सतर्क रहें..बने सायबर योद्धा

बुधवार, 5 जनवरी 2022

SAGAR : आदिवासी जनजाति नृत्यों की कार्यशाला का शुभारंभ

SAGAR :  आदिवासी जनजाति नृत्यों की कार्यशाला का शुभारंभ


सागर |  आदिवासी जनजाति नृत्यो की कार्यशाला का शुभारंभ 4 तारीख को तिलक गंज रामसरोज पैलेस  में शाम 7 बजे दीप प्रज्ज्वलित कर हुआ। दीप प्रज्ज्वलित श्री शैलेश केशरवानी जी, श्रीमती अंजना चतुर्वेदी जी, डॉक्टर ओम प्रकाश चौबे जी, डॉक्टर सुधीर तिवारी जी, श्री कपिल स्वामी श्री नवल किशोर नामदेव द्वारा किया गया। कार्यशाला में लगभग 50 छात्र-छात्राएं हिस्सा ले रहे हैं। आयोजन गुरु शिष्य परंपरा योजना के तहत दक्षिण मध्य क्षेत्र सांस्कृतिक केंद्र, संस्कृति मंत्रालय भारत सरकार के सहयोग से किया जा रहा है। जिसमें प्रशिक्षक श्रीमती विनीता दोहरे जी होंगी। श्री शैलेश केशरवानी जी एवं  डॉ ओ पी चौबे जी द्वारा बताया गया कि आयोजन का मुख्य उद्देश्य बुंदेलखंड में निवासरत आदिवासी जनजातीय कलाओं का संरक्षण व संवर्धन करना है यह कला अमूर्त रूप में है जिसे मूर्त रूप में लाने की जरूरत है लाखा बंजारा के बाद यही आदिवासी जनजाति सागर में निवासरत जिनके ऊपर ध्यान देना अति आवश्यक है इनकी संस्कृति से विद्यार्थियों को अवगत कराया जायेगा जिस के लिए कोई भी आवश्यकता होगी हमारे द्वारा पूर्ण की जाएगी। कार्यक्रम मे  दीपक स्वामी, अतीश नेमा, शुभम कोरी, अंकित सेन, महेंद्र चढ़ार, दीपक राय, अंशुल अहिरवार, अंशिका अहिरवार, प्राची साहू, शुभकामना ठाकुर, तनु ठाकुर, शालिनी अहिरवार उवस्थित रहे। 

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive

Adsense