रविवार, 30 जनवरी 2022

जो पुरस्कार पूरे बुंदेलखंड को मेलो है पद्मश्री : पंडित राम सहाय पांडे ★ अपने काम के साथ-साथ सेवा करने वाला व्यक्ति हमेशा सम्मान के पात्र होता है : मंत्री भूपेंद्र सिंह ★ पद्मश्री पुरस्कार प्राप्त श्री राम सहाय पांडे का किया गया नागरिक अभिनंदन


जो पुरस्कार पूरे बुंदेलखंड को मेलो है पद्मश्री  : पंडित राम सहाय पांडे

★ अपने काम के साथ-साथ सेवा करने वाला व्यक्ति हमेशा सम्मान के पात्र होता है : मंत्री भूपेंद्र सिंह 

★ पद्मश्री पुरस्कार प्राप्त श्री  राम सहाय पांडे का किया गया नागरिक अभिनंदन

सागर । अपने काम के साथ-साथ सेवा करने वाला व्यक्ति हमेशा सम्मान के पात्र होता है एवं  ईमानदारी एवं संकल्प के साथ किए गए प्रयास कभी असफल के साथ असंभव नहीं होते, वह अवश्य ही पूरे होते हैं। उक्त विचार नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री भूपेंद्र सिंह ने महाकवि पद्माकर सभागार में भारत सरकार द्वारा प्रदान किए गए पद्मश्री सम्मान से सम्मानित श्री पंडित रामसहाय पांडे की नागरिक अभिनंदन समारोह के अवसर पर व्यक्त किए।
इस अवसर पर सांसद श्री राज बहादुर सिंह,विधायक श्री शैलेंद्र जैन ,श्री गौरव सिरोठिया, श्री जगन्नाथ गुरैया ,श्री प्रदीप पाठक, श्री अजय दुबे, श्री राहुल साहू ,श्री विनोद तिवारी, नगर निगम आयुक्त श्री आर पी अहिरवार सहित कला क्षेत्र से जुड़े कल आबिद एवं जनप्रतिनिधि गणमान्य नागरिक मौजूद थे ।

भारत सरकार द्वारा प्रदान किए गए पद्मश्री सम्मान से सम्मानित श्री रामसहाय पांडे के नागरिक अभिनंदन समारोह में नगरीय विकास  आवास मंत्री श्री भूपेंद्र सिंह ने अपने मुख्य अतिथि के रुप में बोलते हुए कहा कि इस सम्मान से पूरे बुंदेलखंड का सम्मान हुआ है उन्होंने कहा कि एक समय बुंदेलखंड पिछड़े क्षेत्र में जाना जाता था किंतु अब बुंदेलखंड का तेजी से विकास हो रहा है यह हमारे लिए गौरव की बात है ।

उन्होंने कहा कि कोई भी कार्य के लिए यदि पूरी ईमानदारी से प्रयास किया जाए तो वह कार्य कभी संभव नहीं हो सकता और हमने कहा कि यह पुरस्कार मैं साबित कर दिया कि ईमानदारी एवं दृढ़ संकल्प के साथ किए गए कार्य कभी अधूरे नहीं रहती और मैं प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का अभिनंदन करना चाहता हूं कि उन्होंने कला के क्षेत्र में पंडित पांडे को सम्मानित किया ।मंत्री श्री सिंह ने कहा कि सेवा करने वाला व्यक्ति जीवन में हमेशा चिरस्थाई होता है ।मंत्री श्री सिंह ने कहा कि लोक कला राई नृत्य को पूरे देश एवं दुनिया में सम्मान मिला है।

मंत्री श्री सिंह ने स्वर्गीय श्री विष्णु पाठक की चर्चा करते हुए कहा कि श्री पाठक ने भी लोक कला के माध्यम से सागर विश्वविद्यालय को अंतरराष्ट्रीय पहचान दिलाई ।उन्होंने कहा कि सागर में भी अभी ऐसे अनेक महान व्यक्ति मौजूद हैं जिनको भारत सरकार द्वारा इस प्रकार के पुरस्कार मिलना चाहिए।

 मंत्री  श्री सिंह ने डॉ हरिसिंह गौर के योगदान के बारे में विस्तार से चर्चा करते हुए कहा कि डॉ गौर को भारत रत्न मिले इसके लिए हमें सब मिलकर कार्य करने होंगे ,उन्होंने कहा कि डॉ हरिसिंह गौर ने पूरे देश में बुंदेलखंड का नाम शिक्षा के क्षेत्र में स्थापित किया है ।

सांसद श्री राज बहादुर सिंह  ने कहा कि पद्मश्री सम्मान से सम्मानित श्री राम सहाय पांडे का पूरा जीवन त्याग का रहा । उन्होंने कहा कि दादा ने अपने जीवन के धरातल पर कार्य करते हुए यह पुरस्कार प्राप्त किया है ।उन्होंने कहा कि जहां तक मेरी जानकारी है कि तत्कालीन केंद्रीय  संस्कृति मंत्री श्री प्रहलाद पटेल ने भी अपनी भूमिका इस पुरस्कार में अदा की है मैं उनके लिए एवं वर्तमान के संस्कृति मंत्री का आभार व्यक्त करता हूं ।
सांसद श्री सिंह ने कहा कि डॉ हरिसिंह गौर के लिए भारत रत्न मिले इसके लिए मैंने लोकसभा में भी प्रश्न के माध्यम से जानकारी दी । अब हम हमें सबको मिलकर प्रयास करना होंगे जिससे डॉ हरिसिंह गौर को भारत रत्न का पुरस्कार प्राप्त हो। सांसद श्री ठाकुर ने कहा कि मैं प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी एवं संस्कृति मंत्री का अभिनंदन करता हूं कि उन्होंने अलग-अलग विधा में कार्य करने पर यह पुरस्कार देने की योजना तैयार की।
 इस अवसर पर श्री गौरव सिरोठिया ने कहा कि बुंदेलखंड के लोक नृत्य को प्रदेश देश एवं विदेश में जो ख्याति दिलाई है इसके लिए मैं पंडित रामसहाय पांडे के समक्ष अपना प्रणाम करता हूं । उन्होंने कहा कि दादा ने जो अपना सर्वस्व निछावर किया इसी रणनीति से आज दादा को पद्मश्री सम्मान से सम्मानित किया जा रहा है ।
सागर विधायक एवं संयोजक नागरिक अभिनंदन समिति श्री शैलेंद्र जैन कहा कि समर्पण त्याग और संकल्प से किए गए कार्य के कारण ही आज यह पुरस्कार प्राप्त हुआ है ।उन्होंने कहा कि पंडित पांडे जी का परिवार हमारे परिवार जैसा है और इनके परिवार से हमारा गहरा संबंध है ।

उन्होंने कहा कि श्री पांडे ने किसी भी सम्मान के लिए कभी भी कोई आवेदन नहीं किया और मैं यह कह सकता हूं कि किसी भी आवेदन पर श्री पांडे ने अपने हस्ताक्षर नहीं किए यह पुरस्कार समस्त जनप्रतिनिधियों एवं प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी एवं संस्कृति मंत्री जी की जागरूकता एवं कला के प्रति लगाव के कारण यह पुरस्कार प्रदान किया गया है।
 विधायक श्री शैलेंद्र जैन ने कहा कि यह सम्मान मिलने से पूरे सागर के साथ-साथ बुंदेलखंड का गौरव बढ़ा है और हम सभी गौरवान्वित हैं । उन्होंने कहा कि सागर के इतिहास में भारत का सर्वोच्च पुरस्कार पद्मश्री से दादा को सम्मानित किया जा रहा है यह हम सबके लिए गौरव व्यक्त करने की बात है । विधायक श्री जैन ने कहा कि दादा श्री पांडे ने संपूर्ण जीवन अपने कला के लिए समर्पित कर दिया।
इस अवसर पर जिला अध्यक्ष गौरव सीरोठियो ,वरिष्ठ कलाबिद श्री शिवरतन यादव द्वारा भी अपने विचार व्यक्त किए गए ।वरिष्ठ कवित्री डॉक्टर सुश्री शरद सिंह द्वारा दादा को दिए जाने वाले नागरिक अभिनंदन समिति के सम्मान पत्र का वाचन किया गया । कुमारी ऐश्वर्य दुबे द्वारा सरस्वती बंदना प्रस्तुत की गई ।

'डॉ गौर को सम्मान दिलाने प्रारंभ हुआ हस्ताक्षर अभियान 

सागर डॉ हरिसिंह गौर को भारत रत्न दिलाने के लिए हस्ताक्षर अभियान प्रारंभ किया गया। महाकवि पद्माकर सभागार में आयोजित नागरिक अभिनंदन समारोह में मध्य प्रदेश शासन के नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह, सांसद  राज बहादुर सिंह, विधायक शैलेंद्र जैन, गौरव सिरोटिया सहित अन्य जनप्रतिनिधियों एवं सैकड़ों गणमान्य नागरिकों नागरिकों ने डॉ हरिसिंह गौर को भारत रत्न दिलाने के लिए अपने अपने हस्ताक्षर किये।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive

Adsense