सोमवार, 31 जनवरी 2022

अमेरिका में निवासरत भारतीय के योगदान से ही भारत ने पाया विश्व-गुरू का दर्जा-परिवहन मंत्री श्री राजपूत ★ वसुधैव कुटुम्बकम की आत्मा बसती है भारतीयों के दिलों में


अमेरिका में निवासरत भारतीय के योगदान से ही भारत ने पाया विश्व-गुरू का दर्जा-परिवहन मंत्री श्री राजपूत

★ वसुधैव कुटुम्बकम की आत्मा बसती है भारतीयों के दिलों में

सागर। अमेरिका में निवासरत भारतीयों के ज्ञान और परंपरा के योगदान का ही परिणाम है कि भारत विश्व गुरू के रूप में दुनियाभर में जाना जाता है। राजस्व एवं परिवहन मंत्री श्री गोविंद सिंह राजपूत रविवार को नेशनल कौंसिल ऑफ एशियन-इंडियन एसोसिएशन द्वारा आयोजित व्हीडियो काँफ्रेंसिंग के माध्यम से मुख्य अतिथि के रूप में अमेरिका में रह रहे भारतीयों को संबोधित कर रहे थे। अमेरिका में बसे भारतीयों द्वारा 30 जनवरी को प्रतिवर्ष गणतंत्र दिवस के रूप में कार्यक्रम आयोजित किया जाता है।अध्यक्ष के रूप में मध्य प्रदेश के प्रतिनिधित्व से यह दिन  भारत अमेरिका संबंधों में मध्यप्रदेश के लिए यह गौरवशाली दिन बन गया।उन्होने कहा कि वसुधैव कुटुम्बकम की भावना भारत कमी आत्मा है और दुनिया भर में बसे भारतीय इसका प्रमाण हैं। इस अवसर पर अमेरिका में भारत के राजदूत श्री तरन सिंह संधू भी वर्चुअली शामिल हुए।




प्रधानमंत्री श्री मोदी के सपनों का भारत

मंत्री श्री राजपूत ने कहा कि मुझे याद है एक बार प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी अमेरिका प्रवास पर थे, तब वहां निवासरत भारतीयों ने पूछा कि अपना देश कब अमेरिका की तरह खुबसूरत और विकसित होगा। तब प्रधानमंत्री श्री मोदी ने आश्वासन दिया था कि आप इसी जनम में भारत को अमेरिका के समान देख सकेंगे। उन्होंने कहा प्रधानमंत्री श्री नरेनद्र मोदी का यह मानना है कि हम परंपरा, प्रतिभा और आापसी व्यापार द्वारा दोनों देशों के आपसी संबंधों को और अधिक मजबूती प्रदान करेंगे।
भारत-अमेरिका संबंधों में नई उर्जा का होगा संचार
मंत्री श्री राजपूत ने कहा कि आप लोग भारतीय समुदाय भारत अमेरिका संबंधों का एक महत्वपूर्ण स्तमभ है। जो विभिन्न क्षेत्रों में अपनी उपलब्धियों के माध्यम से अमेरिका जैसे विकसित देश में अपने ज्ञान,अनुभव एवं योग्यता के बल पर विकास में सहयोग प्रदान कर रहे हैं।इससे दोनों देशों  के मध्य संबंधों में और अधिक उर्जा प्राप्त होगी।इसी के साथ आप लोगों ने भारतीय संस्कृति को भी जीवित रखा है।अमेरिका में बसे मेरे भारतीय भाई बहन लगातार भारतीय संसकृति के इन मूल्यों को विश्व स्तर पर स्थापित करने का कार्य कर रहे हैं जो कि निश्चित रूप से आने वाले समय में विश्व शांति और बंधुत्व की स्थापना में महत्वपूर्ण कदम साबित होगा।




गणतंत्र दिवस के अवसर पर वीडियो कांफ्रेंसिग के माध्यम से भारत की आजादी के 75 वें वर्ष आजादी के अमृत महोत्सव पर आयोजित इस कार्यक्रम का आयोजन एनसीएआईए द्वारा आयोजित किया गया था। जिसमें अमेरिका में भारत के राजदूत श्री तरनसिंह संधू, समन्वय श्री कृपाशंकर सिंह, संस्था के चेयरमेन श्री सुनील सिंह एव सुश्री नैना देसाई, श्री संधू के सलाहकार श्री हरस्वरूप सिंह एवं श्री शंभू बानिक एवं अन्य कम्यूनिटी लीडर वर्चुअली उपस्थित थे।


0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive

Adsense