दानवीर , सागर विवि के संस्थापक डॉ हरि सिंह गौर की जयंती,26 नवम्बर ।

रविवार, 21 नवंबर 2021

आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के नाम से होगा ,खुरई का बाईपास तिराहा और मालथौन का एक वार्ड


आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के नाम से होगा ,खुरई का बाईपास तिराहा और मालथौन का एक वार्ड

खुरई। मध्यप्रदेश शासन के नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह नें घोषणा की है कि खुरई में बाई पास तिराहे का नामकरण आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के नाम से होगा। उन्होंने मालथौन में जैन समाज का कीर्ति स्तंभ बनाने और आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के नाम से एक वार्ड का नामकरण कराने की घोषणा भी की। मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने खुरई में आनंद धाम तीर्थ  सहस्त्र कूट जिनालय के शिलान्यास समारोह और मालथौन में सकल दिगम्बर जैन समाज की धर्मशाला के भूमिपूजन कार्यक्रम में उक्त घोषणाएं की।
खुरई में आनंद धाम तीर्थ सहस्त्र कूट जिनालय के शिलान्यास समारोह में मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि यहां पर पूज्य आचार्य श्री विद्यासागर जी के नाम से यह जो सामने का बाईपास तिराहा ह,ै इसको करने के लिए कहा तो में आज ही इसकी घोषणा करता हूॅ। इसको जैसा आप लोग कहेगें वैसा तैयार किया जायेगा। इस तरह से हम सब मिलकर खुरई को आगे बढ़ाने का कार्य करेगे और आने वाले समय में खुरई एक तीर्थ क्षेत्र के रूप में जाना जायेगा। मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि अगर धन का सही उपयोग ना हो तो धन में भी पवित्रता नहीं होती। जैसे कुए का जल उपयोग नहीं किया जाये तो उसमें भी कुछ समय पश्चात् कीड़े होने लगते है। जिनके पास धन है उसे निकालने में कोई कमी ना रखे और यह जो संकल्प है, इस संकल्प को सब मिलकर पूरा करेगें। हमारे खुरई में इतनी बड़ी समाज है, सम्पन्नता है और इसमें कोई कमी नहीं आयेगी। हमारे धार्मिक स्थान के साथ साथ हमारे शहर का विकास हो तो उसमें और सुंदरता आ जाती है। बाहर के लोग आते है तो उनको लगता है अब खुरई कितना सुंदर है और जब यह क्षेत्र तैयार हो जायेगा, तो पूरे देश से लोग इधर पर आयेगे और इसलिए मैं खुरई के विकास के लिए लगातार प्रयासरत् हूॅ। मैं कल दिल्ली में उपस्थित था और जो भी प्रदेश व देश के समस्त नगरीय निकाय एवं नगर पालिकों उनको अवार्ड कल वितरित किये गये, आपको यह जानकर प्रसन्नता होगी, कि हमारा खुरई सागर संभाग मंे प्रथम स्थान पर और प्रदेश में दसवें स्थान पर है। पूज्य आचार्य श्री की कृपा से पूज्य माता की कृपा से मैं आपको यह विश्वास दिलाता हूॅ कि खुरई अगले वर्ष मध्यप्रदेश में प्रथम स्थान पर होगा।
मालथौन में सकल दिगम्बर जैन समाज की धर्मशाला निर्माण का भूमिपूजन करते हुए मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि मालथौन में कीर्ति स्तंभ बनना चाहिए और इसके लिए आप लोग जो जगह निधार्रित करोगे, वहां पर कीर्ति स्तंभ बनाने की जिम्मेदारी हमारी है। जो रोड बनना है वहा समाधि स्थल पर वो रोड हम आज ही स्वीेकृत कर रहे है। इसके साथ ही एक वार्ड का नामकरण आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के नाम से करेंगे। पूज्य आचार्य श्री विद्यासागर जी की कृपा ऐसी है, कि सुबह 8 बजे खुरई में सहस्त्र कूट जिनालय आनंदधाम कार्यक्रम में ऋतुमती माता जी उपस्थित थी, उस कार्यक्रम में मुझे रहने एवं शिला पूजन करने का और उस शिला में हाथ लगाने का अवसर मिला। ये पूज्य आचार्य श्री की कृपा के बिना संभव नहीं था। पूज्य आचार्य श्री विद्यासागर महाराज जी पूर्ण साक्षात् ईश्वर का स्वरूप है। उनका तप, त्याग एवं उनकी तपस्या से हम सबको जीवन में प्रेरणा मिलती है। उनके आर्शीवाद से हमारे जीवन के कष्ट दूर होते है, संतो की कृपा से और संतों के वचनों से व्यक्ति का जीवन बदल जाता है। आज धर्मशाला निर्माण का पूजन हुआ है। अच्छी धर्मशाला बनेगी। हमारे मालथौन मंे आवश्यकता भी थी। इसके साथ साथ हम नगर पंचायत के माध्यम से एक बड़ा शादी घर भी बना रहे है, जिसमें सारी सुविधाये होगी। खुरई और मालथौन के उक्त कार्यक्रमों में जैन समाज के गणमान्य नागरिकों, माताओं, बहिनों सहित विशाल जन समुदाय उपस्थित था।




 

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive