सतर्क रहें..बने सायबर योद्धा

बुधवार, 29 दिसंबर 2021

31 दिसम्बर को मौके पर देखेंगे बीना, हनौता सिंचाई परियोजनाओं के कार्यः भूपेन्द्र सिंह ★ बीना, हनौता, बंडा परियोजनाओं की समीक्षा

31 दिसम्बर को मौके पर देखेंगे बीना, हनौता सिंचाई परियोजनाओं के कार्यः भूपेन्द्र सिंह

★ बीना, हनौता, बंडा परियोजनाओं की समीक्षा

सागर। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने सागर कलेक्टर सभाकक्ष में सागर जिले में चल रही बीना सिंचाई परियोजना, हनौता परियोजना एवं बंडा परियोजनाओं की समीक्षा बैठक ली। इस बैठक में खुरई तहसील के डूब क्षेत्र में आ रहे कुछ ग्रामों के प्रभावित कृषक भी उपस्थित रहे जिनकी विस्थापन, मुआवजा एवं भू-अर्जन संबंधी समस्याओं को अधिकारियों के समक्ष विमर्श कर निराकरण पर सहमति बनाई गई। मंत्री श्री सिंह ने निर्देश दिए कि हनौता परियोजना के विस्थपितों की मांग पर विदिशा कलेक्टर से चर्चा कर वहां के मापदंडों पर ही सागर जिले के प्रभावित कृषकों को मुआवजा देने के निर्देश दिए। मंत्री श्री सिंह ने समीक्षा बैठक में कहा कि बीना नदी परियोजना के बांधों की प्रगति का प्रत्यक्ष अवलोकन करने के लिए वे स्वयं 31 दिसम्बर, 21 को बीना व हनौता परियोजनाओं की साइटों का दौरा कर कार्य की प्रगति देखेंगे।_
 
बैठक में जलसंसाधन विभाग के परियोजना से संबंधित अधिकारियों ने जानकारी दी कि जलजीवन मिशन के तहत खुरई विकासखंड के ग्रामों को मढ़िया व चकरपुर बांधों से पेयजल की आपूर्ति सुनिश्चित की जाएगी। कार्य की समयावधि बताते हुए जानकारी दी गई कि वर्ष 2022 के अंत तक 14239 हेक्टेयर, नवम्बर 2023 तक 30 हजार हेक्टेयर क्षेत्र की पाइप लाईन का कार्य पूर्ण होगा। मालथौन के 17450 हेक्टेयर तथा खुरई के 14319 हेक्टेयर कृषि भूमि तक समय सीमा में पाइपलाईन पहुंच जाएगी। नहरें बनाने का कार्य नवम्बर 2023 में पूर्ण कर लिया जाएगा। मंत्री श्री सिंह ने अधिकारियों से पाईपलाइन की शीघ्र व्यवस्था करने के निर्देश दिए। 
     उल्लेखनीय है कि 2018 में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह ने इस परियोजना का शिलान्यास किया था। बंडा वृहद सिंचाई परियोजना की प्रगति भी समीक्षा बैठक में रखी गई। इस परियोजना से मालथौन व सागर ब्लाक के 174 गांवों में पेयजल की भी आपूर्ति होगी। 
     उल्लेखनीय है कि हनौता परियोजना 1392 करोड़ रूपए लागत की योजना है। जिसका कार्य प्रारंभ हो गया है। इस परियोजना से 40 हजार हेक्टेयर में सिंचाई होगी। चकरपुर एवं मढ़िया दोनों परियोजनाओं की लागत 3255 करोड़ रूपए है। चकरपुर बांध में 73 एमसीएम जल संग्रहण होगा तथा मढ़िया बांध में 268 एमसीएम जल संग्रहण होगा। बीना नदी परियोजना से 305 ग्राम की 90 हजार हेक्टयर भूमि सिंचित होगी। मई 2022 तक बांध का कार्य कम्पलीट होगा, सिर्फ गेट का कार्य रह जाएगा। इससे खुरई विकासखण्ड के 214 गांव की 61769 हेक्टेयर भूमि सिंचित होगी। इसकी कनेाल की पाईपलाईन डालने का कार्य शीघ्र प्रारंभ होगा। 
     बण्डा नदी परियोजना में 1300 करोड़ रूपए की लागत से जून 2023 तक बांध कम्पलीट हो जाएगा। इससे मालथौन ब्लाक के 62 गांव में 15 हजार हेक्टेयर भूमि की सिंचाई होगी। जिसमें अभी तक 8 हजार हेक्टेयर में केनाल की लाईन बिछाई जा चुकी है। 
     बीना नदी परियोजना से खुरई विकासखण्ड के 174 गांव में घर-घर नल से पेयजल उपलब्ध कराया जाएगा। जिसकी लागत 456 करोड़ रूपए है। इसी तरह बण्डा वृहद परियोजना से मालथौन विकासखण्ड के 174 ग्रामों में 365 करोड़ की लागत से घर-घर पेयजल सप्लाई होगा। 
 इस अवसर पर बीना विधायक महेश राय, कलेक्टर दीपक आर्य, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी क्षितिज सिंघल, सागर, खुरई बंडा के अनुविभागीय अधिकारी, समस्त परियोजनाओं के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive

Adsense