सागर की पहचान -लाख बंजारा झील

शुक्रवार, 11 सितंबर 2020

सागर: लापता हुए दो मासूम बच्चों की लाश नदी में झाड़ियों से बरामद , पिता ने लगाया हत्या का आरोप

सागर: लापता हुए दो मासूम बच्चों की लाश नदी में झाड़ियों से बरामद , पिता ने लगाया  हत्या   का आरोप

★ दीपक चौरसिया 

सागर। सागर के देवरी नगर से करीब 3 किलोमीटर दूर बहेरिया पिपरिया मौजा रामगढ़ में सुखचैन नदी मगर घाट पर  सगे भाई के शव अतराते हुए शव मिलने से देवरी क्षेत्र में सनसनी फैल गई है ।पिपरिया बहेरिया निवासी प्रकाश पटेल  के दो मासूम पुत्र घर से  महालक्ष्मी पूजन एवं धना  पिसाने  देवरी  आने के बाद दोनों ही मासूम अपने घर नहीं लौटे। दोनों लापता मासूम के शव 24 घंटे बाद शुक्रवार की देर शाम को
घटना गुरुवार  10 सितंबर को उस समय घटित हुई जब पिपरिया रामगढ़ मौजा में रहने वाले प्रकाश पटेल के दो मासूम पुत्र अमन 11 साल एवं अनुज 8 साल साइकिल से महालक्ष्मी पूजन का सामान एवं धना पिसाने के लिए देवरी जाने  कि कह कर  घर से निकले जब देर शाम तक घर नहीं पहुंचे तो उनकी पत्नी दमयंती पटेल ने फोन पर अपने पति प्रकाश को दोनों बच्चों के ना आने की जानकारी दी और यह जानकारी मिलते ही प्रकाश घर पहुंचा और फिर आसपास अपने पड़ोसी अशोक अहिरवार जुगल आदि के साथ अमन और अनुज दोनों पुत्रों की तलाश के लिए आसपास के नदी किनारे एवं कुआं तलाश करने गए लेकिन कहीं भी दोनों का पता नहीं चला।

साइकिल एवं एक चप्पल रामगढ़ मछरिया मार्ग पर पड़ी मिली

प्रकाश पटेल ने पुलिस थाना देवरी में शुक्रवार को दोनों मासूम के गुम होने की जानकारी पुलिस थाने में दी उन्होंने बताया कि अमन 11 साल का उनका बड़ा पुत्र है जो कक्षा छठवीं में गायत्री ज्ञान मंदिर में पड़ता है दूसरा पुत्र अनुज 8 साल का जो चौथी कक्षा में पढ़ता है अमन क्रीम कलर की शर्ट नीले रंग का जींस पैंट पहने हैं चेहरा गोल और रंग सांवला तथा ऊंचाई 4 फुट 6 इंच है वही दूसरा पुत्र अमन का चेहरा गोल रंग सांवला लाल शर्ट पहने हैं और नीले रंग का जींस पैंट पहने हैं। उन्होंने आशंका जाहिर की है कि कोई अज्ञात व्यक्ति बहला-फुसलाकर दोनों मासूम बच्चों को अगवा करके ले गया है।
 पुलिस ने रिपोर्ट पर धारा 363 का मामला कायम कर लिया है
। सूचना मिलने पर एसडीओपी अभिनव मिश्रा एवं देवरी सुरखी और महाराजपुर थाना प्रभारी मौके पर डॉग स्क्वार्ट साथ पहुंचे और दोनों मासूम  लापता होने की जांच में जुट गए हैं। जब देर शाम को स्टॉप डैम का पानी खाली होने के बाद दोनों मासूम बच्चों की लाश नदी के पानी मे झाड़ियों में फंसी हुई देखी गई। लाश बरामद होने की खबर नगर और आसपास के इलाके में आपकी तरह फैल गई और सैकड़ों की संख्या में लोग दोनों मासूम बच्चों  की लाश को देखने के लिए नदी के दोनों ओर एकत्रित हो गए।

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे

ट्वीटर  फॉलो करें
@weYljxbV9kkvq5ZB

वेबसाईट

 24 घंटे बाद मिले शव: इस घटना के बाद सबसे नदी का स्टॉप डेम का पानी छोड़  खाली हो  जाने के बाद मगरा घाट के किनारे दोनों बच्चों के लाश  बेशर्म की झाड़ियों में  फंसे हुए बरामद हुआ। सूचना मिलते ही एडिशनल एसपी विक्रम सिंह , एसडीओपी अभिनव मिश्रा एवं महाराजपुर थानों का पुलिस बल और सैकड़ों की संख्या में लोग बाग घटनास्थल पर पहुंच गए। शुक्रवार की देर शाम को दोनों शवों को नदी से निकालकर बाहर लाया गया और पंचनामा कार्रवाई के बाद पोस्टमार्टम के लिए देवरी अस्पताल में भेजा गया।  मृतक मासूम के पिता प्रकाश पटेल ने बताया कि पास रहने वाले रखवारी करने वाले सतीश, पप्पू और रति गौड़ 2:30 बजे घर से लेकर आए थे और उन्हीं पर हत्या की आशंका है।
 इस संबंध में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विक्रम सिंह ने बताया कि आज सुबह प्रकाश पटेल की रिपोर्ट के  दोनों नाबालिग मासूम बच्चों  की पतासाजी का प्रयास पुलिस कर रही थी शाम को जैसे  नदी में एक साथ दोनों मासूम बच्चों की लाश देखी गई दोनों कपड़े पहने हुए थे और कोई भी  घाव के निशान नहीं पाए गये। मासूम बच्चों के पिता द्वारा 3 लोगों के नाम लेकर हत्या की आशंका जताई है। पुलिस द्वारा नदी के पानी से निकालकर शनिवार को पोस्टमार्टम कराया जाएगा और और पुलिस सभी  एंग्गलों से इस मामले की जांच करेगी।

---------------------------- 



तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885

-----------------------------

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें


कोविड संक्रमण: कमिश्नर ने बीएमसी के चिकित्सकों की बैठक ली

Archive