जंय श्री गणेशाय नमः

रविवार, 1 अगस्त 2021

विदिशा : श्वेता नेमा ने 45 मिनिट 26 सेकंड 5 मिलि सेकंड तक कुर्मासन लगाकर बनाया विश्व रिकॉर्ड ★प्रीतिश अग्रवाल


विदिशा : श्वेता नेमा ने 45 मिनिट 26 सेकंड 5 मिलि सेकंड तक कुर्मासन  लगाकर बनाया विश्व रिकॉर्ड 



★प्रीतिश अग्रवाल

विदिशा। विदिशा के सम्राट अशोक टेक्नोलॉजिकल इंस्टीट्यूट के कैलाश सत्यार्थी ऑडिटोरियम में आज सांची बौद्ध भारतीय ज्ञान अध्ययन विश्वविद्यालय की शोध छात्रा श्रीमती श्वेता नेमा ने 45 मिनिट 26 सेकंड 5 मिलि सेकंड  तक कुर्मासन कर विश्व रिकॉर्ड बना लिया है । कुर्मासन को कछुआ आसन या tortoise pose भी कहते है ।  इसके साथ ही श्वेता का नाम ,गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड, लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड, एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड इंडिया बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड
में दर्ज हो जायेगा ।
सम्पूर्ण कार्यक्रम की वीडियो रिकॉर्डिंग की गई है । इससे पहले यह रिकॉर्ड चीन में रहने बाली आंध्रप्रदेश के विशाखापत्तनम की रहने बाली कोनथला ज्योति के नाम था । जिन्होंने 10 मिनिट तक कुर्मासन कर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कराया था । नया कीर्तिमान बनाने के बाद मौके पर मौजूद एशिया बुक ऑफ र्रिकॉर्ड के प्रतिनिधि ने उन्हें वहां बुक में नाम दर्ज होने की घोषणा की और प्रमाण पत्र दिया । श्वेता के पति पंकज नेमा जो विदिशा की HDFC  बैंक में कार्यरत है ने बताया कि गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी हमने रजिस्ट्रेशन कराया है और उनकी नियमो ,शर्तों और मापदंडों के अनुसार कार्यक्रम की वीडियो रिकॉर्डिंग कराई गई है जो उन्हें भेजी जायेगी जिसे उनके विशेषज्ञ जांचकर गिनीज बुक में नाम दर्ज करेंगे । कार्यक्रम में भोपाल की योग विशेषज्ञ डॉ मंजू शर्मा भी मौजूद थी ।

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम

के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे




ट्वीटर  फॉलो करे



वेबसाईट



कौन है श्वेता नेमा
श्वेता नेमा का जन्म जबलपुर में हुआ था । वही शिक्षा हुई । उनकी शादी रीवा में हुई है। पति का नाम पंकज नेमा है । श्वेता के 2 बच्चे है । श्वेता सांची बौद्ध भारतीय ज्ञान अध्ययन विश्वविद्यालय की शोध छात्रा है । उन्होंने एमएससी योगा और होलिस्टिक साइंस में किया है इसके अलावा उन्होंने बीएससी IT से और MBA  भी किया है । 
श्वेता ने बताया कि उन्होंने विश्व रिकॉर्ड बनाने  योग को इसलिए चुना क्योंकि वह देश मे योग को फैलाना चाहती है  । लोग अपने स्वास्थ के लिए जागरूक और स्वप्रेरित करना चाहते है । उनका बचपन से ही वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने का सपना और जुनून था । जो अब वो पूरा कर रही है । यह रिकॉर्ड मैंने देश के लिये बनाया है इसलिए मन उमंग और ऊर्जा से भरा हुआ था । ऑडिटोरियम में मौजूद लोगों ने बहुत हिम्मत दी और प्रेरित किया और हौंसला बढ़ाया । योग जोड़ने का काम करता है ।  
कार्यक्रम में मौजूद एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड के डॉ डी के जैन ने बताया कि आज श्वेता नेमा ने रिकॉर्ड बनाया है।  इससे पहले जो रिकॉर्ड थे वो  बहुत कम समय के थे इससे पहले 15 मिनिट 52 सेकंड 29 मिली सेकंड का रिकॉर्ड अगरतला की प्रज्ञा के नाम था । लेकिन अब श्वेता नेमा के नाम हो गया है । इस अवसर पर ऑडिटोरियम में शहर के गणमान्य नागरिकों की उपस्थिति रही ।


---------------------------- 







तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885



--------------------------

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive