बुधवार, 23 फ़रवरी 2022

SAGAR : अहिरवार समाज और भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा ने की हमलावरों को शीघ्र गिरफ्तार करने की मांग,पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंपा

SAGAR : अहिरवार समाज और भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा ने की हमलावरों को शीघ्र गिरफ्तार करने की मांग,पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंपा


सागर।खुरई विधानसभा क्षेत्र के अहिरवार समाज एवं भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा जिला सागर ने खुरई में 27 जनवरी को अनुसूचित जाति के पूर्व पार्षदों सहित अन्य लोगों पर प्राणघातक हमला करने वाले आरोपियों को शीघ्र गिरफ्तार करने की मांग को लेकर जिला पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंपा।

ज्ञापन में उल्लेख है कि, दिनांक 27 जनवरी 2022 को खुरई में भाजपा कार्यकर्ताओं ने सेल्फी प्वाइंट तोड़ने वाले असामाजिक तत्वों को गिरफ्तार किये जाने की मांग को लेकर तहसील परिसर में अनुविभागीय अधिकारी खुरई को ज्ञापन सौंपने का कार्यक्रम बनाया था जिनमें दो पूर्व पार्षद श्री विनोद राजहंस एवं श्री प्रभु अहिरवार सहित अनुसूचित जाति व भाजपा के कार्यकर्ता बड़ी संख्या में शामिल थे। इसी दरम्यान असामाजिक तत्वों ने भाजपा कार्यकर्ताओं पर प्राणघातक हमला कर दिया। जिसमें गंभीर रूप से घायल अनुसूचित जाति के दो पूर्व पार्षद विनोद राजहंस एवं प्रभु अहिरवार भोपाल के अस्पताल में भर्ती रहे हैं। 
आरोपियों की गिरफ्तारी किये जाने की मांग को लेकर ज्ञापन पूर्व में दिनांक 29 जनवरी, 2 फरवरी, 3 फरवरी एवं 4 फरवरी को खुरई, जिला मुख्यालय सागर, मालथौन एवं बांदरी में अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) एवं पुलिस अधीक्षक महोदय सागर के समक्ष प्रस्तुत किया जा चुका है। पूर्व में कई बार ज्ञापन प्रसतुत किये जाने के उपरांत भी आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं की गई है सभी नामजद आरोपी खुलेआम घूम रहे हैं जिससे अनुसूचित जाति वर्ग के नागरिकों में अत्याधिक रोष एवं भय का वातावरण है। पुलिस द्वारा अब तक हमलावर आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किये जाने से शिकायतकर्ता और अनुसूचित जाति के लोगों में भय व्याप्त हैं और स्वयं को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। अब तक गिरफ्तारी नहीं होने से समाज में रोष व्याप्त है। यदि आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी नहीं हुई तो अनुसूचित जाति वर्ग के लोग धरना और आंदोलन करने का बाध्य होंगे। 

ज्ञापन में पुलिस अधीक्षक से अनुरोध किया है कि, खुरई पुलिस द्वारा पंजीबद्ध किये गये अपराध में आरोपियों को शीघ्र ही गिरफ्तार किया जाये ताकि हमारे समाज के लोग भयमुक्त हो सकें। ज्ञापन देने वालों में वृन्दावन अहिवार, संतोष रोहित, नरेन्द्र अहिरवार, रामू ठेकेदार, चेतराम अहिरवार, अरविंद तोमर, गुड्डा खटीक, महेश अहिरवार, रघुवीर अहिरवार, दीना रोहित, प्रशांत अहिरवार, अनिल राज, रिंकू राज, अरविंद अहिरवार, विजय अहिरवार, काशीराम अहिरवार, इंजी. काशीराम अहिरवार, प्रभु चैधरी, शैलेनद्र नैक्या, हरिशंकर अहिरवार, विनोद राजहंस, नरेश वनपुलिया, निर्मल अहिरवार, सुनील राज, चुन्नीलाल, पप्पू अहिरवार, अजय चैधरी, बल्लू चैधरी, जयराम अहिरवार, जमना प्रसाद अहिरवार, जित्त अहिरवार, संतोष एलआईसी, सोनू अहिरवार, इन्द्रकुमार राय, कमलेश राय, विक्रम चैधरी, करन मंडल, मिहिरवान अहिरवार, उत्तम अहिरवार, नंदराम अहिरवार, संजय अहिरवार, नीलेश अहिरवार पातीखेडा, बब्लू अहिरवार पड़रिया, मोहन अहिरवार देवपुरा, हरचरन अहिरवार सीपुर, ब्रजेश अहिरवार रोडा, संतोष अहिरवार मृगावली, बाबूलाल अहिरवार दुगाहा कला, मानक अहिरवार मालथौन, आनंद अहिरवार बरोदियाकला, रुप सिंह अहिरवार प्रेमपुरा, उमेश अहिरवार मडखेरा, मोहन अहिरवार बीकोरकला, दिलीप अहिरवार रजवास, नवीन अहिरवार वनखिरिया, मोतीलाल अहिरवार, राजूभाई, डीआर रोहित, सनत रोहित, वीरेन्द्र अहिरवार, राहुल अहिरवार, कुलदीप राय, हरपे अहिरवार, हीरालाल अहिरवार, शिवलाल अहिरवार, तुलसीराम अहिरवार, मुकेश अहिरवार, केशव अहिरवार, रजकुमार अहिरवार, धर्मेन्द्र अहिरवार सहित बड़ी संख्या में अहिरवार समाज के लोग शामिल थे।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive

Adsense