सतर्क रहें..बने सायबर योद्धा

शुक्रवार, 31 दिसंबर 2021

चकरपुर, मढ़िया बांध के कार्य स्थल का निरीक्षण किया मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने

 चकरपुर, मढ़िया बांध के कार्य स्थल का निरीक्षण किया मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने

सागर। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह ने आज बीना नदी परियोजना के तहत बन रहे चकरपुर बांध और मढ़िया बांध के कार्यस्थलों का निरीक्षण किया। प्रोजेक्ट की कार्ययोजना को प्रगति की मौके पर देखा और 30 जून तक गेट लगाने का कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए।_
 मंत्री श्री सिंह ने कहा कि परियोजना में प्रभावित हो रहे किसानों को शासन की गाइड लाइन के अनुसार तत्काल मुआवजा प्रदान किया जाए। इसके लिए शिविर लगाने की आवश्यकता पड़ती है तो तत्काल लगाएं और मुआवजे का वितरण करें। उन्होंने निर्देश दिए कि, 30 जून 2022 तक बांध में गेट लगाने का कार्य सुनिश्चित करें। बांध से पाइप लाइन डालने का काम भी तीव्र गति से किया जाए।
     मंत्री भूपेंद्र सिंह ने निर्माण स्थल से ही सिंचाई विभाग के प्रमुख सचिव श्री मिश्रा को दूरभाष पर निर्देश दिए कि, चकरपुर डेम में गेट लगाने के लिए अलग से डीपीआर तैयार करें और 30 जून तक गेट लगाना सुनिश्चित किया जाए। बीना सिंचाई परियोजना अंतर्गत मड़िया बांध, चकरपुर बांध एवं प्रेशराइज्ड पाईप द्वारा सूक्ष्म सिंचाई प्रणाली का निर्माण कार्य किया जा रहा है। 
     उन्होंने बताया कि ग्राम गाबरी तहसील राहतगढ़ के समीप मड़िया बांध का निर्माण कर 270.10 एमसीएम जल का भंडारण किया जाना है। सिंचाई की आवश्यकता के अलावा 21 मेगावॉट बिजली का उत्पादन करने के उपरांत पानी नदी में पुनः छोड़ दिया जायेगा। 
उक्त जल का पुनः भंडारण करने हेतु मड़िया बांध के डी./एस. में ग्राम मूलना मानगढ़, राहतगढ़ के समीप 71 मि.घ.मी. क्षमता का चकरपुर बांध निर्माण कर प्रेशराइज्ड पाईप के द्वारा सूक्ष्म सिंचाई प्रणाली से राहतगढ़, खुरई, बीना एवं मालथौन विकासखण्डों की 90,000 हेक्टेयर भूमि की सिंचाई की जाना प्रस्तावित है। 
     नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने समीक्षा बैठक में कहा था कि बीना नदी परियोजना के बांधों की प्रगति का प्रत्यक्ष अवलोकन करने के लिए वे स्वयं 31 दिसम्बर, 21 को बीना नदी परियोजना की साइटों का दौरा कर कार्य की प्रगति देखेंगे।
     मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने बताया कि, जलजीवन मिशन के तहत खुरई विकासखंड के ग्रामों को मढ़िया व चकरपुर बांधों से पेयजल की आपूर्ति सुनिश्चित की जाएगी। कार्य की समयावधि बताते हुए जानकारी दी गई कि वर्ष 2022 के अंत तक 14239 हेक्टेयर, नवम्बर 2023 तक 30 हजार हेक्टेयर क्षेत्र की पाइप लाईन का कार्य पूर्ण होगा। मालथौन के 17450 हेक्टेयर तथा खुरई के 14319 हेक्टेयर कृषि भूमि तक समय सीमा में पाइपलाईन पहुंच जाएगी। नहरें बनाने का कार्य नवम्बर 2023 में पूर्ण कर लिया जाएगा। मंत्री श्री सिंह ने अधिकारियों से पाईपलाइन की शीघ्र व्यवस्था करने के निर्देश दिए।
     बीना नदी परियोजना से खुरई विकासखण्ड के 174 गांव में घर-घर नल से पेयजल उपलब्ध कराया जाएगा। जिसकी लागत 456 करोड़ रूपए है। इसी तरह बण्डा वृहद परियोजना से मालथौन विकासखण्ड के 174 ग्रामों में 365 करोड़ की लागत से घर-घर पेयजल सप्लाई होगा।
     इस अवसर पर बिना विधायक महेश राय, कलेक्टर दीपक आर्य, मुख्य कार्यपालन अधिकारी क्षतिज सिंघल, अनुविभागीय अधिकारी राहतगढ़ देवेंद्र सिंह, अधीक्षण यंत्री चकरपुर मडिया डेम अनिल पिपरी, योगेश भोसले थाना प्रभारी, आनंद राज सहित भाजपा नेता, कार्यकर्ता एवं अन्य अधिकारी एवं ग्राम जन्म मौजूद थे। 

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive

Adsense