय पर रिर्पाेट फाॅर्मेट में संबंधित अधिकारी को प्रस्तुत करेंगी। टीवी हाॅस्पिटल के कर्मचारियों के कांटेक्ट ट्रेसिंग के अनुभव का लाभ लेने हेतु उन्हे भी बीएमसी की बीएसएम टीम के साथ कार्य करने हेतु आदेशित किया, ताकि जिले में फस्ट कांटेक्ट ट्रेसिंग के अभियान में तेजी लाई जा सके एवं जिले का लक्ष्यप्राप्ती प्रतिशत प्रदेश के लक्ष्यप्राप्ती प्रतिशत से अधिक हो सके। प्रत्येक ब्लाॅक स्तर पर एमएमयू का गठन किया जाये ताकि सर्वे दल द्वारा चिन्हांकित व्यक्ति की जांच कर आगे की कार्यवाही सुनिश्चित की जा सके। 

पढ़े : शिवराज मंत्री मण्डल के विस्तार पर नाराज हुई उमाभारती, बोली जातीय असन्तुलन है

इसके साथ ही कंटेनमेंट जोन के आस पास 100 फीट तक के क्षेत्र में आने वालों को जांच नॉन कान्टेक्ट थर्मामीटर के साथ-साथ पल्स ऑक्सीमीटर की पूर्ण प्रक्रिया से करें एवं आॅक्सीजन लेवल कम आने पर सेंपलिंग की जाये। ऐसे सेंपल जो किन्ही कारणों से अमान्य किये गए हैं उन्हें दोबारा लिया जाये व जांच कराई जाये। बीड़ी अस्पताल में बने कोविड सेंटर को बीएमसी में स्थानांतरित करने के आदेश दिये।
बैठक में अपर कलेक्टर श्री अखिलेश जैन, नगर निगम आयुक्त श्री आर पी अहिरवार, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी श्री एम एस सागर, स्मार्ट सिटी सीईओ श्री राहुल राजपूत, सहित अन्य चिकित्सकगण और अधिकारी मौजूद थे।

---------------------------- 




तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive