SAGAR : 8000 से अधिक व्यक्तियों ने कोरोना से जीती जंग ,आत्मबल और मनोबल बनाए रखें

बुधवार, 9 सितंबर 2020

उद्यानिकी महाविद्यालय रहली फिर शुरू होगा, लोक निर्माण मंत्री ने सरकार के निर्णय का किया स्वागत

उद्यानिकी महाविद्यालय रहली फिर शुरू होगा, लोक निर्माण  मंत्री  ने सरकार के निर्णय का किया स्वागत


भोपाल । लोक निर्माण, कुटीर एवं ग्रामोद्योग मंत्री श्री गोपाल भार्गव ने उद्यानिकी महाविद्यालय, रहली जिला सागर में पुन: प्रारंभ करने पर मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के प्रति आभार ज्ञापित करते हुए, राज्य शासन के निर्णय का स्वागत किया है।
मंत्री श्री भार्गव ने कहा कि तत्कालीन राज्य सरकार ने अगस्त-2018 में बुंदेलखण्ड अंचल को बड़ी सौगात प्रदान करते हुए सागर जिले के रहली तहसील में उद्यानिकी महाविद्यालय प्रारंभ करने का निर्णय लिया गया था। इसके तहत शैक्षणिक सत्र 2018-19 और 2019-20 में प्रोफेशनल एक्जामिनेशन बोर्ड द्वारा चयनित विद्यार्थियों को प्रवेश दिया गया। इन महाविद्यालयों में तीन सेमेस्टर के शैक्षणिक सत्र भी पूर्ण किये गये हैं। किन्तु पूर्ववर्ती सरकार द्वारा 6 मार्च, 2020 को राजनैतिक कारणों से महाविद्यालय का संचालन बंद करने का निर्णय अप्रत्याशित रूप से लिया गया। परिणाम स्वरूप प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों से आने वाले कृषि उद्यानिकी विषय के छात्रों के भविष्य पर प्रश्न-चिन्ह खड़ा हो गया था।


तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे

ट्वीटर  फॉलो करें
@weYljxbV9kkvq5ZB

वेबसाईट

मंत्री श्री भार्गव ने बताया कि प्रदेश में 6 मार्च, 2020 को वर्तमान सरकार के गठन के बाद पुन: पूर्ववर्ती सरकार के निर्णय की समीक्षा कर जवाहरलाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय, जबलपुर के अंतर्गत उद्यानिकी महाविद्यालय रहली पुन: संचालित करने का जन-हितैषी निर्णय लिया गया है। इस निर्णय से प्रदेश सहित विशेषकर बुंदेलखण्ड अंचल में हर्ष व्याप्त है। 
उल्लेखनीय है कि यह प्रदेश का दूसरा उद्यानिकी महाविद्यालय है। इसकी स्थापना के लिये स्थानीय विधायक और मंत्री श्री गोपाल भार्गव द्वारा विशेष प्रयास किये गये हैं।


---------------------------- 



तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885

-----------------------------

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें


SAGAR: जिला अस्पताल में 10 दिन में तैयार हो जाएगा ऑक्सीजन प्लांट , 100 बिस्तरों को रोज मिलेगी ऑक्सीजन

Archive