SAGAR : 8000 से अधिक व्यक्तियों ने कोरोना से जीती जंग ,आत्मबल और मनोबल बनाए रखें

शुक्रवार, 25 जून 2021

बुंदेलखंड का एक और गौरव,इंडिया स्मार्ट सिटी कांटेस्ट-2020 में सागर स्मार्ट सिटी को देश में दूसरा स्थान : मंत्री भूपेन्द्र सिंह


बुंदेलखंड का एक और गौरव,इंडिया स्मार्ट सिटी कांटेस्ट-2020 में सागर स्मार्ट सिटी को देश में दूसरा स्थान : मंत्री  भूपेन्द्र सिंह

 
सागर।  ज़िले वासियों के लिए एक और ख़ुशख़बरी है। इंडिया स्मार्ट सिटी कांटेस्ट-2020 में सागर शहर को सिटी अवार्ड की श्रेणी में देश में दूसरा स्थान मिला है। इस कामयाबी ने हमारे सागर को देश के उत्कृष्ट शहरों की श्रेणी में ला दिया है। बुंदेलखंड अंचल को इस गौरव की बधाई। मध्य प्रदेश शासन के नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री भूपेंद्र सिंह ठाकुर ने बधाई देते हुए उक्त विचार सोशल मीडिया पर साझा करते हुए दिए।

उल्लेखनीय है कि, इंडिया स्मार्ट सिटी कांटेस्ट-2020  में मध्यप्रदेश को देश में दूसरा स्थान मिला है। मध्यप्रदेश के भोपाल, सागर, इंदौर, ग्वालियर और जबलपुर  को अलग-अलग कैटेगिरी में कुल ग्यारह पुरस्कार मिले हैं। मंत्री श्री भूपेंद्र सिंह ठाकुर ने कहा कि, वे प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान जी के आभारी हैं कि राज्य के विकास की उनकी लगातार कोशिशों के चलते ये शहर इस सफलता को हासिल कर सके। उन्होंने सागर सहित भोपाल, इंदौर, ग्वालियर और जबलपुर के प्रशासन और स्थानीय लोगों को भी इस कामयाबी के लिए बधाई दी।

स्मार्ट सिटी के अधिकारी और ज़िले के सभी नागरिकों को कलेक्टर ने भी दी बधाई

सागर स्मार्ट सिटी की इस उपलब्धि पर कलेक्टर  दीपक सिंह ने स्मार्ट सिटी के सभी अधिकारियों, कर्मचारियों को बधाई दी है। इसके साथ ही उन्होंने समस्त ज़िले वासियों को भी इस सफलता के लिए शुभकामनाएं दी और कहा कि, उन्हें पूरा विश्वास है कि, जल्द ही स्मार्ट सिटी मिशन के अंतर्गत चल रहे प्रचलित समस्त कार्य पूर्ण होंगे एवं सागर वासियों को स्मार्ट सिटी के तहत और अधिक सुविधाएँ उपलब्ध होंगी।


स्मार्ट सिटीज मिशन एवं अन्य अंमृत व पीएमएवाय योजनाओं की सफल छठवी वर्षगांठ पर हुई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से की गई अवार्डस विजेताओं की घोषणा

25 जून 2021 को, स्मार्ट सिटी मिशन एवं अन्य मिशनों- अमृत और पीएमएवाय योजनाओं के साथ लॉन्च के सफल 6 साल पूरे करने पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से भारत सरकार के मंत्री आवास एवं शहरी विकास विभाग(स्वतंत्र प्रभार) श्री हरदीप सिंह पुरी की उपस्थिति में एक वर्चुअल कार्यक्रम का आयोजन किया गया। आवास एवं शहरी विकास विभाग मंत्रालय द्वारा इंडिया स्मार्ट सिटीज अवार्ड कॉन्टेस्ट 2020, डेटा मैच्योरिटी असेसमेंट फ्रेमवर्क और क्लाइमेटस्मार्ट सिटीज असेसमेंट फ्रेमवर्क के तहत बहुप्रतीक्षित परिणामों की भी घोषणा कार्यक्रम के दौरान की गई। उक्त वर्चुअल कार्यक्रम में कलेक्टर सह अध्यक्ष सागर स्मार्ट सिटी लिमिटेड श्री दीपक सिंह, सीईओ श्री राहुल सिंह राजपूत, कंपनी सचिव श्री रजत गुप्ता, सीए श्रीमति आकांछा जुनेजा आदि वीडियो कंन्फ्रेंसिंग के माध्यम से शामिल रहे।
पिछले वर्ष स्मार्ट सिटीज अवार्ड कांटेस्ट  2019  में सिटी अवार्ड केटेगरी के अंर्तगत राउंड 3 में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए विजेता रही सागर स्मार्ट सिटी के सीईओ श्री राहुल सिंह राजपूत को जनवरी 2020 में विशाखापत्तनम, आंध्र प्रदेश में अवार्ड से सम्मानित किया गया था। और लगातार दूसरी बार सागर स्मार्ट सिटी लिमिटेड ने इंडिया स्मार्ट सिटीज अवार्ड कॉन्टेस्ट 2020 की सिटी अवार्ड कैटेगरी में देश में दूसरा स्थान राउंड थ्री सिटीज मे प्राप्त किया है।
सिटी अवार्ड, समग्र शहर के प्रदर्शन के आकलन के आधार पर प्रत्येक राउंड की सिटीज में से विजेता को दिया जाता है। प्रोजेक्ट अवार्ड और इनोवेटिव आइडिया अवार्ड के लिए प्रस्तुत प्रस्ताव, एसपीवी गवर्नेंस, स्टेकहोल्डर एंगेजमेंट और प्रोजेक्ट परिणाम आदि इसमें शामिल है।


तीनबत्ती न्यूज़. कॉम

के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे




ट्वीटर  फॉलो करें
तकनीकी कारणों से
तीनबत्ती न्यूज़.कॉम
का नया ट्वीटर अकाउंट बना  है ।
कृपया #फॉलो करें।



वेबसाईट



सागर स्मार्ट सिटी लिमिटेड ने लोगों के जीवन की गुणवत्ता में सुधार की अपनी यात्रा में एक लंबा सफर तय किया है जो निरंतर जारी है इस अभूतपूर्व समय में सागर स्मार्ट सिटी ने कोविड-19 महामारी की रोकथाम प्रबंधन में और अन्य सभी चुनौतियों के बावजूद सागर के विकास में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई व मिशन के कार्यान्वयन में सतत प्रगति दिखाने में सक्षम रही है।

विचारणीय है कि स्मार्ट सिटीज अवार्ड कांटेस्ट स्मार्ट सिटी मिशन के तहत शुरू की गई महत्वपूर्ण गतिविधियों में से एक है, जहां अग्रणी शहर रणनीतियों, परियोजनाओं और विचारों को नवाचार, प्रभाव और सस्टेनेबिलिटी के आधार पर मान्यता दी जाती है । इसके तहत उन शहरों, परियोजनाओं और अभिनव विचारों को पुरस्कृत किया जाता है जो भारत में शहरी क्षेत्रों में सतत विकास को बढ़ावा दे रहे हैं, साथ ही समावेशी, समान, सुरक्षित, स्वस्थ और सहयोगी शहरों को प्रोत्साहित कर रहे हैं, जिससे सभी के लिए जीवन की गुणवत्ता में सुधार हो रहा है।
प्रतियोगिता के प्रथम चरण में शहर विकास हेतु हुई मीटिंगों एवं लोगों की सुविधा हेतु शहर निर्माण के आधार पर स्मार्ट सिटीज क्वालीफाई हुई थी। और प्रथम चरण में क्वालीफाई हुए शहरों ने दूसरे चरण में भाग लिया था। दूसरे चरण में निम्न केटेगरी में अवार्ड घोषित किये गए थे।
1 प्रोजेक्ट अवार्ड - इसके मापदण्ड अब तक कंपलीट किये गए प्रोजेक्ट, 9 अर्बन थीम्स पर किया गया कार्य, नवाचार एवं प्रमाणित प्रभाव संतुलन एवं प्रोजेक्टस के वीडियो है।
2 इनोवेटिव अवार्ड - इसके मापदण्ड 7 शहरी विषयों में असाधारण नवाचार, क्रॉस-कटिंग थीम (एक से अधिक श्रेणी को एकीकृत करना), शहरों के सफल ट्रांसफॉर्म में योगदान, बहु-हितधारक साझेदारी और नागरिक सहयोग मॉडल है।
3 सिटी अवार्ड - इसके मापदण्ड समग्र शहर के प्रदर्शन का आकलन, प्रोजेक्ट अवार्ड और इनोवेटिव आइडिया अवार्ड के लिए प्रस्तुत प्रस्ताव, एसपीवी गवर्नेंस, स्टेकहोल्डर एंगेजमेंट और प्रोजेक्ट परिणाम है।
नगरीय विकास के 9 विषय मापदण्डों के आधार पर 100-100 अंकों के दो चरणों को मिला कर कुल 200 अंकों में से प्राप्त अंकों के आधार पर शहरों को पुरस्कृत किया जायेगा। इसमें प्रथम चरण के 100 अंक क्रमशः प्रोजेक्ट इम्प्लीमेंटेशन-40 अंक, फंड यूटीलाइजेशन-30 अंक, एसपीवी गर्वनेंश -12 अंक, स्टेकहोल्डर इंगेजमेंट-18 अंक में विभक्त किये गये थे। द्वितीय चरण के 100 अंकों को वॉटर एवं सीवरेज, स्वच्छता, यातायात गतिशीलता, शहरी पर्यावरण, अर्थव्यवस्था, संस्कृति ,सामाजिक पहलुओं का समनवय, पर्यावरण संरक्षण हेतु किये गये कार्य, शासन व्यवस्था एवं इनोवेटिव आइडिया में बरावर 10-10 अंको में विभक्त किया गया था।
 
                       
---------------------------- 







तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885



--------------------------
 

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें


SAGAR: जिला अस्पताल में 10 दिन में तैयार हो जाएगा ऑक्सीजन प्लांट , 100 बिस्तरों को रोज मिलेगी ऑक्सीजन

Archive