SAGAR : 8000 से अधिक व्यक्तियों ने कोरोना से जीती जंग ,आत्मबल और मनोबल बनाए रखें

मंगलवार, 22 दिसंबर 2020

गांधी को मानने वाले सन्तोष गांधी ने कलेक्ट्रेट परिसर में पेड़ पर चढ़कर आत्महत्या का किया प्रयास ★ पुलिस प्रताड़ना से थे आहत , पुलिस की समझाईश के बाद माने गांधी

गांधी को मानने वाले सन्तोष गांधी ने कलेक्ट्रेट परिसर में पेड़ पर चढ़कर आत्महत्या का किया प्रयास
★ पुलिस प्रताड़ना से थे आहत , पुलिस की समझाईश के बाद माने गांधी

★ देशद्रोही आंतकवादी जैसे शब्दों से प्रताड़ित होकर किया था आत्महत्या का प्रयास


सागर।( तीनबत्ती न्यूज़. कॉम )।सम्भागीय मुख्यालय सागर पर कलेक्ट्रेट परिसर में उस समय अफरातफरी मच गईं जब अपने आपको गाँधी की विचारधारा के मानने वाले और अक्सर  महात्मा गांधी की वेश भूसा में रहनेवाले सन्तोष गांधी परिसर में लगे एक पेड़ पर चढ़ गए और आत्महत्या की कोशिश की। पुलिस और वहां मौजूद कर्मचारियों की समझाईश के बाद सन्तोष मांन गए और नीचे आ गए। इसके बाद पुलिस ले गई। जब पेड़ पर चढ़े तो रो रो कर अपनी बात कहते नजर आए। मोके पर asp विक्रम सिंह और गोपाल गंज थाना प्रभारी उपमा सिंह सहित अन्य स्टाफ पहुच गया। 

सागर जिले के  गौर झामर थाना क्षेत्र के जमुनिया गांव के रहने वाले  सन्तोश लोधी उर्फ गांधी अपने भाई के मामले में पुलिस प्रताड़ना का शिकार बने। इसकी शिकायत भी उन्होंने प्रशासन से  की है।सन्तोष गांधी गौरझामर क्षेत्र की समस्याओं को लेकर अक्सर गांधीवादी तरीके से उठाते रहते है। कई दफा सम्मानित भी हुए है। स्थानीय मंचो पर गांधी की भूमिका में मौजूद रहते थे। देशभर में इसी तरह घूमते ब्यहि रहते है। 

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें
@weYljxbV9kkvq5ZB

वेबसाईट

क्या है  मामला

सन्तोष गांधी के बड़े भाई जाहर सिंह को गौरझामर पुलिस जुए के मामले में पकड़ ले गई थी। उसमें छुड़ाने सन्तोष गांधी पहुचा था। सन्तोष के अनुसार  जब वह अपने भाई के मामले में गौरझामर  थाने में  गया तो उसे आतंकवादी कहा और अपमानित किया है। पहले भी पुलिस उसे प्रताड़ित करती रही है। इससे परेशान  होकर आत्महत्या  करने की कोशिश की।उसने  थाना प्रभारी संगीता सिंह और पुलिस कर्मी अभिषेक चौहान पर कार्यवाही सम्बन्धी आवेदन भी दिया है। 

उधर asp विक्रम सिंह का कहना है कि सन्तोष गांधी ने जो भी शिकायत है। उसकी जांच कराऊंगा और दोषियों पर कार्यवाही होगी। आज गौरझामर पुलिस के कारण आक्रोश में आकर पेड़ पर चढ़ गए थे। 


तीनबत्ती न्यूज़.कॉम
बनारस-इंदौर  बस टकराई खड़े ट्राला से, तीन की मौत 22 घायल, बस के हिस्से को काटकर निकाला घायलों को -


वही गौरझामर टीआई संगीता सिंह ने सन्तोष गांधी के लगाए आरोपो को निराधार बताया। टीआई  संगीता सिंह के मुताबिक जुआ में कुछ लोगो को पकड़ा था। संदेही के तौर पर सन्तोष के भाई  जाहर सिंह को लाया गया था। जाहर सिंह पर आपराधिक किस्म का है। कुछ मामले भी दर्ज है । जब भी कोई कार्यवाही की बात आती है तो सन्तोष बचाने आ जाता है। थाने में सन्तोष से बाहर बैठने को कहा गया था । किसी तरह की अभद्रता नही की गई है। 


---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------


0 comments:

एक टिप्पणी भेजें


SAGAR: जिला अस्पताल में 10 दिन में तैयार हो जाएगा ऑक्सीजन प्लांट , 100 बिस्तरों को रोज मिलेगी ऑक्सीजन

Archive