शनिवार, 12 फ़रवरी 2022

गर्ल्स डिग्री कालेज का भूतपूर्व छात्रा सम्मेलन सम्पन्न

गर्ल्स डिग्री कालेज का भूतपूर्व छात्रा सम्मेलन सम्पन्न





सागर 12 फरवरी 2022, शासकीय स्वशासी कन्या स्नातकोत्तर उत्कृष्टता महाविद्यालय में भूतपूर्व छात्रा सम्मेलन सम्पन्न हुआ। पूर्व विधायक सुरखी श्रीमती पारूल साहू के मुख्य अतिथ्य में सम्पन्न इस महोत्सव में अतिथि के रूप में श्रीमती डॉ. सुमन जैन सेवानिवृत्त प्राध्यापक अर्थशास्त्र तथा श्रीमती डॉ. रेखा बख्शी सेवानिवृत्त प्राध्यापक मनोविज्ञान डॉ. मनोरमा गौर पूर्व महापौर सागर, डॉ. विजयलक्ष्मी दुबे विशेष रूप से मंचासीन थी। ये सभी अतिथि इसी कन्या महाविद्यालय की पूर्व छात्रा रही है। कार्यक्रम का श्री गणेश माँ सरस्वती के पूजन अर्चन एवं वंदन से हुआ। समारोह की अध्यक्षता कर रही एक्सीलेंस गर्ल्स की प्राचार्य डॉ. इला तिवारी ने इस विशिष्ट कार्यक्रम में उपस्थित सभी पूर्व छात्राओं से एसोसियशन के लिए सहयोग की अपेक्षा की एवं अतिथियों की उपस्थिति पर आभार प्रसन्नता व्यक्त की। कार्यक्रम की संयोजक डॉ. शक्ति जैन ने अपने स्वागत उद्बोधन में मंचासीन सभी अतिथियों जो की पूर्व छात्रा रही है उनके व्यतित्व पर विस्तृत प्रकाश डाला एवं आप सबके इस महाविद्यालय को दिये गए योगदान से सभागार को अवगत कराया एवं महाविद्यालय की विकास यात्रा को दर्शाया। संगीत विभाग की छात्राओं द्वारा सरस्वती वंदना एवं स्वागत गीत से महोत्सव का श्री गणेश हुआ। 




अतिथि श्रीमती पारूल साहू (पूर्व विधायक) ने अपने सम्बोधन में कहा कि हमें इस कॉलेज में शिक्षित होने का मौका मिला यह मेरे लिए गर्व की बात है। यहाँ बेटियों को पढ़ने के लिए भरपूर प्रोत्साहन प्राप्त होता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिए आपने सभी से एक-एक पेड़ लगाने का आग्रह किया तथा अपनी तरफ से महाविद्यालय को कुछ पौधे दान करने का आश्वासन दिया। अतिथि श्रीमती सुमन जैन पूर्व प्राध्यापक ने कहा कि आप सभी स्वयं दीपक बनकर समाज में प्रकाशरूपी ज्ञान को बिखेरे। मोबाइल का आवश्यकता अनुसार ही प्रयोग करें। 
अतिथि श्रीमती डॉ. रेखा बख्शी पूर्व प्राध्यापक ने कहा कि नई शिक्षा नीति में पर्सनालिटी डेवलपमेंट कोर्स पर बहुत जोर दिया जा रहा है। आज फिजिकल और मेंटल प्रिपरेशन दृढ़ रखने की नितांत आवश्यकता है। पूर्व महापौर डॉ. मनोरमा गौर ने छात्राओं को स्वावलंबी एवं स्वरोजगारोन्मुखी होने पर बल दिया। आपने सांस्कृतिक धरोहर तथा स्वरोजगारोन्मुखी शिक्षा पर बल दिया। श्रीमती बसुधा वैध ने अपने उद्बोधन में कहा कि छात्राओं को आत्मिक प्रोत्साहन बनाए रखना है, आगे बढ़ते रहना है एवं प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु सतत् क्रियाशील रहना है। डॉ. विजयलक्ष्मी दुबे ने कहा कि इस कन्या महाविद्यालय ने अनेक प्रतिभाओं को सफलता के उच्चतम शिखर पर पहुँचाया है। सभी विषयों में रिसर्च की आवश्यकता पर जोर दिया। 



अध्यक्षीय उद्बोधन में बोलते हुये कन्या महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ. इला तिवारी ने कहा कि आज हम इस महाविद्यालय की पूर्व छात्राओं का अभिनंदन करते हुये गौरव सहसूस कर रहे है, क्योंकि यहाँ शिक्षित ये सभी प्रतिभाएँ अलग-अलग क्षेत्रों में उच्चतम सोपान पर पहुँचकर इस कॉलेज का नाम रोशन कर रही है। आज हमारी वर्तमान छात्राओं ने पूर्व छात्राओं से रूबरू होकर उनकी योग्यता का लाभ लिया है। निश्चित ही पूर्व छात्राओं के व्यक्तित्व से बहुत कुछ सीखने का अवसर मिला हैं। 
पूर्व छात्रा के इस सम्मेलन में उपस्थित मंचासीन अतिथियों एवं उपस्थित अन्य पूर्व छात्राओं का सम्मान स्मृति चिन्ह भेंट किया। पूर्व छात्रा सुश्री उषा वर्मन ने अपनी पुस्तक ''यादों के झरोखो से'' का विमोचन मंचासीन अतिथियों से कराया। इस अवसर पर कन्या महाविद्यालय की छात्राओं ने महिला स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों की डेªस प्रतियोगिता में भाग लिया। डॉ. अर्पणा चाचोंदिया द्वारा निर्देशित समूह नृत्य का प्रर्दशन नृत्य विभाग की छात्राओं द्वारा किया गया। 
समारोह का मंच संचालन डॉ. दीपा खटीक द्वारा तथा आभार व्यक्त डॉ. रश्मि मलैया एवं डॉ. भावना रमैया द्वारा किया गया। इस समारोह में महाविद्यालय की पूर्व छात्रायें एवं वर्तमान अध्ययनरत् छात्रायें बड़ी संख्या में उपस्थित थी। कन्या महाविद्यालय का समस्त शैक्षणिक एवं अशैक्षणिक समस्त स्टॉफ का सक्रिय सहयोग रहा।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive

Adsense