सतर्क रहें..बने सायबर योद्धा

गुरुवार, 30 दिसंबर 2021

बुंदेलखंड के छात्र-छात्राओं को केंद्रीय विश्वविद्यालय में 50 फीसदी आरक्षण दिलाने प्रयास जारी : मंत्री भूपेन्द्र सिंह ★ 14 करोड़ की राशि से बने ऑडिटोरियम को लोकार्पण


बुंदेलखंड के छात्र-छात्राओं को केंद्रीय विश्वविद्यालय में 50 फीसदी आरक्षण दिलाने  प्रयास जारी  : मंत्री भूपेन्द्र सिंह

★ 14 करोड़ की राशि से बने ऑडिटोरियम को लोकार्पण

सागर 30 दिसम्बर 2021 ।  मुख्यमंत्री शहरी अधोसंरचना विकास  अंतर्गत नगर निगम द्वारा मोतीनगर चैराहा के पास 14 करोड से अधिक की लागत से बनाये गए महाकवि पद्माकर सभागार का नगरीय विकास एवं आवास मंत्री .श्री भूपेन्द्र सिंह ने लोकार्पण किया। इस मौके पर नगर विधायक श्री शैलेन्द्र जैन, श्री गौरव सिरोठिया, , श्री राजेंद्र सिंह मोकलपुर, श्री सुशील तिवारी ,संभाग आयुक्त एवं प्रशासक श्री मुकेश शुक्ला, कलेक्टर श्री दीपक आर्य, नगर निगम आयुक्त श्री आर पी अहिरवार, स्मार्ट सिटी सी.ई.ओ.श्री राहुलसिंह के साथ जनप्रतिनिधिगण एवं नागरिकगण उपस्थित है। इस मौके पर मंत्री सहित जनप्रतिनिधियों ने पूरे सभागार का जायजा भी लिया।
इस अवसर पर अपने उद्बोधन में मंत्री श्री भपूेन्द्र ंिसह ने सभागार निर्माण को शहर को मिली बड़ी उपलब्धि बताते हुये कहा कि सागर का कर्ज चुकाने का मेरा संकल्प है और मैं सागर को महानगरों की तर्ज पर विकसित करके अपने कर्ज चुकाने रहा हूं मंत्री श्री ठाकुर ने कहा कि आने वाले 2 वर्षों में सागर का नक्शा बदल जाएगा और सागर महानगरों की श्रेणी में शामिल होगा ।

मंत्री श्री सिंह ने कहा कि सागर विधायक एवं जिला प्रशासन द्वारा जो लगातार विकास के लिए प्रयास एवं इच्छा शक्ति से जो कार्य किए जा रहे हैं इसी के कारण आज सागर विकास की राह पकड़ चुका है। मंत्री श्री सिंह ने कहा कि सागर विश्वविद्यालय को केंद्रीय विश्वविद्यालय का दर्जा दिलाने की बात हो चाहे सागर में मेडिकल कॉलेज खोलने की बात हो मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान द्वारा नगर के विकास के लिए तत्परता से कार्य करते हुए सागर को सौगात दी है ।

उन्होंने कहा कि सागर केंद्रीय विश्वविद्यालय में रोजगार मुखी विषय प्रारंभ करने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं साथ ही डॉ हरिसिंह गौर की उस सपने को भी पूर्ण करने के लिए समस्त प्रयास किए जा रहे हैं जिसमें सागर सहित संपूर्ण बुंदेलखंड के छात्र-छात्राओं को सागर केंद्रीय विश्वविद्यालय में 50 प्रतिषत आरक्षण मिल सके । 


मंत्री श्री सिंह ने कहा कि बड़ा सौभाग्य बड़ी सौभाग्य की बात है कि सागर का चयन स्मार्ट सिटी के रूप में हुआ और मैं इसके लिए प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान का आभार व्यक्त करता हूं। उन्होंने कहा कि सागर स्मार्ट सिटी बनने से 1000 करोड़ रूपीस से अधिक के कार्य निरंतर चल रही हैं और आने वाले समय में और भी राशि के विकास कार्य प्रारंभ किए जाएंगे।
 
मंत्री श्री सिंह ने कहा कि सागर की लंबे समय से जो मांग थी वह आज ऑडिटोरियम के रूप में पूरी हुई है और यह ऑडिटोरियम बनने से सागर में सांस्कृतिक एवं अन्य कार्य किए जा सकेंगे  । उन्होंने कहा कि मेरा बड़ा सौभाग्य है कि जिस चीज का मैंने भूमि पूजन गृह मंत्री के तौर पर किया था आज उसी चीज का लोकार्पण नगरीय विकास मंत्री के रूप में कर रहा हूं । उन्होंने कहा कि इस प्रकार के कार्य करने के लिए भगवान का आशीर्वाद एवं आप सब का सहयोग आवश्यक होता है। उन्होंने कहा कि अभी 2 वर्ष मैं सागर के लिए बहुत कुछ करना है जिससे सागर नई ऊंचाइयों के नाम से पहचाने स्थापित कर सके।

विधायक श्री शैलेन्द्र जैन ने कहा कि  सागर धीरे-धीरे महानगर की ओर बढ़ रहा है उन्होंने कहा कि यह ऑडिटोरियम बनने से समस्त वर्गों कि व्यक्तियों को लाभ होगा। मंत्री श्री भूपेंद्र सिंह का हृदय से आभार व्यक्त करता हूं कि मंत्री श्री सिंह के प्रयास से सागर महानगरों की तर्ज पर विकास कर रहा है और आने वाले समय में अगर महानगरों की सूची में अपना नाम स्थापित करेगा ।

उन्होंने कहा कि मोतीनगर क्षेत्र में स्थापित आजाद गार्डन के सामने बन रहे मंगल भवन का कार्य भी शीघ्र गति से हो इसके भी प्रयास शीघ्र ही प्रारंभ किए जाएंगे। उन्होंनेे कहा कि यह आपकी अपनी संपत्ति है जिसे सहेज कर एवं संभाल कर

रखना होगा जिससे लंबे समय तक इसका लाभ हम सबको मिल सके। उन्होंने मंत्री श्री सिंह के सामने मांग रखी कि ऑडिटोरियम के संचालन एवं संधारण के लिए कोई एजेंसी नियुक्त हो जिससे इस ऑडिटोरियम का संचालन सुचारु रुप से किया जा सके।
श्री गौरव सिरोठिया ने कहा कि ऑडिटोरियम बनने से सागर मैं विकास की राय पकड़ ली है और आने वाले समय में सागर का संपूर्ण विकास होगा।

नगर निगम कमिश्नर श्री आरपी अहिरवार ने स्वागत भाषण देते हुए बताया कि कि नगर का प्रथम ऑडिटोरियम में आधुनिक सुविधायें सुसज्जित है जिसमें सभागाररू- लगभग 14 करोड़ 35 लाख की लागत से बनाये इस 700 सीटर महाकवि पद्माकर सभागर को महानगरों की तर्ज पर आधुनिक सविधाओं से सुसज्जित किया गया है ताकि इसका उपयोग संभाषण, सम्म्ेलन, सेमीनार एवं अन्य कार्यक्रमों में उपयोग किया जा सकेे। इसमें सुविधाओं के तौर पर 700 सीटें है जिसमें 600 भूतल पर और 100 सीट बालकनी पर है। सभागार में सेंटर ए.सी.सिस्टम, फायर फाईटिंग सिस्टम , हाॅल हेतु कम्प्यूटराईज लाईटिंग सिस्टम, कलाकारों हेतु दोनों तलों पर चेंजिंग रूम, दो अतिथि कक्ष, महिला-पुरूष के साथ दिव्यागोें को भी प्रशाधन सुविधायें बेसमेंट पार्किंग, पार्क, फाऊटेंन और परिसर के चारों ओर कांक्रीट सड़क और सुरक्षा दीवार पर सुंदर चित्रकारी भी बनायी गई है। सभागार के चारों और एल.ई.डी.लाईट स्ट्रीट लाईटंे लगायी गई है।


मंच पर प्रदर्शन के दौरान सतरंगी आधुनिक कम्प्यूटाईज लाईटिंग लगायी गई है,जिसमें 8 सारपी लाईटें जो मंच पर फोकस देंगी, तो लगभग 76 एम.एस.एल.ई.डी.लाईटें भी मंच को सतरंगी रोशनी से प्रकाशमय करेंगी तो सभागार में अंदर प्रकाश व्यवस्था में एल.ई.डी.लाईटें लगायी गई है वहीं दीवारों पर भी बालवेसर रंग बिरंगी लाईटें लगायी गई है। जिससे दीवारों का रंग परिवर्तित होता रहेगा अंधेरे भी कुर्सियों के बीच आने जाने के रास्ते में सीढ़ियों स्ट्रिप लाईटें लगी है ताकि सीढ़ियास्पष्ट दिखाई दें साथ ही मंच पर लगे बड़े परदों को खोलने के लिये रिमोर्ट का इस्तेमाल किया जायेगा।

इस प्रकार नगर निगम द्वारा इस सभागर के रूप में नगरवासियों को एक सौगात दी गई है ताकि बडे-बडे कार्यक्रम और लोककलाओं की प्रस्तुति हेतु एक सुसज्जित स्थान प्राप्त होगा। कार्यक्रम के पूर्व में मंत्री श्री सिंह सहित समस्त अतिथि द्वारा कन्या पूजन किया एवं सरस्वती पूजन भी किया कार्यक्रम के अंत में रंगारंग कार्यक्रम भी आयोजित किए गए। कार्यक्रम का संचालन डॉक्टर अरविंद जैन द्वारा किया गया। 



0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive

Adsense