जंय श्री गणेशाय नमः

मंगलवार, 3 अगस्त 2021

म.प्र. सराफा एसोसिएशन संघर्ष समिति का प्रथम प्रांतीय अधिवेशन उज्जैन में सम्पन्न

म.प्र. सराफा एसोसिएशन संघर्ष समिति का प्रथम प्रांतीय अधिवेशन उज्जैन में सम्पन्न

★ अधिवेशन के मुख्य अतिथि उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. श्री मोहन जी यादव द्वारा अपने संबोधन में स्वर्ण कला को उच्च शैक्षणिक पाठ्यक्रम में शामिल करने की घोषणा की

उज्जैन। मप्र सराफा एसोसिएशन संघर्ष समिति का प्रथम प्रांतीय अधिवेशन उज्जैन सर्राफा एसोसिएशन फ्रिगंज के संयुक्त तत्वाधान में प्रदेश अध्यक्ष  राजा सराफ जबलपुर की अध्यक्षता में  आयोजित हुआ । कार्यक्रम का संचालन प्रांतीय महासचिव श्री देवीलाल जी सोनी एवं श्री रविंद्र जी सोनी द्वारा किया गया। 
अधिवेशन में मध्य प्रदेश के 10 संभाग एवं 52 जिलो के सराफा एसोशिएशन के प्रदेश,संभाग,जिला एवं तहसील स्तरीय पदाधिकारियों ने उपस्थिति दर्ज कराते हुए सफल बनाया। 
 प्रांतीय अधिवेशन का शुभारंभ भारत माता के चित्र के समक्ष अतिथियों द्वारा दीप प्रज्वलित कर किया गया।
 उक्त जानकारी देते हुए प्रदेश उपाध्यक्ष विक्रम सोनी ने बताया कि
कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रुप में शासन के उच्च शिक्षा मंत्री डॉ श्री मोहन यादव  एवं *विशेष अतिथि संघर्ष समिति के प्रदेश संरक्षक श्री झमक जी भरगट रतलाम, भारतीय मानक ब्यूरो की मुख्य अधिकारी सुश्री आकांक्षा मिश्रा एवं सैयद अशफाक अहमद एवं गोदरेज कंपनी के श्री रतन जी थापा विशेष अतिथि थे। 

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम

के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे




ट्वीटर  फॉलो करे



वेबसाईट


मुख्य अतिथि मंत्री श्री मोहन यादव जी ने सराफा व्यापारियों, स्वर्णकार समाज एवं कारीगरों की वर्षों पुरानी मांग को स्वीकार करते हुए स्वर्ण कला को मध्य प्रदेश के उच्च शिक्षा विभाग के शैक्षणिक पाठ्यक्रम में शामिल कर नवीन तकनीकी से स्वर्ण एवं रजत आभूषणों के निर्माण की संरचना को  मुर्त रुप प्रदान  करने हेतु अपनी घोषणा की जिससे सदियों पुरानी भारतीय स्वर्ण कला को वैश्विक स्तर पर पहचान मिलेगी
सोने चांदी का व्यापार आभूषणों के साथ-साथ विभिन्न कलाकृतियों, स्मृति चिन्ह, गिफ्ट आयटम, धार्मिक, राष्ट्रीय व एतिहासिक स्थलों के मॉडल, देवी देवताओं की मूर्तियों एवं प्रतीक चिन्हों आदि का निर्माण करने में भी आधुनिक तकनीकी से परिपूर्ण बन सकेगा जिससे मप्र देश में ही नहीं संपुर्ण विश्व में सोने चांदी निर्माण के व्यवसायिक केन्द्र (हब) के रुप में स्थापित होगा जिससे राज्य व केंद्र सरकार के राजस्व में भी उत्तरोत्तर वृद्धि होगी । माननीय मंत्री श्री मोहन यादव जी के निर्देशानुसार शीघ्र ही मप्र शासन के उच्च शिक्षा विभाग के अधिकारिगण म.प्र. सराफा एसोसिएशन संघर्ष समिति के पदाधिकारियों*ल के साथ बैठकर स्वर्ण कला को शैक्षणिक पाठ्यक्रम में शामिल करने हेतु विस्तार से चर्चा कर एक मसौदा तैयार किया जावेगा।

कार्यक्रम के विशेष अतिथि म.प्र.  भारतीय मानक ब्यूरो के मुख्य अधिकारियों द्वारा कार्यक्रम में उपस्थित सभी 52 जिलों के सर्राफा संगठनों के पदाधिकारियों को हॉलमार्क एवं एच यू आई डी से संबंधित कानून की विस्तार से जानकारी प्रदान की एवं उनकी समस्याओं को नोटिस करते हुए सरकार के सामने कानून की विसंगतियों में संशोधन हेतु प्रस्तावित करने पर सहमति जताई।
गोदरेज कंपनी के अधिकारियों द्वारा भी व्यापारियों को कंपनी के व्यापारि हितों के प्रोडक्ट तिजोरी, लॉकर ,सेफ आदि के संबंध में जानकारी दी तथा नवीन तकनीकों से निर्मित प्रोडेक्ट अपनी अपनी आवश्यकतानुसार क्रय करने हेतु सुझाव दिए। 
कार्यक्रम में उपस्थित म.प्र. के सभी 52 जिलों के सराफा एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने माननीय मंत्री महोदय द्वारा उच्च शैक्षणिक पाठ्यक्रम में स्वर्ण कला को शामिल करने हेतु धन्यवाद दिया एवं आभार प्रकट किया।


---------------------------- 







तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885



--------------------------

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive