अभियोजन अधिकारियों की साग़र संभाग की एक दिवसीय कार्यशाला सम्पन्न

मंगलवार, 9 फ़रवरी 2021

डॉ गौर विवि में एक्ट को लेकर प्रोफेसर आमने-सामने

डॉ गौर विवि में एक्ट को लेकर प्रोफेसर आमने-सामने


★ स्कूल ऑफ एप्लाईड साइंस और एंथ्रोप्लॉजी हैड में ठनी, डीन का आरोप नियम विरूद्ध दिया जूनियर को हैड का चार्ज


सागर । . डॉ हरीसिंह गौर विवि के मानव विज्ञान विभाग में वरिष्ठ शिक्षकों के बीच चल रही खींचातान थमने का नाम नहीं ले रही है. विभागाध्यक्ष के छुट्टी पर जाने के बाद हैड के दिए गए चार्ज को लेकर अब विभाग के वरिष्ठ शिक्षक एवं स्कूल ऑफ एप्लाईड साइंस के डीन प्रो केकेएन शर्मा ने हैड प्रो राजेश गौतम पर विवि अधिनियम के उल्लंघन का आरोप लगाते हुए प्रभारी कुलपति को पत्र लिखा.

विवि का मानव विज्ञान विभाग लंबे समय से शिक्षकों की आपसी खींचतान और राजनीति का अखाड़ा बना हुआ है. इसमें ताजा मामला विभागाध्यक्ष प्रो. गौतम के अवकाश पर जाने और उनके द्वारा एसो. डॉ सोनिया कौशल को विभागाध्यक्ष के चार्ज देने के चलते आया है. इसके बाद विभाग के वरिष्ठ शिक्षक एवं डीन प्रो. शर्मा ने इस पर आपत्ति लेते हुए प्रभारी कुलपति प्रो. जेडी आही को पत्र लिखकर इसे विवि अधिनियम का उल्लंघन बताते हुए इसकी शिकायत ईसी में करने की बात कही है.
 पत्र में उन्होंने वरिष्ठता को दरकिनार करते हुए प्रो के स्थान पर असिस्टेंट प्रो. को चार्ज दिया जो विवि के नियमों के उल्लंघन के दायरे में आता है. एक फरवरी को विभागाध्यक्ष प्रो. गौतम के अवकाश पर जाने के दौरान उन्हें विभागाध्यक्ष का चार्ज वरिष्ठता के आधार पर किसी प्रो को दिए जाने के निर्देश दिए थे.  विवि में एक्ट व ऑर्डिनेंस के तहत कामकाज नहीं चल रहा है. बताया जाता है कि डॉ कौशल जिन्हें विभागाध्यक्ष का चार्ज सौंपा गया है. उनकी नियुक्ति अभी कन्फर्म भी नहीं हुई है. विवि में शिक्षक नियुक्ति मामले में चल रही जाँच के चलते यह स्थिति है. वहीं दूसरी ओर विभागाध्यक्ष  डॉ गौतम का कहना है कि जो नेक्स्ट सीनियर होता है, उसे चार्ज दिया जाता है. ऊपर वाले अधिकारी को चार्ज नहीं दिया जाता. डीन प्रो. ेकेकेएन शर्मा को हर चीज में दिक्कत होती है. मामले में किसी एक्ट का उल्लंघन नहीं किया गया है.
उनका कहना है कि सामान्यता कोई भी सीनियर जब छुट्टी पर जाता है तो जूनियर को ही चार्ज देता है. वहीं उन्होने कहा कि अगर विवि अधिनियम में ऐसा कोई प्रावधान है जिसकी वह बात कर रहे है तो उसकी जानकारी दें.  
उल्लेखनीय है कि एंथ्रोप्लॉजी विभाग में दोनों वरिष्ठ शिक्षकों के बीच आपसी खींचतान पिछले तीन वर्षों से लगातार चल रही है. पूर्व में प्रो. शर्मा ने प्रो. गौतम द्वारा सोशल मीडिया पर बनाए गए एक पेज को लेकर उनकी शिकायत तत्कालीन कुलपति से की थी. वहीं बाद में जब प्रो. गौतम को विभागाध्यक्ष नियुक्त किए जाने के बाद प्रो. शर्मा ने डीसीडीसी पद से इस्तीफा दे दिया था. मामले में प्रभारी कुलपति से बात करने का प्रयास किया तो उन्होने फोन रिसीव नहीं किया.

---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें


नौरादेही अभ्यारण : प्रभावित लोगों का शत-प्रतिशत होगा विस्थापन : कलेक्टर

Archive