सोमवार, 7 दिसंबर 2020

संभाग में कर वसूली का टूटा रिकॉर्ड, कोरोना के बावजूद वाणिज्य कर में पिछले वर्ष से 7 फीसदी अधिक हुई कर वसूली ★ मैरिज गार्डनों आदि पर नजर


संभाग में कर वसूली का टूटा रिकॉर्ड, कोरोना के बावजूद वाणिज्य कर में पिछले वर्ष से 7  
फीसदी अधिक हुई कर वसूली
★ मैरिज गार्डनों आदि पर नजर

सागर ।वाणिज्य कर संभागीय उपायुक्त कार्यालय सागर के अंतर्गत बीना-दमोह, टीकमगढ़-छतरपुर, पन्ना व नौगांव सर्किल ने कोरोना काल में आठ माह में पिछले साल का रिकार्ड तोड़ते हुए चालू वित्त वर्ष में 7 प्रतिशत अधिक कर वसूली की है. कर वसूली में प्रदेश के अन्य संभागों को पछाड़ दिया है.

मिली जानकारी के अनुसार वर्ष 2020 में अब तक 17165.59 लाख रूपए का कर संग्रहण करके मप्र में सागर शीर्ष स्थान पर पहुंच गया है जो कि पिछले वर्ष संग्रहित इसी अवधि के राजस्व 16028.69 लाख रूपए की तुलना में 7 प्रतिशत अधिक है. वाणिज्य कर सागर संभाग के संभागीय उपायुक्त एसके सोनटके ने बताया कि वैश्विक महामारी कोरोना के दौर ने हर कोई के साथ हर किसी व्यवसाय को प्रभावित किया है. इसके बावजूद भी एसजीएसटी की टीम ने वसूली का अभियान निरंतर रूप से जारी रखते हुए पिछले वर्ष की तुलना में 7 प्रतिशत से अधिक कर वसूली की है.


तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें
@weYljxbV9kkvq5ZB


वेबसाईट

सागर संभाग में 30 हजार पंजीकृत करदाता है. चालू वित्त वर्ष मेंं 85 प्रतिशत से अधिक करदाता अपना रिर्टन भी फाईल कर चुके है. इस वर्ष कोरोना महामारी के पूर्व और बाद के माह अप्रैल से लेकर नवम्बर 2019-20 के बीच सागर सर्किल में कर वसूली सात प्रतिशत से अधिक रही है.

जहाँ मार्च और अप्रैल में टोटल लॉक डाउन के दौरान कार्यालय बंद रहने के कारण करदाताओं द्वारा कर जमा नहीं किया गया तो मई के बाद जून माह में दोगुना कर विभाग में करदाताओं द्वारा जमा किया गया.   जून माह में पिछले वर्ष की तुलना में 3267 लाख रूपए की कर राजस्व वसूली की गई जो कि पिछले वर्ष 1671 लाख पर थी. वहीं अकेले नवम्बर माह में नौगांव सर्किल में 221.98 प्रतिशत से अधिक की एसजीएसटी वसूली की है जबकि सागर सर्किल में पिछले वर्ष की तुलना में लगभग 25 प्रतिशत अधिक, बीना में 22 प्रतिशत कम, दमोह में 26 प्रतिशत अधिक, टीकमगढ़ में 36 प्रतिशत अधिक, छतरपुर में 34 प्रतिशत कम और पन्ना में 0.28 प्रतिशत कम कर वसूली हुई है.

उन्होंने बताया कि इसके साथ ही शासन द्वारा डेढ़ दशक पूर्व मनोरंजन कर एवं विलासता में शामिल मैरिज गार्डनों, रेस्टोरेंट, होटल, लॉन की भी जानकारियां एकत्रित की जा रहीं हैं.

---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------



 

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें


नौरादेही अभ्यारण : प्रभावित लोगों का शत-प्रतिशत होगा विस्थापन : कलेक्टर

Archive