रविवार, 10 अप्रैल 2022

SAGAR : आंगनबाडी कार्यकर्ताओं की हड़ताल 35वें दिन जारी, कुछ कार्यकर्ता हुई बेहोश

SAGAR : आंगनबाडी कार्यकर्ताओं की हड़ताल 35वें दिन जारी, कुछ कार्यकर्ता हुई बेहोश
सागर/आंगनबाडी कार्यकर्ता/सहायिकाओं की अनिश्चित कालीन हडताल के 35वें दिन आज बढ़ती धूप के कारण कई कार्यकर्ता हडताल स्थल पर ही बेहोश हो गई। प्रशासन की बेरूखी के चलते गत दिवस एक आंगनबाडी सहायिका की मौत भी हो चुकी है। फिर भी प्रदेश सरकार आंगनबाडी कार्यकर्ताओं के हित में निर्णय लेने में बेखबर है। संघ की अध्यक्ष श्रीमती लीला शर्मा ने बताया कि अब हडताल दिल्ली में जिस तरह किसानों की हडताल चली थी वहीं रूप लेने लगी है। दिल्ली में 350 किसान काल के गाल में समा गए थे। ऐसा लगता है कि जब तक कई आंगनबाडी कार्यकर्ता/सहायिकाओं की मौत नहीं हो जाती तब तक सरकार सुनेगी नहीं। श्रीमती शर्मा ने सरकार से जानना चाहा कि और कितनी आंगनबाडी कार्यकर्ताओं की बलि लेकर सरकार उन्हें शासकीय वेतन भोगी घोषित करेगी। अष्टमी की रात्रि कार्यकर्ता और सहायिकाओं में रात्रि जागरण कर मां भवानी की आराधना की। 






हडताल में शिवसेना उपराज्य प्रमुख पप्पू तिवारी संगठन प्रमुख हेमराज आलू, सचिन जैन, विकास यादव, निधि चौरसिया, लक्ष्मी चौरसिया, किरण तिवारी, प्रतिमा ठाकुर, विजया पटैल, शहनाज बानों, अकीला, नेहा चौरसिया, सीमा पटैल, सावित्री चौरसिया, राजबाई लोधी, मालती सेन, लक्ष्मी नामदेव, अनीता पटैल, मीरा विश्वकर्मा, गुडडीबाई लोधी, लक्ष्मी सेन, ललिता अहिरवार, भारती बाल्मीकि, संजू चौबे, सपना आठिया, बैजंती यादव, भारती, आरती, ममता यादव, कीर्ति पटैरिया, कमलरानी, गीता ठाकुर, सहित सैकडों की संख्या में कार्यकर्ता/सहायिका उपस्थित थी। 

   

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive

Adsense