दानवीर , सागर विवि के संस्थापक डॉ हरि सिंह गौर की जयंती,26 नवम्बर ।

शुक्रवार, 18 जून 2021

पीएम के महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट में शामिल लाखा बंजारा झील ★ जल शक्ति अभियान के तहत शामिल लाखा बंजारा झील का प्रोजेक्ट संभवत: एक मात्र


पीएम के महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट में शामिल लाखा बंजारा झील
★ जल शक्ति अभियान के तहत शामिल लाखा बंजारा झील का प्रोजेक्ट संभवत: एक मात्र


साग़र।  लाखा बंजारा झील के जीर्णाेद्धार एवं पुर्नविकास तथा सौंद्रयीकरण कार्य को प्रधानमंत्री कार्यालय ने प्रधानमंत्री के महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट (नेशनल इंपार्टेंट प्रोजेक्ट्स )की सूची में शामिल किया गया है जो कि जलशक्ति अभियान के तहत संभवत: प्रदेश के साथ-साथ देश का एकमात्र प्रोजेक्ट होगा.
स्मार्ट सिटी सागर के सीईओ राहुल सिंह ने बताया कि लगभग 92 करोड़ रूपए की लागत से स्मार्ट सिटी द्वारा लाखा बंजारा झील के जीर्णोद्धार एवं पुर्नविकास था सौंद्रयीकरण कार्य कराया जा रहा है जो कि जलशक्ति अभियान के तहत लिया गया है.  देशभर में स्मार्ट सिटी के माध्यम से कई तरह के कार्य चल रहे हैं। कुछ ऐसे प्रोजेक्ट्स भी है जो लीक से हटकर है। ऐसा ही साग़र झील का है। 
जलशक्ति अभियान के तहत सागर का यह प्रोजेक्ट संभवत: एक मात्र प्रोजेक्ट होगा. यह प्रोजेक्ट पूर्ण होने के बाद सागर की तस्वीर बदली हुई नजर आयेगी.
 92 करोड़ रूपए की लागत से सागर झील के जीर्णोद्धार के साथ पुर्नविकास एवं सौंद्रयीकरण कार्य कराया जा रहा है.  प्रोजेक्ट में डिसिल्टिंग सहित अन्य कार्यों पर केवल 23 करोड़ जबकि 70 करोड़ रूपए लेक फ्रंट डेवलपमेंट पर खर्च होगें. जिसमें 16 घाटों का सौंद्रयीकरण होगा. वहीं साढ़े पांच किमी के पॉथवे वॉक वे तीन मीटर चौड़े बनेगें. यहाँ तक कि मौंगा बंधान पर भी पॉथवे बनाया जायेगा.  
वर्तमान में स्मार्ट सिटी के माध्यम से 428 करोड़ के 22 प्रोजेक्ट शुरू हो चुके है. वहीं 170 करोड़ के कार्यों के टेंडर भी प्रक्रिया में हैं. तिली तिराहे से सिविल लाईन चौराहे तक बन रही 2 किमी की स्मार्ट रोड का काम भी नवंबर अंत तक पूर्ण हो जायेगा और दिसंबर में लोकार्पण होगा.


तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें


वेबसाईट

एलिवेटेड कॉरिडोर का काम भी सितंबर में शुरू होगा

चकराघाट से दीनदयाल उपाध्याय मूर्ति बस स्टैंड तक बनने वाले एलिवेटेड कॉरिडोर कार्य का निर्माण भी प्रारंभ होगा. सितंबर माह से इसके निर्माण में तेजी आ जायेगी.  सागर झील पर बनने वाली लगभग 1 किमी का कॉरिडोर 14 मी. चौड़ा होगा. जिसमें लोग पैदल भी घूम सकेगें.

साढ़े 3 करोड़ में खाली हो गया था सागर तालाब

झील के जीर्णोद्धार कार्य के दौरान सर्व प्रथम तलाब को खाली कराया गया था जिसके लिए 10 करोड़ रूपए का प्रावधान रखा गया था मगर सागर तालाब का पानी केवल साढ़े तीन करोड़ रूपए में खाली करा दिया गया था. वहीं आज दिनांक तक झील का कार्य कर रही कंपनी को लगभग 16 करोड़ रूपए का भुगतान किया गया है. 



 ---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive