SAGAR : 8000 से अधिक व्यक्तियों ने कोरोना से जीती जंग ,आत्मबल और मनोबल बनाए रखें

सोमवार, 21 जून 2021

विश्व योग दिवस पर अनेक आयोजन ★ परिवहन मंत्री गोविंद राजपूत व विधायक शेलेन्द्र जैन हुए कार्यक्रम में शामिल ★ SVN विवि में वर्चुअल योग कार्यशाला का हुआ समापन ★ खेल परिसर में मनाया गया योग दिवस

विश्व योग दिवस पर अनेक आयोजन

★ परिवहन मंत्री गोविंद राजपूत व विधायक शेलेन्द्र जैन हुए कार्यक्रम में  शामिल
★ SVN विवि में  वर्चुअल योग कार्यशाला का हुआ समापन

★ खेल परिसर में मनाया गया योग दिवस

सागर । सातवे विश्व योग दिवस पर साग़र जिले में अनेक आयोजन हुए। कई जगह आन लाईन आयोजन किये गए। तो अनेक जगहों पर कोरोना प्रोटोकॉल के तहत सीमित संख्या में योगाभ्यास किया गया। 
राजस्व एवं परिवहन मंत्री  गोविन्द सिंह राजपूत और विधायक शेलेन्द्र जैन  गोपालगंज स्थित वृन्दावन बाग परिसर में आयोजित योग कार्यक्रम में शामिल हुये। उन्होंने विभिन्न योगासन का अभ्यास किया। इस अवसर  कमलेश बघेल, श्री महन्तजी, श्री नवीन भट्ट,  निकेष गुप्ता और अन्य लोगों ने भी योगाभ्यास किया। योगाभ्यास श्रीमती एस वाजपेयी के मार्गदर्शन में किया गया। कार्यक्रम कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुये रखा गया था।  जिसमें सीमित संख्या में लोग शामिल हुये।   


तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें


वेबसाईट


SVN विवि में प्रतिदिन योग करने के संकल्प के साथ वर्चुअल योग कार्यशाला का हुआ समापन


स्वामी विवेकानंद विश्वविद्यालय, योग विज्ञान विभाग द्वारा आयोजित ''स्वस्थ शरीर और स्वस्थ मन'' विषय पर चल रही तीन दिवसीय वर्चुअल कार्यशाला का समापन 21 जून अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर प्रतिदिन योग करने के संकल्प के साथ किया गया। कार्यशाला अपने दो सत्रों में संपन्न हुई प्रथम सत्र में सुबह 7ः00 बजे से इस कार्यशाला के सचिव योग विज्ञान विभाग के विभागाध्यक्ष गगन सिंह ठाकुर द्वारा अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के प्रोटोकॉल का अभ्यास कराकर किया गया। जिसमें लोगों ने वर्चुअल माध्यम से अपने घरों में रहकर योगाभ्यास किया, कार्यशाला के द्वितीय सत्र के मुख्य वक्ता रहे योगाचार्य एन. आर. भार्गव जी ने कहा की योग, आयुर्वेद और प्राकृतिक चिकित्सा पद्धतियां व्यक्ति को हर एक बीमारी से बचाने का काम करती हैं वो भी बिना किसी गलत नुकसान के यह भारतीय चिकित्सा पद्धतियां व्यक्ति को संपूर्ण स्वस्थ बनाए रखने और जीवन को आनंदित और सुखमय बनाने की ओर आगे ले जाती हैं, हम सभी को योग, आयुर्वेद और प्राकृतिक चिकित्सा को अपने जीवन का हिस्सा बनाना चाहिए तभी हम समग्र स्वास्थ्य की कल्पना को साकार कर सकते हैं, योगाचार्य भार्गव जी ने कहा की योग में तीन प्रकार के अभ्यास होते हैं। पहला शरीर का अभ्यास जो हमें आसनों द्वारा मिलता है, दूसरा स्वास का अभ्यास जो हमें प्राणायाम द्वारा मिलता है और तीसरा मन का अभ्यास जो हमें ध्यान के द्वारा मिलता है। जब हम इन तीनों प्रकार के अभ्यास को करते हैं तभी सही अर्थों में हमने पूर्ण योगाभ्यास किया। वर्चुअल कार्यशाला में विशेष वक्ता के रूप में हिमालयन गढ़वाल यूनिवर्सिटी उत्तराखंड के प्रोफेसर आचार्य अरुण सिंह ने अपने व्याख्यान में कहा कि योग हमें एक दिव्य जीवन के लिए तैयार करता है परिस्थितियां फिर चाहे जैसी भी हो हम अपने आप को योग के माध्यम से संभाल लेते हैं। कोरोना के इस काल में लाखों लोगों ने योग के माध्यम से अपने आप को कोरोना का शिकार होने से बचाया और केवल कोरोना ही नहीं योग हमें शारीरिक और मानसिक तमाम प्रकार की बीमारियों से बचाने का काम करता है। अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस हमें यह प्रेरणा देता है की योग ही केवल मात्र वह माध्यम है जिससे हम सभी प्रकार की बीमारियों से बचे हुए अपने आप को एक स्वस्थ और सामंजस्यपूर्ण जीवन में बदल सकते हैं। संस्था के कुलाधिपति डॉ. अजय तिवारी ने अपने उद्बोधन में कहा कि भारतीय ज्ञान दुनिया का सबसे परिष्कृत ज्ञान है हमने शरीर विज्ञान के साथ-साथ इस ब्रह्मांड के रहस्य को भी अपने वेदों, पुराणों के माध्यम से जाना है। चिकित्सा के क्षेत्र में भारतीय पद्धतियां मानव समाज के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण साबित हुई हैं योग, आयुर्वेद, प्राकृतिक चिकित्सा विश्व को भारतीय ऋषियों का दिया हुआ वरदान है इस ज्ञान के द्वारा मनुष्य समाज अपने आप को बेहतर बना सकता है और अपने जीवन को एक दिव्य जीवन में बदल सकता है। संस्थापक कुलपति डॉ. अनिल तिवारी जी ने कहा योग केवल एक व्यायाम नहीं बल्कि पूरा जीवन विज्ञान है हम योग के माध्यम से जीवन के चरम उत्कर्ष को प्राप्त कर सकते हैं योग हमें सभी परिस्थितियों में सम रहना सिखाता है, बेहतर और शानदार जीवन के लिए योग एक वरदान है समय-समय पर अलग-अलग संक्रमण रोग समाज में आते रहते हैं उन सभी से बचने के लिए हमें योग को अपने जीवन का एक हिस्सा बनाना चाहिए तभी हम एक स्वस्थ समाज की कल्पना कर सकते हैं इसी के साथ डॉ. अनिल तिवारी जी ने सभी से योग को अपने जीवन में अपनाने के साथ-साथ वैक्सीन की डबल डोज लगवाने का भी आग्रह किया।
इस वर्चुअल कार्यशाला में बड़ी संख्या में गायत्री परिवार सागर के साधक, सागर शहर के योग प्रेमी, विद्यार्थीयो के साथ-साथ मुख्य रूप से मनीष मिश्रा, मनीष दुबे, डॉ. सुनीता जैन, डॉ. ममता सिंह, डॉ. नीरज तोपखाने, भवानी सिंह, डॉ. सारिका शुक्ला, डॉ. नरेश नाथ, ए. के. सिंह, अनिल सेन, काजल नागले आदि उपस्थित रहे।

खेल परिसर सागर में मनाया गया अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस
अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर  सागर खेल परिसर में सोशल डिस्टेंस के साथ योगाभ्यास कार्यक्रम का आयोजन किया गया। शहर के प्रतिष्ठित योग प्रशिक्षक श्रीमती विनीता राजपूत, प्रशिक्षक श्री श्यामलाल पाल एवं सुश्री निधि सेन के मार्गदर्शन में समाज सेवी श्री वीनू राणा जी, जिला खेल और युवा कल्याण अधिकारी श्री प्रदीप अबिद्रा एवं खेल परिसर के विभिन्न खेलों के प्रशिक्षक तथा सीनियर खिलाड़ियों के द्वारा योग का अभ्यास किया गया। साथ ही इस अवसर पर सभी उपस्थित व्यक्तियों ने संकल्प लिया कि वह वैक्सीन लगवाने के लिए लोगो को प्रेरित करेंगे। इस अवसर पर समाज सेवी श्री वीनू राणा जी द्वारा खिलाड़ियों से अपील की गई कि वह अपने नियमित खेल अभ्यास में योग को भी शामिल रखें क्यों कि खिलाड़ियां को एकाग्रता  एवं धैर्य कि अत्यंत आवश्यकता होती है जो कि योग से संभव है।
इसी तारतम्य में जिले के विभिन्न विकासखंडां में समन्वयक ग्रामीण युवा केन्द्र एवं रोटरी क्लब की ग्रामीण इकाइयों के साथ योग अभ्यास कार्यक्रम आयोजित करते हुऐ पौधारोपण का कार्य भी संपन्न किया गया।










---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------
 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


---------------------------













0 comments:

एक टिप्पणी भेजें


SAGAR: जिला अस्पताल में 10 दिन में तैयार हो जाएगा ऑक्सीजन प्लांट , 100 बिस्तरों को रोज मिलेगी ऑक्सीजन

Archive