सतर्क रहें..बने सायबर योद्धा

बुधवार, 29 दिसंबर 2021

SAGAR : हस्तशिल्प कला प्रदर्शनी खरीददारी के साथ मनोरंजन सैर सपाटे का बना केंद्र

SAGAR :  हस्तशिल्प कला प्रदर्शनी खरीददारी के साथ मनोरंजन सैर सपाटे का बना केंद्र                
सागर । सागर में खेलपरिसर के समीप दैनिक अतुल्य भास्कर हस्तशिल्प कला प्रदर्शनी लोगो के लिए घूमने मनोरंजन एवं खरीददारी करने का सबसे लोकप्रिय केंद्र बना हुआ है 25 नवम्बर से प्रारंभ हुई इस प्रदर्शनी  मे घर गृहस्थी के सामान से लेकर गरम कपड़े क्रॉकरी , चूड़ी कंगन , किताबें ,खेल खिलौना , कालीन , सहित अनेक प्रकार के स्टालों पर बच्चों महिलाओं से लेकर हर वर्ग के लोग खरीददारी कर रहे है वही सागर शहर में झूलों का क्रेज सभी उम्र के लोगो विशेष कर युवाओं के सबसे अधिक देखा जा रहा है अतुल्यभास्कर सागर प्रदर्शनी में नाव झूला , ब्रेकडान्स ,क्रॉस झूला , हवाई झूला , ट्रैन गाड़ी , में सबसे ज्यादा भीड़ हो रही है झूलों का आनंद लेने लंबी लंबी लाइन लग रही है तो बच्चों के मिक्की माउस , कार चक्र , बौंसीय ,पानी वोटिंग ,सहित मनोरंजन के अनेक साधन दोपहर से ही बुक कराये जा रहे है इसके अलावा इस प्रदर्शनी में खाने पीने के अनेक स्टाल लगे हुए है जिनमे चाइनीस आइटम से लेकर सागर की चाट व अमेरिकन भुट्टे , भेलपुड़ी  ,बुंदेली पुलाव , पॉपकॉर्न , रेसिपी जूस सहित कई स्टाल लगे है  इस तरह सागर के लोगो के लिए घूमने ,मनोरंजन करने , खरीददारी करने का एक बड़ा अवसर दैनिक अतुल्य भास्कर समूह ने उपलब्ध कराया है । प्रबधंन कमेटी के चेयरमेन अतुल मिश्रा बताते है कि कोरोना संक्रमण काल के बाद सागर के लोगो को पहली बार एक ऐसा स्थान मिला है जंहा वह अपने परिवार के साथ ,  दोस्तों के साथ मनोरंजन कर सकते है , और घूमने फिरने का आनंद भी ले सकते है ,  मेला प्रबंधक जितेंद्र सिंह चौहान ने बताया कि अतुल्य भास्कर समूह अपने सामाजिक सरोकार अभियान के तहत इस तरह की प्रदर्शनी पूरे प्रदेश में लगाकर हस्तशिल्प कला से जुडे लोगो को एक मंच प्रदान कर स्थानीय कला को बढ़ावा देने प्रयास कर रहा है । इस अभियान में प्रदेश के हस्तशिल्प कुटीर ग्रामोद्योग मंत्री गोपाल भार्गव का सबसे बड़ा योगदान है उनके मार्गदर्शन में ही सागर मेला महोत्सव का यह लगातार तीसरा आयोजन खेल परिसर के बाजू बाले मैदान में किया गया है जो मकर संक्रांति तक चलेगा । प्रबंधक जितेंद्र चौहान कहते है कि बुंदेली संस्कृति को कला को सहेजने में यह महोत्सय प्रदेश के हर जिले में शुरू किया जा रहा है सागर बुंदेलखंड के केंद्र विंदु है जंहा आयोजन को अपार लोकप्रियता मिली है अंकित मिश्रा रानू चौहान इस आयोजन के मुख्य सूत्रधार है ।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive

Adsense