दानवीर , सागर विवि के संस्थापक डॉ हरि सिंह गौर की जयंती,26 नवम्बर ।

शनिवार, 20 नवंबर 2021

डॉ गौर जयन्ती : ‘गौर उत्सव’ 21 नवंबर से 26 नवंबर तक , होंगे अनेक कार्यक्रम ★ डॉ. गौर के विराट व्यक्तित्व के प्रति जनमानस की भावनात्मक अभिव्यक्ति है ‘गौर उत्सव’ : कुलपति

डॉ गौर जयन्ती :  'गौर उत्सव' 21 नवंबर से 26 नवंबर तक ,  होंगे अनेक कार्यक्रम

★ डॉ. गौर के विराट व्यक्तित्व के प्रति जनमानस की भावनात्मक अभिव्यक्ति है 'गौर उत्सव' : कुलपति



सागर. 20 नवंबर:  डॉ. हरीसिंह गौर विश्वविद्यालय, सागर के संस्थापक महान शिक्षाविद् एवं प्रख्यात विधिवेत्ता, संविधान सभा के सदस्य एवं दानवीर डॉ. सर हरीसिंह गौर के 152वें जन्म दिवस के उपलक्ष्य में दिनांक 21 नवंबर से 26 नवंबर तक 'गौर उत्सव' का आयोजन किया जा रहा है. इस संबंध में आयोजित पत्रकार-वार्ता में  कुलपति प्रो. नीलिमा गुप्ता ने कहा कि डॉ. गौर का व्यक्तित्व बहुआयामी है. समाज और राष्ट्र के निर्माण में उनकी भूमिका और उनके अवदान को किसी एक कार्य से नहीं जाना जा सकता. उनके समग्र अवदान को स्मरण करने और उनके द्वारा दिखाए गए मार्ग पर चलने का संकल्प लेने के लिए यह आवश्यक है कि उनके व्यक्तित्व के विभिन्न पहलुओं को हमारी युवा पीढ़ी न केवल समझे बल्कि उसे आत्मसात भी करें.  
विश्वविद्यालय डॉ. गौर के अवदान को विद्यार्थियों, समुदाय और जन-जन तक पहुँचाने के उद्देश्य से गौर उत्सव को छह दिनों तक विभिन्न कार्यक्रम का आयोजन कर रहा है. सागर शहर निवासी और विश्वविद्यालय परिवार अपने पितृ पुरुष की जन्म जयन्ती को मिलजुलकर उत्साहपूर्वक मनायेगा.


कुलपति प्रो. नीलिमा गुप्ता ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि डॉ. गौर के संकल्प और सपनों को साकार करना हमारा दायित्व है. हमें इसके लिए भरपूर ऊर्जा और उत्साह से काम करना है. गौर उत्सव को यादगार बनाने के उद्देश्य से पूरे सप्ताह कई अकादमिक-सांस्कृतिक गतिविधियाँ आयोजित की जाएगी. गौर उत्सव के दौरान ही विधि विभाग के मूट कोर्ट एवं समाज विज्ञान एवं मानविकी व्याख्यान भवन का लोकार्पण किया जायेगा. इस अवसर पर गौर व्याख्यानमाला के अंतर्गत आमंत्रित अतिथियों के विशेष व्याख्यान भी आयोजित किये गये हैं. उन्होंने कहा कि यह केवल विश्वविद्यालय का आयोजन नहीं बल्कि पूरे सागर शहर का आयोजन है. गौर उत्सव के विविध आयोजनों में शहर और विश्वविद्यालय से जुड़े प्रत्येक नागरिक का स्वागत और अभिनन्दन है. 
गौर उत्सव आयोजन के मुख्य समन्वयक प्रो. आर. के. त्रिवेदी ने छह दिवसीय आयोजन की विस्तृत रूपरेखा प्रस्तुत की. कार्यक्रम का संचालन मीडिया अधिकारी डॉ. विवेक जायसवाल ने किया तथा आभार कुलसचिव संतोष सोहगौरा ने ज्ञापित किया. इस अवसर पर सागर के सम्मानीय पत्रकार गण सहित उपकुलसचिव सतीश कुमार, डॉ. पंकज तिवारी, डॉ. संजय शर्मा, डॉ. राकेश सोनी, डॉ. हिमांशु कुमार, माधव चंद्र आदि  उपस्थित थे. 


 
गौर जयंती पर रेडियो पर होंगे विशेष प्रसारण

★ आकाशवाणी सागर से 20 से 26 नवम्बर तक प्रतिदिन गौर जयंती का प्रचार-प्रसार किया जाएगा है.
★ 25 नवंबर की रात्रि 8.30 बजे कुलपति प्रो. नीलिमा गुप्ता जी की वार्ता के साथ गौर गीत.
★ 26 नवम्बर को सुबह 9.30 बजे विशेष रूपक, ज्ञानदानी सागर रत्न डॉ.गौर का प्रसारण होगा.
★ स्वराज भवन भोपाल द्वारा निर्मित डॉ.गौर के व्यक्तित्व पर आधारित 'वतन का राग' कार्यक्रम का प्रसारण रविवार सुबह 9.30 बजे एफ एम गोल्ड दिल्ली, मुंबई के साथ विविध भारती, एफ एम लखनऊ, इंदौर, भोपाल, जबलपुर से एवं गुरुवार को सुबह 9.30 बजे मध्यप्रदेश के सभी आकाशवाणी केंद्रों से प्रसारित होगा
★ स्वराज भवन भोपाल द्वारा वतन का राग कार्यक्रम के अंतर्गत देश के सौ से अधिक कम्युनिटी रेडियो को भी डॉ. गौर पर आधारित कार्यक्रम ऑन लाईन संप्रेषित किया गया है.



 21 नवंबर को आयोजित कार्यक्रम
 
महाविद्यालयीन छात्रों के लिए निबंध एवं चित्रकला प्रतियोगिता- शासकीय गर्ल्स डिग्री कॉलेज
स्कूली विद्यार्थियों के लिए निबंध एवं चित्रकला प्रतियोगिता- महारानी लक्ष्मीबाई कन्या विद्यालय, सागर 
निबंध प्रतियोगिता- दोपहर 12.00 से  01.00 बजे 
चित्रकला प्रतियोगिता- दोपहर 02.00 से 04.00 बजे 
विश्वविद्यालय शिक्षकों का काव्य पाठ-
दोपहर 03.00 से 05.00 बजे तक , स्वर्ण जयन्ती सभागार, विवि 
 
 
 
 
 

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive